पत्रकार कवि न्यूज़

डॉ. विनोद पुरोहित ने अपने विचारों को इस कविता के माध्यम से खूबसूरत अंदाज में पिरोने का काम किया है

समाचार4मीडिया ब्यूरो 3 days ago


इस कविता के माध्यम से कवि का कहना है कि यदि जलना ही है तो इस तरह जलें जिससे किसी को फायदा हो न कि नुकसान

समाचार4मीडिया ब्यूरो 1 month ago


इस कविता के माध्यम से कवि बताना चाहता है कि वह बहुत कुछ करना चाहता है, लेकिन उसे इसका रास्ता नहीं सूझ रहा है

समाचार4मीडिया ब्यूरो 1 month ago


इस गजल के द्वारा कवयित्री ने यह बताने की कोशिश की है कि दुनिया व जिंदगी में काफी कुछ घटित होने के बावजूद किस तरह इनसे अनभिज्ञता बनी रहती है

समाचार4मीडिया ब्यूरो 2 months ago


अपनी कविता के माध्यम से कवि ने वर्तमान दौर में कश्मीर के हालात को बयां करने का प्रयास किया है

समाचार4मीडिया ब्यूरो 2 months ago


इस कविता में कवि एक ऐसे दौर की बात कर रहा, जिसमें शांति व सद्भाव का माहौल हो

समाचार4मीडिया ब्यूरो 2 months ago


इस कविता के माध्यम से लेखिका ने शिकायत व मनुहार भरे लहजे में मन के भावों को व्यक्त करने का प्रयास किया है

समाचार4मीडिया ब्यूरो 2 months ago


इस कविता के माध्यम से कवि ने अपनी इच्छाओं के बारे में बताया है कि आखिर वे जिंदगी से क्या चाहते हैं

समाचार4मीडिया ब्यूरो 2 months ago


लेखक ने इस कविता में बताया है कि बेटियां किस तरह पूरे घर की आन-बान-शान होती हैं और घर में किस तरह रौनक बिखेरती रहती हैं

समाचार4मीडिया ब्यूरो 2 months ago


इस कविता के माध्यम से कवि ने बताया है कि कार में सीट बेल्ट न लगाने का किस तरह खामियाजा भुगतना पड़ सकता है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 2 months ago


इस कविता के माध्यम से कवि ने मां के महत्व का वर्णन किया है

समाचार4मीडिया ब्यूरो 2 months ago


कविता के माध्यम से वरिष्ठ पत्रकार डॉ. विनोद पुरोहित ने कांच के टूटने का उदाहरण देते हुए उसके टुकड़ों में दिखते जिंदगी के हर अक्स के बारे में बताया है

समाचार4मीडिया ब्यूरो 2 months ago


कवि ने इस कविता के द्वारा निराशा के भंवर से निकलकर आगे बढ़ने और जीवन में सफलता पाने के लिए प्रेरित किया है

समाचार4मीडिया ब्यूरो 3 months ago


कविता के माध्यम से कवि ने नए मोटर कानून के परिप्रेक्ष्य में बताया है कि कैसे बिना हेलमेट के दोपहिया वाहन पर जाना भारी पड़ सकता है

समाचार4मीडिया ब्यूरो 3 months ago


टीवी पत्रकार अभिषेक उपाध्याय ने इस कविता के माध्यम से बीते दिनों से वापस आने की गुजारिश की है

समाचार4मीडिया ब्यूरो 3 months ago