मीडिया में इस तरह की खबर से खफा ऋतिक रोशन ने दिया करारा जवाब...

बॉलिवुड अभिनेता ऋतिक रोशन एक बार फिर कुछ खबरों को लेकर मीडिया से खफा...

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 29 August, 2018
Last Modified:
Wednesday, 29 August, 2018
hritik
समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

बॉलिवुड अभिनेता ऋतिक रोशन एक बार फिर कुछ खबरों को लेकर मीडिया से खफा हो गए हैं। उन्होंने ट्वीट कर मीडिया को आड़े हाथों लिया है। दरअसल न्यूज रिपोर्ट्स में कुछ मीडिया ने बताया था कि दिशा पटानी के साथ रितिक रोशन ने फ्लर्ट करने की कोशिश की है। ऋतिक के इस फ्लर्ट की वजह से दिशा ने अपनी आगामी फिल्म को छोड़ दी है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, दिशा ने फिल्म में काम करने से इसलिए मना कर दिया क्योंकि ऋतिक उनके साथ फ्लर्ट करते थे। लेकिन ऋतिक रोशन और दिशा पटानी दोनों ने ही फ्लर्ट की खबरों को सिरे से खारिज कर दिया है।

दिशा और ऋतिक ने ऐसी खबरों पर कड़ा रुख अपनाते हुए शख्त चेतावनी दी है। ऋतिक  ने विभिन्न न्यूज पोर्टल्स में प्रकाशित लेखों की तस्वीर साझा करते हुए ट्वीट किया कि अगर अपने प्रचार के लिए आप कोई मदद चाहते हैं तो अगली बार मुझसे सीधे संपर्क करें। वहीं दिशा पटानी ने भी इन खबरों पर ट्वीट करते हुए इन्हें बेतुकी और गैर जिम्मेदार गपशप बताया। उनके ये ट्वीट्स आप नीचे पढ़ सकते हैं-





 

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

टाइम्स इंटरनेट में दुर्गा रघुनाथ और रोहित शरण संभालेंगे बड़ी जिम्मेदारी

‘टाइम्स ग्रुप’ की डिजिटल विंग ‘टाइम्स इंटरनेट’ ने दुर्गा रघुनाथ और रोहित शरण को अपनी लीडरशिप टीम में बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है।

Last Modified:
Monday, 10 August, 2020
Durga Raghunath Rohit Saran

‘टाइम्स ग्रुप’ की डिजिटल विंग ‘टाइम्स इंटरनेट’ (Times Internet) ने दुर्गा रघुनाथ और रोहित शरण (Rohit Saran) को अपनी लीडरशिप टीम में बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है। इसके तहत दुर्गा रघुनाथ को ‘टाइम्स ऑफ इंडिया’, मिरर ब्रैंड्स (मुंबई मिरर, पुणे मिरर, बेंगलुरु मिरर और अहमदाबाद मिरर), न्यूजप्वॉइंट, गैजेट्स नाउ और Etimes का डिजिटल हेड नियुक्त किया गया है।

दुर्गा रघुनाथ इससे पहले ‘जोमैटो’ में सीनियर वाइस प्रेजिडेंट (ग्रोथ) के पद पर अपनी जिम्मेदारी संभाल रही थीं। वह ‘फर्स्टपोस्ट’ और ‘नेटवर्क18 डिजिटल’ की फाउंडर और सीईओ भी रह चुकी हैं। उन्होंने न्यूयॉर्क में ‘हार्पर कॉलिन्स’ (HarperCollins) के साथ बुक पब्लिशिंग में अपना करियर शुरू किया था। ‘इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस’ से एमबीए दुर्गा रघुनाथ ने कोलंबिया यूनिवर्सिटी से पब्लिशिंग में डिग्री ली है।

वहीं, रोहित शरण को ‘टाइम्स इंटरनेट’ में चीफ एडिटर बनाया गया है। इससे पहले रोहित ‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ में मैनेजिंग एडिटर (प्रिंट) और ‘इकनॉमिक टाइम्स’ (प्रिंट) में एग्जिक्यूटिव एडिटर के तौर पर कार्यरत थे। वह ‘इंडिया टुडे’ ग्रुप में भी बड़ी जिम्मेदारी निभा चुके हैं और ‘इंडिया टुडे’ के एग्जिक्यूटिव एडिटर व ‘बिजनेस टुडे’ के एडिटर रह चुके हैं। इसके अलावा वह दुबई में ‘द खलीज टाइम्स’ में भी अपनी जिम्मेदारी निभा चुके हैं। इकनॉमिक्स में पोस्ट ग्रेजुएट रोहित को डाटा और डिजिटल जर्नलिज्म की गहरी समझ है।  

इस बारे में ‘टाइम्स इंटरनेट’ के सीईओ गौतम सिन्हा का कहना है, ‘दुर्गा रघुनाथ और रोहित शरण की नियुक्ति को लेकर हम काफी उत्साहित हैं। हमें विश्वास है कि कंपनी को उनके अनुभव का काफी लाभ मिलेगा। अपनी नई भूमिका में दोनों टाइम्स इंटरनेट के सीओओ पुनीत गुप्त को रिपोर्ट करेंगे।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

कोरोना ने तोड़ दी वरिष्ठ पत्रकार अंजनी निगम की सांसों की डोर

कोरोना से अब तक कई पत्रकारों की जान जा चुकी है। इसी कड़ी में अब कोरोना से एक और वरिष्ठ पत्रकार की रविवार को जान चली गई है।

Last Modified:
Monday, 10 August, 2020
Anjani Nigam

कोरोना वायरस के संक्रमण काल के दौरान पत्रकार अपनी जान जोखिम डालकर फ्रंट लाइन पर काम कर रहे हैं। ऐसे में तमाम पत्रकार भी इसका शिकार हो रहे हैं। कोरोना से अब तक कई पत्रकारों की जान जा चुकी है। इसी कड़ी में अब कोरोना से एक और वरिष्ठ पत्रकार की रविवार को जान चली गई है।

चित्रकूट धाम मंडल के आयुक्त गौरव दयाल ने मीडिया को बताया कि अंग्रेजी दैनिक समाचार पत्र 'द पॉयनियर' के ब्यूरो चीफ व मान्यता प्राप्त वरिष्ठ पत्रकार अंजनी निगम को संक्रमण की पुष्टि के बाद चार अगस्त को बांदा मेडिकल कॉलेज में भर्ती किया गया था। हालत खराब होने पर शनिवार को निगम को लखनऊ रेफर किया गया। यहां एसजीपीजीआई (Sanjay Gandhi Post Graduate Institute of Medical Sciences) में रविवार को इलाज के दौरान उनकी मृत्यु हो गयी। वे 52 साल के थे।

उन्होंने निगम के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि ईश्वर उन्हें यह दुःख सहन करने का संबल प्रदान करे। पत्रकारों ने रविवार की शाम यहां मीडिया सेंटर में दो मिनट का मौन रखकर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

वार्नरमीडिया से तीन शीर्ष अधिकारियों के बारे में आई ये बड़ी खबर

हॉलीवुड की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक ‘वार्नरमीडिया’ (WarnerMedia) में शीर्ष पद पर बैठे तीन अधिकारियों के छोड़ने की खबर सामने आई हैं

Last Modified:
Monday, 10 August, 2020
warnermedia

हॉलीवुड की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक ‘वार्नरमीडिया’ (WarnerMedia) में शीर्ष पद पर बैठे तीन अधिकारियों के कंपनी छोड़ने की खबर सामने आई हैं। इनमें चेयरमैन रॉबर्ट ग्रीनब्लाट (Robert Greenblatt), चीफ कंटेंट ऑफिसर केविन रेली (Kevin Reilly) और मार्केटिंग एंड कम्युनिकेशंस के एग्जिक्यूटिव वाइस प्रेजिडेंट केथ कोकोजा (Keith Cocozza) शामिल हैं।

वार्नरमीडिया के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर जेसन किलर (Jason Kilar) के तीन महीने के  कार्यकाल में तीन अधिकारियों द्वारा कंपनी छोड़ने के फैसले ने सबको हैरान कर दिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, वार्नरमीडिया एंटरटेनमेंट के चेयरमैन रॉबर्ट ग्रीनब्लाट ग्रीनब्लाट (Robert Greenblatt) एक साल से भी अधिक समय से यहां कार्यरत थे। वार्नरमीडिया के चीफ कंटेंट ऑफिसर केविन रेली (Kevin Reilly) भी कंपनी से अलग हो रहे हैं। वहीं, कंपनी में मार्केटिंग एंड कम्युनिकेशंस के एग्जिक्यूटिव वाइस प्रेजिडेंट केथ कोकोजा (Keith Cocozza) ने भी अलग होने का फैसला कर लिया है। वे 19 वर्षों से इस कंपनी के साथ जुड़े हुए थे।

कर्मचारियों को भेजे ई-मेल में, किलर ने कथित तौर पर कहा कि कंपनी एचबीओ मैक्स (HBO Max) पर जोर देगी। कंपनी ने 27 मई को स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म का अनावरण किया। ऑर्गनाइजेशन में एचबीओ मैक्स को बढ़ावा दिया जा रहा है और विश्व स्तर पर इसका दायरा बढ़ाया रहा है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

पुलिस ने मानी गलती, 3 महीने बाद ABP मांझा के संवाददाता को मिला इंसाफ

महाराष्ट्र की मुंबई पुलिस ने न्यूज चैनल एबीपी माझा के पत्रकार के खिलाफ दर्ज मामला लगभग तीन महीने बाद बंद कर दिया है

Last Modified:
Monday, 10 August, 2020
Rahul Kulkarni

महाराष्ट्र की मुंबई पुलिस ने न्यूज चैनल एबीपी माझा के पत्रकार के खिलाफ दर्ज मामला लगभग तीन महीने बाद बंद कर दिया है। पुलिस ने स्वीकार किया है कि लॉकडाउन के दौरान बांद्रा रेलवे स्टेशन पर भीड़ एकत्र करने के एक मामले में एबीपी माझा के संवाददाता राहुल कुलकर्णी को गिरफ्तार करना उनकी गलती थी।

चूंकि मामले में राहुल कुलकर्णी के प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से शामिल होने का कोई सबूत नहीं है, पुलिस ने 21 जुलाई को बांद्रा अदालत में क्लोजर रिपोर्ट पेश की और कहा कि कुलकर्णी की रिपोर्ट गलत नहीं थी, लेकिन इसे देखने वाले लोगों ने इसे गलत संदर्भ में लिया।

क्लोजर रिपोर्ट के मुताबिक, ‘जब कुलकर्णी को एक दिन के लिए पुलिस हिरासत में रखा गया, तब उन्होंने पुलिस को बताया कि उनकी न्यूज रिपोर्ट रेलवे की प्रवासी मजदूरों के लिए ट्रेन शुरू करने की योजना को लेकर आंतरिक सूचना पर आधारित थी।’

क्लोजर रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि कुलकर्णी ने अपनी रिपोर्ट में कहीं भी बांद्रा स्टेशन का जिक्र तक नहीं किया था। रिपोर्ट में कहा गया, ‘उनकी न्यूज रिपोर्ट में रेलवे स्टेशनों का नाम शामिल नहीं था। यह बताया गया था कि प्रवासियों के लिए ट्रेनों की व्यवस्था करने पर विचार किया जा रहा है।’

क्लोजर रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि प्रवासी मजदूरों के बीच एक संदेश बहुत वायरल हुआ, जिसमें कहा गया कि ‘बांद्रा रेलवे स्टेशन जाना है जल्दी चलो, न्यूज चैनल पर भी सरकार ने गांव भेजने के लिए ट्रेन चालू कर दी है’ लेकिन कुलकर्णी की रिपोर्ट में इसका भी जिक्र नहीं था।

क्लोजर रिपोर्ट में आगे कहा गया, ‘लोगों ने विश्वास किया कि उनके गृहनगरों तक ले जाने के लिए लंबी दूरी की ये ट्रेन उपनगरीय लाइन स्टेशन से रवाना नहीं होंगी, बल्कि बांद्रा स्टेशन से चलेंगी इसलिए वे बांद्रा टर्मिनल के बाहर इकट्ठा हुए।’

रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि ऐसा कुछ भी नहीं था जिससे लगे कि कुलकर्णी ने गलत रिपोर्टिंग की, बल्कि इसे लोगों द्वारा गलत संदर्भ में लिया गया।

पुलिस ने अदालत से यह भी अनुरोध किया कि अपराध को ‘सी समरी’ के तौर पर वर्गीकृत किया जाना चाहिए, जिसका अर्थ होता है कि गलती से मामला दर्ज हुआ। पुलिस ने अदालत से धारा 169 सीआरपीसी के तहत उन्हें आरोप मुक्त करने का अनुरोध किया था।

इस मामले पर कुलकर्णी ने कहा, ‘अदालत ने पुलिस रिपोर्ट को स्वीकार कर लिया है और मुझे राहत मिल गई है। मामला दर्ज होने के बाद मैंने राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग और प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया का दरवाजा खटखटाया था। मेरे माता-पिता ने भी वरिष्ठ अधिकारियों से संपर्क किया था और पुलिस के इस व्यवहार को लेकर लिखित शिकायत दर्ज कराई थी।’

उन्होंने कहा, ‘यह बहुत ही खतरनाक ट्रेंड है, जहां सरकार अभिव्यक्ति की आजादी को कुचलना चाहती है जबकि इसे बचाकर रखना चाहिए।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

दूरदर्शन में इस बड़े पद की कमान संभालेंगे वरिष्ठ पत्रकार सुधांशु रंजन

दूरदर्शन के वरिष्ठ पत्रकार सुधांशु रंजन को दूरदर्शन में कोलकाता जोन का अपर महानिदेशक (ADG) नियुक्त किया गया है।

Last Modified:
Monday, 10 August, 2020
Sudhanshu Ranjan

दूरदर्शन के वरिष्ठ पत्रकार सुधांशु रंजन के बारे में एक बड़ी खबर है। खबर यह है कि सुधांशु रंजन को दूरदर्शन में कोलकाता जोन का अपर महानिदेशक (ADG) नियुक्त किया गया है। इस जोन के तहत बिहार, झारखंड, ओडिशा और कोलकाता दूरदर्शन आते हैं। समाचार4मीडिया से बातचीत में सुधांशु रंजन ने बताया कि वह जल्द ही वहां जॉइन करेंगे।

बिहार में बेगूसराय के मूल निवासी सुधांशु रंजन को पत्रकारिता के क्षेत्र में काम करने का करीब 32 साल का अनुभव है। इन दिनों दूरदर्शन केंद्र, दिल्ली में सीनियर एंकर के तौर पर अपनी जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। वह जयप्रकाश नारायण की हिंदी और अंग्रेजी में बायोग्राफी और Justice (Judocracy and Democracy in India) समेत तमाम पुस्तक लिख चुके हैं।

हाल ही में ऑक्सफ़ोर्ड ने उनकी एक पुस्तक ‘Justice versus Judiciary: Justice Enthroned or Entangled in India’ प्रकाशित की है। समाचार4मीडिया की ओर से सुधांशु रंजन को नई पारी के लिए ढेरों शुभकामनाएं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

जानिए, कितने लोगों ने देखा दूरदर्शन पर राम मंदिर के भूमि पूजन का लाइव प्रसारण

अयोध्या में राम मंदिर के लिए पांच अगस्त को तमाम विशेष अतिथियों की मौजूदगी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भूमि पूजन किया।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 08 August, 2020
Last Modified:
Saturday, 08 August, 2020
Ram Mandir

अयोध्या में राम मंदिर के लिए पांच अगस्त को धूमधाम से भूमि पूजन समारोह आयोजित किया गया। इस मौके पर तमाम विशेष अतिथियों की मौजूदगी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भूमि पूजन किया। दूरदर्शन पर इस कार्यक्रम की कवरेज का लाइव प्रसारण किया गया। बुधवार की सुबह 10.45 बजे से दोपहर 2 बजे के बीच मुख्य समारोहों के दौरान करीब 200 टीवी चैनलों ने भी दूरदर्शन की कवरेज को प्रसारित किया।

शुरुआती अनुमान के अनुसार, दूरदर्शन पर हुए इस भूमि पूजन कार्यक्रम के सीधे प्रसारण को 16 करोड़ से अधिक लोगों ने लाइव देखा। ‘प्रसार भारती’ (Prasar Bharti) के सीईओ शशि शेखर वेम्पती ने एक ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि इसके परिणामस्वरूप देश में टीवी की दुनिया में समारोह की व्युअरशिप कुल 7 बिलियन मिनट से ज्यादा रही।

बता दें कि आयोजन की लाइव स्ट्रीमिंग ‘डीडी नेशनल’ और ‘डीडी न्यूज’ पर प्रसारित की गई। दूरदर्शन के इस लाइव कवरेज के लिए बड़े स्तर पर इंतजाम किए गए थे। कमेंट्री के जरिये बकायदा लोगों को एक-एक विधि और स्थान के बारे में जानकारी दी जा रही थी।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

दैनिक जागरण को बाय बोलकर नए सफर पर निकलीं युवा पत्रकार काजल कुमारी

युवा पत्रकार काजल कुमारी ने दैनिक जागरण, पटना में अपनी करीब पांच साल पुरानी पारी को विराम दे दिया है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 08 August, 2020
Last Modified:
Saturday, 08 August, 2020
Kajal Kumari

युवा पत्रकार काजल कुमारी ने दैनिक जागरण, पटना में अपनी करीब पांच साल पुरानी पारी को विराम दे दिया है। वे यहां पर दैनिक जागरण की डिजिटल टीम का हिस्सा थीं। काजल ने अब अपने नए सफर की शुरुआत ‘जी न्यूज’ (Zee News) के साथ की है। काजल ने नोएडा में बतौर चीफ सब एडिटर जॉइन किया है। मूल रूप से दरभंगा (बिहार) की रहने वाली काजल को पत्रकारिता के क्षेत्र में काम करने का 11 साल से ज्यादा का अनुभव है।

समाचार4मीडिया से बातचीत में काजल ने बताया उन्हें पढ़ने-लिखने का बचपन से ही शौक है। यही कारण है कि ग्रेजुएशन के बाद उन्होंने वर्ष 2009 से आकाशवाणी पटना के विभिन्न कार्यक्रमों के लिए लेखन से पत्रकारिता में अपने करियर की शुरुआत की। वर्ष 2012 में उन्होंने दूरदर्शन बिहार न्यूज में बतौर कॉपी एडिटर न्यूज की दुनिया में कदम रखा।

तीन साल से ज्यादा समय तक दूरदर्शन में काम करने के बाद उन्होंने यहां से अलविदा कह दिया और दैनिक जागरण, पटना की डिजिटल टीम से जुड़ गईं। यहां लंबे समय तक अपनी जिम्मेदारी निभाने के बाद अब काजल ने नोएडा का रुख किया है। उन्होंने ‘जी न्यूज’ के साथ नया सफर शुरू किया है। समाचार4मीडिया की ओर से काजल लाल को उनकी नई पारी के लिए शुभकामनाएं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

IDMA 2020: शॉर्टलिस्ट हुईं एंट्रीज, 28 अगस्त को उठेगा विजेताओं के नाम से पर्दा

‘एक्सचेंज4मीडिया’ की ओर से दिए जाने वाले बहुप्रतिष्ठित ‘इंडि‍यन डिजिटल मार्केटिंग अवॉर्ड्स’ (IDMA) 2020 के 11वें एडिशन के लिए सात अगस्त को जूरी मीट का आयोजन किया गया

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 08 August, 2020
Last Modified:
Saturday, 08 August, 2020
IDMA

‘एक्‍सचेंज4मीडिया’ (exchange4media) की ओर से दिए जाने वाले बहुप्रतिष्ठित ‘इंडि‍यन डिजिटल मार्केटिंग अवॉर्ड्स’ (IDMA) 2020 के 11वें एडिशन के लिए सात अगस्त को जूरी मीट का आयोजन किया गया। ‘जूम’ ऐप के जरिये वर्चुअल रूप से होने वाली इस जूरी मीट में एंट्रीज को शॉर्टलिस्‍ट किया गया। इस साल इन अवॉर्ड्स के लिए 500 एंट्रीज मिली थीं। ‘P&G’ के एमडी और सीईओ (Indian Subcontinent) मधुसूदन गोपालन की अध्यक्षता में गठित जूरी ने इनमें से 170 को शॉर्टलिस्ट किया। अवॉर्ड्स के लिए फाइनल विजेताओं के नामों की घोषणा 28 अगस्त की शाम साढ़े छह बजे वर्चुअल रूप से होने वाले एक समारोह में की जाएगी।

जूरी में शामिल अन्य सदस्यों में ‘बिजनेस वर्ल्ड’ और ‘एक्सचेंज4मीडिया’ ग्रुप के चेयरमैन व एडिटर-इन-चीफ डॉ. अनुराग बत्रा, ‘एक्सचेंज4मीडिया’ ग्रुप के को-फाउंडर नवल आहूजा, ‘टाटा कंज्यूमर प्रॉडक्ट्स’ की प्रेजिडेंट (पैकेज्ड फूड्स) रिचा अरोड़ा, ‘Grey Group India’ की चेयरमैन और ग्रुप सीईओ अनुषा शेट्टी, ‘Lodestar UM’ की सीईओ नंदिनी डायस, ‘OYO’ के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स के मेंबर आदित्य घोष,’ Laqshya Media Group’ के मैनेजिंग डायरेक्टर आलोक जालान, ‘DELL Technologies’ के प्रेजिडेंट और मैनेजिंग डायरेक्टर आलोक ओहरी, ‘Asian Paints’ के एमडी और सीईओ अमित सिंगले, ‘CEAT’ के मैनेजिंग डायरेक्टर अनंत गोयनका शामिल थे।

इनके अलावा जूरी के अन्य सदस्यों में ‘Mahindra Holidays and Resorts India Ltd’ के एमडी और सीईओ कविंद्र सिंह, ‘Intel India’ के वाइस प्रेजिडेंट और मैनेजिंग डायरेक्टर (सेल्स, मार्केटिंग और कम्युनिकेशंस ग्रुप) प्रकाश माल्या, ‘Max Life Insurance’ के मैनेजिंग डायरेक्टर और चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर प्रशांत त्रिपाठी, ’ House of Cheer Networks Private Limited’ के फाउंडर और मैनेजिंग डायरेक्टर राज नायक, ‘Burger King India Private Limited’ के सीईओ राजीव वर्मन, ‘Goodyear India’ के मैनेजिंग डायरेक्टर संदीप महाजन, ‘Morgan Stanley’ के मैनेजिंग डायरेक्टर रिधन देसाई, ‘Cipla Health’ के सीईओ शिवम पुरी और ‘Apollo Tyres’ के प्रेजिडेंट (Asia Pacific, Middle East, and Africa) व पूर्णकालिक निदेशक सतीश शर्मा शामिल थे।
 

जूरी प्रक्रिया के लिए निर्णायक मानदंड डिजिटल कैंपेन की स्ट्रैटेजी, क्रिएटिविटी, इनोवेशन, एग्जिक्यूशन और कैंपेन के परिणामों पर आधारित थे। गौरतलब है कि मार्केटिंग के क्षेत्र में खासकर इंटरनेट, मोबाइल, गेमिंग, सोशल मीडिया और ब्‍लॉग में उल्‍लेखनीय कार्य करने वालों को सम्‍मानित करने और उन्‍हें नई पहचान देने के लिए हर साल ये अवॉर्ड दिए जाते हैं। इन अवॉर्ड्स की शुरुआत वर्ष 2010 में की गई थी। अपनी शुरुआत के बाद से ही यह काफी आगे बढ़ा है और अब भारतीय डिजिटल मार्केटिंग क्षेत्र के प्रतिष्ठित अवॉर्ड्स में शामिल हो चुका है।

IDMA Awards 2020 जिन कैटेगेरीज में दिए जाने हैं, उनकी लिस्ट आप यहां देख सकते हैं।

WEB

  • Best Banners -Single/ Campaign, Rich Media with or without video
  • Best Benchmark Content / Branded Content
  • Best Website/ Microsite
  • Best Use of Web Based Games
  • Best Campaign- Online Advertising and Digital Direct Response

MOBILE and TABLETS

  • Best Use of WAP /Html/ other sites for Mobiles and Best App Developed- Products / Services / Corporate / Social/ Films / TV Shows / Entertainment/ Lifestyle / Gaming etc.
  • Best Innovation in Mobile Marketing
  • Best Campaign- Use of Mobile and Mobile Monetization

SOCIAL MEDIA

  • Best Use of Social Networks/ Social Media
  • Community Engagement / Community Building and Most Effective Social Listening
  • Leveraging Social Media to boost brand ROI and engagement


SEARCH and PPC CAMPAIGNS

BEST SEO FOR WEBSITE/UNIVERSAL SEARCH RANKING AND SEM STRATEGY
BEST PPC

SPECIAL AWARDS

  • Best Integrated Media Campaign - Product/ Services
  • Best Integrated Media Campaign - Corporate.
  • Best Integrated Media Campaign - Social Cause
  • Best Integrated Media Campaign - Films/ TV Shows / News Shows / Events
  • Most Effective Use of Digital Analytics
  • Best Media Campaign – Gender Parity
  • Campaign with the Best ROI
  • Best Digital Innovation
  • Most Effective Use of AI, data analytics, machine learning for a Campaign and Business Optimisation
  • Best use of AR or VR
  • Best Use of Experiential Tech for Digital & Physical Experiences
  • Breakthrough Technology as Part of a Campaign
  • Location-based or Proximity Marketing Campaign of the Year
    IDMA Person of the Year

HALL OF FAME AWARDS

  • Best Digital and Social Media Advertiser and Best Advertiser on Mobile
  • est Digital, Social Media and Mobile Media Agency of the Year
समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

अब इस चैनल के साथ नई पारी शुरू करेंगे वरिष्ठ पत्रकार एम गुनासेकरन

सोशल मीडिया के जरिये दी इस बात की जानकारी, सपोर्ट करने के लिए शुभचिंतकों का जताया आभार

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 08 August, 2020
Last Modified:
Saturday, 08 August, 2020
M Gunasekaran

न्यूज18 तमिलनाडु से पिछले हफ्ते इस्तीफा देने के बाद वरिष्ठ पत्रकार एम. गुनासेकरन (M. Gunasekaran) अब अपनी नई पारी की शुरुआत करने जा रहे हैं। वह कलानिधि मारन के नेतृत्व वाले ‘सन नेटवर्क’ के चैनल ‘सन न्यूज’ (Sun News) को जॉइन करने जा रहे हैं। यहां पर वह एडिटर-इन-चीफ की कमान संभालेंगे।

गुनासेकरन ने फेसबुक पोस्ट के जरिये खुद इस बात की जानकारी दी है। यही नहीं, इस्तीफा देने के बाद समाज के विभिन्न वर्गों से मिले सपोर्ट के लिए उन्होंने सभी का आभार भी जताया है। बता दें कि न्यूज18 तमिलनाडु में न्यूज एडिटर के पद पर कार्यरत गुनासेकरन ने यूट्यूबर मरिधास (Maridhas) द्वारा लगाए गए राजनीतिक पूर्वाग्रहों के आरोपों के बाद 31 जुलाई को अपने पद से इस्तीफा दे दिया था।

हालांकि, गुनासेकरन ने इन आरोपों से इनकार करते हुए अपने साथियों को एक लेटर भी लिखा था। इस लेटर में गुनासेकरन का कहना था कि उनके नेतृत्व में चैनल ने कभी किसी राजनीतिक दल का पक्ष नहीं लिया और दर्शक व राजनीतिक दलों के नेता भी भली भांति इस बात को जानते थे।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

Hope India Conclave में जुटीं शख्सियतें, देश की तस्वीर बदलने के लिए इन बातों पर दिया जोर

सीसीएलए व टीबीआई-9 की ओर से आयोजित ‘होप इंडिया कॉन्क्लेव’ में मीडिया एवं उद्योग से जुड़े दिग्गजों ने रखे अपने विचार।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 08 August, 2020
Last Modified:
Saturday, 08 August, 2020
Conclave

ताजनगरी आगरा से पिछले साल शुरू हुए नेशनल हिंदी न्यूज चैनल ‘टीबीआई9’ (tbi9) ने सात अगस्त को अपनी पहली वर्षगांठ मनाई। चैनल के अनुसार, इस एक साल में उसके व्युअर्स की संख्या 16 मिलियन हो गई है। इस सफलता का जश्न मनाने के लिए आगरा के होटल भावना क्लार्क्स इन होटल में ‘होप इंडिया कॉन्क्लेव’ (Hope India Conclave) 2020 का आयोजन किया गया।

‘कॉरपोरेट काउंसिल फॉर लीडरशिप एंड अवेयरनेस’ (सीसीएलए) की ओर से रावी इवेंट्स के सहयोग द्वारा वर्चुअल रूप से होने वाले इस कार्यक्रम को ‘टीबीआई9’ मीडिया नेटवर्क की ओर से पेश किया गया। प्रदेश के समाज कल्याण मंत्री डॉ. जीएस धर्मेश के मुख्य आतिथ्य में आयोजित इस कॉन्क्लेव में मीडिया एवं उद्योग से जुड़े दिग्गजों ने वर्तमान परिदृश्य में भारत की आशा विषय पर अपने विचार रखे।

कार्यक्रम का शुभारंभ राज्यमंत्री डॉ. जी.एस धर्मेश, एफमेक के अध्यक्ष पूरन डावर, अप्सा के अध्यक्ष सुशील गुप्ता व अन्य अतिथियों ने दीप प्रज्वलित कर किया। कोविड-19 महामारी के चलते कॉन्क्लेव को बेहद सादगी और सोशल डिस्टेंसिंग के साथ किया गया। कॉन्क्लेव में निर्धारित संख्या में लोग शामिल थे, वहीं वर्चुअल रूप में सैकड़ों लोगों की सहभागिता रही। कॉन्क्लेव में उद्योग जगत में अपनी विशिष्ट कार्यशैली से देश में खास मुकाम बनाने वाली शख्सियतों को ‘द लीजेंड 2020 अवार्ड’ से सम्मानित किया गया। मुख्य अतिथि डॉ. जीएस धर्मेश ने उन्हें यह सम्मान प्रदान किया। कॉन्क्लेव में दो पैनल में चर्चा हुई, जिसमें पहले पैनल का संचालन ‘द कैपिटल पोस्ट’ की एडिटर गरिमा सिंह ने किया। वहीं दूसरे पैनल का संचालन ‘इंडिया न्यूज’ के सीनियर एडिटर यतेंद्र शर्मा ने किया।

कॉन्क्लेव में वक्ताओं ने कुछ यूं रखे अपने विचार 
जिंदगी में सब कुछ उम्मीद पर ही कायम है, इसलिए हमें सदैव सकारात्मक और संवेदनशील रहते हुए काम करना चाहिए, लोगों की प्रतिभा के अनुसार मौका देने की आवश्यकता है. जिससे आने वाले समय में भारत एक बहुत बड़े मुकाम को हासिल कर सके।
-डॉ. अनुराग बत्रा, चेयरमैन, बिजनेस वर्ल्ड

देश में पिछले 6-7 वर्षों में बहुत बड़े बदलाव हुए हैं व देश को नई ताकत मिली है। देशवासियों को कार्य करने के लिए ऐसा नेतृत्व मिला है जो हर रोज लोगों को नई प्रेरणा देता है। नई शिक्षा नीति में क्षेत्रीय व राष्ट्रीय भाषा पर सरकार का कदम देश की उन्नति में मील का पत्थर साबित होगा। हम हिंदी में सोचते हैं, हिंदी में स्वप्न देखते हैं तो कार्यक्रम व चर्चाओं में भी हिंदी भाषा का प्रयोग क्यों नहीं करते। भारत में आज तमाम संभावनाएं हैं। भारत उद्योग जगत में देश दुनिया की सबसे बड़ी महाशक्ति बनेगा।
-पूरन डावर, रीजनल चेयरमैन, सीएलई-नार्थ

भारत कभी सोने की चिड़िया कहलाता था, परंतु आजादी के 70 साल बाद भी देश में बदलाव नहीं आया, देश के लोगों में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है, एशिया और यूरोप का ऐसा कोई हिस्सा नहीं जहां पर भारतीय अपनी पताका ना लहरा रहे हों। 'तू जिंदा है तो जिंदगी की जीत पर यकीन कर, अगर कहीं है स्वर्ग तो उतार ला जमीन पर'।
-राजेश बादल, पूर्व कार्यकारी निदेशक, राज्यसभा टेलीविजन

मीडिया को अपनी विश्वसनीयता को बनाये रखने के लिये सत्य के साथ जुड़कर कार्य करना चाहिए। भीड़ के हिस्से से अलग हटकर अपनी एक अलग पहचान बनानी चाहिए। लोगों को बड़ी उम्मीदें रखनी चाहिए क्योकि जब बड़ी उम्मीदें होती है तो काम भी बड़े होते हैं।
-अजय शुक्ला, चीफ एडिटर, आईटीवी नेटवर्क  

मीडिया के सामने आने वाली चुनौतियों पर मीडिया से निपटने के लिए मीडिया को ही अपनी विश्वनीयता पर कायम रहना होगा। देश में जो घटित हो रहा है। उसे सत्य व राष्ट्र हित से जोड़कर लोगों के सामने प्रस्तुत करना चाहिए। तभी मीडिया की विश्वसनीयता बनी रह सकती है। ऐसा करना मीडिया के लिए बहुत ही आवश्यक है। यह मीडिया की जिम्मेदारी भी है कि वह लोगों में सकारात्मकता का भाव लाए, ताकि वे आगे बढ़ सकें और देश के विकास में योगदान दे सकें।
-विनीता यादव, फाउंडर, न्यूज नशा

कोरोना काल में तमाम उद्योग-धंधे काफी प्रभावित हुए हैं। ऐसे में लोगों के काम-धंधे पर विपरीत असर पड़ा है। कई लोगों की नौकरी भी चली गई है, वहीं कुछ लोगों का काम बिल्कुल ठप हो गया है। ऐसे में तमाम लोगों के सामने रोजी-रोटी जुटाने की समस्या आ खड़ी हुई है। बेरोजगारी बढ़ने के कारण देश में अपराधों की संख्या बढ़ी है। हमें इस तरह की स्थिति पर जल्द से जल्द अंकुश लगाने के उपाय तलाशने होंगे, ताकि समाज में बढ़ रहे अपराधों पर लगाम लगे और लोगों को रोजगार मिल सके। मीडिया को भी इसमें अपनी भूमिका निभानी होगी।
-प्रमिला दीक्षित, मीडिया विश्लेषक  

 हमारी गुरुकुल की शिक्षा परंपरा बहुत ही समृद्ध थी, लेकिन आज की शिक्षा व्यवस्था भारत को गर्त की ओर ले जा रही है इसमें सुधार की आवश्यकता है सरकार ने हाल ही में इस दिशा में जो कदम उठाया है वो प्रशंसनीय है। अब एक नई आशा इस दिशा में भी जागी है लगता है शिक्षा जगत में जल्द नया सवेरा होगा।
-गरिमा सिंह, एडिटर, द कैपिटल पोस्ट

कोरोना महामारी के दौरान स्वास्थ्य समस्याओं के अलावा और भी कुछ समस्याएं हैं उन पर भी ध्यान देने की आवश्यकता है। मीडिया को भी इसमें अहम भूमिका निभानी होगी। जिस प्रकार आज देश सकारात्मकता के साथ आगे बढ़ रहा है उससे लगता है कि यदि विजन स्पष्ट हो तो हर स्थिति में आप कामयाबी के रास्ते प्रशस्त कर सकते हैं। इसलिए सदैव अपने विजन को स्पष्ट रखते हुए सकारात्मकता के साथ आगे बढ़ना चाहिए।     
-यतेंद्र शर्मा, सीनियर एडिटर, इंडिया न्यूज़

देशवासियों को सर्वप्रथम अपने इतिहास व गौरव को जानना होगा। सोच बदलो तो सितारे बदल जायेंगे, नजर बदलो तो नजारे बदल जाएंगे। अब कश्तियां बदलने की जरूरत नहीं, इरादे बदलो किनारे बदल जायेंगे। देश ने 5 ट्रिलियन डॉलर की इकोनामी बनाने का लक्ष्य लिया जिसे पूरा भी किया है। कोरोना की मार के बावजूद देश दोगुनी रफ्तार से तरक्की करेगा।
-संदीप मारवाह, फाउंडर, नोएडा फिल्म सिटी

कोरोना काल में आज चुनौतियों के साथ नए अवसर भी आये हैं, जिनको हमें नकारात्मकता से निकलकर अपनी क्षमताओं को निखारते हुए काम करना होगा। सिर्फ मेडिकल के क्षेत्र में ही नहीं हमें कई क्षेत्रों में आगे बढ़कर देश को विश्व के मानचित्र पर चमकाना है।  
-किशोर खन्ना, एमडी, रोमसंस ग्रुप

हमने कहानी सुनी है चींटी की, जो बार-बार गिरती है और चढ़ती है, बाद में उसे सफलता मिल ही जाती है। हमें उससे सबक लेना चाहिए। हमारे देश व उसके उद्योग की अन्य देशों जैसी हालत नहीं हुई है। हमारे यहां की स्थिति अन्य देशों से आज भी बेहतर है। इसलिए निराश नहीं होना चाहिए।
-गुरु स्वरूप श्रीवास्तव, चेयरमैन, स्वरुप ग्रुप ऑफ इंडस्ट्रीज

कोरोना वायरस के बारे में सभी लोग जान चुके हैं, उससे जूझने में भी सभी की भलाई है। भयभीत होने से कुछ नहीं होगा। जीवन को खुशियों से संवारोगे तो हर ओर खुशियां ही खुशियां छा जाएंगी।
-सुशील गुप्ता, चेयरमैन, प्रिल्यूड पब्लिक स्कूल

कोरोनावायरस से कम से कम जन और आर्थिक हानि हो इसके प्रयास के लिए सरकार ने सराहनीय प्रयास किए हैं। आज विश्व भारत के उत्पादन पर विश्वास जता रहा है, एक उम्मीद से देश की ओर देख रहा है। देश आने वाले समय में उत्पादन के मामले में विश्व की एक बड़ी क्षमता बनेगा।
-डॉ. सुरेंद्र सिंह भगौर, एमडी, यशवंत हॉस्पिटल

भारत विश्व गुरु बनेगा, इस बात में कोई संदेह नहीं। आज देश कोरोना काल के प्रभाव के बावजूद प्रगति के पथ पर अग्रसर है। जहां समूचा विश्व केवल जिंदगी की जंग लड़ रहा है वहीं भारत विकास की इबादत लिखने को तैयार हो रहा है।
-शत्रुघ्न सिंह चौहान, पूर्व सैन्य अधिकारी  

हमें उन देशों से सबक लेना चाहिए, जो कोरोना से बहुत खराब हालत में आ गए थे और अब वे तेजी से विकास कर रहे हैं। उद्योगों के साथ कभी न कभी विषम परिस्थिति आ ही जाती है। गिर-गिर कर उठना ही तो व्यक्ति की महानता है।
-जितेन्द्र त्रिलोकानी, एमडी, डर्बी फुटवियर एक्सपोर्ट्स

उद्योगपति को तो कभी निराश नहीं होना चाहिए, उससे विकास की गति रुक जाती है, इसलिए लगातार काम करते रहना चाहिए। समाज में वही व्यक्ति उत्थान करता है, जिसमें हर हालत में काम करने का जज्बा होता है, उसी की आज आवश्यकता है।
-मुरारी प्रसाद अग्रवाल, चेयरमैन, एकता बिल्डर

होप इंडिया कॉन्क्लेव ने वर्तमान परिदृश्य में देश के उद्योग, मीडिया और सामाजिक चिंतन से जुड़े पहलुंओं को उजागर किया। देश की नब्ज को टटोलने की कोशिश की है। परिचर्चा में जो सामने आया वह निश्चित रूप से हमें यह समझने के लिए काफी है कि भारत विषम परिस्थितियों में भी गिरकर उठना जानता है यह देश के स्वर्णिम भविष्य का संदेश है।
-ब्रजेश शर्मा, निदेशक, टीबीआई9  

होप इंडिया कॉन्क्लेव में विभिन्न क्षेत्रों के दिग्गजों के बीच जो चर्चा हुई वह निश्चित रूप उद्योग जगत को नई दिशा देने में कामयाब साबित होगी, लगातार जिस तरह से सकारात्मक विचार वक्ताओं के सामने आए, वह प्रोत्साहित करते हैं और वर्तमान परिदृश्य में भारत की नई आशा को सकारात्मक नजरिया देश को आगे ले जाने को आतुर है।
-अजय शर्मा, आयोजक, होप इंडिया कॉन्क्लेव

आशा से ही जीवन में नया संचार आता है, निराश लोगों से दूरी बना कर रखें तभी जीवन को अच्छी गति मिल सकेगी। उद्योग हो, सरकारी या गैरसरकारी नौकरी, उतार-चढाव आते ही हैं। हर परिस्थिति में समान भाव से रहना ही जीवन है। कॉन्क्लेव में जो संदेश निकलकर सामने आया है वह प्रभावित करने वाला है।  
-मनीष अग्रवाल, निदेशक, रावी इवेंट्स

जीवन को खुशियों से संवारोगे तो हर ओर खुशियां ही खुशियां छा जाएंगी, दुख तो मुंह फाड़े हर समय खड़ा ही है। हताशा से व्यक्ति में अवसाद पैदा होता है और उससे जीवन में खतरा भी रहता है। इसलिए निराशा को त्याग कर हमेशा खुश रहने की आदत डालनी चाहिए।
-डॉ. रामनरेश शर्मा, उपाध्यक्ष, सीसीएलए

इस कॉन्क्लेव में जिन शख्सियतों को अवॉर्ड से सम्मानित किया गया, उनमें एफमेक के अध्यक्ष पूरन डावर, डॉक्टर सोप के एके जैन, कलाप्रेमी गुरु स्वरूप श्रीवास्तव, प्रिल्यूड पब्लिक स्कूल के चेयरमैन सुशील गुप्ता, पूर्व सैन्य अधिकारी शत्रुघ्न सिंह चौहान, रैनबो हॉस्पिटल के चेयरमैन डॉ. नरेंद्र मल्होत्रा, रोमसंस ग्रुप के प्रबंध निदेशक किशोर खन्ना, ग्लोबल इंस्टीट्यूट के निदेशक डॉ. प्रशांत शर्मा, मुंशी पन्ना मसाला उद्योग के चेयरमैन विष्णु कुमार गोयल, प्रकाश जनरेटर के निदेशक राजेश गर्ग, गोयल सिटी हॉस्पिटल के एमडी डॉ. मुकेश गोयल, साइंटिफिक पैथोलॉजी के चेयरमैन डॉ. अशोक शर्मा, यशवंत हॉस्पिटल एंड ट्रॉमा सेंटर के एमडी डॉ. सुरेंद्र सिंह भगौर, करम उद्योग के एमडी कंवलजीत सिंह कोहली और डर्बी फुटवियर एक्सपोर्ट्स के एमडी जितेन्द्र त्रिलोकानी शामिल रहे।

कॉन्क्लेव में राज्य मंत्री डॉ. जीएस धर्मेश ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री मोदी हैं तो देश मे सब कुछ संभव है। राम मंदिर का निर्माण और अनुच्छेद 370 का खात्मा मोदी सरकार के विराट स्वरूप और उच्च आदर्शों के कारण ही संभव हुआ है। साथ ही होप इंडिया कॉन्क्लेव में आज की चर्चा का स्वरूप देश में सरकार की जन हितैषी नीतियों का परिणाम है। 

इस मौके पर आयोजित पैनल डिस्कशन में उद्योग और मीडिया जगत के दिग्गजों ने शिरकत की। दोनों सत्रों में वर्तमान परिदृश्य में भारत की आशा विषय पर मीडिया विश्लेषक प्रमिला दीक्षित, विनय पतसरिया, पूर्व एमएलसी अनुराग शुक्ला, मुरारी प्रसाद अग्रवाल, महेश धाकड़ सहित आदि ने अपने विचार रखे। कार्यक्रम का संचालन रावी इवेंट्स के निदेशक मनीष अग्रवाल व अतिथियों का स्वागत सीसीएलए के महासचिव अजय शर्मा एवं टीबीआई9 के निदेशक ब्रजेश शर्मा और डॉ. आरएन शर्मा ने किया। इस दौरान सीएफटीआई के निदेशक सनातन साहू, मोशन एकेडमी के निदेशक डॉ. अरुण शर्मा, रामकुमार शर्मा, राजकुमार उप्पल, हरीबाबू, धीरज शर्मा, निशांत शर्मा आदि मुख्य रूप से मौजूद रहे। 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए