जनरल एंटरटेनमेंट चैनल्स पर भी कुछ यूं असर डाल रहा कोविड-19

कोरोनावायरस (कोविड-19) का प्रकोप तमाम उद्योग धंधों के साथ ही मीडिया इंडस्ट्री पर भी पड़ रहा है।

Last Modified:
Friday, 24 April, 2020
GEC

कोरोनावायरस (कोविड-19) का प्रकोप तमाम उद्योग धंधों के साथ ही मीडिया इंडस्ट्री पर भी पड़ रहा है। इस महामारी के कारण टेलिविजन को मिलने वाले विज्ञापनों में भी काफी कमी आई है। संकट के इस दौर में तमाम ब्रैंड्स ने जहां अपने नए विज्ञापनों को रोक दिया है, वहीं टेलिविजन पर विज्ञापन खर्च को भी कम कर दिया है। 

टीवी पर विज्ञापन में यह कमी विभिन्न जॉनर में आई है, लेकिन चार हफ्तों (12वें से 15वें हफ्ते के बीच) में जनरल एंटरटेनमेंट चैनल्स, मूवीज और किड्स कैटेगरी में विज्ञापन खर्च में सबसे ज्यादा कमी देखने को मिली है।

इन चार हफ्तों पर टीवी पर दिए जाने वाले विज्ञापन पर नजर डालें तो पता चलता है कि चार हफ्तों के भीतर जनरल एंटरटेनमेंट चैनल्स (GEC) पर ‘फ्री कॉमर्शियल टाइम’ (FCT) में करीब 40 प्रतिशत की कमी आई है। ‘बार्क नील्सन’ (BARC-Nielsen) की ‘Crisis Consumption on TV and Smartphones’ रिपोर्ट के अनुसार, 15वें हफ्ते में इस कैटेगरी में फ्री कॉमर्शियल टाइम 49 लाख सेकेंड्स रह गया, जो 12वें हफ्ते में 82 लाख सेकेंड्स था। 

इसी तरह मूवी जॉनर की बात करें तो इस अवधि में इसमें 41 प्रतिशत की कमी आई है। 15 हफ्ते में इस जॉनर में फ्री कॉमर्शियल टाइम 42 लाख सेकेंड्स रह गया है, जबकि 12वें हफ्ते में यह 72 लाख सेकेंड्स था। इन चार हफ्तों में म्यूजिक जॉनर में फ्री कॉमर्शियल टाइम में 56 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है। वहीं, किड्स जॉनर में इन चार हफ्तों में 38 प्रतिशत की गिरावट देखी गई है और 12वें हफ्ते में फ्री कॉमर्शियल टाइम जहां 908 लाख सेकेंड्स था, वह 15वें हफ्ते में घटकर छह लाख सेकेंड्स रह गया है। 

न्यूज जॉनर में फ्री कॉमर्शियल टाइम में कम गिरावट दर्ज की गई है। इस अवधि के दौरान इस कैटेगरी में 16 प्रतिशत की गिरावट हुई है। 15वें हफ्ते में इस जॉनर में फ्री कॉमर्शियल टाइम 86 लाख सेकेंड्स रहा, जो चार हफ्ते पहले 102 लाख सेकेंड्स था। 

यहां यह भी बता दें कि कोविड-19 के दौरान टीवी का कुल उपभोग बढ़ा है और यह सभी रिकॉर्ड्स को तोड़ रहा है। कोविड-19 से पहले की तुलना करें तो उसके मुकाबले 15वें हफ्ते में इसमें 40 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। इंडस्ट्री से जुड़े दिग्गजों ने आने वाले हफ्तों में टीवी की व्युअरशिप बढ़ने की उम्मीद जताई है, लेकिन इसे मिलने वाले विज्ञापनों में कमी रहने की संभावना है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

न्यूज चैनल के संपादक को धमकी, पत्रकार संगठन ने की CM से संज्ञान लेने की मांग

गुवाहाटी स्थित एक न्यूज चैनल के संपादक को प्रतिबंधित अलगाववादी संगठन ‘यूनाइटेड लिबरेशन फ्रंट ऑफ असम’ (उल्फा) द्वारा धमकाने का मामले सामने आया है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 25 November, 2021
Last Modified:
Thursday, 25 November, 2021
RajdeepBailungBaruah5454

गुवाहाटी स्थित एक न्यूज चैनल के संपादक को प्रतिबंधित अलगाववादी संगठन ‘यूनाइटेड लिबरेशन फ्रंट ऑफ असम’ (उल्फा) द्वारा धमकाने का मामले सामने आया है।

उल्फा (आई) ने ‘एनडी 24’ (न्यूज डेली 24) के संपादक राजदीप बैलुंग बरुआ पर निशाना साधा है। दरअसल, असम राइफल्स ने पिछले दिनों तीन युवकों को म्यांमार की सीमा से लगे नागालैंड के मोन जिले से हिरासत में लिया था। खबर है कि तीनों युवक उग्रवादी संगठन उल्फा (आई) के संपर्क में थे। इसी खबर को स्थानीय न्यूज चैनल के संपादक ने प्रमुखता से चलाया, जिससे उग्रवादी संगठन बौखला गया। संगठन के द्वारा पहले फोन के जरिए संपादक को धमकाया गया और फिर एक बयान जारी कर उल्फा (आई) ने इस खबर पर टिप्पणी करने के संपादक के अधिकार पर सवाल उठाते हुए ने उन्हें चेतावनी दी है।

संगठन ने सारी हदें पार करते हुए संपादक को भविष्य में ऐसी 'गलती' न करने का आदेश भी दिया। आदेश नहीं मानने पर उग्रवादी संगठन ने संपादक के खिलाफ किसी भी तरह का कदम उठाने की धमकी दी है।

वहीं, इस मामले में इंडियन जर्नलिस्ट्स यूनियन (आईजेयू) ने प्रतिबंधित अलगाववादी संगठन ‘यूनाइटेड लिबरेशन फ्रंट ऑफ असम’ द्वारा गुवाहाटी स्थित एक न्यूज चैनल के संपादक को धमकाने पर गंभीर चिंता व्यक्त की और राज्य के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा से मामले में संज्ञान लेने की मांग की है।

उल्फा भारत के पूर्वोत्तर राज्य असम में सक्रिय एक प्रमुख आतंकवादी और उग्रवादी संगठन है। सशस्त्र संघर्ष के द्वारा असम को एक स्वतंत्र राज्य बनाना इसका लक्ष्य है। भारत सरकार ने इसे साल 1990 में प्रतिबंधित कर दिया और इसे एक 'आतंकवादी संगठन' के रूप में वर्गीकृत किया है। ये संगठन असम और उसके आसपास के इलाकों में कई अग्रवादी वारदातों को अंजाम दे चुका है। संगठन पर स्थानीय युवाओं को बरगलाकर अपने संगठन में शामिल कर लेने के आरोप लगते रहे हैं।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

MIB ने TV रेटिंग कमेटी के सुझावों पर ब्रॉडकास्टर्स निकायों से मांगा जवाब

टीवी रेटिंग एजेंसियों को लेकर जारी गाइडलाइंस की समीक्षा करने वाली समिति की सिफारिशों पर सूचना-प्रसारण मंत्रालय ने टीवी ब्रॉडकास्टर्स के निकायों से जवाब मांगा है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 23 November, 2021
Last Modified:
Tuesday, 23 November, 2021
MIB

टीवी रेटिंग एजेंसियों को लेकर जारी गाइडलाइंस की समीक्षा करने के लिए नियुक्त की गयी शशि शेखर वेम्पति की अध्यक्षता वाली समिति (कमेटी) ने अपनी सिफारिशें सूचना-प्रसारण मंत्रालय (MIB) को सौंप दी हैं, जिस पर अब मंत्रालय ने टीवी ब्रॉडकास्टर्स के निकायों से जवाब मांगा है।

मंत्रालय ने इंडियन ब्रॉडकास्टिंग एंड डिजिटल फाउंडेशन (IBDF), न्यूज ब्रॉडकास्टर्स एंड डिजिटल एसोसिएशन (NBDA) और न्यूज ब्रॉडकास्टर्स फेडरेशन (NBF) से 4 जनवरी 2021 की 39 पेज की रिपोर्ट पर अपनी टिप्पणी देने को कहा है। वैसे तो जवाब भेजने की समय सीमा समाप्त हो गयी है, जोकि 17 नवंबर थी, लेकिन अब इसे बढ़ाकर 30 नवंबर कर दिया गया है।

इंडस्ट्री से जुड़े एक सूत्र के मुताबिक, मंत्रालय केवल इंडस्ट्री से जुड़े प्रमुख निकायों जैसे IBDF, NBDA और NBF के साथ ही विचार-विमर्श कर रहा है। लेकिन हो सकता है कि अगले चरण में सार्वजनिक हितधारकों (स्टेक होल्डर्स) से उनके विचार मांगे। नाम न छापने की शर्त पर सूत्र ने कहा, ‘शुरुआत से ही, मंत्रालय केवल इन तीन निकायों के साथ ही परामर्श कर रहा है, लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि मंत्रालय लोगों की राय लेने पर विचार कर सकता है। हालांकि, अभी तक यह स्पष्ट नहीं है।’

बता दें कि देश में टीवी रेटिंग एजेंसियों को लेकर जारी गाइडलाइंस की समीक्षा करने के लिए मंत्रालय ने चार सदस्यीय समिति का गठन किया गया है। इस समिति ने जो सुझाव दिए हैं, उसके मुताबिक, भविष्य में डिस्ट्रीब्यूशन प्लेटफॉर्म ऑपरेटर्स (DPOs) द्वारा लगाए गए सभी सेट-टॉप बॉक्स (STB) में रिटर्न पाथ डेटा (Return Path Data) को अनिवार्य कर दिया जाए, ताकि आरपीडी (RPD) एन्क्रिप्शन, कंडीशनल एक्सेस और ऐसी अन्य अनिवार्य एसटीबी स्तर क्षमताओं के बराबर एक सर्वव्यापी क्षमता बन जाए।

समिति ने आगे सुझाव दिया है कि डिस्ट्रीब्यूशन प्लेटफॉर्म ऑपरेटर्स (DPOs) द्वारा दिए गए व्युअरशिप डेटा के कलेक्शन को सरकार/नियामक द्वारा निर्धारित गोपनीयता मानदंडों के आधार पर नियंत्रित किया जाना चाहिए और इसके अतिरिक्त डीपीओ द्वारा तीसरे पक्ष के साथ ऐसे व्युअरशिप डेटा की बिक्री या साझाकरण टेलीविजन रेटिंग सिस्टम की गाइडलाइंस के आधार पर ही होना चाहिए।

समित ने मंत्रालय से BARC इंडिया को 6 महीने के भीतर अपनी रेटिंग के फ्रेमवर्क में पहले से उपलब्ध RPD डेटा के इंट्रीगेशन में तेजी लाने का निर्देश देने को कहा है।

समिति ने मंत्रालय को सौंपी अपनी 39-पृष्ठ की रिपोर्ट में एक उद्योग-व्यापी अपीलीय निकाय की स्थापना की भी सिफारिश की है, जो शिकायत निवारण, हितधारकों और रेटिंग एजेंसियों के बीच उत्पन्न विवादों की मध्यस्थता कर सके। अपने सुझावों में समिति ने यह भी कहा है कि गाइडलाइंस ऐसी होनी चाहिए, जो रेटिंग एजेंसियों के उभरने में बाधा न डाल सके और यह सुनिश्चित करने की दिशा में काम करना चाहिए कि कहीं कोई अदृश्य बाधा तो नहीं है, जो कई रेटिंग एजेंसियों के आगे बढ़ने से रोक रही हो।

इसके अलावा भी समिति ने कई अन्य सुझाव दिए हैं। वैसे समिति चाहती है कि मंत्रालय विभिन्न रेटिंग एजेंसियों को रेगुलेट करने के लिए एक समर्पित नियामक निकाय (regulatory body) स्थापित करे। समिति ने एक विशेष मीडिया रेटिंग नियामक (media ratings' regulator) बनाने की भी सिफारिश की है।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

टीवी चैनल्स के लिए तालिबान ने जारी किया ‘फरमान’, इस तरह के Shows पर लगाई पाबंदी

महिला टीवी पत्रकारों को अपनी रिपोर्ट पेश करते समय हिजाब पहनना जरूरी होगा।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 23 November, 2021
Last Modified:
Tuesday, 23 November, 2021
TV Channel

करीब चार महीने पहले अफगानिस्तान की सत्ता पर काबिज होने के बाद से तालिबानी शासन में महिलाओं के लिए घर से बाहर निकलकर काम करना लगातार मुश्किल होता जा रहा है। महिलाओं को काम करते रहने देने और प्रेस की स्वतंत्रता सुनिश्चित करने के तालिबान के वादों के बावजूद यहां महिला पत्रकारों के उत्पीड़न और उन्हें डराने-धमकाने के मामले लगातार सामने आ रहे हैं।

अब अफगानिस्तान के तालिबान प्रशासन ने टीवी चैनल्स के लिए नया फरमान जारी किया है। रविवार को जारी इस फरमान के अनुसार, देश में टीवी चैनल्स पर प्रसारित होने वाले शो अथवा धारावाहिकों में महिला एक्ट्रेस नहीं दिखाई जा सकती हैं। अफगान मीडिया को जारी इस तरह के फरमान में यह भी कहा गया है कि महिला टीवी पत्रकारों को अपनी रिपोर्ट पेश करते समय हिजाब पहनना जरूरी होगा।

अफगानिस्तान के मिनिस्ट्री फॉर द प्रमोशन ऑफ वर्च्यू एंड प्रिवेंशन ऑफ वाइस की ओर से जारी इन आदेशों में टीवी चैनल्स को ऐसी फिल्में या कार्यक्रम दिखाने से भी मना किया गया है, जिनमें पैगंबर मोहम्मद या अन्य सम्मानित शख्सियतों को दिखाया गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, मंत्रालय के प्रवक्ता हकीफ मोहाजिर ने एक न्यूज एंजेसी से कहा कि ये नियम नहीं, बल्कि धार्मिक दिशानिर्देश हैं। नए दिशानिर्देशों को रविवार को सोशल मीडिया पर शेयर किया गया।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

अब डीटीएच प्लेटफॉर्म पर भी देखने को मिलेगा ABP Network का यह न्यूज चैनल

पंजाब समेत पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव 2022 से पहले टाटा स्काई पर इसकी लॉन्चिंग हुई है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 22 November, 2021
Last Modified:
Monday, 22 November, 2021
ABP Network

‘एबीपी नेटवर्क’ (ABP NETWORK) का पंजाबी न्यूज चैनल ‘एबीपी सांझा’ (ABP SANJHA) अब डायरेक्ट टू होम प्लेटफॉर्म ‘टाटा स्काई’ (Tata Sky) पर भी बतौर सैटेलाइट चैनल लॉन्च हो गया है। बता दें कि यह चैनल अभी तक सिर्फ डिजिटल प्लेटफॉर्म्स पर ही उपलब्ध था।

खास बात यह है कि पंजाब समेत पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव 2022 से पहले इसकी लॉन्चिंग हुई है। यह उस चैनल के लिए एक बड़ी छलांग मानी जा रही है, जिसे वर्ष 2014 में लॉन्च किया जाना था। हालांकि, पहले की लॉन्च योजना परवान नहीं चढ़ सकी, क्योंकि पंजाब का सबसे बड़ा केबल टीवी डिस्ट्रीब्यूशन प्लेटफॉर्म ‘फास्टवे ट्रांसमिशन’ (Fastway Transmission) इस चैनल को आगे बढ़ाने के लिए तैयार नहीं था। तभी से ‘एबीपी सांझा’ बतौर डिजिटल न्यूज चैनल काम कर रहा है। डिजिटल रूप में यह ABP Live, YouTube, ZEE5, MX Player, JioTV, and Amazon Fire TV पर उपलब्ध है।

इस बारे में जारी एक स्टेटमेंट में नेटवर्क का कहना है, ‘टाटा स्काई के साथ पार्टनरशिप इस चैनल को उन सबस्क्राइबर्स के लिए सुलभ बनाएगी, जो डीटीएच प्लेटफॉर्म पर एबीपी सांझा को देखने के इच्छुक थे। इसके साथ ही यह पार्टनरशिप दुनिया भर में फैले पंजाबी भाषी समुदाय के बीच एबीपी सांझा की पकड़ को और मजबूत करेगी। चैनल का पंजाब और पंजाबियत पर खास फोकस है।’

टाटा स्काई पर एबीपी सांझा की लॉन्चिंग के बारे में एबीपी नेटवर्क के सीईओ अविनाश पांडेय का कहना है, ‘वर्ष 2014 में इंटरनेट प्लेटफॉर्म पर एबीपी सांझा की शुरुआत के बाद से इसे काफी लोकप्रियता मिली है। एबीपी सांझा की टाटा स्काई पर लॉन्चिंग ऐसे ब्रैंड के लिए बड़ी छलांग है, जिसका पहले से ही ZEE5, JIO TV, MX Player और Amazon Fire TV पर मजबूत सबस्क्राइबर्स बेस है। एबीपी सांझा इंडस्ट्री में उभरते इस ट्रेंड को भी दर्शाता है, जहां प्रॉडक्ट को पहले स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म्स पर लॉन्च किया जाता है और फिर केबल और सैटेलाइट प्लेटफॉर्म पर पेश किया जाता है। हमने एबीपी नेटवर्क में इस ट्रेंड को शुरू किया है और हमें खुशी है कि इंडस्ट्री में कई लोग अब इसका अनुसरण कर रहे हैं।’

बता दें कि एबीपी सांझा की लॉन्चिंग के साथ एबीपी नेटवर्क के पोर्टफोलियो में सैटेलाइट चैनल्स की संख्या बढ़कर छह हो गई है। नेटवर्क के पास पहले से ही पांच सैटेलाइट चैनल एबीपी न्यूज(हिंदी), एबीपी माझा (मराठी), एबीपी आनंदा (बंगाली), एबीपी अस्मिता (गुजराती) और एबीपी गंगा (उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड) हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

नेपाल में लॉन्चिंग के साथ ही पतंजलि समूह के टीवी चैनल्स को लेकर शुरू हुआ विवाद, ये है वजह

पतंजलि समूह ने हाल ही में नेपाल में ‘आस्था नेपाल टीवी’ और ‘पतंजलि नेपाल टीवी’ नाम से दो टीवी चैनल्स लॉन्च किए हैं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 22 November, 2021
Last Modified:
Monday, 22 November, 2021
Baba Ramdev

नेपाल में पतंजलि आयुर्वेद समूह द्वारा शुक्रवार को लॉन्च किए गए दो टीवी चैनल्स को लेकर विवाद शुरू हो गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, आरोप है कि दोनों चैनल्स को बिना पंजीकरण के संचालित किया जा रहा है, जिसके बाद यह विवाद शुरू हुआ है।

बता दें कि नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा ने योग गुरु बाबा रामदेव, आचार्य बालकृष्ण और प्रमुख राजनीतिक दलों के तमाम नेताओं की मौजूदगी में आयोजित एक समारोह में शुक्रवार को ‘आस्था नेपाल टीवी’ और ‘पतंजलि नेपाल टीवी’ नाम से दो टीवी चैनल्स लॉन्च किए हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इस बारे में नेपाल के सूचना और प्रसारण विभाग के महानिदेशक गोगोन बहादुर हमाल (Gogon Bahadur Hamal) का कहना है, ‘नेपाली कानून के अनुसार मीडिया क्षेत्र में विदेशी निवेश प्रतिबंधित है। हमें इन दो टेलीविजन चैनल्स के पंजीकरण के लिए कोई आवेदन नहीं मिला है। इन टीवी चैनल्स के पंजीकरण का अध्ययन करने के लिए जांच दल का गठन किया गया है। अगर बिना पूर्व स्वीकृति के प्रसारण शुरू कर दिया गया है, तो कार्रवाई की जाएगी।’

गौरतलब है कि नेपाली कानून (Nepali law) के अनुसार, मीडिया और फिल्म क्षेत्रों में विदेशी निवेश की अनुमति नहीं है, लेकिन अगर किसी विदेशी टेलीविजन चैनल को नेपाल से संचालित करने की जरूरत है तो उसे सभी आवश्यक कानूनी और अन्य प्रक्रियाओं को पूरा करना चाहिए।

वहीं, पतंजलि योगपीठ नेपाल ने बयान जारी कहा है कि उसने कंपनी रजिस्ट्रार के कार्यालय के माध्यम से टेलीविजन चैनल्स की सत्यापन प्रक्रिया का पालन किया है। इसके साथ ही टीवी चैनल्स से संबंधित निकायों से अन्य इजाजतों की प्रक्रिया भी शुरू की जा चुकी है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

वरिष्ठ पत्रकार प्रदीप विश्वकर्मा की इस चैनल में हुई वापसी, अब मिली ये बड़ी जिम्मेदारी

प्रदीप विश्वकर्मा इससे पहले ‘के न्यूज’ (K News) चैनल में बतौर नेशनल पॉलिटिकल एडिटर अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे, जहां से पिछले दिनों ही उन्होंने अलविदा कह दिया था।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 19 November, 2021
Last Modified:
Friday, 19 November, 2021
Pradeep Vishwakarma

वरिष्ठ पत्रकार प्रदीप विश्वकर्मा ने ‘एमएच1’ (mh1) न्यूज चैनल के साथ अपनी नई पारी की शुरुआत की है। चैनल प्रबंधन ने उन्हें उत्तर प्रदेश/उत्तराखंड का संपादक नियुक्त किया है। बता दें कि ‘एमएच1’ के साथ यह उनकी दूसरी पारी है। चैनल की लॉन्चिंग के समय से ही वह इससे जुड़ गए थे। बीच में उन्होंने कई और चैनलों में अपनी जिम्मेदारी निभाई और अब उन्होंने फिर इस चैनल में नई जिम्मेदारी संभाली है।

प्रदीप विश्वकर्मा को नया चैनल लॉन्च कराने का लंबा अनुभव है। S1, A2Z, News express, jia news आदि चैनलों में वह लॉन्चिंग के समय से ही जुड़े रहे। इसके अतिरिक्त कई समाचार पत्रों में संपादक भी रहे हैं।

प्रदीप विश्वकर्मा ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर अपनी नई नियुक्ति के बारे में जानकारी शेयर की है। प्रदीप विश्वकर्मा इससे पहले ‘के न्यूज’ (K News) चैनल में बतौर नेशनल पॉलिटिकल एडिटर अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे, जहां से पिछले दिनों ही उन्होंने अलविदा कह दिया था। 

मूल रूप से लखनऊ के रहने वाले प्रदीप विश्वकर्मा को पत्रकारिता के क्षेत्र में काम करने का करीब 31 साल का अनुभव है। उन्होंने  नवजीवन के साथ ‘आज’, ‘हिन्दुस्तान’, ‘राष्ट्रीय सहारा’ और ‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ जैसे प्रतिष्ठित मीडिया संस्थानों में योगदान दिया। उन्होंने ‘दूरदर्शन’ में भी लंबी पारी खेली और इसके लोकप्रिय कार्यक्रम ‘तीसरी आंख’ में अपना महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

पढ़ाई-लिखाई की बात करें तो प्रदीप विश्वकर्मा ने ‘लखनऊ विश्वविद्यालय’ से हिंदी में पोस्ट ग्रेजुएशन किया है। इसके अलावा वह आईएएस-प्री भी क्वालीफाई कर चुके हैं। अब तक सबसे ज्यादा आईएएस अधिकारियों का इंटरव्यू करने का  रिकार्ड उनके नाम है। वह अब तक करीब 150 आईएएस अधिकारियों का इंटरव्यू कर चुके हैं। समाचार4मीडिया की ओर से प्रदीप विश्वकर्मा को उनके नए सफर के लिए ढेरों शुभकामनाएं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

नेपाल में दो टीवी चैनल्स लॉन्च करेगा पतंजलि समूह

दोनों चैनल्स की लॉन्चिंग के लिए योग गुरु बाबा रामदेव अपने सहयोगी आचार्य बालकृष्ण के साथ नेपाल पहुंच गए हैं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 19 November, 2021
Last Modified:
Friday, 19 November, 2021
Baba Ramdev

योग गुरु बाबा रामदेव शुक्रवार को नेपाल में पतंजलि आयुर्वेद समूह के दो टेलिविजन चैनल्स की शुरुआत करेंगे। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, बाबा रामदेव अपने सहयोगी आचार्य बालकृष्ण के साथ अपने तीन दिवसीय दौरे पर गुरुवार को नेपाल पहुंच गए हैं। शुक्रवार को वह ‘आस्था नेपाल टीवी’ और ‘पतंजलि नेपाल टीवी’ की शुरुआत करेंगे।

बताया जाता है कि योग गुरु पतंजलि के कर्मचारियों के लिए बनाए गए आवास पतंजलि सेवा सदन के अलावा स्वदेशी समृद्धि कार्ड का भी उद्घाटन करेंगे। इसके अलावा वह पतंजलि आयुर्वेद समूह द्वारा विकसित की जा रही एक परियोजना का निरीक्षण करने के लिए पश्चिमी नेपाल के स्यांगजा भी जाएंगे।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

सोनी पिक्चर्स को मिला LPL के मैचों का प्रसारण अधिकार, इन चैनलों पर दिखाए जाएंगे मैच

‘लंका प्रीमियर लीग’ (LPL) का दूसरा सीजन इस साल 5 दिसंबर से शुरू हो रहा है, जोकि 23 दिसंबर तक खेला जाएगा।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 18 November, 2021
Last Modified:
Thursday, 18 November, 2021
SONY

‘लंका प्रीमियर लीग’ (LPL) का दूसरा सीजन इस साल 5 दिसंबर से शुरू हो रहा है, जोकि 23 दिसंबर तक खेला जाएगा। वहीं, अभी खबर है कि सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया (एसपीएन) ने लंका प्रीमियर लीग के दूसरे सीजन के लिए ब्रॉडकास्ट पार्टनर के तौर पर वापसी की है। नेटवर्क ने ऑफिशियल फ्रैंचाइज और LPL के ब्रॉडकास्ट होल्डर आईपीजी ग्रुप (IPG Group) के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।

सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया और आईपीजी ग्रुप के बीच समझौते के तहत भारत में LPL के टेलीविजन का प्रसारण अधिकार और डिजिटल ट्रांसमिशन अधिकार  शामिल है। इसके तहत लंका प्रीमियर लीग के सभी मैचों का सीधा प्रसारण ‘सोनी सिक्स’ (SONY SIX) और ‘सोनी टेन 2’ (SONY TEN 2) चैनलों पर साथ ही डिजिटल प्रसारण ओटीटी प्लेटफॉर्म ‘सोनीलिव’ (SonyLIV) पर किया जाएगा।

लंका प्रीमियर लीग 2021 (Lanka Premier League 2021) के इस नए सीजन के लिए खिलाड़ियों का भी ऐलान हो चुका है। इस सीजन टूर्नामेंट में पांच टीमें दाम्बुला जाएंट्स, गाले ग्लैडिएटर्स, कोलंबो स्टार्स, जाफना किंग्स और कैंडी वॉरियर्स हिस्सा लेंगी।

हर टीम के लिए 20-20 खिलाड़ियों को चुना गया है। हर टीम में एक विदेशी और एक स्वदेशी आइकॉन प्लेयर हैं। इमरान ताहिर (दाम्बुला जाएंट्स), मोहम्मद हफीज (गाले ग्लैडिएटर्स), क्रिस गेल (कोलंबो स्टार्स), फॉफ डुप्लेसिस (जाफना किंग्स) और रोवमैन पावेल (कैंडी वॉरियर्स) पांच विदेशी आइकॉन खिलाड़ी हैं। इनमें से तीन (ताहिर, गेल और हफीज) की उम्र 40 साल से ज्यादा है।

दासुन शनाका (Dasun Shanaka), इसरू उडाना (Isuru Udana), दशमंता चमीरा (Dushmantha Chameera), थिसारा परेरा (Thissara Perera) और चरित असालंका (Charith Asalanka) देसी आइकॉन खिलाड़ी हैं। इनमें चमीरा और असालंका को छोड़ सभी की उम्र 30 साल से ज्यादा है। कोलंबो स्टार्स के चमीरा 29 और कैंडी वॉरियर्स के असालंका 24 साल के हैं।

बता दें कि हर टीम में 14 स्थानीय और छह विदेशी खिलाड़ियों को लिया गया है। लंका प्रीमियर लीग के दूसरे सीजन के मुकाबले 5 दिसंबर से 23 दिसंबर 2021 तक खेले जाने हैं। विदेशी खिलाड़ियों को 4 कैटेगरी में चुना गया है। ये कैटेगरी हैं, आइकॉन ओवरसीज, डायमंड ओवरसीज, गोल्ड ओवरसीज और क्लासिक ओवरसीज। गोल्ड ओवरसीज कैटेगरी में 3 खिलाड़ी चुने गए हैं।

वहीं, स्थानीय खिलाड़ियों को 10 कैटेगरी में रखा गया है। ये कैटेगरी आइकॉन लोकल, डायमंड लोकल, गोल्ड लोकल- ए, गोल्ड लोकल- बी, क्लासिक लोकल, एमर्जिंग लोकल और सप्लीमेंट्री लोकल-1, सप्लीमेंट्री लोकल-2, सप्लीमेंट्री लोकल-3 और सप्लीमेंट्री लोकल-4 हैं। गोल्ड लोकल- बी में दो खिलाड़ी रखे गए हैं, जबकि क्लासिक लोकल और एमर्जिंग लोकल में क्रमशः 3 और 2 खिलाड़ियों को चुना गया है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

न्यूज चैनल के कार्यक्रम में भिड़े बीजेपी-कांग्रेस के समर्थक, चले लात-घूंसे

हिंदी न्यूज चैनल ‘न्यूज18 इंडिया’ के लाइव संवाद कार्यक्रम ‘भैया जी कहिन’ में भाजपा और कांग्रेस कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 18 November, 2021
Last Modified:
Thursday, 18 November, 2021
channel45487

हिंदी न्यूज चैनल ‘न्यूज18 इंडिया’ के लाइव संवाद कार्यक्रम ‘भैया जी कहिन’ में भाजपा और कांग्रेस कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए। मामला यहां तक बढ़ गया कि कार्यकर्ताओं ने पहले तो गालीगलौज शुरू की, फिर देखते ही देखते लात-घूंसे पर उतर आए और कार्यक्रम में पड़ी कुर्सियां फेंकने लगे।

हंगामे की सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और किसी तरह दोनों पक्षों को समझाबुझाकर मामला शांत कराया। विवाद न थमने पर कार्यक्रम बंद कर दिया गया। इसके बाद बाजार क्षेत्र में पुलिस बल तैनात कर दिया गया।

उल्लेखनीय है कि मुख्य बाजार स्थित आंबेडकर पार्क में बुधवार शाम हिंदी न्यूज चैनल ‘न्यूज18इंडिया’ की ओर से चुनावी बहस कराई जा रही थी, जिसमें विषय था कि उत्तराखंड में किसका रुद्राभिषेक? यह चुनावी बहस स्थानीय मुद्दों पर चल रही थी। भाजपा से विधायक राजकुमार ठुकराल, कांग्रेस से प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष तिलक राज बेहड़ व व पूर्व पालिकाध्यक्ष मीना शर्मा और आम आदमी पार्टी से नंदलाल अपने समर्थकों के साथ मौजूद थे। वहीं कार्यक्रम को सीनियर एंकर प्रतीक त्रिवेदी होस्ट कर रहे थे।

कार्यक्रम के दौरान नेता एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप कर रहे थे, कि इसी बीच कांग्रेस कार्यकर्ता ने विधायक ठुकराल पर कोई तीखी टिप्पणी कर दी, जिससे ठुकराल समर्थक गुस्से में आ गए। इसके बाद एंकर ने दोनों के समर्थकों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन बता नहीं बनी। मामला बढ़ते देख एंकर ने शो को वहीं बंद कर दिया।

सूचना मिलते ही सीओ अमित कुमार व प्रभारी निरीक्षक विक्रम राठौर पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंच गए और दोनों पक्षों को बड़ी ही मुश्किल से शांत कराया गया। इसके बाद कार्यक्रम स्थल पर पुलिस बल तैनात कर दिया गया।

यहां देखें वीडियो:

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

लॉन्च हुआ ‘न्यूज इंडिया’ चैनल, लाया ये प्राइम टाइम Shows

केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने की चैनल की लॉन्चिंग। उन्होंने उम्मीद जताई कि यह चैनल युवाओं की आवाज को प्रमुखता से उठाएगा।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 17 November, 2021
Last Modified:
Wednesday, 17 November, 2021
News India

नेशनल न्यूज चैनल ‘न्यूज इंडिया’ (News India) लॉन्च हो गया है। केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने बुधवार को इस चैनल की लॉन्चिंग की। इस दौरान केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्रालय के राज्यमंत्री डॉ. लोगनाथन मुरुगन और केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल भी नोएडा में फिल्म सिटी स्थित ‘न्यूज इंडिया’ के दफ्तर में मौजूद रहे। इस मौके पर ओमेगा टीवी मीडिया प्राइवेट लिमिटेड के चेयरमैन बी.एस. तोमर ने भरोसा दिलाया कि यह चैनल राष्ट्र की आवाज बनेगा।

इस दौरान अनुराग ठाकुर ने ‘न्यूज इंडिया’ के एडिटर-इन-चीफ सरफराज सैफी से खास बातचीत में कहा कि लोकतंत्र के चौथे स्तंभ के तौर पर मीडिया पर बड़ी जिम्मेदारी है। भारत ऐसा देश है, जहां युवाओं की बड़ी आबादी है, जो देश को आगे बढ़ाने में अपना सहयोग कर रहे हैं। ऐसे में उम्मीद है कि ‘न्यूज इंडिया’ चैनल युवाओं की आवाज को प्रमुखता से उठाएगा। उन्होंने कहा कि मुझे पूरा यकीन है कि यह चैनल समाज की उन सभी समस्याओं को उजागर करेगा, जिससे बाकी तमाम चैनल चूक रहे हैं।

केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने ‘न्यूज इंडिया’ का थीम सॉन्ग 'जन-जन में राष्ट्रवाद हो' लॉन्च किया। उन्होंने कहा कि चैनल के थीम सॉन्ग में जिस तरह से पूरे देश की बात की गई है, वह देश के नवनिर्माण में सहायक सिद्ध होगा। मेघवाल ने चैनल को बधाई देते हुए निरंतर प्रगति पथ पर बढ़ने के लिए शुभकामनाएं दीं।

वहीं, केंद्रीय सूचना प्रसारण राज्यमंत्री एल. मुरुगन ने ‘न्यूज इंडिया’की वेबसाइट को लॉन्च किया। एल. मुरुगन ने कहा कि इस चैनल की वेबसाइट पर खबरों की रेंज चौंकाती है। उन्होंने कहा कि हिंदी भाषियों के लिए ‘न्यूज इंडिया’ की वेबसाइट हवा के ताजे झरोखे की तरह है, जो समाज के हर वर्ग के लोगों के लिए भरपूर जानकारियां दे रही है।

इस मौके पर ‘न्यूज इंडिया’ के एडिटर-इन-चीफ सरफराज सैफी ने बताया कि महज 100 दिनों में शून्य से यहां तक का सफर काफी चुनौतीपूर्ण था लेकिन चैनल की युवा प्रोफेशनल टीम ने इसे मुमकिन किया। उन्होंने कहा कि चैनल राष्ट्र से जुड़े मुद्दों को उठाएगा और गांव से लेकर शहर तक राष्ट्र की आवाज बनेगा। ‘न्यूज इंडिया’ के एडिटोरियल डायरेक्टर मनीष अवस्थी ने कहा कि निष्पक्ष चैनल के तौर पर चैनल की एक मुकम्मल पहचान बनेगी। ‘न्यूज इंडिया’ के मैनेजिंग एडिटर पशुपति शर्मा की मानें तो इतने कम वक्त में किसी चैनल की लॉन्चिंग मेहनती और प्रतिबद्ध प्रोफेशनल टीम के बूते ही मुमकिन है।

‘न्यूज इंडिया’ ने लॉन्चिंग के साथ पहले दिन ही ‘ऑपरेशन अंगूठा‘ के साथ अपनी धमक दिखाई है। पहले दिन ही स्क्रीन पर ‘इंडिया का सवाल’ में मनीष अवस्थी ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का बेबाक इंटरव्यू किया। शाम सात बजे ‘इंडिया का मुकदमा‘, रात आठ बजे ‘हम इंडिया के लोग‘ और रात नौ बजे ‘राष्ट्र की आवाज‘ के साथ सुपर प्राइम टाइम के सभी शो भी शुरू किए हैं। बताया जाता है कि सरफराज सैफी रात नौ बजे हर दिन राष्ट्र की आवाज विद सरफराज शो करेंगे।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए