देश में TV रेटिंग सिस्टम को लेकर TRAI ने जारी कीं ये सिफारिशें

‘भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण’ (TRAI) ने देश में टीवी रेटिंग सिस्टम से जुड़े मुद्दे पर अपनी सिफारिशें जारी की हैं।

Last Modified:
Tuesday, 28 April, 2020
TRAI

‘भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण’ (TRAI) ने देश में टीवी रेटिंग सिस्टम से जुड़े मुद्दे पर अपनी सिफारिशें जारी की हैं। ट्राई का कहना है कि कार्यप्रणाली साझा करने में पारदर्शिता की कमी और विभिन्न प्लेटफॉर्म्स के बीच पैनल होम के प्रतिनिधित्व के कारण बार्क (BARC) की रेटिंग सेवा से हितधारक (Stakeholders) संतुष्ट नहीं हैं। अपनी सिफारिशों में ‘ट्राई’ ने यह उल्लेख भी किया है कि बार्क में आईबीएफ का बहुमत होने के साथ ही इसकी निष्पक्षता के साथ समझौता किया जाता है। इसके साथ ही ऑरिजिनल जुटाए गए डाटा में भी पारदर्शिता नहीं है और ऑरिजिनल डाटा व मार्केट में जो डाटा रिलीज किया जाता है, उसमें अंतर होता है। कई मार्केट्स से कम सैंपल लिए जाने से व्युअरशिप को लेकर अनियमितता रबती है और इसका परिणाम गलत व्याख्या के रूप में आता है। यहां तक कि टेक्नोलॉजी पर भारी निवेश किए जाने के बावजूद बार्क डाटा एक हफ्ते की देरी से आते हैं और रोजाना प्रस्तुत नहीं किए जाते हैं। इन सब मुद्दों को देखते हुए ट्राई ने ‘Review of Television Audience Measurement and Rating System in India’ पर अपनी सिफारिशें जारी की हैं।    

ट्राई की ओर से जारी सूचना के अनुसार, ‘देश में टेलिविजन रेटिंग एजेंसियों के लिए सूचना प्रसारण मंत्रालय ने 10 जनवरी 2014 को पॉलिसी गाइडलाइंस को अधिसूचित (notified) किया था। इन गाइडलाइंस के अनुसार एमआईबी द्वारा 28 जुलाई 2015 को बार्क को देश में टेलिविजन रेटिंग मापने की मान्यता दी गई। बार्क ने 2015 में अपना कार्य शुरू किया और तब से यह व्यावसायिक आधार पर टीवी रेटिंग सेवाओं की एकमात्र प्रोवाइडर है।

ट्राई का कहना है कि शेयरधारकों द्वारा मौजूदा रेटिंग प्रणाली की तटस्थता और विश्वसनीयता से संबंधित तमाम चिंताएं जताई गईं, जिस पर देश में वर्तमान टीवी ऑडियंस मीजरमेंट और रेटिंग सिस्टम की समीक्षा किए जाने की जरूरत को महसूस किया गया। ट्राई के अनुसार, मामले में स्वत: संज्ञान लेते हुए ‘ Review of TV audience measurement and ratings in India’ को लेकर तीन दिसंबर 2018 को कंसल्टेशन पेपर जारी किया गया था और वर्तमान रेटिंग सिस्टम से संबंधित मुद्दों पर स्टेकहोल्डर्स के लिखित कमेंट्स मांगे गए थे। कमेंट्स जमा करने की अंतिम तारीख 15 फरवरी 2019 रखी गई थी और इनके जवाबी कमेंट्स के लिए 28 फरवरी 2019 की तारीख तय की गई थी। इस मुद्दे पर ट्राई को 23 कमेंट्स और तीन काउंटर कमेंट्स प्राप्त हुए थे।

कंसल्टेशन प्रक्रिया के दौरान स्टेकहोल्डर्स से मिले सभी कमेंट्स को पढ़ने के बाद और तमाम विश्लेषण के बाद ट्राई ने अपनी सिफारिशों को अंतिम रूप दिया है। ट्राई की ओर से तय की गईं प्रमुख सिफारिशों को आप यहां पढ़ सकते हैं।

  1. Structural reforms are required in the Governance structure of BARC to mitigate the potential risk of conflict of interest, improve credibility and bring transparency and instil confidence of all the stakeholders in the TRP measurement system. 

  2. Composition of the Board of BARC India should be changed as part of the proposed structural reforms. 

  3. The Board should have at least fifty percent independent members, which should include one member as a measurement technology expert, one statistician of national repute from among the top institution(s) of the country and two representatives from the Government/Regulator. 

  4. Restructured Board of BARC India should provide for equal representation of the three constituent Industry Associations, namely; AAAI, ISA and IBF and with equal voting rights irrespective of their proportion of equity holding. 

  5. Tenure of the members of the Board shall be for two years.

  6. Active participation of representatives of the Advertisers and the advertising agency will bring more accuracy, transparency, credibility, and neutrality in the system, due to their inherent need of advertisers to reach viewers accurately

  7. Tenure of the Chairman of the Board should not be more than two years. Chairmanship of the Board shall be rotated among the constituent industry associations in every two years.

  8. BARC should also separate its functions in two units (a) one unit should be responsible for prescribing methodology of ratings/validation of data, publishing the data and audit mechanism and (b) the other unit for processing the data, watermarking or any other such technical work including management of data collection agencies.

  9. Once multiple agencies come forward for rating, BARC should limit its role to publishing the ratings, and framing methodology and audit mechanism for the rating agencies, so that the number of agencies can develop multiple rating system leveraging new technologies

  10. The rating agency should be mandated to increase the sample size from the existing 44,000 to 60,000 by the end of 2020, and 1,00,000 by the end of 2022 using the existing technology

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

सैम बलसारा ने बताई वजह, क्यों कम हो रही न्यूज चैनल्स की व्युअरशिप

‘गवर्नेंस नाउ’ (Governance Now) के एमडी कैलाशनाथ अधिकारी के साथ विशेष बातचीत में एडवर्टाइजिंग जगत की जानी-मानी हस्ती सैम बलसारा ने तमाम न्यूज चैनल्स की आलोचना की

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 06 August, 2020
Last Modified:
Thursday, 06 August, 2020
Sam Balsara

‘मैडिसन वर्ल्ड’ (Madison World) और ‘मैडिसन कम्युनिकेशंस’ (Madison Communications)  के फाउंडर, चेयरमैन और एमडी सैम बलसारा ने तमाम भारतीय न्यूज चैनल्स की आलोचना की है। एडवर्टाइजिंग जगत की जानी-मानी हस्ती सैम बलसारा का कहना है कि वर्तमान परिप्रेक्ष्य में न्यूज चैनल्स लगातार एक ही कंटेंट को दोहरा रहे हैं।

बलसारा ‘गवर्नेंस नाउ’ (Governance Now) के एमडी कैलाशनाथ अधिकारी के साथ ‘Impact of Covid-19 on media and entertainment industry and the role of governance in the media sector’ टॉपिक पर विशेष बातचीत कर रहे थे।

‘विजिनरी टॉक सीरीज’ (Visionary Talk series) के तहत होने वाली इस बातचीत के दौरान बलसारा का कहना था, ‘न्यूज चैनल्स के पास नई पहल करने और ज्यादा मानवीय होने के तमाम अवसर हैं, लेकिन न्यूज कंटेंट के लगातार दोहराव की वजह से व्युअरशिप नीचे आ रही है। लॉकडाउन के पहले हफ्ते में न्यूज चैनल्स की व्युअरशिप जहां 300 प्रतिशत तक बढ़ गई थी, वहीं वर्तमान में इसमें भारी कमी आई है।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

DD के फ्रीडिश स्लॉट की नीलामी में इन चैनल्स को मिली सफलता

नेशनल पब्लिक ब्रॉडकास्टर ‘प्रसार भारती’ ने ‘दूरदर्शन’ के डायरेक्ट टू होम (DTH) प्लेटफॉर्म ‘फ्रीडिश’ पर दो नए चैनल्स द्वारा स्लॉट हासिल किए जाने की घोषणा की है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 06 August, 2020
Last Modified:
Thursday, 06 August, 2020
Free Dish

नेशनल पब्लिक ब्रॉडकास्टर ‘प्रसार भारती’ ने ‘दूरदर्शन’ के डायरेक्ट टू होम (DTH) प्लेटफॉर्म ‘फ्रीडिश’ पर दो नए चैनल्स द्वारा स्लॉट हासिल किए जाने की घोषणा की है। जिन चैनल्स ने इन स्लॉट्स को हासिल करने में सफलता हासिल की है, उनके नाम ‘ABZY Movies’ और ‘News State’ (UP/Uttarakhand) हैं। ये स्लाट छह अगस्त 2020 से 31 मार्च 2021 तक के लिए वैध होंगे। यानी अब डीडी फ्रीडिश के दर्शकों को 31 मार्च 2021 तक इस प्लेटफॉर्म पर ये दो चैनल्स और देखने को मिलेंगे।

‘ABZY Movies’ एक फ्री टू एयर (FTA) हिंदी मूवीज चैनल है और यह विभिन्न डीटीएच प्लेटफॉर्म्स व केबल टीवी पर उपलब्ध है। वहीं, ‘News State’ (UP/UK) एक हिंदी न्यूज चैनल है जो उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड की खबरों पर ज्यादा फोकस करता है।

बता दें कि प्रसार भारती ने 20 जुलाई को डीडी फ्रीडिश प्लेटफॉर्म पर खाली पड़े स्लॉट्स भरने के लिए टीवी चैनल्स से आवेदन आमंत्रित किए थे। प्रसार भारती की ओर से 20 जुलाई को जारी इस नोटिस में कहा गया था कि आवश्यकता पड़ने पर  28 जुलाई को 47वीं ई-नीलामी की प्रक्रिया आयोजित की जाएगी।

गौरतलब है कि ‘News State’ (UP/UK) डीडी फ्रीडिश प्लेटफॉर्म पर पहले से मौजूद है, क्योंकि इसने जून में हुई 46वीं ई-नीलामी में स्लॉट जीता था। 47वीं ई-नीलामी जहां खाली पड़े MPEG-2 स्लॉट्स को भरा गया है, वहीं 46वीं ई-नीलामी खाली पड़े MPEG-4 स्लॉट के लिए थी। जून के आखिर में प्रसार भारती ने घोषणा की थी कि 46वीं ई-नीलामी में 15 चैनल्स ने स्लॉट्स हासिल किए हैं, जिनमें से चार धार्मिक और 11 न्यूज चैनल्स हैं।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

ABP माझा के इस कार्यक्रम में जुटीं हस्तियां, तमाम मुद्दों पर हुई चर्चा

‘एबीपी माझा’ ने राजनीतिक घटनाक्रमों, जनता से जुड़े प्रमुख मुद्दों और सरकार के विभिन्न विचारों पर प्रकाश डालने के लिए 31 जुलाई को अपने फ्लैगशिप शो ‘माझा महाराष्ट्र माझा विजन’ का आयोजन किया।

Last Modified:
Monday, 03 August, 2020
ABP Majha

देश के अग्रणी मराठी न्यूज चैनल ‘एबीपी माझा’ (ABP Majha) ने राजनीतिक घटनाक्रमों, जनता से जुड़े प्रमुख मुद्दों और सरकार के विभिन्न विचारों पर प्रकाश डालने के लिए 31 जुलाई को अपने फ्लैगशिप शो ‘माझा महाराष्ट्र माझा विजन’ (Majha Maharashtra Majha Vision) का आयोजन किया।

कार्यक्रम में विभिन्न दलों के राजनेताओं समेत तमाम पत्रकारों ने भाग लिया और राज्य के वर्तमान हालातों पर चर्चा की। कार्यक्रम में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य में कोविड-19 की स्थिति के बारे में बताते हुए कहा, ‘मुंबई लोकल अभी भी चल रही है। आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों के लिए लोकल ट्रेन की सुविधा उपलब्ध है। मुंबई में स्थानीय परिवहन सेवा शुरू होगी या नहीं, यह तय करना राज्य सरकार के पास नहीं है। राज्य में आवश्यक सेवा से जुड़े कर्मचारियों के लिए परिवहन सेवा शुरू करने को लेकर हमें कई बार केंद्र सरकार से अनुरोध करना पड़ा।’  

वहीं, सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने इस बात पर जोर दिया कि लॉकडाउन समस्या का समाधान नहीं है। उन्होंने कहा, ‘यदि लॉकडाउन को और बढ़ाया जाता है तो उससे आर्थिक संकट पैदा हो जाएगा। इंडस्ट्री को सोशल डिस्टेंसिंग पर फोकस करना होगा। इसके साथ ही हाथ धोने और मास्क का इस्तेमाल करने की आदत को बढ़ावा देना होगा।’

इस कार्यक्रम को एबीपी माझा के एंकर राजीव खांडेकर, अभिजीत करंडे (Abhijit Karande), प्रसन्ना जोशी, ज्ञानदा चव्हाण और नम्रता वागले ने मॉडरेट किया। बता दें कि माझा विजन एक प्लेटफॉर्म है, जहां राज्य के प्रमुख मामलों पर विचार-विमर्श करने के लिए मंत्री आमने-सामने आते हैं और ज्वलंत मुद्दों पर अपनी राय साझा करते हैं। उन्हें अपनी राज्य के प्रति अपने लक्ष्यों और किए गए कामों की प्रगति को लेकर अपने रिपोर्ट कार्ड को साझा करने का मंच मिलता है।

इस समिट के बारे में ‘एबीपी नेटवर्क’ (ABP Network) के सीईओ अविनाश पांडे ने कहा, ‘माझा विजन एक ऐसा प्लेटफॉर्म है, जहां पर राजनेता एक साथ आते हैं और राज्य व राष्ट्र से जुड़े प्रमुख मुद्दों पर अपनी बात रखते हैं। महाराष्ट्र में कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं। ऐसे समय में लोग जानना चाहते हैं कि इस बीमारी से निपटने के बारे में उनके राजनेताओं का क्या विजन है। माझा विजन उन्हें ऐसा प्लेटफॉर्म उपलब्ध कराता है, जहां पर वे आपस में विभिन्न मुद्दों पर चर्चा कर सकते हैं। एबीपी माझा के रूप में हमारा एकमात्र उद्देश्य दर्शकों को उनसे जुड़े सभी मुद्दों से अवगत कराना है।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

TV पत्रकार विनोद लांबा ने अब इस मीडिया समूह के साथ शुरू किया नया सफर

विनोद लांबा को विभिन्न मीडिया संस्थानों में काम करने का 14 साल से ज्यादा का अनुभव है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 01 August, 2020
Last Modified:
Saturday, 01 August, 2020
Vinod Lamba

टीवी पत्रकार विनोद लांबा ने ‘टोटल टीवी’ (Total TV) में अपनी पारी को विराम देकर नए सफर की शुरुआत की है। ‘टोटल टीवी’ में विनोद लांबा करीब दो साल से कार्यरत थे और दिल्ली के ब्यूरो चीफ के तौर पर अपनी जिम्मेदारी संभाल रहे थे। विनोद लांबा ने अपने नए सफर की शुरुआत अब ‘जी मीडिया’ (Zee Media) के साथ की है। यहां बतौर मुख्य संवाददाता उन्हें दिल्ली-हरियाणा और हिमाचल की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

मूल रूप से फरीदाबाद के रहने वाले विनोद लांबा को मीडिया के क्षेत्र में काम करने का 14 साल से ज्यादा का अनुभव है। उन्होंने पत्रकारिता के क्षेत्र में अपने करियर की शुरुआत वर्ष 2006 में ‘डीडी न्यूज’ से की थी। इसके बाद ‘डीडी स्पोर्ट्स’, ‘सीएनईबी’, ‘लाइव इंडिया’, ‘न्यूज24’, ‘इंडिया न्यूज’, ‘टोटल टीवी’ होते हुए अब वह ‘जी मीडिया’ में पहुंचे हैं।

विनोद लांबा ने दिल्ली विश्वविद्यालय से जर्नलिज्म इन कॉरपोरेट कम्युनिकेशंस में पीजी डिप्लोमा किया है। इसके अलावा उन्होंने हरियाणा के हिसार स्थित गुरु जंभेश्वर विश्वविद्यालय से मास कम्युनिकेशन में पोस्ट ग्रेजुएशन किया है। समाचार4मीडिया की ओर से विनोद लांबा को उनकी नई पारी के लिए शुभकामनाएं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

व्युअर्स के बीच अपनी पकड़ मजबूत करने के लिए ABP न्यूज ने बनाई खास स्ट्रैटेजी

कोविड-19 के कारण टीवी व्युअरशिप के बदलते पैटर्न को देखते हुए सुबह दस से शाम तक लगातार शोज प्रसारित किए जा रहे हैं

Last Modified:
Tuesday, 28 July, 2020
ABP News

कोविड-19 ने विभिन्न जॉनर्स में टीवी शोज के व्युअरशिप पैटर्न को प्रभावित किया है। ऐसे में अपने कंटेंट में तमाम नए बदलाव करने की दिशा में कदम बढ़ाते हुए हिंदी न्यूज चैनल ‘एबीपी न्यूज’ (ABP News) ने अपने कई शोज को नए सिरे से लाइन अप (line up) किया है। देखा जाए तो अपने देश में टीवी पर न्यूज जॉनर में पारंपरिक रूप से प्राइम टाइम का समय शाम को सात से रात 11 बजे के बीच होता है। अधिकांश चैनल्स को इस समय अवधि (time-band) में ही सबसे ज्यादा व्युअरशिप हासिल की है।

हालांकि, कोरोनावायरस (कोविड-19) के दौर में अधिकांश दर्शकों के घरों पर रहने की वजह से टीवी व्युअरशिप के पैटर्न में बदलाव आ रहा है। घरों पर मौजूद टीवी व्युअर्स कोविड से पहले की तुलना में अब दिन के समय यानी सुबह दस बजे से दोपहर ढाई बजे (10:00 am to 2:30 pm) के बीच ज्यादा न्यूज देख रहे हैं।   

नए दौर में अपने व्युअर्स के बीच ज्यादा से ज्यादा पहुंच बनाने और उन्हें अपने साथ जोड़े रखने के लिए ‘एबीपी न्यूज’ सुबह दस से शाम छह बजे तक दिलचस्प शोज के जरिये दिन के समय के कंटेंट में काफी बदलाव कर रहा है।

अपने इस नए पोर्टफोलियो के तहत ‘एबीपी न्यूज’ हफ्ते (weekdays) में  कुछ नए शोज समेत छह खास शोज प्रसारित कर रहा है। इनमें एबीपी रिपोर्टर (ABP Reporter), ‘न्यूजग्राम’ (Newsgram), ‘पंचनामा’ (Panchnama), ’मातृभूमि’ (Matrubhoomi) और ‘रियलिटी रिपोर्ट’ (Reality Report) आदि शामिल हैं। इन सभी शो को विशेष रूप से भारतीय दर्शकों विविध रुचियों को देखते हुए तैयार किया गया है। इन पेशकशों के अलावा, स्टार प्लस के विशेष सहयोग से ‘एबीपी न्यूज’ अपने लोकप्रिय शो ‘सास बहू और साजिश’ (Saas Bahu Aur Saazish) में तमाम नई वैल्यूज शामिल कर रहा है। इस गठबंधन के द्वारा ‘एबीपी न्यूज’ अपने व्युअर्स को न्यूज और एंटरटेनमेंट का एक्सक्लूसिव कंटेंट उपलब्ध कराएगा।  

इस नई पेशकश के बारे में ‘एबीपी नेटवर्क’ (ABP Network) के सीईओ अविनाश पांडे का कहना है, ‘कोविड-19 के दौर ने भारतीयों के न्यूज के उपभोग (consume news) के तरीके को काफी बदल दिया है। इस दौरान हमारी व्युअरशिप में भी काफी ग्रोथ देखी गई है। हमारे व्युअर्स एबीपी न्यूज से लगातार जुड़े हुए हैं और हम उन्हें श्रेष्ठ, नया और काफी अच्छा कंटेंट उपलब्ध करा रहे हैं। हम अपने शोज की नई लाइन अप को लेकर काफी उत्साहित हैं, जिन्हें दर्शकों की जरूरतों और हितों को ध्यान में रखते हुए सेट किया गया है। हमें पूरा विश्वास है कि देश के लोग हमारे ऊपर अपना भरोसा बनाए रखेंगे।’

एबीपी न्यूज द्वारा शोज की नई लाइन अप को आप यहां देख सकते हैं।

ABP Reporter – 10:00 am to 12:00 pm

Saas Bahu Aur Saazish – 2:30 pm to 3:30 pm

Reality Report – 3:30 pm to 4:00 pm

Newsgram – 4:00 pm to 5:00 pm (Daily)

Panchnama – 5:00 pm to 6:00 pm

Matrubhoomi - 6:00 pm to 7:00 pm

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

धमाकेदार वापसी को तैयार है अभिज्ञान प्रकाश का ये लोकप्रिय शो

कोरोना की वजह से मीडिया के साथ-साथ तमाम उद्योग-धंधों पर भी काफी प्रभाव पड़ा है।

Last Modified:
Saturday, 25 July, 2020
ABHIGYAN PRAKASH

कोरोनावायरस (कोविड-19) ने पूरी दुनिया पर काफी व्यापक प्रभाव डाला है। कोरोना की वजह से मीडिया के साथ-साथ तमाम उद्योग-धंधों पर भी काफी प्रभाव पड़ा है। कोरोना ने देश पर क्या प्रभाव डाला है और आगे क्या प्रभाव डाल सकता है, यह बताने के लिए वरिष्ठ पत्रकार अभिज्ञान प्रकाश अपने लोकप्रिय शो (परिवर्तन) का सीजन टू लेकर आ रहे हैं।

हिंदी न्यूज चैनल ‘एबीपी न्यूज’ (ABP News) पर 25 जुलाई से प्रत्येक शनिवार की रात दस बजे यह शो टेलिकास्ट किया जाएगा। एक घंटे के इस शो के माध्यम से अभिज्ञान प्रकाश जनता से जुड़े तमाम मुद्दों को उठाएंगे और उन पर गहन रोशनी डालेंगे। इस शो का रिपीट टेलिकास्ट प्रत्येक रविवार की सुबह 10 से 11 बजे किया जाएगा।

बता दें कि ‘परिवर्तन’ में अभिज्ञान प्रकाश न केवल ऐसे विषयों में झांकने की कोशिश करते हैं, जो अक्सर दूसरों की नजरों से छूट जाते हैं, बल्कि यह भी समझाते हैं कि देश में सुधार का परिवर्तन आखिर कैसे हो सकता है।

इस बारे में ज्यादा जानकारी आप नीचे दिए गए वीडियो से ले सकते हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

न्यूज24 को बाय बोल पत्रकार प्रत्यूष खरे ने तलाशी नई मंजिल

पत्रकार प्रत्यूष खरे ने हिंदी न्यूज चैनल ‘न्यूज24’ (News24) में अपनी करीब सात साल की पारी को विराम दे दिया है।

Last Modified:
Thursday, 23 July, 2020
Pratyush Khare

पत्रकार प्रत्यूष खरे ने हिंदी न्यूज चैनल ‘न्यूज24’ (News24) में अपनी करीब सात साल की पारी को विराम दे दिया है। यहां वह एसोसिएट एडिटर के पद पर अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे। प्रत्यूष खरे ने अब ‘जी समूह’ के साथ नई शुरुआत की है। उन्होंने इस समूह के हिंदी न्यूज चैनल ‘जी हिन्दुस्तान’ (Zee Hindustan) में बतौर एंकर कम एग्जिक्यूटिव प्रड्यूसर जॉइन किया है। यहां पर वह ’10 का दंगल’ डिबेट शो होस्ट कर रहे हैं।

मूल रूप से जमशेदपुर के रहने वाले प्रत्यूष खरे को मीडिया के क्षेत्र में काम करने का करीब 16 साल का अनुभव है। समाचार4मीडिया के साथ बातचीत में प्रत्यूष खरे ने बताया कि उन्होंने पत्रकारिता में अपने करियर की शुरुआत ‘ईटीवी’ से की थी। इसके बाद वह यहां से अलविदा कहकर ‘जी न्यूज’ के साथ जुड़ गए और करीब तीन साल तक अपनी जिम्मेदारी को बखूबी निभाया।

इसके बाद प्रत्यूष खरे ने यहां से बाय बोलकर ‘महुआ’ चैनल में नई शुरुआत की। हालांकि, इस चैनल के साथ उनका सफर महज कुछ महीने ही रहा और इसके बाद वे ‘न्यूज24’ से जुड़े गए। ‘न्यूज24’ में अपनी पारी के दौरान प्रत्यूष खरे ने ‘5 की पंचायत’ जैसा दमदार डिबेट शो किया। इसके अलावा उन्होंने ‘सवाल वोट का’ और ‘देश की आवाज’ जैसे लोकप्रिय शोज किए। वहीं, पटना में आई बाढ़ पर उन्होंने दमदार रिपोर्टिंग भी की।

समाचार4मीडिया की ओर से प्रत्यूष खरे को नई पारी के लिए शुभकामनाएं।  

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

मध्य प्रदेश में विधानसभा उप चुनाव को देखते हुए न्यूज18 के इस शो ने फिर दी दस्तक

इस शो के माध्यम से वोटर्स अपनी बात राजनेताओं तक पहुंचा सकते हैं और उनसे विभिन्न मुद्दों पर सीधे सवाल पूछ सकते हैं।

Last Modified:
Monday, 20 July, 2020
News18

मध्य प्रदेश में आगामी विधानसभा उप चुनाव को देखते हुए न्यूज चैनल ‘न्यूज18 मध्य प्रदेश/छत्तीसगढ़’ अपना अवॉर्ड विनिंग शो ‘कहता है वोटर’ (Kehta Hai Voter) एक बार फिर वापस लेकर आया है। इस शो के माध्यम से वोटर्स अपनी बात राजनेताओं तक पहुंचा सकते हैं और उनसे विभिन्न मुद्दों पर सीधे सवाल पूछ सकते हैं।

चैनल का मानना है कि चुनाव आमजन के मुद्दों से जुड़े होते हैं और इसलिए उनकी आवाज और उनसे जुड़े मुद्दों को उठाना काफी महत्वपूर्ण है। 18 जुलाई से इस शो को चैनल पर लॉन्च किया गया है। चैनल की ओर से कहा गया है कि चुनाव के दौरान मतदाता अपनी बात उठा सकें, इस उद्देश्य से शो की कल्पना की गई थी। इतने वर्षों में चुनावों के दौरान यह शो दर्शकों को उन मुद्दों को उठाने के लिए सशक्त बना रहा है जो उनके लिए काफी महत्वपूर्ण हैं। इस शो की यूएसपी यह है कि यह राजनेताओं और वोटर्स के बीच सीधे बातचीत करने की सुविधा प्रदान करता है।  

इस शो के दौरान विभिन्न निर्वाचन क्षेत्रों के दर्शकों से उन सवालों को उठाने के लिए कहा जाएगा जो वे अपने नेताओं से पूछना चाहते हैं। राजनीतिक दलों के नेता इन दर्शकों के सवालों का जवाब देंगे। शो में उन मुद्दों पर चर्चा कराने का वादा भी किया गया है जो उपचुनावों के परिणामों पर सीधा असर डालेंगे। ‘कहता है वोटर’ शो को न्यूज18 मध्यप्रदेश/छत्तीसगढ़ पर प्रत्येक शनिवार और रविवार को दिखाया जाएगा।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

दर्शकों से जुड़ाव बढ़ाने के लिए ABP न्यूज ने शुरू की खास पेशकश

हिंदी न्यूज चैनल ‘एबीपी न्यूज’ ने लोगों से जुड़ाव बढ़ाने के लिए स्पेशल इंटरैक्टिव पहल शुरू की है।

Last Modified:
Monday, 20 July, 2020
ABP News

हिंदी न्यूज चैनल ‘एबीपी न्यूज’ (ABP News) ने लोगों से जुड़ाव बढ़ाने के लिए स्पेशल इंटरैक्टिव पहल शुरू की है। इसके तहत चैनल ने अपनी प्रोग्रामिंग में ऑडियंस पोल्स (audience polls) को शामिल किया है, ताकि दर्शकों को और बेहतर तरीके से खुद से जोड़ा जा सके।  

चैनल की ओर से जारी स्टेटमेंट के अनुसार, लोगों को एक स्पेशल प्लेटफॉर्म उपलब्ध कराया जा रहा है, जिस पर वे प्रासंगिक मुद्दों पर अपनी बात रख सकते हैं। इसके लिए एबीपी न्यूज ‘डेली पोल’  (daily poll) कराता है। इस ‘डेली पोल’ के तहत एबीपी न्यूज सीवोटर (Centre for Voting Opinion & Trends in Election Research) के साथ कुछ सवाल शेयर करता है, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों से उनकी प्रतिक्रिया जानी जा सके।

अपराह्न साढ़े चार बजे तक पोल के नतीजे आ जाते हैं और इन्हें शाम को पांच बजे के शो में लाइव दिखाया जाता है। इस शो को ‘एबीपी न्यूज’ की जानी-मानी न्यूज एंकर रूबिका लियाकत होस्ट करती हैं।अपनी शुरुआत के बाद से इस शो में तमाम प्रमुख मुद्दों से जुड़े सवालों को उठाया गया है, इनमें राजस्थान में राजनीतिक उथल-पुथल से लेकर पिछले दिनों हुआ विकास दुबे मुठभेड़ कांड आदि शामिल हैं।

पिछले दिनों काफी चर्चा में रहे विकास दुबे मुठभेड़ कांड की बात करें को करीब 84.8 प्रतिशत दर्शकों का मानना है कि विकास दुबे ने एनकाउंटर के डर से खुद ही पुलिस के सामने सरेंडर किया था। लोगों से जब यह पूछा गया कि उज्जैन में विकास दुबे की गिरफ्तारी क्या साबित करती है तो करीब 66.7 प्रतिशत लोगों ने कहा कि इससे पुलिस की अक्षमता साबित होती है, जबकि 33.3 प्रतिशत लोगों ने इस बात से असहमति जताई। राजस्थान की राजनीतिक उथल-पुथल पर 67.2% का मानना ​​था कि कांग्रेस अपने आंतरिक संघर्षों के कारण ध्वस्त हो जाएगी।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

अब इस चैनल में एसोसिएट एडिटर बने पत्रकार अश्विनी मिश्रा

अश्विनी मिश्रा को पत्रकारिता के क्षेत्र में काम करने का 18 साल से ज्यादा का अनुभव है। पूर्व में वह तमाम मीडिया संस्थानों में विभिन्न पदों पर अपनी भूमिकाएं निभा चुके हैं।

Last Modified:
Saturday, 18 July, 2020
Ashwini Mishra

पत्रकार अश्विनी मिश्रा ने न्यूज चैनल ‘सहारा समय’ (मप्र/छत्तीसगढ़) के साथ अपनी नई पारी की शुरुआत की है। उन्होंने यहां पर बतौर एसोसिएट एडिटर जॉइन किया है। अश्विनी मिश्रा को पत्रकारिता के क्षेत्र में काम करने का 18 साल से ज्यादा का अनुभव है। पूर्व में वह तमाम मीडिया संस्थानों में विभिन्न पदों पर अपनी भूमिकाएं निभा चुके हैं। ‘सहारा समय’ के साथ अपनी नई पारी शुरू करने से पहले अश्विनी मिश्रा डिजियाना ग्रुप में ग्रुप कंसल्टेंट के पद पर अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे।

समाचार4मीडिया के साथ बातचीत में अश्विनी मिश्रा ने बताया कि वह पूर्व में ‘जी’ (मप्र/छत्तीसगढ़) में रेजिडेंट एडिटर के पद पर काम कर चुके हैं। ‘ईटीवी नेटवर्क’ में एडिटर की भूमिका निभाने के अलावा वह हिंदी खबर से भी जुड़े रहे हैं।

मूल रूप से उत्तर प्रदेश में कासगंज के रहने वाले अश्विनी मिश्रा ने आगरा यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की है। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत ‘मून टीवी’ चैनल से की थी। इसके बाद अमर उजाला और फिर तमाम मीडिया संस्थानों में अपनी भूमिका निभाते हुए वह यहां पहुंचे हैं। समाचार4मीडिया की ओर से अश्विनी मिश्रा को नई पारी के लिए शुभकामनाएं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए