देश में वसुधैव कुटुम्बकम है, क्योंकि यह हिंदू बहुल है: अमिश देवगन

‘न्यूज18इंडिया’ पर अपने डिबेट शो ‘ये देश है हमारा’ में मेहमानों से चर्चा कर रहे थे अमिश देवगन

Last Modified:
Monday, 07 October, 2019
Amish Devgan

हिंदी न्यूज चैनल ‘न्यूज18इंडिया’ के डिबेट शो में पहुंचे कांग्रेस नेता का एक विडियो सोशल मीडिया पर इन दिनों वायरल हो रहा है। इस विडियो में वह कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह का बचाव करते हुए नजर आ रहे हैं। यही नहीं, उन्होंने हाथ जोड़कर शो को होस्ट कर रहे एंकर से यह तक कह दिया कि आप न तो दिग्विजय सिंह के पीछे पड़िए और न कांग्रेस के।

दरअसल, नेटवर्क18 (Network18) के वरिष्ठ पत्रकार और चर्चित एंकर्स में शुमार अमिश देवगन ‘न्यूज18इंडिया’ पर अपने डिबेट शो ‘ये देश है हमारा’ में आरएसएस की देशभक्ति पर विपक्ष के सवालों को लेकर मेहमानों से चर्चा कर रहे थे। इस दौरान महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर दिग्विजय सिंह द्वारा इस्तेमाल किए गए रेडिकल हिंदू शब्द का मामला भी उठा।

दिग्विजय के इस बयान पर सवाल करते हुए अमिश देवगन का कहना था कि हिंदू रेडिकल हो गया, कब से? इस पर आचार्य प्रमोद कृष्णम का कहना था, ‘अमिश देवगन जी आप हमेशा शो शुरू करते हैं सवालों से और जवाब हम देते हैं। मैं आज भी आपका जवाब दूंगा, लेकिन एक सवाल मैं आज पहली बार आपसे करना चाहता हूं कि क्या किसी भी व्यक्ति के लिए, राज्य के लिए, राष्ट्र के लिए, धर्म के लिए कट्टरता ठीक है, सगठनिज्म ठीक है? ये आप जवाब दे दें।’

अमिश देवगन के यह कहने पर कि इसे कोई ठीक नहीं कह सकता है, आचार्य प्रमोद कृष्णम ने यह भी कहा, ‘ ये देश बसुधैव कुटुम्बकम में यकीन करता है। अगर किसी भी वजह से भारत को दुनिया में कट्टरपंथी भारत कहा जाएगा तो क्या यह उचित होगा? नहीं होगा। इसलिए जहां तक दिग्विजय सिंह की बात है, उन्होंने ऐसा कतई नहीं कहा है। उन्होंने साफ कहा है कि किसी भी तरह की कट्टरता देश के लिए और धर्म के लिए खतरनाक है।‘

उन्होंने कहा, ‘हमारे सनातन धर्म की बुनियाद ही सत्य, अहिंसा, प्रेम, करुणा और सद्भावना है। इसलिए मैं ये कहना चाहता हूं कि आप बेमतलब न तो दिग्विजय सिंह जी के पीछे पड़िए और न कांग्रेस के पीछे पड़िए। जनता को जब मौका मिलेगा, वो अपना फैसला कर देगी।‘

इसके बाद अमिश देवगन ने कहा, ‘जनता के पीछे मैं पड़ नहीं सकता। मैं तो सरकार से भी सवाल करूंगा और विपक्ष से भी सवाल करूंगा। जैसा कि आपने कहा कि ये देश वसुधैव कुटुम्बकम में यकीन करता है तो वो इसलिए कि यह हिंदू बहुल है और ये इसका सबसे बड़ा कारण है।’

इसके बाद अमिश देवगन ने चर्चा को आगे बढ़ाते हुए बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया से कहा, ‘आप दिग्विजय सिंह के हाथ धोकर पीछे पड़ जाते हैं। कट्टरपंथिता तो किसी भी धर्म में अच्छी नहीं है। आचार्य जी का ये बहुत अच्छा पॉइंट है। आप भी इससे सहमत होंगे।’

इस पर गौरव भाटिया का कहना था, ‘हम लोग अपने हाथ कभी मैले नहीं करेंगे। इसलिए दिग्विजय सिंह को छूने का तो सवाल ही नहीं उठता। देश की जनता ने भोपाल के चुनाव में ऐसे व्यक्ति को जो हिंदू को आतंकवादी कहता है, उसे ऐसा कर दिया कि न वह घर का रहा और न घाट का। मैं एक बात डंके की चोट पर कहता हूं कि न हिंदू आतंकवादी था, न है और न होगा, क्योंकि देश का हिंदू देशप्रेमी है। उसी का इतना बड़ा दिल है कि वह सारे धर्मों का सम्मान करता है। इसलिए भारत में ईद में खीर खाते हैं हिंदू और दिवाली मनाते हैं हमारे मुसलमान भाई। यह हमारी संस्कृति है।’

न्यूज18 इंडिया के पत्रकार मोहित वर्मा ने इस डिबेट शो को अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर किया है, जिसे आप यहां देख सकते हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

कोरोना को मात देने के बाद फेसबुक पर LIVE हुए सुधीर चौधरी, कही ये बात

‘जी न्यूज’ (Zee News) के एडिटर-इन-चीफ सुधीर चौधरी ने कोरोनावायरस (कोविड-19) को मात दे दी है। लगभग 20 दिनों के बाद उनकी कोविड-19 रिपोर्ट निगेटिव आई है।

Last Modified:
Sunday, 13 June, 2021
SudhirChaudhary5454

‘जी न्यूज’ (Zee News) के एडिटर-इन-चीफ सुधीर चौधरी ने कोरोनावायरस (कोविड-19) को मात दे दी है। लगभग 20 दिनों के बाद उनकी कोविड-19 रिपोर्ट निगेटिव आई है। इसकी जानकारी खुद सुधीर चौधरी ने ट्वीट कर दी है।

इस ट्वीट में सुधीर चौधरी ने लिखा है, ‘आपके साथ कुछ पॉजिटिव न्यूज साझा करते हुए मुझे खुशी हो रही है कि मेरा कोविड टेस्ट निगेटिव आया है। मैं ठीक हो गया हूँ और अब काम पर लौटने के लिए तैयार हूं, लेकिन इससे पहले कि मैं ऐसा करूं, मैं आप सभी को #GetWellSoon की शुभकामनाओं और प्रार्थनाओं के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं। आज शाम पांच बजे मैं अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर लाइव रहूंगा।

इसके बाद सुधीर चौधरी शाम को करीब पांच बजे अपने फेसबुक पेज पर लाइव हुए और कहा, ‘अब मैं कोविड निगेटिव हूं और बिलकुल ठीक हूं। लेकिन जो कोविड के बाद जो लक्षण होते हैं, वो मुझमें भी हैं, जैसे कमजोरी है और शरीर के अंदर बाकी की जो समस्याएं होती हैं, वह अभी हैं। शायद कुछ दिनों या महीनों तक यह रहे। डॉक्टर ने फिलहाल सावधानी बरतने की सलाह दी है। स्वास्थ्य के हिसाब से पहले जैसे स्थित में पहुंचने में के लिए मुझे लगता है कि कुछ महीने और लगेंगे।‘

गौरतलब है कि पिछले दिनों सुधीर चौधरी कोरोनावायरस की चपेट में आ गए थे और उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सुधीर चौधरी ने एक ट्वीट के जरिये खुद इस बात की जानकारी दी थी। अपने ट्वीट में सुधीर चौधरी का कहना था, ‘मैं कोविड पॉजिटिव हो गया हूं और अब इससे रिकवर कर रहा हूं।’ हालांकि कई दिनों तक अस्पताल में रहने के बाद एक जून को उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल गई थी। इस बार अपने ट्वीट में सुधीर चौधरी का कहना था कि ‘मुझे अस्पताल से छुट्टी मिल गई है और मैं घर व जीवन के नए रास्ते पर वापस जा रहा हूं। आपने मेरे लिए प्रार्थनाएं कीं, इसके लिए आपको धन्यवाद।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

सूचना प्रसारण मंत्रालय ने 30 दिनों के लिए इस चैनल के प्रसारण पर लगाई रोक

मंत्रालय ने मल्टीसिस्टम ऑपरेटर्स (MSOs) और लोकल केबल ऑपरेटर्स को निर्देश दिया है कि 30 दिनों की प्रतिबंध अवधि के दौरान वह इस चैनल का प्रसारण न करें।

Last Modified:
Saturday, 12 June, 2021
Channel

‘सूचना-प्रसारण मंत्रालय’ (MIB) ने लोगो के अनधिकृत उपयोग और वार्षिक लाइसेंस शुल्क का भुगतान न करने पर ‘होप टीवी’ (HOPE TV) को 30 दिनों के लिए ऑफ-एयर करने का आदेश दिया है। बता दें कि ‘होप टीवी’ ईसाई भक्ति चैनल है, जिसका डिस्ट्रीब्यूशन ‘नोएडा सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क लिमिटेड’ (NSTPL) द्वारा किया जाता है।

आठ जून को जारी अपने आदेश में सूचना-प्रसारण मंत्रालय का कहना है कि भारत में निजी सैटेलाइट टीवी चैनलों के अपलिंकिंग और डाउनलिंकिंग के लिए मौजूदा दिशानिर्देशों, 2011 के तहत 30 दिनों के लिए यानी नौ जून की रात 12 बजे से आठ जुलाई की रात 12 बजे तक के लिए ‘होप टीवी’ का प्रसारण प्रतिबंधित रहेगा।

मंत्रालय की ओर से ‘एनएसटीपीएल’ को अनधिकृत लोगो को हटाने और वार्षिक बकाया राशि का भुगतान करने का आदेश भी दिया गया है। इसके साथ ही कंपनी को यह भी निर्देश दिया गया है कि वह 30 जुलाई 2014 के बाद भारत में देखने के लिए चैनल को डाउनलिंक करने और वितरित करने के लिए एडवेंटिस्ट टेलीविजन नेटवर्क (Adventist Television Network), यूएसए के साथ वैध वितरण भागीदार समझौते (valid distribution partner agreement) की एक प्रति भी प्रस्तुत करे।

मंत्रालय द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार, यदि 30 दिनों के अंदर कंपनी इसमें विफल रहती है तो उसके खिलाफ अग्रिम दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। मंत्रालय ने मल्टीसिस्टम ऑपरेटर्स (MSOs) और लोकल केबल ऑपरेटर्स को निर्देश दिया है कि 30 दिनों की प्रतिबंध अवधि के दौरान वह इस चैनल का प्रसारण न करें। ऐसा न करने पर उनके खिलाफ आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

बता दें कि सूचना-प्रसारण मंत्रालय ने 11 नवंबर 2009 को डाउनलिंकिंग की पॉलिसी गाइडलाइंस 2005 के तहत ‘एनएसटीपीएल’ को ‘होप टीवी’ के लिए डाउनलिंकिंग की अनुमति दी थी। पॉलिसी गाइडलाइंस 2011 के तहत इस अनुमति को 10 नवंबर 2024 तक के लिए बढ़ा दिया गया था।

वहीं, लोगो के अनधिकृत इस्तेमाल को लेकर मंत्रालय ने 27 अगस्त 2020 और 20 नवंबर 2020 को ‘एनएसटीपीएल’ को कारण बताओ नोटिस जारी किए थे। हालांकि, कंपनी की ओर से इन दोनों नोटिसों का कोई जवाब नहीं दिया गया था।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

कोरोना से जिंदगी की जंग हार गईं ‘न्यूज18 राजस्थान’ की एंकर अनीता सिंह

रीजनल न्यूज चैनल ‘न्यूज18 राजस्थान’ में कार्यरत पत्रकार व न्यूज एंकर अनीता सिंह का मंगलवार को निधन हो गया।

Last Modified:
Thursday, 10 June, 2021
AnitaSingh5

रीजनल न्यूज चैनल ‘न्यूज18 राजस्थान’ में कार्यरत पत्रकार व न्यूज एंकर अनीता सिंह का मंगलवार को निधन हो गया। बताया जा रहा है कि वे कोरोना से जिंदगी की जंग लड़ रहीं थीं और पिछले कुछ दिनों से अस्पताल में भर्ती थी, जहां वे वेंटिलेटर सपोर्ट पर थीं।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पत्रकार एवं न्यूज एंकर अनीता सिंह के निधन पर गहरी संवेदना व्यक्त की है। गहलोत ने कहा कि न्यूज़ 18 में कार्यरत युवा पत्रकार एवं न्यूज़ एंकर अनीता सिंह के असामयिक निधन पर मेरी गहरी संवेदनाएं। उन्होंने ईश्वर से शोकाकुल परिजनों को इस बेहद कठिन समय में सम्बल देने एवं दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करने की प्रार्थना की।

वहीं राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया ने भी पत्रकार के निधन पर गहरा शोक प्रकट करते हुए कहा कि प्रदेश की युवा, जुझारू पत्रकार एवं न्यूज एंकर अनीता सिंह के निधन का दुखद समाचार प्राप्त हुआ, ईश्वर से प्रार्थना है कि दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करें एवं परिजनों को संबल दें।

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा सहित कई नेताओं ने भी पत्रकार अनीता सिंह के निधन पर दुख प्रकट किया और दिवंगत आत्मा को शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की।

 

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

रिपब्लिक भारत को अलविदा कह टीवी पत्रकार आशुतोष चतुर्वेदी ने शुरू किया नया सफर

पत्रकार आशुतोष चतुर्वेदी ने हिंदी न्यूज चैनल ‘रिपब्लिक भारत‘ को अलविदा कह दिया है। वह करीब ढाई साल से इस चैनल में बतौर डिप्टी न्यूज एडिटर/एंकर अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे।

Last Modified:
Thursday, 10 June, 2021
Ashutosh Chaturvedi

पत्रकार आशुतोष चतुर्वेदी ने हिंदी न्यूज चैनल ‘रिपब्लिक भारत‘ (Republic Bharta) को अलविदा कह दिया है। वह करीब ढाई साल से इस चैनल के साथ जुड़े हुए थे और बतौर डिप्टी न्यूज एडिटर/एंकर अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे। आशुतोष चतुर्वेदी ने अपने नए सफर की शुरुआत अब ‘टीवी टुडे नेटवर्क‘ (TV Today Network) के साथ की है। उन्होंने यहां पर बतौर एसोसिएट एडिटर/एंकर जॉइन किया है।

विश्वस्त सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, ‘टीवी टुडे नेटवर्क‘ अपने न्यूज चैनल ‘तेज’ का विस्तार करने जा रहा है। इसके लिए तमाम शो और स्टूडियो बनाने का काम जोरों पर है। खबर है कि चैनल के इसी विस्तार के मद्देनजर आशुतोष चतुर्वेदी को यहां बड़ी जिम्मेदारी सौंपी गई है। बता दें कि ‘तेज’ न्यूज 24 घंटे का हिंदी न्यूज टेलिविजन चैनल है, जिसका स्वामित्व टीवी टुडे नेटवर्क के पास है और यह ‘आजतक‘ का एक सहयोगी चैनल है।

आशुतोष चतुर्वेदी मूल रूप से उत्तर प्रदेश में बलिया के रहने वाले हैं। उनके मां और पिताजी शिक्षा विभाग में रहे हैं। पिता की पोस्टिंग बिहार और फिर राज्य अलग होने के बाद झारखंड में रही है। ऐसे में आशुतोष ने आठवीं कक्षा तक झारखंड से पढ़ाई की। इसके बाद 10वीं और 12वीं प्रयागराज से की। प्रयागराज स्थित Ewing Christian college  से ग्रेजुएशन करने के बाद आशुतोष ने माखनलाल यूनिवर्सिटी के नोएडा कैंपस से मास्टर ऑफ जर्नलिज्म की पढ़ाई की है। आशुतोष चतुर्वेदी को सिंगिंग का काफी शौक रहा है और उन्होंने सिंगिंग में तमाम अवार्ड्स भी जीते हैं। कॉलेज के बेस्ट सिंगर ECC Idol का खिताब जीतने के अलावा वह टीवी शो ‘इंडियन आइडियल’ के लखनऊ ऑडिशन के टॉप 60 प्रतिभागियों में शामिल रहे हैं।

आशुतोष चतुर्वेदी ने पत्रकारिता के क्षेत्र में अपने करियर की शुरुआत प्रिंट मीडिया से की थी। शुरुआत में वह हिंदी अखबार ‘अमर उजाला’ से जुड़े। उस समय अखबार के तत्कालीन रेजिडेंट एडिटर और मौजूदा एडिटर उदय सिन्हा ने प्रेजेंटेशन और गुड लुक्स को ध्यान में रखकर आशुतोष को टीवी जर्नलिज्म के लिए प्रेरित किया। इस पर वर्ष 2008 में आशुतोष ‘जी स्पोर्ट्स’(Zee sports)  चैनल के साथ जुड़ गए। हालांकि यहां वह कम समय तक ही रहे और उसके बाद 2009 में ‘आजाद न्यूज‘ चैनल के साथ नई पारी शुरू कर दी। इस चैनल में करीब चार साल अपनी जिम्मेदारी निभाने के बाद उन्होंने यहां से अलविदा बोल दिया और ‘खबर भारती‘ चैनल में बतौर एंकर हेड अपनी नई पारी शुरू की। यहां एक महीने से भी कम समय में उन्होंने अपनी पारी को विराम दे दिया और ‘जी मीडिया’ से जुड़ गए और ‘जी संगम‘ में रहे। उसके बाद ‘इंडिया 24*7 और ‘जी हिंदुस्तान‘ की लॉन्चिंग टीम में रहे।

आशुतोष ने ‘जी हिंदुस्तान‘ चैनल में रहते हुए कई बड़े शो किए, जिन्हें काफी पसंद किया गया। उन्होंने बॉर्डर पर जम्मू-कश्मीर में आर्मी, बीएसएफ व सीआरपीएफ जवानों के साथ बहुत शोज किए। रात के दो बजे लाल चौक पर रिपोर्टिंग की, LOC पर रिपोर्टिंग की, कश्मीर में काफी चुनौतियों के बीच आतंकी अफजल गुरु के गांव जाकर उसके पूरे परिवार का इंटरव्यू किया। 'जी हिंदुस्तान' में वह रात नौ बजे प्राइम टाइम बुलेटिन 'खबर तो समझिए' करते थे।

इस चैनल में रहते हुए सीआरपीएफ (CRPF ) पर की गई रिपोर्टिंग के लिए उन्हें सीआरपीएफ की तरफ से सम्मानित भी किया जा चुका है।‘जी मीडिया‘ में पांच साल से ज्यादा समय तक अपनी जिम्मेदारी निभाने के बाद आशुतोष ने यहां से बाय बोलकर अरनब गोस्वामी के चैनल ‘रिपब्लिक भारत’ को जॉइन कर लिया था। वह इस चैनल की लॉन्चिंग टीम का हिस्सा रहे। अब यहां से अलविदा कहकर उन्होंने ‘टीवी टुडे नेटवर्क’ के साथ नई पारी शुरू की है।

समाचार4मीडिया की ओर से आशुतोष चतुर्वेदी को उनकी नई पारी के लिए ढेरों शुभकामनाएं।  

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

सेना को लेकर दिए बयान पर वरिष्ठ पत्रकार हामिद मीर ने मांगी माफी, कही ये बात

पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार हामिद मीर ने हाल ही में दिए अपने एक भाषण को लेकर माफी मांगी है।

Last Modified:
Wednesday, 09 June, 2021
HamirMir5454

पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार हामिद मीर ने हाल ही में दिए अपने एक भाषण को लेकर माफी मांगी है। उन्होंने कहा कि उनका पाकिस्तानी सेना को बदनाम करने का कोई इरादा नहीं था।

दरअसल, हामिद मीर ने कुछ दिन पहले पत्रकारों पर हो रहे हमलों पर विरोध जताने के लिए प्रदर्शन में हिस्सा लिया था। इसी दौरान उन्होंने पाकिस्तानी सेना के खिलाफ टिप्पणी की थी और इमरान खान सरकार पर तीखा हमला बोला था।  

पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रावलपिंडी इस्लामाबाद यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स (RIUJ), नेशनल प्रेस क्लब की ओर से गठित कमेटी और हामिद मीर की ओर से मंगलवार को एक साझा बयान जारी किया गया, जिसमें कहा गया कि हामिद मीर ने 28 मई को हुए विरोध प्रदर्शन के दौरान दिए अपने भाषण के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि उनका सेना को बदनाम करने जैसा कोई इरादा नहीं था और वे सेना की ओर से की गई कुर्बानियों के लिए दिल में बड़ा सम्मान रखते हैं, साथ ही उन्होंने सियाचिन से लेकर एलओसी तक कई ऑर्मी ऑपरेशन्स को कवर किया है।

हामिद मीर के मुताबिक, उन्होंने पत्रकारों पर हो रहे हमलों के खिलाफ नेशनल प्रेस क्लब के बाहर हुए प्रदर्शन में हिस्सा लिया था और वे अन्य वक्ताओं की बातें सुनकर आवेश में आ गए थे। उन्होंने ये भी कहा कि वो खुद भी अतीत में हमला झेल चुके हैं। वरिष्ठ पत्रकार ने साथ ही कहा कि अगर उनके भाषण से किसी व्यक्ति की भावनाएं आहत हुई हैं तो इसके लिए वे माफी मांगते हैं। हामिद मीर ने कहा कि उनके सेना से कोई मतभेद नहीं हैं और न ही उन्होंने भाषण के दौरान किसी व्यक्ति का नाम लिया था।

बता दें कि उनके इस तरह के वक्तव्य के बाद उन्हें उनके संस्थान जियो टीवी ने एंकरिंग से ऑफ एयर कर दिया था और अस्थायी होस्ट को उनके प्रोग्राम की जिम्मेदारी सौंप दी थी।

चार जून को वरिष्ठ पत्रकारों की एक कमेटी का गठन किया गया, ताकि हामिद मीर के भाषण से उत्पन्न हुए भ्रम को दूर किया जा सके। इस कमेटी में PFUJ के पूर्व अध्यक्ष अफजल बट, RIUJ अध्यक्ष आमिर सज्जाद सैयद और NPC के अध्यक्ष शकील अंजुम को शामिल किया गया था।

गौरतलब है कि पाकिस्तानी पत्रकार असद अली तूर पर जानलेवा हमले के विरोध में हामिद मीर ने कुछ दिनों पहले एक रैली को संबोधित किया था, जिसमें उन्होंने इमरान खान सरकार और सेना के खिलाफ तीखा हमला बोला था। इस्लामाबाद में एक रैली में अपने भाषण में हामिद मीर ने पाकिस्तान में पत्रकारों पर हाल के हमलों के लिए जिम्मेदार लोगों की शिनाख्त किए जाने की बात कही थी। उन्होंने पत्रकारों पर हमलों में पाकिस्तानी सेना का हाथ बताया। इस दौरान हामिद मीर ने पाकिस्तान के आर्मी चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा का भी नाम लिया था।

इस दौरान हामिद मीर ने कहा था, 'यदि आप हमारे घरों में घुसकर हमें मारपीट रहे हैं, तो ठीक है, हम आपके घरों में नहीं घुस सकते क्योंकि आपके पास टैंक और बंदूकें हैं, लेकिन हम आपके घरों के अंदर की चीजों को सार्वजनिक कर सकते हैं।’ हामिद मीर ने सेना की तमाम मामलों में संलिप्तता का हवाला देते हुए यह बात कही थी।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

न्यूज ब्रॉडकास्टर्स फेडरेशन ने BARC को लिखा लेटर, उठाई ये मांग

‘न्यूज ब्रॉडकास्टर्स फेडरेशन’ (News Broadcasters Federation) ने ‘ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल’ (BARC) को एक लेटर लिखा है।

Last Modified:
Tuesday, 08 June, 2021
NBF BARC

‘न्यूज ब्रॉडकास्टर्स फेडरेशन’ (News Broadcasters Federation) ने ‘ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल’ (BARC) को एक लेटर लिखकर आग्रह किया है कि बार्क की फीस का भुगतान न करने के लिए न्यूज चैनल्स के ‘एंड यूजर लाइसेंस एग्रीमेंट’ (EULA) को समाप्त न किया जाए।

इस लेटर में कहा गया है, ‘बार्क ब्रॉडकास्टर्स से सबस्क्रिप्शन फीस के रूप में निश्चित शुल्क के अलावा एडवर्टाइजिंग रेवेन्यू का कुछ प्रतिशत भी लेता है। अधिकांश न्यूज चैनल्स ने सितंबर 2020 की सबस्क्रिप्शन राशि जमा कर दी है और रेवेन्यू का हिस्सा भी जमा करा दिया है। इन दिनों चल रही महामारी, लॉकडाउन और अर्थव्यवस्था पर इसके प्रभाव के साथ-साथ बार्क द्वारा न्यूज जॉनर की रेटिंग को स्थगित रखने के फैसले के कारण रेवेन्यू में काफी कमी आई है। ऐसे में हमारा मानना है कि न्यूज चैनल्स ने ‘बार्क’ को ज्यादा भुगतान कर दिया है और इसके परिणाम स्वरूप बार्क उन्हें क्रेडिट नोट देगा और इसे भविष्य में सबस्क्रिप्शन फीस के रूप में समायोजित करेगा।‘

‘बार्क’ के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स को लिखे गए इस लेटर में ‘एनबीएफ’ ने अनुरोध किया है कि उसके सदस्य न्यूज चैनल्स पर नोटिस भेजकर दबाव न डाला जाए जो बार्क की साप्ताहिक रेटिंग को स्थगित करने के कारण फीस के भुगतान का विरोध कर रहे हैं।

ब्रॉडकास्टर्स द्वारा फीस का भुगतान न किए जाने के संबंध में इस लेटर में कहा गया है कि बार्क ने अक्टूबर 2020 में न्यूज चैनल्स की साप्ताहिक व्युअरशिप को आठ से 12 सप्ताह के लिए स्थगित करने का एकतरफा निर्णय लिया था, लेकिन नौ महीने बाद भी न्यूज चैनल्स की रेटिंग्स उपलब्ध नहीं कराई जा रही हैं। लेटर में यह भी कहा गया है कि रेटिंग के डाटा न मिलने की वजह से न्यूज चैनल्स को एडवर्टाइजर्स और उनकी एजेंसियों की तरफ से मिलने वाले विज्ञापनों को लेकर किस तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

जल्द इन शो में अभिनय करती नजर आएंगी टीवी एंकर चारुल मलिक

'समाचार4मीडिया' से बातचीत में उन्होंने कहा, ‘मैं नए किरदार के लिए पूरी तरह से तैयार हूं और पिछले पांच दिनों से इसकी शूटिंग में व्यस्त हूं, जिसकी शूटिंग सूरत में की जा रही है।

Last Modified:
Tuesday, 08 June, 2021
Charul Malik

हिंदी एंटरटेनमेंट चैनल ‘&टीवी’ के लोकप्रिय शो ‘हप्पू की उलटन पलटन’ में जल्द ही आपको एक नया किरदार देखने को मिलेगा। यह किरदार है रूसा नाम की एक लड़की का, जिसकी भूमिका निभाएंगी जानी-मानी एंटरटेनमेंट जर्नलिस्ट चारुल मलिक जिन्होंने हाल ही में 'इंडिया टीवी' को अलविदा कहा है।

'समाचार4मीडिया' से बातचीत में उन्होंने कहा, ‘मैं नए किरदार के लिए पूरी तरह से तैयार हूं और पिछले पांच दिनों से इसकी शूटिंग में व्यस्त हूं, जिसकी शूटिंग सूरत में की जा रही है। ये काफी मजेदार अनुभव है।’ उन्होंने बताया कि उनका यह शो सोमवार से टेलिकास्ट किया जाएगा। चारुल मलिक ने आगे बताया कि वह कमिश्नर रेशम पाल सिंह (किशोर भानुशाली) की साली रूसा का किरदार निभाएंगी, जोकि एक आजाद ख्याल की लड़की है। अपनी हर बात को खुलकर रखती है और अपनी ही बनाई शर्तों पर लाइफ को जीना पसंद करती है। किरदार में दिखाया जाएगा कि रूसा को शादी की कोई जल्दबाजी नहीं है, लेकिन फिर भी उसके लिए लड़का तलाशा जा रहा है। साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि वह इसके अलावा ‘&टीवी’ पर आने वाले एक अन्य लोकप्रिय शो ‘भाभीजी घर पर हैं’ में भी जल्द नजर आएंगी, लेकिन इसमें उन्हें किस तरह का किरदार दिया जाएगा, इसका खुलासा नहीं हुआ है।

‘हप्पू की उलटन पलटन’ की टीम में शामिल होने पर वह कहती हैं, ‘मैं इस शो का हिस्सा बनकर बेहद खुश हूं। मैं रूसा के किरदार को निभा रही हूं, जो आज के जमाने की आजाद ख्याल की मस्ती पसंद लड़की है।' उन्होंने कहा, 'शुरुआत में मैं एक वकील रही, इसके बाद जनरल, क्राइम, स्पोर्ट्स हर तरह की एंकरिंग की, फिर बीते पांच वर्षों में मैंने एंटरटेनमेंट की एंकरिंग की, जिसका अनुभव बेहद ही अलग रहा। एंकरिंग में वर्षों बिताने के बाद मैं अभिनय के इस नए सफर पर निकली हूं और बहुत ही उत्साहित हूं। मैं यह उम्मीद करती हूं कि दर्शक मेरे इस नए अवतार को दिल से पसंद करेंगे और ढेर सारा प्यार देंगे। यह एक नई शुरुआत है, जिसका बेसब्री से इंतजार है।’

चारुल मलिक ने 'इंडिया टीवी' में अपनी पारी को मई में विराम दिया था। वह करीब छह साल से इस चैनल में बतौर एग्जिक्यूटिव एडिटर और एंकर अपनी जिम्मेदारी निभा रही थीं। यहां वे ‘सास बहू और संस्पेंस’ शो होस्ट करती थीं। हालांकि, कोरोना के चलते इस शो को फिलहाल होल्ड पर रखा गया है। फिलहाल वह यहां ‘तलाश एक सितारे की’ नाम से शो को प्रड्यूस व होस्ट करती थीं।

तब 'समाचार4मीडिया' के साथ बातचीत में चारुल मलिक ने बताया था कि 13 मई को चैनल के साथ उनका कॉन्ट्रैक्ट खत्म हो गया था और इसके बाद उन्होंने इसे रिन्यू नहीं कराया। चारुल के अनुसार, इंडिया टीवी के चेयरमैन और एडिटर-इन-चीफ रजत शर्मा चाहते थे कि वह चैनल छोड़कर नहीं जाएं, लेकिन वह उन्हें एंटरटेनमेंट शो की जगह न्यूज व अन्य शोज के लिए दिल्ली बुलाना चाहते थे और वह मुंबई व एंटरटेनमेंट शोज नहीं छोड़ना चाहती थीं, इसलिए उन्होंने चैनल के साथ अपना कॉन्ट्रैक्ट आगे नहीं बढ़ाया।

बता दें कि चारुल मलिक को मीडिया के क्षेत्र में काम करने का करीब 15 साल का अनुभव है। इससे पहले वह ‘आजतक’ में बतौर  एसोसिएट एडिटर (एंटरटेनमेंट) कार्यरत थीं।

मूल रूप से चंडीगढ़ की रहने वालीं और दिल्ली में जन्मीं चारुल ने अपने पत्रकारिता करियर की शुरुआत ‘जैन टीवी’ से की थी। इसके बाद उन्होंने ‘सहारा समय’, ‘एबीपी न्यूज’, ‘न्यूज नेशन’ और ‘आजतक’ न्यूज चैनल के साथ काम किया। 

कई एंटरटेनमेंट कार्यक्रमों में एंकरिंग कर चुकीं चारुल जब ‘आजतक’ में थीं, तब उनका नाम ‘लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स’ में दर्ज किया गया था। यह अवॉर्ड उन्हें वर्ष 2010 में प्रदीप सरकार की फिल्म ‘लफंगे-परिंदे’ के लिए दीपिका पादुकोण का स्कैटिंग करते हुए करीब एक घंटे से ज्यादा समय लाइव इंटरव्यू करने के लिए दिया गया था। बता दें कि इस तरह का प्रयोग करने वाली चारुल मलिक पहली न्यूज एंकर हैं। चारुल मलिक को बेस्ट एंटरटेनमेंट एंकर के लिए ‘दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड्स’ से भी सम्मानित किया जा चुका है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

मीडिया पर अंकुश की तैयारी, सरकार या सेना के खिलाफ बोलने पर लगेगा जुर्माना!

पाकिस्तान अब मीडिया पर शिकंजा कसने के मामले में अपने दोस्त चीन के नक्शेकदम पर चल पड़ी है।

Last Modified:
Thursday, 03 June, 2021
MediaBan45

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अब लोकतंत्र के चौथा स्तंभ कहे जाने वाले मीडिया पर अपना दबाव बनाना शुरू कर दिया है और वह मीडिया पर शिकंजा कसने के मामले में अपने दोस्त चीन के नक्शेकदम पर चल पड़ी है। इमरान खान सरकार ने कोरोना महामारी, महंगाई और आर्थिक तंगी को लेकर मीडिया के कटाक्षों से बचने का रास्ता खोज लिया है और नए नियमों का प्रस्ताव तैयार किया है। इस प्रस्ताव में मीडिया पर अंकुश लगाने के लिए तरह-तरह की शर्तें रखी गई हैं।

इस प्रस्ताव में सेना या सरकार के खिलाफ बोलने पर 2.5 करोड़ के जुर्माने और 3 साल की सजा का प्रावधान है। इसके लिए सरकार पाकिस्तान मीडिया डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑर्डिनेंस, 2021 लाना चाहती है। सबसे ज्यादा विरोध इसी प्रावधान को लेकर हो रहा है।

जानकारों का मानना है कि यदि यह कानून लागू हो गया, तो कोई भी मीडिया पाकिस्तान की सरकार या सेना के खिलाफ नहीं बोल सकेगा।

मीडिया के नए नियमों का देश भर में विरोध हो रहा है। विपक्षी दलों पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी और पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज ने नए कानून के प्रस्ताव को मीडिया मार्शल लॉ करार देते हुए कहा है कि यह अभिव्यक्ति की आजादी पर रोक का नियम है।

पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) की सीनेटर शेरी रहमान ने सरकार के इस कदम का विरोध किया है। उन्होंने कहा कि सरकार कानून के तहत मीडिया को नियंत्रित करना चाहती है। यह कानून लागू होने के बाद मीडिया संस्थान या तो सरकार के प्रवक्ता बन जाएंगे या फिर उन्हें बर्बाद कर दिया जाएगा। वहीं, पाकिस्तान मुस्लिम लीग (एन) की प्रवक्ता मरियम औरंगजेब ने कहा की इमरान अभिव्यक्ति की संवैधानिक आजादी को खत्म करने की साजिश रच रहे हैं।

पाकिस्तान फेडरल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स (PFUJ) ने ड्राफ्ट का खुलकर विरोध शुरू कर दिया है। उनका कहना है कि कानून के कई प्रावधान अनुचित हैं और उनसे मीडिया की संवैधानिक स्वतंत्रता प्रभावित होगी। इसके अलावा, पाकिस्तान मानवाधिकार आयोग, पाकिस्तान बार काउंसिल ने भी प्रस्तावित कानून पर आपत्ति जताई है। सभी का एक सुर में कहना है कि इस कानून के दूरगामी परिणाम होंगे, जो अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और सूचना के अधिकार की अवधारणा के विपरीत है।

जानें क्या है पाकिस्तान मीडिया डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑर्डिनेंस, 2021 में :

पाकिस्तान मीडिया डेवेलपमेंट अथॉरिटी ऑर्डिनेंस-2021 के तहत मीडिया से जुड़े सभी पुराने कानूनों के विलय करना चाहती है। इस नए कानून के तहत प्रिंट मीडिया, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से लेकर डिजिटल मीडिया तक की नियमावली तय की जाएगी। इमरान सरकार का कहना है कि नए कानून के तहत एक अथॉरिटी का गठन किया जाएगा, जो देश में सभी तरह के मीडिया की नियमावली तय करेगी। इसमें कुल 11 सदस्य और एक चेयरपर्सन होंगे। इनकी नियुक्ति केंद्र सरकार की सलाह पर राष्ट्रपति द्वारा की जाएगी।

नए नियमों के तहत देश में अखबार और डिजिटल मीडिया के संचालन के लिए भी टीवी चैनलों की तरह ही लाइसेंस अनिवार्य करने का प्रस्ताव है। इस ड्राफ्ट में नेटफ्लिक्स, अमेजन प्राइम, यू-ट्यूब चैनलों, वीडियो लॉग्स आदि को लेकर भी नए नियम बनाए जाने की बात कही गई है। 

मीडिया से जुड़े मामलों के लिए मीडिया ट्रिब्यूनल स्थापित करने का भी प्रस्ताव है। ट्रिब्यूनल का प्रमुख ग्रेड-22 स्तर का ब्यूरोक्रेट होगा। यह पाकिस्तानी सिविल सेवा की सर्वोच्च रैंक है।

इन नियमों के तहत, कानून का उल्लंघन करने वालों के लिए 2.5 करोड़ पाकिस्तानी रुपए का जुर्माना और तीन साल तक जेल का प्रावधान भी है।

नए नियमों में मीडिया पर सेना और सरकार पर तंज कसने तक पर रोक लगाई गई है। कानून में कहा गया है कि कोई भी सेना, संसद, सरकार और उसके मुखिया को लेकर तंज नहीं कस सकता है, जिसके कारण या तो हिंसा की आशंका हो या फिर उनकी मानहानि होती हो। इस नियम को लेकर ही सबसे ज्यादा आपत्ति जताई जा रही है और इसे पाकिस्तान का मीडिया मार्शल लॉ कहा जा रहा है।  

   

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

पत्रकार के कार्यक्रम को ऑफ-एयर किए जाने की हो रही निंदा, घिरी सरकार

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अब लोकतंत्र का चौथा स्तंभ कहे जाने वाले मीडिया पर भी दबाव बनाना शुरू कर दिया है।

Last Modified:
Thursday, 03 June, 2021
offAir45

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अब लोकतंत्र का चौथा स्तंभ कहे जाने वाले मीडिया पर भी दबाव बनाना शुरू कर दिया है। बता दें कि पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार हामिद मीर को सेना और सरकार के खिलाफ आवाज उठाने और सवाल पूछने के कारण न्यूज पढ़ने से रोक दिया गया, जिसके बाद से इमरान खान सरकार और सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा सवालों के घेरे में आ गए हैं। हामिद मीर के कार्यक्रम को ऑफ एयर किए जाने की चारों तरफ निंदा हो रही है।

पाकिस्तान के विपक्षी दल, एमनेस्टी इंटरनेशनल साउथ एशिया, मानवाधिकर संगठन, पाकिस्तान फेडरल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट जैसे संगठनों ने हामिद मीर के प्रति समर्थन जाहिर किया है और कार्यक्रम रोके जाने की निंदा की है। दरअसल, हामिद मीर को सोमवार को एक निजी टीवी चैनल ने अपने लोकप्रिय टॉक शो की एंकरिंग करने से रोक दिया। उन्होंने एक साथी पत्रकार पर हमले के मद्देनजर देश के शक्तिशाली ‘प्रतिष्ठान’ की आलोचना की थी। वे इन दिनों एक दूसरे पत्रकार की गिरफ्तारी के खिलाफ जमकर आवाज उठा रहे थे। कुछ दिनों पहले उन्होंने एक रैली का भी नेतृत्व किया था जिसमें उन्होंने इमरान खान सरकार और सेना के खिलाफ तीखी बयानबाजी की थी। मीर ने शुक्रवार को इस्लामाबाद में पत्रकार असद तूर पर तीन ‘अज्ञात' व्यक्तियों के हमले के खिलाफ पत्रकारों द्वारा किए गए विरोध प्रदर्शन में एक उग्र भाषण दिया था। उन्होंने हमले में जवाबदेही तय करने की मांग की थी। मीर ‘जियो टीवी’ पर प्राइम टाइम ‘कैपिटल टॉक’ शो की मेजबानी करते हैं। मीर को टीवी नेटवर्क द्वारा छुट्टी पर भेज दिया गया, जिसका दावा है कि वह अभी भी न्यूज चैनल का हिस्सा हैं।

वहीं, हामिद मीर ने इस प्रतिबंध के बाद कहा कि मेरी हत्या करने का भी प्रयास किया गया था, लेकिन मैं बच गया। उन्होंने ट्वीट किया, ‘मेरे लिए कुछ भी नया नहीं है। मुझे पहले भी दो बार प्रतिबंधित किया गया था। दो बार नौकरी खोई। मैं संविधान में दिए गए अधिकारों के लिए आवाज उठाना बंद नहीं कर सकता। इस बार मैं किसी भी परिणाम के लिए तैयार हूं और किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार हूं, क्योंकि वे मेरे परिवार को धमकी दे रहे हैं।’

हामिद मीर के कार्यक्रम पर लगे प्रतिबंधों के खिलाफ पाकिस्तान के कई पत्रकारों ने आवाज उठाई है। पाकिस्तानी सोशल मीडिया में हामिद मीर टॉप ट्रेंड में भी रहे हैं। एक टीवी टॉक शो की होस्ट अस्मा शेराजी ने कहा कि जिओ चैनल प्रबंधन को अपनी स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए। कई दूसरे पत्रकारों ने भी इस फैसले के खिलाफ बयान दिया है।

इस संबंध में सरकार की ओर से कोई बयान नहीं आया है, लेकिन पत्रकार संगठनों और अन्य लोगों ने इस कदम की आलोचना की है। पाकिस्तान के मानवाधिकार आयोग ने भी इस कदम की निंदा की है।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

ZEE एंटरटेनमेंट ने मनीष अग्रवाल को किया प्रमोट, अब सौंपी यह जिम्मेदारी

‘ZEEL’ के साथ मनीष सात साल से ज्यादा समय से जुड़े हुए हैं। इससे पहले वह चैनल के मार्केटिंग हेड की जिम्मेदारी निभा रहे थे।

Last Modified:
Wednesday, 02 June, 2021
Manish Agarvwal

जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लिमिटेड (Zee Entertainment Enterprises Limited) ने मनीष अग्रवाल को अपने लाइफस्टाइल चैनल ‘जी जेस्ट’ (Zee Zest)  के वाइस प्रेजिडेंट और मार्केटिंग हेड के पद पर प्रमोट किया है।

फिलहाल मनीष ‘जी जेस्ट’ टीवी चैनल, सोशल मीडिया, ईवेंट और वेबसाइट के मार्केटिंग और ब्रैंडिंग वर्टिकल्स को संभाल रहे हैं। अपनी वर्तमान भूमिका में वह सीधे बिजनेस हेड और सीएमओ (मार्केटिंग) को रिपोर्ट करते हैं।

‘ZEEL’ के साथ मनीष सात साल से ज्यादा समय से जुड़े हुए हैं। मनीष ने वर्ष 2014 में ‘ZEEL’ को बतौर ब्रैंड हेड (Zee Cinema, Zee Cinema HD, Zee Action, Zee Anmol Cinema और Zee Cine Awards) जॉइन किया था। ‘ZEEL’ से पहले वह ‘टाइम्स नेटवर्क‘, ‘स्टार टीवी नेटवर्क‘ और ‘सोनी पिक्चर्स नेटवर्क इंडिया‘ के साथ काम कर चुके हैं। 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए