नीतीश कुमार और नवीन पटनायक की मुलाकात पर ये क्या कह गए सुमित अवस्थी!

नीतीश कुमार ने हाल ही में दिल्ली में मल्लिकार्जुन खड़गे, राहुल गांधी, अरविंद केजरीवाल से भी मुलाकात की थी।

Last Modified:
Wednesday, 10 May, 2023
SumtAwasthi45120

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार साल 2024 के आम चुनाव के पहले विपक्षी एकता को मजबूत करने में लगे हुए है। इसी कड़ी में उन्होंने उड़ीसा के सीएम नवीन पटनायक से भी मुलाकात की है।

नीतीश कुमार ने हाल ही में दिल्ली में मल्लिकार्जुन खड़गे, राहुल गांधी, अरविंद केजरीवाल से भी मुलाकात की थी। इसके पहले नीतीश कुमार ने पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी से और उसी दिन उन्होंने यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव से भी मुलाकात की थी।

इन दोनों सीएम की मुलाकत पर वरिष्ठ पत्रकार सुमित अवस्थी ने ट्वीट कर बड़ी बात कही है।

उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, बीजेपी विरोधी दलों को एक मंच पर लाने की कवायद के तहत बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक से भुवनेश्वर में मुलाकात की। एक वक्त में नीतीश कुमार और नवीन पटनायक दोनों ही बीजेपी के सहयोगी रह चुके हैं।

नीतीश तो अब जमकर पीएम मोदी की नीतियों को निशाने पर लेते हैं लेकिन मोदी को लेकर इतना कड़ा रुख कभी बीजेडी का नहीं दिखा है। सवाल यही कि क्या 2024 की जंग में नवीन बाबू खुलकर बीजेपी विरोधी मोर्चे में आयेंगे?

आपको बता दें कि नीतीश कुमार मुंबई भी जाने वाले हैं। वहां शरद पवार और उद्धव ठाकरे से उनकी मुलाकात होने वाली है। चर्चा है कि 11 मई को नीतीश कुमार मुंबई जा सकते हैं।

वरिष्ठ पत्रकार सुमित अवस्थी के द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं-


 

 

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

सांसद रमेश बिधूड़ी ने संसद में कहे अपशब्द, राजदीप सरदेसाई ने कही ये बड़ी बात

दानिश अली ने कहा है कि वह बेहद आहत हैं और अपमान के चलते रात भर सो नहीं सके।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 23 September, 2023
Last Modified:
Saturday, 23 September, 2023
rajdeep

लोकसभा में गुरुवार 21 सितंबर को चंद्रयान पर चर्चा के दौरान दिल्ली से BJP के सांसद रमेश बिधूड़ी ने अमरोहा से BSP सांसद कुंवर दानिश अली को गालियां दीं और अभद्र व्यवहार किया। हालांकि, सदन की कार्यवाही से बिधूड़ी के अपशब्दों को हटा दिया गया है।

जब रमेश बिधूड़ी ये सब बोल रहे थे, तब अध्यक्ष की आसंदी पर कोडिकुन्नील सुरेश बैठे थे। उन्होंने बिधूड़ी से बैठने को कहा, लेकिन वे चुप नहीं हुए। इस पूरे मामले पर वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने एक्स पर पोस्ट कर बड़ी बात कही है।

उन्होंने पोस्ट किया, शर्मनाक! भाजपा सांसद रमेश बिधूड़ी की देश की पवित्र संसद में ऐसी अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल एक दूसरे चुने हुए सांसद के लिए ना सिर्फ उस क्षेत्र की जनता का अपमान है, जहां से दानिश अली आते हैं बल्कि इस क्षेत्र की जनता का भी अपमान है जहां से बिधूड़ी खुद आते हैं। ये संसद का अपमान है। देश का अपमान है।

ये कैसे संस्कार हैं? ऐसे सांसद देश के लिए कैसे आदर्श प्रस्तुत कर रहे हैं? ये सवाल आज हर भारतीय को अपने आप से भी पूछना चाहिए। सवाल सिर्फ विवादित बयान को हटाने का नहीं बल्कि ये भी है की हम किस दिशा में जा रहे हैं? लोकतंत्र सिर्फ नई इमारत में नहीं बनता।

उसके चुने हुए सांसदों के आचरण में उसका प्रतिबिंब दिखता है। इस बीच दानिश अली ने कहा है कि वह बेहद आहत हैं और अपमान के चलते रात भर सो नहीं सके। उन्होंने यहां तक कहा कि यदि बिधूड़ी के खिलाफ ऐक्शन नहीं लिया गया तो वह संसद छोड़ने पर भी विचार कर रहे हैं।

 

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

इस ऐतिहासिक घटना पर बोले ब्रजेश मिश्रा, भारत का संविधान अमर रहे

इस विधेयक में कहा गया है कि महिलाओं के लिए आरक्षण नई जनगणना के बाद परिसीमन प्रक्रिया पूरी होने के बाद लागू होगा।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 23 September, 2023
Last Modified:
Saturday, 23 September, 2023
brajesh

नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा पेश किए गए महिला आरक्षण विधेयक में लोकसभा, राज्य विधानसभाओं और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली में महिलाओं के लिए ‘जितना संभव हो सके’ एक तिहाई या 33% सीटें आरक्षित करने का प्रस्ताव किया गया है। दोनों सदनों में यह बिल ध्वनिमत से पारित हो गया है।

इस विधेयक में कहा गया है कि महिलाओं के लिए आरक्षण नई जनगणना के बाद परिसीमन प्रक्रिया पूरी होने के बाद लागू होगा यानी कि बदलाव 2024 के लोकसभा चुनावों के बाद लागू हो सकते हैं। इस ऐतिहासिक क्षण पर वरिष्ठ पत्रकार ब्रजेश मिश्रा ने एक्स पर पोस्ट कर अपने मन की बात कही।

उन्होंने लिखा, भारत के संसदीय लोकतंत्र के लिए ये महान बेला है। महिलाओं को आने वाले वक्त में लोकसभा और विधानसभाओं में 33% सीटें आरक्षित होंगी। हक और हुकूक मिलेगा। नेतृत्व मिलेगा। नीति बनाएंगी। नीयत। अपने समाज के साथ। सबकी उन्नति, सबका साथ। कानून बन गया है।

अधिकार, आज नही तो कल मिलेगा। कल नही तो परसों मिल जायेगा। कभी तो मिलेगा ही। क्योंकि कानून तो बन गया है। किसी भी देश की प्रगति समझने का एक ही फॉर्मूला है। उस देश की महिलाओं की स्थिति। जहां महिलाएं आगे हैं उन मुल्कों में असाधारण उपलब्धि हासिल की है।

फिनलैंड, नार्वे, स्वीडन जैसे मुल्क इसके उदाहरण है। नारी समाज का अभिनंदन। लेकिन अभी तो आपका संघर्ष शुरू ही हुआ है। गद्दी तक पहुंचने के लिए बड़े बड़े युद्ध लड़ने होंगे। बलिदान देना होगा। मिलकर लड़ेंगे। जीतेंगे। भारत का संविधान अमर रहे।

 

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

मोदी सरकार के इस कदम पर बोलीं पलकी शर्मा, यह है भारत की मुखर विदेश नीति का प्रतिबिंब

इस पूरे मामले पर वरिष्ठ पत्रकार पलकी शर्मा उपाध्याय ने सोशल मीडिया प्लेटफार्म एक्स पर पोस्ट कर बड़ी बात कही है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 22 September, 2023
Last Modified:
Friday, 22 September, 2023
palki

भारत और कनाडा के बीच तल्खियां और बढ़ती जा रही है। भारी राजनयिक विवाद के बीच कनाडा में भारतीय वीजा सेवाएं निलंबित कर दी गईं। दरअसल दोनों देशों के बीच तनाव उस वक्त बढ़ गया, जब कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो ने खालिस्तान समर्थक हरदीप सिंह निज्जर की हत्या का आरोप भारत पर लगाया, जिसे भारत की तरफ से पूरी तरह खारिज कर दिया गया।

इस पूरे मामले पर वरिष्ठ पत्रकार पलकी शर्मा उपाध्याय ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म 'एक्स' पर पोस्ट कर बड़ी बात कही है।

उन्होंने लिखा, भारत ने कनाडाई लोगों के लिए वीजा निलंबित कर दिया। ये कोई प्रतिक्रिया नहीं है। यह पहला कदम है, जो राष्ट्रीय हित द्वारा निर्देशित भारत की मुखर विदेश नीति का प्रतिबिंब है। यूक्रेन युद्ध में पक्ष लेने से इनकार करने से लेकर कनाडा द्वारा आतंकवादियों के तुष्टिकरण का आह्वान करने तक।

आपको बता दें कि एक दिन पहले ही खालिस्तान समर्थक संगठन सिख फॉर जस्टिस (एसएफजे) की धमकी के बाद भारतीय विदेश मंत्रालय ने कनाडा में रहने वाले भारतीयों और वहां पढ़ रहे भारतीय छात्रों के लिए ट्रैवल एडवाइजरी जारी की थी।!!

 

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

महिला आरक्षण बिल पर बोलीं मीनाक्षी कंडवाल, आधी आबादी के लिए हैं सुनहरी संभावनाएं

लोकसभा में बुधवार को बिल पर करीब आठ घंटे तक चर्चा हुई और फिर वोटिंग के दौरान पक्ष में 454 और विरोध में 2 वोट पड़े।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 22 September, 2023
Last Modified:
Friday, 22 September, 2023
meenakshi

महिला आरक्षण बिल राज्यसभा में सर्वसम्मति से पास हो गया। बिल के समर्थन में 215 वोट और विरोध में कोई वोट नहीं पड़ा। इससे पहले, लोकसभा में बुधवार को बिल पर करीब आठ घंटे तक चर्चा हुई और फिर वोटिंग के दौरान पक्ष में 454 और विरोध में 2 वोट पड़े।

वोटिंग पर्चियों के जरिए की गई। नए संसद भवन में कानून मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने मंगलवार को महिला आरक्षण से जुड़ा विधेयक पेश किया था। इस विधेयक में लोकसभा और विधानसभाओं में महिलाओं के लिए 33 प्रतिशत आरक्षण देने का प्रावधान किया गया है। इस मामले पर वरिष्ठ पत्रकार मीनाक्षी कंडवाल ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर पोस्ट किया और भावुक कर देने वाली बात कही।

उन्होंने लिखा, दो तिहाई बहुमत के साथ 'महिला आरक्षण बिल' लोकसभा से पास हो गया है। ये कदम भारत के लोकतंत्र और महिलाओं के सशक्तिकरण की दिशा में एक नया अध्याय है। कानून के अमल और नतीजों पर कई बातें हो रही हैं और होनी भी चाहिए... लेकिन इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि चुनावी फायदा मुख्य मंशा हो भी, लेकिन अगर उससे 'बाए प्रोडक्ट' के रूप में देश की आधी आबादी के लिए सुनहरी संभावनाएं खुलती हैं तो ये एक क्रांति है।

बता दें कि उच्च सदन से पास होनेके बाद अब इस बिल को राष्ट्रपति के पास भेजा जाएगा। इस बिल पर राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के बाद यह विधेयक कानून का रूप ले लेगा।

 

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

भारत और ईरान में महिलाओं के लिए उठाए कदम पर बोले समीर अब्बास, हक व जुल्म का फर्क देखिए

इस विधेयक में अनिवार्य हिजाब नहीं पहने महिलाओं को सेवाएं मुहैया कराने वाले प्रतिष्ठानों के मालिकों के लिए सजा का प्रावधान किया गया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 22 September, 2023
Last Modified:
Friday, 22 September, 2023
samir

ईरान की संसद ने सार्वजनिक स्थलों पर अनिवार्य इस्लामी ‘हेडस्कार्फ’ (हिजाब) पहनने से इनकार करने वाली महिलाओं और उनका समर्थन करने वालों के लिए सजा के प्रावधान वाले एक विधेयक को बुधवार को मंजूरी दे दी।

यह कदम 22 वर्षीय महसा अमिनी की बरसी के कुछ ही दिनों बाद आया, जिसे हिजाब का विरोध करने के लिए नैतिक पुलिस ने हिरासत में लिया था। महसा की हिरासत में मौत को लेकर देश में महीनों तक विरोध प्रदर्शन हुए थे। इस मामले पर वरिष्ठ पत्रकार समीर अब्बास ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर पोस्ट कर अपनी राय रखी हैं।

उन्होंने लिखा, फर्क देखिए जरा, एक तरफ भारत की संसद में ऐतिहासिक महिला आरक्षण बिल पास हो रहा है, तो दूसरी तरफ ईरान की संसद में महिलाओं के बिना हिजाब के पाए जाने पर 10 साल की जेल की सजा का प्रावधान वाला बिल पास कर दिया गया है, वो भी वहां के लगभग सभी सांसदों के वोट से, हक और जुल्म का फर्क !

आपको बता दें कि ईरान की संसद में पारित इस विधेयक में अनिवार्य हिजाब नहीं पहने महिलाओं को सेवाएं मुहैया कराने वाले प्रतिष्ठानों के मालिकों के लिए सजा का प्रावधान किया गया है। यदि अपराध संगठित तरीके से होता है तो उल्लंघनकर्ताओं को 10 साल तक की सजा हो सकती है। विधेयक को ईरान की 290 सीटों वाली संसद में 152 सांसदों द्वारा पारित किया गया है।

 

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

कनाडा के लोगों के लिए वीजा सर्विसेज सस्पेंड, राणा यशवंत ने कही ये बड़ी बात

अगली सूचना तक सेवाएं निलंबित की गई हैं। इससे कनाडा के नागरिक फिलहाल भारत नहीं आ सकेंगे।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 22 September, 2023
Last Modified:
Friday, 22 September, 2023
ranayashwant

भारत और कनाडा के बीच चल रहे तनाव के बीच मोदी सरकार ने कड़ा फैसला लिया है। भारत ने कनाडा के लोगों के लिए वीजा सेवाएं सस्पेंड कर दी हैं। अगली सूचना तक सेवाएं निलंबित की गई हैं।

इससे कनाडा के नागरिक फिलहाल भारत नहीं आ सकेंगे। इस मसले पर वरिष्ठ पत्रकार राणा यशवंत ने बड़ी बात कही है। उन्होंने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर पोस्ट करते हुए लिखा, जब आप नहले पर दहला मारने का हौसला और हैसियत पा लेते हैं तो दुनिया संभलकर रहती है। कनाडा वालों के लिए वीजा रोककर सरकार ने भारत की शक्ति जताई। ट्रूडो सरकार का रवैया अगर भारत के हितों के खिलाफ है तो फिर उनके हितों की परवाह भारत को भी नहीं, यह बात मोदी सरकार ने बता दी।

आपको बता दें कि कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने खालिस्तानी आंतकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या में भारत के शामिल होने का आरोप लगाया था। इससे बाद से ही दोनों देशों के बीच राजनयिक तनाव चल रहा है। दोनों देशों ने एकदूसरे के राजनयिकों को निकाला है।

 

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

‘X’ यूजर्स पर हर महीने सबस्क्रिप्शन शुल्क लगाने की तैयारी में हैं एलन मस्क!

इजरायली पीएम बेंजामिन नेतन्याहू के साथ बैठक के दौरान एलन मस्क ने यह खुलासा किया। हालांकि, उन्होंने यह नहीं बताया कि कितना भुगतान करना होगा अथवा यूजर्स किन विशेष सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 20 September, 2023
Last Modified:
Wednesday, 20 September, 2023
Elon Musk

‘X’ (पूर्व में ट्विटर) के मालिक और खरबपति बिजनेसमैन एलन मस्क (Elon Musk) जल्द ही इस माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म के यूजर्स से सबस्क्रिप्शन फीस ले सकते हैं। यानी ‘एक्स’ का इस्तेमाल करने वाले सभी यूजर्स को जल्द ही अपनी जेब ढीली करनी पड़ सकती है।

दरअसल, मस्क ने संकेत दिए हैं कि बॉट खातों (bot accounts) से छुटकारे के लिए वह जल्द ही ‘X’ के इस्तेमाल को पेवॉल (paywall) के दायरे में ला सकते हैं।

कैलिफोर्निया में ‘टेस्ला मोटर्स’ का दौरा करने आए इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के साथ बैठक के दौरान एलन मस्क का कहना था, ‘हम इस प्लेटफॉर्म के इस्तेमाल के लिए एक छोटा मासिक भुगतान करने की दिशा में बढ़ रहे हैं।’ हालांकि, मस्क ने यह नहीं बताया है कि कितना भुगतान करना होगा अथवा यूजर्स किन विशेष सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं।

मस्क का मानना है कि सबस्क्रिप्शन शुल्क लागू करने से बॉट अकाउंट यूजर्स नए खाते बनाने से हतोत्साहित हो सकते हैं। बता दें कि वर्तमान में यह प्लेटफॉर्म वेरीफाइ़़ड अकाउंट्स यूजर्स से ‘X’ की प्रीमियम सुविधाओं के लिए शुल्क लेता है।

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

ट्रूडो ने भारत पर लगाया खालिस्तानी आतंकी की हत्या का आरोप, आनंद नरसिम्हन ने कही बड़ी बात

कनाडा की संसद में जस्टिन ट्रूडो के दावे के बाद देश की विदेश मंत्री मेलानी जोली ने भारत के एक शीर्ष डिप्लोमैट को निष्कासित करने की घोषणा की।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 20 September, 2023
Last Modified:
Wednesday, 20 September, 2023
anand

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या में भारत का हाथ बताया है। कनाडा की संसद में जस्टिन ट्रूडो के दावे के बाद देश की विदेश मंत्री मेलानी जोली ने भारत के एक शीर्ष डिप्लोमैट को निष्कासित करने की घोषणा की।

साथ ही जोली ने कहा कि 'अगर यह सब सच साबित होता है तो यह हमारी संप्रभुता और एक-दूसरे के साथ पेश आने के बुनियादी नियम का बड़ा उल्लंघन होगा। इसलिए हमने एक टॉप इंडियन डिप्लोमैट को निष्कासित कर दिया है।'

इस पूरे मसले पर वरिष्ठ पत्रकार आनंद नरसिम्हन ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर पोस्ट कर अपनी बात कही है। उन्होंने लिखा, दूसरे देश की संप्रभुता पर हमला करते हुए निर्लज्ज स्थानीय राजनीतिक नौटंकी? क्या उन्होंने पिछली बार चीन के खिलाफ भी यही कोशिश नहीं की थी? क्या ट्रूडो खुले तौर पर स्वीकार कर रहे हैं कि वहां खालिस्तान गैंग की उपस्थिति है। क्या कनाडा के प्रधान मंत्री खुलेआम अपने देश को खालिस्तान के रंग में रंग रहे हैं। क्या ट्रूडो के अधीन कनाडा एक ऐसा राष्ट्र है जो अलगाववादियों के लिए सुरक्षित आश्रय स्थल है?

क्या वह बिना सबूत के भरत पर आरोप लगा सकते हैं? भारत को मापना चाहिए लेकिन कमजोर नहीं दिखना चाहिए। इस बीच कनाडा में एक बलूच कार्यकर्ता मृत पाया गया है। क्या ट्रूडो उस पर बोलेंगे और कार्रवाई करेंगे? या यह राजनीतिक रूप से असुविधाजनक है? कनाडा के लोगों को मतपत्र द्वारा उत्तर देना होगा।

आपको बता दें कि हरदीप सिंह निज्जर की 18 जून को ब्रिटिश कोलंबिया के सरे शहर में गुरु नानक सिख गुरुद्वारे की पार्किंग में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। वह एक कनाडाई नागरिक थे।

 

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

लोकसभा में पेश हुआ महिला आरक्षण बिल, सच हुई अमिताभ अग्निहोत्री की ये बात

इसके कानून बन जाने के बाद 543 सदस्यों वाली लोकसभा में महिला सदस्यों की मौजूदा संख्या (82) बढ़कर 181 हो जाएगी।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 20 September, 2023
Last Modified:
Wednesday, 20 September, 2023
amitabh

महिला आरक्षण बिल मंगलवार को लोकसभा में पेश किया गया। विधि एवं न्याय मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अर्जुनराम मेघवाल ने विपक्ष के शोर-शराबे के बीच 128वां संविधान संशोधन बिल पेश किया। बिल के बारे में बताते हुए अर्जुन मेघवाल ने यत्र नार्यस्तु पूज्यंते, रमंते तत्र देवता पढ़ते हुए नारी शक्ति को नमन किया।

इस बिल का नाम 'नारी शक्ति वंदन अधिनियम' रखा गया है। इसके कानून बन जाने के बाद 543 सदस्यों वाली लोकसभा में महिला सदस्यों की मौजूदा संख्या (82) बढ़कर 181 हो जाएगी। इसके पारित होने के बाद विधानसभाओं में भी महिलाओं के लिए 33 प्रतिशत सीट आरक्षित हो जाएंगी। उन्होंने कहा कि विधेयक में फिलहाल 15 साल के लिए आरक्षण का प्रावधान किया गया है और संसद को इसे बढ़ाने का अधिकार होगा।

लोकसभा में इस बिल के आने के बाद वरिष्ठ पत्रकार अमिताभ अग्निहोत्री का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। दरअसल यह वीडियो आज से ठीक एक महीने पहले का है और इस शो में अमिताभ अग्निहोत्री ने पहले ही यह संभावना जता दी थी कि बहुत जल्द सरकार महिला आरक्षण विधेयक ला सकती है।

उन्होंने अपने इस शो में इसे पीएम मोदी का ब्रह्मास्त्र बताया था। अब आज जब लोकसभा में यह बिल मोदी सरकार की ओर से लाया गया है तो तमाम लोग सोशल मीडिया पर अमिताभ अग्निहोत्री को उनकी राजनीतिक समझ के लिए साधुवाद दे रहे हैं।

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

पीएम मोदी ने जमकर की पंडित नेहरू की तारीफ, ब्रजेश सिंह ने कही 'मन की बात'

पीएम मोदी ने पूर्व पीएम जवाहरलाल नेहरू की तारीफ में कहा कि इस सदन में पूर्व पीएम की 'स्ट्रोक ऑफ मिड नाईट की गूंज' सभी को प्रेरित करती रहेगी।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 19 September, 2023
Last Modified:
Tuesday, 19 September, 2023
brajesh

संसद के विशेष सत्र की शुरुआत सोमवार 18 सितंबर, 2023 से कर दी गई है। विशेष सत्र से पहले पीएम मोदी ने मीडिया को संबोधित किया। इसके बाद पीएम ने सबसे पहले संसद के विशेष सत्र को भी संबोधित किया और संसद के पुराने दिनों और पूर्व नेताओं को याद किया।

अपने संबोधन में पीएम मोदी ने पूर्व पीएम जवाहरलाल नेहरू की जमकर तारीफ की है। पीएम मोदी ने पूर्व पीएम जवाहरलाल नेहरू की तारीफ में कहा कि इस सदन में पूर्व पीएम की 'स्ट्रोक ऑफ मिड नाईट की गूंज' सभी को प्रेरित करती रहेगी।

पीएम ने कहा कि नेहरू जी ने बाबा साहब आंबेडकर को अपनी सरकार में मंत्री के रूप में शामिल किया था। वह देश में बेस्ट प्रैक्टिसेज लाने पर जोर दिया करते थे। फैक्ट्री कानून में अंतरराष्ट्रीय सुझावों को शामिल करने का फायदा आज तक देश को मिल रहा है। पीएम ने कहा कि नेहरू जी की सरकार में ही बाबा आंबेडकर वॉटर पॉलिसी भी लाए थे।

इस घटना पर वरिष्ठ पत्रकार ब्रजेश सिंह ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर अपने 'मन की बात' कही है। उन्होंने पोस्ट किया, विपक्ष को पीएम नरेंद्र मोदी के सदन में दिये गये आज के भाषण से कोई शिकायत नहीं होनी चाहिए। नेहरू जी का नाम कई बार पीएम मोदी ने लिया, उनके साथ शास्त्री जी और इंदिरा गांधी को भी याद किया। जो सामाजिक न्याय की राजनीति करते रहे हैं, उनके आदर्श वीपी सिंह को भी याद किया। समावेशी भाषण।

आपको बता दें कि करीब साढ़े सात हजार से ज्यादा प्रतिनिधि इस पूरे समय में दोनों सदनों में योगदान दे चुके हैं। इस कालखंड में करीब 600 महिला सांसदों ने भी अपना योगदान दिया।

 

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए