विचार मंच न्यूज़

उदारीकरण, साक्षरता, आर्थिक प्रगति ने मिलकर भारतीय अखबारों को शक्ति दी। भारत में छपे हुए शब्दों का मान बहुत है। अखबार हमारे यहां स्टेट्स सिंबल की तरह हैं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 5 days ago


कल्पना कीजिए कि आपके शरीर में रीढ़ की हड्डी ना हो तो आपका जीवन कैसा होगा? क्या आप सहज जी पाएंगे? शायद जवाब ना में होगा। वैसे ही पत्रकारिता की रीढ़ की हड्डी आंचलिक पत्रकारिता है

समाचार4मीडिया ब्यूरो 5 days ago


पत्रकारिता को अगर लोकतंत्र में चौथा स्तंभ कहा जाता है, तो प्रश्न यह है कि इस महत्वपूर्ण स्थान की क्या हम रक्षा कर पा रहे हैं?

राजेश बादल 1 week ago


सोशल मीडिया के अनेक अवतारों पर इन दिनों कोरोना से जुड़ी बेहद संवेदनशील खबरों की बाढ़ आई हुई है। पड़ताल करने के बाद इनमें आए कई वीडियो पुराने निकलते हैं।

राजेश बादल 2 weeks ago


कोरोना संकट के बहाने भारत के दुख-दर्द, उसकी जिजीविषा, उसकी शक्ति, संबल, लाचारी, बेबसी, आर्तनाद और संकट सब कुछ खुलकर सामने आ गए हैं। इन सात दशकों में जैसा देश बना या बनाया गया है

समाचार4मीडिया ब्यूरो 2 weeks ago


कर्तव्य के साथ चुनौतियों को स्वीकारना होता ही है। प्रभु आपके और हमारे सभी साथियों के साथ है। सब जल्द ही सामान्य होगा।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 2 weeks ago


संकट कितने भी बड़े, गहरे और लाइलाज हों। एक नायक को उम्मीदों और सपनों के साथ ही होना होता है। वह चाहकर भी निराशा नहीं बांट सकता। अवसाद नहीं फैला सकता।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 3 weeks ago


चित्रा सिर्फ रिपोर्टिंग ही नहीं करतीं, बल्कि उसके माध्यम से आम जनता के बीच जाकर उनके दुख-दर्द को टटोलती हैं और उन्हें दूर करने का प्रयास करती हैं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 3 weeks ago


मैं राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री से सीधे सवाल करना चाहता हूं कि लोकतंत्र के तथाकथित चौथे स्तम्भ को स्वतंत्र भारत की सरकारों ने अब तक लंगड़ा/अपाहिज क्यों बनाए रखा है?

समाचार4मीडिया ब्यूरो 3 weeks ago


डेढ़ महीने से ज़्यादा हो गया। अभी दो-तीन महीने और चलेगा, ऐसी आशंका है। उसके बाद साल भर तक इसके आफ्टर इफेक्ट्स होंगे।

राजेश बादल 3 weeks ago


कल रात 10.30 बजे सोशल मीडिया पर एक बड़े मीडिया ग्रुप के वरिष्ठ पत्रकार की कोरोना से इंतकाल की खबर आयी।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 3 weeks ago


अमर उजाला बरेली के सिटी संस्करण में उन दिनों लगातार नए चेहरे आते रहते थे। बहुत से लोग ट्रेनिंग के लिए कुमाऊं ब्यूरो से बुलाए जाते थे। उनकी अच्छी तरह से घिसाई हो, इसके लिए

समाचार4मीडिया ब्यूरो 3 weeks ago


भारतीय मीडिया का यह सबसे त्रासद समय है। छीजते भरोसे के बीच उम्मीद की लौ फिर भी टिमटिमा रही है। उम्मीद है कि भारतीय मीडिया आजादी के आंदोलन में छिपी अपनी गर्भनाल से एक बार फिर वह रिश्ता जोड़ेगा

समाचार4मीडिया ब्यूरो 1 month ago


व्यथित हूं, विचलित हूं, वीरान हूं...सुबह की मनहूस खबर के सदमे से हैरान-परेशान हूं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 1 month ago


‘रिपब्लिक टीवी’ के संपादक अरनब गोस्वामी से मुंबई में दस-बारह घंटे की पूछताछ इन दिनों बहस का मुद्दा है।

राजेश बादल 1 month ago


किसी ने सोचा नहीं था कि अचानक कोई वायरस आएगा और तेज भागती दुनिया घरों में कैद हो जाएगी।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 1 month ago


कोरोना संकट पर दुनिया के सबसे बड़े सांस्कृतिक संगठन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत के संवाद ने सबका ध्यान अपनी ओर खींचा

समाचार4मीडिया ब्यूरो 1 month ago


मुझे याद है जब हम लोग पत्रकारिता की शिक्षा ग्रहण कर रहे थे, तब यह पढ़ाया जाता था कि युद्ध और महामारी के दौर में अखबार सरकार और प्रशासन के बड़े सहारे होते हैं

समाचार4मीडिया ब्यूरो 1 month ago