ऑफिस से घर लौट रहे थे दो पत्रकार, हो गए इस वारदात का शिकार

वारदात के दौरान एक ही स्कूटी पर दफ्तर से घर लौट रहे थे दोनों पत्रकार, पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर शुरू कर दी है मामले की जांच

Last Modified:
Tuesday, 16 June, 2020
Crime

दिल्ली में ‘दैनिक जागरण’ अखबार के दो पत्रकारों के साथ गन प्वाइंट पर लूट का मामला सामने आया है। दोनों पत्रकारों के साथ ये घटना रविवार की रात करीब नौ बजे पूर्वी दिल्ली स्थित गीता कॉलोनी फ्लाईओवर के पास घटी। वारदात के दौरान संतोष कुमार सिंह और निहाल सिंह नामक दोनों पत्रकार आईटीओ स्थित ऑफिस से घर लौट रहे थे।

पीड़ित पत्रकार निहाल सिंह ने एफआईआर में बताया है, ‘हम स्कूटी से अपने घर लौट रहे थे। गीता कॉलोनी और लक्ष्मी नगर के पास मुंह पर मास्क लगाकर आए बाइक सवार तीन बदमाशों ने हमारा रास्ता रोक लिया और चाकू व बंदूक के बल पर पर्स और साथी पत्रकार का मोबाइल फोन छीन कर ले गए।’  

पीड़ित पत्रकार ने पुलिस में मामले की एफआईआर दर्ज करा दी है। पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।  

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

दैनिक जागरण के पत्रकार धर्मेंद्र मिश्र के मामले में हरकत में आया NHRC, लिया ये स्टेप

उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर जिले में 'दैनिक जागरण' के पूर्व ब्यूरो चीफ धर्मेंद्र मिश्र के खिलाफ पुलिस द्वारा एफआईआर दर्ज करने के मामले में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग हरकत में आया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 12 August, 2020
Last Modified:
Wednesday, 12 August, 2020
NHRC

उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर जिले में 'दैनिक जागरण' के पूर्व ब्यूरो चीफ धर्मेंद्र मिश्र के खिलाफ नगर कोतवाली पुलिस द्वारा एफआईआर दर्ज करने के मामले में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) ने उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक से चार हफ्ते में अपनी रिपोर्ट देने के लिए कहा है। सामाजिक कार्यकर्ता तीस्ता सीतलवाड़ के एनजीओ ‘सिटीजंस फॉर जस्टिस एंड पीस’ (CJP) की ओर से एक पत्र लिखकर मानवाधिकार आयोग को पूरे मामले से अवगत कराया था। पत्र में कहा गया था कि धर्मेंद्र मिश्र सुल्तानपुर में बढ़ते अपराधों और इनकी तफ्तीश में पुलिस की नाकामियों को अपने अखबार के माध्यम से लगातार उजागर कर रहे थे।

पत्र के अनुसार, इसी बात का बदला लेने के लिए पुलिस ने धर्मेंद्र मिश्र के खिलाफ यह एफआईआर दर्ज की है। पत्र में आयोग से इस मामले में दखल देने की मांग की गई थी। इसी पत्र के आधार पर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने इस मामले में डीजीपी से रिपोर्ट मांगी है।  

बता दें कि सितंबर 2018 में 'दैनिक जागरण' ने अमेठी जिले के निवासी धर्मेंद्र मिश्र को सुल्तानपुर में ब्यूरो चीफ के पद पर तैनात किया था। धर्मेंद्र मिश्र के खिलाफ पिछले साल 16 नवंबर को जो एफआईआर दर्ज की गई है, उसमें लूट का आरोप लगाते हुए घटना की तारीख दिसंबर 2018 बताई गई है। एक साल बाद इस मामले में दर्ज एफआईआर को लेकर पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए जा रहे हैं।

वही, धर्मेंद्र मिश्र का आरोप है कि सुल्तानपुर के तत्कालीन एसपी हिमांशु कुमार उनके द्वारा पुलिस की नाकामियों को उजागर करने वाले खबरों से नाराज थे। धर्मेंद्र मिश्र के अनुसार, हिमांशु कुमार ने सच्चाई की आवाज दबाने के लिए उनके ऊपर लूट का फर्जी मुकदमा दर्ज कराया है। धर्मंद्र मिश्र का कहना है कि उन्होंने इस मामले में प्रेस काउंसिल में भी याचिका दायर की है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

न्यूज कवरेज कर लौट रहे पत्रकार को मारी गोली, सामने आ रही ये वजह

हमले में पत्रकार गंभीर रूप से घायल हो गया, उसे इलाज के लिए निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 12 August, 2020
Last Modified:
Wednesday, 12 August, 2020
Neeraj Tripathi

बदमाश आए दिन पत्रकारों को निशाना बना रहे हैं। ऐसा ही एक मामला अब बिहार के आरा से आया है, जहां पर कुछ बदमाशों ने कवरेज कर लौट रहे पत्रकार को गोली मार दी। हमले में पत्रकार गंभीर रूप से घायल हो गया, उसे इलाज के लिए निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। फिलहाल पत्रकार की हालत ठीक बताई जा रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, जिले के शाहपुर थाना क्षेत्र के बिलौटी गांव निवासी त्रिलोकी नाथ त्रिपाठी के बेटे नीरज उर्फ विक्की त्रिपाठी (25) एक निजी चैनल में पत्रकार हैं। मंगलवार को नीरज त्रिपाठी शाहपुर थाना क्षेत्र के शहजादी माता मंदिर के पास बेलौटी गांव में खबर की कवरेज कर घर लौट रहे थे। आपसी विवाद के चलते रास्ते में पहले से घात लगाकर बैठे बदमाशों ने नीरज को गोली मार दी। पैर में गोली लगने से नीरज गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

इस मामले में पुलिस का कहना है कि नीरज त्रिपाठी के भाई पंकज त्रिपाठी और सरोज त्रिपाठी का विवाद गांव के कुछ लोगों के साथ है। पिछले साल नवंबर में नागा तिवारी के परिवार में किसी को गोली लगी थी, जिसमें यह लोग अभियुक्त हैं। पुलिस का कहना है कि गांव में आपसी विवाद को लेकर ही पत्रकार को गोली मारी गई है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। जल्द ही आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

प्रशासन के इस कदम से नाराज हुए पत्रकार, जमीन पर लेटकर किया प्रदर्शन

पत्रकारों को अपना काम करने के दौरान तमाम मुश्किलों का सामना करना पड़ता है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 08 August, 2020
Last Modified:
Saturday, 08 August, 2020
Protest

पत्रकारों को अपना काम करने के दौरान तमाम मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। ड्यूटी निभाने के दौरान कई बार उनके साथ मारपीट की जाती है तो कई बार उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज हो जाता है। ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले का आया है। बताया जाता है कि यहां के जिला अस्पताल में एक बच्ची द्वारा लगाए जा रहे पोछे का वीडियो रिकॉर्ड कर खबर को वायरल करने पर पत्रकार अमिताभ रावत  के खिलाफ प्रशासन ने विभिन्न धाराओं में एफआईआर दर्ज की है। उन पर बच्ची को उकसाकर पोछा लगवाते हुए वीडियो बनाने का आरोप है।

प्रशासन की इस कार्रवाई का जिले भर के पत्रकार प्रदर्शन कर रहे हैं। इस क्रम में जिले के तमाम पत्रकारों ने काली पट्टी बांधकर जिलाधिकारी कार्यालय पर धरना दिया और अमिताभ रावत के खिलाफ दर्ज मुकदमा वापस लेने की मांग की है। यही नहीं, इस दौरान प्रशासन की कार्रवाई के विरोध में पत्रकारों ने लेटकर प्रदर्शन भी किया। पत्रकारों ने अपर जिलाधिकारी राकेश कुमार पटेल के द्वारा राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन भी दिया।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इस बारे में अमिताभ रावत का कहना है, ’25 जुलाई को जिला अस्पताल में एक बच्ची पोछा लगाते दिखी थी तो मैंने उसका वीडियो बना लिया था और इस पर खबर लिखी, जिसके बाद मुझ पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया।’

पत्रकार निशि कांत त्रिवेदी ने पत्रकारों के इस विरोध प्रदर्शन को अपनी फेसबुक वॉल पर पोस्ट किया है, जिसे आप यहां देख सकते हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

कोरोना ने छीन ली दैनिक जागरण के वरिष्ठ पत्रकार राकेश चतुर्वेदी की जिंदगी

कोरोना संक्रमण के चलते बुधवार की रात उन्हें बीएचयू स्थित सरसुंदर लाल अस्पताल के कोविड लेवल-तीन में भर्ती कराया गया था।

Last Modified:
Friday, 07 August, 2020
Rakesh Chaturvedi

दैनिक जागरण, वाराणसी में कार्यरत वरिष्ठ पत्रकार राकेश चतुर्वेदी का गुरुवार की रात कोरोना से निधन हो गया। करीब 55 वर्षीय राकेश चतुर्वेदी को कोरोना संक्रमण के चलते बुधवार की रात बीएचयू स्थित सरसुंदर लाल अस्पताल के कोविड लेवल-तीन में भर्ती कराया गया था।

बताया जाता है कि फेफड़ों में संक्रमण की वजह से उन्हें सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। आक्सीजन का स्तर बनाए रखने के लिए उनको कृत्रिम सांस दी जा रही थी, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका और रात करीब सवा नौ बजे उन्होंने अंतिम सांस ली।

वाराणसी के चौबेपुर थाना क्षेत्र के उगापुर के मूल निवासी राकेश चतुर्वेदी ने दैनिक ‘आज’ से अपने करियर की शुरुआत की थी। इसके बाद वह पिछले दो दशकों से दैनिक जागरण संस्थान में अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे। इन दिनों वे डाक डेस्क पर कार्यरत थे।

राकेश चतुर्वेदी चार भाइयों में सबसे छोटे थे। उनके परिवार में पत्नी के अलावा एक पुत्र व दो पुत्रियां हैं। राकेश चतुर्वेदी के निधन पर जिलाधिकारी जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा समेत तमाम लोगों ने दुख व्यक्त करते हुए उन्हें अपनी श्रद्धांजलि दी है। 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

इस मंच पर जुटेंगी मीडिया जगत की हस्तियां, तमाम मुद्दों पर होगी चर्चा

वर्चुअल रूप से होने वाले इस कार्यक्रम में ‘बिजनेस वर्ल्ड’ और ‘एक्सचेंज4मीडिया’ ग्रुप के चेयरमैन व एडिटर-इन-चीफ डॉ. अनुराग बत्रा मुख्य वक्ता के रूप में शामिल होंगे

Last Modified:
Friday, 07 August, 2020
Hope India

ताजनगरी आगरा से पिछले साल शुरू हुआ नेशनल हिंदी न्यूज चैनल ‘टीबीआई9’ (tbi9) अपनी पहली वर्षगांठ मना रहा है। चैनल के अनुसार, इस एक साल में उसके व्युअर्स की संख्या 16 मिलियन हो गई है। इस सफलता का जश्न मनाने के लिए आगरा के होटल भावना क्लार्क्स इन होटल में सात अगस्त को ‘होप इंडिया कॉन्क्लेव’ (Hope India Conclave) 2020 का आयोजन किया जाएगा।

‘महासचिव, कॉर्पोरेट काउंसिल फॉर लीडरशिप एंड अवेयरनेस’ (सीसीएलए) की ओर से वर्चुअल रूप से होने वाले इस कार्यक्रम को ‘टीबीआई9’ मीडिया नेटवर्क की ओर से पेश किया जाएगा। इस कार्यक्रम में मीडिया जगत की तमाम हस्तियां एक मंच पर जुटेंगी और अपने विचार रखेंगी। ‘बिजनेस वर्ल्ड’ और ‘एक्सचेंज4मीडिया’ ग्रुप के चेयरमैन व एडिटर-इन-चीफ डॉ. अनुराग बत्रा कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में शामिल होंगे।

दोपहर करीब पौने दो बजे अतिथियों के स्वागत के साथ कार्यक्रम की शुरुआत होगी। इस दौरान दो पैनल डिस्कशन भी किए जाएंगे। दोपहर ढाई बजे होने वाले पैनल डिस्कशन में सीएलई-नॉर्थ के रीजनल चेयरमैन पूरन डावर, ‘बिजनेस वर्ल्ड’ और ‘एक्सचेंज4मीडिया’ ग्रुप के चेयरमैन व एडिटर-इन-चीफ डॉ. अनुराग बत्रा, नोएडा फिल्म सिटी के फाउंडर और मीडिया विश्लेषक संदीप मारवाह, आईटीवी नेटवर्क के चीफ एडिटर अजय शुक्ला, राज्यसभा टेलिविजन के पूर्व कार्यकारी निदेशक राजेश बादल शामिल होंगे। ‘द कैपिटल पोस्ट’ की एडिटर गरिमा सिंह इस पैनल को मॉडरेट करेंगी।

अपराह्न तीन बजे चार वक्ताओं की स्पीच के बाद 03.20 बजे से दूसरा पैनल डिस्कशन आयोजित किया जाएगा। इसमें मीडिया विश्लेषक प्रमिला दीक्षित, रोमसंश ग्रुप के किशोर खन्ना, उत्ताखंड के मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार रमेश भट्ट, न्यूज नशा की फाउंडर विनीता यादव अपने विचार रखेंगे और इस पैनल को इंडिया न्यूज के सीनियर एडिटर यतेंद्र शर्मा मॉडरेट करेंगे। शाम चार बजे चीफ गेस्ट की स्पीच और धन्यवाद ज्ञापन के साथ करीब सवा चार बजे इस कॉन्क्लेव का समापन होगा। उत्तर प्रदेश के समाज कल्याण राज्य मंत्री (Social Welfare State minister) डॉ. जीएस धर्मेश कार्यक्रम में चीफ गेस्ट होंगे।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

भीषण बम विस्फोट में भारतीय महिला पत्रकार घायल, परिजनों से कही ये बात

लेबनान की राजधानी बेरूत में मंगलवार को हुए भीषण बम विस्फोट में उत्तर प्रदेश के मेरठ की पत्रकार आंचल वोहरा भी घायल हो गई हैं

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 06 August, 2020
Last Modified:
Thursday, 06 August, 2020
anchal

लेबनान की राजधानी बेरूत में मंगलवार को हुए भीषण बम विस्फोट में उत्तर प्रदेश के मेरठ की पत्रकार आंचल वोहरा भी घायल हो गई हैं। धमाके के बाद उनके एक दोस्त ने उन्हें अस्पताल पहुंचाया। उनके घर को भी काफी नुकसान पहुंचा है। आंचल वोहरा ने खुद ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। बता दें कि इस हमले में मरने वालों की संख्या 100 पहुंच गई है।

आंचल ने अपने ट्विटर अकाउंट पर विस्फोट की वीडियो और खुद के घायल होने की जानकारी दी थी। आंचल ने घायल होने के बाद इसकी जानकारी अपने एक दोस्त को दी। दोस्त ने उन्हें अस्पताल पहुंचाया, जहां उनका इलाज चल रहा है। वहीं विस्फोट के बाद मलबे के कुछ टुकड़े उनके फ्लैट में भी आकर गिरे, जिससे उनके फ्लैट को भी काफी नुकसान हुआ है।

आंचल वोहरा मेरठ में पली-बढ़ी हैं और उनका परिवार अभी भी मेरठ के शास्त्रीनगर में रह है। वे लेबनान के बेरूत में रहकर पत्रकारिता कर रही हैं। आंचल ‘वॉइस ऑफ अमेरिका’ की संवाददाता हैं और यहीं से ही मिडिल ईस्ट और साउथ एशिया को कवर करती हैं। आंचल अल जजीरा के लिए भी लिखती हैं और टाइम्स के लिए फॉरेन पॉलिसी कंट्रीब्यूटर हैं। इससे पहले आंचल दुबई के प्रसिद्ध चैनल के लिए भी काम कर चुकी हैं। जिस जगह धमाका हुआ है वहां से आंचल वोहरा का घर करीब डेढ़ किलोमीटर दूर है।

आंचल वोहरा ने ट्वीट करके अपने घायल होने और घर के क्षतिग्रस्त होने के बारे में परिजनों को जानकारी दी है। आंचल के घायल होने की सूचना से परिजन चिंतित हैं। परिजनों को जब आंचल के अस्पताल में भर्ती होने और उनके सकुशल होने की जानकारी मिली तो परिजनों ने राहत की सांस ली। वहीं परिजन पल-पल की जानकारी के लिए आंचल को फोन कर रहे हैं। आंचल ने अपने परिजनों को बताया कि अब उसकी हालत ठीक है।

 

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

पत्रकार विक्रम जोशी हत्याकांड मामले में अंतिम आरोपी भी गिरफ्तार

यूपी के गाजियाबाद में 20 जुलाई को हुए पत्रकार विक्रम जोशी हत्याकांड मामले में अब अंतिम आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया गया है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 05 August, 2020
Last Modified:
Wednesday, 05 August, 2020
murdercase

यूपी के गाजियाबाद में 20 जुलाई को हुए पत्रकार विक्रम जोशी हत्याकांड मामले में अब अंतिम आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। 9 आरोपी को पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया था, जबकि एक आरोपी फरार चल रहा था। गाजियाबाद पुलिस ने जिस दसवें आरोपी को गिरफ्तार किया है, उसका नाम आकाश बिहारी है। पत्रकार हत्यकांड में इस आरोपी पर पुलिस ने 25 हजार रुपए का इनाम रखा था।

बता दें कि पिछले महीने गाजियाबाद में पत्रकार विक्रम जोशी को बदमाशों ने गोली मार दी थी। घटना 20 जुलाई की है। बाद में अस्पताल में इलाज के दौरान विक्रम जोशी की मौत हो गई थी। इस सनसनीखेज हत्या के मामले में फौरी एक्शन लेते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी ने विजय नगर थाना प्रभारी को निलंबित कर दिया था। घटना के बाद पत्रकार विक्रम जोशी के घरवाले कई दिनों से इंसाफ की मांग कर रहे हैं।

गौरतलब है कि विक्रम जोशी को विजय नगर इलाके में बदमाशों ने घेरकर गोली मार दी थी। विक्रम जोशी पर हमला भांजी से छेड़छाड़ की शिकायत करने पर बदमाशों ने किया था। बाद में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मर्डर केस का संज्ञान लेते हुए दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने के आदेश दिए थे। इसके साथ ही सीएम ने विक्रम के परिवार वालों को 10 लाख रुपए की सहायता राशि, पत्नी को नौकरी और बच्चों की नि:शुल्क पढ़ाई का इंतजाम करने का ऐलान किया है। पुलिस ने इस मामले में अब तक मुख्य आरोपी सहित 10 लोगों को गिरफ्तार किया है।

विक्रम जोशी की हत्या से पहले ही पुलिस ने छेड़खानी की उस शिकायत पर भी जांच शुरू कर दी थी, जिसकी शिकायत विक्रम ने कई बार पुलिस से की थी। हालांकि दूसरे पक्ष ने भी पहले एक मारपीट की शिकायत दी थी। लेकिन मारपीट की वजह क्या थी, यह साफ नहीं हो पाया था। गाजियाबाद पुलिस का कहना है कि दोनों मामलों की जांच जारी थी, इसी दौरान विक्रम जोशी के साथ ये वारदात हो गई। इसी के बाद पुलिस ने छेड़खानी की एफआईआर भी दर्ज कर ली थी।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

अमर उजाला को बाय बोलकर पत्रकार अर्जुन निराला ने नई दिशा में बढ़ाए कदम

‘अमर उजाला’ से करीब 11 वर्षों से जुड़े और लगभग पांच वर्षों से ‘अमर उजाला फाउंडेशन’ संभाल रहे पत्रकार अर्जुन निराला ने संस्थान को अलविदा कह दिया है।

Last Modified:
Monday, 03 August, 2020
Arjun Nirala

‘अमर उजाला’ से करीब 11 वर्षों से जुड़े और पिछले करीब पांच वर्षों से ‘अमर उजाला फाउंडेशन’ संभाल रहे पत्रकार अर्जुन निराला ने संस्थान को अलविदा कह दिया है। वे अमर उजाला में समाचार संपादक रह चुके हैं और अमर उजाला फाउंडेशन में वरिष्ठ समन्वयक के पद पर कार्यरत थे। समाचार4मी़डिया से बातचीत में अर्जुन निराला ने बताया कि अब वे पतंजलि योग पीठ, हरिद्वार के साथ नई पारी शुरू करने जा रहे हैं। यहां वह जनरल मैनेजर (कोऑर्डिनेशन-एडमिन) की जिम्मेदारी संभालेंगे और सीधे आचार्य बालकृष्ण को रिपोर्ट करेंगे। निराला हिंदी, अंग्रेजी, पंजाबी सहित करीब दस भाषाएं बोलते हैं और कई भाषाओं से वे हिंदी में साहित्यिक अनुवाद भी करते हैं। पत्रकार के अलावा वे कवि, अनुवादक और अच्छे वक्ता भी हैं। निराला को पत्रकारिता के साथ-साथ यूनिसेफ सहित तमाम संस्थाओं के साथ काम करने का लंबा अनुभव है।

अर्जुन निराला एक अच्छे एक्टर भी हैं और बेस्ट एक्टर का अवार्ड भी जीत चुके हैं। वह यूनिर्सिटी कॉलर होल्डर हैं। उन्हें अपने छात्र जीवन में ही एक सीरियल में डिजाइनर का काम करने का मौका मिल चुका है। बता दें कि पत्रकारिता के दौरान डेस्क पर रहते हुए उनके द्वारा लिखी गई खबर का संज्ञान राष्ट्रपति भवन ने लिया। निराला और जिस पर उन्होंने खबर लिखी थी, दोनों को मिलने के लिए स्वयं राष्ट्रपति भवन से बुलावा आया।

मणिपुर में विधानसभा चुनाव का कवरेज करने गए निराला को आतंकवादियों ने बम से उठाने की धमकी दी। इस कारण उनको अपनी यात्रा बीच में ही छोड़कर वापस लौटना पड़ा। इसी दौरान उन्होंने मानवाधिकार कार्यकर्ता इरोम शर्मिला का बहुचर्चित साक्षात्कार भी लिया (इरोम उस समय जवाहर लाल नेहरू अस्पताल में बनी अस्थाई जेल में बंद थीं)।  

निराला सुदूर पूर्व असम के तिनसुकिया जिले के डिगबोई के पास गांव के रहने वाले हैं। शुरुआती शिक्षा असम में लेने के बाद उन्होंने पंजाब के जालंधर स्थित गुरुकुल में थोड़ा बचपन गुजारा और संस्कृत की शिक्षा-दीक्षा ली। इसके बाद पंजाब विश्वविद्यालय से हिंदी में एम.ए की। 

अर्जुन निराला ने वर्ष 2002 में दैनिक भास्कर से पत्रकारिता की शुरुआत की थी। इस अखबार में उन्होंने करीब आठ साल की लंबी पारी खेली। इस दौरान चंडीगढ़, दिल्ली और पंजाब लॉचिंग में उन्होंने विशेष भूमिका निभाई। उसके बाद फिर उन्हें दिल्ली भेजा गया। इसके बाद अमर उजाला होते हुए अब वे पतंजलि में नई भूमिका निभाने जा रहे हैं। अब तक 56 बार रक्तदान कर चुके निराला को उनकी सामाजिक दायित्वों के निर्वहन के लिए कई राष्ट्रीय पुरस्कार से भी नवाजा जा चुका है। निराला ने तेजाब पीड़ितों को हक दिलाने के लिए भी काफी काम किया।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

कोरोना के मुद्दे पर BJP लीडर किरीट सोमैया ने BMC को कुछ यूं घेरा

‘गवर्नेंस नाउ’ के मैनेजिंग डायरेक्टर कैलाश अधिकारी से विशेष बातचीत में पूर्व सांसद ने कहा, मुंबई महानगरपालिका आयुक्त झूठ बोल रहे हैं और कोविड-19 से हुईं मौत के आंकड़े छिपा रहे हैं

Last Modified:
Thursday, 30 July, 2020
Kirit Somaiya

पूर्व सांसद किरीट सोमैया का कहना है कि बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) के आयुक्त कोविड-19 से हुईं मौतों को लेकर आंकड़ा छुपा रहे हैं। ‘गवर्नेंस नाउ’ के मैनेजिंग डायरेक्टर कैलाश अधिकारी से एक विशेष बातचीत में सोमैया का कहना था कि कोरोना पर नियंत्रण पाने में महानगरपालिका पूरी तरह से असफल साबित हुई है। प्रशासन ने समय पर सकारात्मक कार्यवाही नहीं की।

इस बातचीत के दौरान यह पूछे जाने पर कि महानगर पालिका ने धारावी में कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने में सफलता पाई, इस पर आपका क्या कहना है? सोमैया ने जवाब दिया कि मुंबई में जितनी तादाद में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ी है, उससे साफ है कि प्रशासन पूरी तरह से फेल हो गया है। प्रशासन ने कोरोना से हुईं मौतों के सही आंकड़े को छिपाने की पूरी कोशिश की है। सही आंकड़े के अभाव में लोगों को कई बार परेशानियों का सामना करना पड़ा। समय-समय पर कोरोना लेकर महानगरपालिका आयुक्त ने अपनी जिम्मेदारी का निर्वाह न करते हुए सही आंकड़े नहीं बताए और झूठ बोला कि भारत की आर्थिक राजधानी में कोरोना पीड़ितों की संख्या न केवल बढ़ी है बल्कि कई लोगों को अपनी जान भी गंवानी पड़ी। सोमैया का यह भी कहना था कि महानगरपालिका की लापरवाही से निर्दोष नागरिकों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा, यह महानगरपालिका और महाराष्ट्र प्रशासन की घोर असफलता है

एक सवाल के जवाब में सोमैया का कहना था, ‘मैंने भारतीय जनता पार्टी की सेवा पूरी लगन से की है। जब भी पार्टी को मेरी जरूरत पड़ी, मैंने अपना 100% देने की कोशिश की। मुसीबत में मैं हमेशा पार्टी के लिए चट्टान बनकर खड़ा रहा।’ जब सोमैया से पूछा गया कि कई लोग आपके द्वारा किए गए कार्य को लेकर भी अलग-अलग बातें करते हैं, उन्होंने जवाब में कहा, ‘मैं पार्टी का सच्चा सिपाही होने के नाते सच्ची निष्ठा के साथ अपने दायित्व का निर्वाह करता हूं। मुझे पॉलिटिकल फायदा हो या न हो, मैं इसकी चिंता नहीं करता। मैं फायदे को लेकर ऐसा कोई काम नहीं करता। मैं भारतीय जनता पार्टी के लिए एक कार्यकर्ता के रूप में काम करता हूं। कभी नहीं सोचता कि मेरे द्वारा किए गए कार्य मुझे इनाम मिलेगा कि नहीं मिलेगा।‘

इस बातचीत के दौरान सोमैया ने यह भी कहा, ‘मैंने सरकार के कई भ्रष्टाचार को उजागर किया और प्रमाण सहित जनता के सामने जनता की आवाज को बुलंद किया। मैं दावे से कह सकता हूं कि वर्तमान सरकार अपना दायित्व सही ढंग से नहीं निभा कर रही है। वह अपनी जिम्मेदारी का निर्वाह करने के बजाय सिर्फ लोगों को बरगला रही है। आम जनता में प्रशासन को लेकर घोर निराशा है। लोगों में मायूसी का आलम इस कदर है कि लाखों प्रवासियों को पैदल अपने-अपने प्रदेशों में जाना पड़ा। कई लोगों को तमाम कष्टों का सामना भी करना पड़ रहा है। यहां प्रशासन है, यह भी कहना हास्यास्पद लग रहा है।’

सोमैया ने कहा कि मुंबई में मीरा रोड, भयंदर, विरार, ठाणे के क्षेत्र के लोगों को कितनी दिक्कतें हैं, यह शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता। आम लोगों की आवाज को प्रशासन ने दबा कर रखा है। सही आंकड़े यदि प्रामाणिक तौर पर जनता के समक्ष आ जाएं तो यह सरकार मुंह दिखाने के लायक नहीं रह पाएगी।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

‘पार्लियामेंट्री बिजनेस’ से जुड़े वरिष्ठ पत्रकार राजेश सिन्हा, संभालेंगे ये पद

‘पार्लियामेंट्री बिजनेस’ से खबर है कि जल्द शुरू होने वाले इसके नए न्यूज चैनल से वरिष्ठ पत्रकार राजेश सिन्हा जुड़ गए हैं

Last Modified:
Tuesday, 28 July, 2020
rajesh sinha

मीडिया वेंचर ‘पार्लियामेंट्री बिजनेस’ (ParliamentaryBusiness) से खबर है कि जल्द शुरू होने वाले इसके नए न्यूज चैनल से वरिष्ठ पत्रकार राजेश सिन्हा जुड़ गए हैं। उन्होंने ‘पार्लियामेंट्री बिजनेस’ में एग्जिक्यूटिव एडिटर के तौर पर जॉइन किया है। 

समाचार4मीडिया के साथ बातचीत में राजेश सिन्हा ने बताया कि वह ‘पार्लियामेंट्री बिजनेस’ के टीवी अफेयर्स की जिम्मेदारी देखेंगे। वे अपनी रिपोर्ट एडिटर-इन-चीफ नीरज गुप्ता और एडिटोरियल हेड महेश शुक्ला को देंगे। राजेश सिन्हा को तमाम मीडिया संस्थानों में काम करने का करीब 25 साल का अनुभव है। वे इसके पहले ‘आजतक’, ‘इंडिया टीवी’ और ‘ANI’ जैसे मीडिया संस्थानों के इनपुट डिपार्टमेंट में अपना योगदान दे चुके हैं।

मूल रूप से बिहार के रहने वाले राजेश सिन्हा ने 'क्रॉनिकल' मैगजीन के साथ पत्रकारिता जगत में करियर की शुरुआत की थी। इसके बाद विभिन्न् संस्थानों में तमाम भूमिकाएं निभाते हुए वे यहां तक पहुंचे हैं। समाचार4मीडिया की ओर से राजेश सिन्हा को उनकी नई पारी के लिए शुभकामनाएं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए