NBT की इस एक्सक्लूसिव स्टोरी ने खड़े किये कई सवाल

अधिकांश लोग समझ नहीं पा रहे हैं कि इसे पत्रकारिता की किस श्रेणी में रखा जाए

Last Modified:
Monday, 03 June, 2019
NBT

ख़बरों की तलाश में दिन-रात एक करने वाला हर पत्रकार चाहता है कि उसके खाते में कोई न कोई एक्सक्लूसिव खबर आ जाए। लेकिन एक्सक्लूसिव के नाम पर आजकल जो कुछ हो रहा है, वह अपने आप में कई सवाल खड़े करता है। सबसे पहला तो यही कि क्या ख़बरों की समझ कम हो गई है या ख़बरों को लेकर लोगों का टेस्ट बदल गया है?

देश के प्रतिष्ठित मीडिया ग्रुप ‘टाइम्स समूह’ के हिंदी अख़बार नवभारत टाइम्स में प्रकाशित एक खबर को लेकर भी यही सवाल पूछा जा रहा है। दरअसल, नवभारत टाइम्स में पीएम मोदी की कैबिनेट से जुड़ी एक एक्सक्लूसिव स्टोरी छपी है। अपनी इस स्टोरी में पत्रकार गुलशन खत्री ने बताया है कि टीम मोदी में शामिल कितने मंत्रियों की दाढ़ी है। इसके साथ ही खत्री यह भी बताना नहीं भूले कि इतनी बड़ी संख्या में यह संयोग पहली बार सामने आया है।

हैरानी की बात यह है कि अख़बार के संपादक को भी यह खबर एक्सक्लूसिव लगी और उसे बाईलाइन के साथ चस्पा कर दिया गया। पत्रकार महोदय दूसरों से कुछ अलग हटकर चाह रहे होंगे और इसी चाह ने उन्हें मंत्रियों की दाढ़ी तक पहुंचा दिया। उन्होंने अपने पाठकों तक यह महत्वपूर्ण जानकारी पहुंचाई कि डेढ़ दर्जन मंत्रियों के दाढ़ी है और सबकी दाढ़ी का डिज़ाइन अलग-अलग है। ऐसी खबर में भी सूत्रों का हवाला दिया गया है।

खत्री ने लिखा है कि ‘पार्टी सूत्रों का कहना है कि कभी इस तरह का आकलन नहीं किया गया, लेकिन संभवतः यह पहला मौका है जब केंद्र सरकार में दाढ़ी वाले मंत्रियों का इतना बड़ा आंकड़ा है।’ इस एक्सक्लूसिव स्टोरी में विदेशमंत्री एस. जयशंकर के बारे में एक ऐसी बात ज़रूर बताई गई है, जिससे सामान्य पाठक शायद परिचित न हो। वो यह कि उन्होंने विदेश मंत्री बनने से पहले ही भाजपा की सदस्यता ग्रहण की।

इस तरह की जानकारी लोगों का ज्ञानवर्धन करती है, लेकिन उन्हें इससे क्या लेना-देना कि कौन से मंत्री ने किस स्टाइल में दाढ़ी रखी है या मोदी मंत्रिमंडल में कितने मंत्रियों की दाढ़ी है? सोशल मीडिया पर भी इस एक्सक्लूसिव स्टोरी को लेकर चर्चा चल रही है। अधिकांश लोग समझ नहीं पा रहे हैं कि इसे पत्रकारिता की किस श्रेणी में रखा जाए।

मीडिया क्षेत्र से जुड़े रविंद्र रंजन ने अपने फेसबुक अकाउंट पर एक्सक्लूसिव स्टोरी को पोस्ट करते हुए लिखा है, ‘पत्रकारिता के नित नये प्रतिमान स्थापित करते हिंदी पत्रकार और अखबार। बड़ी मेहनत से पत्रकार यह खोजी रिपोर्ट लाया है। आप भी जरूर पढ़िए, हो सके तो सहेज कर रख लीजिए। भावी पीढ़ियों को भी सीखने को मिलेगा। टाइम्स ग्रुप के लोकप्रिय अखबार की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट’।

रविंद्र रंजन द्वारा अपने फेसबुक अकाउंट पर पोस्ट की गई स्टोरी की कटिंग आप यहां देख सकते हैं-

आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो करने के लिए यहां क्लिक कीजिए

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

Outlook Magazine को बाय बोलकर वरिष्ठ पत्रकार भावना विज ने अब इस दिशा में बढ़ाए कदम

आउटलुक मैगजीन के अलावा विज पूर्व में द पॉयनियर, द इकनॉमिक टाइम्स, द इंडियन एक्सप्रेस और इंडिया टुडे के साथ काम कर चुकी हैं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 04 December, 2021
Last Modified:
Saturday, 04 December, 2021
Bhavna Vij

वरिष्ठ पत्रकार भावना विज ने नई दिशा में कदम बढ़ाते हुए ब्रिटिश उच्चायोग का रुख किया है। उन्होंने यहां पर बतौर सीनियर पॉलिटिकल इकनॉमी एडवाइजर के रूप में जॉइन किया है। इस बात की घोषणा विज ने खुद एक ट्वीट में की है।

अपने ट्वीट में भावना विज ने लिखा है, ‘नई शुरुआत! आउटलुक मैगजीन में पॉलिटिकल एडवाइजर से ब्रिटिश उच्चायोग में वरिष्ठ राजनीतिक अर्थव्यवस्था सलाहकार की रोमांचक नई भूमिका तक...।’

बता दें कि भावना विज इससे पहले ‘आउटलुक’ मैगजीन में बतौर पॉलिटिकल एडिटर अपनी जिम्मेदारी निभा रही थीं। वर्ष 2016 से यहां पर कार्यरत विज ने हाल ही में यहां से अलविदा कह दिया था।

अपने तीन दशक लंबे करियर में विज ने क्राइम व हेल्थ आदि बीट के अलावा पीएमओ ऑफिस से लेकर गृह मंत्रालय, रेलवे मंत्रालय, नागरिक उड्डयन मंत्रालय और डिफेंस मंत्रालय जैसे प्रमुख मंत्रालयों को कवर किया है।

विज ने पत्रकारिता के क्षेत्र में अपने करियर की शुरुआत ‘द पॉयनियर’ (The Pioneer) से की थी। इसके अलावा पूर्व में वह ‘द इकनॉमिक टाइम्स’ (The Economic Times), ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ (The Indian Express) और ‘इंडिया टुडे’ (India Today) में भी अपनी जिम्मेदारी निभा चुकी हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

IPOY के मंच से केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भारतीय महिलाओं की प्रतिभा को कुछ यूं सराहा

‘इंपैक्‍ट पर्सन ऑफ द ईयर 2020’ अवॉर्ड समारोह की मुख्य अतिथि केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी थीं। इस मौके पर उनका भाषण छोटा मगर काफी सारगर्भित और प्रभावशाली था।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 04 December, 2021
Last Modified:
Saturday, 04 December, 2021
smriti54554

एक्सचेंज4मीडिया ग्रुप ने गुरुवार को ‘आईटीसी लिमिटेड’ (ITC Limited) के चेयरमैन और एमडी संजीव पुरी को को ‘इंपैक्‍ट पर्सन ऑफ द ईयर 2020’ (IMPACT Person of the Year 2020) अवॉर्ड से सम्मानित किया। कार्यक्रम का आयोजन दिल्ली के ‘द इंपीरियल’ होटल में किया गया।  इस कार्यक्रम में मीडिया, मार्केटिंग और एडवर्टाइजिंग के क्षेत्र  के कुछ सबसे बड़े नाम शामिल थे। समारोह की मुख्य अतिथि केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी थीं।

इस मौके पर स्मृति ईऱानी का भाषण छोटा मगर काफी सारगर्भित और प्रभावशाली था। उन्होंने प्रत्येक भारतीय की उपलब्धियों खासकर महिला लीडर्स के जज्बे को सलाम करते हुए इस अवॉर्ड के लिए नॉमिनेट हुईं ‘Nykaa’ की सीईओ और फाउंडर फाल्गुनी नायर और ‘Publicis Groupe’ की सीईओ (साउथ एशिया) अनुप्रिया आचार्य की काफी सराहना की। उन्होंने कहा कि महिलाओं में काफी क्षमता है और उन्हें सफल होने अथवा अपने काम को पहचान दिलाने के लिए किसी के अहसान की जरूरत नहीं है।

उन्होंने कहा, ‘हम समय की रेत में अपनी स्थिति की तलाश करती हैं, इसलिए नहीं कि हम दोयम दर्जे की हैं। हम ऐसा इसलिए करती हैं क्योंकि हम सम्मानित महिलाएं हैं। हम प्रोफेशनल रूप से काम करने वाली महिलाएं हैं और हम ऐसी महिलाएं हैं जो हर एक से अलग हैं। इसलिए अगले साल जब महिला नॉमिनीज का मूल्यांकन किया जाए तो इस बात का भी ध्यान रखा जाए, क्योंकि आज इस प्रतिष्ठित अवॉर्ड के लिए नामित हुईं ये दोनों महिलाएं नारी शक्ति का प्रतिबिंब हैं।’

यह कहते हुए कि वह पुरुष विरोधी मानसिकता का हिस्सा नहीं हैं, ईरानी ने कहा, ‘मेरा मानना है कि हमारा राष्ट्र इसलिए समृद्ध है, क्योंकि हमारी (महिलाओं की) भी इसमें भागीदारी है। हम इस साल आजादी की 75वीं वर्षगांठ मना रहे हैं और दुनिया में हम ही अकेले ऐसे राष्ट्र हैं, जिन्होंने तमाम लड़ाइयां लड़ीं, लेकिन एक स्वतंत्र लोकतंत्र के लिए अहिंसा के रास्ते पर चले। लेकिन इन सारी लड़ाइयों में उस लड़ाई को भी कभी नहीं भूला जा सकता है, जिसमें एक महिला ने अपनी पीठ पर बच्चे को बांधा और घोड़े पर चढ़कर अपने दुश्मनों के खिलाफ तलवार उठाई, क्योंकि उसके पीछे कई पुरुष थे। लोककथाओं और इतिहास में, उन्हें झांसी की रानी के रूप में जाना जाता है, लेकिन भारत को ऐसी तमाम महिलाओं के होने का सौभाग्य प्राप्त है और यह ऐसा होना जारी है। आज के समारोह में इसे देखा भी जा सकता है, जिसमें भी महिलाओं ने अपनी दमदार मौजूदगी दर्ज कराई है।’

प्रतिष्ठित पुरस्कार के लिए नामांकित व्यक्तियों की प्रशंसा करते हुए स्मृति ईरानी ने कहा, ‘जैसा कि हम सब यहां ‘इम्पैक्ट पर्सन ऑफ द ईयर’ का जश्न मनाने के लिए एकत्रित हुए हैं। ऐसे समय में जब दुनिया एक महामारी से घिरी हुई है, मैं हर एक भारतीय नागरिकों की हिम्मत का जश्न मनाना चाहती हूं।

उन्होंने कहा, ‘जब महामारी ने भारत के दरवाजे पर दस्तक दी, तो पूरी दुनिया ने इस बात पर चिंता जाहिर की, यहां के अरबों लोग कैसे सर्वाइव करेंगे। ग्लोबल कारपोरेशंस व बड़े-बड़े सीईओ ने अपने सहयोगियों के साथ इस बात पर चिंता व्यक्त की कि हम अपने गरीबों को कैसे खिलाएंगे। लेकिन हम अपने करदाताओं का धन्यवाद देते हैं, जिनके पैसे की बदौलत ही सरकार 19 महीने तक लिए 800 मिलियन लोगों को मुफ्त भोजन उपलब्ध कराने में सक्षम रही। अब तक 125 करोड़ टीके वितरित किए गए। शुरुआत में हमने पीपीई किट को आयात किया, लेकिन अब हम पीपीई किट के मामले में दुनिया के दूसरे सबसे बड़े निर्यातक बन गए हैं और अब 11,000 से ज्यादा कारखानों से इसका प्रॉडक्शन हो रहा है। महामारी के तीन महीने के भीतर ही हम ऐसा कर पाने में सफल रहे। यह हर भारतीय की कोशिशों का ही नतीजा है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

TV रेटिंग्स सिस्टम को अधिक पारदर्शी बनाने के लिए संसदीय समिति ने दिए ये सुझाव

कांग्रेस सांसद शशि थरूर की अध्यक्षता वाली सूचना एवं प्रौद्योगिकी संबंधी संसद की स्थायी समिति ने पिछले दिनों उठे टीआरपी से छेड़छाड़ के मुद्दे की ओर भी सूचना प्रसारण मंत्रालय का ध्यान आकर्षित किया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 03 December, 2021
Last Modified:
Friday, 03 December, 2021
TV Viewership

कांग्रेस सांसद शशि थरूर की अध्यक्षता वाली सूचना एवं प्रौद्योगिकी संबंधी संसद की स्थायी समिति ने सूचना प्रसारण मंत्रालय (MIB) से सिफारिश की है कि बार्क इंडिया (BARC India) के तहत वर्तमान में टीवी व्युअरशिप मापने के लिए जो सिस्टम बना हुआ है, वह शहरी क्षेत्रों (urban areas) की ओर भारी पक्षपातपूर्ण है। इसके साथ ही समिति ने सूचना प्रसारण मंत्रालय से शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों को समान रूप से महत्व देकर व्युअरशिप मीजरमेंट सिस्टम को और अधिक पारदर्शी बनाने के लिए भी कहा है।

'Ethical Standards in Media Coverage' शीर्षक से लिखी अपनी रिपोर्ट में कमेटी ने लिखा है, ‘कमेटी ने पाया है कि मौजूदा टीआरपी सिस्टम शहरी क्षेत्रों के प्रति अति पक्षपातपूर्ण है यानी इसमें शहरी क्षेत्रों को ज्यादा महत्व दिया जाता है। ऐसे में सैंपल साइज बढ़ाते हुए ग्रामीणों और शहरी क्षेत्रों को समान रूप से महत्व देकर मीजरमेंट सिस्टम में बदलाव किए जाने की जरूरत है।’

यह उल्लेख करते हुए कि बार्क इंडिया का सैंपल साइज 44000 घर (households) हैं, कमेटी ने सुझाव दिया कि डिजिटल युग में आमतौर  पर जनगणना आधारित मीजरमेंट होता है। कम सैंपल साइज की समस्या को दूर करने के लिए कमेटी ने सुझाव दिया कि घरों में लगे सेट टॉप बॉक्स द्वारा रिटर्न पाथ डाटा (RPD) को काम में लाया जा सकता है। गूगल अथवा फेसबुक इसे पूरे बोर्ड में मापते हैं  और वहां सभी को मापा जाता है न कि केवल एक सैंपल। हालांकि, टेलीविजन पर, चुनौतियां हैं, क्योंकि इस तरह की रेटिंग के लिए रिटर्न-पाथ डाटा और सेट-टॉप बॉक्स की आवश्यकता होती है। प्रत्येक सेट-टॉप बॉक्स में उपयोग को मापना होता है, लेकिन इसमें प्राइवेसी के मुद्दे होंगे। यह इसे एक जटिल मामला बनाता है, लेकिन विश्व स्तर पर कुछ पायलट परियोजनाएं संचालित की जा रही हैं।

कमेटी ने इस तथ्य की ओर भी ध्यान खींचा है कि भारत में ‘टाटा स्काई’ और ‘एयरटेल’ जैसे कुछ ऑपरेटर्स अपने सेट टॉप बॉक्स के द्वारा इसे मापते हैं, लेकिन वे अपने डाटा को बार्क के साथ शेयर नहीं करते हैं। हालांकि, करीब 80 प्रतिशत परिवारों में सेट टॉप बॉक्स का इस्तेमाल होता है।  

कमेटी ने यह भी कहा कि वह टीआरपी मापने की मौजूदा व्यवस्था से संतुष्ट नहीं है। इसके साथ ही कमेटी ने पिछले दिनों उठे टीआरपी से छेड़छाड़ के मुद्दे की ओर भी सूचना प्रसारण मंत्रालय का ध्यान आकर्षित किया है। कमेटी के अनुसार, ‘इसने वर्तमान प्रणाली की निष्पक्षता, सटीकता, प्रभावशीलता और पारदर्शिता पर एक बड़ा प्रश्न चिह्न लगाया है और स्पष्ट रूप से इंगित करता है कि कैसे कुछ चैनल्स द्वारा बार्क अधिकारियों के साथ मिलकर रेटिंग्स में हेरफेर की जा सकती है।’

प्रणाली को अधिक पारदर्शी और जवाबदेह बनाने के लिए समिति ने सुझाव दिया कि मंत्रालय को टीआरपी प्रणाली में अपनाई गई वैश्विक प्रथाओं (global practices) का अध्ययन करना चाहिए, जिसमें सेट टॉप बॉक्स में गोपनीयता के मुद्दों का समाधान खोजने की संभावना भी शामिल है।

इसकके साथ ही सूचना प्रसारण मंत्रालय से चार सदस्यीय समिति की रिपोर्ट पेश करने के लिए भी कहा गया है, जो मौजूदा टीवी रेटिंग गाइडलाइंस की समीक्षा के लिए बनाई गई थी। कमेटी के अनुसार, ‘सरकार ने बार्क की जांच के लिए एक समिति का गठन किया है। कमेटी चाहती है कि सरकार द्वारा गठित बार्क जांच समिति की रिपोर्ट को जांच के लिए उनके सामने रखा जाना चाहिए।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

तस्वीरों में देखें ‘इंपैक्‍ट पर्सन ऑफ द ईयर 2020’ अवॉर्ड समारोह की झलकियां

एक्सचेंज4मीडिया ग्रुप ने गुरुवार को ‘आईटीसी लिमिटेड’ (ITC Limited) के चेयरमैन और एमडी संजीव पुरी को को ‘इंपैक्‍ट पर्सन ऑफ द ईयर 2020’ अवॉर्ड से सम्मानित किया।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 03 December, 2021
Last Modified:
Friday, 03 December, 2021
ipoy2020

एक्सचेंज4मीडिया ग्रुप ने गुरुवार को ‘आईटीसी लिमिटेड’ (ITC Limited) के चेयरमैन और एमडी संजीव पुरी को को ‘इंपैक्‍ट पर्सन ऑफ द ईयर 2020’ (IMPACT Person of the Year 2020) अवॉर्ड से सम्मानित किया। कार्यक्रम का आयोजन दिल्ली के ‘द इंपीरियल’ होटल में किया गया।  इस कार्यक्रम में मीडिया, मार्केटिंग और एडवर्टाइजिंग के क्षेत्र  के कुछ सबसे बड़े नाम शामिल थे। समारोह की मुख्य अतिथि केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी थीं।

यहां देखिए कैमरे में कैद कार्यक्रम की कुछ झलकियां-

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

Viacom18 में इस बड़े पद पर हुई मंदार नाईक की एंट्री

इस नियुक्ति से पहले नाईक ‘सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया’ (SPNI) मंं सीनियर मैनेजर (स्ट्रैटेजिक, प्लानिंग और रिसर्च) की भूमिका निभा रहे थे।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 03 December, 2021
Last Modified:
Friday, 03 December, 2021
Mandar Naik

मीडिया नेटवर्क ‘वायकॉम18’ (Viacom18) ने मंदार नाईक (Mandar Naik) को डायरेक्टर (रेवेन्यू स्ट्रैटेजी और प्लानिंग) के पद पर नियुक्त किया है।

इस भूमिका में वह ‘वायकॉम18’ के पूरे हिंदी एंटरटेनमेंट क्लस्टर के लिए रेवेन्यू स्ट्रैटेजी, चैनल बजट, मूल्य निर्धारण और बिजनेस प्लानिंग को संभालेंगे। वह ‘वायकॉम18’ की वाइस प्रेजिडेंट (सेल्स प्लानिंग) रिद्धि शाह को रिपोर्ट करेंगे, जिनके पास नेटवर्क के पूरे हिंदी एंटरटेनमेंट क्लस्टर की सेल्स प्लानिंग स्ट्रैटेजी की जिम्मेदारी है।

इस नियुक्ति से पहले नाईक ‘सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया’ (SPNI) में सीनियर मैनेजर (स्ट्रैटेजिक, प्लानिंग और रिसर्च) की भूमिका निभा रहे थे। मंदार नाईक को करीब 14 साल का अनुभव है। पूर्व में वह ‘स्टार इंडिया’,  ‘नील्सन’ औऱ ‘मैकडोनाल्ड्स’ के साथ भी काम कर चुके हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

Twitter के नए सीईओ पराग अग्रवाल ने एम्प्लॉयीज को लिखा ईमेल, कही ये बात

भारतीय मूल के पराग अग्रवाल को पिछले दिनों माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ‘ट्विटर’ (Twitter) का नया सीईओ नियुक्त किया गया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 03 December, 2021
Last Modified:
Friday, 03 December, 2021
Parag Agarwal

भारतीय मूल के पराग अग्रवाल को माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ‘ट्विटर’ (Twitter) का नया सीईओ नियुक्त किया गया है। इस सोशल मीडिया कंपनी के सह-संस्थापक जैक डॉर्सी (Jack Dorsey) द्वारा सोमवार को कंपनी के सीईओ के पद से इस्तीफा देने के बाद पराग अग्रवाल को यह जिम्मेदारी दी गई है।  

‘आईआईटी बॉम्बे’ और अमेरिका की ‘स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी’ के छात्र रहे पराग अग्रवाल ने सीईओ के पद पर अपनी नियुक्ति के बाद डॉर्सी और सभी एम्प्लॉयीज को लिखकर कहा है कि वह काफी सम्मानित महसूस कर रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने निरंतर सलाह और दोस्ती के लिए डॉर्सी का आभार जताया है।  

अपने इस ईमेल की इमेज को पराग ने ट्विटर पर शेयर किया है। इस ईमेल में उन्होंने लिखा है, ‘मुझमें और मेरे नेतृत्व में भरोसा जताने के लिए बोर्ड को धन्यवाद कहना चाहता हूं। जैक की लगातार मेंटरशिप, सहयोग और भागीदारी के लिए मैं उनका आभारी हूं। जैक डोर्सी के नेतृत्व में कंपनी ने जो उपलब्धियां हासिल की हैं, मैं उनको आगे बढ़ाने के लिए तैयार हूं। इस समय पूरी दुनिया हमें देख रही है। आज के इस समाचार को लेकर लोग अलग-अलग विचार प्रदर्शित करेंगे। ऐसा इसलिए क्योंकि वो ट्विटर और हमारे भविष्य की परवाह करते हैं। यह इसका संकेत है कि हमारे काम का महत्व है। आइए दुनिया को ट्विटर की पूरी क्षमताएं दिखाएं।

इसके साथ ही ईमेल में उन्होंने लिखा है, ‘टीम, सबसे बढ़कर मैं आप सभी के लिए आभारी हूं। आप ही हमारे भविष्य में एक साथ विश्वास को प्रेरित करते हैं। मैं 10 साल पहले इस कंपनी में शामिल हुआ था, जब 1,000 से कम एम्प्लॉयी थे।  हालांकि, यह एक दशक पहले की बात है, लेकिन मुझे लगता है कि जैसे यह कल की ही बात हो। इस दौरान मैंने आपके साथ चलते हुए तमाम उतार-चढ़ाव, चुनौतियां, गलतियां और जीत सब देखी हैं। लेकिन तब और अब से आगे बढ़कर मैं ट्विटर के अविश्वसनीय प्रभाव, हमारी निरंतर प्रगति और हमारे सामने रोमांचक अवसरों को देखता हूं।’

पराग अग्रवाल ने इस ईमेल में यह भी लिखा है, ‘हमारे लोग और हमारी संस्कृति दुनिया में किसी भी चीज से अलग है। हम एक साथ मिलकर क्या कर सकते हैं, इस की कोई सीमा ही नहीं है। हमने हाल ही में महत्वाकांक्षी लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए अपनी स्ट्रैटेजी को अपडेट किया है और मेरा मानना ​​है कि स्ट्रैटेजी साहसिक और सही होनी चाहिए। लेकिन हमारी महत्वपूर्ण चुनौती यह है कि हम कैसे इस काम को अंजाम देते हैं और परिणाम देते हैं। इसी तरह हम ट्विटर को अपने कस्टमर्स, शेयरधारकों और आप में से प्रत्येक के लिए सबसे अच्छा बना सकते हैं।’

बता दें कि पराग ने आईआईटी बॉम्बे से ग्रेजुएशन की पढ़ाई की है। इसके अलावा उन्होंने अमेरिका की स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से कंप्यूटर साइंस में पीएचडी की है। पराग ने करीब दस साल पहले ‘ट्विटर’ को जॉइन किया था। वर्ष 2017 से वह कंपनी में चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर के पद पर अपनी जिम्मेदारी संभाल रहे थे। इससे पहले वह ‘याहू‘ और ‘माइक्रोसॉफ्ट‘ जैसी दिग्गज कंपनियों के साथ काम कर चुके हैं।

ट्विटर पर शेयर किए गए पराग अग्रवाल के ईमेल को आप यहां पढ़ सकते हैं।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

कई दिग्गजों को पीछे छोड़ इन्हें मिला ‘IMPACT Person Of The Year 2020' का अवॉर्ड

एक्संचेंज4मीडिया समूह द्वारा मीडिया, मार्केटिंग और एडवर्टाइजिंग के क्षेत्र में बेहतरीन योगदान देने और ऊंचाइयों को छूने वालों को हर साल यह प्रतिष्ठित अवॉर्ड दिया जाता है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 03 December, 2021
Last Modified:
Friday, 03 December, 2021
Sanjiv Puri

‘इंपैक्‍ट पर्सन ऑफ द ईयर 2020’ (IMPACT Person of the Year 2020) अवॉर्ड के विजेता के नाम से पर्दा उठ गया है। इस साल यह अवॉर्ड ‘आईटीसी लिमिटेड’ (ITC Limited) के चेयरमैन और एमडी संजीव पुरी को दिया गया है। केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी के मुख्य आतिथ्य में दिल्ली के ‘द इंपीरियल’ होटल में दो दिसंबर को शाम करीब छह बजे से आयोजित होने वाले एक समारोह में यह अवॉर्ड दिया गया। यह पहला मौका था, जब यह अवॉर्ड समारोह दिल्ली में आयोजित किया गया।

बता दें कि एक्‍सचेंज4मीडिया (exchange4media) ग्रुप द्वारा मीडिया, मार्केटिंग और एडवर्टाइजिंग के क्षेत्र में बेहतरीन योगदान देने और ऊंचाइयों को छूने वालों को हर साल यह अवॉर्ड दिया जाता है। ‘इंपैक्ट पर्सन ऑफ द ईयर अवॉर्ड’ वर्ष 2005 में शुरू हुआ था। यह इस अवॉर्ड का 16वां एडिशन था।

संजीव पुरी को यह अवॉर्ड 100 साल पुरानी कंपनी को समय के साथ बदलने, इसे स्थिरता प्रदान करने और मजबूत बनाने, डिजिटल रूप से केंद्रित बनाने और देश की तेजी से बढ़ती एफएमसीजी (FMCG) कंपनियों की लिस्ट में शुमार करने के लिए दिया गया है।

‘ITC’ के चेयरमैन के रूप में कार्यभार संभालने के बाद संजीव पुरी ने FMCG बिजनेस की विकासशील श्रेणियों को भविष्य के लिए पुनर्जीवित किया। महामारी के दौरान ‘ITC’ ने विशेष रूप से हाइजीन सेगमेंट (Hygiene segment) में 120 प्रॉडक्ट्स की एक रिकॉर्ड संख्या लॉन्च की, जो समय की जरूरत थी और यह इसमें सफल भी रहा। वित्तीय वर्ष 2017 (FY17) से वित्तीय वर्ष 2020 (FY20) तक शीर्ष भूमिका संभालने के बाद से तीन वर्षों के दौरान ‘ITC’ की प्रति शेयर आय में 47 प्रतिशत तक की वृद्धि हुई। इस समय अवधि में एफएमसीजी से इसका रेवेन्यू 10 हजार करोड़ रुपये से बढ़कर 15 हजार करोड़ रुपये हो गया।

इस साल इस अवॉर्ड के लिए नॉमिनेट होने वालों में ‘Zomato’ के फाउंडर और सीईओ दीपिंदर गोयल, ‘Nykaa’ की सीईओ और फाउंडर फाल्गुनी नायर, ‘Publicis Groupe’ की सीईओ (साउथ एशिया) अनुप्रिया आचार्य, ‘Dream 11’ के को-फाउंडर्स हर्ष जैन और भावित सेठ, ‘Nazara Technologies’ के फाउंडर और जॉइंट एमडी नीतीश मित्रसेन, ‘Swiggy’ के को-फाउंडर्स राहुल जैमिनी, श्रीहर्ष मजेटी और नंदन रेड्डी, ‘upGrad’ के चेयरपर्सन और को-फाउंडर रोनी स्क्रूवाला और ‘Amul’ के एमडी (GCMMF) आर.एस सोढ़ी भी शामिल थे।

इससे पहले यह अवॉर्ड ‘Byju’s’ के फाउंडर और सीईओ बायजू रवींद्रन, ‘Google India’ के पूर्व एमडी राजन आनंदन, ‘Patanjali Ayurved‘ के बाबा रामदेव, ‘Paytm‘ के फाउंडर और सीईओ विजय शेखर शर्मा, ‘Times Now और ET Now’ के पूर्व प्रेजिडेंट और एडिटर-इन-चीफ अरनब गोस्वामी, ‘Zee Entertainment Enterprises Ltd‘ के एमडी और सीईओ पुनीत गोयनका, ‘Times Group‘ के एमडी विनीत जैन, पूर्व सूचना-प्रसारण मंत्री अंबिका सोनी, ‘Taproot India‘ के फाउंडर एजनेलो डायस, ‘Network18 और Viacom18‘ के पूर्व ग्रुप सीईओ हरीश चावला, ‘Star India‘ के पूर्व सीईओ उदय शंकर, ‘Network18’ के फाउंडर राघव बहल और ‘CNN-IBN‘ के पूर्व एडिटर-इन-चीफ राजदीप सरदेसाई को मिल चुका है।

‘इंपैक्ट पर्सन ऑफ द ईयर 2020 अवॉर्ड’ ‘एबीपी नेटवर्क’ द्वारा प्रजेंटेड था। इसमें ‘Zee5-Dekhtey Reh Jaogey’ ने को-पावर्ड की भूमिका निभाई और को-गोल्ड पार्टनर्स ‘डिस्कवरी प्लस’ और  ‘द हिंदू बिजनेस लाइन’ थे।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

संसद में पत्रकारों की एंट्री सीमित करने पर एकजुट हुए पत्रकार, निकाला मार्च

कोविड के नाम पर संसद भवन परिसर में पत्रकारों की गतिविधियों को सीमित करने को लेकर गुरुवार को तमाम पत्रकार राजधानी दिल्ली की सड़कों पर उतर आए।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 02 December, 2021
Last Modified:
Thursday, 02 December, 2021
journalist54454

कोविड के नाम पर संसद भवन परिसर में पत्रकारों की गतिविधियों को सीमित करने को लेकर गुरुवार को तमाम पत्रकार राजधानी दिल्ली की सड़कों पर उतर आए। देशभर के प्रिंट और टीवी मीडिया के पत्रकारों ने गुरुवार को सरकार के खिलाफ  प्रेस क्लब से संसद भवन तक पैदल मार्च निकाला। इस मार्च में देशभर के कई नामचीन पत्रकार शामिल रहे।

पत्रकारों ने कहा कि स्वतंत्र मीडिया के बिना लोकतंत्र संभव नहीं है और इसलिए संसद भवन में पत्रकारों की एंट्री सुनिश्चित की जाए। 

इस मार्च से पहले पत्रकारों ने प्रेस क्लब ऑफ इंडिया के दफ्तर में पत्रकारों के संगठनों की एक बैठक हुआ, जिसमें प्रेस क्लब ऑफ इंडिया, एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया, प्रेस एसोसिएशन, इंडियन वुमेन्स प्रेस कोर, दिल्ली पत्रकार संघ और वर्किंग न्यूज कैमरामैन एसोसिएशन के पदाधिकारी शामिल रहे।

प्रेस क्लब के अध्यक्ष उमाकांत लखेड़ा का कहना है कि सरकार ने संसद की वास्तविक खबरों को बाहर न आने देने के लिए पत्रकारों के संसद की कार्यवाही कवर करने पर रोक लगा रखी है और केवल चुनिन्दा संगठनों के पत्रकारों को पास दे रही है।

पत्रकार संगठनों की यह भी मांग है कि लंबे समय तक संसद कवर करनेवाले पत्रकारों के विशेष स्थायी पास फिर से दिया जाए। जो उनके पेशे की गरिमा और सम्मान के अनुरूप है। फिलहाल सरकार ने इस पर भी रोक लगा रखी है। साथ ही जिन पत्रकारों को सत्र की पूरी अवधि के लिए जो पास बनते थे, उनके लिए भी पहले की तरह पास बनाएं जाएं ताकि वे सदन की कार्यवाही कवर कर सकें।

पत्रकारों ने यह भी मांग की है कि संसद के दोनों सदनों की प्रेस सलाहकार समितियों का नए सिरे से गठन किया जाए, क्योंकि दो साल से उनका गठन नहीं हुआ है। 

वहीं बुधवार को राज्य सभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने इस मामले में एक पत्र लिखते हुए सभापति एम. वेंकैया नायडू से हस्तक्षेप की मांग की है। खड़गे ने अपने पत्र में कहा कि संसद का यह लगातार पांचवां सत्र है, जब कुछ पत्रकारों और मीडिया संगठनों को ही संसद भवन परिसर में प्रवेश करने और सीमित पत्रकारों को ही सदनों की कार्यवाही की रिपोर्टिंग की अनुमति दी जा रही है। इसके साथ ही वरिष्ठ पत्रकारों का केंद्रीय कक्ष में प्रवेश पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। पत्रकारों को सांसदों से बातचीत करने से रोका जा रहा है। पत्रकारों को लोकतंत्र के इस मंदिर में मनमाने प्रतिबंधों का सामना करना पड़ रहा है।

विपक्ष के नेता ने कहा कि सत्र के दौरान की राजनीति की नब्ज संसद में होती है और मीडिया ने हमेशा देशवासियों को संसद में चल रहे ज्वलंत मुद्दों से अवगत कराया है। उन्होंने कहा कि संसद में कोविड मानकों का पालन होना चाहिए लेकिन पत्रकारों को केंद्रीय कक्ष और पुस्तकालय तथा अन्य प्रमुख स्थानों पर जाने से रोका जाना स्वीकार्य नहीं है। पत्रकारों को अपने कर्तव्य पालन से रोका नहीं जाना चाहिए।

उन्होंने कहा, ‘आपसे अनुरोध है कि इस मामले में हस्तक्षेप करें जिससे पत्रकार प्रतिबंधों से पूर्व की भांति अपने कर्तव्यों का पालन कर सकें।’

वहीं गुरुवार को टीएमसी ने संसद में मीडिया को प्रतिबंधित करने के मुद्दे पर अपनी आवाज बुलंद की। पार्टी ने संसद की कार्यवाही को कवर करने के लिए मीडिया को सभी सुविधाएं तत्काल बहाल करने का आह्वान किया। पार्टी ने एक बयान में इस कदम की निंदा करते हुए कहा कि इस तरह का प्रतिबंध लोकतंत्र की भावना के खिलाफ है। 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

प्रसार भारती में वित्त विभाग के सदस्य बने डी.पी.एस. नेगी

वरिष्ठ अधिकारी डी.पी.एस. नेगी को प्रसार भारती में वित्त विभाग के सदस्य के तौर पर नियुक्ति किया गया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 02 December, 2021
Last Modified:
Thursday, 02 December, 2021
DPSNegi655

वरिष्ठ अधिकारी डी.पी.एस. नेगी को प्रसार भारती में वित्त विभाग के सदस्य के तौर पर नियुक्ति किया गया है। बुधवार को उन्होंने अपना पदभार संभाल लिया है।

एक आधिकारिक बयान में कहा गया कि 1985 बैच के भारतीय आर्थिक सेवा के पूर्व अधिकारी नेगी को सूचना और प्रसारण मंत्रालय की अधीनस्थ इकाई प्रसार भारती में सदस्य (वित्त) नियुक्त किया गया है।

हिमाचल प्रदेश के सोलन डिग्री कालेज से अपनी स्नातकोत्तर की परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले आईएएस अधिकारी डीपीएस नेगी मूल रूप से हिमाचल के किन्नौर जिले के रहने वाले हैं। इससे पहले वह श्रम और रोजगार मंत्रालय में प्रमुख सलाहकार थे और 30 नवंबर, 2021 को सेवानिवृत्त हुए। वह मुख्य श्रम आयुक्त (केंद्रीय) का पूर्णकालिक पदभार भी संभाल रहे थे।

उनकी ईमानदार छवि व कार्यकुशलता को देखते हुए तुरंत प्रभाव से उन्हें प्रसार भारती में महत्त्वपूर्ण ओहदा मिल गया है। अपने 36 साल के शानदार करियर में नेगी को कई पुरस्कारों से सम्मानित किया गया।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

NDTV ने 10 साल के लिए इस कंपनी के साथ की 750 करोड़ रुपये की विशेष डील

माना जा रहा है दोनों के बीच करीब 750 करोड़ की यह डील न सिर्फ डिजिटल कंटेंट, बल्कि पूरे मीडिया में हुईं सबसे बड़ी डील में से एक है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 02 December, 2021
Last Modified:
Thursday, 02 December, 2021
NDTV

'एनडीटीवी' (NDTV) ग्रुप से एक बड़ी खबर निकलकर सामने आई है। दरअसल, ग्रुप की डिजिटल शाखा एनडीटीवी कंवर्जेंस (NDTV Convergence) ने दुनिया के सबसे बड़े कंटेंट डिस्कवरी प्लेटफॉर्म 'तबूला' (Taboola) के साथ दस साल के लिए डील की है। माना जा रहा है दोनों के बीच करीब 750 करोड़ की यह डील न सिर्फ डिजिटल कंटेंट, बल्कि पूरे मीडिया में हुईं सबसे बड़ी डील में से एक है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, दशक भर की यह डील ट्रैफिक में बढ़ोत्तरी सहित पारस्परिक रूप से निर्धारित अनुमानों पर आधारित है। 10 साल की अवधि के विभिन्न चरणों के लिए निर्धारित लक्ष्यों को पूरा करने पर ‘एनडीटीवी कंवर्जेंस‘ को तबूला की ओर से 750 करोड़ रुपये या 100 मिलियन डॉलर का राजस्व हासिल हो सकता है।

यह डील ‘एनडीटीवी कंवर्जेंस‘ को पर्सनलाइज्‍ड कंटेंट रिकमेंडेशंस, एडिटोरियल प्‍लानिंग, मॉनिटाइजेशन और ग्रोथ स्‍ट्रैटेजी के लिए ‘तबूला‘ के पूरे पोर्टफोलियो तक तत्काल पहुंच उपलब्‍ध कराती है।

इस डील के बारे में ‘एनडीटीवी’ की ग्रुप प्रेजिडेंट सुपर्णा सिंह का कहना है, ‘तबूला हमारे बिजनेस की एक महत्वपूर्ण आधारशिला रही है। हम उनके साथ अपने सात साल लंबे जुड़ाव को महत्वपूर्ण मानते हैं, क्योंकि वे लगातार स्वतंत्र पत्रकारिता के लिए अपना समर्थन प्रदर्शित करते हैं। तबूला के टूल्स, जिन्हें हम अपने न्यूजरूम में इस्तेमाल करते हैं, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (एआई) और नई तकनीक का सबसे अच्छा उपयोग करते हैं, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि हमारे कंटेंट में पाठकों के लिए और अधिक जानने व सीखने के लिए तमाम विकल्प हों।’

वहीं, ‘तबूला‘ के फाउंडर और सीईओ एडम सिंगलोडा (Adam Singolda) ने ‘एनडीटीवी‘ को वर्ष 2014 से एक सच्चा पार्टनर बताया है। उनका कहना है, ‘उन्होंने दिखा दिया है कि वे ‘एनडीटीवी‘ को शीर्ष पर बनाए रखने के लिए किस तरह लगातार प्रयास में जुटे हुए हैं।’ बता दें कि इससे पहले एनडीटीवी कंवर्जेंस ने वर्ष 2018 में तबूला के साथ पांच साल के लिए डील की थी। यह डील 300 करोड़ रुपये से ज्यादा में हुई थी।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए