सूचना:
मीडिया जगत से जुड़े साथी हमें अपनी खबरें भेज सकते हैं। हम उनकी खबरों को उचित स्थान देंगे। आप हमें mail2s4m@gmail.com पर खबरें भेज सकते हैं।

विऑन: भारतीय मीडिया के लिए कैसे मील का पत्थर बन गया डॉ. सुभाष चंद्रा का ये विजन

‘जी मीडिया’ (Zee Media) समूह का अंग्रेजी न्यूज चैनल 'विऑन' (WION) ‘एस्सेल’ (Essel) ग्रुप के चेयरमैन डॉ. सुभाष चंद्रा का भारतीय मीडिया के लिए बहुत बड़ा विजन है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 12 September, 2022
Last Modified:
Monday, 12 September, 2022
SubhashChandra45551

‘जी मीडिया’ (Zee Media) समूह का अंग्रेजी न्यूज चैनल 'विऑन' (WION) ‘एस्सेल’ (Essel) ग्रुप के चेयरमैन डॉ. सुभाष चंद्रा का भारतीय मीडिया के लिए बहुत बड़ा विजन है। वह भारत को ग्लोबल मंच पर ले जाने और घरेलू व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर राष्ट्र के सामने आने वाली चुनौतियों का उन्मूलन करना चाहते हैं। वह एक ऐसे व्यक्ति हैं, जो अपनी जड़ों और देश पर बहुत गर्व करते हैं और 'वसुधैव कुटुम्बकम' में दृढ़ विश्वास रखते हैं, जिसका शाब्दिक अर्थ है कि  'दुनिया एक परिवार है'।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अंतरराष्ट्रीय पहल भारत के बढ़ते वैश्विक प्रभाव में परिलक्षित होती हैं। भारत को महज एक संतुलनकारी शक्ति के बजाय एक प्रमुख वैश्विक शक्ति बनाने का उनका दृष्टिकोण देश के मीडिया और विनिर्माण क्षेत्रों में परिलक्षित होता है। इसके साथ ही भारत वर्ष 2030 तक तेजी से जनसंख्या वृद्धि और स्वस्थ विनिर्माण क्षेत्रों में अमेरिका और चीन के बाद दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की ओर अग्रसर है। ‘अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष’ (आईएमएफ) के अनुमानों के अनुसार, यूके को पछाड़कर भारत बाजार विनिमय दरों के मामले में दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है।

इसमें कोई संदेह नहीं है कि हम ऐसे युग में रह रहे हैं, जहां पूरी दुनिया भारत को वैश्विक अर्थव्यवस्था के मजबूत वाहक के रूप में देख रही है। इस परिप्रेक्ष्य में पूरी दुनिया में भारतीय हिस्सेदारी को निश्चित रूप से बढ़ाने की आवश्यकता है।

वैश्विक मुद्दों पर ‘WION’ ने पश्चिमी देशों के सदियों पुराने पैटर्न को बदलते हुए भारतीय परिप्रेक्ष्य को वैश्विक समाचार मंच पर लाने और नए भारत की आवाज बनने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। तमाम विशेषज्ञों का कहना है कि ग्लोबल मीडिया दशकों से किसी खास देश या देशों के समूह के एजेंडे को आगे बढ़ा रहा है। मुख्य रूप से पश्चिमी मीडिया संस्थानों ने इस स्थान पर कब्जा जमा लिया है और अपने दृष्टिकोण को आगे बढ़ा रहे हैं। वे यथासंभव ‘निष्पक्ष’ दृष्टिकोण अपनाते हैं, लेकिन वास्तविकता से बहुत दूर हैं और ऐसे में ‘विऑन’ उनका जवाब है।

नए भारत की वैश्विक आवाज

दुनिया में जितनी भी बड़ी अर्थव्यवस्थाएं हैं, उनकी अपनी ग्लोबल मीडिया मौजूदगी है। चीन के पास ‘सीजीटीएन’ (CGTN) है जो दुनिया भर की खबरों को कवर करता है। इसी तरह फ्रांस में 'फ्रांस 24’, रूस में 'रूस 24’, ब्रिटेन में 'बीबीसी’ और अमेरिका में आधा दर्जन से अधिक चैनल्स हैं, जो विश्व की घटनाओं को कवर करते हैं। ऐसे में भारत को भी ग्लोबल मंच पर अपनी दमदार मौजूदगी की जरूरत थी।

इसमें कोई शक नहीं कि तमाम भारतीय व्युअर्स देश के पहले सही मायने में अंतरराष्ट्रीय इस न्यूज चैनल से प्रभावित हैं। इसमें विशेष रूप से आकर्षक तथ्य यह है कि पहली बार भारतीय व्युअर्स दुनिया के दूर-दराज के कोनों से अपनी पसंदीदा स्टोरीज की गहन कवरेज का आनंद ले सकते हैं।

‘विऑन’ भारत का ऐसा पहला ग्लोबल टेलिविजन नेटवर्क है, जिसकी दुनियाभर में दमदार मौजूदगी है। तमाम वैश्विक शहरों में वर्तमान में इसके 35 से ज्यादा ब्यूरो हैं। नेटवर्क अफ्रीका, यूरोप, रूस, अमेरिका, दक्षिण अमेरिका, एशिया पैसिफिक (APAC) और मिडिल ईस्ट व नॉर्थ अफ्रीका (MENA) सहित 190 देशों में अपने पदचिह्नों का विस्तार कर रहा है। वर्तमान में वैश्विक स्तर पर चार बिलियन कनेक्टेड डिवाइसों में इसे एक्सेस किया जाता है। चैनल तमाम प्रमुख लोगों से विशेष बातचीत के माध्यम से दर्शकों के साथ सक्रिय रूप से जुड़ने का प्रयास करता है।

विऑन वर्ल्ड समिट एडिशंस जैसे- DUBAI 2019, 2020, 2021 एडिशन, कोलंबिया यूनिवर्सिटी के साथ मिलकर यूएस 2019 एडिशन और China Decoded Virtual Edition 2020 जैसे आयोजनों के द्वारा वैश्विक नेताओं के विचारों को विभिन्न प्लेटफॉर्म्स के द्वारा दुनिया भर के लोगों तक पहुंचाकर ‘विऑन’ वैश्विक परिवर्तन की लहर का नेतृत्व भी कर रहा है। इसने E-Mobility Summit, Mission Smart Cities 2020 और Education Summit जैसे विभिन्न स्थानीय शिखर सम्मेलन भी आयोजित किए हैं।

‘विऑन’  की ग्लोबल लीडरशिप सीरीज में दुनिया के कुछ बहुत बड़े नामों के साथ एक्सक्लूसिव इंटरव्यू भी शामिल हैं। ‘विऑन’  को पहले से ही वैश्विक कद प्राप्त है और यह ऐसा कंटेंट देता है, जो युवाओं के साथ-साथ अधिक परिपक्व ऑडियंस दोनों को काफी पसंद आता है।

विशाल और गहराई से कवरेज

‘विऑन’ के कार्यक्रम तथ्यों पर आधारित और अच्छी तरह से शोध के बाद तैयार किए जाते हैं, जिसके द्वारा इसने देश के साथ-साथ दुनिया भर में लोगों का ध्यान आकर्षित किया है- इनमें 'ग्रेविटास', 'ग्लोबल लीडरशिप सीरीज', 'द इंटरव्यू', 'द डिप्लोमेसी शो' और 'स्ट्रेट टॉक' समेत तमाम कार्यक्रम शामिल हैं। कुछ छोटे शो जैसे 'Top Stories', 'Dispatch', 'Playlist' और 'Speed news' भी लोगों को काफी पसंद आते हैं। Global Leadership Series में दुनियाभर में तमाम देशों के प्रधानमंत्री, पूर्व प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति, पूर्व उपराष्ट्रपति के बारे में खबरें होती हैं।

जाने-माने मीडिया विद्वान प्रो. रॉबिन जेफरी (Prof. Robin Jeffrey) ने ‘द हिंदू‘ में प्रकाशित अपने एक आर्टिकल में कहा है कि डिजिटल क्रांति के इस युग में भारतीय मीडिया की उपस्थिति के लिए दुनिया पूरी तरह तैयार और परिपक्व है। ब्रिटेन, अमेरिका, कनाडा और ऑस्ट्रेलिया जैसे तमाम बड़े देशों के पास अपने मीडिया नेटवर्क हैं, जो दुनिया भर की खबरें देते हैं। अरब देशों के पास अल जज़ीरा है और फ्रेंच के पास एएफपी है। स्पेनिश न्यूज एजेंसी EFE दुनिया की चौथी सबसे बड़ी (एसोसिएटेड प्रेस, रॉयटर्स और AFP के बाद) न्यूज एजेंसी है। जर्मनी में डॉयचे वेले के साथ-साथ निजी स्वामित्व वाले विशाल मीडिया संगठन हैं। चीन ग्लोबल रूप से न्यूज जुटाने और उसे प्रसारित करने में काफी पैसा खर्च करता है। यहां तक कि रूस में भी अंग्रेजी भाषा की समाचार सेवा है। ऐसे में सवाल उठता है कि भारत कहां है? भारत, जिसके पूरे एशिया और यूरोप में, अफ्रीका और उत्तरी अमेरिका में और यहां तक कि दक्षिण अमेरिका में भी बेजोड़ अंतरराष्ट्रीय संबंध हैं। भारत, जहां इंग्लैंड से ज्यादा अंग्रेजी बोलने वाले हैं, भारत, जहां एक विशाल फिल्म इंडस्ट्री है और इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी में यह काफी आगे है। फिर भी, दुनिया में भारत की मीडिया उपस्थिति बहुत कम है। यहां का पब्लिक ब्रॉडकास्टर मुश्किल से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बोलता है और जब इसका घरेलू मीडिया विदेश में उद्यम करता है तो यह अधिकांशत: केवल एनआरआई से जुड़ने के लिए होता है। ऐसे में पूरी दुनिया भारत से डिजिटल युग की आवाज की प्रतीक्षा कर रही है-जिसमें ग्लोबल हितों की आवाज हो, जिसके ग्लोबल सोर्स हों, लेकिन उसका भारतीय दृष्टिकोण हो।

एक दशक से भी कम समय में अपनी विरासत, विश्वसनीयता और प्रतिभा के दम पर यह चैनल एक विश्वदृष्टि (worldview) का पर्याय बन गया है जो उदार, समावेशी और लोकतांत्रिक है। चैनल में हो रहे वर्तमान परिवर्तनों के साथ ऐसा लगता है कि यह अपनी सफलता के अगले अध्याय की पटकथा के लिए तैयार है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

ओपन ऑफर के बाद NDTV में अडानी समूह की अब इतनी हुई हिस्सेदारी

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के आंकड़ों के मुताबिक ओपन ऑफर को 53,27,989 इक्विटी शेयरों का सब्सक्रिप्शन मिला है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 05 December, 2022
Last Modified:
Monday, 05 December, 2022
ADANI

मीडिया फर्म ‘नई दिल्ली टेलीविजन लिमिटेड’ (NDTV) के अधिग्रहण की दिशा में अडानी समूह द्वारा लाए गए ओपन ऑफर के अंतिम दिन ‘एनडीटीवी’ के शेयर पांच प्रतिशत लोअर सर्किट पर ट्रेड हुए। ‘विश्वप्रधान कमर्शियल प्राइवेट लिमिटेडट (VCPL) के माध्यम से ‘एनडीटीवी’(NDTV) में 29.18 प्रतिशत के अपने पहले के अधिग्रहण के साथ अडानी समूह अब इस मीडिया कंपनी में 37.5 प्रतिशत हिस्सेदारी का मालिक हो गया है। दरअसल, सोमवार को समाप्त हुए ओपन ऑफर के बाद करीब 8.26 प्रतिशत हिस्सेदारी और अडानी ग्रुप को मिल गई है। 

बता दें कि ‘विश्वप्रधान कमर्शियल प्राइवेट लिमिटेडट ने ‘एएमजी मीडिया नेटवर्क्स‘ और ‘अडानी एंटरप्राइजेज‘ के साथ ‘एनडीटीवी‘ में अतिरिक्त 26 प्रतिशत हिस्सेदारी हासिल करने के लिए 22 नवंबर से पांच दिसंबर तक ओपन ऑफर लॉन्च किया था।

‘बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज’ (BSE) और ‘नेशनल स्टॉक एक्सचेंज’ (NSE) के आंकड़ों के अनुसार, यह ओपन ऑफर पूरी तरह सबस्क्राइब नहीं हुआ है। अडानी ने एनडीटीवी के लगभग 58 लाख इक्विटी शेयर हासिल किए, जो ओपन ऑफर के आधे भी नहीं थे।

‘बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज’ के आंकड़ों के अनुसार, सोमवार की शाम चार बजे तक ओपन ऑफर से 53,27,989 इक्विटी शेयरों का सबस्क्रिप्शन मिला, जो 1.67 करोड़ से अधिक इक्विटी शेयरों के कुल प्रस्तावित आकार का 31.79 प्रतिशत है।

‘बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज’ में एनडीटीवी का शेयर 4.95 प्रतिशत की गिरावट के साथ 393.90 रुपये पर बंद हुआ। कारोबारी घंटों के दौरान, स्टॉक मार्केट पांच प्रतिशत लोअर सर्किट के साथ 393.70 रुपये पर देखा गया। इसका मार्केट कैप करीब 2,540 करोड़ रुपये है। पिछले हफ्ते शुक्रवार को एनडीटीवी के शेयर 414.40 रुपये प्रति शेयर पर बंद हुए।

सोमवार को ‘एनडीटीवी’ का शेयर मोटे तौर पर 413 रुपये पर खुला। हालांकि, शुरुआती कारोबारी घंटों में गति पकड़कर 424 रुपये पर पहुंच गया, लेकिन जल्द ही बीएसई पर निचले सर्किट में गिरावट दर्ज की गई।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

‘सेल्फ रेगुलेटरी बॉडी’ के रूप में इस एसोसिएशन के रजिस्ट्रेशन को MIB ने दी मंजूरी

इस बारे में केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्रालय की ओर से एक आधिकारिक बयान भी जारी किया गया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 05 December, 2022
Last Modified:
Monday, 05 December, 2022
MIB

केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्रालय (MIB) ने एक बड़ा फैसला लेते हुए स्व-नियामक निकाय (सेल्फ रेगुलेटरी बॉडी) के रूप में ‘प्रिंट एंड डिजिटल मीडिया एसोसिएशन’ (PADMA) के पंजीकरण को अपनी मंजूरी दे दी है। इस निकाय को न्यूज और कंरेंट अफेयर्स कंटेंट के पब्लिशर्स के लिए लेवल-II एसआरबी (स्व नियामक निकाय) के रूप में पंजीकृत किया गया है। इस बारे में एमआईबी की ओर से एक आधिकारिक बयान भी जारी किया गया है।

बता दें कि एक स्व नियामक निकाय के रूप में ‘PADMA’ के पैनल में चेयरपर्सन के रूप में हाई कोर्ट के पूर्व जज जस्टिस मूल चंद गर्ग शामिल हैं। उनके अलावा इस पैनल में वरिष्ठ नौकरशाह और पत्रकार अशोक कुमार टंडन व वरिष्ठ पत्रकार और लेखक मनोज कुमार मिश्रा को बतौर सदस्य शामिल किया गया है।

एमआईबी का कहना है कि ‘PADMA’ नियमों के तहत आचार संहिता से संबंधित शिकायतों के निवारण के उद्देश्य से नियम 12 के उप-नियम (4) और (5) में निर्धारित कार्य करेगी। निकाय के रूप में यह भी सुनिश्चित करेगी कि सदस्य पब्लिशर्स प्रावधानों का पालन करने के लिए सहमत हैं, जिनमें नियम 18 के तहत आवश्यक जानकारी प्रस्तुत करना शामिल है। इसके अलावा निकाय की संरचना अथवा पब्लिशर्स की सदस्यता में किसी भी तरह का परिवर्तन होने पर मंत्रालय को सूचित किया जाएगा।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

वरिष्ठ पत्रकार सुमित अवस्थी को लेकर आयी ये बड़ी खबर

टीवी न्यूज की दुनिया के जाने-माने चेहरे और सीनियर न्यूज एंकर सुमित अवस्थी के बारे में एक बड़ी खबर निकलकर सामने आयी है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 03 December, 2022
Last Modified:
Saturday, 03 December, 2022
Sumit Awasthi

टीवी न्यूज की दुनिया के जाने-माने चेहरे और सीनियर न्यूज एंकर सुमित अवस्थी के बारे में एक बड़ी खबर निकलकर सामने आयी है। दरअसल, खबर यह है कि वह अब क्विंटिलियन बिजनेस मीडिया ग्रुप (Quintillion Business Media) की हिंदी न्यूज वेबसाइट ‘BQ प्राइम’ से बतौर कंसल्टेंट जुड़ गए हैं। ‘BQ प्राइम हिंदी’ पर उनका पहला वीडियो भी आ गया है, जिसमें उन्होंने जजों की नियुक्ति पर अपनी बेवाक राय भी दी है।

बता दें कि इससे पहले सुमित अवस्थी ‘एबीपी न्यूज’ में वाइस प्रेजिडेंट (न्यूज व प्रॉडक्शन) के तौर पर अपनी सेवाएं दे रहे थे। सुमित अवस्थी ने वर्ष 2018 में ‘एबीपी न्यूज’ में बतौर कंसल्टिंग एडिटर जॉइन किया था। इससे पहले वह ‘नेटवर्क18’ (Network 18) में डिप्टी मैनेजिंग एडिटर के तौर पर अपनी जिम्मेदारी संभाल रहे थे। वह ‘जी न्यूज’ (Zee News) में रेजिडेंट एडिटर भी रह चुके हैं।

सुमित अवस्थी करीब पांच साल तक ‘आजतक’ (Aaj Tak) में भी रह चुके हैं। यहां वह डिप्टी एडिटर के तौर पर कार्यरत थे। सुमित राजनीति में अच्छी पकड़ और बेहतर रिपोर्टिंग के लिए जाने जाते हैं।

सुमित अवस्थी को पत्रकारिता के क्षेत्र में काम करने का दो दशक से ज्यादा का अनुभव है। पत्रकारिता में उल्लेखनीय योगदान के लिए उन्हें अब तक ‘दादा साहेब फाल्के एक्सीलेंस अवॉर्ड‘ और ‘माधव ज्योति अवॉर्ड‘ समेत तमाम प्रतिष्ठित अवॉर्ड्स से नवाजा जा चुका है। इसके साथ ही उन्हें प्रतिष्ठित ‘एक्सचेंज4मीडिया न्यूज ब्रॉडकास्टिंग अवॉर्ड्स’ (enba) से भी नवाजा जा चुका है।

सुमित अवस्थी का जन्म लखनऊ (उत्तर प्रदेश) में हुआ है। केंद्रीय विद्यालय, इंदौर से अपनी स्कूलिंग पूरी करने के बाद उन्होंने इंदौर में ही ‘होलकर साइंस कॉलेज’ से ग्रेजुएशन की है। इसके बाद उन्होंने दिल्ली स्थित ‘भारतीय विद्या भवन‘ से पत्रकारिता की पढ़ाई की है।

सुमित अवस्थी को आप ट्विटर @awasthis और इंस्टाग्राम @beingsumitawasthi पर फॉलो कर सकते हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

ABP नेटवर्क की वाइस प्रेजिडेंट रमा पॉल ने लिया ये बड़ा फैसला

एबीपी नेटवर्क से एक बड़ी खबर सामने आयी है कि यहां रमा पॉल ने नेटवर्क की वाइस प्रेजिडेंट के पद से इस्तीफा दे दिया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 03 December, 2022
Last Modified:
Saturday, 03 December, 2022
ramapaul52121

एबीपी नेटवर्क (ABP Network) से एक बड़ी खबर सामने आयी है कि यहां रमा पॉल ने नेटवर्क की वाइस प्रेजिडेंट के पद से इस्तीफा दे दिया है। इंडस्ट्री के उच्च स्तरीय सूत्रों से इसकी जानकारी मिली है। वह फिलहाल मार्च 2023 के अंत तक नेटवर्क के साथ बनी रहेंगी।

बता दें कि एबीपी नेटवर्क में पॉल पिछले 7 साल  और 5 महीने से अपना योगदान दे रही हैं।

हमारी सहयोगी वेबसाइट 'एक्सचेंज4मीडिया' ने इस संदर्भ में उनसे संपर्क किया, लेकिन खबर लिखे जाने तक उनकी प्रतिक्रिया नहीं मिल पायी है। 

एबीपी नेटवर्क से पहले, पॉल डाबर, मुद्रा, मैक्कैन और लियो बर्नेट जैसे संगठनों के साथ विभिन्न पदों पर काम कर चुकी हैं। उन्होंने फ्रिटो-ले, नेस्ले, जनरल मोटर्स और माइक्रोसॉफ्ट के लिए भी काम किया है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

Junglee Games से जुड़े ट्विटर इंडिया के पूर्व सीनियर लीगल काउंसेल कपिल चौधरी

ट्विटर इंडिया के पूर्व सीनियर लीगल काउंसेल कपिल चौधरी अब ‘जंगली गेम्स’ (Junglee Games) के साथ जुड़ गए हैं

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 03 December, 2022
Last Modified:
Saturday, 03 December, 2022
KapilChaudhary4585

ट्विटर इंडिया के पूर्व सीनियर लीगल काउंसेल कपिल चौधरी अब ‘जंगली गेम्स’ (Junglee Games) के साथ जुड़ गए हैं। वह यहां जनरल काउंसेल की भूमिका निभाएंगे।

ट्विटर इंडिया में कपिल ट्विटर की एशिया-पैसिफिक देशों (APAC) के लिए इंटरनेशनल लीगल टीम का हिस्सा थे और  ट्विटर इंडिया के बिजनेस के लिए कानूनी मामलों की जिम्मेदारी संभाले हुए थे।

दिल्ली यूनिवर्सिटी से कानून की पढ़ाई करने वाले कपिल ने विभिन्न क्षेत्रों की कई कंपनियो में अलग-अलग पदों पर काम किया है। उन्होंने टेक, प्राइवेसी लॉयर के वर्षों के अनुभव से एक अलग पहचान बनाई है। उन्होंने अपना करियर साल 2000 में देश की सबसे पुरानी लॉ फर्म ‘फॉक्स मंडल’ के साथ शुरू किया था।

बता दें कि गेमिंग क्षेत्र में ‘जंगली गेम्स’ एक प्रमुख प्लेयर है, जिसके करीब 50 मिलियन यूजर्स हैं। 2012 में सैन फ्रांसिस्को में स्थापित हुई थी।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

मल्टीलिंग्वल इंटरनेट की गवर्निंग काउंसिल में शामिल हुए पूर्व संपादक बालेन्दु दाधीच

पूर्व संपादक बालेन्दु शर्मा दाधीच को भारत में बहुभाषी इंटरनेट के विकास और क्रियान्वयन के सम्बन्ध में गठित केंद्र सरकार की चार सदस्यीय गवर्निंग काउंसिल में शामिल किया गया है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 03 December, 2022
Last Modified:
Saturday, 03 December, 2022
BalenduSharma452

विख्यात तकनीकविद् और पूर्व संपादक बालेन्दु शर्मा दाधीच को भारत में बहुभाषी इंटरनेट के विकास और क्रियान्वयन के सम्बन्ध में गठित केंद्र सरकार की चार सदस्यीय गवर्निंग काउंसिल में शामिल किया गया है।

केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तहत गठित गवर्निंग काउंसिल की अध्यक्षता भारतीय राष्ट्रीय इंटरनेट एक्सचेंज (निक्सी) के सीईओ अनिल कुमार जैन करेंगे। यह काउंसिल मल्टीलिंग्वल इंटरनेट के बारे में राष्ट्रीय स्तर पर गठित समितियों के कामकाज की निगरानी करेगी।

दाधीच माइक्रोसॉफ्ट में निदेशक (भारतीय भाषाएं और सुगम्यता) के पद पर कार्यरत हैं। उन्हें फिजी में होने वाले बारहवें विश्व हिंदी सम्मेलन के लिए केंद्रीय विदेश मंत्री एस. जयशंकर के नेतृत्व में गठित सलाहकार समिति का सदस्य भी बनाया गया है।

बालेन्दु शर्मा दाधीच सूचना प्रौद्योगिकी और न्यू मीडिया के क्षेत्र में एक सुपरिचित नाम है। हिंदी भाषा में तकनीकी सोच को आगे बढ़ाने तथा सूचना तकनीक के विविध पहलुओं को रहस्यजाल से मुक्त करने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही है।

भारत के राष्ट्रपति के हाथों 'आत्माराम पुरस्कार' से सम्मानित दाधीच का पत्रकारिता से गहरा संबंध रहा है। अतीत में वे 'इंडियन एक्सप्रेस', 'हिन्दुस्तान टाइम्स', 'सहारा' तथा 'राजस्थान पत्रिका' समूहों के साथ वरिष्ठ संपादकीय भूमिकाओं में जुड़े रहे हैं। वे लंबे समय तक 'प्रभासाक्षी.कॉम' के समूह संपादक भी रहे और 2015 में माइक्रोसॉफ्ट के जरिए कॉरपोरेट दुनिया में चले गए। आज वे भारतीय भाषाओं के मुद्दों पर इस संस्थान के प्रवक्ता भी हैं। भारतीय भाषाओं की तकनीकों के विकास और प्रसार में दाधीच का अहम योगदान माना जाता है।

हिंदी में उनकी सात किताबें (एक अनुवाद सहित) हैं और उन्होंने अंग्रेजी में भी एक किताब लिखी है। हाल ही में उनकी नई किताब 'तकनीक तेरे कितने आयाम' बाजार में आई है। वे ऐसे चंद पेशेवरों में शामिल हैं, जिन्होंने शिक्षा की तीनों प्रमुख धाराओं- विज्ञान, वाणिज्य और कला में स्नातकोत्तर उपाधियां ली हैं- एमसीए, एमबीए और एमए (हिंदी) तथा साथ ही साथ वे पत्रकारिता में स्नातकोत्तर डिप्लोमा धारी भी हैं।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

अब ‘भारत एक्सप्रेस’ से जुड़े हेमंत घई, निभाएंगे यह बड़ी भूमिका

इससे पहले हेमंत घई करीब 17 साल से ‘सीएनबीसी आवाज’ (CNBC Awaaz) में अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 01 December, 2022
Last Modified:
Thursday, 01 December, 2022
Hemant Ghai

मीडिया वेंचर ‘भारत एक्सप्रेस’ (Bharat Express) ने हेमंत घई को न्यूज डायरेक्टर (स्टॉक्स, जनरल मार्केट और बिजनेस सेगमेंट) के पद पर नियुक्त किया है। बता दें कि घई हिंदी बिजनेस न्यूज चैनल ‘सीएनबीसी आवाज’ (CNBC Awaaz) को लॉन्च करने वाली टीम के फाउंडर मेंबर रहे हैं। वह जून 2004 से जनवरी 2021 तक इस चैनल से जुड़े रहे थे।

घई वर्ष 2004 में इस चैनल में ट्रेनी के रूप में शामिल हुए थे और प्रोडक्शन असिस्टेंट, असिस्टेंट प्रड्यूसर, रिसर्च एनालिस्ट, सीनियर रिसर्च एनालिस्ट और एसोसिएट एडिटर होते स्टॉक एडिटर जैसे बड़े पद पर पहुंचे थे।

हेमंत घई ने भारतीय फाइनेंसियल मार्केट्स में विभिन्न सेक्टर्स, स्टॉक्स और अर्थव्यवस्था का विश्लेषण करने में करीब डेढ़ दशक से अधिक का समय बिताया है और पिछले करीब एक दशक से विभिन्न बिजनेस शोज की मेजबानी करने के साथ-साथ कॉर्पोरेट सेक्टर से जुड़ी हस्तियों के इंटरव्यू कर रहे हैं।

मेरठ की चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी से कंप्यूटर एप्लीकेशन में ग्रेजुएट (BCA) हेमंत घई ने आईएमएस देहरादून से एमबीए (मार्केटिंग और फाइनेंस) किया है।

गौरतलब है कि ‘सहारा इंडिया मीडिया’, ‘तहलका मैगजीन’, ‘स्टार न्यूज’ एवं ‘सीएनबीसी-आवाज’ को अपनी सेवाओं और नेतृत्व से नई ऊंचाइयां देने वाले वरिष्ठ पत्रकार उपेंद्र राय ने कुछ समय पूर्व ही ‘भारत एक्सप्रेस’ मीडिया समूह की शुरुआत की है। यह मीडिया समूह हिंदी, अंग्रेजी और उर्दू भाषाओं में टीवी, डिजिटल और अखबार तीनों प्लेटफॉर्म पर जनता को अपनी सेवाएं देगा। उपेन्द्र राय का यह वेंचर टीवी के साथ-साथ अखबार और डिजिटल में खबरों के सभी पहलुओं पर जोर देगा। इस समूह के तहत 14 जनवरी 2023 को न्यूज चैनल लॉन्च किया जाना है, जिसमें दीपक चौरसिया जॉइन करने जा रहे हैं। फिलहाल चैनल ड्राई रन पर है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

NDTV से इस्तीफे के बाद रवीश कुमार ने शेयर किया वीडियो, कही दिल की बात

एनडीटीवी से इस्तीफा देने के एक दिन बाद सीनियर टीवी जर्नलिस्ट रवीश कुमार ने अपने यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो शेयर किया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 01 December, 2022
Last Modified:
Thursday, 01 December, 2022
Ravish Kumar

‘एनडीटीवी’ (NDTV) से इस्तीफा देने के एक दिन बाद सीनियर टीवी जर्नलिस्ट रवीश कुमार ने अपने यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो में रवीश कुमार का कहना है कि वह उस रेड माइक को हमेशा याद करते रहेंगे।

अपने यूट्यूब चैनल ‘रवीश कुमार ऑफिशियल’ (Ravish Kumar Official) पर अपलोड किए गए दिल को छू लेने वाले इस वीडियो में रवीश कुमार ने कहा है, ‘सुबह उठते ही मेरे दिमाग में सबसे पहले रात नौ बजे का ख्याल आता था। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा, क्योंकि अब रात नौ बजे मेरा प्राइम टाइम शो नहीं होगा। मुझे नहीं पता कि मैं अब रात नौ बजे क्या करूंगा। मैं टेलिविजन को प्यार करता हूं। शायद इसलिए भी मेरा दिल टूट रहा है। मैं उस लाल माइक को याद करता रहूंगा।’  

अपने वीडियो में रवीश कुमार ने यह भी कहा है, ‘ऐसे समय में जब देश की न्यायपालिका लड़खड़ा रही थी और सत्ता में बैठे लोगों ने तमाम लोगों की आवाज चुप कराने की कोशिश की, यह देश की जनता ही थी जिसने मेरे प्रति अपार प्रेम दिखाया। मैं अपने दर्शकों के बिना कुछ भी नहीं कर पाता। मैं लोगों से आग्रह करता हूं कि वे मेरे काम का समर्थन करना जारी रखें, जो अब मेरे नए यूट्यूब चैनल और फेसबुक पेज के माध्यम से होगा।’

गौरतलब है कि रवीश कुमार ने ‘एनडीटीवी इंडिया’ (NDTV India) के साथ अपनी करीब ढाई दशक पुरानी पारी को विराम देते हुए बुधवार को सीनियर एग्जिक्यूटिव एडिटर के पद से इस्तीफा दे दिया था। इस बारे में चैनल की ओर से जारी एक इंटरनल मेल में कहा गया था कि रवीश कुमार का इस्तीफा तत्काल प्रभाव से प्रभावी हो गया है। 

चैनल की ओर से जारी मेल में यह भी कहा गया था, ‘कुछ ही पत्रकार ऐसे हैं, जिन्होंने लोगों को रवीश जितना प्रभावित किया है। यह इस बात से परिलक्षित होता है कि वह जहां जाते हैं, लोग उनके पास खिंचे चले आते हैं। उनके बारे में लोगों से तमाम प्रतिक्रिया मिलती है। इसके अलावा उन्हें राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तमाम प्रतिष्ठित अवॉर्ड्स से नवाजा जा चुका है।’ मेल में चैनल का यह भी कहना था, ‘रवीश कुमार कई दशक से एनडीटीवी का अभिन्न हिस्सा रहे हैं। उनका योगदान अमूल्य रहा है और हम जानते हैं कि वह एक नई शुरुआत करेंगे और सफल होंगे।’  

इस्तीफा देने के बाद रवीश कुमार द्वारा अपने यूट्यूब चैनल पर शेयर किए गए वीडियो को आप नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके देख सकते हैं-

https://youtu.be/G9K9vpGTofo

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

अब CNN में छंटनी की कवायद, कंपनी ने एंप्लॉयीज को मेल लिखकर कही ये बात

पिछले कुछ दिनों में ‘मेटा’ और ‘ट्विटर’ से भी बड़े पैमाने पर एंप्लॉयीज को निकाले जाने की खबरें सामने आई थीं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 01 December, 2022
Last Modified:
Thursday, 01 December, 2022
CNN

दिग्गज टेक कंपनियों में छंटनी के बीच दुनिया भर से मीडिया और एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में भी छंटनी की खबरें आने लगी हैं। ऐसी ही एक खबर मल्टीनेशनल केबल न्यूज चैनल ‘सीएनएन’ (CNN) से आई है, जहां छंटनी की कवायद शुरू हो गई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, कंपनी ने बुधवार को अपने एंप्लॉयीज को यह जानकारी दी है। कंपनी की ओर से कहा गया है कि इस कवायद का असर न्यूज नेटवर्क में कार्यरत सैकड़ों एंप्लॉयीज की नौकरी पर पड़ सकता है।

कंपनी के अनुसार पिछले वर्षों में यह सबसे बड़ी छंटनी है। जिन लोगों की छंटनी की जानी है, उन्हें व्यक्तिगत रूप से अथवा जूम मीटिंग के जरिये गुरुवार से सूचित करना शुरू कर दिया जाएगा। इसके साथ ही कंपनी ने यह भी स्पष्ट किया कि जो लोग 2022 में बोनस के लिए पात्र हैं, छंटनी के बावजूद उन्हें वह दिया जाएगा।

कंपनी के सीईओ क्रिस लिक्ट (Chris Licht) की ओर से जारी इस मेल में कहा गया है, ‘हमारे एंप्लॉयीज संस्थान का दिल और आत्मा हैं। सीएनएन के लिए टीम के किसी भी सदस्य को अलविदा कहना बेहद मुश्किल है। मैंने हाल में इस प्रक्रिया को एक धक्के के रूप में वर्णित किया है, क्योंकि मैं जानता हूं कि इस तरह का फैसला हम सभी को कैसा लगता है।’

क्रिस लिक्ट के अनुसार, ‘मुझे पता है कि ये बदलाव छंटनी वाली लिस्ट में शामिल और टीम में बने रहने वाले साथियों दोनों को प्रभावित करते हैं। हमारे पास आपके सपोर्ट के लिए कई संसाधन हैं। मैं कल अपने दूसरे ईमेल में इन संसाधनों का लिंक शामिल करूंगा।’

बता दें कि सीएनएन में इससे पहले वर्ष 2018 में छंटनी हुई थी, जब कंपनी ने अपने डिजिटल बिजनेस का पुनर्गठन किया था, उस समय 50 एंप्लॉयीज को अपनी नौकरी खोनी पड़ी थी।

गौरतलब है कि पिछले कुछ दिनों में ‘मेटा’ और ‘ट्विटर’ में बड़े पैमाने पर एंप्लॉयीज को निकाले जाने की खबरें सामने आई थीं। ट्विटर में करीब 50 प्रतिशत एंप्लॉयीज को पिंक स्लिप दी गई है। इसके अलावा मेटा के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने भी पिछले दिनों वैश्विक स्तर पर करीब 11000 एंप्लॉयीज को नौकरी से निकाले जाने की बात कही थी।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

प्रणय-राधिका रॉय के इस्तीफे के बाद RRPR में इन तीन डायरेक्टर्स की हुई नियुक्ति

सुदीप्त भट्टाचार्य, संजय पुगलिया और सेंथिल सिन्नैया चेंगलवारायण को तत्काल प्रभाव से ‘आरआरपीआर होल्डिंग प्राइवेट लिमिटेड’ के बोर्ड में निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 30 November, 2022
Last Modified:
Wednesday, 30 November, 2022
directors4512

‘आरआरपीआर होल्डिंग प्राइवेट लिमिटेड’ (RRPRH) के डायरेक्‍टर पद से मंगलवार को प्रणय रॉय और राधिका रॉय के इस्तीफा देने के बाद सुदीप्त भट्टाचार्य, संजय पुगलिया और सेंथिल सिन्नैया चेंगलवारायण को तत्काल प्रभाव से RRPRH के बोर्ड में निदेशक (डायरेक्टर) के रूप में नियुक्त किया गया है। इन नियुक्तियों के साथ ही अडानी ग्रुप की एनडीटीवी के बोर्ड में एंट्री हो गई है।

बता दें कि एनडीटीवी के प्रमोटर्स प्रणय रॉय के नाम कंपनी में 15.94 फीसदी हिस्सेदारी है, जबकि उनकी पत्नी और राधिका रॉय का कंपनी में 16.32 फीसदी हिस्सा है। प्रणय रॉय और राधिका रॉय ही आरआरपीआर के प्रोमोटर्स थे, इस कंपनी के पास एनडीटीवी के 29.18 फीसदी शेयर थे, यानी NDTV में इनके पास कुल मिलाकर 61.45% हिस्सेदारी थी।

अब, रॉय दंपत्ति के पास कुल 32.26% हिस्सेदारी शेष है, क्योंकि इससे पहले हाल ही में आरआरपीआर ने अडानी ग्रुप के विश्वप्रधान कमर्शियल प्राइवेट लिमिटेड (वीसीपीएल) को 99.9 प्रतिशत शेयर ट्रांसफर किए थे, जिसके बाद अडानी ग्रुप को एनडीटीवी में 29.18 प्रतिशत हिस्सेदारी मिल गई थी और 26 फीसदी हिस्सेदारी के लिए वह ओपन ऑफर लेकर आया हुआ है। 

वरिष्ठ पत्रकार संजय पुगलिया बिजनेस व फाइनेंसियल न्यूज  कंपनी ‘क्विंटिलियन बिजनेस मीडिया लिमिटेड’ में एडिटोरियल डायरेक्टर भी हैं। पुगलिया AMG मीडिया के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर (CEO) व एडिटर-इन-चीफ हैं। अडानी एंटरप्राइजेज ने 2021 में समूह की मीडिया इकाई का नेतृत्व करने के लिए अनुभवी पत्रकार संजय पुगलिया को सीईओ  व एडिटर-इन-चीफ के पद पर नियुक्त किया था।

इस साल सितंबर में संजय पुगलिया ने ‘क्विंट डिजिटल मीडिया‘ (Quint Digital Media Ltd) में प्रेजिडेंट के पद से इस्तीफा दे दिया था, जिसके बाद ‘अडानी ग्रुप’ (Adani Group) ने उन्हें अपनी मीडिया इकाई का नेतृत्व करने के लिए नियुक्त किया था।

‘क्विंट‘ को जॉइन करने से पहले संजय पुगलिया ‘सीएनबीसी आवाज’ (CNBC Awaaz) में अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे। वे चैनल की लॉन्चिंग का अहम हिस्सा रहे थे और 12 वर्षों तक इस चैनल का नेतृत्व किया था। इसके अतिरिक्त बतौर न्यूज डायरेक्टर उन्होंने हिंदी न्यूज चैनल ‘स्टार न्यूज’ (अब एबीपी न्यूज) की स्थापना की और ‘आजतक’ की फाउंडिंग टीम का हिस्सा भी रहे।

संजय पुगलिया को मीडिया के क्षेत्र में काम करने का करीब तीन दशक का अनुभव है। वह टीवी पत्रकारिता के साथ-साथ प्रिंट में भी काम कर चुके हैं। ‘आजतक’ (AajTak), ‘जी न्यूज’(Zee News), ‘स्टार न्यूज’(Star News) और ‘सीएनबीसी आवाज’(CNBC Awaaz) में अपनी जिम्मेदारी निभा चुके संजय पुगलिया ने ‘द टाइम्स ग्रुप’ (The Times Group) और ‘बिजनेस स्टैंडर्ड’ (Business Standard) के साथ भी काम किया है।

वहीं, सेंथिल चेंगलवरायण, देश की बिजनेस न्यूज मीडिया में जाना-माना नाम हैं। सेंथिल को इंडस्ट्री में काम करने का 35 साल से ज्यादा का अनुभव है। वह ‘सीएनबीसी टीवी18’ (CNBC TV18) के फाउंडिंग एडिटर और ‘नेटवर्क’ (Network 18) के बिजनेस न्यूज रूम में एडिटर-इन-चीफ रह चुके हैं।

सुदीप्त भट्टाचार्य अडानी समूह में उत्तरी अमेरिका के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर (सीईओ) हैं। वह समूह के मुख्य टेक्नोलॉजी ऑफिसर भी हैं।

समूह में अपने वर्तमान कार्यभार से पहले, भट्टाचार्य अडानी पोर्ट्स (Adani Ports) और SEZ के सीईओ और समूह के चीफ स्ट्रैटजी ऑफिसर थे।

अडानी समूह में शामिल होने से पहले, वह इंजीनियरिंग और आईटी कंपनी ‘इनवेन्सिस’ (Invensys) के सॉफ्टवेयर बिजनेस के सीईओ थे। इससे पहले, भट्टाचार्य SAP में आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन (supply chain management), निर्माण (manufacturing) और इंजीनियरिंग उत्पाद पोर्टफोलियो (engineering product portfolio) के वाइस प्रेजिडेंट थे।

इसके अतिरिक्त उन्होंने 10 वर्षों तक टाटा समूह के साथ काम किया है, जहां उन्होंने प्रमुख रासायनिक संयंत्र संचालन, इंजीनियरिंग परियोजनाएं और आपूर्ति श्रृंखला संचालन का नेतृत्व किया था।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए