बॉलिवुड एक्ट्रेस को नेटवर्क18 के एडिटर अमिश देवगन ने यूं दिखाया आईना

कई सेलेब्रिटीज ऐसे हैं, जिन्हें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पसंद नहीं और वो पुलवामा की घटना के बाद हुई...

Last Modified:
Thursday, 07 March, 2019
Amish Devgan

समाचार4मीडिया ब्यूरो।।

कई सेलेब्रिटीज ऐसे हैं, जिन्हें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पसंद नहीं और वो पुलवामा की घटना के बाद हुई एयर स्ट्राइक का पूरा क्रेडिट इंडियन एयरफोर्स को दे रहे हैं और वहीं अभिनंदन की पाक से रिहाई का क्रेडिट पूरी तरह पाकिस्तान के पीएम इमरान खान की ‘गुडविल’ को दे रहे हैं। लेकिन मशहूर एक्ट्रेस हुमा कुरैशी का एक ऐसा ही ट्वीट राष्ट्रवादी पत्रकारों में गिने जाने वाले अमिश देवगन को पसंद नहीं आया। उन्होंने हुमा की ट्विटर पर जमकर क्लास लगाई।

अमिश देवगन ‘जी बिजनेस’ के पूर्व एडिटर हैं और फिलहाल ‘न्यूज 18 इंडिया’ में एग्जिक्यूटिव एडिटर के पद पर हैं और सुपरहिट डिबेट शो 'आर-पार' शो के होस्ट हैं। वे साथ ही ‘नेटवर्क 18’ के हिंदी बिजनेस न्यूज चैनल पर भी डिबेट शो ‘टक्कर’ पेश करते हैं। अमिश ऐसे चुनिंदा टीवी पत्रकार हैं, जो मेनस्ट्रीम न्यूज और बिजनेस न्यूज दोनों पर मजबूत पकड़ रखते हुए रोजाना दोनों चैनलों पर शो करते हैं।

हुमा कुरैशी के जिस ट्वीट पर अमिश देवगन ने ऐतराज किया, पहले वो ट्वीट पढ़िए, ‘’India did the right thing by sending out a message that we will not tolerate terrorism. And Pakistan did the right thing by sending our Hero Wing Cmdr #Abhinandan back home! Let’s hope all leaders of India&Pakistan can figure a way to lead us towards peace #NoTerrorism #NoWar’’।

 

साफ था देश मे बहुत से लोगों को ये एप्रोच पसंद नहीं आ रही कि अभिनंदन की रिहाई का क्रेडिट पाकिस्तान को दिया जाए, जेनेवा कन्वेंशन के तहत ये होना ही था और सऊदी अरब व अमेरिका का दवाब बनाने के लिए भारत सरकार ने जो मेहनत की, उसको तो क्रेडिट मिला ही नहीं। इमरान खान को हीरो बना दिया गया, ये भी भूल गए कि हमारे 44 जवानों को पाक परस्त आतंकियों ने ही मारा है, एक अभिनंदन के लिए उन 44 की जानों को भूल जाना भी ठीक नहीं।

ऐसे में अमिश देवगन ने हुमा को जवाब में लिखा, ‘’ Are we forcing war or Pakistan is sponsoring terror war from last 40yrs on mynation . Please restrain yourself when you just type a tweet rather than understanding issue . We are fighting terror war from many decades now @narendramodi has decided not to take any more #JaiHind’’।

 

उसके बाद हुमा कुरैशी ने जवाब में एक टाइप किया हुआ पेज चिपकाया। हालांकि, ये पेज अभी हुमा की टाइम लाइन पर नहीं दिख रहा है, लेकिन अमिश की टाइम लाइन पर जाकर आप देख सकते हैं। जिसमें पहली ही लाइन है- ‘शेम ऑन यू सर’, इस पेज में हुमा ने ये भी लिखा कि आप पीएम मोदी को टैग करके मुझे डराने की कोशिश कर रहे हैं, आप शायद ये सब पब्लिसिटी के लिए कर रहे हैं। तो अमिश ने भी कड़ा जवाब दिया कि पब्लिसिटी वाली बात कहकर तुमने खुद को एक्सपोज कर दिया। हमारा खून खौलता है जब तुम्हारे पीस लवर्स हमारे सैनिकों को मारने के लिए आतंकी भेजते हैं। आतंक के खिलाफ ट्वीट करो, वॉर के खिलाफ नहीं और अपनी पीआर टीम से इसे बेहतरी से समझो।

 

हुमा ने एक और ट्वीट के जरिए ये साबित करने की कोशिश की क्योंकि वो वॉर के खिलाफ हैं और मामले को पूरा नहीं समझती हैं, इसलिए वो पीएम मोदी से और सरकार से रिक्वेस्ट कर रही हैं कि इस मसले को शांतिपूर्ण हल ढूंढें, क्या आप इसीलिए मुझ पर अटैक कर रहें है, क्या आपको इसी से परेशानी है? और इसे बिना बायस के समझिए। तो अमिश देवगन ने जवाब दिया कि पाकिस्तान ने हमारे इतने जवान मार दिए और हम शांतिपूर्ण हल ढूंढें। ये नए दौर का हिंदुस्तान है हुमाजी, घर में घुसेगा भी और मारेगा भी। हालांकि अमिश ये कहना नहीं भूले कि हुमा एक अच्छी एक्ट्रेस हैं। उसके बाद अमिश देवगन ने हुमा कुरैशी को आईना दिखाने की कोशिश करते हुए कुछ ट्वीट और किए।

फिर हुमा को समझाने अशोक पंडित भी मैदान में उतर आए और हुमा के लिए लिखा कि पीस की रिस्वेस्ट मोदी से नहीं, इमरान खाने से करनी चाहिए। शुरुआत पाकिस्तान ने की है, इंडिया ने नहीं और जिन लोगों ने क्राइम किया लेक्चर उनको दो, विक्टिम्स को नहीं। फिलहाल हुमा ने ट्विटर पर इस मसले से ब्रेक ले लिया है, शायद उनको अंदाजा नहीं था कि देश में इस वक्त जो क्रोध उफान पर है, उनकी शांति की ट्वीट और पाकिस्तान की तारीफ इतनी भारी पड़ जाएगी।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

संसदीय समिति ने फेसबुक-ट्विटर के अधिकारियों को किया तलब, इन अहम मुद्दों पर होगी चर्चा

इससे पहले अक्टूबर 2020 में दोनों सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स के अधिकारियों को डाटा सुरक्षा और प्राइवेसी के मुद्दे पर संयुक्त संसदीय समिति के सामने पेश होने के लिए कहा गया था।

Last Modified:
Monday, 18 January, 2021
Social Media

सूचना प्रौद्योगिकी पर संसद की स्थायी समिति ने फेसबुक और ट्विटर के अधिकारियों को 21 जनवरी को तलब किया है। इस दौरान सोशल मीडिया का दुरुपयोग रोकने को लेकर बातचीत की जाएगी।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, 21 जनवरी की शाम चार बजे होने वाली संसदीय समिति की अगली बैठक में नागरिक अधिकार की सुरक्षा और इंटरनेट मीडिया प्लेटफॉर्म का दुरुपयोग रोकने को लेकर फेसबुक और ट्विटर के अधिकारियों के विचार सुने जाएंगे।

बैठक में डिजिटल स्पेस में महिला सुरक्षा के मुद्दे पर भी विशेष जोर दिया जाएगा। कांग्रेस सांसद शशि थरूर सूचना प्रौद्योगिकी पर संसद की स्थायी समिति के अध्यक्ष हैं। गौरतलब है कि इससे पहले अक्टूबर 2020 में दोनों सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स के अधिकारियों को डाटा सुरक्षा और प्राइवेसी के मुद्दे पर संयुक्त संसदीय समिति के सामने पेश होने के लिए कहा गया था।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

नई प्राइवेसी पॉलिसी पर नाराजगी के बाद WhatsApp ने दी सफाई, अब लिया ये फैसला

अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप ‘वॉट्सऐप’ (WhatsApp) को तमाम आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है।

Last Modified:
Monday, 18 January, 2021
Whatsapp

अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप ‘वॉट्सऐप’ (WhatsApp) को तमाम आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में फेसबुक के स्वामित्व वाले इस ऐप ने प्राइवेसी पॉलिसी अपडेट को तीन महीनों के लिए स्थगित कर दिया है।  

बता दें कि वॉट्सऐप ने पिछले दिनों अपनी प्राइवेसी पॉलिसी को अपडेट किया था। वॉट्सऐप का कहना था कि नई प्राइवेसी पॉलिसी न अपनाने पर यूजर का वॉट्सऐप अकाउंट आठ फरवरी 2021 को सस्पेंड अथवा डिलीट हो जाएगा। वॉट्सऐप के इस फैसले की काफी निंदा हो रही थी। नई प्राइवेसी पॉलिसी अपडेट के खिलाफ दिल्ली हाई कोर्ट में एक जनहित याचिका (PIL) भी दायर की गई है।

हालांकि, वॉट्सऐप ने यूजर्स को यह समझाने का प्रयास किया कि उनकी (यूजर्स की) पर्सनल चैट बिल्कुल प्राइवेट रहेंगी, लेकिन लोगों के बीच इस बात को लेकर भरोसा जगाने में वॉट्सऐप को कोई मदद नहीं मिली।

अपने एक ब्लॉग में वॉट्सऐप का कहना था, ‘हमें पता चला है कि हमारे अपडेट को लेकर लोगों में काफी भ्रम है। तमाम गलत जानकारियों के कारण यह चिंता हो रही है, लेकिन हम लोगों को सच्चाई और अपने सिद्धांतों के बारे में बताना चाहते हैं।’

वॉट्सऐप का कहना था, ’वॉट्सऐप को इस विचार के साथ तैयार किया गया था कि आप अपने दोस्तों और परिवार को जो शेयर करते हैं, वह सिर्फ आपके बीच रहता है। इसका मतलब है कि हम हमेशा आपकी व्यक्तिगत बातचीत को एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन के साथ सुरक्षित रखेंगे ताकि वॉट्सऐप या फेसबुक इन प्राइवेट मैसेजों को न देख सकें। हम आपकी शेयर लोकेशन भी नहीं देख सकते हैं और हम आपके कॉन्टैक्ट्स फेसबुक के साथ शेयर नहीं करते हैं।’

कंपनी के अनुसार, ‘ताजा अपडेट्स में इनमें से कुछ भी नहीं बदल रहा है। अपडेट में नए विकल्प शामिल किए गए हैं, जिसके तहत लोग वॉट्सऐप पर बिजनेस ग्रुप्स को मैसेज कर सकेंगे, इससे पारदर्शिता आएगी कि हम डाटा को कैसे एकत्रित करते हैं और कैसे उसका इस्तेमाल करते हैं। आप यह जान सकते हैं कि आपकी कौन सी जानकारी प्राइवेट रहती है और कौन सी जानकारी को फेसबुक के साथ शेयर किया जाता है। हम जो जानकारी शेयर करते हैं उससे हमें यूजर्स को बेहतर एक्सपीरियंस देने और सुरक्षा को बेहतर बनाने में मदद मिलती है। अभी हर कोई वॉट्सऐप पर खरीदारी नहीं करता है, लेकिन हमें लगता है कि आने वाले समय में ज्यादा यूजर्स वॉट्सऐप पर खरीदारी करेंगे और लोगों को इन सर्विसेज के बारे में पता चलना जरूरी है।’

वॉट्सऐप का कहना है, ’हम फिलहाल प्राइवेसी अपडेट को स्थगित कर रहे हैं। यानी, इस प्राइवेसी अपडेट को लेकर आठ फरवरी को किसी भी वॉट्सऐप अकाउंट को सस्पेंड अथवा डिलीट नहीं किया जाएगा। वॉट्सऐप पर प्राइवेसी और सिक्योरिटी कैसे काम करती है, इसके बारे में गलत जानकारी को दूर करने के लिए हम बहुत कुछ करने जा रहे हैं। अब फरवरी की जगह मई में नई पॉलिसी को लॉन्च किया जाएगा।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

LIVE रिपोर्टिंग के दौरान बाल-बाल बचा पत्रकार, वीडियो हुआ वायरल

दुनिया भर में पत्रकारों को कई बार बड़े ही मुश्किल भरे हालातों में भी काम करना पड़ता है, लिहाजा इसके चलते कई बार हादसे भी हो जाते हैं।

Last Modified:
Friday, 15 January, 2021
liveReporter65656

दुनिया भर में पत्रकारों को कई बार बड़े ही मुश्किल भरे हालातों में भी काम करना पड़ता है, लिहाजा इसके चलते कई बार हादसे भी हो जाते हैं। कनाडा के एक पत्रकार के साथ रिपोर्टिंग के दौरान कुछ इस तरह का वाक्या हो सकता था, लेकिन वह खुद को संभालने में कामयाब रहते हैं और चोटिल होने से बाल-बाल बच जाते हैं। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

दरअसल, यह वीडियो कनाडा स्थित सीटीवी टोरंटो के संवाददाता अनवर नाइट का है। अपनी हालिया रिपोर्ट में अनवर गिरते तापमान के बारे में बात कर रहे थे, जब उन्होंने मौसम की जानकारी देने के लिए पहाड़ी पर कदम रखा, तो उनका पांव फिसल गया और वह ढलान की तरफ फिसलने लगे। वीडियो देखने से लगता है कि किसी भी क्षण उनके साथ कोई दुर्घटना घट सकती थी, लेकिन जिस तरह से वह न केवल खुद को संभालते हैं, बल्कि लाइव टीवी पर रिपोर्टिंग भी करते हैं, वह काबिल-ए-तारीफ है।   

इस घटना के बाद पत्रकार अनवर नाइट ने भी अपने सोशल मीडिया पर इस वीडियो को साझा किया है। अनवर ने इस वीडियो को साझा कर लिखा है कि वही हुआ जिसका मुझे पहले से ही अनुमान था। लाइव टीवी के दौरान रिपोर्टिंग का यह वीडियो वायरल हो गया है।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

फेसबुक ने पब्लिक पेज पर किया ये बड़ा बदलाव

बढ़ते इस्तेमाल के चलते सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स लगातार नए-नए बदलाव कर रहे हैं। फिर चाहे वह फेसबुक हो, वॉट्सऐप या फिर इंस्टाग्राम...

Last Modified:
Monday, 11 January, 2021
Facebook544

बढ़ते इस्तेमाल के चलते सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स लगातार नए-नए बदलाव कर रहे हैं। फिर चाहे वह फेसबुक हो, वॉट्सऐप या फिर इंस्टाग्राम... ये सभी कंपनियां यूजर्स की जरूरत और अपने फायदे के हिसाब से लगातार कुछ नया अपडेट्स करती रहती हैं। इस बीच अब फेसबुक ने एक बड़ा बदलाव किया है। दरअसल फेसबुक ने अपने प्लेटफॉर्म पर दिए गए पब्लिक पेज से लाइक बटन को हटा दिया है।

फेसबुक ने ऐसा इसलिए किया है, क्योंकि उसका मानना है कि लाइक बटन के हटाने से पब्लिक पेज के फॉलोअर्स और बढ़ेंगे। आपको बता दें कि अब तक किसी भी सेलिब्रिटी जैसे कलाकार, नेता और किसी संस्थान के फेसबुक पेज पर यूजर्स को फॉलो के अलावा लाइक करने का बटन भी मिलता था, लेकिन नए अपडेट के बाद अब आपको लाइक का बटन नहीं मिलेगा, बल्कि किसी भी पब्लिक फेसबुक पेज पर सिर्फ फॉलो का बटन ही मिलेगा। हालांकि आप पहले की तरफ किसी पोस्ट को लाइक भी कर सकते हैं। फेसबुक ने अपने ऑफिशियल ब्लॉग पर इस बारे में जानकारी दी है।

वहीं इस बदलाव से पहले फेसबुक ने अपने यूजर्स के लिए लाइव चैट फीचर लॉन्च किया, जिसमें यूजर्स Messenger Rooms के जरिए 50 लोगों के साथ लाइव जुड़ सकते हैं। इसके अलावा आप ग्रुप में रूम को ब्रॉडकास्ट भी कर सकते हैं। हालांकि ऐसा करने के लिए पहले आपको चैट रूम बनाना होगा। क्रिएट किए गए चैट रूम की मदद से आप सीधे लाइव जा सकते हैं। आप इसमें किसी को ऐड होने के लिए इनवाइट भी कर सकते हैं, फिर चाहे उस व्यक्ति के पास अपना फेसबुक अकाउंट न भी हो, तो भी आप उसे इनवाइट भेज पाएंगे। इसके अलावा चैट क्रिएटर्स ये खुद डिसाइड कर पाएंगे कि आपकी लाइव चेट को कौन देख सकता है और कौन नहीं। Rooms के सभी यूजर्स को लाइव ब्रॉडकास्ट में शामिल होने के लिए एक नोटिफिकेशन जाएगा, जिसके बाद उनके पास भी ब्रॉडकास्ट में शामिल होने या न होने का विकल्प रहेगा।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

Google और Snap से फंड जुटाएगी ShareChat: रिपोर्ट

सोशल नेटवर्क कंपनी ‘शेयरचैट’ (ShareChat) 200 मिलियन डॉलर से ज्यादा का फंड जुटाने के लिए अमेरिका की दिग्गज टेक्नोलॉजी कंपनियों ‘गूगल’ और ‘स्नैप’ से बातचीत कर रही है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 06 January, 2021
Last Modified:
Wednesday, 06 January, 2021
Sharechat

बेंगलुरु स्थित सोशल नेटवर्क कंपनी ‘शेयरचैट’ (ShareChat) 200 मिलियन डॉलर से ज्यादा का फंड जुटाने के लिए अमेरिका की दिग्गज टेक्नोलॉजी कंपनियों ‘गूगल’ (Google) और ‘स्नैप’ (Snap) से बातचीत कर रही है। इसके बाद कंपनी की वैल्यू एक बिलियन से ज्यादा हो जाएगी। कंपनी के निवेशकों की लिस्ट में ‘ट्विटर’ (Twitter) पहले से शामिल है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, बातचीत अभी शुरुआती स्तर पर है और इसमें सौदे की शर्तों में बदलाव हो सकता है। रिपोर्ट के अनुसार, नया फाइनेंशियल राउंड Series E 200 मिलियन डॉलर से ज्यादा हो सकता है और इसमें अकेले गूगल 100 मिलियन डॉलर से ज्यादा निवेश कर सकता है।

अब तक, शेयरचैट ने लगभग 264 मिलियन डॉलर जुटाए हैं और पिछले साल इसका मूल्य लगभग 700 मिलियन डॉलर था। बता दें कि वर्ष 2020 में खबर आई थी कि गूगल कथित तौर पर शेयरचैट को खरीदने पर विचार कर रहा है। हालांकि यह डील परवान नहीं चढ़ सकी थी।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

Twitter ने इस पॉडकास्टिंग APP का किया अधिग्रहण

अपने ब्लॉग में ब्रेकर का कहना है कि लोग अब अपने सबस्क्रिप्शंस को अन्य पॉडकास्ट ऐप में ट्रांसफर कर सकते हैं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 06 January, 2021
Last Modified:
Wednesday, 06 January, 2021
Twitter

माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ‘ट्विटर’ (Twitter) ने सोशल ब्रॉडकास्टिंग ऐप ‘ब्रेकर’ (Breaker) का अधिग्रहण कर लिया है। हालांकि, इस सौदे की वित्तीय शर्तों का खुलासा नहीं किया गया है।

ब्रेकर के अनुसार, इस अधिग्रहण के बाद वह अपने ऐप और वेबसाइट को 15 जनवरी 2021 को बंद कर देगा और उसकी टीम ट्विटर को जॉइन कर लेगी। अपने ब्लॉग में ब्रेकर का कहना है कि लोग अब अपने सबस्क्रिप्शंस को अन्य पॉडकास्ट ऐप में ट्रांसफर कर सकते हैं।

ब्रेकर के सीईओ एरिक बर्लिन (Erik Berlin) ने अपने ब्लॉग में लिखा, ‘हम इस बात को लेकर काफी उत्साहित हैं कि ब्रेकर की टीम ट्विटर को जॉइन कर रही है। हम वास्तव में ऑडियो कम्युनिकेशन को लेकर काफी उत्साहित हैं और ट्विटर दुनिया भर के लोगों के लिए जिस तरह से सार्वजनिक बातचीत की सुविधा प्रदान कर रहा है, उससे हम काफी प्रेरित हैं।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

ShareChat से जुड़े अजीत वर्गीज, बड़ी भूमिका में आएंगे नजर

‘शेयरचैट’ को जॉइन करने से पहले अजीत वेवमेकर (Wavemaker) में ग्लोबल प्रेजिडेंट के तौर पर अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 09 December, 2020
Last Modified:
Wednesday, 09 December, 2020
Ajit Varghese

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ‘शेयरचैट’ (ShareChat) ने अजीत वर्गीज को चीफ कॉमर्शियल ऑफिसर के पद पर नियुक्त किया है। वह ‘शेयरचैट’ के सीओओ और को-फाउंडर फरीद अहसान (Farid Ahsan) को रिपोर्ट करेंगे।

अजीत को मीडिया, क्रिएटिव, डिजिटल, डाटा, कंटेंट, स्पोर्ट्स और परफॉर्मेंस के क्षेत्र में काम करने का 25 साल से ज्यादा का अनुभव है। ‘शेयरचैट’ को जॉइन करने से पहले अजीत ‘वेवमेकर’ (Wavemaker) में ग्लोबल प्रेजिडेंट के तौर पर अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे।

अजीत वर्गीज की नियुक्ति पर फरीद अहसान का कहना है, ‘ब्रैंड मार्केटिंग और मुद्रीकरण पर शेयरचैट का मुख्य फोकस होने जा रहा है। नेतृत्व क्षमता के साथ अजीत को मीडिया, मार्केटिंग और एडवर्टाइजिंग के क्षेत्र का काफी अनुभव है। शेयरचैट को नई ऊंचाइयों पर ले जाने में हमें उनके अनुभव का लाभ मिलेगा।’

वहीं, अजीत वर्गीज का कहना है, ‘मेरा मानना ​​है कि अगले कुछ वर्षों में शेयरचैट हर ब्रैंड के लिए मजबूत भागीदार के रूप में विकसित होगा। नए डिजिटल युग के अनावरण में शेयरचैट सबसे आगे रहेगा।’

अजीत ने ‘ओडिशा यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चर एंड टेक्नोलॉजी’ (Orissa University of Agriculture and Technology) से एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग करने के बाद, भुवनेश्वर के ‘जेवियर इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट’ (Xavier Institute of Management) से पढ़ाई की है। भारत के अलावा अजीत सिंगापुर और लंदन में भी काम कर चुके हैं।

वर्गीज मैक्सस (Maxus) से WPP में आए थे, जहां उनका अंतिम पद सीईओ एशिया पैसिफिक का था। वह सात साल के कार्यकाल के बाद मैडिसन वर्ल्ड (Madison World) के सीओओ के पद से इस्तीफा देने के बाद ही साल 2006 में मैक्सस के साथ जुड़े थे। 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

न्यूज कंटेंट के लिए गूगल-फेसबुक को करना पड़ सकता है भुगतान

न्यूज कंटेंट के लिए ऑस्ट्रेलिया में गूगल और फेसबुक को भुगतान करना पड़ सकता है। इस संदर्भ में बुधवार को ऑस्ट्रेलिया सरकार संसद में प्रस्ताव पेश करने जा रही है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 08 December, 2020
Last Modified:
Tuesday, 08 December, 2020
Google News

न्यूज कंटेंट के लिए ऑस्ट्रेलिया में गूगल और फेसबुक को भुगतान करना पड़ सकता है। इस संदर्भ में बुधवार को ऑस्ट्रेलिया सरकार संसद में प्रस्ताव पेश करने जा रही है।

वित्त मंत्री जोश फ्रायडेनबर्ग ने कहा है कि न्यूज कंटेंट के संबंध में यह मसौदा संसदीय समिति में गहनता के साथ तथ्यों को देखने के बाद सांसदों के मतदान के लिए संसद में अगले वर्ष पेश किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि यह मीडिया की दुनिया में बहुत बड़ा परिवर्तन है और पूरी दुनिया हमारी तरफ देख रही है। जुलाई में इस संबंध में एक प्रस्ताव तैयार किया गया था, लेकिन अब उसमें कुछ परिवर्तन किया गया है। संशोधन मीडिया प्लेटफॉर्म और ऑस्ट्रेलिया के मीडिया संगठनों से राय लेने के बाद किए गए हैं।

वित्तमंत्री ने बताया कि वर्तमान में ऑनलाइन विज्ञापनों पर गूगल का 53 फीसद और फेसबुक का 23 फीसद हिस्सा बना हुआ है।

ज्ञात हो कि फेसबुक ने पहले ही चेतावनी दे दी है कि वह न्यूज कंटेंट का भुगतान करने से बेहतर ऑस्ट्रेलिया की खबरों को अपने प्लेटफॉर्म पर रोकना चाहेगा। गूगल ने कहा है कि ऐसी स्थिति में मुफ्त में गूगल सर्च और यूट्यूब उपलब्ध कराना संभव नहीं हो सकेगा।

वित्तमंत्री फ्रायडेनबर्ग ने इस साल जुलाई के अंत में ये स्पष्ट कर दिया था कि उनका ये कदम ऑस्ट्रेलियाई मीडिया कंपनियों को भी कमाने की जगह देने के लिए उठाया गया है। 

बता दें कि पारंपरिक मीडिया फर्म्स लंबे समय से इस तरह की शिकायत कर रहीं हैं कि डिजिटल प्लेटफॉर्म बिना उचित मुआवजा दिए उनके कंटेंट का इस्तेमाल कर रहे हैं और उनका शोषण कर रहे हैं।   

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

पेड कंटेंट को यूजर्स तक कुछ यूं मुफ्त पहुंचाएगा Google

दिग्गज टेक कंपनी ‘गूगल’ (Google) ने अपने ‘न्यूज शोकेस’ (News Showcase) में कुछ अपडेशन करने की घोषणा की है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 04 December, 2020
Last Modified:
Friday, 04 December, 2020
googlenews

दिग्गज टेक कंपनी ‘गूगल’ (Google) ने अपने ‘न्यूज शोकेस’ (News Showcase) में कुछ अपडेशन करने की घोषणा की है। बता दें कि ‘न्यूज शोकेस’ अक्टूबर में लोगों को प्रासंगिक खबरें खोजने में मदद करने के उद्देश्य से लॉन्च किया गया था।

कंपनी का कहना है कि ये अपडेट रीडर्स और पब्लिशर्स दोनों के अनुभव को बेहतर और उपयोगी बना देंगे।

सबसे पहले, गूगल चुनिंदा न्यूज पब्लिशर्स के साथ एक साझेदारी के तहत पेड कंटेंट को लोगों को उपलब्ध कराएगा। बता दें कि कुछ न्यूज पब्लिशर्स के लिए पे-वाल के जरिए रेवेन्यू अर्जित करना अहम स्ट्रैटजी है।

ऐसे लोग जो न्यूज शोकेस के यूजर्स हैं और पब्लिशर्स से सब्स्क्रिप्शन नहीं लिया है, उनके लिए पेड कंटेंट को मुफ्त उपलब्ध कराने के लिए गूगल कुछ पब्लिशर्स को गूगल भुगतान करेगा और बदले में, कंटेंट प्राप्त करने के लिए यूजर्स को उन न्यूज पब्लिशर्स के साथ रजिस्ट्रेशन करना होगा, जिन पर वे भरोसा करते हैं, ताकि न्यूज पब्लिशर्स यूजर्स के साथ रिलेशन बनाए रख सके।

इससे रीडर्स के लिए महत्वपूर्ण न्यूज कंटेंट का उपयोग करना आसान हो जाएगा, क्योंकि रीडर्स की पसंद क्या है, लोकल या नेशनल न्यूज के लिए वे किस पब्लिशर्स के आर्टिकल को पढ़ना पसंद करते हैं, यह समझकर ही न्यूज शोकेस उनके पसंदीदा पब्लिशर्स के महत्वपूर्ण आर्टिकल्स को सूचीबद्ध करेगा।

विस्तार की दिशा में कदम बढ़ाते हुए न्यूज शोकेस अब एंड्रॉयड के साथ-साथ आईओएस (IOS) पर उपलब्ध गूगल न्यूज एप पर उपलब्ध होगा। लेकिन, गूगल की योजना इस फीचर को news.google.com और गूगल डिस्कवर ऐप पर भी देने की है।  न्यूज शोकेस की मदद से पब्लिशर्स बेहतर तरीके से समझ पाएंगे कि यूजर्स किन विषयों में अधिक रुचि रखते हैं और वे किस तरह अपनी प्रतिक्रिया दे रहे  हैं।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

इस सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को खरीद सकती है Google

दिग्गज टेक कंपनी गूगल (Google) कथित तौर पर बेंगलुरु स्थित इस सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को खरीदने की योजना बना रहा है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 24 November, 2020
Last Modified:
Tuesday, 24 November, 2020
Google1

दिग्गज टेक कंपनी गूगल (Google) कथित तौर पर बेंगलुरु स्थित सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म शेयरचैट (ShareChat) को खरीदने की योजना बना रही है।

हालांकि, न तो गूगल और न ही शेयरचैट ने इसकी आधिकारिक पुष्टि की है, लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स में ये अनुमान लगाया जा रहा है कि गूगल शेयरचैट में 1.03 बिलियन निवेश करने को तैयार है।

शेयरचैट के मुताबिक, पूरे भारत में उसके 160 मिलियन यूजर्स हैं और वह करीब 15 भारतीय भाषाओं में सेवाएं प्रदान करता है। लॉकडाउन के दौरान शेयरचैट ने अपने मंथली यूजर्स की संख्या में 166% स्पाइक देखा, जोकि 60 मिलियन से बढ़कर 160 मिलियन हो गया। साथ ही यह भी देखने को मिला कि इन महीनों में प्लेटफॉर्म पर यूजर्स ने सबसे अधिक समय बिताया है।

हाल के दिनों में शेयरचैट की में हुई इस वृद्धि का श्रेय लॉकडाउन को दिया जा सकता है। और वैसे भी टिकटॉक पर प्रतिबंध लगने के बाद लोग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स की ओर रुख करने लगे थे। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर यह वृद्धि टियर II और टियर III क्षेत्रों की वजह से ज्यादा देखने को मिली है। शायद यही वजह है कि गूगल शेयरचैट को खरीदने की योजना बना रही है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए