भ्रामक माने जाएंगे इस तरह के विज्ञापन, इन नियमों का भी करना होगा पालन

झूठे और गुमराह करने वाले विज्ञापनों को रोकने के लिए उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने विज्ञापन निर्माताओं व विज्ञापन एजेंसियों के लिए गाइडलाइंस का मसौदा तैयार किया है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 07 September, 2020
Last Modified:
Monday, 07 September, 2020
Advertisment

झूठे और गुमराह करने वाले विज्ञापनों को रोकने के लिए ‘उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय’ (Ministry of Consumer Affairs) ने विज्ञापन निर्माताओं व विज्ञापन एजेंसियों के लिए गाइडलाइंस का मसौदा (draft guidelines) तैयार किया है। इसके अनुसार, ‘डिस्क्लेमर’ (disclaimers) वाले विज्ञापनों में छोटे फॉन्ट्स (small fonts) का इस्तेमाल किए जाने पर उन्हें भ्रामक माना जाएगा। इन दिशा निर्देशों में कहा गया है कि डिस्क्लेमर का फॉन्ट साइज विज्ञापन द्वारा किए गए दावे के समान आकार का होना चाहिए।

इसी तरह से यदि विज्ञापन में डिस्क्लेमर ‘वॉयस ओवर’ (VO) के रूप में प्रस्तुत किया जाता है तो एडवर्टाइजर द्वारा किए गए दावे को इस वॉयस ओवर के साथ सिंक (sync) किया जाना चाहिए।

ये नए नियम ‘उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम’ (Consumer Protection Act) 2019 के तहत मंत्रालय द्वारा तैयार मसौदा गाइडलाइंस के एक समूह का हिस्सा हैं। इस मसौदे में ‘वैध विज्ञापन’ (valid advertisement) के तहत ‘दिशानिर्देशों के उल्लंघन’ (contraventions of the guidelines) के लिए 20 नियमों को शामिल किया गया है।

इन ड्राफ्ट गाइडलाइंस में यह भी कहा गया है कि विज्ञापनों में सच और ईमानदारी होनी चाहिए और यह किसी भी तरह से कंज्यूमर्स को गुमराह करने वाले नहीं होने चाहिए। इसके अलावा विज्ञापनों को देश में सार्वजनिक शालीनता (public decency) के मानकों का भी पालन करना चाहिए। इनके अनुसार, विज्ञापनों में दूसरों के लेआउट, कॉपी, नारों, दृश्यों, प्रस्तुति, संगीत या ध्वनि प्रभावों की नकल नहीं होनी चाहिए।

विज्ञापनों को लेकर तैयार गाइडलाइंस के मसौदे (Draft Guidelines) को आप यहां क्लिक कर पढ़ सकते हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

BARC: जानिए, पिछले हफ्ते कैसी रही TV पर विज्ञापनों की ‘रफ्तार’

त्योहारी सीजन टीवी इंडस्ट्री के लिए काफी खुशियां लेकर आया है, क्योंकि टीवी इंडस्ट्री को मिलने वाले ऐड वॉल्यूम यानी विज्ञापन में सबसे ज्यादा बढ़ोतरी देखी गई है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 05 November, 2020
Last Modified:
Thursday, 05 November, 2020
BARC

त्योहारी सीजन टीवी इंडस्ट्री के लिए काफी खुशियां लेकर आया है, क्योंकि टीवी इंडस्ट्री को मिलने वाले ऐड वॉल्यूम यानी विज्ञापनों की संख्या सबसे ज्यादा बढ़ोतरी देखी गई है। देश में टेलिविजन दर्शकों की संख्या मापने वाली संस्था ‘ब्रॉडकास्‍ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल’ (BARC)  द्वारा जारी 43वें हफ्ते के डाटा के अनुसार, वर्ष 2015 के 16वें हफ्ते के बाद से टीवी पर सबसे ज्यादा ऐड वॉल्यूम देखने को मिला है।  

डाटा के अनुसार, 43वें हफ्ते में टीवी पर सबसे ज्यादा 38.7 मिलियन सेकंड्स ऐड वॉल्यूम रहा है। फेस्टिव सीजन और अन्य बड़े इवेंट्स की वजह से यह बढ़ोतरी देखी गई है और ऐड वॉल्यूम भी सामान्य हो रहे हैं।

वर्ष 2018 के 43वें हफ्ते में ऐड वॉल्यूम 36.6 मिलियन सेकंड्स रहा था। यह तीसरी सबसे बड़ी बढ़ोतरी थी और वर्ष 2020 के 42वें हफ्ते में दूसरी सबसे बड़ी बढ़ोतरी देखने को मिली थी जब 37.9 मिलियन सेकंड्स दर्ज किए गए थे।

अब 43वें हफ्ते में 38.7 मिलियन सेकंड्स के साथ ऐड वॉल्यूम ने एक नया रिकॉर्ड बनाया है। टीवी सेक्टर में वर्ष 2018 से 5.7 प्रतिशत के साथ तीसरी सबसे बड़ी और पिछले हफ्ते की तुलना में 2.1 प्रतिशत के साथ दूसरी सबसे बड़ी बढ़ोतरी देखी गई है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

जानिए, मोदी सरकार ने एक साल में मीडिया को दिए विज्ञापनों पर कितना किया खर्च

इसका खुलासा सूचना का अधिकार (आरटीआई) आवेदन के तहत मांगे गए सवालों के जवाब में हुआ है। इस संबंध में मुंबई के रहने वाले आरटीआई एक्टिविस्ट जतिन देसाई ने जानकारी मांगी थी। 

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 03 November, 2020
Last Modified:
Tuesday, 03 November, 2020
Advertisement

नरेंद्र मोदी सरकार ने पिछले एक साल में यानी 2019-20 के दौरान विज्ञापनों पर औसतन प्रति दिन 1.95 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं। इसका खुलासा सूचना का अधिकार (आरटीआई) आवेदन के तहत मांगे गए सवालों के जवाब में हुआ है। इस संबंध में मुंबई के रहने वाले आरटीआई एक्टिविस्ट जतिन देसाई ने जानकारी मांगी थी। 

जवाब में सूचना-प्रसारण मंत्रालय के विभाग ब्यूरो ऑफ आउटरीच एंड कम्युनिकेशन ने बताया कि अखबार, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, होर्डिंग इत्यादि के माध्यम से मोदी सरकार ने खुद के प्रचार के लिए पिछले वर्ष में 713.20 करोड़ रुपए खर्च किए हैं। ब्यूरो ने बताया कि इसमें से 295.05 करोड़ रुपए प्रिंट, 317.05 करोड़ रुपए इलेक्ट्रॉनिक मीडिया और 101.10 करोड़ रुपए आउटडोर विज्ञापन में खर्च किए गए हैं। इस तरह से  केंद्र सरकार द्वारा 2019-2020 के बीच विज्ञापनों पर औसतन प्रति दिन 1.95 करोड़ रुपए खर्च किए गए थे।

हालांकि विभाग ये बताने में असमर्थ रहा कि सरकार ने विदेशी मीडिया में विज्ञापन देने में कितने रुपए खर्च किए हैं।  

इससे पहले जून 2019 में, मुंबई के रहने वाले अनिल गलगली की ओर से दायर एक अन्य आरटीआई के जवाब में मंत्रालय ने बताया था कि उसने प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक, आउटडोर मीडिया और प्रिंट प्रचार पर   3,767.2651 करोड़ रुपए खर्च किए थे।

वहीं, इसके भी एक साल पहले यानी मई 2018 में, मंत्रालय द्वारा गलगली के एक और आरटीआई के जवाब से मोदी सरकार की तरफ से विज्ञापन पर खर्च की जानकारी सामने आई थी। मंत्रालय ने मई, 2018 में बताया था कि मोदी सरकार ने जून 2014 से सरकारी विज्ञापनों पर 4,34.26 करोड़ रुपए खर्च किए थे।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

IPL 2020: आखिरी चार मैचों के लिए Star ने बढ़ाईं विज्ञापन दरें!

10 नवंबर को खेला जाना है इंडियन प्रीमियर लीग-13 का फाइनल मैच

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 03 November, 2020
Last Modified:
Tuesday, 03 November, 2020
IPL

अब जब ‘इंडियन प्रीमियर लीग’ (IPL) का 13वां एडिशन अंतिम चरण में है और जल्द ही फाइनल मुकाबला होने वाला है, ऐसे में आईपीएल के आधिकारिक ब्रॉडकास्टर ‘डिज्नी-स्टार इंडिया’ (Disney-Star India) ने आखिरी चार मैचों के लिए विज्ञापन की दरें 15 से 20 प्रतिशत बढ़ा दी हैं। बता दें कि लीग के सेमीफाइनल मैच पांच से आठ नवंबर के बीच खेला जाएगा और फाइनल मुकाबला 10 नवंबर को होगा।   

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, एक वरिष्ठ मीडिया प्लानर का कहना है कि स्टार ने आखिरी हफ्ते के मैचों के लिए विज्ञापन दरें बढ़ा दी हैं। मीडिया प्लानर का कहना है, ‘हर साल स्टार फाइनल के लिए सीमित इन्वेंट्री रखता है और इस साल वे विज्ञापन दरें 20 प्रतिशत बढ़ाने के लिए कह रहे हैं।’  

एक अन्य मीडिया प्लानर का कहना है, ‘ब्रॉडकास्टर्स फाइनल मुकाबले के लिए कुछ इन्वेंट्री रखते हैं और बाद में उन्हें प्रीमियम दरों पर बेचते हैं। कुछ क्लाइंट्स फाइनल मैचों के लिए इन्वेंट्री खरीदते हैं ताकि अधिकतम पहुंच प्राप्त हो सके। पिछले साल के मुकाबले इस साल आईपीएल की व्युअरशिप ज्यादा है। इसलिए स्टार को पिछले कुछ मैचों में प्रीमियर दरें प्राप्त होने में मदद मिलेगी। विज्ञापन दरों में 15 से 20 प्रतिशत बढ़ोतरी की उम्मीद है।’

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इस साल आईपीएल की व्युअरशिप ज्यादा है। देश में अनलॉक होने और लोगों के घरों से बाहर निकलने के बावजूद हफ्ते दर हफ्ते इस टूर्नामेंट की व्युअरशिप बढ़ रही है। ‘ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल’ (BARC) इंडिया के डाटा के अनुसार, पिछले पांच हफ्तों में (Week 38 -42) 21 चैनल्स पर प्रसारित शुरुआती 41 मैचों में आईपीएल-13 ने 7.0 बिलियन व्युइंग मिनट दर्ज किए गए। यह आईपीएल-12 से 28 प्रतिशत ज्यादा थे, जिसने 24 चैनल्स पर प्रसारित 44 मैचों में 5.5 बिलियन व्युइंग मिनट दर्ज किए थे। इन डाटा से पता चलता है कि आईपीएल-13 के प्रत्येक मच का प्रदर्शन पिछले सीजन से ज्यादा है।   

एक अन्य मीडिया प्लानर का कहना है, ‘हमें सेमीफाइनल्स और फाइनल के लिए कुछ नए एडवर्टाइजर्स और ब्रैंड्स देखने को मिल सकते हैं। क्योंकि वे शुरुआती मैचों के व्युअरशिप ट्रेंड की स्टडी करते हैं। हालांकि, इस साल हमने देखा है कि पूरी श्रृंखला में अधिकांश एडवर्टाइजर्स वही थे। ऐसे क्लाइंट्स जो अचानक अपनी पहुंच बढ़ाना चाहते हैं, वे इन स्लॉट्स को खरीदते हैं।’

‘टैम एडेक्स’ (TAM AdEx) रिपोर्ट के अनुसार, आईपीएल-13 के पहले 43 मैचों में आईपीएल-12 के मुकाबले एडवर्टाइजर्स कैटेगरी में दो प्रतिशत की वृद्धि हुई है। वहीं, आईपीएल-12 के मुकाबले आईपीएल-13 में एडवर्टाइजर्स और ब्रैंड्स में क्रमश: 13 प्रतिशत और छह प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। इस साल आईपीएल को पहले 43 मैचों के लिए 112 एडवर्टाइजर्स और 222 ब्रैंड्स मिले, जबकि पिछले सीजन में इस दौरान एडवर्टाइजर्स और ब्रैंडस् की संख्या क्रमश: 99 और 210 थी।

हमारी सहयोगी वेबसाइट ‘एक्सचेंज4मीडिया’ (exchange4media) ने आखिरी चार मैचों के लिए इन विज्ञापन दरों में बढ़ोतरी के बारे में आधिकारिक पुष्टि के लिए डिज्नी-स्टार इंडिया से संपर्क किया, लेकिन फिलहाल वहां से प्रतिक्रिया नहीं मिल पाई है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

IPL के दौरान 8 ब्रैंड्स के विज्ञापनों के खिलाफ शिकायतें सही, ASCI ने मांगा जवाब

भारतीय विज्ञापन मानक परिषद (ASCI)  पिछले कुछ हफ्तों से इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के दौरान सरोगेट विज्ञापन की संभावित निगरानी कर रहा है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 03 November, 2020
Last Modified:
Tuesday, 03 November, 2020
ASCI

भारतीय विज्ञापन मानक परिषद (ASCI)  पिछले कुछ हफ्तों से इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के दौरान सरोगेट विज्ञापन की संभावित निगरानी कर रहा है। ऐसे में ASCI ने आठ ब्रैंड्स के विज्ञापनों के खिलाफ उन शिकायतों को सही पाया है, जो पिछले एक महीने में आईपीएल सेशन के दौरान दर्ज की गई हैं। लिहाजा ASCI ने सरोगेट विज्ञापन को लेकर आठ शराब ब्रैंड्स को नोटिस भेजा है। ये नोटिस व्हिस्की, बीयर और व्हाइट लिकर ब्रैंड्स को भेजे गए हैं।

बता दें कि यह आठ ब्रैंड म्यूजिक सीडी, पैकेज्ड वाटर, नॉन एल्कॉहोलिक ब्रेवरेज के नाम पर अपने प्रॉडक्ट्स का प्रचार कर रहे थे। 

ASCI ने शराब कंपनियों को दो दिन के भीतर स्पष्टीकरण देने को कहा है। देश में 1995 से शराब के विज्ञापन पर प्रतिबंध है, लेकिन ये कंपनियां शराब ब्रैंड्स के नाम पर अन्य प्रॉडक्ट्स को बेचती है, ताकि ब्रैंड का नाम बना रहे। इस तरह के विज्ञापन को सरोगेट विज्ञापन कहा जाता है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

ASCI के निर्देश के बाद WhiteHat Jr अपने विज्ञापनों को लेगा वापस

एडुटेक कंपनी व्हाइट हैट जूनियर (WhiteHat Jr) ने अपने विज्ञापनों को वापस लेने पर सहमति जता दी है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 28 October, 2020
Last Modified:
Wednesday, 28 October, 2020
Samachar4media

एडुटेक कंपनी व्हाइट हैट जूनियर (WhiteHat Jr) ने अपने विज्ञापनों को वापस लेने पर सहमति जता दी है। दरअसल, भारतीय विज्ञापन मानक परिषद (ASCI) ने एडुटेक कंपनी को ऐसा करने हिदायत दी थी, जिसके बाद कंपनी ने यह कदम उठाया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारतीय विज्ञापन मानक परिषद ने बायजू (Byju's) के स्वामित्व वाली स्टार्ट-अप कंपनी के सात विज्ञापनों के खिलाफ शिकायतों को सही पाया था।

सोशल मीडिया पर यह सुझाव देते हुए कंपनी के विज्ञापनों की आलोचना की गई थी कि कोडिंग ज्ञान ने छोटे बच्चों को ऐसे ऐप विकसित करने में मदद की है जो 'निवेशकों को आकर्षित करेंगे'।

लिहाजा एडुटेक कंपनी ने कहा कि वह उन पांच विज्ञापनों को वापस लेगा, जो बच्चों को कोडिंग करने के लिए प्रेरित करते हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

जानिए, पिछले तीन महीनों में कैसी रही प्रिंट में विज्ञापनों की 'रफ्तार'

प्रिंट के लिए सबसे खराब समय संभवतः खत्म हो गया है। नवीनतम टैम एडएक्स के आंकड़ों पर नजर डालें तो प्रतिदिन औसत ऐड वॉल्यूम में इस साल अप्रैल में दर्ज संख्या के मुकाबले अगस्त में वृद्धि देखी गई है

Last Modified:
Friday, 16 October, 2020
Newspaper

प्रिंट के लिए सबसे खराब समय संभवतः खत्म हो गया है। नवीनतम टैम एडएक्स (TAM AdEx) के आंकड़ों पर नजर डालें तो प्रतिदिन औसत ऐड वॉल्यूम में इस साल अप्रैल में दर्ज संख्या के मुकाबले अगस्त में 5.7 गुना की वृद्धि देखी गई है।

जुलाई और सितंबर के बीच विज्ञापनों की शीर्ष पांच कैटेगरीज में कारें, मल्टीपल कोर्सेज, टू-व्हीलर्स, रियल एस्टेट और ओटीसी प्रॉडक्ट्स की रेंज की कैटेगरीज थीं। जुलाई और सितंबर के बीच इन शीर्ष पांच कैटेगरीज का ऐड वॉल्यूम 33% था, जबकि अप्रैल से जून के बीच यह 21% था।

अप्रैल से जुलाई के बीच कारों और ओटीसी प्रॉडक्ट्स की रेंज के विज्ञापन ही क्रमश: पहले और दूसरे स्थान पर था। जुलाई से सितंबर के बीच भी ये इस कैटेगरीज के विज्ञापन अपनी जगह को पहले की तरह बरकरार रखने में कामयाब रहे। वहीं टू-व्हीलर्स के विज्ञापन की कैटेगरी अप्रैल से जून के बीच नौवें स्थान पर थी, जोकि जुलाई से सितंबर के बीच तीसरे नंबर पर पहुंच गई। ऐसे ही प्रॉपर्टीज/रियल स्टेट के विज्ञापन की कैटेगरी अप्रैल से जून के बीच दर्ज की गई संख्या से चार पायदान ऊपर पहुंच गई और जुलाई से सितंबर के बीच यह चौथे नंबर पर रही।    

इस अवधि के दौरान शीर्ष पांच एडवरटाइजर्स में एसबीएस बायोटेक (SBS Biotech), मारुति सुजुकी (Maruti Suzuki), हिन्दुस्तान यूनिलीवर (Hindustan Unilever), हीरो मोटोकॉर्प (Hero Motocorp) और टीवीएस मोटर (TVS Motor) शामिल रहे हैं।

दिलचस्प बात यह है कि शीर्ष पांच में से तीन ब्रैंड्स ऑटो सेक्टर से थे। शीर्ष पांच ब्रैंड्स में मारुति कार रेंज (Maruti Car Range), किया सॉनेट (KIA Sonet), जॉली तुलसी 51 ड्रॉप्स (Jolly Tulsi 51 Drops), टीवीएस टू व्हीलर रेंज (TVS Two Wheelers Range) और डॉ. ऑर्थो ऑयल (Dr Ortho Oil) शामिल थे।

अप्रैल से जून की तुलना में जुलाई से सितंबर के दौरान सबसे तेजी से बढ़ने वाली कैटेगरीज में शैम्पू, ईकॉम-फाइनेंशियल सर्विसेज, चॉकलेट्स, इवेंट्स-टेक्सटाइल/ क्लॉथिंग और ब्यूटी ऐसेसरीज/प्रॉडक्ट्स थे।

इस दौरान 74% विज्ञापन अंग्रेजी और हिंदी भाषाई अखबारों के लिए थे, जबकि मराठी पर 7%, कन्नड़ पर 4%, तमिल पर 4% और अन्य पर 11% थे।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

‘इंडियन सोसायटी ऑफ एडवर्टाइजर्स’ में सुशील मैटी को मिली अहम जिम्मेदारी

‘इंडियन सोसायटी ऑफ एडवर्टाइजर्स’ (ISA) में सुशील मैटी को महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंपी गई है।

Last Modified:
Friday, 16 October, 2020
Sushil Matey

एडवर्टाइजर्स की प्रमुख संस्था ‘इंडियन सोसायटी ऑफ एडवर्टाइजर्स’ (ISA) ने सुशील मैटी (Sushil Matey) को अपना चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर नियुक्त किया है। 

इस बारे में हाल ही में नियुक्त किए गए ‘ISA’ के चेयरमैन और ‘गोदरेज कंज्यूमर प्रॉडक्ट्स लिमिटेड’ के सीईओ (India and SAARC) सुनील कटारिया का कहना है, ‘सुनील मैटी हमारे विजन को आगे बढ़ाने और इस परिवर्तन की गति को तेज करने में अहम भूमिका निभाएंगे। हम ‘वर्ल्ड फेडरेशन ऑफ एडवर्टाइजर्स’ (WFA) के साथ मिलकर काम करने और इंडस्ट्री में एक ग्लोबल बेंचमार्क बनाने के लिए तत्पर हैं।’

वहीं, सुशील मैटी का कहना है, ‘इस पद पर नियुक्त किए जाने को लेकर मैं काफी सम्मानित महसूस कर रहा हूं। मैं सभी हितधारकों और भागीदारों के साथ मिलकर काम करने के लिए तत्पर हूं।’ बता दें कि इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग में ग्रेजुएट सुशील ने आईआईएम कोलकाता से एमबीए (मार्केटिंग और फाइनेंस) की पढ़ाई की है। 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

IAA में जनक सारदा को फिर मिली यह जिम्मेदारी

उन्हें ‘IAA’ की ग्लोबल एग्जिक्यूटिव कमेटी में डिजिटल इनोवेशन की अतिरिक्त जिम्मेदारी भी सौंपी गई है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 08 October, 2020
Last Modified:
Thursday, 08 October, 2020
janak Sarda

नासिक (महाराष्ट्र) के ‘देशदूत मीडिया ग्रुप’ (Deshdoot Media Group) के मैनेजिंग डायरेक्टर जनक सारदा को  ‘इंटरनेशनल एडवर्टाइजिंग एसोसिएशन’ (IAA) का दोबारा से वाइस प्रेजिडेंट चुना गया है। इसके साथ ही उन्हें ‘IAA’ की ग्लोबल एग्जिक्यूटिव कमेटी में डिजिटल इनोवेशन (Digital Innovation) की अतिरिक्त जिम्मेदारी सौंपी गई है।

दो भारतीय जनका सारदा और प्रदीप द्विवेदी सीईओ (Eros India of Eros STX Global Corporation) जिन्हें वाइस प्रेजिडेंट और एरिया डायरेक्टर (APAC region) चुना गया है, अब ग्लोबल मार्केटिंग और कम्युनिकेशन स्टेज पर जिम्मेदारी संभालेंगे।

बताया जाता है कि डिजिटल बातचीत और बिजनेस प्रोसेस की बढ़ती जरूरतों से डील करने के लिए वाइस प्रेजिडेंट (digital innovations) का पद विशेष रूप से तैयार किया गया है। अपने पिछले कार्यकाल में जनक सारदा वाइस प्रेजिडेंट (Young Professionals) भी थे। इस वर्ष उन्हें इस जिम्मेदारी के साथ अतिरिक्त जिम्मेदारी भी सौंपी गई है।

इस बारे में जनक सारदा का कहना है, ‘ मैं IAA के वर्ल्ड प्रेजिडेंट जोएल नेट्टी (Joel Netty) और सीनियर मैनेजमेंट टीम का धन्यवाद अदा करता हूं, जिन्होंने मुझ पर भरोसा जताया और यह दोहरी जिम्मेदारी सौंपी है।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

झूठे व भ्रामक विज्ञापनों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर ASCI के चेयरमैन ने कही ये बात

टीवी पर आने वाले विज्ञापनों की प्रामाणिकता की जांच करने वाली संस्था 'ऐडवर्टाइजिंग स्टैंडर्ड्स काउंसिल ऑफ इंडिया' को इस साल जून से जुलाई के बीच 363 विज्ञापनों के खिलाफ शिकायतें मिलीं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 30 September, 2020
Last Modified:
Wednesday, 30 September, 2020
ASCI

टीवी पर आने वाले विज्ञापनों की प्रामाणिकता की जांच करने वाली संस्था 'ऐडवर्टाइजिंग स्‍टैंडर्ड्स काउंसिल ऑफ इंडिया' (ASCI) को इस साल जून से जुलाई के बीच 363 विज्ञापनों के खिलाफ शिकायतें मिलीं। ‘ASCI’  द्वारा सूचित किए जाने के बाद 76 एडवर्टाइजर्स ने अपने विज्ञापनों को हटा लिया। ‘एएससीआई’ की ‘कंज्यूमर कंप्लेंट्स काउंसिल’ (CCC) ने शेष बचे 287  विज्ञापनों का मूल्यांकन किया और 257 शिकायतों को सही ठहराते हुए इन विज्ञापनों को जांच के लिए रोका गया।

इन शिकायतों में से 150 हेल्थकेयर सेक्टर, 40 एजुकेशन, 20 फूड और बेवरेज, चार GAMA कंपलेंट्स, 12 पर्सनल केयर और 31 अन्य कैटेगरी से जुड़ी थीं। इस दौरान कोरोनावायरस (कोविड-19) के खिलाफ ‘जंग’ लगातार जारी रही। इसकी वजह से कोरोनावायरस के इलाज और रोकथाम के झूठे दावों में वृद्धि हुई। आयुष मंत्रालय से हाथ मिलाकर ‘ASCI’ समाज की भलाई के लिए इस तरह के झूठे दावों को खत्म करने की दिशा में लगातार काम कर रहा है। मई-जून में इस तरह के 97 मामलों को नियामक के पास भेजा गया था।

इस बारे में ‘ASCI’ के चेयरमैन सुभाष कामथ का कहना है, ‘इस दौरान कोविड-19 के इलाज और रोकथाम के बारे में संदिग्ध दावों के साथ विज्ञापनों की बाढ़ सी आ गई। खासकर ऐसे समय में जब कंज्यूमर्स वायरस को लेकर काफी असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। ऐसे में हमारे लिए यह ज्यादा महत्वपूर्ण हो जाता है कि हम ये सुनिश्चित करें कि इस तरह के विज्ञापन कंज्यूमर्स के डर व चिंता का फायदा न उठाएं। हम जानते हैं कि इस तरह के दावे कंज्यूमर्स को प्रतिकूल रूप से प्रभावित कर सकते हैं और हम समाज से ऐसे कुप्रथाओं को खत्म करने में मदद करने के लिए आयुष मंत्रालय के साथ मिलकर काम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

The Advertising Club में इस पद पर फिर चुने गए पार्थो दासगुप्ता

एडवर्टाइजिंग, मार्केटिंग और मीडिया इंडस्ट्री के प्रमुख संगठन ‘द एडवर्टाइजिंग क्लब’ की 66वीं आमसभा में वर्ष 2020-21 के लिए मैनेजिंग कमेटी की घोषणा की गई।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 30 September, 2020
Last Modified:
Wednesday, 30 September, 2020
TAC

एडवर्टाइजिंग, मार्केटिंग और मीडिया इंडस्ट्री के प्रमुख संगठन ‘द एडवर्टाइजिंग क्लब’ (The Advertising Club) की 66वीं आमसभा में वर्ष 2020-21 के लिए मैनेजिंग कमेटी की घोषणा की गई। पार्थो दासगुप्ता को फिर से संगठन के प्रेजिडेंट पद की जिम्मेदारी सौंपी गई है। विक्रम सखूजा मैनेजमेंट कमेटी के सदस्य के रूप में अपनी जिम्मेदारी निभाना जारी रखेंगे।

‘द एडवर्टाइजिंग क्लब’ के प्रेजिडेंट पद पर दोबारा चुने जाने के बारे में पार्थो दासगुप्ता का कहना था, ‘देश के प्रतिष्ठित विज्ञापन क्लबों में से एक ‘द एडवर्टाइजिंग क्लब’ के अध्यक्ष के रूप में दोबारा चुना जाना मेरे लिए काफी सौभाग्य की बात है। इंडस्ट्री के दिग्गजों और सीनियर्स ने मेरे ऊपर जो भरोसा जताया है, उसके लिए मैं उनका तहेदिल से आभारी हूं। यह साल हम सबके लिए काफी मुश्किल रहा है और मैं आने वाले समय में क्लब की बेहतरी के लिए अपना श्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए उत्साहित हूं। जैसा कि इस साल की शुरुआत में कहा गया था, कमेटी ने इस साल कुछ नई चीजें करने का प्रयास किया है। नेतृत्व विकास कार्यक्रम जैसी पहल कुछ ऐसी हैं, जिन्हें हम इस वर्ष भी आगे बढ़ाना चाहेंगे।’

वर्ष 2020-21 के लिए चुने गए ‘द एडवर्टाइजिंग क्लब’ के पदाधिकारियों की लिस्ट आप यहां देख सकते हैं।

Partho Dasgupta: President

Partha Sinha: Vice President

Bhaskar Das: Secretary  

Aditya Swamy: Jt. Secretary  

Shashi Sinha: Treasurer

मैनेजमेंट कमेटी में जिन इंडस्ट्री लीडर्स को शामिल किया गया है, उनके नाम आप यहां देख सकते हैं।

Vikas Khanchandani

Pradeep Dwivedi

Sonia Huria

Mitrajit Bhattacharya

Sidharth Rao

Punitha Arumugam

Raj Nayak

‘द एडवर्टाइजिंग क्लब’ में इनकी भी होगी अहम भूमिका

Ajay Kakar

Rana Barua

Sabbas Joseph

Debabrata Mukherjee

Avinash Pant 

Ajay Chandwani

Kartik Sharma

Asha Kharga

Rathi Gangappa

Sapangeet Rajwant

Namrata Tata

Sanjay Adesara

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए