बदतमीजी का विरोध करने की पत्रकार को कुछ यूं चुकानी पड़ी कीमत

पत्रकार की शिकायत पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर हमलावरों की तलाश शुरू कर दी है।

Last Modified:
Thursday, 25 June, 2020
Crime

उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में एक पत्रकार के साथ मारपीट का मामला सामने आया है। घटना बुधवार दोपहर की है और पीड़ित पत्रकार का नाम संदीप वर्मा है। पीड़ित पत्रकार की शिकायत पर थाना सूरजपुर पुलिस ने मामला दर्ज कर हमलावरों की तलाश शुरू कर दी है।

पुलिस में दर्ज एफआईआर के अनुसार, एक हिंदी दैनिक में बतौर सीनियर रिपोर्टर कार्यरत संदीप वर्मा इन ग्रेटर नोएडा के बीटा-एक सेक्टर की एवीजे हाइट्स सोसायटी में रहते हैं। बुधवार की दोपहर करीब तीन बजे वह सोसायटी में ही स्थित मार्केट से घर का जरूरी सामान लेने गए हुए थे। सामान लेकर लौटते समय वह किसी से फोन पर बातचीत करते हुए लौट रहे थे, तभी रास्ते में खड़े कुछ लड़कों ने उनसे बदतमीजी शुरू कर दी।

एफआईआर के अनुसार, विरोध जताने पर उनमें से कुछ लड़कों ने संदीप पर हमला कर दिया। जान बचाने के लिए वह पास में ही स्थित एक रेस्टोरेंट में घुस गए, लेकिन हमलावर वहां भी आ गए और उनकी जमकर पिटाई कर दी।

इस घटना में संदीप के सिर से खून निकल आया और उंगली में भी फ्रैक्चर हुआ है। इसके बाद उन्होंने पुलिस के इस घटना की शिकायत दी। संदीप की शिकायत पर पुलिस ने पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर हमलावरों की तलाश शुरू कर दी है।

संदीप वर्मा के साथ मारपीट की घटना सीसीटीवी में कैद हो गई है, जिसकी फुटेज आप यहां देख सकते हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

नहीं रहे वरिष्ठ पत्रकार और ट्रेड यूनियन लीडर क्षेत्रधर फुकन

कई दिनों से किडनी व सांस संबंधी बीमारियों से जूझ रहे थे। घर पर ली अंतिम सांस

Last Modified:
Friday, 30 October, 2020
Kshetradhar Phukan

वरिष्ठ पत्रकार और ‘द असम ट्रिब्यून’ (The Assam Tribune) के पूर्व डिप्टी एडिटर क्षेत्रधर फुकन (Kshetradhar Phukan) का निधन हो गया है। करीब 85 वर्षीय फुकन ने 29 अक्टूबर को अपने घर पर अंतिम सांस ली। फुकन कई दिनों से किडनी और सांस संबंधी बीमारियों से जूझ रहे थे। नवग्रह श्मशान में उनका अंतिम संस्कार किया गया।

एक ट्रेड यूनियन नेता के रूप में फुकन ने असम में ट्रेड यूनियन आंदोलन को मजबूत करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। वह असम ट्रिब्यून एम्प्लॉयीज यूनियन के प्रमुख सदस्य थे और अखबारों में कार्यरत एम्प्लॉयीज के अधिकारों के लिए काफी मुखर थे।  

फुकन ने वर्ष 1964 में ‘द असम ट्रिब्यून’ को जॉइन किया था और वर्ष 1995 में सेवानिवृत्त हुए थे। आजीवन अविवाहित रहे फुकन के परिवार में दो बहनें और तीन भाई हैं। क्षेत्रधर फुकन के निधन पर ‘जर्नलिस्ट्स फोरम असम’ (JFA) समेत तमाम पत्रकार संगठनों ने शोक जताते हुए अपनी श्रद्धांजलि दी है।  

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

तरुण तेजपाल के खिलाफ यौन हिंसा मामले में SC ने गोवा कोर्ट को दी ये तारीख

सुप्रीम कोर्ट ने ‘तहलका’ मैगजीन के पूर्व एडिटर-इन-चीफ तरुण तेजपाल के खिलाफ कथित यौन उत्पीड़न मामले में मुकदमे की सुनवाई पूरी करने के लिए गोवा की अदालत को 31 मार्च 2021 तक का समय दिया है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 28 October, 2020
Last Modified:
Wednesday, 28 October, 2020
Tarun

सुप्रीम कोर्ट ने ‘तहलका’ मैगजीन के पूर्व एडिटर-इन-चीफ तरुण तेजपाल के खिलाफ कथित यौन उत्पीड़न मामले में मुकदमे की सुनवाई पूरी करने के लिए गोवा की अदालत को 31 मार्च 2021 तक का समय दिया है।

शीर्ष अदालत ने इससे पहले अपने एक आदेश में 31 दिसंबर, 2020 तक तेजपाल के खिलाफ मुकदमे को पूरा करने की समयसीमा तय की थी। हालांकि, अदालत ने मंगलवार को समय तीन महीने के लिए बढ़ा दी।

तेजपाल पर आरोप है कि उन्होंने गोवा में 2013 में एक पांच सितारा होटल की लिफ्ट में अपनी पूर्व महिला सहयोगी का कथित रूप से यौन उत्पीड़न किया था। हालांकि, तेजपाल ने इन आरोपों से इनकार किया है।

तेजपाल को इस मामले में 30 नवंबर, 2013 को गोवा की अपराध शाखा ने गिरफ्तार किया था। इससे पहले, अदालत ने उनकी अग्रिम जमानत की अर्जी खारिज कर दी थी। बाद में उन्हें मई 2014 में जमानत मिली। न्यायमूर्ति अशोक भूषण, न्यायमूर्ति आर सुभाष रेड्डी और न्यायमूति एम आर शाह की पीठ ने वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से मंगलवार को इस मामले की सुनवाई की।

सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता ने पीठ से कहा कि संबंधित न्यायाधीश ने मुकदमे की सुनवाई पूरी करने के लिये समय बढ़ाने का अनुरोध किया है। गोवा सरकार ने इससे पहले एक आवेदन दायर कर न्यायालय से अनुरोध किया था कि इस मुकदमे की सुनवाई पूरी करने के लिये समय बढ़ाया जाए।

तेजपाल की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल का कहना था कि शीर्ष अदालत पहले ही इस मुकदमे की सुनवाई पूरी करने के लिये 31 दिसंबर तक का समय बढ़ा चुकी है। उन्होंने कहा कि मामले को दिसंबर के अंतिम सप्ताह या फिर जनवरी में सुनवाई के लिये सूचीबद्ध किया जा सकता है।

सिब्बल ने कहा, ‘अगर सुनवाई दिसंबर तक पूरी हो जाती है तो निचली अदालत के न्यायाधीश का यह आवेदन निरर्थक हो जाएगा और यदि सुनवाई पूरी नहीं हुई तो इसकी अवधि बढ़ाई जा सकती है।’

पीठ ने इस पर टिप्पणी की कि 31 दिसंबर तक सुनवाई पूरी होने का कोई सवाल नहीं है क्योंकि अभी गवाहों से पूछताछ होनी है। बेहतर होगा कि 31 मार्च तक समय बढ़ा दिया जाये।

पीठ ने कहा, ‘सिब्बल जी समस्या यह है कि आप वीडियो कांफ्रेंस के लिये तैयार नहीं है वरना सुनवाई दो महीने में पूरी हो गयी होती।’

शीर्ष अदालत ने समय बढ़ाने का आवेदन रिकॉर्ड पर लेते हुये इसे 31 मार्च तक बढ़ा दिया। गोवा के मापूसा नगर की अदालत ने तेजपाल के खिलाफ कथित यौन उत्पीड़न सहित भारतीय दंड संहिता की कई धाराओं में अभियोग निर्धारित किये हैं। शीर्ष अदालत ने इस मामले में उनके खिलाफ निर्धारित अभियोग निरस्त करने के लिये तेजपाल की याचिका पिछले साल खारिज कर दी थी।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

इस उद्देश्य से IIMC और उज्बेकिस्तान के पत्रकारिता विश्वविद्यालय के बीच हुई डील

देश के प्रतिष्ठित मीडिया संस्थान भारतीय जन संचार संस्थान (आईआईएमसी) ने यूनिवर्सिटी ऑफ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशंस ऑफ उज्बेकिस्तान के साथ एक समझौता पत्र (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 28 October, 2020
Last Modified:
Wednesday, 28 October, 2020
IIMC

देश के प्रतिष्ठित मीडिया संस्थान भारतीय जन संचार संस्थान (आईआईएमसी) ने यूनिवर्सिटी ऑफ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशंस ऑफ उज्बेकिस्तान के साथ एक समझौता पत्र (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं। इसका उद्देश्य पत्रकारिता और जनसंचार शिक्षा को प्रोत्साहन देना एवं मौलिक, शैक्षणिक एवं व्यावहारिक अनुसंधान के क्षेत्रों को परिभाषित करना है।

आईआईएमसी के महानिदेशक प्रो. संजय द्विवेदी ने एमओयू के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि इस समझौते के माध्यम से दोनों संस्थान टीवी, प्रिंट मीडिया, डिजिटल मीडिया, जनसंपर्क, मीडिया भाषा विज्ञान और विदेशी भाषाओं जैसे विषय पर शोध को बढ़ावा देंगे। उन्होंने कहा कि इस समझौते से हमें एक दूसरे की कार्यप्रणालियों एवं अनुभवों को जानने एवं समझने का मौका मिलेगा। इसके अलावा यह समझौता अनुसंधान और शैक्षिक डेटा के आदान-प्रदान को भी प्रोत्साहित करेगा और संयुक्त कार्यक्रमों को आयोजित करने के अवसरों का भी जरिया बनेगा।

प्रो. द्विवेदी के मुताबिक आईआईएमसी का उद्देश्य आज की जरूरतों के अनुसार ऐसा मीडिया पाठ्यक्रम तैयार करना है, जो छात्रों के लिए रोजगापरक हो। इस दिशा में हम यूनिवर्सिटी ऑफ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशंस ऑफ उज़्बेकिस्तान के साथ मिलकर कार्य करने के लिए अग्रसर हैं। इसके साथ ही संस्थान का उद्देश्य छात्रों और संकाय सदस्यों को वैश्विक संपर्क प्रदान करना भी है। हमने आने वाले वर्षों में विदेशी शैक्षणिक संस्थानों के सहयोग का विस्तार करने और अनुसंधान और शिक्षा में महत्वपूर्ण योगदान देने का लक्ष्य रखा है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

लाइव रिपोर्टिंग के दौरान रिपोर्टर का फोन छीनकर भागा अपराधी, घटना कैमरे में कैद

रिपोर्टिंग के दौरान कई बार अजीबों-गरीब घटनाएं कैमरे में कैद हो जाती हैं, जिसे आपने देखा या पढ़ा होगा। ऐसी ही एक घटना अर्जेंटीना (Argentina) में एक लाइव प्रसारण के दौरान कैमरे में कैद हो गई है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 27 October, 2020
Last Modified:
Tuesday, 27 October, 2020
reporter

रिपोर्टिंग के दौरान कई बार अजीबों-गरीब घटनाएं कैमरे में कैद हो जाती हैं, जिसे आपने देखा या पढ़ा होगा। ऐसी ही एक घटना अर्जेंटीना (Argentina) में एक लाइव प्रसारण के दौरान कैमरे में कैद हो गई है। यहां एक टीवी रिपोर्टर का मोबाइल फोन लूट लिया गया। रिपोर्टर का नाम डिएगो डेमार्को (Deago Demarco) है और वो घटना के समय टीवी चैनल पर लाइव था। इस पूरी घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

डेली मेल की खबर के मुताबिक, डिएगो डेमार्को सारंडी शहर (Sarandi) से एक लाइव प्रसारण के लिए तैयार हो रहे थे। वे अर्जेन्टीना (Argentina) के एन विवो एल न्यूवे (En Vivo El Nueve) चैनल में काम करते हैं। तभी एक आदमी ने उनका फोन पकड़ा और भाग गया। चौंकाने वाली घटना कैमरे में कैद हुई और फुटेज को ऑनलाइन प्रसारित किया गया है।

मंगलवार को एन डेवो एल नुवे के एक रिपोर्टर डेमारको न्यूज स्टेशन के लिए एक रोलिंग कैमरे से बात करने वाले थे, तभी एक व्यक्ति ने उनका फोन छीन लिया और भाग गया। इसके बाद रिपोर्टर डिएगो डेमार्को भी बदमाश के पीछे भागते दिखते हैं।

रिपोर्टर को लुटेरे का पीछा करते हुए देखा गया और उन्होंने स्पैनिश में कहा, 'यह मुझे दे दो। मेरा फोन चोरी हो गया।'

एल नुवे ने सोशल मीडिया पर फुटेज साझा किया, जिसमें लिखा था कि उनके रिपोर्टर को कुछ समय पहले लूट लिया गया था जब ऑन एयर होने की तैयारी कर रहे थे।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक फोन छीनकर भाग रहे बदमाश को स्थानीय लोगों ने दौड़ा लिया और काफी देर तक पीछा करने के बाद उसे दबोच लिया। इसके बाद लोगों ने डिएगो डेमार्को का फोन भी वापस करा दिया।

डेमारको ने कहा, 'मैं आभारी हूं कि इस जगह मेरा फोन चोरी हुआ। यहां के लोग काफी अच्छे हैं। 10 पड़ोसी ऐसे थे, जो मुझसे माफी मांग रहे थे। वो काफी सक्रिय थे और जानते थे कि चोर कहां रहता है।' पत्रकार ने कहा कि वो चोरी की रिपोर्ट नहीं करना चाहता था, वो सिर्फ फोन वापिस लेना चाहता था।

देखें वीडियो:

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

MCU: इस कार्यक्रम में जुटेंगी हस्तियां, मीडिया की बारीकियों से रूबरू होने का मिलेगा मौका

माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय, भोपाल में 26 अक्टूबर से नवागत विद्यार्थियों के आत्मीय प्रबोधन और करियर मार्गदर्शन के लिए ‘संत्रारंभ 2020’ का आयोजन किया जा रहा है।

Last Modified:
Monday, 26 October, 2020
Makhanlal-University

देश के विख्यात माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय, भोपाल में 26 अक्टूबर से नवागत विद्यार्थियों के आत्मीय प्रबोधन और करियर मार्गदर्शन के लिए ‘संत्रारंभ 2020’ का आयोजन किया जा रहा है। वर्चुअल रूप से होने वाले तीन दिवसीय इस कार्यक्रम में विभिन्न टॉपिक्स पर मीडिया व शिक्षाजगत की जानी-मानी हस्तियों से रूबरू होने का मौका मिलेगा। सभी व्याख्यान का सीधा प्रसारण विश्वविद्यालय के फेसबुक पेज पर किया जा रहा है।

कार्यक्रम के पहले दिन 26 अक्टूबर को सुबह 10 बजे से साढ़े 12 बजे के बीच उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. केजी सुरेश ने कहा, ‘समाज की तरह आज मीडिया भी संक्रमण काल से गुजर रहा है। इसके साथ ही दुनिया में फेक कंटेंट के खिलाफ एक युद्ध चल रहा है, हमें प्रयास करना है कि इस युद्ध में सत्य की जीत हो। इसके लिए एक पत्रकार को एक्टिविस्ट नहीं, फैक्टिविस्ट बनना चाहिए।’

सत्रारंभ के मुख्य अतिथि एवं श्री वैदिक मिशन ट्रस्ट, राजकोट के संस्थापक स्वामी धर्मबंधु ने ‘युवा शक्ति और भारत का भविष्य’ विषय पर अपने विचार व्यक्त किए। उन्होंने कहा, ‘सोचने और सीखने की प्रक्रिया जीवन भर चलती रहनी चाहिए। सपने देखें और उन्हें साकार करने के लिए निरंतर प्रयासरत रहें। यह बातें हमें आगे ले जाती हैं।‘

‘नये दौर की पत्रकारिता की चुनौतियां’ विषय पर टाइम्स नेटवर्क की समूह संपादक (राजनीति) नविका कुमार ने कहा कि फेक न्यूज के जमाने में पत्रकारों को सतर्क रहना बहुत जरूरी है। पत्रकारों को प्रमाणित और पुष्ट खबरें ही अपने दर्शकों एवं पाठकों तक पहुंचानी चाहिए, सुनी-सुनाई बातों को नहीं। उन्होंने कहा कि अपनी और अपने संस्थान की विश्वसनीयता के लिए फेक कंटेंट को रोकना आज की सबसे बड़ी चुनौती है।

टीवी-9 नेटवर्क के संपादक एवं बिजनेस प्रमुख राकेश खर ने ‘मीडिया स्वरोजगार’ पर कहा कि कान्टेक्स्ट,  कंज्यूमर,  कंटेंट,  कम्युनिटी और कॉमर्स, डिजिटल मीडिया के प्रमुख ‘5-सी’ हैं। डिजिटल ने मीडिया व्यवसाय को बदल दिया है। डिजिटल मीडिया पर आप एक ही समय में कंज्यूमर भी हैं और प्रमोटर भी। डिजिटल मीडिया के डेटा अधिक विश्वसनीय हैं। उन्होंने कहा कि डिजिटल मीडिया में आने आइडिया को फंडिंग की समस्या नहीं है। मीडिया की ग्रोथ देश की जीडीपी ग्रोथ से ज्यादा है।

न्योज डॉट कॉम के संस्थापक एवं संपादक आलोक वर्मा ने ‘डिजिटल मीडिया: भविष्य और संभावनाएं’ विषय पर अपने विचार रखे। उन्होंने कहा कि डिजिटल मीडिया ने अपनी उपयोगिता और महत्व कोरोना काल में सबको समझाया। कोरोना काल में डिजिटल मीडिया को भविष्य के लिए एक दिशा मिली है। इसने विज्ञापनदाताओं को भी आकर्षित किया है। मीडिया में आने वाले नवागत पत्रकारों के लिए उन्होंने कहा कि अब सिर्फ समाचार लिखना सीखना ही काफी नहीं है, डिजिटल मीडिया  के सॉफ्टवेयर्स को भी सीख कर आएं।

वहीं, 27 अक्टूबर को सुबह दस से साढ़े 11 बजे तक वरिष्ठ पत्रकार और ‘आउटलुक’ के पूर्व संपादक आलोक मेहता (पद्मश्री) ‘पत्रकारिता की लक्ष्मण रेखा’ विषय पर अपने विचार रखेंगे। दोपहर एक से दो बजे तक रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के अध्यक्ष एवं मीडिया निर्देशक उमेश उपाध्याय ‘न्यू मीडिया-अवसर एवं चुनौतियां’ पर चर्चा करेंगे। दोपहर दो बजे से साढ़े तीन बजे तक ‘डीडी न्यूज’ के वरिष्ठ सलाहकार संपादक अशोक श्रीवास्तव ‘टेलिविजन समाचारों के बदलते प्रतिमान’ पर अपनी बात रखेंगे। वहीं, साढ़े तीन बजे से पांच बजे तक ‘ग्रे मैटर्स कम्युनिकेशंस के ’संस्थापक एवं निदेशक नवनीत आनंद ‘कोविड उपरांत व्यवसाय के लिए जनसंपर्क वैक्सीन’ विषय पर अपने विचारों से अवगत कराएंगे।

28 अक्टूबर को सुबह 10 से साढ़े 11 बजे के बीच ‘बिजनेस वर्ल्ड’ और ‘एक्सचेंज4मीडिया’ ग्रुप के चेयरमैन व एडिटर-इन-चीफ डॉ. अनुराग बत्रा ‘मीडिया मैनेजमेंट’ विषय पर अपने विचार रखेंगे। इसके बाद दोपहर साढ़े 11 बजे से एक बजे स्कूल ऑफ कंप्यूटर साइंस, यूपीएस देहरादून के डीन डॉ. मनीष प्रतीक ‘कंप्यूटर विज्ञान के क्षेत्र में संभावनाएं’ विषय पर चर्चा करेंगे। वहीं, दोपहर दो बजे से अपराह्न तीन बजे तक प्रख्यात आरजे, पॉडकास्टर एवं संचार विशेषज्ञ सिमरन कोहली ‘ऑडियो स्ट्रीमिंग का भविष्य’ विषय पर अपनी बात रखेंगी।

अपराह्न साढ़े तीन बजे से शाम पांच बजे तक कार्यक्रम का समापन विश्वविद्यालय के कुलपति केजी सुरेश की अध्यक्षता में संपन्न होगा। इस मौके पर मोतिहारी (बिहार) स्थित महात्मा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति संजीव शर्मा मुख्य अतिथि एवं वक्ता की भूमिका निभाएंगे।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

घर में घुसकर पत्रकार को गंभीर रूप से किया घायल

देशभर में पत्रकारों पर हमले की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। बदमाशों द्वारा आए दिन पत्रकारों को निशाना बनाया जा रहा है।

Last Modified:
Monday, 26 October, 2020
Attack

देशभर में पत्रकारों पर हमले की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। बदमाशों द्वारा आए दिन पत्रकारों को निशाना बनाया जा रहा है।  इसी तरह का एक मामला झारखंड के हजारीबाग से सामने आया है, जहां पर शुक्रवार की रात कुछ बदमाशों ने घर में घुसकर एक अखबार के पत्रकार विवेक कुमार सिंह पर हमला कर दिया।

बताया जाता कि शुक्रवार रात करीब नौ बजे करीब विवेक सिंह के घर के बाहर कुछ लोग झगड़ा कर रहे थे। हल्ला सुनकर पहुंचे विवेक ने झगड़ा बंद करने को कहा। इस दौरान हमलावर, विवेक पर टूट पड़े। जान बचाने के लिए विवेक घर में घुस गए, लेकिन बदमाशों ने घर में घुसकर उन पर चाकू से हमला कर दिया।

करीब छह बदमाशों ने विवेक कुमार सिंह के सिर व पीठ में कई चाकू मारे, जिससे वह घायल हो गए। शोरशराब सुनकर जब तक लोग मौके पर पहुंचे, हमलावर फरार हो गए। गंभीर हालत में परिजनों ने विवेक को आरोग्यम अस्पताल में भर्ती कराया। कटकमदाग थाने में अज्ञात बदमाशों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। पुलिस ने बदमाशों की तलाश शुरू कर दी है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

कोविड-19 ने छीन ली एक और पत्रकार की जिंदगी

कोरोना से त्रिपुरा में पत्रकार की मौत का पहला मामला, निजी चैनल में बतौर वीडियो जर्नलिस्ट कार्यरत थे जितेंद्र देबबर्मा

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 22 October, 2020
Last Modified:
Thursday, 22 October, 2020
Jitendra Debbarma

देश में कोरोनावायरस (कोविड-19) का प्रकोप कम होने का नाम नहीं ले रहा है। इस वायरस की चपेट में आकर अब तक कई लोग अपनी जान गंवा चुके हैं, वहीं तमाम लोग अभी भी विभिन्न अस्पतालों में उपचार करा रहे हैं।

अब कोरोनावायरस के कारण त्रिपुरा में एक पत्रकार की मौत का पहला मामला सामने आया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, मंगलवार रात अस्पताल में कोरोनावायरस संक्रमित एक स्थानीय न्यूज चैनल के पत्रकार जितेंद्र देबबर्मा की मौत हो गई।

जितेंद्र देबबर्मा 46 वर्ष के थे। उनके परिवार में पत्नी के अलावा दो बेटियां तथा अन्य सदस्य हैं। बताया जाता है कि जितेंद्र देबबर्मा हल्के बुखार की वजह से करीब एक हफ्ते से घर पर ही अलग रहकर उपचार करा रहे थे, लेकिन उन्होंने कोरोना टेस्ट नहीं कराया था।

सांस लेने संबंधी समस्याओं के कारण सोमवार रात को उन्हें त्रिपुरा जनजातीय क्षेत्र स्वायत्त जिला परिषद मुख्यालय के खुमुलवंग अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां उनका कोरोना वायरस टेस्ट पॉजिटिव आया। उन्हें ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखा गया, लेकिन धीरे-धीरे उनकी हालत बिगड़ती गई और अस्पताल में भर्ती होने के 24 घंटे के अंदर ही उन्होंने दम तोड़ दिया।

जितेंद्र देबबर्मा के निधन पर ‘जर्नलिस्ट फोरम असम’ (JFA) समेत तमाम पत्रकारों ने दुख जताते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

पत्रकार के बेटे का अपहरण, अपहर्ताओं ने मांगी 45 लाख की फिरौती

तेलंगाना के महबूबाबाद जिले में कुछ अज्ञात लोगों ने एक पत्रकार के नौ साल के बेटे का अपहरण कर लिया। फिरौती के लिये अपहर्ताओं ने 45 लाख रुपए देने की मांग की है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 20 October, 2020
Last Modified:
Tuesday, 20 October, 2020
Crime

तेलंगाना के महबूबाबाद जिले में कुछ अज्ञात लोगों ने एक पत्रकार के नौ साल के बेटे का अपहरण कर लिया। फिरौती के लिये अपहर्ताओं ने 45 लाख रुपए देने की मांग की है। सोमवार को पुलिस ने इसकी जानकारी दी है।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि बच्चे का अपहरण रविवार की शाम सात बजे के करीब हुआ जब वह महबूबाबाद शहर में स्थित अपने घर के बाहर खेल रहा था। अपहर्ता मोटरसाइकिल पर सवार होकर आये थे और बच्चे को उठा ले गए। पुलिस के मुताबिक, बच्चा संभवत: उनको जानता था।

बाद में अपहर्ताओं ने इंटरनेट के माध्यम से फोन पर बच्चे की मां से संपर्क किया और उसकी रिहाई के लिये पैसे मांगे।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि इसके लिए दस टीमें गठित की गई हैं और अपहर्ताओं और बच्चे का पता लगाने के लिये सीसीटीवी फुटेज खंगाली जा रही है।

मिली जानकारी के मुताबिक, महबूबाबाद शहर के कृष्णा कॉलोनी निवासी में रंजीत कुमार का परिवार रहता है। रंजीत कुमार पेशे से पत्रकार हैं। उनका 9 वर्षीय बड़ा बेटा दीक्षित रेड्डी का रविवार शाम 6.30 बजे के आसपास बाइक सवार अज्ञात लोगों ने अपहरण कर लिया। इसके बाद अपहर्ताओं ने रंजीत को फोन करके 45 लाख रुपए की फिरौती मांगी। साथ ही पुलिस को इस बात की जानकारी देने पर गंभीर परिणाम भुगतने की भी धमकी भी दी है। फोन करने वाले ने यह भी बताया है कि उसके लोग अब भी उसी एरिया में है।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

इस बीमारी ने निगल ली वरिष्ठ पत्रकार हैदर अली की जिंदगी

उत्तर प्रदेश के जाने-माने उर्दू अखबार ‘आग’ के फाउंडर और वरिष्ठ पत्रकार हैदर अली का शनिवार की रात निधन हो गया।

Last Modified:
Monday, 19 October, 2020
Haider Ali

उत्तर प्रदेश के जाने-माने उर्दू अखबार ‘आग’ के फाउंडर और वरिष्ठ पत्रकार हैदर अली का शनिवार की रात निधन हो गया। करीब 51 वर्षीय हैदर अली एरा मेडिकल कॉलेज समूह के उर्दू दैनिक ‘आग’ और हिंदी दैनिक ‘इन्किलाबी नजर’ का मैनेजमेंट देखने के साथ मान्यता प्राप्त राज्य मुख्यालय पत्रकार भी थे।

बताया जाता है कि हैदर अली करीब तीन साल से कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से जूझ रहे थे। शुरू में वह इलाज के लिए मुंबई के टाटा अस्पताल व दिल्ली में भी गए थे, लेकिन बाद में वह लखनऊ लौट आए थे।

हैदर अली के परिवार में बुजुर्ग माता-पिता और दो बेटे हैं। रविवार की सुबह उनके पार्थिव शरीर को अब्बास बाग के कब्रिस्तान में सुपुर्द ए खाक कर दिया गया। हैदर अली के निधन से आग अखबार के साथ-साथ पत्रकार जगत में शोक की लहर है। तमाम पत्रकारों ने हैदर अली के निधन पर दुख जताते हुए उन्हें अपनी श्रद्धांजलि दी है।  

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

ग्लोबल हैंडवॉशिंग डे पर iTV Foundation और Dettol की सराहनीय पहल

ग्लोबल हैंडवॉशिंग डे (15 अक्टूबर) मनाने और कोविड-19 के दौरान लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करने के लिए ‘आईटीवी फाउंडेशन’की कॉरपोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी(CSR) विंग ने सराहनीय पहल शुरू की है।

Last Modified:
Friday, 16 October, 2020
india-news595

ग्लोबल हैंडवॉशिंग डे (15 अक्टूबर) मनाने और कोविड-19 के दौरान लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करने के लिए ‘आईटीवी फाउंडेशन’ (iTV Foundation) की कॉरपोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी (CSR) विंग ने ‘डिटॉल’ (Dettol) के साथ मिलकर एक पहल शुरू की है।

  • इस पहल के तहत आईटीवी नेटवर्क के चैनल्स पर हैंडवॉशिंग और इसके महत्व को लेकर एक स्पेशल प्रोग्रामिंग शुरू की गई है। 
  • उत्तर प्रदेश के जिलों में डिटॉल साबुन बांटे गए हैं।
  • दर्शकों के लिए विशेष प्रतियोगिता शुरू की गई है, इसके तहत दर्शक हाथ धोते हुए अपनी तस्वीरें/वीडियो शेयर करेंगे और चयनित विजेताओं को एक साल के लिए ‘डिटॉल’ साबुन मुफ्त मिलेगा।

ग्लोबल हैंडवॉशिंग डे पर कोविड19 (COVID 19) के बीच स्वच्छता के प्रति जागरूकता के महत्व पर प्रकाश डालते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ‘हाथ धोना रोके कोरोना’ (#HaathDhonaRokeyCorona) अभियान का शुभारंभ किया। इस दौरान सीएम योगी ने कहा कि हम सभी सामान्य दिखने वाली स्वच्छता की आदतों को अपनाकर स्वस्थ एवं आरोग्यपूर्ण जीवन जी सकते हैं। उन्होंने कहा कि हाथ धोना हमारे व्यवहार का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है, जिससे हम विभिन्न प्रकार की बीमारियों से बच सकते हैं। उन्होंने कहा कि हम सब हैंडवॉशिंग का महत्व सामान्य दिनचर्या के रूप में जानते हैं। लेकिन, आधुनिक जीवन शैली के कारण बहुत बार लोग इन सभी क्रियाकलापों से दूरी बना लेते हैं। इसका परिणाम हमारे सामने अनेक बीमारियों के रूप में सामने आ जाता है।

वहीं इस मौके पर उन्होंने ‘यू-राइज पोर्टल’ (U-Rise portal) के माध्यम से छात्रों को संबोधित किया और सभी छात्रों, फैकेल्टी मेंबर्स, ऑफिसर्स और स्टॉफ को शुभकामनाएं दीं। इस अवसर पर, iTV नेटवर्क के संस्थापक कार्तिकेय शर्मा ने कहा, ‘हाथ की सफाई बार-बार करते रहना चाहिए, साथ ही स्वच्छता प्रणाली को मजबूत रखना चाहिए। हैंडवॉशिंग सुविधाएं बिना किसी भेदभाव के दुनिया के हर कोनें तक पहुंचनी चाहिए। यह एक समय है, जब हर इंसान को एक साथ आना होगा और मानवता दिखानी होगी। COVID-19 के प्रसार को रोकने के लिए अपनी भागीदारी निभानी होगी।’

iTV फाउंडेशन ने इस पहल के तहत 10 लाख डेटॉल हैंडवाश किट और 1 लाख मास्क डोनेट करने का संकल्प लिया है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए