अरनब गोस्वामी ने बताया रिपब्लिक की सफलता का राज

बिजनेसवर्ल्ड’ (BW Businessworld) द्वारा आयोजित कार्यक्रम में अपने धमाकेदार भाषण से सबका दिल जीता

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 24 October, 2019
Last Modified:
Thursday, 24 October, 2019
Arnab Goswami

रिपब्लिक मीडिया समूह के एडिटर-इन-चीफ अरनब गोस्वामी ने बिजनेसवर्ल्ड’ (BW Businessworld) द्वारा आयोजित 'BW Disrupt 40 Under 40' कार्यक्रम में अपने धमाकेदार भाषण से सबका दिल जीत लिया। उन्होंने अपने विचारों को लोगों तक पहुंचाने के लिए हमेशा की तरह भारी-भरकम शब्द इस्तेमाल किये, लेकिन इस अंदाज में कि हर कोई उनका कायल हो गया। कार्यक्रम के तीसरे संस्करण में बोलने के लिए मंच पर पहुंचे अरनब ने सबसे पहले ‘बिजनेस वर्ल्ड’ और ‘एक्सचेंज4मीडिया’ के चेयरमैन व एडिटर-इन-चीफ अनुराग बत्रा की जमकर तारीफ की।

हालांकि, इससे पहले वो यह भी साफ करना नहीं भूले कि उन्हें असीमित समय देकर आयोजकों ने भूल की है। माइक थामते हुए चेहरे पर मुस्कान के साथ अरनब ने कहा, ‘एक बात मैं कहना चाहता हूं कि मुझे कभी भी असीमित समय और दो माइक मत दीजिये। यदि आप ऐसा करते हैं तो ये बहुत खतरनाक हो जायेगा। क्योंकि मुझमें लगातार दो घंटे बोलने की क्षमता है। जब मैं ‘टाइम्स नाउ’ में था, तब मेरा एक प्रोग्राम था ‘न्यूज ऑवर’, ये एक घंटे का प्रोग्राम था, लेकिन ये एकमात्र ऐसा प्रोग्राम बन गया था जो कभी-कभी दो घंटे 9 से 11 तक चल जाता था। यदि अब आप मुझे रिपब्लिक पर देखें तो 9 से 1 बजे तक लगातार डिबेट करता हूं। इसलिए मुझे असीमित समय देना खतरनाक है।’

अनुराग बत्रा की तारीफ करते हुए अरनब ने कहा, ‘आपके साथ यह मंच साझा करना मेरे लिए सम्मान की बात है। अनुराग जब भी मुझे अपने किसी प्रोग्राम में बुलाते हैं तो उन्हें पता होता है कि मैं उन्हें ‘न’ नहीं कह पाऊंगा और ऐसा इसलिए कि मैं अनुराग को काफी लंबे समय से देख रहा हूं। मैं जानता हूं कि इस मीडिया इंडस्ट्री में बोलने वाले कई लोग हैं, लेकिन करने वाले बेहद कम और अनुराग उन्हीं में से एक हैं जिन्होंने अपनी मेहनत से इंडस्ट्री में अपना एक अलग मुकाम बनाय है। वो एंटरप्रिन्योर हैं। मैं कहना चाहूंगा कि अनुराग इस मीडिया इंडस्ट्री में सबसे पहले एंटरप्रिन्योर हैं। जीवन में आप जो कुछ करते हैं उसमें अनुरूपता बनाये रखना जरूरी है और अनुराग बत्रा दो दशक से ज्यादा से ऐसा करते आ रहे हैं। वो कई संस्थानों में रहे और बेहतरीन काम किया। उन्होंने 25 वर्ष की उम्र में शुरुआत की, लेकिन (हंसते हुए) अभी उनकी उम्र क्या है मैं नहीं बताऊंगा। अनुराग आपके साथ मंच साझा करना मेरे लिए सम्मान की बात है।’

’मुख्य मुद्दे पर आते हुए अरनब थोड़े गंभीर हुए और कहा, ‘आज मैं एंटरप्रिन्योरशिप पर बोल रहा हूं, जैसा कि मैंने महसूस किया है, ये 40 साल से कम वालों के लिए है और मैं जो कहने जा रहा हूं वो उनके काम आएगा। मेरा पहला अनुभव है कि डिस्रप्शन (Disruption) और एंटरप्रिन्योरशिप को एक्सेल शीट पर नहीं किया जा सकता। आप कभी भी अपने व्यवसाय की योजना नहीं बना सकते। जो व्यवसाय चला रहा है उसे ये कुछ अजीब लग सकता है। यदि व्यवसाय में सबकुछ कैलकुलेशन के द्वारा किया जा सकता, यदि पेपर प्रोजेक्शन द्वारा किया जा सकता, यदि लागतों या खर्चों को संगठनात्मक संस्कृति या टीम फिलॉसफी के आधार पर प्रबंधित नहीं किया जाता, बल्कि ऑडिट टूल के आधार पर किया जाता, यदि चार्टर्ड अकाउंटेंट आपको यह बता सकते कि आपको अपना व्यवसाय कैसे चलाना है, तो हर कोई कॉस्ट सेंटर में माहिर हो सकता है। यदि व्यवसाय को एक्सेल शीट पर चलाया जा सकता है, तो हमारा देश अरबों यूनिकॉर्न का देश होता। जब मैं व्यवसाय कहता हूं, तो आप इसे एक संप्रदाय, ऑफरिंग, उत्पाद, कुटुम्ब कह सकते हैं।’

अरनब का कहना था, ‘मैंने बेस्ट अकाउंटेंट, बेस्ट ऑडिटर को संघर्ष करते देखा है। मैंने ऐसे लोगों को भी देखा है, जिन्हें नंबर की भले ही समझ न हो, लेकिन वो व्यवसाय को ज्यादा बेहतर तरह से संभालते हैं। तो मेरा पहला पॉइंट ये है कि आप एक्सेल शीट के आधार पर व्यवसाय का निर्माण नहीं कर सकते। यदि मैं अपने शुरुआती वर्षों के बारे में बात करूं तो उस समय उस समाचार चैनल को किसने सफल बनाया? क्या यह एक एक्सेल शीट थी, जिसे कोई भी बना सकता है? आप में से कई लोग मुझसे बेहतर एक्सेल शीट बना सकते हैं। वास्तव में, मुझे नहीं पता कि इसका उपयोग कैसे करना है।’

अपनी उद्यमशीलता की यात्रा के बारे में अरनब ने कहा, ‘मैंने इस देश में दो बड़े मीडिया व्यवसायों को लॉन्च किया, स्थापित किया, प्रबंधित किया और चलाया है। पहला नेटवर्क जिसकी मैंने स्थापना की थी वो था टाइम्स नेटवर्क। मुझे नहीं पता कि आप ये जानते हैं या नहीं कि हमें टाइम्स के मालिकों से इसके लिए बहुत कम पैसा मिला था। टाइम्स ऑफ इंडिया ने भी शुरुआत में टाइम्स के व्यवसाय में निवेश नहीं किया था। हमने पैसा इकठ्ठा किया। हम न्यूयॉर्क गए, रॉयटर्स के पास गए, जो दुनिया की सबसे बड़ी मल्टीमीडिया न्यूज एजेंसी है और रॉयटर्स ने हमारे व्यवसाय में निवेश किया। रॉयटर्स के ऑफिस के बाहर उन कंपनियों की लाइन लगती है,  जो चाहती हैं कि रॉयटर्स उनके यहां निवेश करे, लेकिन ये मौका हमें मिला।’

इसके साथ ही अरनब का यह भी कहना था, ‘मैं रॉयटर्स के ऑफिस में क्रिस ईहान (अध्यक्ष) के साथ बैठा था, बैंकर्स भी थे। रॉयटर्स के लोगों द्वारा पूछे गए कई वित्तीय सवालों के जवाब मुझे नहीं पता थे। तब मुझे लगा कि मैं क्या कर रहा हूं। मैं ऐसे लोगों के बीच क्यों हूं, जो बस पैसे की बात करते हैं। मैं पत्रकार हूं, मुझे पैसे की भाषा नहीं आती, मुझे लगा कि मैं कभी रॉयटर्स या कहीं और से पैसा नहीं जुटा पाऊंगा और आप विश्वास करें कि भारतीय मीडिया का हर शख्स आश्चर्यचकित था, अनुराग आप भी, जब यह घोषणा हुई कि रॉयटर्स, टाइम्स नेटवर्क में निवेश करने जा रही है और वो भी बहुत बड़ी मात्रा में। ये वर्ष 2005 की बात है, जब रॉयटर्स ने 100 करोड़ रुपए निवेश किये थे।’

अरनब ने कहा, ‘रॉयटर्स ने पैसा क्यों लगाया? ये केवल पैसे की बात नहीं थी। मुझे उस बड़ी पार्टी में बुलाया गया जो उन्होंने निवेश के मौके पर लंदन में आयोजित की थी और दो ही सालों में हमने टाइम्स नाउ को नंबर1 चैनल बना दिया। फिर रॉयटर्स का शेयर होल्डिंग स्ट्रक्चर बदल गया। मुझे नहीं पता कि आप यह जानते हैं कि नहीं, लेकिन टाइम्स ने फिर रॉयटर्स के शेयर खरीद लिए। मैं एक बार फिर लंदन में एक पार्टी में शामिल होने गया। तब मैंने रॉयटर्स के लोगों से पूछा कि अब जब आप कंपनी में भागीदारी छोड़ रहे हैं तो फिर पार्टी किसलिए, तो उस समय रॉयटर्स के प्रबंध निदेशक टॉम ग्लोसा ने कहा ये हमारा सबसे कम निवेश था, लेकिन हमें काफी कुछ मिला। इस निवेश की हमारे लिए काफी रणनीतिक वैल्यू थी। टाइम्स न्यूजरूम में हमने अलग देशों के लोगों को प्रशिक्षित किया। उद्यमशीलता की खूबसूरत संस्कृति का गवाह बने।’

अपने मौजूदा वेंचर के बारे में अरनब ने कहा, ‘व्यवसाय मेरी नजर में, इसे अन्यथा न लें, आप इसे उत्पाद कह सकते हैं। आप इसे ऑफरिंग, कंपनी भी कह सकते हैं, आप कुछ भी कह सकते हैं, क्योंकि मेरी नजर में कंपनी एक रूखा शब्द है। यदि आप मुझसे पूछेंगे कि रिपब्लिक क्या है तो मैं इसे संप्रदाय कहूंगा। हम एक जैसी सोच वाले लोगों का समुदाय हैं। हम खबर में विश्वास रखते हैं, हमें विश्वास है कि हम खबरों के योद्धा हैं। हमें विश्वास है कि हम लुटियंस मीडिया को हरा देंगे। मैं ये भी मानता हूं कि व्यवसाय दिमाग में भी नहीं बनते। यदि ऐसा होता तो सबसे बुद्धिमान लोग सबसे सफल कंपनियों का नेतृत्व कर रहे होते। खुद से पूछें कि क्या आईआईएम अहमदाबाद के स्टूडेंट सफल एंटरप्रिन्योर हैं। व्यवसायों को न तो एक्सेल शीट पर और न ही दिमाग में बनाया या जीता जा सकता है।’

इसके साथ ही अरनब गोस्वामी का यह भी कहना था, ‘जहां तक मीडिया व्यवसाय का सवाल है तो मैं कहना चाहता हूं कि मैं 14 सालों से मीडिया एंटरप्रिन्योर हूं। मुझे लगता है कि इस मामले में केवल एक ही फार्मूला काम करता है, वो जो सीधे आपके दिल को प्रभावित करे, दिमाग को नहीं। बड़े उत्पाद दिल से जुड़ाव से तैयार होते हैं, दिमाग से नहीं। दिल यहां क्या है, मैं बताता हूं।  मैंने ये कहना बंद कर दिया है कि हम नंबर 1 चैनल थे, हम सबसे तेज थे। क्योंकि उत्पाद की परिभाषा उपभोक्ता के लिए मायने नहीं रखती। हम मानते हैं कि उत्पाद की विशेषता नहीं बल्कि फिलॉसफी लोगों को एकसाथ लाती है। तो हमारी फिलॉसफी क्या है, हमारी फिलॉसफी क्या थी? मैं अपनी फिलॉसफी बताता हूं। मेरी फिलॉसफी अंग्रेजी में नेशन फर्स्ट चलाना है, यह बताना जरूरी है कि रिपब्लिक नेशन फर्स्ट, न कि रिपब्लिक, भारत का सबसे तेज न्यूज चैनल है। जब मैं कहता हूं कि ‘रिपब्लिक नेशन फर्स्ट, कोई समझौता नहीं’, तो मैं आपसे देश के प्रति अपने प्यार को सामने लाने की अपील करता हूं।’

उन्होंने कहा, ‘मैं आपसे यह अपील करता हूं कि ‘राष्ट्र सर्वोपरि’ पर ध्यान दें। पिछले हफ्ते हमने अपने चैनल पर चार प्रोमो कट किये। पहला प्रोमो चंद्रयान का था। मैं एडिटिंग रूम में गया और संपादक से कहा कि मुझे चंद्रयान के इतने शॉट नहीं चाहिए। मुझे बस एक शॉट चाहिए, रॉ शॉट चाहिए। एडिटर ने कहा कि हम एक शॉट में प्रोमो नहीं बना सकते तो मेरा कहना था कि क्यों नहीं बना सकते। मैंने कहा कि जब मैं चंद्रयान के बारे में सोचता हूं तो मैं एक शॉट के बारे में सोचता हूं। संपादक ने कहा म्यूजिक का क्या? मैंने कहा कि उसे छोड़ दो, आवाज़ ऐसी होनी चाहिए जो हम वास्तव में फीड पर सुनते हैं जैसे 10, 9,. 8. और कुछ नहीं बस इतना ही। मैं आपको ये सब इसलिए बता रहा हूं क्योंकि जब आप ये प्रोमो देखते हैं तो ये आपके दिल को छूता है, क्योंकि हम भारतीय हैं।’ इस मौके पर अरनब गोस्वामी ने अपनी भविष्य की योजनाओं पर भी प्रकाश डाला। इसके बाद अनुराग बत्रा ने उनसे कुछ सवाल भी पूछे, जिसका उन्होंने खूबसूरती के साथ जवाब दिया।

अरनब की पूरी स्पीच आप यहां देख सकते हैं:

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

न्यूज एंकर अर्चना सिंह ने India TV में अपनी पारी को दिया विराम

करीब 14 साल से इस संस्थान में अपनी जिम्मेदारी निभा रही थीं अर्चना सिंह

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 28 September, 2021
Last Modified:
Tuesday, 28 September, 2021
Archana Singh

न्यूज एंकर अर्चना सिंह ने ‘इंडिया टीवी’ (India TV) में अपनी पारी को विराम दे दिया है। वह यहां करीब 14 साल से अपनी जिम्मेदारी निभा रही थीं। अपनी नई पारी के बारे में समाचार4मीडिया के साथ बातचीत में अर्चना सिंह ने बताया कि फिलहाल उनकी कई चैनल्स के साथ बातचीत चल रही है, लेकिन अभी इस बारे में कुछ फाइनल नहीं हुआ है।   

बता दें कि ‘इंडिया टीवी’ में अपनी पारी के दौरान अर्चना सिंह ने कई अच्छी न्यूज और स्पेशल स्टोरीज होस्ट कीं। एंकरिंग के साथ-साथ उन्होंने फील्ड रिपोर्टिंग भी की और दर्शकों के बीच अपनी एक अलग पहचान बनाई है।

मूल रूप से उत्तर प्रदेश में कानपुर की रहने वालीं अर्चना सिंह को मीडिया के क्षेत्र में काम करने का करीब 20 साल का अनुभव है। उन्होंने पत्रकारिता में अपने करियर की शुरुआत ‘दूरदर्शन‘ से की. उसके बाद उन्होंने ‘ईटीवी‘ में बतौर एंकर तीन साल तक काम किया। फिर वह दिल्ली आ गईं और यहां ‘जनमत टीवी‘ में करीब दो साल तक अपनी जिम्मेदारी निभाने के बाद ‘इंडिया टीवी‘ के साथ जुड़ गईं, जहां से पिछले दिनों उन्होंने इस्तीफा दे दिया है।

पढ़ाई-लिखाई की बात करें तो अर्चना सिंह ने जर्नलिज्म में पोस्ट ग्रेजुएशन किया है और अब वह पीएचडी कर रही हैं, जो जल्द ही पूरी होने वाली है। समाचार4मीडिया की ओर से अर्चना सिंह को नई पारी के लिए अग्रिम शुभकामनाएं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

रजत शर्मा चुने गए NBDA के प्रेजिडेंट, बोर्ड मेंबर्स में शामिल हुए ये नाम

‘न्यूज ब्रॉडकास्टर्स एंड डिजिटल एसोसिएशन’ (NBDA) के बोर्ड की मीटिंग सोमवार को हुई। इस मीटिंग में ‘इंडिया टीवी’ के चेयरमैन व एडिटर-इन-चीफ रजत शर्मा को ‘NBDA’ का प्रेजिडेंट चुना गया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 27 September, 2021
Last Modified:
Monday, 27 September, 2021
Rajat Sharma

‘न्यूज ब्रॉडकास्टर्स एंड डिजिटल एसोसिएशन’ (NBDA) के बोर्ड की मीटिंग सोमवार को हुई। इस मीटिंग में ‘इंडिया टीवी’ के चेयरमैन व एडिटर-इन-चीफ रजत शर्मा को ‘NBDA’ का प्रेजिडेंट चुना गया है। इसके अलावा बोर्ड ने ‘एबीपी नेटवर्क प्राइवेट लिमिटेड‘ (ABP Network Pvt. Ltd) के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर अविनाश पांडेय को वाइस प्रेजिडेंट और ‘टाइम्स नेटवर्क’ (Times Network) के मैनेजिंग डायरेक्टर और चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर एमके आनंद को मानद कोषाध्यक्ष के पद पर चुना है। इनकी यह नियुक्ति वर्ष 2021-2022 के लिए की गई है।

‘एनबीडीए' बोर्ड में ‘न्यूज24 ब्रॉडकास्ट इंडिया लिमिटेड’ (News24 Broadcast India Ltd) की चेयरपर्सन कम मैनेजिंग डायरेक्टर अनुराधा प्रसाद शुक्ला, ‘मातृभूमि प्रिंटिंग एंड पब्लिशिंग कंपनी लिमिटेड’ (Mathrubhumi Printing & Publishing Co. Ltd) के मैनेजिंग डायरेक्टर एम.वी. श्रेयम्स कुमार, ‘टीवी18 ब्रॉडकास्ट लिमिटेड‘ (TV18 Broadcast Ltd) के मैनेजिंग डायरेक्टर राहुल जोशी, ‘ईनाडु टेलिविजन प्राइवेट लिमिटेड‘ (Eenadu Television Pvt. Ltd) के डायरेक्टर आई. वेंकट, ‘टीवी टुडे नेटवर्क लिमिटेड’ (TV Today Network Ltd) की वाइस चेयरपर्सन और मैनेजिंग डायरेक्टर कली पुरी, ‘एनडीटीवी‘ (NDTV) की एडिटोरियल डायरेक्टर सोनिया सिंह और 'जी मीडिया कॉरपोरेशन लिमिटेड' (Zee Media Corporation Ltd) के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर(क्लस्टर1) सुधीर चौधरी को शामिल किया गया है।

बता दें कि ‘NBDA’ न्यूज ब्रॉडकास्टर्स का सबसे बड़ा संगठन है, जिसमें देश के लगभग सभी बड़े न्यूज नेटवर्क्स शुमार हैं। 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

‘कलर्स तमिल’ के बिजनेस हेड अनूप चंद्रशेखरन ने दिया इस्तीफा, बतायी वजह

तमिल भाषा के एंटरटेनमेंट चैनल ‘कलर्स तमिल’ (Colors Tamil) से खबर है कि यहां चैनल के बिजनेस हेड अनूप चंद्रशेखरन ने इस्तीफा दे दिया है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 27 September, 2021
Last Modified:
Monday, 27 September, 2021
AnupChandrasekharan575

तमिल भाषा के एंटरटेनमेंट चैनल ‘कलर्स तमिल’ (Colors Tamil) से खबर है कि यहां चैनल के बिजनेस हेड अनूप चंद्रशेखरन ने इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने एक्सचेंज4मीडिया से इस खबर की पुष्टि की है।

चंद्रशेखरन ने कहा, ‘चैनल से पांच साल तक जुड़े रहने के बाद, ‘मैंने आगे बढ़ने का फैसला किया है। हमने इस चैनल की शुरुआत सिर्फ पांच शोज और 16 सदस्यीय टीम के साथ की थी और लॉन्च के पहले सप्ताह में ही 100 GRPs की रेटिंग हासिल कर ली थी। हमने महिलाओं पर केंद्रित दमदार शो बनाए। हमने तमिलनाडु में प्रॉडक्शन लैंडस्केप को बदला और प्रोग्रामिंग में नए मानक स्थापित करने में कामयाब रहे। हमने पूरी तरह से एक फीमेल केबीसी शो भी किया, जो काफी अलग सोच थी और अच्छा रिस्पॉन्स भी मिला। अब, मैं तमिल एंटरटेनमेंट कंटेंट को ग्लोबल ऑडियंस तक ले जाने के लिए एक ब्लूप्रिंट पर काम कर रहा हूं।’

कलर्स तमिल से पहले, चंद्रशेखरन ने ‘स्टार सुवर्णा’ (Star Suvarna), ‘जी कनाडा’ (Zee Kanada), ‘डेराना टीवी’ (Derana TV) और ‘सीएनबीसी’ (CNBC) के साथ भी काम किया है।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

जानें, NDTV के अधिग्रहण को लेकर उड़ रही खबरों पर क्या बोला अडानी ग्रुप

एनडीटीवी के अधिग्रहण की अफवाहों पर अडानी ग्रुप ने बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) को स्पष्ट किया है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 25 September, 2021
Last Modified:
Saturday, 25 September, 2021
adani548

एनडीटीवी (NDTV) के बाद अब अडानी ग्रुप ने भी मार्केट में चल रही खबरों और अटकलों का खंडन किया है। दरअसल, मार्केट में यह अफवाह तेजी से फैल रही है कि अडानी ग्रुप एनडीटीवी का अधिग्रहण कर सकता है।

एनडीटीवी के अधिग्रहण की अफवाहों पर अडानी ग्रुप ने बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) को स्पष्ट किया है कि मीडिया हाउस में चल रहीं अधिग्रहण की खबरें 'तथ्यात्मक रूप से गलत हैं। ग्रुप ने यह भी कहा कि मीडिया हाउस के शेयर की कीमत में जो भी उतार-चढ़ाव देखा जा रहा है कि वह पूरी तरह से बाजार संचालित है।

अडानी ग्रुप ने कहा कि इस तरह की तथाकथित खबरों को लेकर बीएसई द्वारा मांगे गए स्पष्टीकरण का यह जवाब है। हम यह बताना चाहेंगे कि इस तरह का कोई भी डेवलपमेंट नहीं हुआ है और इसलिए, उपर्युक्त खबरें तथ्यात्मक रूप से गलत हैं। हम मीडिया की अटकलों या अफवाहों पर कोई कमेंट नहीं कर सकते और ऐसा करना हमारी ओर से सही नहीं होगा।

बता दें कि बीएसई ने नयी दिल्ली टेलीविजन लि. (एनडीटीवी) से अडाणी समूह द्वारा हिस्सेदारी खरीदने जाने की खबर के बारे में भी स्पष्टीकरण मांगा था, जिसके जवाब में एनडीटीवी ने इसे अफवाह बताया और इस प्रकार की किसी भी बातचीत से इनकार किया था। अपने स्पष्टीकरण में कंपनी ने कहा था कि नयी दिल्ली टेलीविजन लिमिटेड के संस्थापक-प्रवर्तक और पत्रकार राधिका व प्रणय रॉय ने एनडीटीवी के स्वामित्व में बदलाव या हिस्सेदारी बेचे जाने के संदर्भ में किसी भी संस्था के साथ बातचीत न तो अभी कर रहे हैं और न की है। दोनों व्यक्तिगत रूप से और अपनी कंपनी आरआरपीआर होल्डिंग्स प्राइवेट लि. के जरिये एनडीटीवी में कुल चुकता शेयर पूंजी का 61.45 फीसदी हिस्सेदारी रखे हुए हैं।

एनडीटीवी ने सूचना में यह भी कहा था कि उसे इस बात की कोई जानकारी नहीं है कि शेयर में अचानक से उछाल क्यों आया। उसने कहा, एनडीटीवी आधारहीन अफवाह पर लगाम नहीं लगा सकती और न ही इस प्रकार की आधाहीन अटकलों में शामिल होती है।

दरअसल, कई मीडिया रिपोर्ट्स में यह दावा किया गया है कि अडानी ग्रुप दिल्ली स्थित एक मीडिया हाउस का अधिग्रहण करना चाह रहे हैं, जिसे कई लोग NDTV होने का अनुमान लगा रहे हैं। हालांकि इन अटकलों का फायदा एनडीटीवी के शेयरों में साफ दिखा। एनडीटीवी के शेयरों में लगातार कुछ दिनों से तेजी दर्ज की जा रही है। बीते सोमवार को कंपनी के शेयरों में 10% का अपर सर्किट लगा।

अडानी एंटरप्राइजेज ने कुछ दिन पहले ही वरिष्ठ पत्रकार संजय पुगलिया को अपने ग्रुप के मीडिया इनिशिएटिव्स को लीड करने के लिए सीईओ व एडिटर-इन-चीफ बनाया है, जिसके बाद से ही यह अटकलें और तेज हो गयीं।

कंपनी ने अपने स्पष्टीकरण में कहा कि नयी दिल्ली टेलीविजन लिमिटेड के संस्थापक-प्रवर्तक और पत्रकार राधिका तथा प्रणय रॉय ने एनडीटीवी के स्वामित्व में बदलाव या हिस्सेदारी बेचे जाने के संदर्भ में किसी भी संस्था के साथ बातचीत न तो अभी कर रहे हैं और न की है. आपको बता दें कि सोमवार को अफवाह उड़ी थी कि कंपनी में कंट्रोलिंग स्टेक अडाणी ग्रुप ले सकता है.

अडाणी ग्रुप द्वारा खरीदे जाने की अफवाह के चलते एनडीटीवी के शेयरों में लगातार दूसरे दिन तेजी दर्ज की गई. बीएसई पर कंपनी का शेयर 9.98 फीसदी बढ़कर 87.60 रुपए के भाव पर पहुंच गया. सोमवार को भी कंपनी के शेयर में 10 फीसदी की तेजी आई थी. कंपनी में संस्थापक-प्रवर्तक, राधिका और प्रणय रॉय की हिस्सेदारी 61.45 फीसदी है.

बीएसई ने मांगी सफाई

बीएसई ने नयी दिल्ली टेलीविजन लि. (एनडीटीवी) से अडाणी समूह द्वारा हिस्सेदारी खरीदने जाने की खबर के बारे में स्पष्टीकरण मांगा. इसकी वजह यह अफवाह थी कि कंपनी में नियंत्रणकारी हिस्सेदारी अडाणी ग्रुप ले सकता है. हालांकि, एनडीटीवी ने इसे अफवाह बताया और इस प्रकार की किसी भी बातचीत से इनकार किया.

कंपनी ने कहा, एनडीटीवी के संस्थापक-प्रवर्तक और पत्रकार राधिका और प्रणय रॉय ने एनडीटीवी के स्वामित्व में बदलाव या हिस्सेदारी बेचे जाने के संदर्भ में किसी भी संस्था के साथ बातचीत न तो अभी कर रहे हैं और न की है. दोनों व्यक्तिगत रूप से और अपनी कंपनी आरआरपीआर होल्डिंग्स प्राइवेट लि. के जरिये एनडीटीवी में कुल चुकता शेयर पूंजी का 61.45 फीसदी हिस्सेदारी रखे हुए हैं.

एनडीटीवी ने सूचना में कहा कि उसे इस बात की कोई जानकारी नहीं है कि शेयर में अचानक से उछाल क्यों आया. उसने कहा, एनडीटीवी आधारहीन अफवाह पर लगाम नहीं लगा सकती और न ही इस प्रकार की आधाहीन अटकलों में शामिल होती है.

निवेशकों को हुआ 98 करोड़ का फायदा

दो दिनों में एनडीटीवी के शेयरों में 20 फीसदी का उछाल आया है. शेयर से तेजी से कंपनी के निवेशकों को बड़ा फायदा हुआ है और उनकी दौलत करीब 100 करोड़ रुपये बढ़ गई है. दो दिन में निवेशकों को 98 करोड़ रुपये का फायदा हुआ है. कंपनी का मार्केट कैप 564.77 करोड़ रुपये हो गया.

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

Times Network के जल्द लॉन्च होने वाले इस चैनल में मैनेजिंग एडिटर होंगे निकुंज डालमिया

‘ईटी नाउ‘ में मैनेजिंग एडिटर निकुंज डालमिया वर्तमान भूमिका के अलावा नए चैनल में संपादकीय टीम का नेतृत्व करेंगे और चैनल के समग्र प्रबंधन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 24 September, 2021
Last Modified:
Friday, 24 September, 2021
Nikunj Dalmia

‘टाइम्स नेटवर्क’ (Times Network) ने जाने-माने बिजनेस पत्रकार निकुंज डालमिया को ‘ईटी नाउ स्वदेश’ (ET NOW SWADESH) नाम से जल्द लॉन्च होने वाले अपने हिंदी बिजनेस न्यूज चैनल का मैनेजिंग एडिटर नामित किया है।

इन दिनों ‘टाइम्स नेटवर्क’ के अंग्रेजी बिजनेस न्यूज चैनल ‘ईटी नाउ‘ (ET NOW) में मैनेजिंग एडिटर की जिम्मेदारी निभा रहे निकुंज डालमिया वर्तमान भूमिका के अलावा नए चैनल में संपादकीय टीम का नेतृत्व करेंगे और चैनल के समग्र प्रबंधन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। ‘ईटी नाउ‘ में वह ‘The Market and Closing Trades‘ शो होस्ट करते हैं। निकुंज डालमिया को बिजनेस पत्रकारिता करने का दो दशक से ज्यादा का अनुभव है।

इस बारे में ‘टाइम्स नेटवर्क‘ के एमडी और सीईओ एमके आनंद का कहना, ‘ईटी नाउ को एक प्रतिष्ठित अंग्रेजी बिजनेस न्यूज चैनल बनाने और रेस में उसे सबसे आगे खड़ा करने में निकुंज डालमिया का काफी योगदान है। हिंदी बिजनेस न्यूज चैनल ईटी नाउ स्वदेश की लॉन्चिंग को लेकर हम काफी उत्साहित हैं और मुझे पूरा विश्वास है कि वह ईटी नाउ स्वदेश को भी काफी आगे ले जाएंगे।‘

वहीं, अपनी नई भूमिका को लेकर निकुंज डालमिया का कहना है, ‘मैं इस नए पद को संभालने और पत्रकारों व अन्य सहयोगियों की एक प्रतिभाशाली व जुनूनी टीम के साथ काम करने को लेकर काफी उत्साहित हूं। अपने अनूठे कंटेंट की बदौलत ईटी नाउ स्वदेश हिंदी बिजनेस न्यूज जॉनर में अन्य प्लेयर्स से हटकर अपनी अलग और खास पहचान बनाएगा।‘

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

न्यूज चैनल्स की रेटिंग्स को लेकर NBF ने BARC को फिर लिखा लेटर, कही ये बात

‘न्यूज ब्रॉडकास्टर्स फेडरेशन’ ने देश में टेलिविजन दर्शकों की संख्या मापने वाली संस्था ‘ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल’ (BARC) के सीईओ नकुल चोपड़ा को एक बार फिर पत्र लिखा है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 24 September, 2021
Last Modified:
Friday, 24 September, 2021
NBF

न्यूज इंडस्ट्री से जुड़े मुद्दे सुलझाने और न्यूज ब्रॉडकास्टर्स के हितों की रक्षा के लिए गठित ‘न्यूज ब्रॉडकास्टर्स फेडरेशन’ (News Broadcasters Federation) ने देश में टेलिविजन दर्शकों की संख्या मापने वाली संस्था ‘ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल’ (BARC) के सीईओ नकुल चोपड़ा को एक बार फिर पत्र लिखा है।

इस पत्र में ‘न्यूज ब्रॉडकास्टर्स फेडरेशन’ ने करीब एक साल से रुकी हुई न्यूज चैनल्स की व्युअरशिप रेटिंग को तत्काल प्रभाव से फिर से शुरू करने की मांग की है। बता दें कि इसी मांग को लेकर ‘NBF’ ने नौ सितंबर को भी ‘BARC’ को एक लेटर लिखा था, लेकिन रेटिंग एजेंसी की तरफ से कोई प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं की गई थी।    

इस बार फिर लिखे लेटर में कहा गया है, ‘इस संदर्भ में, हम फिर दोहराते हैं कि बार्क को तत्काल प्रभाव से न्यूज जॉनर के लिए टीआरपी डाटा जारी करने के लिए उचित कार्रवाई शुरू करने की आवश्यकता है, न्यूज ब्रॉडकास्टिंग इंडस्ट्री को पतन के कगार से बचाने के लिए यह कदम काफी जरूरी है।’ एनबीएफ का कहना है कि जिस टीआरपी घोटाले का हवाला देते हुए न्यूज चैनल्स की रेटिंग्स को रोका गया है, वह सिर्फ राजनीतिक मनगढ़ंत कहानी (a political concoction) थी।

लेटर के अनुसार, ‘इस प्रकार यह साफ है कि टीआरपी मामला कुछ भी नहीं है, बल्कि राजनीतिक निर्देशों पर रचा गया कपट और कल्पना है, जिसमें पूरी न्यूज ब्रॉडकास्टिंग इंडस्ट्री के लिए भारी नुकसान की कीमत पर कुछ राष्ट्रीय चैनलों के निजी हितों की पूर्ति होती है। इन निहित स्वार्थों ने कंपनियों, क्रिएटिव एग्जिक्यूटिव्स और विज्ञापन एजेंसियों के विकास को खतरे में डाल दिया है, जो आर्थिक विकास को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

रवीश कुमार ने अपने इस्तीफे की खबरों को बताया महज अफवाह, कही ये बात

‘अडानी ग्रुप’ (Adani Group) ने जब से संजय पुगलिया को एडिटर-इन-चीफ के पद पर नियुक्त किया है, तब से अफवाहों का बाजार गर्म है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 23 September, 2021
Last Modified:
Thursday, 23 September, 2021
Ravish Kumar

‘अडानी ग्रुप’ (Adani Group) ने जब से संजय पुगलिया को एडिटर-इन-चीफ के पद पर नियुक्त किया है, तब से अफवाहों का बाजार गर्म है। इन दिनों मार्केट में इस तरह की चर्चा है कि ‘अडानी समूह’ जल्द ‘एनडीटीवी’ का अधिग्रहण कर सकता है।

इस खबर के बाहर आते ही ‘एनडीटीवी’ के शेयरों में जबरदस्त उछाल देखा गया है। इस बीच कुछ लोगों ने यह अफवाह उड़ानी शुरू कर दी कि जल्द ही रवीश कुमार इस संस्थान को अलविदा कह देंगे और खुद का डिजिटल पोर्टल लॉन्च करेंगे।

इस तरह की खबरें ऐसी उड़ीं कि खुद रवीश कुमार को एक फेसबुक पोस्ट लिखकर इनको विराम देना पड़ा। उन्होंने अपनी फेसबुक पोस्ट में अपने इस्तीफे की खबरों को महज अफवाह बताते हुए इनका खंडन किया है।

इस बारे में रवीश कुमार की फेसबुक पोस्ट आप यहां पढ़ सकते हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

युवा पत्रकार अक्षय शर्मा ने Zee Hindustan को बोला बाय

मूल रूप से मुजफ्फरनगर के रहने वाले अक्षय शर्मा को राष्ट्रपति स्काउट पुरस्कार से नवाजा जा चुका है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 23 September, 2021
Last Modified:
Thursday, 23 September, 2021
Akshay Sharma

युवा पत्रकार अक्षय शर्मा ने ‘जी हिंदुस्तान‘ (Zee Hindustan) में अपनी पारी को विराम दे दिया है। वह यहां इनपुट टीम में अहम जिम्मेदारी निभा रहे थे। ‘जी हिंदुस्तान‘ में अपने करीब नौ महीने के कार्यकाल में एक से बढ़कर एक स्टोरी अपने चैनल के नाम कीं। अक्षय शर्मा की नई पारी के बारे में फिलहाल जानकारी नहीं मिल सकी है।

अक्षय शर्मा मूलतः पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जनपद मुजफ्फरनगर के रहने वाले हैं। करीब छह वर्षों से नोएडा में रह रहे अक्षय शर्मा की प्रारंभिक शिक्षा से लेकर स्नातक तक शिक्षा मुजफ्फरनगर में ही हुई, जिसके बाद उन्होंने आगे की पढ़ाई के लिए माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय का रुख किया और यहां से परास्नातक की डिग्री प्राप्त कर मीडिया के क्षेत्र में कार्य शुरू किया।

अक्षय शर्मा ने ‘सहारा समय‘ न्यूज चैनल के इनपुट विभाग में कार्य शुरू किया, जहां उन्होंने मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान चुनाव के दौरान महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन किया इसके बाद वरिष्ठ पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी की टीम के साथ ‘सूर्या समाचार‘ जॉइन किया, जहां उन्हे गेस्ट को-ऑर्डिनेशन का जिम्मा मिला। लेकिन इस चैनल से अचानक पुण्य प्रसून बाजपेयी की रवानगी के साथ इनको भी रवानगी हुई और फिर अक्षय शर्मा पहुंच गए महाराष्ट्र के तत्कालीन मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के ‘वॉर रूम‘ में। वहां उन्होंने हिंदी कंटेंट राइटर का जिम्मा संभाला और चुनाव होने तक यहां अपनी सेवाएं दीं।

अब अक्षय का अगला पड़ाव था गुरदीप सिंह सप्पल और अमृता राय के चैनल ‘स्वराज एक्सप्रेस‘ में। यहां भी उन्होंने गेस्ट को-ऑर्डिनेशन विभाग में अहम जिम्मेदारी निभाते हुए वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ के कार्यक्रम ‘विनोद दुआ लाइव‘ की जिम्मेदारी संभाली। तकरीबन आठ माह बाद जब संस्थान बंद हो गया तो अक्षय की नई नौकरी की तलाश ‘जी हिंदुस्तान‘ चैनल पर जाकर रुकी। इसके बाद उन्होंने अब यहां से बाय बोल दिया है।

अक्षय शर्मा को राष्ट्रपति स्काउट पुरस्कार से नवाजा जा चुका है। उन्होंने एनसीसी में बटालियन सीनियर की जिम्मेदारी भी निभाई है। वर्ष 2017 में बांग्लादेश में आयोजित फ्रेंडशिप इवेंट में भी अक्षय ने भारत का परचम लहराया था और यहां एशिया पैसिफिक रीजन के मंच पर हिंदी में अपना संबोधन कर वाहवाही लूटी थी।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

Zee न्यूज पर अब नहीं दिखाई देंगे एंकर अमन चोपड़ा, यहां शुरू की नई पारी

जी न्यूज के जाने-माने सीनियर न्यूज एंकर अमन चोपड़ा अब चैनल पर नहीं दिखाई देंगे।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 21 September, 2021
Last Modified:
Tuesday, 21 September, 2021
AmanChopra5485

जी न्यूज के जाने-माने सीनियर न्यूज एंकर अमन चोपड़ा अब चैनल पर नहीं दिखाई देंगे। दरअसल ऐसा इसलिए क्योंकि उन्होंने चैनल को अलविदा कह दिया है और इस बात की पुष्टि उन्होंने खुद समाचार4मीडिया से की।

20 सितंबर यहां उनका आखिरी दिन था। वे यहां करीब चार वर्षों से कार्यरत थे। अमन जल्द ही अब अपनी नई पारी ‘न्यूज18 इंडिया’ के साथ शुरू करेंगे और अगले हफ्त से वे टीवी स्क्रीन पर नजर भी आने लगेंगे। जी न्यूज में वे लोकप्रिय शो ‘ताल ठोक के’ को होस्ट करते थे।

जी न्यूज से पहले अमन एबीपी न्यूज के साथ थे और तब यहां उन्होंने पिछले पांच वर्षों तक अपना योगदान दिया था। अपने 5 साल के कार्यकाल के दौरान ‘एबीपी न्यूज’ में उन्होंने हर तरह के बुलेटिन किए, जिनमें शाम 7 बजे पॉलिटिकल डिबेट, ‘आज की तारीख’, ‘घंटी बजाओ’, ‘कौन बनेगा मुख्यमंत्री’ शो आदि शामिल हैं। चुनावों के दौरान उन्होंने दो महीने तक ‘रथ यात्रा’ शो को भी होस्ट किया है।

प्रिंट, पीआर एजेंसी और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के क्षेत्र में उन्हें करीब 20 वर्षों से भी ज्यादा का अनुभव है। अपने करियर की शुरुआत उन्होंने प्रिंट मीडिया से की थी, इसके बाद वे पीआर एजेंसीज से जुड़े और फिर उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की ओर  रुख किया।

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में पहले वे ‘आईबीएन7’ (अब न्यूज18 इंडिया), फिर ‘सीएनईबी’ (4साल) और उसके बाद ‘राज्यसभा टीवी’ (4साल) होते हुए वे ‘एबीपी न्यूज’ (5 साल) से जुड़े थे। कुछ समय तक वे ‘न्यूज एक्सप्रेस’ के साथ भी रहे।

राजनीतिक खबरों पर अमन अच्छी पकड़ रखते हैं। वे दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज्म व मास कम्युनिकेशन में ग्रेजुएट हैं। पब्लिक रिलेशन में पोस्ट ग्रेजुएशन का डिप्लोमा लेने के बाद उन्होंने मास कम्युनिकेशन में एमए भी किया।

वे जितने अच्छे एंकर माने जाते हैं, उतने ही अच्छे थिएटर आर्टिस्ट। उन्होंने कॉलेज के दिनों में कई स्टेज शो किए। इतना ही नहीं उन्होंने फ्रीलांसिग एंकरिंग भी कॉलेज के दिनों में ही की थी।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

टीवी पत्रकार कुंदन जमैयार ने न्यूज नेशन को बोला बाय, पहुंचे न्यूज इंडिया

नोएडा फिल्मसिटी से जल्द लॉंच होने वाले चैनल ‘न्यूज इंडिया‘ की यंग टीम के साथ न्यूज एंकर कुंदन जमैयार भी जुड़ गए हैं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 18 September, 2021
Last Modified:
Saturday, 18 September, 2021
Kundan Jamaiyar

नोएडा फिल्मसिटी से जल्द लॉंच होने वाले चैनल ‘न्यूज इंडिया‘ की यंग टीम के साथ न्यूज एंकर कुंदन जमैयार भी जुड़ गए हैं। यहां वह बतौर एंकर और सीनियर प्रोड्यूसर अपनी जिम्मेदारी संभालेंगे। कुंदन जमैयार अब तक ‘न्यूज नेशन‘ की टीम का हिस्सा थे। न्यूज स्टेट में यूपी-उत्तराखंड की खबरों को धारदार अंदाज में पेश कर रहे कुंदन जमैयार अपनी नई पारी को लेकर काफी रोमांचित हैं।

करीब साढ़े सात साल तक न्यूज स्टेट के प्राइम टाइम एंकर के तौर पर उन्होंने कई शानदार शो किए। कुंदन जमैयार केवल एंकरिंग पर फोकस नहीं रखते बल्कि फील्ड रिपोर्टिंग में भी उनकी गहरी दिलचस्पी रही है। उन्होंने 2014 और 2019 के लोकसभा चुनाव के अलावा विधान सभा चुनाव 2017 में कई खास शो की एंकरिंग की।

मूल रूप से पटना (बिहार) के रहने वाले कुंदन जमैयार को इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में करीब 15 साल का अनुभव है। अर्थशास्त्र से ग्रेजुएट कुंदन ने अपने करियर की शुरूआत ‘टीवी 100‘ से की थी। इसके अलावा वह ‘एस1‘,‘आजाद न्यूज‘,‘एटूजेड न्यूज‘ और ‘साधना न्यूज‘ से भी जुड़े रहे हैं।

वह कई चैनलों की लॉन्चिंग टीम का हिस्सा रहे हैं और इस बार ‘न्यूज इंडिया‘ की लॉन्चिंग में बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं। समाचार4मीडिया की ओर से कुंदन जमैयार को उनके नए सफर के लिए ढेरों शुभकामनाएं।  

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए