ऐसे होते हैं इंटरव्यू,क्या आपने देखा दिबांग संग राहुल गांंधी का ये इंटरव्यू

पश्चिम बंगाल के पुरुलिया में एक रैली के दौरान राहुल ने पत्रकारों के सवालों के लिए समय निकाला

Last Modified:
Wednesday, 08 May, 2019
Rahul-dibang

कोई भी इंटरव्यू सार्थक या कहें कि रोचक तभी बनता है, जब उसमें तीखे सवालों और बेवाक जवाबों का मिश्रण हो। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अब तक कई इंटरव्यू सामने आ चुके हैं, लेकिन उनमें से केवल कुछ में ही यह मिश्रण देखने को मिला। इसके अलावा एनडीटीवी पर प्रसारित राहुल गांधी के पहले एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में भी इसकी महज झलक ही नज़र आई, लेकिन एबीपी न्यूज़ ने इस कमी को काफी हद तक भरने की कोशिश की है।

चैनल के वरिष्ठ पत्रकार दिबांग और सुमन डे ने राहुल गांधी से कई तीखे सवाल पूछे और राहुल ने उतनी ही बेवाकी से उनका जवाब दिया। पश्चिम बंगाल के पुरुलिया में एक रैली के दौरान राहुल ने पत्रकारों के सवालों के लिए समय निकाला और तपती धूप में शुरू हुआ सवाल-जवाब का सिलसिला हर पल रोचक होता चला गया। दिबांग के सवालों में जहां उनका अनुभव झलक रहा था, वहीं राहुल के जवाब में उनकी परिपक्वता। कांग्रेस अध्यक्ष के बारे में अक्सर कहा जाता है कि वह प्रश्न को समझे बिना ही उत्तर दे जाते हैं, लेकिन इस इंटरव्यू में ऐसा कुछ भी देखने को नहीं मिला। राहुल ने हर सवाल और उसकी गंभीरता को समझा और उसी के अनुरूप ऐसा जवाब तैयार किया, जिसकी अपेक्षा केवल मंझे हुए राजनीतिज्ञ से ही की जा सकती है।

दिबांग ने इंटरव्यू की शुरुआत गठबंधन से करने के बजाय एक ऐसे सवाल से की, जिसे नरेंद्र मोदी ने हवा दी है। उन्होंने पूछा, ‘चुनाव के पांच चरण हो चुके हैं। अब प्रधानमंत्री कह रहे हैं कि अगले दो चरण हम राजीव गांधी के मान-सम्मान पर क्यों न चुनाव लड़ लें। एक चुनौती दे रहे हैं, क्या आप इस चुनौती के लिए तैयार हैं?’ इस सवाल का जवाब राहुल के लिए आसान नहीं था, क्योंकि यदि वह अपने पिता के बचाव में कोई दलील देते, तो भाजपा को उन्हें निशाना बनाने का एक और मौका मिल जाता और यदि ठोस जवाब नहीं देते तो जनता के बीच गलत संदेश जाता। इसलिए उन्होंने ऐसा रास्ता चुना, जो उतना ही मारक है, लेकिन बिना किसी शाब्दिक हिंसा के।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘चुनौती का जवाब दे दिया है। मैंने कहा है कि नरेंद्र मोदी मेरी ओर जो भी नफरत फेकेंगे, मैं वापस प्यार फेकूंगा। मेरा रिस्पॉन्स प्यार है, उनका रिस्पॉन्स नफरत है। जो उनके दिल में है वो देंगे  और जो मेरे दिल में है, मैं दूंगा। मोदी घबराए हुए हैं, डरे हुए हैं। चुनाव हारने जा रहे हैं, उनका डर मैं समझता हूं और डर से नफरत पैदा हो रही है।’ दिबांग के बाद सुमन डे ने ऐसा सवाल पूछा, जिसकी चर्चा हर ओर है। उन्होंने कहा, ‘क्या आपको लगता है इस चुनाव में कभी जवाहर लाल नेहरू आपके साथ लड़ रहे हैं,कभी राजीव गांधी आपके साथ लड़ रहे हैं, क्योंकि बहुत सारे मुद्दों पर उन्हें घसीटा जा रहा है। नेहरू की कश्मीर नीति की भी आलोचना हो रही है, बोफोर्स एक बार फिर से उभरकर सामने आ रहा है। क्या आपको लगता है कि सारे पुराने मुद्दे एक बार फिर सामने आ रहे हैं?’ इसका भी राहुल ने बेहद चतुराई से जवाब दिया। वह बोले, ‘देखिए मेरी लड़ाई गरीबी के खिलाफ, किसानों की हालत के खिलाफ, बेरोजगारी के खिलाफ है। मेरी लड़ाई नरेंद्र मोदी जी की विचारधारा से है। उनकी विचारधारा डर की विचारधारा है, नफरत की विचारधारा है। उससे हिंदुस्तान का नुकसान होगा। अब नरेंद्र मोदी जिस प्रकार से लड़ना चाहते हैं वो लड़ें, मैं जिस प्रकार से लड़ना चाहता हूं मैं लड़ूंगा।’

सवालों की कमान एक बार दिबांग के हाथों में आई और उन्होंने एक ऐसा प्रश्न राहुल ने सामने रख दिया, जो उन्हें शाब्दिक हिंसा के लिए प्रेरित कर सकता था, मगर ऐसा हुआ नहीं। दिबांग ने पूछा, ‘आप विपश्यना करते हैं। अकेले आप ही पर हमला नहीं हो रहा है, हमला हो रहा है आपके पिता पर, उन्हें भ्रष्टाचारी नंबर 1 कहा जा रहा है, आपकी मां को कांग्रेस की विधवा कहा जा रहा है। इसका क्या असर होता है?’ जिस पर कांग्रेस अध्यक्ष ने जवाब दिया, ‘देखिए मैं जो बोल रहा हूं वो मैं नहीं बोल रहा, मैं जनता की आवाज सुन रहा हूं और जो जनता बोल रही है मैं उसको दोहरा रहा हूं। वही काम मेरे पिताजी करते थे, वही काम मेरी दादी करती थीं, वही काम हमारी ये सेना करती है, वही काम हिंदुस्तान के किसान करते हैं तो आपको जो भी बोलना है बोलिए, मजे लीजिए। जो भी आपके दिल में आए, जितनी भी आपको मुझे गाली देनी है, दीजिए, मैं सब सह लूंगा।’

सवाल-जवाब का सिलसिला यूं ही आगे बढ़ता गया। दिबांग और सुमन ने राहुल गांधी पर कई तीखे सवाल दागे, लेकिन वह बिना झिझके या अटके बेवाकी से हर सवाल का जवाब देते गए। सुमन ने जब केरल में वामपंथियों के खिलाफ कुछ न बोलने को लेकर सवाल उठाया, तो राहुल ने बड़ी ही सफाई से बात को नरेंद्र मोदी की तरफ मोड़ दिया। इसके बाद दिबांग ने उनके चौकीदार है वाले नारे को राजीव गांधी से जोड़ते हुए कहा, ‘अगर आप ये देखें कि आप नारा लगवाते हैं, आपके पिताजी के बारे में भी यही कहा जाता था, यही शब्द इस्तेमाल होता था। कोर्ट ने उनको बाइज्जत बरी किया। अब अगर आप ऐसे नारे लगवाएंगे…’ सवाल बीच में ही काटते हुए राहुल बोले, ‘मेरे पिता का जो इतिहास है वो पूरा देश जानता है। मेरे पिता शहीद हुए, मेरी दादी शहीद हुईं। इस बारे में मैं बोलता नहीं हूं, मगर नरेंद्र मोदी के दिल में जो नफरत है, वह मेरे लिए नहीं है। नरेंद्र मोदी जी कांग्रेस से नफरत नहीं करते हैं, जवाहर लाल नेहरू, राजीव गांधी से नफरत नहीं करते। नरेंद्र मोदी जी स्वयं नरेंद्र मोदी से नफरत करते हैं। मेरा काम कांग्रेस के नेता होने के नाते उनके दिल से वो नफरत निकालने का है। मैं नरेंद्र मोदी जी के दिल में प्यार डालूंगा।’

एनडीटीवी के पत्रकार श्रीनिवासन की तरह इस इंटरव्यू में भी राफेल पर राहुल सवाल पूछे गए, लेकिन अलग अंदाज़ में। दिबांग ने बस ‘चौकीदार चोर हैं’ का जिक्र किया और राहुल ने राफेल की पूरी कहानी बयां कर डाली। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को खुली बहस की चुनौती देते हुए कहा, ‘प्रोसेस चल रही है, इन्क्वायरी करवाइये साबित हो जाएगा। आप इन्क्वायरी क्यों नहीं करवा रहे हैं। इन्क्वायरी की बात छोड़िये आप मेरे सामने खड़े हो जाइये, आइये। जहां भी आप चाहें। मैंने 15-20 बार चैलेंज दिया है, जहां भी आप चाहें, मैं आ जाऊंगा। रेसकोर्स रोड आ जाऊंगा। आप बुलाएंगे तो आपके ऑफिस आ जाऊंगा। ओपन डिबेट कर लेते हैं। मैं राफेल का मामला उठाता हूं, मैं आपसे 4-5 सवाल पूछूंगा उन सवालों के जवाब आप देश के सामने दे दीजिए।’

इसके बाद दोनों पत्रकारों ने कांग्रेस अध्यक्ष को प्रधानमंत्री के सवाल पर घेरने का प्रयास किया, लेकिन सफल नहीं हुए। यदि भाजपा सत्ता में नहीं आती है तो अगला प्रधानमंत्री कौन होगा, यह सवाल इस वक़्त सबसे बड़ा है और कोई इसका सीधा जवाब नहीं देना चाहता, क्योंकि ऐसा करने पर चुनाव बाद गठबंधन की संभावनाएं प्रभावित हो सकती हैं। इसीलिए राहुल ने भी बड़ी समझदारी से इस सवाल, ‘आपने कहा कि नरेंद्र मोदी चुनाव हार चुके हैं तो क्या आप कह रहे हैं कि अब नया प्रधानमंत्री बनेगा, तो क्या आप प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार हैं?’ के जवाब में कहा, ‘ये तो देश के ऊपर है। मैं कैसे आपसे कह सकता हूं, मेरा काम देश की इंस्टीट्यूशन्स की रक्षा करने का है। मेरा काम देश की आवाज, दर्द को सुनने का है। मैं अपना काम करता हूं। जो निर्णय हिंदुस्तान के लोग लेंगे, वो उनके ऊपर है। मैं कैसे कह सकता हूं, जो हिंदुस्तान की जनता कहेगी उसका मैं पालन करूंगा। वो मालिक है।’ हालांकि, दिबांग ने उन्हें इसी मुद्दे पर फंसाने का दूसरा प्रयास किया, और राहुल को भी यह समझ आ गया। दिबांग ने पूछा कि जो नाम प्रधानमंत्री पद के लिए आ रहे हैं, उसमें ममता बनर्जी, मायावती, शरद पवार, चंद्रबाबू नायडू, इनमें से आपको कौन ज्यादा पसंद है? इस पर कांग्रेस अध्यक्ष ने मुस्कुराते हुए कहा, ‘जैसे मैंने पहले बोला, मेरा लक्ष्य 23 मई तक फुल एनर्जी के साथ भाजपा, संघ, नरेंद्र मोदी को हराने का है। मैं इस बात में आऊगा ही नहीं, क्योंकि मैं जानता हूं कि आप ये डिस्ट्रैक्ट करने के लिए कर रहे हैं। मैं उसमें फसूंगा ही नहीं, जैसे अर्जुन ने आंख देख ली थी, मैंने आंख देख ली है, मैं वहां तीर मारूंगा, और वो तीर निशाने पर जाकर लगेगा।’

बात लौट-घूमकर राहुल की नागरिकता पर भी आई, मगर वहां भी उन्होंने अपनी बेवाकी से सबको प्रभावित कर दिया। जब दिबांग ने पूछा कि 2-3 आरोप जो आप पर लगते हैं, उनमें से नागरिकता वाला एक आरोप है, राहुल जी बार-बार ये सवाल क्यों आ जाता है? इस पर वह बोले, ‘मेरे पिता के बारे में आता है, मेरे बारे में आता है, करिए, आप 5 साल से सरकार में हैं लेकिन नहीं किया आपने, मैं कहता हूं करो। मैं नहीं डरता हूं। मैं सच्चाई पर काम करता हूं, मैं सच्चा आदमी हूं क्या डरना है मुझे।’ इसके अलावा, राहुल के दो सीटों से चुनाव लड़ने, कांग्रेस की ‘न्याय’ योजना और रॉबर्ट वाड्रा पर लगे आरोपों के साथ-साथ कई तीखे सवाल इस इंटरव्यू में राहुल गांधी से पूछे गए।

पूरा इंटरव्यू आप यहां देख सकते हैं-

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

ZEEL को अलविदा कह एमेजॉन प्राइम वीडियो से जुड़ीं विभा चोपड़ा, मिली यह जिम्मेदारी

‘जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लिमिटेड’ की हेड (Global Syndication & International Film Distribution) विभा चोपड़ा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।

Last Modified:
Monday, 19 April, 2021
Vibha Chopra

‘जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लिमिटेड’ (ZEE ENTERTAINMENT ENTERPRISES LTD) की हेड (Global Syndication & International Film Distribution) विभा चोपड़ा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने ‘एमेजॉन प्राइम वीडियो’ (Amazon Prime Video) इंडिया में बतौर कंटेंट अधिग्रहण (content acquisition) जॉइन किया है। ZEEL में अपनी पारी के दौरान विभा कंपनी के ओवरसीज फिल्म और कंटेंट सिंडीकेशन को आगे बढ़ाने का काम कर चुकी हैं।

इस बारे में अपनी लिंक्डइन पोस्ट में विभा चोपड़ा का कहना है, ‘ZEE में मेरा सफर काफी रोमांचक रहा है, जहां मैंने विभिन्न प्रोजेक्ट्स और बेहतरीन लोगों के साथ काम करना और आगे बढ़ना सीखा है। मैं अपने सीनियर्स अमित गोयनका और पुनीत गोयनका को धन्यवाद देती हूं, जिन्होंने मुझ पर भरोसा जताया और विभिन्न जिम्मेदारियां दीं।’

इसके साथ ही विभा चोपड़ा का कहना है, ‘यह घोषणा करते हुए मैं काफी रोमांचित हूं कि मैंने एमेजॉन प्राइम वीडियो, इंडिया जॉइन कर लिया है। अपने जीवन के इस सफर को लेकर मैं काफी उत्साहित हूं और इस ग्लोबल ऑर्गनाइजेशन के साथ काम करने को लेकर काफी उत्सुक हूं।’

बता दें कि वर्ष 2016 में विभा चोपड़ा को ZEEL में हेड (film acquisition and distribution business) की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। वर्ष 2019 में उन्हें अतिरिक्त जिम्मेदारी के तहत ग्लोबल कंटेंट लाइसेंसिंग बिजनेस की कमान सौंपी गई थी। ZEEL के अलावा वह ‘टैम मीडिया’ (TAM Media) और ‘इंडिया टीवी’ (India TV) के साथ भी काम कर चुकी हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

स्टार इंडिया के VP विशाल सोमानी पहुंचे ZEEL, संभालेंगे ये जिम्मेदारी

स्टार इंडिया के वाइस प्रेजिडेंट व सीआईओ विशाल सोमानी ने यहां से विदाई लेकर जी एंटरटेनमेंट (ZEEL) के साथ अपनी नई पारी की शुरुआत की है

Last Modified:
Monday, 19 April, 2021
Vishal54

स्टार इंडिया के वाइस प्रेजिडेंट व सीआईओ विशाल सोमानी ने यहां से विदाई लेकर जी एंटरटेनमेंट (ZEEL) के साथ अपनी नई पारी की शुरुआत की है। उन्हें यहां एंटरप्राइज आईटी का हेड नियुक्त किया गया है। सात वर्षों तक स्टार इंडिया में रहते हुए सोमानी ने कई वरिष्ठ पदों पर काम किया। फरवरी 2014 में वे स्टार इंडिया के साथ बिजनेस सिस्टम्स के वाइस प्रेजिडेंट के तौर पर शामिल हुए थे।

सोमानी को मीडिया व ब्रॉडकास्टिंग और बीएफएसआई डोमेन में दो दशकों का अनुभव है। उन्होंने टीसीएस और टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस में लंबे समय तक काम किया।

ZEEL ने आधिकारिक लिंक्डइन पोस्ट के जरिए सोमानी का स्वागत करते हुए कहा, ‘एंटरप्राइज आईटी के हेड के तौर पर विशाल सोमानी का स्वागत है। उन्हें मीडिया-ब्रॉडकास्टिंग और बीएफएसआई डोमेन में 2 दशकों के अनुभव है। उन्होंने विभिन्न टेक्नोलॉजी का नेतृत्व किया है। हम उनका स्वागत करते हैं और उन्हें नई भूमिका के लिए बधाई देते हैं।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

वरिष्ठ पत्रकार कृष्णा प्रसाद को The Hindu ग्रुप में मिली बड़ी जिम्मेदारी

पूर्व में प्रसाद आउटलुक मैगजीन के एडिटर-इन-चीफ और टाइम्स ऑफ इंडिया ग्रुप के विजय टाइम्स अखबार के एडिटर रह चुके हैं।

Last Modified:
Saturday, 17 April, 2021
Krishna Prasad

‘द हिंदू’ (THE HINDU), ‘द हिंदू बिजनेसलाइन’ (The Hindu BusinessLine), ‘फ्रंटलाइन’ (Frontline) और ‘स्पोर्टस्टार’ (Sportstar) के पब्लिशर ‘द हिन्‍दू ग्रुप पब्लिशिंग प्राइवेट लिमिटेड’ (The Hindu Group Publishing Private Limited) ने कृष्णा प्रसाद को ग्रुप एडिटोरियल ऑफिसर के पद पर नियुक्त किया है। उनकी यह नियुक्ति 16 अप्रैल 2021 से प्रभावी है। अपनी इस भूमिका में वह ‘द हिंदू समूह’ के सभी प्रकाशनों में समन्वित प्रयासों से, विभिन्न प्रिंट प्रकाशनों और डिजिटल सामग्री में अधिक से अधिक तालमेल बैठाते हुए नेतृत्व करेंगे।

प्रसाद को पत्रकारिता के क्षेत्र में काम करने का काफी लंबा अनुभव है। पूर्व में प्रसाद ‘आउटलुक’ (Outlook) मैगजीन के एडिटर-इन-चीफ और ‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ (Times of India group) ग्रुप के अखबार ‘विजय टाइम्स’ (Vijay Times) के एडिटर रह चुके हैं। वह ‘प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया’ (Press Council of India) के सदस्य रह चुके हैं। वह डिजिटल शैली को अपनाने वाले शुरुआती मुख्यधारा के पत्रकारों में से एक हैं।  

कृष्णा प्रसाद की नियुक्ति के बारे में ‘द हिन्‍दू ग्रुप पब्लिशिंग प्राइवेट लिमिटेड’ की चेयरपर्सन मालिनी पार्थसारथी का कहना है, ‘ग्रुप एडिटोरियल ऑफिसर के रूप में प्रसाद, सभी पब्लिकेशंस के कंटेंट मैनेजमेंट और स्ट्रैटेजी को लेकर मार्गदर्शक की भूमिका निभाएंगे।’ वहीं, कृष्णा प्रसाद का कहना है, ‘मैं समूह के संपादकों, पत्रकारों के साथ-साथ बिजनेस और टेक्निकल टीमों संग मिलकर काम करने को लेकर उत्सुक हूं।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

एडिटर्स गिल्ड ने केंद्र सरकार को पत्र लिखकर किया ये आग्रह

देश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने केंद्र सरकार से पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर घोषित करने का आग्रह किया है।

Last Modified:
Friday, 16 April, 2021
Editors Guild

देश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने केंद्र सरकार से पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर घोषित करने का आग्रह किया है। यही नहीं गिल्ड ने सरकार से पत्रकारों का टीकाकरण सुनिश्चित कराने की मांग भी की है।

एडिटर्स गिल्ड की ओर से गुरुवार को जारी एक बयान में कहा गया है कि पाठकों तक खबरें और सूचनाएं पहुंचाने के लिए समाचार संगठन लगातार महामारी, चुनाव और अन्य समसामयिक मामलों को कवर कर रहे हैं। इसलिए पत्रकारों को संरक्षण के दायरे में लाया जाए।'

बयान के मुताबिक अन्य फ्रंटलाइन वर्कर्स की तर्ज पर पत्रकारों को टीकाकरण में प्राथमिकता दी जाए। टीकाकरण का संरक्षण मिले बगैर मीडिया कर्मियों के लिए अपनी पेशेवर जवाबदेही का निर्वाह करना अत्यंत कठिन है।

बता दें कि इससे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर्स मानते हुए कोरोना वैक्सीन लगाने की वकालत की थी। दिल्ली सरकार ने इस बाबत एक पत्र भी केंद्र सरकार के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय को लिखा है और पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर्स मानते हुए प्राथमिकता के आधार पर उनके टीकाकरण के लिये विचार करने की अपील की है।

दिल्ली सरकार द्वारा भेजे गये पत्र में कहा गया है कि पत्रकारिता सरकार और जनता के बीच एक महत्वपूर्ण सेतु का काम करती है। सबसे मुश्किल हालात में स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के साथ-साथ मीडियाकर्मी भी सबसे आगे रहे हैं। कोरोना महामारी के दौरान मीडिया ने सक्रिय रूप से लोगों को बीमारी के बारे में जानकारी देने और इसकी रोकथाम के लिए जागरूक करने का काम किया है।

गौरतलब है कि पत्रकारों को कोरोना वैक्सीन लगाने की अनुमति देने के लिए कई अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने भी केंद्र सरकार से मांग की है। पिछले 10 दिनों में भारत में कोरोना के मामले दोगुने हो गए हैं। इसके साथ ही पूरे विश्व में कोरोना के मामलों में भारत में ब्राजील को पीछे छोड़ दिया। अब भारत विश्व में सबसे ज्यादा कोरोना केस वाला देश बन गया है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच 'आजतक' ने उठाया यह ऐहतियाती कदम

कोरोना वायरस ने एक बार फिर तेजी से अपना प्रकोप दिखाना शुरू कर दिया है। महामारी की दूसरी लहर ने पूरे देश को अपनी चपेट में ले लिया है।

Last Modified:
Friday, 16 April, 2021
Aajtak

कोरोना वायरस ने एक बार फिर तेजी से अपना प्रकोप दिखाना शुरू कर दिया है। महामारी की दूसरी लहर ने पूरे देश को अपनी चपेट में ले लिया है। हर दिन देशभर में वायरस के रिकॉर्ड मामले दर्ज किए जा रहे हैं। इस बीच कई पत्रकार भी कोरोना की चपेट में आए हैं, जिनमें से तो कई पत्रकारों की जान तक चली गई है। तेजी से बढ़ती कोरोना महामारी को देखते हुए हिंदी न्यूज चैनल आजतक ने अपने खास पॉलिटिकल प्रोग्राम, जोकि ग्राउण्ड जीरो से प्रसारित किया जाता है, फिलहाल के लिए उसे बंद कर दिया है। इस प्रोग्राम का नाम है- बुलेट रिपोर्टर।

बता दें कि चुनावों पर केंद्रित इस शो को ‘आजतक’ तक की डिप्टी एडिटर व सीनियर एंकर चित्रा त्रिपाठी होस्ट करती थीं।  उन्होंने इस बात की जानकारी अपने ट्विटर हैंडल के जरिए दी। दरअसल तेजी से फैलते कोरोना संक्रमण को देखते हुए ही इस शो को फिलहाल के लिए बंद करने का फैसला लिया गया है। फिलहाल इस शो को कब तक के लिए बंद किया जा रहा है और दोबारा कब इसे शुरू किया जाएगा, इसकी जानकारी उन्होंने नहीं दी है।

‘बुलेट रिपोर्टर’ की खास बात थी इसका अंदाज, जो लोगों को सबसे ज्यादा पसंद आ रहा था। चित्रा त्रिपाठी चैनल की ओबी वैनं में नहीं बल्कि बुलेट पर सवार होकर जगह-जगह घूम-घूमकर मतदाताओं का मन टटोलती थीं। उनसे बात करती थीं, प्रत्याशियों का हाल जानती थीं और उन समस्याओं पर भी प्रकाश डालती थीं, जो अब तक अनसुलझी थीं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

मीडिया-मनोरंजन उद्योग ने महाराष्ट्र के CM से किया ये अनुरोध

मीडिया-मनोरंजन उद्योग की समन्वय समिति ने मिलकर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर अनुरोध किया है

Last Modified:
Friday, 16 April, 2021
uddhav thackeray45

कोरोना वायरस ने एक बार फिर तेजी से अपना प्रकोप दिखाना शुरू कर दिया है। महामारी की दूसरी लहर ने पूरे देश को अपनी चपेट में ले लिया है। हर दिन देशभर में वायरस के रिकॉर्ड मामले दर्ज किए जा रहे हैं। इस बीच बीते कई दिनों से कोरोना का गढ़ बन चुके महाराष्ट्र में 15 दिनों का  लॉकडाउन लगाया गया है। इस लॉकडाउन के कारण कई फिल्मों की शूटिंग रुक गई है, जिसके चलते इन फिल्मों में दिहाड़ी पर काम करने वाले लोगों की रोजी रोटी पर संकट आ गया है। लिहाजा इसे देखते हुए मीडिया और मनोरंजन उद्योग की समन्वय समिति, जिसमें IMPPA, IFTDA, FWICE और CINTAA जैसे फिल्म निकाय शामिल हैं, सभी ने मिलकर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर अनुरोध किया है कि 15 दिनों के कर्फ्यू के दौरान उन्हें सीमित स्तर पर काम करने की अनुमति दी जाए।

समिति ने 15 दिनों के लिए बंद होने को लेकर पत्र में आग्रह किया गया है कि बंद वातावरण में पोस्ट-प्रॉडक्शन के काम को करने की अनुमति दी जानी चाहिए ताकि प्रसारण के लिए कंटेंट को एडिट किया जा सके।

इसके अलावा, उन्होंने अनुरोध किया है कि प्रड्यूसर्स को होने वाले नुकसान से बचने के लिए इस निर्माण कार्य की अनुमति दी जानी चाहिए। निर्माण श्रमिकों की तरह, सेट बिल्डिंग से जुड़े लोग भी सभी सावधानियों के साथ सेट पर रहकर काम कर सकते हैं। दैनिक वेतन भोगियों के लिए घोषित वित्तीय पैकेज को मीडिया और मनोरंजन उद्योग के श्रमिकों, तकनीकी विभाग के लोगों और अभिनेताओं के लिए भी छूट बढ़ाई जाने सहित पत्र में कई तरह के अनुरोध किए गए हैं।

अंत में, निकाय ने आग्रह किया कि यदि संभव हो तो फिल्म सिटी और मीरा-भायंदर क्षेत्र में टीकाकरण केंद्र और फिल्म व टीवी कर्मचारियों के लिए खानपान की स्थापना की जाए।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

9X Media में कनन दवे का हुआ प्रमोशन, अब मिली ये जिम्मेदारी

दवे इस म्यूजिक नेटवर्क में करीब दो साल से मार्केटिंग हेड के तौर पर अपनी भूमिका निभा रही हैं।

Last Modified:
Friday, 16 April, 2021
Kanan Dave

म्यूजिक नेटवर्क ‘9एक्स मीडिया’(9X Media) ने कनन दवे (Kanan Dave) को बिजनेस हेड के पद पर प्रमोट किया है। उन्होंने 15 अप्रैल से बतौर बिजनेस हेड (SpotlampE) अपना कार्यभार संभाल लिया है। बिजनेस हेड के रूप में कनन के कंधों पर SpotlampE के ग्रोथ, स्ट्रैटेजी और रचनात्मक विकास को अगले चरण में ले जाने की जिम्मेदारी होगी।

बता दें कि कनन पिछले दो साल से ‘9एक्स मीडिया’ में मार्केटिंग की जिम्मेदारी संभाल रही हैं। उन्हें मीडिया और एंटरटेनमेंट सेक्टर में काम करने का 15 साल से ज्यादा का अनुभव है। ‘9एक्स मीडिया’ से पहले कनन ‘यूटीवी’ (UTV) और ‘डिज्नी’ (Disney) के म्यूजिक और फिल्म मार्केटिंग बिजनेस में अपनी जिम्मेदारी निभा चुकी हैं।   

अपनी नई जिम्मेदारी के बारे में कनन का कहना है, ‘कंपनी के विजन का हिस्सा बनने को लेकर मैं काफी खुश हूं। SpotlampE ने भारतीय म्यूजिक इंडस्ट्री में काफी हलचल मचा रखी है और इसे आगे बढ़ाने के लिए ब्रैंड्स और मीडिया प्लेटफॉर्म्स के अलावा कलाकारों व रचनाकारों के साथ काम करने को लेकर मैं काफी उत्सुक हूं।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

अरविंद केजरीवाल ने पत्रकारों के लिए उठाई ये मांग, PM को लिखी चिट्ठी

देश में कोरोनावायरस (कोविड-19) का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। तमाम लोग इस महामारी की चपेट में आकर अपनी जान गंवा चुके हैं, वहीं तमाम लोगों का विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है।

Last Modified:
Thursday, 15 April, 2021
Arvind Kejriwal

देश में कोरोनावायरस (कोविड-19) का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। तमाम लोग इस महामारी की चपेट में आकर अपनी जान गंवा चुके हैं, वहीं तमाम लोगों का विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है। कोरोना को खत्म करने के लिए वैक्सीन लेना सबसे ज्यादा जरूरी बताया जा रहा है। कोरोना के बढ़ते मरीजों की संख्या के बीच सरकार वैक्सीनेशन में जुटी हुई है और लोगों से वैक्सीनेशन करवाने की अपील कर रही है।

दूसरी ओर, कोरोना के बढ़ते संक्रमण के खतरों के बीच तमाम पत्रकार मुस्तैदी से अपने काम में जुटे हुए हैं। कोरोना के खिलाफ जंग में अपनी भूमिका निभाते हुए राष्ट्रीय राजधानी में पिछले एक साल में कई पत्रकार कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। ऐसे में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार से मांग की है कि पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर मानकर उन्हें भी जल्द से जल्द वैक्सीन लगानी चाहिए।

बुधवार को किए गए एक ट्वीट में केजरीवाल का कहना है, ‘पत्रकार बेहद विपरीत परिस्थितियों में रिपोर्टिंग कर रहे हैं। उन्हें फ्रंटलाइन वर्कर्स मानकर प्राथमिकता के आधार पर उनकी वैक्सीनेशन होनी चाहिए।' मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, अरविंद केजरीवाल ने इस बारे में प्रधानमंत्री को एक चिट्ठी भी लिखी है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

परवान नहीं चढ़ पाई म्यूजिक ब्रॉडकास्ट लिमिटेड और RBNL के बीच की ये डील

दोनों पक्षों को सूचना प्रसारण मंत्रालय की ओर से अभी तक इस डील के लिए मंजूरी न मिलने के कारण यह निर्णय लिया गया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 14 April, 2021
Last Modified:
Wednesday, 14 April, 2021
deal break

‘जागरण प्रकाशन’ (jagran Prakashan) के स्वामित्व वाली कंपनी म्यूजिक ब्रॉडकास्ट लिमिटेड, जो ‘रेडियो सिटी’ (Radio City) की मालिक है और इसका संचालन करती है, ने ‘बिग एफएम’ (Big FM) के अधिग्रहण के लिए ‘रिलायंस ब्रॉडकास्ट नेटवर्क लिमिटेड’ (RBNL) के साथ अपने 1050 करोड़ रुपये के अधिग्रहण सौदे को समाप्त कर दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, दोनों पक्षों को सूचना प्रसारण मंत्रालय की ओर से अभी तक मंजूरी नहीं मिलने के कारण यह अधिग्रहण सौदा रद्द किया गया है और समझौते की शर्तों के साथ यह समय सीमा समाप्त हो गई है।

‘बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज’ (BSE) को दी गई जानकारी में म्यूजिक ब्रॉडकास्ट का कहना है, ‘8 अप्रैल 2021 को आयोजित बैठक में कंपनी के निदेशकों ने बिग एफएम में प्रस्तावित निवेश को आगे नहीं बढ़ाने का फैसला किया है और निश्चित लेनदेन दस्तावेजों को तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दिया जाएगा।’

इसके साथ ही यह भी कहा गया है, ‘बिग एफएम के प्रस्तावित अधिग्रहण के लिए दोनों पक्षों को अभी तक सूचना प्रसारण मंत्रालय की मंजूरी नहीं मिली है। ऐसे में म्यूजिक ब्रॉडकास्ट लिमिटेड के बोर्ड ने इस प्रस्तावित सौदे को आगे न बढ़ाने का फैसला लिया है। इस कदम से कंपनी के व्यावसायिक परिचालन पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

‘स्टार’ और ‘डिज्नी इंडिया’ में के. माधवन को मिली बड़ी जिम्मेदारी

फिलहाल ‘स्टार’ (Star) और ‘डिज्नी इंडिया’ (Disney India) के कंट्री मैनेजर की भूमिका निभा रहे हैं के. माधवन

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 14 April, 2021
Last Modified:
Wednesday, 14 April, 2021
K Madhavan

‘स्टार’ (Star) और ‘डिज्नी इंडिया’ (Disney India) के कंट्री मैनेजर के. माधवन (K Madhavan) को तुरंत प्रभाव से ‘द वाल्ट डिज्नी कंपनी इंडिया’ (The Walt Disney Company India) और ‘स्टार इंडिया’ (Star India) का प्रेजिडेंट नियुक्त किया गया है। ‘डिज्नी’ की चेयरमैन (International Operations and Direct-to-Consumer) रेबेका कैंपबेल (Rebecca Campbell) ने बुधवार को यह घोषणा की।

अपनी इस भूमिका में के. माधवन भारत में कंपनी की स्ट्रैटेजी और ग्रोथ को आगे बढ़ाएंगे। उनके ऊपर डिज्नी, स्टार और हॉटस्टार बिजनेस और ऑपरेशंस (एंटरटेनमेंट, स्पोर्ट्स, रीजनल चैनल्स और डायरेक्ट टू कस्टमर) की जिम्मेदारी भी होगी।

इस बारे में कैंपबेल का कहना है, ‘पिछले कुछ महीनों से मैंने सीधे के. माधवन के साथ काम किया है और देखा है कि कैसे उन्होंने भारत में हमारे बिजनेस को अच्छे से संचालित किया है। महामारी के कारण आईं तमाम चुनौतियों के बावजूद के. माधवन हमारे विशाल स्टार नेटवर्क और लोकल कंटेंट प्रॉडक्शन बिजनेस को नई ऊंचाइयों पर ले गए हैं।’

वहीं, माधवन का कहना है, ‘भारत में कंपनी की बेहतरीन टीम के नेतृत्व करने का अवसर मिलने पर मुझे गर्व है। मैं अपने बिजनेस को लगातार आगे बढ़ाने को लेकर प्रतिबद्ध हूं और टीम के सहयोगियों के साथ मिलकर काम कर रहा हूं।’

बता दें कि वर्ष 2019 से माधवन ‘स्टार’ (Star) और ‘डिज्नी इंडिया’ (Disney India) के कंट्री मैनेजर के तौर पर अपनी जिम्मेदारी निभा रहे हैं। अपनी इस भूमिका में माधवन ‘स्टार’ और ‘डिज्नी इंडिया’ के टेलिविजन बिजनेस (एंटरटेनमेंट, स्पोर्ट्स और रीजनल चैनल्स) के साथ ही भारत में इसके स्टूडियो बिजनेस का काम संभालते हैं।

माधवन ने वर्ष 2009 में स्टार इंडिया में बतौर हेड (साउथ) जॉइन किया था। उनके नेतृत्व में कंपनी ने अच्छा रीजनल एंटरटेनमेंट पोर्टफोलियो बनाया। माधवन ‘इंडियन ब्रॉडकास्टिंग फाउंडेशन’ (Indian Broadcasting Foundation) के प्रेजिडेंट के साथ-साथ ‘कंफेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री’(Confederation of Indian Industry) की मीडिया और एंटरटेनमेंट की नेशनल कमेटी के चेयरमैन हैं। 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए