सूचना:
मीडिया जगत से जुड़े साथी हमें अपनी खबरें भेज सकते हैं। हम उनकी खबरों को उचित स्थान देंगे। आप हमें mail2s4m@gmail.com पर खबरें भेज सकते हैं।

संसदीय समिति ने रखा ट्विटर-फेसबुक के लिए एक अलग निकाय स्थापित करने का प्रस्ताव

पर्सनल डेटा प्रोटेक्शन बिल 2019 पर संयुक्त संसदीय समिति ने ट्विटर और फेसबुक जैसे प्लेटफॉर्म्स के लिए प्रेस काउंसिल की तर्ज पर एक अलग स्वतंत्र निकाय स्थापित करने की सिफारिश की है।  

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 25 November, 2021
Last Modified:
Thursday, 25 November, 2021
Socialmedia854844

पर्सनल डेटा प्रोटेक्शन बिल 2019 (Personal Data Protection Bill 2019) पर संयुक्त संसदीय समिति (Joint Parliamentary Committee) ने ट्विटर और फेसबुक जैसे प्लेटफॉर्म्स के लिए प्रेस काउंसिल की तर्ज पर एक अलग स्वतंत्र निकाय स्थापित करने की सिफारिश की है।  

कमेटी का सुझाव है कि जो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स मध्‍यस्‍थ की तरह नहीं हैं, उन्‍हें प्रकाशकों या पब्लिशर्स (Publishers) के रूप में वर्गीकृत किया जाना चाहिए। इसके साथ ही उनके प्‍लेटफॉर्म्स पर प्रकाशित सभी सामग्री के लिए उन्‍हें ही जिम्‍मेदार बनाया जाना चाहिए।

वर्तमान में, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स को मध्‍यस्‍थ के रूप में माना जाता है और उनके प्लेटफॉर्म पर प्रकाशित सामग्री से कानूनी सुरक्षा प्राप्त होती है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, संसदीय कमेटी ने यह भी सिफारिश की है कि ऐसे में सभी पब्लिशर्स को पर्सनल डेटा प्रोटेक्शन बिल 2019 पर संसद की संयुक्त समिति की रिपोर्ट के अनुसार सभी यूजर्स की पहचान को अनिवार्य रूप से सत्यापित करना होगा। समिति गैर-व्यक्तिगत डेटा को भी इस बिल के दायरे में लेकर आयी है।

इसके अलावा, पैनल ने सिफारिश की है कि डेटा से संबंधित कंपनियों को अधिनियम के प्रावधानों को लागू करने के लिए लगभग 24 महीने का समय मिलना चाहिए।

माना जा रहा है कि इस प्रस्‍ताव को आगामी संसद के शीतकालीन सत्र में पेश किया जा सकता है। अपने सुझाव में संसदीय समिति ने यह भी कहा है कि उन सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म्स को भारत में काम करने की अनुमति नहीं होगी, जिनकी पैरेंट या सहयोगी कंपनी का देश में कहीं ऑफिस नहीं होगा।

समिति ने अपनी रिपोर्ट में सोशल मीडिया तंत्र को लेकर मौजूदा कानूनों को अपर्याप्‍त बताया है और यह भी कहा है कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को आईटी अधिनियम के तहत मध्यस्थों के रूप में नामित किया गया है। इस रिपोर्ट को दो साल के विचार-विमर्श के बाद सदस्यों द्वारा अपनाया गया था। अब अगले हफ्ते से शुरू होने वाले संसद के आगामी शीतकालीन सत्र के दौरान इसे पेश किए जाने की उम्मीद है।

बता दें कि संयुक्त संसदीय समिति ने सोमवार को हुई मीटिंग में पर्सनल डेटा संरक्षण विधेयक 2019 को दो साल से अधिक समय तक विचार विमर्श करने के बाद इसे अंतिम रूप दे दिया है। यह मीटिंग BJP सांसद पीपी चौधरी के नेतृत्व में हुई थी। इस बिल को जल्द ही संसद के आगामी शीतकालीन सत्र (Winter Session) में पेश किया जाएगा। यह शीतकाली सत्र इस महीने के अंत में शुरू होने की उम्मीद है। समिति  को इस बिल को अंतिम रूप देने में 2 साल लग गए। इसे 5 बार विस्तार किया गया है।

संसद की संयुक्त समिति ने विधेयक की मसौदा रिपोर्ट पर विचार करने और उसे अपनाने के लिए 22 नवंबर से पहले 12 नवंबर को दिल्ली में बैठक की थी। संयुक्त समिति का गठन ‘पर्सनल डेटा प्रोटेक्शन बिल 2019 की जांच के लिए किया गया है, जिसे 11 दिसंबर, 2019 को लोकसभा में पेश किया गया था।

इस विधेयक का उद्देश्य अपने व्यक्तिगत डेटा से संबंधित व्यक्तियों की गोपनीयता की सुरक्षा प्रदान करना है। इसमें व्यक्तिगत डेटा का प्रवाह और उपयोग, व्यक्तिगत डेटा को संसाधित करने वाले व्यक्तियों और संस्थाओं के बीच विश्वास का संबंध बनाना, उन व्यक्तियों के अधिकारों की रक्षा करना, जिनके व्यक्तिगत डेटा को संसाधित किया जाता है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

Twitter पर अब एडिट किया जा सकेगा ट्वीट, जानें अभी किसे मिली ये सुविधा

माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर (Twitter) ने आखिरकार एडिट ट्वीट फीचर को जारी कर दिया है, ताकि यूजर्स ट्वीट को पब्लिश करने के बाद उसमें बदलाव कर सकें।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 04 October, 2022
Last Modified:
Tuesday, 04 October, 2022
Twitter

माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर (Twitter) ने आखिरकार एडिट ट्वीट फीचर को जारी कर दिया है, ताकि यूजर्स ट्वीट को पब्लिश करने के बाद उसमें बदलाव कर सकें। हालांकि यह सुविधा अभी आपके लिए नहीं है, बल्कि ट्विटर ब्लू सब्सक्राइबर के लिए है और कुछ देशों में इसे शुरू किया गया है। ट्विटर ब्लू एक मासिक सब्सक्रिप्शन मॉडल है, जो पेड यूजर्स को कई प्रीमियम फीचर्स देता है।

बता दें कि ट्विटर ने हाल ही इस फीचर का ऐलान किया था। कंपनी ने फिलहाल इस फीचर्स को ऑस्ट्रेलिया, कनाडा और न्यूजीलैंड के लिए जारी किया है।

कंपनी ने कहा है कि इस फीचर्स को जल्द अमेरिका के लिए भी जारी किया जाएगा। हालांकि कंपनी ने भारत में एडिट फीचर्स को जारी करने की कोई जानकारी नहीं दी है। 

वैसे इस फीचर्स का इंतजार दुनियाभर के यूजर्स बड़ी बेसब्री से कर रहे हैं। इस फीचर्स की मदद से यूजर्स ट्वीट करने के बाद दोबारा उसे एडिट कर सकते हैं।

यूजर्स ट्विटर एडिट बटन का इस्तेमाल अधिकतम 5 बार ही कर सकेंगे। वहीं इस फीचर्स में यूजर्स को पहले 30 मिनट तक ही ट्वीट को एडिट करने की सुविधा मिलेगी, इसके बाद यूजर्स अपने ट्वीट को एडिट नहीं कर सकेंगे।

ट्विटर के मुताबिक, एडिट होने के बाद ट्वीट आईकन के रूप में दिखेगा, जिसमें अन्य यूजर्स को यह जानकारी मिल सके कि ऑरिजनल ट्वीट को मॉडीफाई किया गया है। साथ ही ट्वीट के एडिट करने के टाइम को भी अन्य यूजर्स देख सकेंगे।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

TRS पार्टी के इस कार्यक्रम पर अमिश देवगन ने उठाया सवाल-नेशनल पार्टी है या कॉकटेल पार्टी?

टीआरएस के एक नेता का वीडियो वायरल हुआ है, जिसमे वो लोगों को शराब की बोतल और मुर्गियां बांटते नजर आ रहे हैं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 04 October, 2022
Last Modified:
Tuesday, 04 October, 2022
amish4543

तेलंगाना के मुख्यमंत्री और तेलंगाना राष्ट्र समिति के अध्यक्ष के चंद्रशेखर राव दशहरे पर अपनी राष्ट्रीय पार्टी की घोषणा करने वाले हैं। टीआरएस विधायक दल और राज्य कार्यकारिणी समिति की एक विस्तारित बैठक बुधवार को तेलंगाना भवन में होने की उम्मीद है, जिसमें टीआरएस के राष्ट्रीय दल बनने पर एक प्रस्ताव पेश किया जाएगा। 

इसी बीच टीआरएस के एक नेता का वीडियो वायरल हुआ है, जिसमे वो लोगों को शराब की बोतल और मुर्गियां बांटते नजर आ रहे हैं। टीआरएस नेता राजनाला श्रीहरि का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है और इस पर विवाद भी गहराने लगा है। 

उन्होंने अपने पूर्व निर्वाचन क्षेत्र वारंगल में दशहरे के अवसर पर लोगों को शराब और चिकन बांटा। इस वीडियो के सामने आने के बाद 'न्यूज़18इंडिया' के सीनियर एंकर और वरिष्ठ पत्रकार अमिश देवगन ने ट्वीट कर अपनी राय व्यक्त की है। 

उन्होंने ट्विटर पर लिखा, 'केसी राव के तेलंगाना राष्ट्र समिति यानी TRS की नेशनल पार्टी की लॉन्चिंग के मौक़े पर दारू और मुर्ग़ा पार्टी दी जा रही है। सवाल ये है कि ये नेशनल पार्टी है या कॉकटेल पार्टी? '

अमिश देवगन द्वारा किए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं।

 

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

सुधीर मिश्रा ने चुनाव जीतने के लिए ‘मुफ्त रेवड़ियों’ से परहेज करने पर दिया जोर, कही ये बात

आम लोगों को मुफ्त के वादे कर चुनाव जीतना और जीतने के बाद उन्हें 'जुमला' कह देना आम बात सी हो गई है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 04 October, 2022
Last Modified:
Tuesday, 04 October, 2022
journalist Sudhir Mishra

इस देश को चुनावों का देश कहा जाता है। ऐसा कोई वर्ष नहीं होता, जब किसी राज्य में चुनाव नहीं हो। इस दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र भारत में इस साल हिमाचल और गुजरात में चुनाव है। इस बार बीजेपी और कांग्रेस के अलावा आम आदमी पार्टी भी जोर आजमाइश के लिए तैयार है। गुजरात में तो खुद आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल प्रचार कर रहे हैं। 

इस समय देश में एक और चीज पर बहस छिड़ी हुई है और वो है 'मुफ्त की राजनीति'। जी हां, आम लोगों को मुफ्त के वादे कर चुनाव जीतना और जीतने के बाद उन्हें 'जुमला' कह देना आम बात सी हो गई है। हाल ही में देश के पीएम नरेंद्र मोदी ने भी 'मुफ्त रेवड़ी बांटने ' पर तंज कसा था। 

इस पूरी बहस के बीच 'नवभारत टाइम्स दिल्ली' के रेजिडेंट एडिटर सुधीर मिश्रा ने भी एक ट्वीट कर अपनी राय व्यक्त की है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, ' क्या देश बहुत बड़े आर्थिक संकट के मुहाने पर है? क्या रूस यूक्रेन युद्ध से टूटती वैश्विक अर्थ व्यवस्था का असर भारत पर नहीं आएगा? क्या यह सही समय नहीं है कि सत्ता और विपक्ष दोनों ही चुनाव जीतने के लिए मुफ्त रेवड़ियों से परहेज करें। क्लाइमेट चेंज कोढ़ में खाज है, समझना होगा।'

 सुधीर मिश्रा द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

मूर्ति पूजा का विरोध करने वालों से सुधीर चौधरी ने पूछा ये बड़ा सवाल, वायरल हुआ ट्वीट

हमारी संस्कृति विविधता से भरी हुई है। माता दुर्गा की इस नौ दिन की आराधना में देश की माताएं-बहनें गरबा और डांडिया कर देवी को प्रसन्न करती हैं।

Last Modified:
Monday, 03 October, 2022
Suhdir8656

इन नवरात्र में यह देखा जा रहा है कि दूसरे धर्म के लोग अपनी पहचान छुपाकर गरबा आयोजनों में हिस्सा ले रहे हैं। इस ज्वलंत मुद्दे पर 'आजतक' के सलाहकार संपादक सुधीर चौधरी ने अपने प्राइम टाइम शो 'ब्लैक एंड व्हाइट' में बात की है। उनके शो के उस वीडियो को ट्विटर पर दो दिन में 22 लाख से अधिक लोग देख चुके हैं जो कि एक रिकॉर्ड है। उनके इस ट्वीट पर देश भर से प्रतिक्रियाएं आ रही हैं।  

आपको बता दें कि देश में इस समय नवरात्र की धूम है और आज अष्टमी का पूजन भी है। नौ दिन तक चलने वाले इस त्यौहार को माता दुर्गा की आराधना के लिए समर्पित किया गया है जिसका समापन आश्विन शुक्ल दशमी यानी विजयादशमी को होता है। इसी दिन श्रीराम ने रावण पर विजय प्राप्त की थी। 

हमारी संस्कृति विविधता से भरी हुई है। माता दुर्गा की इस नौ दिन की आराधना में देश की माताएं-बहनें गरबा और डांडिया कर देवी को प्रसन्न करती हैं। इन नौ दिनों तक पूरे देश में इसकी धूम रहती है। पिछले कुछ सालों से यह देखने में आया है कि दूसरे धर्म के लोग भी इन आयोजनों में दिलचस्पी ले रहे हैं। 

इस मुद्दे को लेकर 'आजतक' के सलाहकार संपादक सुधीर चौधरी ने सवाल उठाया कि जब दूसरे धर्म में नाचना-गाना मना है तो वो लोग गरबे में हिंदू माताओं और बहनों के साथ क्यों नाच रहे हैं? उन्होंने कहा, ‘त्यौहार तोड़ने नहीं जोड़ने का काम करते हैं, वो किसी धर्म के त्यौहार मनाए जाने से परहेज नहीं करते हैं।‘ 

उन्होंने आगे कहा कि जब लोग गलत मंशा से हिंदू धर्म के त्यौहार में प्रवेश करते हैं तो ये सवाल उठना लाजिमी है कि आखिर वो ऐसा क्यों कर रहे हैं? कुछ लड़के अपना नाम बदलकर पांडालों में जाते हैं ताकि ये हिंदू समुदाय की लड़कियों से दोस्ती कर सकें। उन्होंने आगे प्रश्न किया कि क्या दूसरे धर्म की लड़कियां नाम बदलकर इन पांडालों में जाती हैं?  

'आजतक' द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं।

 

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

PM नरेंद्र मोदी ने लॉन्च की 5जी सेवा, रजत शर्मा ने कुछ यूं दी देश को बधाई

5जी सेवा को लॉन्च करने से पहले पीएम मोदी ने दिल्ली के प्रगति मैदान में भारतीय मोबाइल कांग्रेस (आईएमसी) के छठे संस्करण का उद्घाटन किया।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 01 October, 2022
Last Modified:
Saturday, 01 October, 2022
Journalist Rajat Sharma

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज भारत में 5जी सेवा को लॉन्च कर दिया है। अब देश में जल्द ही 4जी सेवा के दिन लदने वाले हैं और आगामी कुछ वर्षों में पूरे देश में 5जी सेवा उपलब्ध होगी। पीएम मोदी के 5जी लॉन्च करने के बाद आज से देश के 13 शहरों में 5जी सेवा शुरू हो गई है। भारत सरकार के टेलीकॉम मंत्रालय का लक्ष्य है कि आने वाले एक साल के अंदर पूरे देश में यह सेवा लागू हो। 

5जी इटरनेट सर्विस में 4G से दस गुना ज्यादा स्पीड मिलेगी, जिससे लोगों को इंटरनेट एक्सेस करने और मूवी, गेम्स, ऐप और अन्य जीजों को डाउनलोड करने में बहुत ही कम समय लगेगा। 5जी सेवा को लॉन्च करने से पहले पीएम मोदी ने दिल्ली के प्रगति मैदान में भारतीय मोबाइल कांग्रेस (आईएमसी) के छठे संस्करण का उद्घाटन किया। 

आज इस मौके पर 'इंडिया टीवी' के एडिटर-इन-चीफ और 'आप की अदालत' के होस्ट रजत शर्मा ने ट्वीट कर देशवासियों को बधाई दी है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ' टेलीकॉम सेक्टर में #5G लॉन्च करने पर पीएम मोदी को बधाई। भारत आज तकनीकी क्रांति के एक नए युग में प्रवेश कर गया है। यह पीएम मोदी के 'आत्मनिर्भरता ' पर जोर के बिना संभव नहीं हो सकता था। एक भारत, श्रेष्ठ भारत। 

रजत शर्मा के द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं। 

 

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

यूक्रेन से विवाद के बीच रूस की इस घोषणा पर ब्रजेश मिश्रा बोले, पर्दा हट गया है

यूक्रेन के चार हिस्सों- लुहांस्क, डोनेट्स्क, जैपोरिजिया और खेरसॉन में रूस के समर्थन वाले अलगाववादी नेता और अधिकारी लंबे समय से जनमत संग्रह की मांग कर रहे थे।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 01 October, 2022
Last Modified:
Saturday, 01 October, 2022
Journalist Brajesh Mishra,

यूक्रेन और रूस के बीच महीनों भर से चल रहे विवाद ने दुनिया भर में हलचल पैदा की हुई है। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने यूक्रेन के चार हिस्सों के रूस में विलय करने की घोषणा कर दी है। इसके साथ ही पुतिन ने चारों हिस्सों के लोगों को रूसी नागरिक करार दिया। 

आपको बता दे, यूक्रेन के चार हिस्सों- लुहांस्क, डोनेट्स्क, जैपोरिजिया और खेरसॉन में रूस के समर्थन वाले अलगाववादी नेता और अधिकारी लंबे समय से जनमत संग्रह की मांग कर रहे थे। इसी बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की ने कहा है कि उनका देश नाटो की सदस्या के लिए आवेदन करेगा। 

इस पूरे घटनाक्रम पर वरिष्ठ पत्रकार और भारत समाचार के एडिटर-इन-चीफ ब्रजेश मिश्रा ने ट्वीट कर अपनी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, 'बेहिसाब ताकत, तानाशाही को जन्म देती है। पुतिन उसके नए प्रतीक हैं। रूस ने एक तरह से पश्चिम के खिलाफ युद्ध का ऐलान कर दिया है। यूक्रेन के चार बड़े राज्यों पर सैन्य कब्जा करके उसे रूस का हिस्सा घोषित कर दिया। यूक्रेन ने नाटो मेंबरशिप अप्लाई कर दी है। पर्दा हट गया है। युद्ध भीषण होगा। 

उनके द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं।

 

 

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

सीएम केजरीवाल ने जताई राघव चड्‌ढा की गिरफ्तारी की आशंका, आलोक मेहता ने यूं साधा निशाना

वर्तमान में राघव राज्यसभा सदस्य हैं और गुजरात चुनाव के मद्देनजर ताबड़तोड़ प्रचार कर रहे हैं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 01 October, 2022
Last Modified:
Saturday, 01 October, 2022
Journalist Alok Mehta

आम आदमी पार्टी के मुखिया और दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने एक बार फिर केंद्र सरकार पर गंभीर आरोप लगा दिए हैं। केजरीवाल के अनुसार, उनकी पार्टी के राज्यसभा सदस्य राघव चड्‌ढा को केंद्र सरकार गिरफ्तार करवा सकती है। वर्तमान में राघव राज्यसभा सदस्य हैं और गुजरात चुनाव के मद्देनजर ताबड़तोड़ प्रचार कर रहे हैं। 

सीएम केजरीवाल ने उनकी गिरफ्तारी की आशंका को भी आगामी गुजरात विधानसभा चुनाव से जोड़ा है। केजरीवाल ने एक ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा कि पार्टी ने राघव चड्‌ढा को गुजरात का सह-प्रभारी बनाया है और उन्होंने गुजरात में चुनाव प्रचार के लिए जाना शुरू कर दिया है। अब सुन रहे हैं कि राघव चड्‌ढा को यह लोग गिरफ्तार करेंगे। किस केस में करेंगे? क्या आरोप होंगे? यह अभी वे लोग बना रहे हैं।

उनके इस ट्वीट पर वरिष्ठ पत्रकार आलोक मेहता ने ट्वीट कर निशाना साधा है। उन्होंने अपने ट्विटर पर लिखा, 'कुछ नेताओं को गिरफ्तारी का भय क्यों बना रहता है? रोज सड़क पर रुदन करते हैं- हमें या हमारे प्रिय साथी को पकड़ने वाले हैं। यदि अपराध नहीं किया, रिश्वत-कमीशन से काला धन नहीं कमाया तो कैसे गिरफ्तारी होगी? हुई तो कुछ घंटे में अदालत से मुक्ति और पकड़ने वाले दंडित।

अलोक मेहता के द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं-

 

 

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

दिग्विजय सिंह नहीं लड़ेंगे अध्यक्ष पद का चुनाव, राहुल कंवल ने खोला ये राज

कर्नाटक के कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे को जिस तरह से बड़े नेताओं का साथ मिल रहा है, उससे स्पष्ट है कि वो आसानी से चुनाव जीत जाएंगे।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 30 September, 2022
Last Modified:
Friday, 30 September, 2022
Journalist Rahul Kanwal

कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव को लेकर अब तस्वीर साफ होती जा रही है। दरअसल आज कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने अचानक से चुनाव नहीं लड़ने का निर्णय लिया है। उनकी जगह अब कर्नाटक के दलित नेता, सदन में कांग्रेस के चेहरे मल्लिकार्जुन खड़गे चुनाव लड़ेंगे। मल्लिकार्जुन खड़गे को सीनियर नेताओं का लगातार समर्थन मिल रहा है, दिग्विजय सिंह के नामांकन न दाखिल करने के बाद अब अशोक गहलोत भी उनके समर्थन में आ गए हैं। 

कांग्रेस अध्यक्ष पद को लेकर अब मल्लिकार्जुन खड़गे और शशि थरूर के बीच मुकाबला है और ऐसा माना जा रहा है कि मल्लिकार्जुन खड़गे का अगला कांग्रेस अध्यक्ष बनना तय है। कर्नाटक के कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे को जिस तरह से बड़े नेताओं का साथ मिल रहा है उससे स्पष्ट है कि वो आसानी से चुनाव जीत जाएंगे। 

दिग्विजय सिंह के अचानक चुनाव से बाहर हो जाने के बाद लोग तमाम कयास लगा रहे हैं। इसी मुद्दे पर 'इंडिया टुडे' के सीनियर एंकर राहुल कंवल ने भी अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है।

उन्होंने ट्विटर पर लिखा, 'गहलोत के विश्वासघात के बाद, गांधी परिवार दिग्विजय जैसे स्वतंत्र विचार वाले व्यक्ति पर कांग्रेस अध्यक्ष बनने के लिए भरोसा नहीं कर सकता है। उनके पास इतना मजबूत व्यक्तित्व है कि 10 जनपथ या 12 तुगलक द्वारा रिमोट से नियंत्रित नहीं किया जा सकता है। इसलिए गांधी परिवार एक 80 वर्षीय वफादार पर भरोसा दिखा रहा है। '

राहुल कंवल के द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं-

 

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव नहीं लड़ेंगे सीएम गहलोत, राणा यशवंत ने कही ये बड़ी बात

इस पूरे घटनाक्रम को लेकर सीएम गहलोत सोनिया गांधी से मिले और उनसे माफी भी मांगी है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 30 September, 2022
Last Modified:
Friday, 30 September, 2022
Journalist Rana Yashwant,

राजनीति को संभावनाओं का खेल ऐसे ही नहीं कहा जाता है, वर्तमान में राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत पर ये पंक्ति सटीक बैठ रही है। दरअसल एक सप्ताह पहले तक उनका कांग्रेस अध्यक्ष बनना तय माना जा रहा था। वर्तमान कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की वह पहली पसंद थे, लेकिन राजस्थान में गहलोत समर्थक विधायकों ने सचिन पायलट को लेकर बयानबाजी की उससे सीएम गहलोत की छवि को नुकसान पहुंचा है। 

अध्यक्ष पद के चुनाव से पहले कांग्रेस राज्य में सीएम बदलना चाहती थी, लेकिन उसी शाम कांग्रेस के 92 विधायकों ने स्पीकर को अपना इस्तीफा दे दिया और विधायक दल की बैठक रद्द हो गई। इस पूरे घटनाक्रम को लेकर सीएम गहलोत सोनिया गांधी से मिले और उनसे माफी भी मांगी। इसी बीच उन्होंने ऐलान किया कि वह अब कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ने वाले हैं। 

इस पूरे सियासी घटनाक्रम पर 'इंडिया न्यूज' के मैनेजिंग एडिटर और वरिष्ठ पत्रकार राणा यशवंत ने ट्वीट कर अपनी राय व्यक्त की है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, अशोक गहलोत ने दिया तो शह था, लेकिन हो गई मात। बिसात पर चाल को सामने वाले की दो चाल सोचकर ही चली जाती है, मगर सामने वाला कभी-कभी बहुत आगे की सोचकर तैयार बैठा रहता है। एक ही चाल में गेम ओवर हो जाता है और यही हुआ। 

राणा यशवंत के द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं-

 

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

तीसरे मोर्चे की कवायद शुरू, अभिषेक उपाध्याय ने मायावती को लेकर कही ये बड़ी बात

इस समय बंगाल की सीएम ममता बनर्जी और बिहार के सीएम नीतीश कुमार तीसरे मोर्चे के गठन की कवायद करने में जुटे हुए हैं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 30 September, 2022
Last Modified:
Friday, 30 September, 2022
Abhishek Upadhyay

देश में अभी आम चुनाव में काफी समय बाकी है, लेकिन विपक्षी दल अभी से मोदी सरकार को हटाने की योजना पर काम कर रहे हैं। इस समय बीजेपी सबसे मजबूत पार्टी है और बीजेपी गठबंधन साल 2014 से ही सत्ता में विराजमान है। देश के सबसे बड़े राज्य यूपी में भी इस समय बीजेपी अजेय है और खुद पीएम मोदी बनारस से सांसद हैं। 

इस समय बंगाल की सीएम ममता बनर्जी और बिहार के सीएम नीतीश कुमार तीसरे मोर्चे के गठन की कवायद करने में जुटे हुए हैं। हालांकि इतने दलों के लोगों को वह कैसे एक मंच पर लाएंगे ये बड़ा सवाल है! दूसरी और देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस ने अभी तक अपने पत्ते नहीं खोले हैं। कांग्रेस के मुताबिक उनके सहयोग के बिना मोदी सरकार को हटाना असंभव है, लेकिन वह बाकी दलों को कैसे संतुष्ट करेगी, इस पर अभी संशय बना हुआ है। 

इस पूरी कवायद पर एबीपी न्यूज के वरिष्ठ पत्रकार अभिषेक उपाध्याय ने एक ट्वीट कर अपनी राय व्यक्त की है। उन्होंने लिखा, 'विपक्षी दलों में आज भी बसपा सुप्रीमो बहन मायावती से बड़ा विनिंग कॉम्बिनेशन किसी के पास नहीं।  दलित+मुस्लिम+ब्राह्मण का उनका ब्रह्मास्त्र किसी भी राजनीतिक समीकरण की चूलें हिला सकता है। सवाल सिर्फ ये है कि आखिर बहन जी इतनी खामोश क्यों हैं? 

अभिषेक उपाध्याय के द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं-

 

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए