विचार मंच न्यूज़

कोरोना के जाल से देश को अब बाहर आना होगा। 22 मार्च से लॉकडाउन को लगभग पांच महीने होने जा रहे हैं।

पूरन डावर 15 hours ago


राजेंद्र माथुर हिंदी पत्रकारिता में अमिट हस्ताक्षर के समान हैं। मालवा के साधारण परिवार में जन्मे राजेंद्र बाबू...

समाचार4मीडिया ब्यूरो 5 days ago


भारतीय पत्रकारिता में राजेंद्र माथुर जी और मनोहर श्याम जोशी जी ने सैकड़ों पत्रकारों को तैयार किया और उन्हें लेखन के लिए व पत्रकारिता को नई दृष्टि देने के लिए प्रेरित किया।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 5 days ago


किस दौर में आ पहुंचे हैं हम? जैसे जैसे आधुनिक संचार साधनों को अपना रहे हैं, वैसे वैसे खुद को अभिव्यक्त करने में शालीनता भी भूल रहे हैं

राजेश बादल 6 days ago


बोफोर्स तोप, राफेल लड़ाकू विमान, एस-400 मिसाइल, एचडीडब्ल्यू पनडुब्बी और परमाणु अस्त्र से शक्ति संपन्न होने पर भी क्या हम युद्ध चाहते हैं

समाचार4मीडिया ब्यूरो 1 week ago


अमेरिका ने चीन के विरुद्ध अब बाकायदा शीतयुद्ध की घोषणा कर दी है। ह्यूस्टन के चीनी वाणिज्य दूतावास को बंद कर दिया है

समाचार4मीडिया ब्यूरो 1 week ago


‘अरे भाई इनके लिए चाट लेकर आओ।‘ पिछली बार जब मैं लखनऊ गया तो उनके पुराने घर में बाऊजी ने ये कहकर अपने और मेरे लिए चाट मंगवाई थी।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 3 weeks ago


बहुत पुरानी कहावत है- 'दुल्हन बड़ी प्यारी, लेकिन चौके में मत आना'। इन दिनों समाज, राजनीतिक-आर्थिक मंचों और मीडिया में इसी तरह के तर्क गंभीरता से उठ रहे हैं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 3 weeks ago


जब तक हम यह सोचेंगे और जब तक हमें अच्छी अंग्रेजी ही प्रभावित करेगी...धारणा होगी कि अंग्रेजी बोलने वाला ही पढ़ा-लिखा होता है, तब तक हमें अंग्रेज़ी और विदेशी वस्तुएं ही अच्छी लगेंगी।

पूरन डावर 3 weeks ago


अभी तक खबरिया चैनल अपने दर्शकों से दुश्मनी निकाल रहे थे। अब उन्हें एक नया विरोधी मिल गया है।

राजेश बादल 3 weeks ago


मार्ग्रेट थैचर हों या जॉन मेजर या वर्तमान प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन या अमेरिकी राष्ट्रपति, सुरक्षा के मामलों में हमेशा गोपनीयता रखते हैं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 1 month ago


अतिरेक किसी भी चीज का अच्छा नहीं होता। यह दौर चीख चीख कर कह रहा है कि अब बस भी करिए। वरना अवाम अब सब कुछ अपने हाथ में ले लेगी।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 1 month ago


जिस एजेंसी का नाम लेते ही हम मीडिया के लोग गर्व से भर जाते थे, वह अब राष्ट्रद्रोही ठहराई जा रही है। पीटीआई हिंदुस्तान ही नहीं, समूचे संसार में सबसे बड़े नेटवर्क वाली संस्थाओं में से एक है।

राजेश बादल 1 month ago


आज श्री सुरेंद्र प्रताप सिंह जी की पुण्यतिथि है। सुरेंद्र प्रताप सिंह हिंदी पत्रकारिता के ऐसे व्यक्ति थे, जिन्होंने पत्रकारिता में एक विभाजन की रेखा खींची थी।

संतोष भारतीय 1 month ago


कोई कहता है कि सफल होने के लिए टैलेंट चाहिए, कोई कहता है कि पैसा चाहिए, कोई कहता है कि अच्छा दिमाग चाहिए।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 1 month ago


उन खुशनसीब पत्रकारों में मेरा नाम भी शामिल है, जिन्हें एसपी के साथ काम करने का मौका मिला...

समाचार4मीडिया ब्यूरो 1 month ago


एसपी यानी सुरेंद्र प्रताप सिंह को शायद पत्रकारों की नई पीढ़ी नहीं जानती हो लेकिन मुझे गर्व है कि...

समाचार4मीडिया ब्यूरो 1 month ago


27जून 1997 को हो गया था वरिष्ठ पत्रकार सुरेंद्र प्रताप सिंह का निधन

समाचार4मीडिया ब्यूरो 1 month ago