मीडिया, विज्ञापन व सोशल मीडिया की प्रमुख खबरें




DD JOB
दूरदर्शन में इन पदों पर निकली वैकेंसी, 16 नवंबर है आवेदन की अखिरी तारीख

प्रसार भारती ने चंडीगढ़ में दूरदर्शन केंद्र के रीजनल न्यूज यूनिट के लिए कई पदों पर आवेदन आमंत्रित किए हैं। बता दें कि जिन पदों के लिए अधिसूचना जारी की गई हैं




वरिष्ठ पत्रकार प्रभु चावला की इंडिया टुडे समूह में वापसी, मिली बड़ी जिम्मेदारी

‘इंडिया टुडे’ (India Today) समूह से एक बड़ी खबर निकलकर सामने आई है। खबर यह है कि वरिष्ठ पत्रकार प्रभु चावला की लंबे समय बाद इस ग्रुप में वापसी हुई है।

वरिष्ठ पत्रकार स्मिता शर्मा ने इस चैनल से किया नए सफर का आगाज

पूर्व में तमाम मीडिया संस्थानों में अपनी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी निभा चुकी हैं स्मिता शर्मा

अब यूं पंख फैलाएगा TV9 Network

टीवी9 नेटवर्क (TV9 Network) अब अपने पंख फैला रहा है। अब टेलीविजन के साथ-साथ नेटवर्क ने डिजिटल न्यूज बिजनेस को भी विस्तार करने की योजना बनाई है।


अपनी जिंदगी से जुड़े तमाम पहलुओं से रूबिका लियाकत यूं कराएंगी रूबरू

‘एबीपी न्यूज’ की जानी-मानी सीनियर न्यूज एंकर रूबिका लियाकत ने पत्रकारिता की दुनिया में अपनी एक अलग पहचान बनाई है

HT से अलग होकर इस वेबसाइट की एडिटर-इन-चीफ बनीं मेधा श्री

मेधा श्री ने करीब 50 किताबों लेखक ओम स्वामी की ऑफिशियल वेबसाइट os.me में बतौर एडिटर-इन-चीफ अपनी नई पारी की शुरुआत कर दी है

एक बेमिसाल मोती थे राजीव कटारा, जिन्हें हमने असमय ही खो दिया: क़मर वहीद नक़वी

राजीव कटारा जैसे बेमिसाल मोती आसानी से नहीं मिलते। उन्हें हमने ऐसे खो दिया, इसका बड़ा मलाल है और रहेगा



Advertisment






सब्सक्राइब

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

Tarkesh Ojha
बड़ी मारक है वक्त की मार...

इस कविता के माध्यम से कवि ने यह बताने का प्रयास किया है कि कोविड-19 ने हमारी दिनचर्या पर किस तरह का प्रतिकूल प्रभाव डाला है

image
इसी जद्दोजहद में उम्र छूटती जाती है...

वरिष्ठ पत्रकार डॉ. विनोद पुरोहित ने इस कविता के माध्यम से जीवन के सफर को बहुत ही संजीदगी के साथ बयां किया है

akash vatsa
ये दुनिया किस काम की रहेगी...

जब नहीं रहेगी बच्चों की मुस्कुराहटें, औरतों की फुसफुसाहटें, बात बे बात पर आने वाली खिलखलाहटें, ये दुनिया किस काम की रहेगी...

corona
‘कोरोना’ को भगाना है, प्रधानमंत्री के महामंत्र को सफल बनाना है

हम बने, तुम बने एक-दूजे के लिए। हमने माना तुम भी मानो, हम भी रहें और तुम भी रहो घर में एक-दूजे के लिए