बिहार की राजनैतिक स्थिति के व्यंग्यात्मक पहलुओं पर नजर डालेगा ABP न्यूज का ये शो  

बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान यहां की राजनीति के बारे में हर दिलचस्प जानकारी अपने दर्शकों तक पहुंचाने के लिए एबीपी न्यूज ने एक बार फिर अपना व्यंग्यात्मक शो शुरू किया है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 21 October, 2020
Last Modified:
Wednesday, 21 October, 2020
ABP News

बिहार विधानसभा चुनाव की तैयारियां अपने पूरे जोरों-शोरों पर है। ऐसे में राजनीति के बारे में हर दिलचस्प जानकारी अपने दर्शकों तक पहुंचाने के लिए एबीपी न्यूज ने एक बार फिर अपना व्यंग्यात्मक शो ‘पोल खोल’ शुरू किया है, जो कि देश के राजनैतिक मामलों की मौजूदा स्थिति पर व्यंग्य करता है। 

नए सीजन में शेखर सुमन अपने तरीके से कथित ‘गंभीर राजनैतिक स्थिति’ के व्यंग्यात्मक पहलुओं पर रोशनी डालेंगे। बिहार से उनके जुड़ाव को देखते हुए एबीपी न्यूज ने इस जाने-माने भारतीय फिल्म अभिनेता को शो में मुख्य भूमिका दी है, ताकि अपनी बुद्धिमता और हास्य-रस के साथ इस नए सीजन को और भी रोचक बना सकें। शेखर सुमन, जोकि 2004 में शो की शुरुआत से ही इसकी मेजबानी कर रहे हैं, इस साल बिहार राज्य के प्रमुख मुद्दों पर रोशनी डालेंगे। 

‘पोल खोल’ एबीपी न्यूज की व्यापक चुनाव प्रोग्रामिंग का एक और महत्वपूर्ण संस्करण है जो न केवल दर्शकों को चुनाव से जुड़े हर पहलू की जानकारी देता है, बल्कि अनूठे कंटेंट के साथ बेजोड़ अनुभव भी प्रदान करता है।

बता दें कि यह शो 19 अक्टूबर से शुरू हो चुका है, जोकि सोमवार से शुक्रवार रात 10:30 से 11 बजे से प्रसारित किया जा रहा है।

इस मौके पर एबीपी नेटवर्क के सीईओ अविनाश पाण्डेय ने कहा, ‘एबीपी न्यूज हमेशा से स्वदेशी दृष्टिकोण के साथ व्यापक कंटेंट पेश करता रहा है। बिहार का राजनैतिक संघर्ष नजदीक आ रहा है, ऐसे में हम दर्शकों को उत्कृष्ट अनुभव प्रदान करना चाहते हैं। हमें विश्वास है कि इस साल भी पोल खोल, दर्शकों को टीवी स्क्रीन से जोड़े रखने में कामयाब होगा।’    

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

MIB ने केबल टीवी नेटवर्क के नियमों में किया संशोधन, अब यूं होगा शिकायतों का निवारण

सूचना-प्रसारण मंत्रालय ने गुरुवार को केबल टेलीविजन नेटवर्क नियम, 1994 में संशोधन करते हुए एक अधिसूचना जारी की है।

Last Modified:
Friday, 18 June, 2021
MIB

टीवी चैनलों पर प्रसारित होने वाले कार्यक्रम या विज्ञापन में कई बार ऐसे आपत्तिजनक या भ्रामक कंटेंट दिखाए जाते हैं, जिनसे हमें शिकायत रहती है और जो हमारी भावनाओं को ठेस पहुंचाते हैं। हालांकि जागरूकता की कमी की वजह से बहुत से लोगों को यह बात शायद नहीं पता है कि ऐसे कंटेंट के खिलाफ शिकायत कहां करनी है। 

इंडियन ब्रॉडकास्टिंग फाउंडेशन (IBF) और न्यूज ब्रॉडकास्टर्स एसोसिएशन (NBA) जैसी कुछ नियामक संस्थाएं हैं, जिन्होंने आपत्तिजनक कंटेंट पर कार्रवाई करने के लिए व्यवस्था बना रखी है। ऐसे में आप ब्रॉडकास्ट कंटेंट कंप्लेन काउंसिल (BCCC) को शिकायत कर सकते हैं। हालांकि इसकी जानकारी कम ही लोगों को है।

ऐसे में सूचना-प्रसारण मंत्रालय ने गुरुवार को केबल टेलीविजन नेटवर्क नियम, 1994 में संशोधन करते हुए एक अधिसूचना जारी की है। इसमें टेलीविजन चैनलों द्वारा प्रसारित कंटेंट से संबंधित नागरिकों की शिकायतों और शिकायतों के निवारण के लिए एक कानूनी तंत्र उपलब्ध कराया गया है।

सूचना-प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने ट्वीट किया, ‘सूचना-प्रसारण मंत्रालय ने केबल टेलीविजन नेटवर्क नियम, 1994 में संशोधन करके टीवी चैनलों पर दिखाए जाने वाले कार्यक्रमों के संबंध में लोगों की शिकायतों का निस्तारण करने के लिए एक वैधानिक तंत्र विकसित किया है।’

मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि पारदर्शी वैधानिक तंत्र मुहैया कराने के लिए नियमों में संशोधन किया गया है और इससे लोगों को लाभ होगा।

जावड़ेकर ने कहा, ‘मंत्रालय ने सीटीएन नियमों के तहत टीवी चैनलों की वैधानिक निकायों को भी मान्यता देने का निर्णय लिया है।’

बता दें कि संशोधित नियम शिकायतों के निपटारे का त्रिस्तरीय तंत्र बनाते हैं। प्रसारकों द्वारा स्व-नियमन, प्रसारकों के स्व-नियमन निकायों द्वारा स्व-नियमन और केन्द्र सरकार के तंत्र के माध्यम से निगरानी।

चैनलों पर प्रसारित किसी भी कार्यक्रम से परेशानी होने पर दर्शक उस संबंध में प्रसारक से लिखित शिकायत कर सकता है। नियमों के अनुसार, ‘शिकायत किए जाने के 24 घंटों के भीतर प्रसारक को शिकायतकर्ता को सूचित करना होगा कि उसकी शिकायत प्राप्त हो गई है। ऐसी शिकायत प्राप्त होने के 15 दिनों के भीतर प्रसारक को उसका निपटारा करना होगा और शिकायतकर्ता को अपना निर्णय बताना होगा।’

नियमों के अनुसार शिकायतकर्ता ‘स्व-नियामक निकाय, जिसका ब्रॉडकास्टर सदस्य है, को 15 दिनों के भीतर अपील कर सकता है।’

इसके अनुसार स्व-नियामक निकाय अपील प्राप्ति के 60 दिनों के भीतर अपील का निपटारा करेगा, प्रसारक को मार्गदर्शन या सलाह के रूप में अपना निर्णय बताएगा और शिकायतकर्ता को इस तरह के निर्णय के बारे में सूचित करेगा।

नियमों के अनुसार, ‘जहां शिकायतकर्ता स्व-नियामक निकाय के निर्णय से संतुष्ट नहीं है, वह इस तरह के निर्णय के 15 दिनों के भीतर, निगरानी तंत्र के तहत विचार करने के लिए केंद्र सरकार से अपील कर सकता है।’

द एडवर्टाइजिंग स्टैंडर्ड्स काउंसिल ऑफ इंडिया (एएससीआई) विज्ञापन संहिता के उल्लंघन के संबंध में शिकायतों की सुनवाई करेगा, शिकायत प्राप्त होने के 60 दिनों के भीतर निर्णय लेगा और प्रसारक और शिकायतकर्ता को इसकी सूचना देगा।

गौरतलब है कि वर्तमान में नियमों के तहत कार्यक्रम और विज्ञापनों के लिए संहिताओं के उल्लंघन से संबंधित नागरिकों की शिकायतों को दूर करने के लिए एक अंतर मंत्रालयी समिति के माध्यम से एक संस्थागत तंत्र है। इसी तरह विभिन्न प्रसारकों ने भी शिकायतों के समाधान के लिए अपने आंतरिक स्व नियामक तंत्र को विकसित किया है। इसके बावजूद शिकायत निवारण ढांचे को सुदृढ़ करने के लिए एक कानूनी तंत्र बनाने की आवश्यकता महसूस की जा रही थी, जहां कंटेंट को लेकर शिकायत की जा सके और उसका निवारण किया जा सके। इसमें  कुछ प्रसारकों ने अपने संघों, निकायों को कानूनी मान्यता देने का भी अनुरोध किया था।

इस पर सुप्रीम कोर्ट ने इस संदर्भ में दाखिल एक वाद में केंद्र सरकार द्वारा स्थापित शिकायत निवारण के मौजूदा तंत्र पर संतोष व्यक्त करते हुए अपने आदेश में, शिकायत निवारण तंत्र को औपचारिक रूप देने के लिए उचित नियम बनाने की सलाह दी थी।

देश में सूचना और प्रसारण मंत्रालय से अनुमति प्राप्त 900 से अधिक टेलीविजन चैनल हैं,  जिनमें से सभी को केबल टेलीविजन नेटवर्क नियमों के तहत निर्धारित कार्यक्रम और विज्ञापन कोड का पालन करना आवश्यक है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

वैश्विक स्तर पर अपने पंख फैलाने की तैयारी में है रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क

रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क अब अपने पंख फैलाने की तैयारी में है।

Last Modified:
Thursday, 17 June, 2021
Republic Network

रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क अब अपने पंख फैलाने की तैयारी में है। नेटवर्क ने की घोषणा की है कि वह भारत और विदेशों में रह रहे भारतीय दर्शकों के लिए डिजिटल और ब्रॉडकास्ट क्षेत्र में विस्तार कर रहा है। इस कड़ी के तहत रिपब्लिक अब ‘रिपब्लिक ग्लोबल’ (R. Global) हो रहा है। इस बात की जानकारी रिपब्लिक ने ट्वीट के जरिए दी।

रिपब्लिक ने ट्वीट कर कहा, हमें आर. ग्लोबल (R. Global)  की घोषणा करते हुए गर्व हो रहा है! भारत का सबसे बड़ा और सबसे पसंदीदा न्यूज ब्रैंड रिपब्लिक अब ग्लोबल हो रहा है। हम अपने दर्शकों को विश्व स्तरीय व खोजपरक कंटेंट देने के लिए दुनियाभर के 120 से अधिक पत्रकारों के साथ अपने अंतरराष्ट्रीय आधार का तेजी से विस्तार कर रहे हैं। रिपब्लिक ने यह भी कहा कि ‘हम भारत के उन लोगों के आभारी हैं, जिन्होनें रिपब्लिक को इतना प्यार दिया कि हम ग्लोबल तक पहुंचने वाले हैं।

आर. ग्लोबल के साथ, नेटवर्क ने भारत के डिजिटल टेक ब्रॉडकास्ट मीडिया का पावरहाउस (India’s Digital Tech Broadcast Media Powerhouse) बनने के लिए एक रोडमैप तैयार किया है।

इसके साथ ही, अपने #RepublicIsTheNews ब्रैंड अभियान के साथ लाइव होते हुए, रिपब्लिक (R.) ने इस बात पर ध्यान केंद्रित किया है कि कैसे  रिपब्लिक ने न केवल खबरों को पेश करने की कला को बदला है, बल्कि खबरों की सीरीज पेश कर वह भारत का सबसे बड़ा न्यूज ब्रैंड बन गया है, जिसने जमीनी स्तर पर प्रभाव डाला है।

आर. डिजिटल (R. Digital) ने इस बात की भी जानकारी दी है कि उसका डिजिटल ग्रोथ 600 प्रतिशत  तक हुआ है और ट्रैफिक में वृद्धि दर्ज की गई है। कंपनी ने बताया कि अपने डिजिटल विस्तार के तहत तैयार किए ब्लूप्रिंट में टेक, प्रॉडक्ट और कंटेंट स्पेस में 100 डिजिटल प्रोफेशनल की नियुक्ति भी शामिल होगी।

रिपब्लिक ने घोषणा की कि एडिटर-इन-चीफ अरनब गोस्वामी व्यक्तिगत रूप से वैश्विक बाजार में भारतीय मीडिया के विस्तार के लिए प्रतिबद्ध हैं और आर. ग्लोबल उस दिशा में पहला कदम है।  

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

अपनी ही ब्रेकिंग न्यूज पढ़कर एंकर ने कर दिया सबको हैरान, दुआओं का लगा तांता

एक सीनियर न्यूज एंकर ने एक ऐसी खबर पढ़ी, जिसने हर किसी को हैरान कर दिया और फिर लोग एंकर की ही सलामती की दुआ करने लगे।  

Last Modified:
Wednesday, 16 June, 2021
ChristianeAmanpour5454

न्यूज एंकर को आपने कई बार अलग तरह की खबरें पढ़ते हुए देखा होगा, लेकिन यहां एक ऐसी खबर है, जिसे शायद ही कभी आपने देखा या पढ़ा हो। दरअसल, इंग्लैंड की एक सीनियर न्यूज एंकर ने एक ऐसी खबर पढ़ी, जिसने हर किसी को हैरान कर दिया और फिर लोग एंकर की ही सलामती की दुआ करने लगे।  

सीएनएन की चीफ इंटरनेशनल एंकर क्रिस्टियन एमनपोर (Christiane Amanpour) ने जब सोमवार रात को अपना ग्लोबल अफेयर्स प्रोग्राम शुरू किया तो, वह पहले की तरह बिल्कुल नहीं था। इस बार वह बहुत ही अलग था, क्योंकि उन्होंने सबसे पहले ब्रेकिंग न्यूज में अपनी ही हेल्थ की खबर पढ़ी और लोगों को बताया कि वे कैंसर को हराकर वापस लौंटी हैं।

63 वर्षीय इस महिला एंकर ने बताया कि उन्हें ओवेरियन कैंसर था, जिसका इलाज चल रहा है। एक महीने पहले उनका सफल ऑपरेशन किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि इस वजह से ही वह चार हफ्तों तक ऑफएयर थीं।

उन्होंने अपने कार्यक्रम में कहा कि दुनियाभर में लाखों महिलाओं की तरह ही मुझे भी ओवेरियन कैंसर का पता चला है। मैंने इसके इलाज के लिए एक बड़ी सर्जरी करवाई है, जो पूरी तरह से सफल रही है और अब मैं स्वास्थ्य की बेहतरी के लिए कीमोथेरेपी के दौर से गुजर रही हूं।

उन्होंने इस बात की जानकारी ट्विटर पर इस प्रोग्राम के ही एक वीडियो क्लिप के जरिए साझा की। खबर लिखे जाने तक उनके इस वीडियो क्लिप को 12,800 से भी अधिक बार रीट्वीट किया जा चुका है और 6400 से भी अधिक लोगों ने इस पर कमेंट किए हैं। इसे करीब 3 मिलियन लोगों ने देखा है।

लंदन में जन्मीं एंकर यहीं से ही इस प्रोग्राम की एंकरिंग करती हैं। उन्होंने अपने देश और यहां की मेडिकल सर्विसेज को धन्यवाद किया और कहा कि मैं भाग्यशाली हूं कि मेरा हेल्थ इंश्योरेंस है और यहां बेहतरीन डॉक्टर हैं, जिन्होंने इस देश में मेरा अच्छी तरीके से इलाज किया।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

India Today समूह से जुड़े वरिष्ठ पत्रकार उदयन मुखर्जी, निभाएंगे यह जिम्मेदारी

जाने-माने बिजनेस पत्रकार उदयन मुखर्जी लंबे समय के बाद फिर टीवी स्क्रीन पर नजर आएंगे। उन्होंने ‘इंडिया टुडे’ (India Today Group) ग्रुप में जॉइन किया है।

Last Modified:
Monday, 14 June, 2021
Udayan Mukherjee

जाने-माने बिजनेस पत्रकार उदयन मुखर्जी लंबे समय के बाद फिर टीवी स्क्रीन पर नजर आएंगे। उन्होंने ‘इंडिया टुडे’ (India Today Group) ग्रुप में जॉइन किया है। दरअसल, ‘इंडिया टुडे’ ग्रुप ने घोषणा की है कि उदयन मुखर्जी नेटवर्क के नए शो को होस्ट करेंगे। इस संबंध में ‘इंडिया टुडे’ ग्रुप की वाइस चेयरपर्सन कली पुरी का कहना है, ‘बिजनेस के भविष्य को लेकर उदयन मुखर्जी की काफी अच्छी समझ है। महामारी के बाद और सामान्य होती स्थिति के बीच अर्थव्यवस्था को लेकर हमें उनकी प्रतिभा और वैश्विक दृष्टिकोण की काफी जरूरत है।‘

इसके साथ ही उन्होंने कहा, ‘वित्तीय बाजारों, नवाचार-संचालित व्यवसायों, फिनटेक और अर्थव्यवस्था को लेकर उनकी समझ से नए दौर में पेशेवरों, उद्यमियों और स्टार्टअप से जुड़ी युवा पीढ़ी को काफी मदद मिलेगी। इंडिया टुडे ग्रुप में अपने नए बिजनेस टुडे शो के लिए होस्ट के रूप में उदयन मुखर्जी के शामिल होने पर हम बहुत खुश हैं।‘

वहीं, इस बारे में मुखर्जी का कहना है, ‘इंडिया टुडे परिवार का हिस्सा बनने पर मैं काफी खुश हूं। मैं इंडिया टुडे, बिजनेस टुडे और टीवी टुडे जैसे ब्रैंड्स की व्यापक और विशाल पहुंच का हमेशा प्रशंसक रहा हूं और अब उनके ऑडियंस तक पहुंचने और उनके साथ जुड़ने के अवसर की प्रतीक्षा कर रहा हूं।’

इसके साथ ही मुखर्जी का कहना है, ‘महामारी के बाद बिजनेस अब पहले की तरह नहीं रहने वाला है। बिजनेस लीडर्स से पॉलिसी मेकर्स तक सभी को अब नए नजरिये से दुनिया को देखना होगा। यह एक बार फिर व्यापार जगत के साथ जुड़ने का एक शानदार अवसर होगा, लेकिन एक अलग नजरिए से।’ 

मुखर्जी को टीवी पत्रकारिता का काफी अनुभव है। वह ‘सीएनबीसी’ (CNBC) चैनल में एंकर और उसके बाद मैनेजिंग एडिटर रह चुके हैं। पत्रकारिता के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए मुखर्जी को वर्ष 2012 में प्रतिष्ठित रामनाथ गोयनका अवॉर्ड से सम्मानित किया जा चुका है। वह व्यावसायिक मामलों पर बहुचर्चित टिप्पणीकार और राष्ट्रीय समाचार पत्रों के लिए एक स्तंभकार के रूप में सक्रिय हैं। 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

कोरोना को मात देने के बाद फेसबुक पर LIVE हुए सुधीर चौधरी, कही ये बात

‘जी न्यूज’ (Zee News) के एडिटर-इन-चीफ सुधीर चौधरी ने कोरोनावायरस (कोविड-19) को मात दे दी है। लगभग 20 दिनों के बाद उनकी कोविड-19 रिपोर्ट निगेटिव आई है।

Last Modified:
Sunday, 13 June, 2021
SudhirChaudhary5454

‘जी न्यूज’ (Zee News) के एडिटर-इन-चीफ सुधीर चौधरी ने कोरोनावायरस (कोविड-19) को मात दे दी है। लगभग 20 दिनों के बाद उनकी कोविड-19 रिपोर्ट निगेटिव आई है। इसकी जानकारी खुद सुधीर चौधरी ने ट्वीट कर दी है।

इस ट्वीट में सुधीर चौधरी ने लिखा है, ‘आपके साथ कुछ पॉजिटिव न्यूज साझा करते हुए मुझे खुशी हो रही है कि मेरा कोविड टेस्ट निगेटिव आया है। मैं ठीक हो गया हूँ और अब काम पर लौटने के लिए तैयार हूं, लेकिन इससे पहले कि मैं ऐसा करूं, मैं आप सभी को #GetWellSoon की शुभकामनाओं और प्रार्थनाओं के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं। आज शाम पांच बजे मैं अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर लाइव रहूंगा।

इसके बाद सुधीर चौधरी शाम को करीब पांच बजे अपने फेसबुक पेज पर लाइव हुए और कहा, ‘अब मैं कोविड निगेटिव हूं और बिलकुल ठीक हूं। लेकिन जो कोविड के बाद जो लक्षण होते हैं, वो मुझमें भी हैं, जैसे कमजोरी है और शरीर के अंदर बाकी की जो समस्याएं होती हैं, वह अभी हैं। शायद कुछ दिनों या महीनों तक यह रहे। डॉक्टर ने फिलहाल सावधानी बरतने की सलाह दी है। स्वास्थ्य के हिसाब से पहले जैसे स्थित में पहुंचने में के लिए मुझे लगता है कि कुछ महीने और लगेंगे।‘

गौरतलब है कि पिछले दिनों सुधीर चौधरी कोरोनावायरस की चपेट में आ गए थे और उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सुधीर चौधरी ने एक ट्वीट के जरिये खुद इस बात की जानकारी दी थी। अपने ट्वीट में सुधीर चौधरी का कहना था, ‘मैं कोविड पॉजिटिव हो गया हूं और अब इससे रिकवर कर रहा हूं।’ हालांकि कई दिनों तक अस्पताल में रहने के बाद एक जून को उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल गई थी। इस बार अपने ट्वीट में सुधीर चौधरी का कहना था कि ‘मुझे अस्पताल से छुट्टी मिल गई है और मैं घर व जीवन के नए रास्ते पर वापस जा रहा हूं। आपने मेरे लिए प्रार्थनाएं कीं, इसके लिए आपको धन्यवाद।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

सूचना प्रसारण मंत्रालय ने 30 दिनों के लिए इस चैनल के प्रसारण पर लगाई रोक

मंत्रालय ने मल्टीसिस्टम ऑपरेटर्स (MSOs) और लोकल केबल ऑपरेटर्स को निर्देश दिया है कि 30 दिनों की प्रतिबंध अवधि के दौरान वह इस चैनल का प्रसारण न करें।

Last Modified:
Saturday, 12 June, 2021
Channel

‘सूचना-प्रसारण मंत्रालय’ (MIB) ने लोगो के अनधिकृत उपयोग और वार्षिक लाइसेंस शुल्क का भुगतान न करने पर ‘होप टीवी’ (HOPE TV) को 30 दिनों के लिए ऑफ-एयर करने का आदेश दिया है। बता दें कि ‘होप टीवी’ ईसाई भक्ति चैनल है, जिसका डिस्ट्रीब्यूशन ‘नोएडा सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क लिमिटेड’ (NSTPL) द्वारा किया जाता है।

आठ जून को जारी अपने आदेश में सूचना-प्रसारण मंत्रालय का कहना है कि भारत में निजी सैटेलाइट टीवी चैनलों के अपलिंकिंग और डाउनलिंकिंग के लिए मौजूदा दिशानिर्देशों, 2011 के तहत 30 दिनों के लिए यानी नौ जून की रात 12 बजे से आठ जुलाई की रात 12 बजे तक के लिए ‘होप टीवी’ का प्रसारण प्रतिबंधित रहेगा।

मंत्रालय की ओर से ‘एनएसटीपीएल’ को अनधिकृत लोगो को हटाने और वार्षिक बकाया राशि का भुगतान करने का आदेश भी दिया गया है। इसके साथ ही कंपनी को यह भी निर्देश दिया गया है कि वह 30 जुलाई 2014 के बाद भारत में देखने के लिए चैनल को डाउनलिंक करने और वितरित करने के लिए एडवेंटिस्ट टेलीविजन नेटवर्क (Adventist Television Network), यूएसए के साथ वैध वितरण भागीदार समझौते (valid distribution partner agreement) की एक प्रति भी प्रस्तुत करे।

मंत्रालय द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार, यदि 30 दिनों के अंदर कंपनी इसमें विफल रहती है तो उसके खिलाफ अग्रिम दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। मंत्रालय ने मल्टीसिस्टम ऑपरेटर्स (MSOs) और लोकल केबल ऑपरेटर्स को निर्देश दिया है कि 30 दिनों की प्रतिबंध अवधि के दौरान वह इस चैनल का प्रसारण न करें। ऐसा न करने पर उनके खिलाफ आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

बता दें कि सूचना-प्रसारण मंत्रालय ने 11 नवंबर 2009 को डाउनलिंकिंग की पॉलिसी गाइडलाइंस 2005 के तहत ‘एनएसटीपीएल’ को ‘होप टीवी’ के लिए डाउनलिंकिंग की अनुमति दी थी। पॉलिसी गाइडलाइंस 2011 के तहत इस अनुमति को 10 नवंबर 2024 तक के लिए बढ़ा दिया गया था।

वहीं, लोगो के अनधिकृत इस्तेमाल को लेकर मंत्रालय ने 27 अगस्त 2020 और 20 नवंबर 2020 को ‘एनएसटीपीएल’ को कारण बताओ नोटिस जारी किए थे। हालांकि, कंपनी की ओर से इन दोनों नोटिसों का कोई जवाब नहीं दिया गया था।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

कोरोना से जिंदगी की जंग हार गईं ‘न्यूज18 राजस्थान’ की एंकर अनीता सिंह

रीजनल न्यूज चैनल ‘न्यूज18 राजस्थान’ में कार्यरत पत्रकार व न्यूज एंकर अनीता सिंह का मंगलवार को निधन हो गया।

Last Modified:
Thursday, 10 June, 2021
AnitaSingh5

रीजनल न्यूज चैनल ‘न्यूज18 राजस्थान’ में कार्यरत पत्रकार व न्यूज एंकर अनीता सिंह का मंगलवार को निधन हो गया। बताया जा रहा है कि वे कोरोना से जिंदगी की जंग लड़ रहीं थीं और पिछले कुछ दिनों से अस्पताल में भर्ती थी, जहां वे वेंटिलेटर सपोर्ट पर थीं।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पत्रकार एवं न्यूज एंकर अनीता सिंह के निधन पर गहरी संवेदना व्यक्त की है। गहलोत ने कहा कि न्यूज़ 18 में कार्यरत युवा पत्रकार एवं न्यूज़ एंकर अनीता सिंह के असामयिक निधन पर मेरी गहरी संवेदनाएं। उन्होंने ईश्वर से शोकाकुल परिजनों को इस बेहद कठिन समय में सम्बल देने एवं दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करने की प्रार्थना की।

वहीं राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया ने भी पत्रकार के निधन पर गहरा शोक प्रकट करते हुए कहा कि प्रदेश की युवा, जुझारू पत्रकार एवं न्यूज एंकर अनीता सिंह के निधन का दुखद समाचार प्राप्त हुआ, ईश्वर से प्रार्थना है कि दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करें एवं परिजनों को संबल दें।

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा सहित कई नेताओं ने भी पत्रकार अनीता सिंह के निधन पर दुख प्रकट किया और दिवंगत आत्मा को शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की।

 

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

रिपब्लिक भारत को अलविदा कह टीवी पत्रकार आशुतोष चतुर्वेदी ने शुरू किया नया सफर

पत्रकार आशुतोष चतुर्वेदी ने हिंदी न्यूज चैनल ‘रिपब्लिक भारत‘ को अलविदा कह दिया है। वह करीब ढाई साल से इस चैनल में बतौर डिप्टी न्यूज एडिटर/एंकर अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे।

Last Modified:
Thursday, 10 June, 2021
Ashutosh Chaturvedi

पत्रकार आशुतोष चतुर्वेदी ने हिंदी न्यूज चैनल ‘रिपब्लिक भारत‘ (Republic Bharta) को अलविदा कह दिया है। वह करीब ढाई साल से इस चैनल के साथ जुड़े हुए थे और बतौर डिप्टी न्यूज एडिटर/एंकर अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे। आशुतोष चतुर्वेदी ने अपने नए सफर की शुरुआत अब ‘टीवी टुडे नेटवर्क‘ (TV Today Network) के साथ की है। उन्होंने यहां पर बतौर एसोसिएट एडिटर/एंकर जॉइन किया है।

विश्वस्त सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, ‘टीवी टुडे नेटवर्क‘ अपने न्यूज चैनल ‘तेज’ का विस्तार करने जा रहा है। इसके लिए तमाम शो और स्टूडियो बनाने का काम जोरों पर है। खबर है कि चैनल के इसी विस्तार के मद्देनजर आशुतोष चतुर्वेदी को यहां बड़ी जिम्मेदारी सौंपी गई है। बता दें कि ‘तेज’ न्यूज 24 घंटे का हिंदी न्यूज टेलिविजन चैनल है, जिसका स्वामित्व टीवी टुडे नेटवर्क के पास है और यह ‘आजतक‘ का एक सहयोगी चैनल है।

आशुतोष चतुर्वेदी मूल रूप से उत्तर प्रदेश में बलिया के रहने वाले हैं। उनके मां और पिताजी शिक्षा विभाग में रहे हैं। पिता की पोस्टिंग बिहार और फिर राज्य अलग होने के बाद झारखंड में रही है। ऐसे में आशुतोष ने आठवीं कक्षा तक झारखंड से पढ़ाई की। इसके बाद 10वीं और 12वीं प्रयागराज से की। प्रयागराज स्थित Ewing Christian college  से ग्रेजुएशन करने के बाद आशुतोष ने माखनलाल यूनिवर्सिटी के नोएडा कैंपस से मास्टर ऑफ जर्नलिज्म की पढ़ाई की है। आशुतोष चतुर्वेदी को सिंगिंग का काफी शौक रहा है और उन्होंने सिंगिंग में तमाम अवार्ड्स भी जीते हैं। कॉलेज के बेस्ट सिंगर ECC Idol का खिताब जीतने के अलावा वह टीवी शो ‘इंडियन आइडियल’ के लखनऊ ऑडिशन के टॉप 60 प्रतिभागियों में शामिल रहे हैं।

आशुतोष चतुर्वेदी ने पत्रकारिता के क्षेत्र में अपने करियर की शुरुआत प्रिंट मीडिया से की थी। शुरुआत में वह हिंदी अखबार ‘अमर उजाला’ से जुड़े। उस समय अखबार के तत्कालीन रेजिडेंट एडिटर और मौजूदा एडिटर उदय सिन्हा ने प्रेजेंटेशन और गुड लुक्स को ध्यान में रखकर आशुतोष को टीवी जर्नलिज्म के लिए प्रेरित किया। इस पर वर्ष 2008 में आशुतोष ‘जी स्पोर्ट्स’(Zee sports)  चैनल के साथ जुड़ गए। हालांकि यहां वह कम समय तक ही रहे और उसके बाद 2009 में ‘आजाद न्यूज‘ चैनल के साथ नई पारी शुरू कर दी। इस चैनल में करीब चार साल अपनी जिम्मेदारी निभाने के बाद उन्होंने यहां से अलविदा बोल दिया और ‘खबर भारती‘ चैनल में बतौर एंकर हेड अपनी नई पारी शुरू की। यहां एक महीने से भी कम समय में उन्होंने अपनी पारी को विराम दे दिया और ‘जी मीडिया’ से जुड़ गए और ‘जी संगम‘ में रहे। उसके बाद ‘इंडिया 24*7 और ‘जी हिंदुस्तान‘ की लॉन्चिंग टीम में रहे।

आशुतोष ने ‘जी हिंदुस्तान‘ चैनल में रहते हुए कई बड़े शो किए, जिन्हें काफी पसंद किया गया। उन्होंने बॉर्डर पर जम्मू-कश्मीर में आर्मी, बीएसएफ व सीआरपीएफ जवानों के साथ बहुत शोज किए। रात के दो बजे लाल चौक पर रिपोर्टिंग की, LOC पर रिपोर्टिंग की, कश्मीर में काफी चुनौतियों के बीच आतंकी अफजल गुरु के गांव जाकर उसके पूरे परिवार का इंटरव्यू किया। 'जी हिंदुस्तान' में वह रात नौ बजे प्राइम टाइम बुलेटिन 'खबर तो समझिए' करते थे।

इस चैनल में रहते हुए सीआरपीएफ (CRPF ) पर की गई रिपोर्टिंग के लिए उन्हें सीआरपीएफ की तरफ से सम्मानित भी किया जा चुका है।‘जी मीडिया‘ में पांच साल से ज्यादा समय तक अपनी जिम्मेदारी निभाने के बाद आशुतोष ने यहां से बाय बोलकर अरनब गोस्वामी के चैनल ‘रिपब्लिक भारत’ को जॉइन कर लिया था। वह इस चैनल की लॉन्चिंग टीम का हिस्सा रहे। अब यहां से अलविदा कहकर उन्होंने ‘टीवी टुडे नेटवर्क’ के साथ नई पारी शुरू की है।

समाचार4मीडिया की ओर से आशुतोष चतुर्वेदी को उनकी नई पारी के लिए ढेरों शुभकामनाएं।  

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

सेना को लेकर दिए बयान पर वरिष्ठ पत्रकार हामिद मीर ने मांगी माफी, कही ये बात

पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार हामिद मीर ने हाल ही में दिए अपने एक भाषण को लेकर माफी मांगी है।

Last Modified:
Wednesday, 09 June, 2021
HamirMir5454

पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार हामिद मीर ने हाल ही में दिए अपने एक भाषण को लेकर माफी मांगी है। उन्होंने कहा कि उनका पाकिस्तानी सेना को बदनाम करने का कोई इरादा नहीं था।

दरअसल, हामिद मीर ने कुछ दिन पहले पत्रकारों पर हो रहे हमलों पर विरोध जताने के लिए प्रदर्शन में हिस्सा लिया था। इसी दौरान उन्होंने पाकिस्तानी सेना के खिलाफ टिप्पणी की थी और इमरान खान सरकार पर तीखा हमला बोला था।  

पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रावलपिंडी इस्लामाबाद यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स (RIUJ), नेशनल प्रेस क्लब की ओर से गठित कमेटी और हामिद मीर की ओर से मंगलवार को एक साझा बयान जारी किया गया, जिसमें कहा गया कि हामिद मीर ने 28 मई को हुए विरोध प्रदर्शन के दौरान दिए अपने भाषण के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि उनका सेना को बदनाम करने जैसा कोई इरादा नहीं था और वे सेना की ओर से की गई कुर्बानियों के लिए दिल में बड़ा सम्मान रखते हैं, साथ ही उन्होंने सियाचिन से लेकर एलओसी तक कई ऑर्मी ऑपरेशन्स को कवर किया है।

हामिद मीर के मुताबिक, उन्होंने पत्रकारों पर हो रहे हमलों के खिलाफ नेशनल प्रेस क्लब के बाहर हुए प्रदर्शन में हिस्सा लिया था और वे अन्य वक्ताओं की बातें सुनकर आवेश में आ गए थे। उन्होंने ये भी कहा कि वो खुद भी अतीत में हमला झेल चुके हैं। वरिष्ठ पत्रकार ने साथ ही कहा कि अगर उनके भाषण से किसी व्यक्ति की भावनाएं आहत हुई हैं तो इसके लिए वे माफी मांगते हैं। हामिद मीर ने कहा कि उनके सेना से कोई मतभेद नहीं हैं और न ही उन्होंने भाषण के दौरान किसी व्यक्ति का नाम लिया था।

बता दें कि उनके इस तरह के वक्तव्य के बाद उन्हें उनके संस्थान जियो टीवी ने एंकरिंग से ऑफ एयर कर दिया था और अस्थायी होस्ट को उनके प्रोग्राम की जिम्मेदारी सौंप दी थी।

चार जून को वरिष्ठ पत्रकारों की एक कमेटी का गठन किया गया, ताकि हामिद मीर के भाषण से उत्पन्न हुए भ्रम को दूर किया जा सके। इस कमेटी में PFUJ के पूर्व अध्यक्ष अफजल बट, RIUJ अध्यक्ष आमिर सज्जाद सैयद और NPC के अध्यक्ष शकील अंजुम को शामिल किया गया था।

गौरतलब है कि पाकिस्तानी पत्रकार असद अली तूर पर जानलेवा हमले के विरोध में हामिद मीर ने कुछ दिनों पहले एक रैली को संबोधित किया था, जिसमें उन्होंने इमरान खान सरकार और सेना के खिलाफ तीखा हमला बोला था। इस्लामाबाद में एक रैली में अपने भाषण में हामिद मीर ने पाकिस्तान में पत्रकारों पर हाल के हमलों के लिए जिम्मेदार लोगों की शिनाख्त किए जाने की बात कही थी। उन्होंने पत्रकारों पर हमलों में पाकिस्तानी सेना का हाथ बताया। इस दौरान हामिद मीर ने पाकिस्तान के आर्मी चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा का भी नाम लिया था।

इस दौरान हामिद मीर ने कहा था, 'यदि आप हमारे घरों में घुसकर हमें मारपीट रहे हैं, तो ठीक है, हम आपके घरों में नहीं घुस सकते क्योंकि आपके पास टैंक और बंदूकें हैं, लेकिन हम आपके घरों के अंदर की चीजों को सार्वजनिक कर सकते हैं।’ हामिद मीर ने सेना की तमाम मामलों में संलिप्तता का हवाला देते हुए यह बात कही थी।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

न्यूज ब्रॉडकास्टर्स फेडरेशन ने BARC को लिखा लेटर, उठाई ये मांग

‘न्यूज ब्रॉडकास्टर्स फेडरेशन’ (News Broadcasters Federation) ने ‘ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल’ (BARC) को एक लेटर लिखा है।

Last Modified:
Tuesday, 08 June, 2021
NBF BARC

‘न्यूज ब्रॉडकास्टर्स फेडरेशन’ (News Broadcasters Federation) ने ‘ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल’ (BARC) को एक लेटर लिखकर आग्रह किया है कि बार्क की फीस का भुगतान न करने के लिए न्यूज चैनल्स के ‘एंड यूजर लाइसेंस एग्रीमेंट’ (EULA) को समाप्त न किया जाए।

इस लेटर में कहा गया है, ‘बार्क ब्रॉडकास्टर्स से सबस्क्रिप्शन फीस के रूप में निश्चित शुल्क के अलावा एडवर्टाइजिंग रेवेन्यू का कुछ प्रतिशत भी लेता है। अधिकांश न्यूज चैनल्स ने सितंबर 2020 की सबस्क्रिप्शन राशि जमा कर दी है और रेवेन्यू का हिस्सा भी जमा करा दिया है। इन दिनों चल रही महामारी, लॉकडाउन और अर्थव्यवस्था पर इसके प्रभाव के साथ-साथ बार्क द्वारा न्यूज जॉनर की रेटिंग को स्थगित रखने के फैसले के कारण रेवेन्यू में काफी कमी आई है। ऐसे में हमारा मानना है कि न्यूज चैनल्स ने ‘बार्क’ को ज्यादा भुगतान कर दिया है और इसके परिणाम स्वरूप बार्क उन्हें क्रेडिट नोट देगा और इसे भविष्य में सबस्क्रिप्शन फीस के रूप में समायोजित करेगा।‘

‘बार्क’ के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स को लिखे गए इस लेटर में ‘एनबीएफ’ ने अनुरोध किया है कि उसके सदस्य न्यूज चैनल्स पर नोटिस भेजकर दबाव न डाला जाए जो बार्क की साप्ताहिक रेटिंग को स्थगित करने के कारण फीस के भुगतान का विरोध कर रहे हैं।

ब्रॉडकास्टर्स द्वारा फीस का भुगतान न किए जाने के संबंध में इस लेटर में कहा गया है कि बार्क ने अक्टूबर 2020 में न्यूज चैनल्स की साप्ताहिक व्युअरशिप को आठ से 12 सप्ताह के लिए स्थगित करने का एकतरफा निर्णय लिया था, लेकिन नौ महीने बाद भी न्यूज चैनल्स की रेटिंग्स उपलब्ध नहीं कराई जा रही हैं। लेटर में यह भी कहा गया है कि रेटिंग के डाटा न मिलने की वजह से न्यूज चैनल्स को एडवर्टाइजर्स और उनकी एजेंसियों की तरफ से मिलने वाले विज्ञापनों को लेकर किस तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए