सूचना:
मीडिया जगत से जुड़े साथी हमें अपनी खबरें भेज सकते हैं। हम उनकी खबरों को उचित स्थान देंगे। आप हमें mail2s4m@gmail.com पर खबरें भेज सकते हैं।

वीर सावरकर के व्यक्तित्व को सही मायनों में रेखांकित करती है ये किताब: डॉ. मोहन भागवत

स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर की जिंदगी के अनछुए पन्नों से रूबरू कराने के लिए वरिष्ठ पत्रकार, लेखक और राजनीतिक विश्लेषक उदय माहूरकर व चिरायु पंडित ने एक किताब लिखी है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 12 October, 2021
Last Modified:
Tuesday, 12 October, 2021
Veer Savarkar Book Launching

स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर की जिंदगी के अनछुए पन्नों से रूबरू कराने के लिए वरिष्ठ पत्रकार, लेखक और राजनीतिक विश्लेषक उदय माहूरकर (Uday Mahurkar) व चिरायु पंडित ने एक किताब लिखी है। ‘वीर सावरकर- द मैन हू कुड हैव प्रिवेंटेड पार्टिशन’ शीर्षक से लिखी गई इस किताब की लॉन्चिंग 12 अक्टूबर की शाम करीब साढ़े चार बजे नई दिल्ली स्थित ‘डॉ. आंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर‘ में की गई।

केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में हुए एक कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि ‘राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ‘ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत ने इस किताब को लॉन्च किया। बता दें कि यह किताब ‘रूपा पब्लिकेशंस इंडिया’ की ओर से प्रकाशित की गई है।

कार्यक्रम में किताब के लेखक उदय माहूरकर ने कहा, ‘यह किताब क्रांतिकारी सावरकर के बारे में कम, देशभक्त सावरकर के बारे में अधिक बातें कहती है। उन्होंने हिंदू राष्ट्र की परिकल्पना की, जिसमें उन्होंने साफ़ कहा था कि सभी धर्मों को स्वतंत्र रूप से रहने की इजाजत है, उन्होंने यह भी कहा कि अगर कोई अल्पसंख्यक किसी परेशानी का सामना करता है तो सरकार को हस्तक्षेप करना चाहिए।’

वहीं, किताब के सह लेखक चिरायु पंडित ने कहा, ‘वीर सावरकर का जीवन स्वतंत्रता संग्राम की जीती-जागती गाथा रहा है, वह देशभक्ति की एक जीवंत मिसाल हैं। इस किताब का सह-लेखक बनाने के लिए मैं माहूरकर जी का आजीवन ऋणी रहूंगा।’

इस दौरान केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, ‘वीर सावरकर जैसे नायक के बारे में लिखना-पढ़ना कोई आसान काम नहीं है। सावरकर के जीवन के इतने आयाम हैं कि उन्हें एक किताब में समाहित करना चुनौती भरा काम है, जिसे इस पुस्तक के लेखकों ने बाखूबी निभाया है। मैं उदय माहूरकर व चिरायु पंडित को धन्यवाद देता हूं कि पुस्तक के बारे में सही जानकारी लोगों को मिल पाएगी। अटल जी ने भी सावरकर को तेज, त्याग और तप की प्रतिमूर्ति कहा था।’

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ. मोहन भागवत ने कहा, ‘आज वीर सावरकर के बारे में सही जानकारी का अभाव है, ये हमें स्वीकार करना होगा। आज सावरकर के जिन सिद्धांतों को देश की सबसे अधिक आवश्यकता है, उससे हमें रूबरू करवाने का काम ये पुस्तक करती है। जब इस देश को आजादी मिली, उसके बाद सावरकर को बदनाम करने की मुहिम चली और बड़ी तेजी से चली। लेकिन यह सिर्फ यहीं तक सीमित नहीं है, अब अगला लक्ष्य विवेकानंद, दयानंद सरस्वती और योगी अरविंद हैं। भारत की जो वास्तविक राष्ट्रीयता है, वो इन महापुरुषों में समाहित है। इन्हीं तीन लोगों के विचारों के कारण सावरकर इतने बड़े देशभक्त बने।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

फिल्मों के नायक-नायिका नकली होते हैं, सत्यार्थी जी ने असली नायकों को बनाया है: अनुपम खेर

नोबेल पुरस्कार से सम्मानित कैलाश सत्यार्थी (Kailash Satyarthi) की नई किताब ‘तुम पहले क्यों नहीं आए’ का विमोचन सात दिसंबर को दिल्ली स्थित कॉन्स्टीट्यूशन क्लब में किया गया।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 07 December, 2022
Last Modified:
Wednesday, 07 December, 2022
Kailash Satyarthi

नोबेल पुरस्कार से सम्मानित कैलाश सत्यार्थी (Kailash Satyarthi) की नई किताब ‘तुम पहले क्यों नहीं आए’ का विमोचन सात दिसंबर को दिल्ली स्थित कॉन्स्टीट्यूशन क्लब में किया गया। ‘राजकमल प्रकाशन’ एवं ‘इंडिया फॉर चिल्ड्रेन’ के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम में जाने-माने अभिनेता अनुपम खेर, कैलाश सत्यार्थी, श्रीमती सुमेधा कैलाश, राजकमल प्रकाशन के प्रबंध निदेशक अशोक माहेश्वरी और इस पुस्तक के नायकों यानी बच्चों ने सामूहिक रूप से इस किताब का विमोचन किया। किताब के विमोचन से ठीक पहले बच्चों के 'हम निकल पड़े हैं' समूह गान और नारों ने वातावरण को उल्लास से भर दिया। इस दौरान बच्चों ने ‘हर बच्चे का है अधिकार, रोटी खेल पढ़ाई प्यार’ का नारा भी लगाया।

बता दें कि कैलाश सत्यार्थी की यह सातवीं किताब है। इस किताब का प्रकाशन ‘राजकमल प्रकाशन’ ने किया है। इस किताब में दासता और उत्पीड़न की कैद से प्रताड़ित बच्चों की 12 सच्ची कहानियां संकलित हैं।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि अनुपम खेर का कहना था कि फिल्मों के नायक भले ही लार्जर देन लाइफ हों, लेकिन सत्यार्थी जी ने असली नायकों को बनाया है। वह खुद में एक प्रोडक्शन हाउस हैं। इसके साथ ही अनुपम खेर ने अपने जीवन के शुरुआती संघर्ष और बच्चों के लिए काम करने वाले अपने फाउंडेशन के बारे में भी बताया। अनुपम खेर का कहना था, ‘फिल्मों में जो नायक-नायिका होती हैं, वे नकली होते हैं, असली नायक-नायिका तो इस किताब के बच्चे हैं, जिन्हें कैलाश सत्यार्थी जी ने बनाया है़। ये आपकी ही नहीं, देश की भी पूंजी हैं। मैं लेखक के साथ राजकमल प्रकाशन को भी बधाई देता हूं कि उन्होंने ऐसी किताब प्रकाशित की है़।’ इसके बाद उन्होंने किताब की भूमिका के कुछ अंश भी पढ़कर सुनाए। उन्होंने मंच से ही कैलाश सत्यार्थी से उनके काम के बारे में अनौपचारिक बातें की और उनके अनुभव साझा किए।

किताब के लेखक कैलाश सत्यार्थी का कहना था, ‘इस किताब की हर कहानी अंधेरों पर रोशनी की, निराशा पर आशा की, अन्याय पर न्याय की और हैवानियत पर इंसानियत की जीत का भरोसा दिलाती है। यह कुछ ऐसे चुनिंदा बच्चों की जिंदगी का दस्तावेज है, जिनकी पीड़ा की तपन से लाखों बच्चों की गुलामी की जंजीरें पिघलकर टूटी थीं।’ इसके साथ ही कैलाश सत्यार्थी का यह भी कहना था कि इन कहानियों को पढ़कर अगर आपकी आंखों में आंसू आते हैं तो वह आपकी इंसानियत का सबूत है। उन्होंने बताया कि इस किताब में जिन बच्‍चों की कहानियां कही गई हैं, उनमें से कई को संयुक्‍त राष्‍ट्र जैसे वैश्विक मंच पर वैश्विक स्तर के नेताओं से मुखातिब होने और बच्‍चों के अधिकार की मांग उठाने के मौके भी मिले। इसके बाद बेहतर बचपन को सुनिश्चित करने के लिए कई राष्‍ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय कानून भी बने। कैलाश सत्यार्थी का कहना था कि बच्चों से हम बहुत कुछ सीख सकते हैं। हमारे लिए यह बहुत महत्वपूर्ण है कि हम खुद भी अपने भीतर के बच्चे को पहचानें।

कैलाश सत्यार्थी के अनुसार, ‘इस किताब को कागज पर लिखने में भले ही मुझे 12-13 साल लगे हों लेकिन इसमें जो कहानियां दर्ज हैं उन्हें मेरे हृदय पटल पर अंकित होने में 40 वर्षों से भी अधिक समय लगा है। मैं साहित्यकार तो नहीं हूं,पर एक ऐसी कृति बनाने की कोशिश की है जिसमें सत्य के साथ साहित्य का तत्व भी समृद्ध रहे। ये कहानियां जिनकी हैं, मैं उनका सहयात्री रहा हूं, इसलिए जिम्मेदारी बढ़ जाती है। स्मरण के आधार पर कहानियां लिखीं, फिर उन पात्रों को सुनाया जिनकी ये कहानियां हैं। इस तरह सत्य घटनाओं का साहित्य की विधा के साथ समन्वय बनाना था। मैंने पूरी ईमानदारी से एक कोशिश की है। साहित्य की दृष्टि से कितना खरा उतर पाया हूं ये तो साहित्यकारों और पाठकों की प्रतिक्रिया के बाद ही कह सकूंगा।’

इस दौरान कैलाश सत्यार्थी ने यह भी बताया कि वह अपनी आत्मकथा लिखने जा रहे हैं, जो जल्द ही प्रकाशित होगी। इस पर अनुपम खेर ने उनसे इस आत्मकथा पर फिल्म (बायोपिक) बनाने और मजाक-मजाक में खुद को इस फिल्म में कैलाश सत्यार्थी की भूमिका निभाने की पेशकश भी कर दी।  

लोकार्पण के मौके पर ‘राजकमल प्रकाशन’ समूह के प्रबंध निदेशक अशोक माहेश्वरी का कहना था, ‘यह हमारे लिए विशेष खुशी का अवसर है। इसका कारण केवल यह नहीं है कि आज हमारे द्वारा प्रकाशित ऐसी एक किताब का विमोचन होने जा रहा है, जिसके लेखक नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित कैलाश सत्यार्थी जी हैं और जिनके हाथों विमोचन हो रहा है, वह विख्यात अभिनेता अनुपम खेर हैं। इन विभूतियों के साथ-साथ आप सबके साहचर्य की खुशी बेशक हमें है। पर सबसे बड़ी खुशी इस बात की है कि 'तुम पहले क्यों नहीं आये' के जरिये हमें उन बच्चों के बारे में जानने का मौका मिला जो अकल्पनीय, अमानवीय परिस्थितियों से होकर गुजरने के बावजूद अन्य संकटग्रस्त  बच्चों की मुक्ति के लिए प्रयत्नशील रहे।”

अशोक माहेश्वरी का यह भी कहना था, ‘मैं दोहराना चाहता हूं कि इस पुस्तक को प्रकाशित करना हमारे लिए विशेष रहा है। कारण कि यह बच्चों के बारे है, वह भी उन बच्चों के बारे में जिन्हें समाज की विसंगतियों का शिकार होना पड़ा, जिन्हें हर तरह के अभाव और अपमान से गुजरना पड़ा। कैलाश सत्यार्थी और उनके ‘बचपन बचाओ अभियान’ के चलते वे उन अमानवीय हालात से मुक्त होकर आज हमारे बीच हैं, नए जीवन के सपने देख रहे हैं। यह किताब हमें यह भी याद दिलाती है कि अनेक बच्चे आज भी ऐसी ही परिस्थितियों में जीवन बिता रहे होंगे, उनके लिए हमें लगातार काम करते रहना होगा। सिर्फ संगठन के स्तर पर नहीं, निजी तौर पर भी एक जागरूकता पैदा करनी होगी, ताकि समाज खुद भी उन बच्चों के प्रति संवेदनशील बनें और ऐसे हालत ही न बनने दें कि भविष्य के ये नागरिक इस तरह नष्ट हों। बचपन अगर सुरक्षित नहीं है तो दुनिया का भविष्य सुरक्षित नहीं हो सकता। कैलाश जी किताब इस सचाई को रेखांकित करती है और बचपन को हर प्रकार के शोषण से मुक्त रखने में छोटे से छोटे प्रयास की आवश्यकता व उसकी सार्थकता को स्पष्ट करती है।’

लोकार्पण कार्यक्रम से पहले 'कैलाश सत्यार्थी से मुलाकात' के दौरान आमंत्रित अतिथियों और मीडियाकर्मियों ने उनसे आंदोलन के विषय में सवाल किए। इस दौरान कैलाश सत्यार्थी ने उन्हें अपने आंदोलन के सरोकारों और प्रक्रिया से अवगत कराया। इस अवसर पर पुस्तक के नायक बच्चों पर केंद्रित एक लघु फ़िल्म का प्रदर्शन किया गया। बच्चों ने उपस्थित जनों को संबोधित भी किया और आज वे किन जिम्मेदारियों का निर्वाह कर रहे हैं, उनके बारे में भी बताया।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

GQ India में अब यह बड़ी जिम्मेदारी निभाएंगी वरिष्ठ पत्रकार प्रियदर्शिनी पटवा

वर्तमान में वह यहां एंटरटेनमेंट एडिटर के तौर पर अपनी जिम्मेदारी निभा रही थीं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 06 December, 2022
Last Modified:
Tuesday, 06 December, 2022
priyadarshini patwa

प्रियदर्शिनी पटवा को प्रसिद्ध मैगजीन ‘जीक्यू’ (GQ) इंडिया में मैनेजिंग एडिटर के पद पर नियुक्त किया गया है। वह यहां पहले की तरह एंटरटेनमेंट एडिटर की जिम्मेदारी भी संभालेंगी। एक सोशल मीडिया पोस्ट के माध्यम से पटवा ने अपनी नई भूमिका के बारे में जानकारी शेयर की है।

अपनी पोस्ट में पटवा ने लिखा है, ‘2022 मेरे लिए काफी अच्छा साल रहा है। इस दौरान बहुत कुछ सीखने को मिला और तमाम डेवलपमेंट्स देखने को मिले। मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि मुझे अब जीक्यू इंडिया में मैनेजिंग एडिटर बनाया गया है। हालांकि, पूर्व की तरह मैं एंटरटेनमेंट एडिटर की भूमिका निभाना भी जारी रखूंगी।’

बता दें कि प्रियदर्शिनी पटवा करीब दो साल से ‘जीक्यू’ इंडिया के साथ काम कर कर ही है। पूर्व में वह ‘फ्री प्रेस जर्नल’ (Free Press Journal) में फीचर एडिटर भी रह चुकी हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

mint से जुड़े गौरव लघाटे, निभाएंगे यह बड़ी जिम्मेदारी

अंग्रेजी के बिजनेस अखबार ‘मिंट’ (mint) की मीडिया और मार्केटिंग एडिटर शुचि बंसल यहां अपने 13 साल के कार्यकाल के बाद सेवानिवृत्त हो गई हैं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 01 December, 2022
Last Modified:
Thursday, 01 December, 2022
Gaurav Laghate

अंग्रेजी के बिजनेस अखबार ‘मिंट’ (mint) की मीडिया और मार्केटिंग एडिटर (हेड ऑफ कंज्यूमर वर्टिकल) शुचि बंसल यहां अपने 13 साल के कार्यकाल के बाद सेवानिवृत्त हो गई हैं। उनकी जगह अब गौरव अघाटे (Gaurav Laghate) को यह जिम्मेदारी सौंपी गई है। गौरव अघाटे इससे पहले ‘इकनॉमिक्स टाइम्स’ (Economic Times) में सीनियर असिस्टेंट एडिटर के पद पर अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे।

इस बारे में ‘मिंट’ के एडिटर श्रुतिजीत केके (Sruthijith KK) उर्फ एसके की ओर से जारी एक मेल में कहा गया है, ‘मिंट के लिए शुचि एक आदर्श सहयोगी रही हैं। मैं शुचि को उनकी वर्षों की सेवा और मिंट के प्रति प्रतिबद्धता के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं। व्यक्तिगत रूप से पिछले दो वर्षों में बतौर वरिष्ठ सहयोगी हमने एक साथ काम किया है। मैं भविष्य के लिए उन्हें शुभकामनाएं देता हूं।’

वहीं, लघाटे के बारे में श्रुतिजीत केके ने लिखा है, ‘मुझे यह जानकारी शेयर करते हुए खुशी हो रही है कि गौरव अघाटे आज हमारे साथ टीम में शामिल हुए हैं और वह शुचि की जगह अपनी जिम्मेदारी संभालेंगे। गौरव ने हाल के वर्षों में मीडिया और एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री, स्पोर्ट्स बिजनेस और विज्ञापन व संबंधित क्षेत्रों के आक्रामक कवरेज के साथ फ्रंट फुट पर अपनी पारी खेली है।’

इसके साथ ही श्रुतिजीत ने लिखा है, ‘लघाटे ने बिजनेस स्टैंडर्ड, टेलीविजन पोस्ट, इंडियन टेलीविजन और हाल ही में  द इकनॉमिक टाइम्स जैसे पब्लिकेशंस में इसके विकास पर नज़र रखते हुए इस क्षेत्र को 14 वर्षों तक कवर किया है।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

’दैनिक भास्कर’ को बाय बोलकर अब इस अखबार संग जुड़े पत्रकार राम ब्रजेश पाल

पत्रकार राम ब्रजेश पाल ने ‘दैनिक भास्कर’ (Dainik Bhaskar) में अपनी पारी को विराम दे दिया है। वह इस अखबार के अमृतसर एडिशन में करीब ढाई साल से कार्यरत थे।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 30 November, 2022
Last Modified:
Wednesday, 30 November, 2022
Brajesh Pal

पत्रकार राम ब्रजेश पाल ने ‘दैनिक भास्कर’ (Dainik Bhaskar) में अपनी पारी को विराम दे दिया है। वह इस अखबार के अमृतसर एडिशन में करीब ढाई साल से कार्यरत थे और इन दिनों बतौर सीनियर सब एडिटर डेस्क इंचार्ज की जिम्मेदारी संभाल रहे थे। 

राम ब्रजेश पाल ने मीडिया में अपने नए सफर की शुरुआत अब ‘राजस्थान पत्रिका’ (Rajasthan Patrika) के साथ की है। उन्होंने जयपुर में बतौर चीफ सब एडिटर जॉइन किया है।

राम ब्रजेश पाल ने ग्वालियर से प्रकाशित दैनिक 'स्वदेश' अखबार से बतौर ट्रेनी अपने पत्रकारिता करियर की शुरुआत की थी। इसके बाद वह मध्य प्रदेश में ही 'राज एक्सप्रेस', 'पीपुल्स समाचार' और फिर 'हिन्दुस्तान' व 'अमर उजाला' के आगरा संस्करण से जुड़े रहे हैं।

मूल रूप से ग्वालियर (मध्य प्रदेश) के रहने वाले राम ब्रजेश पाल करीब डेढ़ दशक से आगरा में रह रहे हैं। उन्होंने ग्वालियर की जीवाजी विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन एवं आगरा यूनिवर्सिटी से पत्रकारिता में पोस्ट ग्रेजुएशन किया है। समाचार4मीडिया की ओर से राम ब्रजेश पाल को नई पारी के लिए ढेरों बधाई और शुभकामनाएं। 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

इस बड़े पद पर ‘Financial Times’ से जुड़ीं निकित्सा चोपड़ा

चोपड़ा रीजनल और नेशनल दोनों मार्केट्स में काम कर चुकी हैं। उन्हें प्रिंट, टीवी, रेडियो और डिजिटल मीडिया इंडस्ट्री की गहरी समझ है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 23 November, 2022
Last Modified:
Wednesday, 23 November, 2022
Nikitsha Chopra

‘फाइनेंसियल टाइम्स’ (Financial Times) ने निकित्सा चोपड़ा (Nikitsha Chopra) को वाइस प्रेजिडेंट-इंडिया(B2B) के पद पर नियुक्त किया है। इससे पहले वह ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) में बतौर हेड (Content Licensing & Film Partnerships) अपनी जिम्मेदारी निभा रही थीं।

चोपड़ा रीजनल और नेशनल दोनों मार्केट्स में काम कर चुकी हैं। उन्हें प्रिंट, टीवी, रेडियो और डिजिटल मीडिया इंडस्ट्री की गहरी समझ है। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत वर्ष 2005 में ‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ (Times Of India) समूह के साथ की थी। बाद में वह ‘नेटवर्क18’ (Network 18), ‘ब्लूमबर्ग टीवी इंडिया’ (Bloomberg TV India) और  ‘पिंग नेटवर्क’ (PING Network) में प्रमुख पदों पर कार्यरत रहीं।    

कॉर्पोरेट्स और मीडिया एजेंसियों में वरिष्ठ हितधारकों के साथ संबंधों के मजबूत नेटवर्क के द्वारा मीडिया सेल्स, ब्रैंड सॉल्यूशंस, टीम मैनेजमेंट और बिजनेस डेवलपमेंट में विशेषज्ञता के लिए उन्हें कई बार सराहा गया है।

चोपड़ा ने ‘नेटवर्क 18 रीजनल’, ‘पिंग नेटवर्क’ और ‘मिर्ची’ में रेवेन्यू टीमों को सफलतापूर्वक तैयार किया है और उन्हें आगे बढ़ाया है, जो पार्टनर की जरूरतों के अनुरूप उत्पाद विकास में समानांतर रूप से योगदान दे रही हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

अमर उजाला के पत्रकार को अगवा करने का प्रयास, लूटपाट कर भागे बदमाश

जम्मू से खबर है कि यहां शनिवार रात अमर उजाला के पत्रकार से कार सवार बदमाशों ने न केवल मारपीट कर लूटपाट की, बल्कि अपहरण करने का भी प्रयास किया।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 21 November, 2022
Last Modified:
Monday, 21 November, 2022
robbery548

जम्मू से खबर है कि यहां शनिवार रात अमर उजाला के पत्रकार से कार सवार बदमाशों ने न केवल मारपीट कर लूटपाट की, बल्कि अपहरण करने का भी प्रयास किया।

घटना गंग्याल थाना क्षेत्र में दमकल विभाग कार्यालय के निकट शनिवार को आधी रात के बाद घटी, जब वेयर हाउस स्थित अमर उजाला के पत्रकार इरफान अहमद शनिवार रात करीब दो बजे कार्यालय से बाड़ी ब्राह्मणा स्थित घर बाइक से जा रहे थे, कि तभी दमकल विभाग कार्यालय गंग्याल से कुंजवानी की तरफ 100 मीटर की दूरी पर पीछे से आई एक कार बाइक के आगे आकर रुक गई। कार में चार बदमाश थे, जिनमें से तीन ने लूटपाट शुरू कर दी। बदमाशों ने गले की चेन, घड़ी, अंगूठी, मोबाइल, पर्स आदि लूटने का प्रयास किया। शोर मचाने पर बदमाश कार में बैठकर फरार हो गए। इस छीना-झपटी में बाइक गिर गई। बाद में बाइक को स्टार्ट कर ही रहे थे कि बदमाश फिर से आ गए और दोबारा मारपीट व लूटपाट शुरू कर दी। इस बार बदमाशों ने पत्रकार को अगवा करने का भी प्रयास किया। पीड़ित के फिर शोर मचाने और पास में एक कंपाउंड में चले जाने पर बदमाश बाइक में लटके बैग को लेकर फरार हो गए।

बदमाश महज आधे घंटे में दो बार मारपीट कर व बैग छीनकर भाग गए। गंग्याल पुलिस में इस घटना को लेकर शिकायत दर्ज की गई है। पीड़ित पत्रकार के अनुसार, बदमाशों के चले जाने के बाद रात 2:34 बजे 100 नंबर पर फोन किया गया, लेकिन किसी ने उनका फोन नहीं उठाया। बाद में उन्होंने कुंजवानी पर हाईवे पेट्रोलिंग पुलिस को आपबीती की सूचना दी। हाईवे पुलिस के सुरेश शर्मा ने उन्हें गाड़ी में बिठाकर बदमाशों की तलाश की, लेकिन उनका पता नहीं चल पाया।

फिलहाल पत्रकार की तरफ से दी गई शिकायत के आधार पर पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है। जिस जगह वारदात हुई है, उसके आसपास कई शोरूम व बैंक हैं, जिनके सीसीटीवी की फुटेज की जांच की गई, लेकिन अभी तक बदमाशों का पता नहीं चल पाया है।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

‘दैनिक जागरण’ को बाय बोलकर फिर इस अखबार से जुड़े पत्रकार गौरव त्रिपाठी

पत्रकार गौरव त्रिपाठी ने ‘दैनिक जागरण’ (Dainik Jagran) में अपनी पारी को विराम दे दिया है। वह इस अखबार की हिसार यूनिट में करीब चार साल से कार्यरत थे।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 18 November, 2022
Last Modified:
Friday, 18 November, 2022
Gaurav Tripathi

पत्रकार गौरव त्रिपाठी ने ‘दैनिक जागरण’ (Dainik Jagran) में अपनी पारी को विराम दे दिया है। वह इस अखबार की हिसार यूनिट में करीब चार साल से कार्यरत थे और इन दिनों बतौर इनपुट हेड (हिसार/पानीपत) अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे।  

गौरव त्रिपाठी ने अब अपनी नई पारी की शुरुआत ‘अमर उजाला’ (Amar Ujala) के साथ की है। उन्होंने चंडीगढ़ में बतौर डिप्टी न्यूज एडिटर जॉइन किया है। बता दें कि इस अखबार के साथ उनकी यह दूसरी पारी है। मीडिया में अपने करियर की शुरुआत उन्होंने ‘अमर उजाला’ पंचकूला से की थी।

मूल रूप से कानपुर (उत्तर प्रदेश) के रहने वाले गौरव त्रिपाठी को मीडिया में काम करने का डेढ़ दशक से ज्यादा का अनुभव है। पूर्व में वह करीब एक दशक तक दैनिक ‘हिन्दुस्तान’ (Hindustan) आगरा में भी अपनी जिम्मेदारी निभा चुके हैं।

पढ़ाई-लिखाई की बात करें तो कानपुर से कॉमर्स में ग्रेजुएट गौरव त्रिपाठी ने ‘भारतीय विद्या भवन’ की कानपुर ब्रांच से जर्नलिज्म में पीजी डिप्लोमा किया है। समाचार4मीडिया की ओर से गौरव त्रिपाठी को उनकी नई पारी के लिए ढेरों बधाई और शुभकामनाएं।  

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

फर्जी खबर फैलाने वालों के खिलाफ 'अमर उजाला' उठाएगा ये सख्त कदम

अमर उजाला के नाम से फर्जी ओपिनियन पोल वायरल किया जा रहा है। कुछ शरारती तत्वों ने अमर उजाला के फॉन्ट और लोगो का इस्तेमाल कर आंकड़े बदल दिए हैं

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 12 November, 2022
Last Modified:
Saturday, 12 November, 2022
AmarUjala4545

सोशल मीडिया पर फर्जी खबरों का अंबार लगा हुआ है। ये फर्जी खबरें न केवल पाठकों को भ्रमित करती हैं, बल्कि कई बार ब्रैंड्स की साख को भी नुकसान पहुंचाती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी हाल ही में फर्जी खबरों के खिलाफ जागरूकता पैदा करने की आवश्यकताओं पर जोर दिया था और कहा था कि सोशल मीडिया को कम करके नहीं आंका जा सकता है और एक छोटी सी फर्जी खबर देश में बड़ा बवाल मचा सकती है। लिहाजा इस बीच, अमर उजाला के नाम से फर्जी ओपिनियन पोल वायरल किया जा रहा है। कुछ शरारती तत्वों ने अमर उजाला के फॉन्ट और लोगो का इस्तेमाल कर आंकड़े बदल दिए हैं और इसे अमर उजाला 2022 के ओपिनियन पोल के नाम से वायरल किया जा रहा है।

जबकि अमर उजाला का कहना है कि उसका संस्थान इस तरह के पोल करता ही नहीं है। अमर उजाला ने अब ऐसे फर्जी खबर फैलाने वालों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई करने का मन बना लिया है, जो उसके नाम और लोगो का इस्तेमाल कर लोगों को भ्रमित कर रहे हैं।

अमर उजाला ने अपने पाठकों को बताया कि उसने ऐसा कोई सर्वे नहीं किया है। अमर उजाला की ओर से कहा गया कि अमर उजाला अपनी साख, विश्वनीयता और पाठकों तक निष्पक्ष खबरें पहुंचाने के लिए जाना जाता है। अमर उजाला के नाम और लोगो का इस्तेमाल कर इस तरह की फेक न्यूज फैलाने वालों के खिलाफ हम सख्त कानूनी कार्रवाई करने जा रहे हैं। अगर आपके पास अमर उजाला के नाम से कोई भी सर्वे आता है तो उस पर यकीन नहीं करें, न ही उसे फॉरवर्ड करें।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

‘अमर भारती’ मीडिया समूह में फिर यह बड़ी जिम्मेदारी संभालेंगे वरिष्ठ पत्रकार विनोद भारद्वाज

मूल रूप से आगरा के रहने वाले विनोद भारद्वाज को मीडिया में काम करने का करीब साढ़े चार दशक का अनुभव है। वह ‘ताज प्रेस क्लब’ आगरा के प्रेजिडेंट भी रह चुके हैं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 02 November, 2022
Last Modified:
Wednesday, 02 November, 2022
Vinod Bhardwaj

वरिष्ठ पत्रकार विनोद भारद्वाज ‘अमर भारती’ मीडिया समूह के साथ फिर अपना सफर शुरू करने जा रहे हैं। इस समूह के राष्ट्रीय हिंदी दैनिक ‘अमर भारती’ के आगरा एडिशन में बतौर मैनेजिंग एडिटर वह 14 नवंबर को अपना पदभार ग्रहण करेंगे।

विनोद भारद्वाज पूर्व में भी ‘अमर भारती’ मीडिया समूह के साथ जुड़े रहे हैं, लेकिन स्वास्थ्य संबंधी कारणों की वजह से लंबे समय से फिलहाल इससे दूर थे। अब स्वास्थ्य लाभ के बाद वह पुन: इस मीडिया समूह में जिम्मेदारी संभालने जा रहे हैं।

बता दें कि ‘अमर भारती’ मीडिया समूह वर्तमान में दिल्ली, लखनऊ,आगरा,मुरादाबाद,गुरुग्राम व मुंबई संस्करणों संग हिंदी दैनिक ‘अमर भारती‘ व वेब न्यूज चैनल ‘एक्सपोज इंडिया‘ (Expose India) का संचालन करता है।

‘अमर भारती’ मीडिया समूह के संपादक शैलेंद्र कुमार जैन के अनुसार, ‘विनोद भारद्वाज वरिष्ठ होने के साथ-साथ आगरा के प्रतिष्ठित पत्रकारों में शुमार हैं। वह हमारे संस्थान के मार्गदर्शक व प्रमुख स्तंभ रहे हैं। उनके नेतृत्व में आगरा संस्करण नई ऊंचाइयों तक पहुंचेगा। संस्थान के सभी सदस्य विनोद भारद्ज के नेतृत्व में अमर भारती को संपूर्ण आगरा परिक्षेत्र में प्रभावी एवं सम्मानजनक समाचार पत्र के रूप में स्थापित करने के पुनीत संकल्प के लिए पूरे मनोयोग से जुटकर सार्थक सहयोग करेंगे।’

इस बारे में विनोद भारद्वाज ने एक फेसबुक पोस्ट भी की है। इस पोस्ट में उन्होंने लिखा है, ‘अपनी प्रिंटिंग प्रेस व अन्य नवीन व्यवस्थाओं संग अमर भारती हिंदी दैनिक जल्दी ही आपके मध्य उपस्थित होगा। यह आपका अपना अखबार है और पूर्व की भांति आप सभी का साथ व सहयोग मुझे मिलता रहेगा, ऐसा मेरा विश्वास है। मिलते हैं जल्दी ही आपके अपने मंच के साथ...।’

मूल रूप से आगरा के रहने वाले विनोद भारद्वाज को मीडिया में काम करने का करीब साढ़े चार दशक का अनुभव है। वह ‘ताज प्रेस क्लब’ आगरा के प्रेजिडेंट भी रह चुके हैं। इसके अलावा पूर्व में वह ‘कल्पतरु एक्सप्रेस’ में मैनेजिंग एडिटर और ‘दैनिक जागरण’ में एडिटोरियल हेड के तौर पर भी अपनी जिम्मेदारी निभा चुके हैं।

समाचार4मीडिया की ओर से विनोद भारद्वाज को उनकी इस पारी के लिए ढेरों बधाई और शुभकामनाएं।  

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

न्यूजप्रिंट की कीमतों में सुधार को लेकर डीबी कॉर्प के गिरीश अग्रवाल ने कही ये बात

‘डीबी कॉर्प लिमिटेड’ के नॉन एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर गिरीश अग्रवाल का कहना है भारत में आर्थिक सुधार जारी है और त्योहारी सीजन की मदद से यह तिमाही असाधारण रूप से अच्छी रही है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 01 November, 2022
Last Modified:
Tuesday, 01 November, 2022
GirishAgrawal54875

‘डीबी कॉर्प लिमिटेड’ (D. B. Corp Ltd) के नॉन एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर गिरीश अग्रवाल का कहना है भारत में आर्थिक सुधार जारी है और त्योहारी सीजन की मदद से यह तिमाही असाधारण रूप से अच्छी रही है। वित्तीय वर्ष 2023 की दूसरी तिमाही की अर्निंग कॉन्फ्रेंस कॉल (earnings conference call) के दौरान गिरीश अग्रवाल ने यह बात कही।

उन्होंने कहा कि ‘हम सभी सेगमेंट में तिमाही-दर-तिमाही के साथ-साथ साल-दर-साल बहुत मजबूत परिणाम देने में सक्षम हैं। हमें उम्मीद है कि इंडस्ट्री की रफ्तार फिर से वहीं से शुरू होगी, जब साल 2020 में कोविड से पहले यह धीमी पड़ गई थी।’

इस दौरान, उन्होंने न्यूजप्रिंट (अखबारी कागज) की कीमतों को कम किए जानें पर भी जोर दिया। उन्होंने कहा, ‘वर्तमान में घरेलू और अंतरराष्ट्रीय बाजार को देखते हुए और न्यूजप्रिंट सप्लायर्स से संपर्क के आधार पर हम यह कह सकते हैं कि अखबार की कीमतों में देश और देश के बाहर दोनों जगह लगभग 12 से 15% तक सुधार होना चाहिए और इसका प्रभाव ही वित्तीय वर्ष 2023 की चौथी तिमाही के हमारे नंबरों पर दिखाई देना चाहिए और हम उम्मीद करते हैं कि ऐसा ही होगा।’

समूह के वित्तीय प्रदर्शन और लागत अनुकूलन पर बोलते हुए अग्रवाल ने कहा कि उनका पूरा फोकस यह सुनिश्चित करने पर है कि विभिन्न चीजों में की गई कॉस्ट-कटिंग लंबे समय तक बरकरार रहे। एक तरफ, जब हम अपने राजस्व आधार को बढ़ाने की दिशा में काम कर रहे हैं, तो वहीं दूसरी तरफ हम वित्तीय वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही की तुलना में ऑपरेटिंग कॉस्ट में लगभग 10% बचाने में भी कामयाब रहे, जिसका परिणाम यह रहा कि वित्तीय वर्ष की दूसरी तिमाही का प्रिंट बिजनेस का EBITDA मार्जिन न्यूजप्रिंट की उच्च कीमतों के बावजूद 21% की  मजबूत स्थिति पर बना रहा।

पिछली चार तिमाही में न्यूजप्रिंट की कीमतों के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि वित्तीय वर्ष 2021-22 की तीसरी तिमाही में, न्यूजप्रिंट के लिए खरीद लागत लगभग 47,000 रुपए प्रति टन थी, जोकि चौथी तिमाही में बढ़कर सीधे 53,000 प्रति टन तक चली गयी। इसके बाद वित्तीय वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही में यह नंबर सीधे 66,000  रुपए तक चला गया और फिर दूसरी तिमाही में यह 65,500 रुपए पर आ गया। लेकिन अब ऐसा लगता है कि चौथी तिमाही से कीमतें लगभग 10 से 15% तक कम हो जाएंगी। इसलिए हम उम्मीद कर रहे हैं कि 65,000 - 66,000 रुपए से कीमतें घटकर 60,000 तक पहुंच जाएंगी और चौथी तिमाही के बाद यह और ज्यादा घट जाएंगी।

ऐडवर्टाइजिंग (विज्ञापनों) को लेकर विश्लेषकों से बात करते हुए अग्रवाल ने सभी कैटेगरीज में अपने परिप्रेक्ष्य को साझा किया। शिक्षा क्षेत्र के संदर्भ में उन्होंने कहा कि यदि मैं दूसरी तिमाही की तुलना कोरोना आने के पहले के समय से करूं, तो इसमें हमनें ग्रोथ देखी है और यह ग्रोथ मजबूत दोहरे अंकों पर है। सरकारी विज्ञापनों के संदर्भ में हमनें गिरावट दर्ज की है। रियल एस्टेट में फिर से दोहरे अंकों की वृद्धि हुई है। ऑटोमोबाइल एक ऐसा क्षेत्र है जहां हम कोरोना आने से पहले की तुलना में लगभग 50% नीचे हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि ऑटोमोबाइल कंपनियां पिछले दो वर्षों से सप्लाई के मुद्दें से जूझ रही हैं और इसलिए वह ज्यादा नई गाड़ियां लॉन्च नहीं कर पा रही हैं।

उन्होंने आगे कहा, ‘एफएमसीजी में भी लगभग 15 -18% की गिरावट आई है, लेकिन कोरोना से पहले की तुलना में ज्वैलरी ने अच्छी मजबूती दिखायी है, जोकि लगभग 100% देखा गया है। हॉस्पिटल, क्लीनिक और हेल्थ सर्विस सभी बढ़ रहे हैं। एक और कैटेगरी है लाइफस्टाइल, जिसमें कोविड आने से पहले की तुलना में अब 24 फीसदी की गिरावट आई है। एक बार जब ऑटोमोबाइल सेक्टर की सप्लाई संबंधी मुद्दें सुलझ जाएंगे, तो यह गिरावट ग्रोथ में बदल जाएगी। यह हमारे लिए भी बड़ा उलटफेर होगा।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए