मीडिया, विज्ञापन व सोशल मीडिया की प्रमुख खबरें



Advertisment

Advertisment

Advertisment

Advertisment




प्रसार भारती ने जारी की डीडी फ्रीडिश पर मौजूद चैनल्स की लिस्ट, लिया ये फैसला

नेशनल पब्लिक ब्रॉडकास्टर ‘प्रसार भारती’ ने ‘दूरदर्शन’ के डायरेक्ट टू होम (DTH) प्ले‘टफॉर्म ‘फ्रीडिश’ पर अपने ‘MPEG-2’ टीवी चैनल्स के बारे में जानकारी दी है।

Network18 से तीन दिग्गज पत्रकारों की विदाई, ग्रुप एडिटर राहुल जोशी ने यूं किया याद

वरिष्ठ पत्रकार और सीएनएन न्यूज18 (CNN News18 ) के एग्जिक्यूटिव एडिटर भूपेंद्र चौबे की चैनल से विदाई के बाद अब खबर है कि सुदीप मुखिया और प्रवीण थांपी (Praveen Thampi) ने भी चैनल छोड़ दिया है। 

दूरदर्शन ने दर्शकों के दिलों में बनायी जगह, कुछ यूं हुआ फायदा

देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान दूरदर्शन पर टेलिविजन का गोल्डन एरा दोबारा लौट आया है। यानी दूरदर्शन पर 80 और 90 के दशक के कुछ मशहूर कार्यक्रमों शुरू किए गए हैं


CNN-News18 से आई बड़ी खबर, भूपेंद्र चौबे ने लिया ये स्टेप

पत्रकारिता के क्षेत्र में लंबे समय से सक्रिय भूपेंद्र चौबे ने NDTV से की थी अपने करियर की शुरुआत

वरिष्ठ पत्रकार बरखा दत्त की कंपनी में नौकरी का मौका, ऐसे करें अप्लाई

इस पद के लिए आवेदक के पास दो साल का अनुभव होना चाहिए। इसके अलावा टेक्नोलॉजी की जानकारी के साथ ही उसे कंटेंट के प्रति जुनूनी होना चाहिए।

इस ग्रुप से जुड़े वरिष्ठ पत्रकार मिलिंद खांडेकर, मिली बड़ी जिम्मेदारी

वरिष्ठ पत्रकार मिलिंद खांडेकर को लेकर हाल ही में समाचार4मीडिया ने अपने उच्च स्तरीय स्रोतों से खबर दी थी कि वह जल्द ही इंडिया टुडे ग्रुप में वरिष्ठ पद पर जॉइन कर सकते हैं।



Advertisment






सब्सक्राइब

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

corona
‘कोरोना’ को भगाना है, प्रधानमंत्री के महामंत्र को सफल बनाना है

हम बने, तुम बने एक-दूजे के लिए। हमने माना तुम भी मानो, हम भी रहें और तुम भी रहो घर में एक-दूजे के लिए

Radhey Shyam Tiwari
नहीं रोक सकते तुम ये सब...

इस कविता के माध्यम से कवि ने जीवन की संभावनाओं और जीने की इच्छाओं पर प्रकाश डाला है।

Time
जब समय नहीं कटता

अक्सर कई लोग कहते हुए मिल जाते हैं कि उनका समय नहीं कटता, लेकिन इसी समय में कितनी चीजें कट जाती हैं, कवि ने अपनी कविता के माध्यम से इसका बखूबी वर्णन किया है

Vinod Purohit
‘हर बार एक नया तजुर्बा साथ में लाए’

डॉ. विनोद पुरोहित ने अपने विचारों को इस कविता के माध्यम से खूबसूरत अंदाज में पिरोने का काम किया है