भारतीय पत्रकार संगठनों ने की एपी, अल जजीरा के कार्यालयों वाली इमारत पर हमले की निंदा

एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया समेत कई अन्य पत्रकार संगठनों ने गाजा में उस इमारत पर इजरायल के हवाई हमले की निंदा की, जहां एपी, अल-जजीरा और अन्य मीडिया संगठनों के कार्यालय हैं।

Last Modified:
Monday, 17 May, 2021
media-building78

एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया (ईजीआई) समेत कई अन्य भारतीय पत्रकार संगठनों ने गाजा में उस इमारत पर इजरायल के हवाई हमले की रविवार को निंदा की, जहां एसोसिएटेड प्रेस (एपी), अल-जजीरा और अन्य मीडिया संगठनों के कार्यालय हैं।

एडिटर्स गिल्ड ने एक बयान में कहा कि हाल ही में इस क्षेत्र में ‘बढ़ते संघर्ष’ की पृष्ठभूमि में वह इस हवाई हमले को ‘इजरायल सरकार द्वारा खबरिया मीडिया पर वास्तविक हमले’  के रूप में देखती है जिससे इस अति अस्थिर क्षेत्र से खबरों का प्रवाह बाधित हो सकता है और जिससे वैश्विक सुरक्षा जटिलताएं उत्पन्न हो सकती हैं।

संगठन ने कहा, ‘एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया गाजा में उस भवन पर हवाई हमले की कड़ी निंदा करती है जहां अल जजीरा एवं एसोसिएटेड प्रेस के कार्यालय हैं।’

संगठन ने यह भी मांग की कि इजरायल सरकार इस हमले की वजह पर विस्तृत रूप से स्पष्टीकरण दे और अपनी सफाई के पक्ष में प्रमाण सामने रखे।

एडिटर्स गिल्ड ने कहा, ‘गिल्ड यह भी आह्वान करती है कि इजरायल सरकार इस बमबारी की संयुक्त राष्ट्र की निगरानी में जांच का मार्ग प्रशस्त करे। साथ ही गिल्ड भारत सरकार से यह मुद्दा इजरायल सरकार के समक्ष उठाने की अपील करती है।’

इंडियन वूमेन प्रेस कॉर्प्स, प्रेस एसोसिएशन और प्रेस क्लब ऑफ इंडिया ने भी संयुक्त बयान में इजराइली सेना की कार्रवाई की निंदा की है।

उन्होंने कहा कि मीडिया कार्यालयों पर बमबारी करने एवं उनके कर्मियों एवं संसाधनों को निशाना बनाने को किसी भी तरह उचित नहीं ठहराया जा सकता।

वहीं दूसरी तरफ बिल्डिंग पर इजरायली सेना के हमले को इजरायल के प्रधानमंत्री बिन्यामिन नेतन्याहू ने सही ठहराया है। उन्होंने अमेरिकी समाचार चैनल सीबीएस को दिए इंटरव्यू में कहा कि वहां पर ‘फिलीस्तीनी आतंकी संगठन का खुफिया दफ्तर था जो इजरायली नागरिकों पर आतंकी हमलों की योजना बनाता था और अंजाम देता था, इसलिए हमारा निशाना पूरी तरह वैध था।’

बता दें कि गाजा में इजरायली सेना ने मीडिया हाउस की बिल्डिंग पर शनिवार को हमला कर उसे क्षतिग्रस्त कर दिया था। हवाई हमले से यह पूरी बिल्डिंग ताश के पत्तों की तरह ढह गई थी। इस 12 मंजिला वाली बिल्डिंग में अमेरिका स्थित न्यूज एजेंसी ‘एसोसिएटेड प्रेस’ और कतर स्थित न्यूज चैनल ‘अल जज़ीरा’ जैसे मीडिया संस्थान के दफ्तर थे। 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

SONY ने अपनी लीडरशिप टीम में किए ये बड़े बदलाव

‘सोनी पिक्चर्स नेटवर्क इंडिया’ (SPNI) ने अपनी लीडरशिप टीम में कुछ बड़े बदलाव किए हैं। ये बदलाव तुरंत प्रभाव से प्रभावी हो गए हैं।

Last Modified:
Monday, 26 July, 2021
SONY

‘सोनी पिक्चर्स नेटवर्क इंडिया’ (SPNI) ने अपनी लीडरशिप टीम में कुछ बड़े बदलाव किए हैं। ये बदलाव तुरंत प्रभाव से प्रभावी हो गए हैं। इन बदलावों के तहत चीफ रेवेन्यू ऑफिसर (ऐड सेल्स और इंटरनेट बिजनेस) के पद पर कार्यरत रोहित गुप्ता को इस जिम्मेदारी से मुक्त कर सोनी पिक्चर्स नेटवर्क के मैनेजमेंट और बोर्ड के सलाहकार की जिम्मेदारी सौंपी गई है। नेटवर्क को आगे बढ़ाने में पिछले दो दशकों में रोहित ने काफी योगदान दिया है। अपनी नई भूमिका में रोहित सीनियर मैनेजमेंट को सलाह देने का काम करेंगे और विभिन्न मुद्दों पर सीईओ के साथ मिलकर काम करेंगे।

वहीं, चीफ रेवेन्यू ऑफिसर (डिस्ट्रीब्यूशन) और बिजनेस हेड (स्पोर्ट्स) राजेश कौल को वर्तमान जिम्मेदारी के साथ इंटरनेशनल सेल्स की अतिरिक्त जिम्मेदारी सौंपी गई है। वह दुनियाभर में ब्रैंड की मजबूती के लिए डिजिटल टीम के साथ मिलकर काम करेंगे। फिलहाल इंटरनेशनल सेल्स की कमान संभाल रहे नीरज अरोड़ा सीधे राजेश कौल को रिपोर्ट करेंगे।

इसके साथ ही संदीप मेहरोत्रा को हेड (Ad Sales, Network Channels) के पद पर नियुक्त किया गया है। ढाई दशक से अधिक के शानदार करियर के साथ संदीप को रेवेन्यू बढ़ाने और क्लाइंट्स व व्यवसायों को दक्षता प्रदान करने का अनुभव है। अपनी नई भूमिका में संदीप सीधे सीईओ को रिपोर्ट करेंगे।

सोनी एंटरटेनमेंट, डिजिटल बिजनेस और स्टूडियोनेक्स्ट के बिजनेस हेड दानिश खान को नेटवर्क चैनल्स लाइसेंसिंग का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा गया है। वहीं, बिजनेस हेड (English, Factual Entertainment & Sony AATH) तुषार शाह को सोनी पिक्चर्स नेटवर्क में नवसृजित चीफ मार्केटिंग ऑफिसर (CMO) का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है।  

कॉरपोरेट स्ट्रैटेजी और बिजनेस डेवलपमेंट के पद पर कार्यरत आदित्य मेहता वर्तमान भूमिका के साथ-साथ नेटवर्क के लिए डाटा एनालिटिक्स सीओई (CoE) को मजबूती देने का काम करेंगे। वह व्यवसाय मुद्रीकरण (Business Monetization) के लिए भी जिम्मेदार होंगे।

वहीं, चीफ फाइनेंस ऑफिसर के पद पर कार्यरत नितिन नादकर्णी (Nitin Nadkarni) को ब्रॉडकास्ट ऑपरेशंस एंड नेटवर्क इंजीनियरिंग (B.O.N.E) डिपार्टमेंट की अतिरिक्त जिम्मेदारी सौंपी गई है। ब्रॉडकास्ट ऑपरेशंस एंड नेटवर्क इंजीनियरिंग के हेड किंगशुक भट्टाचार्य (Kingshuk Bhattacharya) अब नितिन को रिपोर्ट करेंगे।   

इन बदलावों के बारे में सोनी पिक्चर्स नेटवर्क के एमडी और सीईओ एनपी सिंह का कहना है, ‘नेटवर्क ने भविष्य के लिए तैयार संगठन बनाने के लिए विजन 3.0 की शुरुआत की है। आज घोषित किए गए सभी नेतृत्व परिवर्तन उस विकासवादी इरादे को दर्शाते हैं।‘

वहीं, नेटवर्क की चीफ एचआर ऑफिसर (CHRO) मनु वाधवा का कहना है,  ‘नेटवर्क में किए गए ये बदलाव प्रतिभा और नेतृत्व क्षमताओं को मजबूत करने के लिए हमारे निरंतर फोकस का परिणाम है और यह यह कदम सुनिश्चित करेगा कि हम गतिशील मीडिया और एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में आगे रहें।‘

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

CNBC-TV18 की लता वेंकटेश डेली एंकरिंग से जल्द लेंगी 'ब्रेक'

सीएनबीसी-टीवी18 (CNBC-TV18) की एग्जिक्यूटिव एडिटर व सीनियर एंकर लता वेंकटेश (Latha Venkatesh) अब चैनल की डेली एंकरिंग से ब्रेक लेने जा रही हैं

Last Modified:
Tuesday, 27 July, 2021
Latha45454

सीएनबीसी-टीवी18 (CNBC-TV18) की एग्जिक्यूटिव एडिटर व सीनियर एंकर लता वेंकटेश(Latha Venkatesh) अब चैनल की डेली एंकरिंग से ब्रेक लेने जा रही हैं। लेकिन इस बीच वे एक सुपरवाइजर की भूमिका निभाएंगी। बता दें कि यह बदवाल एक अगस्त से लागू होंगे।

चैनल के मुताबिक लता वेंकटेश एग्जिक्यूटिव एडिटर बनी रहेंगी  और केवल दैनिक गतिविधियों से ब्रेक लेंगी। दरअसल उन्होंने अपने बेटे की शादी की तैयारियों के लिए यह स्टेप लिया है।

सीएनबीसी में एक आंतरिंक संवाद में कहा गया है कि लता मैम पिछले दो दशक से अपना योगदान देती रही हैं। वे अपने काम को दिल से करती हैं। कभी भी उन्होंने इस बात को लेकर कोई शिकायत नहीं की है कि वे ज्यादा समय तक काम करती हैं, दबाव या तनाव में काम करती हैं ऐसा इसलिए क्योंकि वे अपने काम को जुनून से करती हैं और उससे प्यार करती हैं। उनका किसी से भी कोई विरोध नहीं है। वह आधे-अधूरे मन से कोई काम नहीं करती हैं। वे अपने बेटे  की बड़े स्तर पर शादी करने की तैयारी कर रही हैं लिहाजा इस अद्भुत क्षणों पर ध्यान केंद्रित करने के लिए पूरा ध्यान और समय इस ओर लगाना चाहती हैं।

आतरिंक संवाद में यह भी बताया गया है कि तब तक के लिए वह अपने विशेष शो को करती रहेंगी और आवश्यक और उपयुक्त दैनिक शो के लिंक/साक्षात्कार आदि को साझा करती रहेंगी। लेकिन 1 अगस्त के बाद से वह नियमित तौर पर एंकरिंग नहीं करेंगी।

वेंकटेश की जगह अब सोनल सचदेव (Sonal Sachdev) यह जिम्मेदारी संभालेंगी।  

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

पेगासस मामले की जांच को लेकर मीडिया निकायों ने एक सुर में उठाई ये आवाज

प्रेस क्लब ऑफ इंडिया, एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया सहित पत्रकारों के कई अन्य मीडिया निकायों ने स्पाईवेयर के जरिए पत्रकारों और अन्य की कथित जासूसी की निंदा की

Last Modified:
Friday, 23 July, 2021
pegasus545

प्रेस क्लब ऑफ इंडिया, एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया सहित पत्रकारों के कई अन्य मीडिया निकायों ने स्पाईवेयर के जरिए पत्रकारों और अन्य की कथित जासूसी की निंदा की और मामले में ‘उच्चतम न्यायालय की निगरानी में जांच’ की मांग की।

इन मीडिया निकायों के प्रतिनिधियों ने कहा कि उन्हें लगता है कि नागरिकों की जासूसी करने से लोकतंत्र कमजोर होता है। उन्होंने कहा कि यह सरकार की जिम्मेदारी है कि वह पेगासस स्पाईवेयर पर उठ रहे संदेहों को दूर करे और इस मामले में वह खुद को साफ-सुथरा साबित करे।

यह बयान प्रेस क्लब ऑफ इंडिया के साथ-साथ एडिटर्स गिल्ड, दिल्ली पत्रकार संघ, इंडियन वीमेंस प्रेस कोर, वर्किंग न्यूज कैमरामैन एसोसिएशन, आईजेयू और विभिन्न मीडिया संगठनों की ओर से जारी किया गया।

पत्रकारों के संगठनों का यह बयान तब आया है जब इजराइली कंपनी एनएसओ के पेगासस स्पाइवेयर पर हंगामा मचा है। आरोप लगाए जा रहे हैं कि इसके माध्यम से दुनिया भर में लोगों पर कथित तौर पर जासूसी कराई गई, जिसमें भारत के दो केंद्रीय मंत्रियों, 40 से अधिक पत्रकारों, विपक्ष के तीन नेताओं और एक न्यायाधीश सहित बड़ी संख्या में कारोबारियों, सरकारी अफसरों, वैज्ञानिकों, एक्टिविस्ट समेत करीब 300 लोग शामिल हैं।

दुनिया भर के 17 मीडिया संस्थानों ने पेगासस स्पाइवेयर के बारे में खुलासा किया है। एक लीक हुए डेटाबेस के अनुसार इजरायली निगरानी प्रौद्योगिकी फर्म एनएसओ के कई सरकारी ग्राहकों द्वारा हजारों टेलीफोन नंबरों को सूचीबद्ध किया गया था। इसमें 300 से अधिक सत्यापित भारतीय मोबाइल टेलीफोन नंबर शामिल हैं।  

इतने बड़े पैमाने पर ऐसे लोगों के नाम आने को लेकर ही मीडिया निकाय ने इस मामले में जांच की मांग की है। प्रेस क्लब की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि ऐसी निगरानी के लिए लोगों के प्रति सरकार जवाबदेह है और उसकी जिम्मेदारी है कि वह यह सुनिश्चित करे कि भारतीय नागरिकों की अवैध जासूसी नहीं हो पाए।

बयान में कहा गया है कि पत्रकारों के संगठन मानते हैं कि पत्रकारों, नागरिक समाज, मंत्रियों, सांसदों और न्यायपालिका पर ऐसी निगरानी सत्ता का पूरी तरह दुरुपयोग है और इसे तुरत रोका जाना चाहिए। इसने कहा है कि राष्ट्रीय सुरक्षा की आड़ में ऐसी नियंत्रित निगरानी नहीं की जा सकती है।

पत्रकारों के संगठनों ने चेताया है कि भारतीय नागरिकों की पेगासस स्पाईवेयर से जासूसी कराना भारतीय संप्रभुता को खतरे में डालेगा और इसलिए यह जरूरी है कि भारत सरकार इसमें दखल दे और साफ करे कि यह कैसे और क्यों हुआ। बयान में कहा कहा गया है, 'हम सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में जासूसी की जांच किए जाने की मांग करते हैं। मीडिया संस्थान लोकतंत्र और प्रेस की स्वतंत्रता के लिए संवैधानिक विकल्प का उपाए भी तलाशेंगे।'

इन मीडिया निकायों के प्रतिनिधियों ने ‘दैनिक भास्कर’ और ‘भारत समाचार’ चैनल सहित मीडिया प्रतिष्ठानों पर छापेमारी की निंदा भी की और कहा कि यह ‘असहमति को दबाने’ का प्रयास है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

राजनेताओं-पत्रकारों ने IT की कार्रवाई को बताया मीडिया की आवाज दबाने का प्रयास, कही ये बात

आयकर विभाग के अधिकारियों द्वारा‘दैनिक भास्कर’ और ‘भारत समाचार’ चैनल पर छापेमारी के मामले में कई राजनेताओं ने अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है।

Last Modified:
Friday, 23 July, 2021
Raid

कथित रूप से टैक्स चोरी की जानकारी मिलने के बाद आयकर विभाग के अधिकारियों द्वारा गुरुवार की सुबह ‘दैनिक भास्कर’ (Dainik Bhaskar) के तमाम कार्यालयों और ‘भारत समाचार’ (Bharat Samachar) चैनल पर छापेमारी के मामले में कई राजनेताओं व पत्रकारों ने अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है। उन्होंने इस कार्रवाई को मीडिया की आवाज दबाने की कोशिश बताया है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट के जरिये आयकर विभाग के इस कदम की निंदा की है।   

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक ट्वीट में कहा कि दैनिक भास्कर समूह और भारत समाचार के यहां आयकर विभाग का छापा मीडिया की आवाज को दबाने का प्रयास है। मोदी सरकार अपनी आलोचना को जरा भी बर्दास्त नहीं कर सकती।  

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी इस कदम का विरोध करते हुए अपने ट्वीट में कहा है, ‘पत्रकारों और मीडिया घरानों पर हमला लोकतंत्र को कुचलने का एक और क्रूर प्रयास है। मैं इस प्रतिशोधी कृत्य की कड़ी निंदा करती हूं, जिसका उद्देश्य सत्य को सामने लाने वाली आवाजों को दबाना है। इस तरह की कार्रवाई लोकतंत्र के सिद्धांतों को कमजोर करती है। हम सब मिलकर निरंकुश ताकतों को कभी सफल नहीं होने देंगे।’

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने ट्वीट में आयकर विभाग के इस कदम को मीडिया को डराने का प्रयास करने वाला बताया है। उन्होंने छापेमारी को रोकने और मीडिया को स्वतंत्र रूप से अपना काम करने देने का अनुरोध किया है।

वरिष्ठ पत्रकार राजेश बादल ने भी इस मामले में अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा है, 'दैनिक भास्कर पर छापे की कार्रवाई जायज नहीं है ।आप अपना पक्ष अखबार में रखने के लिए स्वतंत्र हैं। सरकार अपना तर्क  समाचार पत्र को दे सकती है। यदि वह  प्रकाशित नहीं  करे तो वह प्रेस कौंसिल का दरवाजा खटखटा सकती है, लेकिन छापे की कार्रवाई उचित नहीं ठहराई जा सकती। कोई भी सभ्य समाज इसे स्वीकार नहीं करेगा।' 

वहीं, इस मामले में आयकर विभाग की ओर से कोई आधिकारिक स्टेटमेंट जारी नहीं किया गया है और न ही इस बारे में ज्यादा जानकारी दी गई है। हालांकि, आईटी विभाग की ओर से किए गए ट्वीट में कहा गया है, ‘विभाग के प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए जांच टीम ने केवल टैक्स चोरी से संबंधित समूह के वित्तीय लेनदेन को देखा।’

इसके साथ ही कुछ मीडिया रिपोर्ट्स को नकारते हुए आयकर विभाग ने ट्वीट में यह भी कहा, ’मीडिया के एक वर्ग ने इस तरह के आरोप भी लगाए हैं कि  आयकर विभाग के अधिकारी जांच के दौरान स्टोरीज में बदलाव और संपादकीय निर्णय में अपना सुझाव दे रहे थे। इस तरह के आरोप पूरी तरह झूठे हैं और आयकर विभाग इन आरोपों को पूरी तरह से नकारता है।’

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

छापेमारी को लेकर दैनिक भास्कर व भारत समाचार ने कुछ यूं दी अपनी प्रतिक्रिया

आयकर विभाग ने कर चोरी के आरोपों में दो प्रमुख मीडिया घरानों- ‘दैनिक भास्कर’ और उत्तर प्रदेश के हिंदी न्यूज चैनल ‘भारत समाचार’ के विभिन्न शहरों में स्थित परिसरों पर गुरुवार को छापे मारे।

Last Modified:
Thursday, 22 July, 2021
DainikBhaskar545

आयकर विभाग ने कर चोरी के आरोपों में दो प्रमुख मीडिया घरानों- ‘दैनिक भास्कर’ और उत्तर प्रदेश के हिंदी न्यूज चैनल ‘भारत समाचार’ के विभिन्न शहरों में स्थित परिसरों पर गुरुवार को छापे मारे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, दैनिक भास्कर के मामले में छापेमारी भोपाल, जयपुर, अहमदाबाद और कुछ अन्य स्थानों पर की गई है। वहीं, भारत समाचार समूह और उसके प्रवर्तकों व कर्मचारियों के लखनऊ स्थित परिसरों पर इसी तरह से छापेमारी की गई।

दैनिक भास्कर की एक रिपोर्ट के मुताबिक, अधिकारियों ने दफ्तरों में मौजूद नाइट शिफ्ट के कर्मचारियों के मोबाइल और लैपटॉप अपने कब्जे में ले लिए। इस कारण कई घंटों तक डिजिटल न्यूज का काम प्रभावित हुआ।

रिपोर्ट में बताया गया कि इनकम टैक्स अधिकारियों ने नाइट शिफ्ट में काम कर रहे कर्मचारियों को ऑफिस में ही रोक लिया और बाहर निकलने से मना कर दिया। नाइट शिफ्ट में काम करने वाले ज्यादातर कर्मचारी संपादकीय और भास्कर के आईटी डिपार्टमेंट से जुड़े थे, जिनका फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन से कोई संबंध नहीं होता, फिर भी उन्हें जबरन रोका गया।

दैनिक भास्कर ने रिपोर्ट में कहा कि आम तौर पर आईटी छापों में वित्तीय ट्रांजैक्शन से जुड़े विभागों की ही पड़ताल होती है, लेकिन यहां एडिटोरियल कंटेंट से जुड़े दस्तावेज और इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस खंगालकर पत्रकारों के काम में बाधा पहुंचाई गई। आयकर विभाग की टीम ने भास्कर के न्यूज प्रोसेस से जुड़े काम में कई घंटों तक बाधा पहुंचाई। पत्रकारों को दफ्तर के अंदर नहीं जाने नहीं दिया गया और न ही अंदर काम कर रहे पत्रकारों को शिफ्ट खत्म हो जाने के बाद बाहर निकलने दिया।

आयकर छापे पर दैनिक भास्कर ने कहा कि सच्ची पत्रकारिता से सरकार डर गई है। भास्कर में तो पाठकों की मर्जी ही चलेगी। कोविड महामारी की दूसरी लहर के दौरान दैनिक भास्कर ने कई तस्वीरें पाठकों के सामने पेश की थी। 

अपनी रिपोर्ट में दैनिक भास्कर ने कहा, ‘देशभर में जब कोरोना से मरने वालों का रिकॉर्ड मेंटेन नहीं किया गया, आंकड़ों को छिपाया जा रहा था, दर्जनों शवों का एक ही चिता पर अंतिम संस्कार किया जा रहा था, तब निडर पत्रकारिता दिखाते हुए दैनिक भास्कर सरकार के दावों की पोल खोल रहा था।’

भास्कर ने यह भी बताया कि आईटी अधिकारियों का निर्देश है कि छापे से जुड़ी हर खबर को दफ्तर में मौजूद अधिकारियों को दिखाकर ही पब्लिश की गई है।

वहीं भारत समाचार ने अपनी रिपोर्ट्स में कहा है कि आयकर विभाग के कई दलों ने संस्थान और उसके कर्मचारियों से जुड़े ठिकानों पर छापेमारी की है।

छापेमारी को लेकर भारत समाचार ने कहा, ‘हम सच के साथ खड़े रहेंगे, जनता सब देख रही है।‘ चैनल ने ट्वीट कर कहा-

तुम चाहे जितना दबाओगे आवाज

हम उतनी ही जोर से कहते रहेंगे सच

हम न तो पहले डरे थे और न अब डरेंगे

सच के साथ पहले भी थे और अभी भी हैं

तुम कुछ भी करो लेकिन सच ही कहेंगे

वहीं, इस छापेमारी को लेकर केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा है कि एजेंसियां अपना काम कर रही हैं और सरकार इसमें कोई हस्तक्षेप नहीं करती है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

इस चैनल पर देखने को मिलेगा ओलंपिक खेलों का सीधा प्रसारण

23 जुलाई 2021 से टोक्यो ओलंपिक गेम्स का आगाज होने जा रहा है, जो आठ अगस्त तक खेले जाएंगे। सरकार ने इस आयोजन के सीधे प्रसारण की पूरी तैयारी कर ली है।

Last Modified:
Thursday, 22 July, 2021
Tokyo Olympic

23 जुलाई 2021 से टोक्यो ओलंपिक गेम्स का आगाज होने जा रहा है, जो आठ अगस्त तक खेले जाएंगे। इन गेम्स की कवरेज के बारे में सूचना प्रसारण मंत्रालय ने बुधवार को बताया कि वैश्विक खेलों का आयोजन शुरू होने से लेकर खत्म होने तक इसकी व्यापक कवरेज की जाएगी और इसका प्रसारण पब्लिक ब्रॉडकास्टर ‘प्रसार भारती’ के टेलीविजन, रेडियो और डिजिटल प्लेटफॉर्म पर होगा।

बताया जाता है कि ‘डीडी स्पोर्ट्स’ (DD Sports)  रोजाना टोक्यो ओलंपिक का सीधा प्रसारण करेगा जबकि दूरदर्शन के अन्य चैनल्स और ऑल इंडिया रेडियो (एआईआर) इस खेल आयोजन पर विशेष कार्यक्रम प्रसारित करेंगे।

इस बारे में सूचना प्रसारण मंत्रालय का कहना है, ‘ओलंपिक में विभिन्न खेल आयोजनों का डीडी स्पोर्ट्स पर रोजाना सुबह पांच बजे से शाम सात बजे तक सीधा प्रसारण किया जाएगा। इसके साथ ही इसकी डिटेल्स डीडी स्पोर्ट्स और ऑल इंडिया स्पोर्ट्स के ट्विटर हैंडल पर रोजाना उपलब्ध कराई जाएगी।‘ मंत्रालय का यह भी कहना है कि डीडी स्पोर्ट्स ओलंपिक शुरू होने से पहले खेल हस्तियों के साथ चार घंटे से अधिक का चर्चा-आधारित कार्यक्रम का निर्माण करेगा, जो ‘चीयर फॉर इंडिया’ अभियान में योगदान देगा।

मंत्रालय द्वारा साझा कार्यक्रम कार्यक्रम के अनुसार, एआईआर कैपिटल स्टेशन, एफएम रेनबो नेटवर्क, डीआरएम (एआईआर का डिजिटल रेडियो) और एआईआर के अन्य  स्टेशन 22 जुलाई को टोक्यो ओलंपिक पर एक ‘कर्टन-रेजर’ कार्यक्रम प्रसारित करेंगे। कार्यक्रम को भारत की सीमा के अंदर यूट्यूब चैनल, डीटीएच और ‘न्यूजऑनएआईआर मोबाइल ऐप पर भी प्रसारित किया जाएगा।

मंत्रालय के अनुसार, आकाशवाणी चैनलों पर 23 जुलाई से रोजाना की सुर्खियों को प्रसारित किया जाएगा, जबकि एफएम रेनबो पर 24 जुलाई से आवधिक सूचनाएं प्रसारित की जाएंगी। ‘जब भी भारत पदक जीतेगा तो एफएम चैनलों पर ब्रेकिंग न्यूज भी प्रसारित हो सकती है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

इस अखबार और टीवी चैनल के दफ्तरों पर आयकर विभाग का छापा

कथित रूप से टैक्स चोरी की जानकारी मिलने के बाद आयकर विभाग के अधिकारियों द्वारा की जा रही है कार्रवाई।

Last Modified:
Thursday, 22 July, 2021
Income Tax Department

कथित रूप से टैक्स चोरी की जानकारी मिलने के बाद आयकर विभाग के अधिकारियों द्वारा गुरुवार की सुबह ‘दैनिक भास्कर’ के तमाम कार्यालयों पर छापेमारी की खबर सामने आई है। बताया जाता है कि आयकर विभाग के अधिकारियों ने दिल्ली, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, राजस्थान, गुजरात और अन्य स्थानों पर दैनिक भास्कर के कई कार्यालयों पर छापेमारी की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, अखबार के प्रमोटर्स के घरों और कार्यालयों सहित 40 से ज्यादा ठिकानों पर फिलहाल तलाशी चल रही है। आयकर विभाग की टीम भोपाल के अरेरा कॉलोनी में स्थित अग्रवाल बंधुओं यानी भास्कर के चेयरमेन सुधीर अग्रवाल, गिरीश और पवन अग्रवाल के घर सहित दैनिक भास्कर के प्रमोटर्स के आवास और दफ्तरों पर भी पहुंची है। इसके लिए सर्च टीम का सहयोग सीआरपीएफ़ और स्थानीय मध्य प्रदेश पुलिस कर रही है।

बताया जाता है कि केंद्रीय जांच एजेंसी को दैनिक भास्कर समूह के प्रमोटर्स के पॉवर प्लॉंट, शुगर फ़ैक्ट्री, साल्वेंट ग्रुप सहित कई व्यापारिक प्रतिष्ठानों में वित्तीय अनियमितता की सूचना मिली थी। इसी के आधार पर यह तलाशी अभियान चलाया जा रहा है। विभाग के इस ऑपरेशन की निगरानी दिल्ली/मुंबई से की जा रही है। दैनिक भास्कर की तमाम कंपनियों के वित्तीय प्रबंधकों से पूछताछ चल रही है।

इस बीच मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से यह भी खबर सामने आ रही है कि उत्तर प्रदेश के लखनऊ से संचालित ‘भारत समाचार’ चैनल के दफ्तर पर भी छापेमारी की गई है। आयकर विभाग की टीम चैनल के एडिटर-इन-चीफ ब्रजेश मिश्रा के गोमती नगर में विपुल खंड स्थित आवास और अन्य प्रमोटर्स के घर पर भी जांच के लिए पहुंची है।

राज्यसभा में हुआ हंगामा: दैनिक भास्कर पर आयकर विभाग के छापे के मुद्दे पर राज्यसभा में विपक्षी सांसदों ने विरोध जताया है। दिग्विजयसिंह ने यह मुद्दा उठाया था। इसे लेकर जमकर हंगामा हुआ, इसके बाद सभा को 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

भाजपा ने प्रेम शुक्ल व शाजिया इल्मी को सौंपी बड़ी जिम्मेदारी

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने मुंबई के प्रेम शुक्ल और दिल्ली की शाजिया इल्मी को पार्टी का नया राष्ट्रीय प्रवक्ता नियुक्त किया है

Last Modified:
Wednesday, 21 July, 2021
shazia-ilmi5454

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने मुंबई के प्रेम शुक्ल और दिल्ली की शाजिया इल्मी को पार्टी का नया राष्ट्रीय प्रवक्ता नियुक्त किया है।

यह जानकारी देते हुए राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह ने बताया कि नियुक्ति तत्काल प्रभाव से लागू होगी।

इन दो नियुक्तियों के साथ अब भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय टीम में कुल 25 प्रवक्ता हो जाएंगे। इससे पूर्व पार्टी के पास कुल 23 राष्ट्रीय प्रवक्ता थे।

भाजपा से जुड़ने से पहले प्रेम शुक्ल, शिवसेना के मुखपत्र सामना के कार्यकारी संपादक रह चुके हैं, वहीं शाजिया इल्मी वर्ष 2014 तक आम आदमी पार्टी में रह चुकी हैं।

शाजिया इल्मी ने अपने ट्विटर हैंडल से आधिकारिक तौर पर राष्ट्रीय प्रवक्ता बनाए जाने पर पार्टी को धन्यवाद दिया।

आपको बता दें कि शाजिया इल्मी पूर्व में टीवी पत्रकार रह चुकी हैं। उन्होंने पत्रकारिता छोड़कर आम आदमी पार्टी का दामन थामा था। शाजिया इल्मी ने 2014 में लोकसभा चुनाव भी लड़ा था, लेकिन वह हार गई थीं। 2014 में ही शाजिया इल्मी ने आम आदमी पार्टी को छोड़ दिया था, 2015 से ही वह भारतीय जनता पार्टी में हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

मीडिया कंपनी नेटवर्क18 को कुछ यूं हुआ लाभ

नेटवर्क18 के चेयरमैन आदिल जैनुलभाई ने कहा, ‘पूर्व के वर्ष से कई चीजें सीखते हुए और भारतीय दर्शकों के प्रति सेवाओं की जिम्मेदारी निभाते हुए हम अपने कारोबार को मुनाफे के साथ आगे बढ़ा सके।’

Last Modified:
Wednesday, 21 July, 2021
Network18

मीडिया कंपनी नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट्स लि. ने चालू वित्त वर्ष की जून में समाप्त पहली तिमाही में 121.51 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ कमाया है।

शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कंपनी ने यह जानकारी दी। इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में कंपनी को 60.60 करोड़ रुपए का शुद्ध घाटा हुआ था।

तिमाही के दौरान कंपनी की एकीकृत परिचालन आय 50.47 प्रतिशत बढ़कर 1,214.43 करोड़ रुपए पर पहुंच गई। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में यह 807.07 करोड़ रुपए रही थी।

तिमाही के दौरान कंपनी का खर्च 23.99 प्रतिशत बढ़कर 1,080.79 करोड़ रुपए हो गया, जो एक साल पहले समान तिमाही में 871.65 करोड़ रुपए था।

नेटवर्क18 के चेयरमैन आदिल जैनुलभाई ने कहा, ‘पूर्व के वर्ष से कई चीजें सीखते हुए और भारतीय दर्शकों के प्रति सेवाओं की जिम्मेदारी निभाते हुए हम अपने कारोबार को मुनाफे के साथ आगे बढ़ा सके।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

बालाजी टेलिफिल्म्स में नचिकेत पंतवैद्य की हुई वापसी, अब मिली यह जिम्मेदारी

अपनी इस भूमिका में वह बालाजी टेलिफिल्म्स की मैनेजिंग डायरेक्टर शोभा कपूर को रिपोर्ट करेंगे।

Last Modified:
Tuesday, 20 July, 2021
Nachiket Pantvaidya

‘बालाजी टेलिफिल्म्स’ (Balaji Telefilms) में नचिकेत पंतवैद्य की वापसी हुई है। उन्होंने यहां पर बतौर ग्रुप चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर के पद पर जॉइन किया है। अपनी नई भूमिका में वह बालाजी टेलिफिल्म्स की मैनेजिंग डायरेक्टर शोभा कपूर को रिपोर्ट करेंगे। नचिकेत इससे पहले बालाजी टेलिफिल्म्स में ग्रुप चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर और ऑल्ट बालाजी (ALTBalaji) में सीईओ के तौर पर जिम्मेदारी चुके हैं। उन्होंने मार्च 2021 में यहां से इस्तीफा दे दिया था।

नचिकेत पंतवैद्य की वापसी के बारे में कंपनी की ओर से एक स्टेटमेंट जारी किया गया है। इस स्टेटमेंट में कहा गया है, ‘ग्रुप के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर के रूप में बालाजी परिवार में नचिकेत पंतवैद्य का स्वागत करते हुए हमें बहुत खुशी हो रही है। उन्हें काफी अनुभव के साथ-साथ एंटरटेनमेंट ईकोसिस्टम की काफी अच्छी समझ है।’

बता दें कि पंतवैद्य को ब्रॉडकास्ट और डिजिटल मीडिया कंपनियों के साथ काम करने का 20 साल से ज्यादा का अनुभव है। वह एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री की कुछ जानी-मानी कंपनियों जैसे- सोनी एंटरटेनमेंट टेलिविजन, स्टार प्लस, स्टार प्रवाह और फॉक्स टेलिविजन स्टूडियो में वरिष्ठ पदों पर अपनी जिम्मेदारी निभा चुके हैं। वह डिज्नी और बीबीसी का हिस्सा भी रहे हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए