मीडिया दिग्गज उदय शंकर की नई पारी को लेकर लगाए जा रहे ये कयास

उदय शंकर ने अपने पद से इस्तीफा देने का फैसला लिया है, जिसके बाद उनके अगले कदम को लेकर कयासों का दौर शुरू हो गया।

Last Modified:
Friday, 09 October, 2020
UdayShankar

‘स्टार’ (Star) और ‘डिज्नी इंडिया’ (Disney India) के चेयरमैन और ‘द वॉल्ट डिज्नी कंपनी, एशिया पैसिफिक’ (The Walt Disney Company, Asia Pacific) के प्रेजिडेंट उदय शंकर ने हाल ही में अपने पद से इस्तीफा देने का फैसला लिया है। वह 31 दिसंबर तक अपने पद पर बने रहेंगे। इस खबर के आने के बाद से मीडिया और एंटरटेनमेंट के क्षेत्र में उदय शंकर के अगले कदम को लेकर कयासों का दौर शुरू हो गया है।

पिछले डेढ़ दशक में शंकर मीडिया और एंटरटेनमेंट क्षेत्र में एक मजबूत शख्स बनकर उभरे हैं। मीडिया परिदृश्य में उनका शांत व्यवहार व बेहतरीन समझ सफलता का परिचायक बन गई है। उदाहरण के लिए, जब ‘स्टार इंडिया' ने 16,347 करोड़ रुपए में पांच साल के लिए इंडियन प्रीमियम लीग के ग्लोबल ब्रॉडकास्टिंग और डिजिटल मीडिया अधिकार खरीदे थे, तब तमाम लोगों ने उनकी आलोचना की थी, लेकिन उदय शंकर का गेम प्लान काफी अच्छा रहा और इसने आलोचकों का मुंह बंद कर दिया। बाकी तो इतिहास गवाह है।

‘स्टार’ को रीजनल और स्थानीय भाषायी प्रोग्राम में आक्रामक रूप से आगे बढ़ाने और नेटवर्क को कंटेंट का ‘पावरहाउस’ बनाने का श्रेय उदय शंकर को ही दिया जाता है। उन्होंने हॉटस्टार (Hotstar) की लॉन्चिंग के साथ डिजिटल परिदृश्य में भी प्रगति की और आज यह देश का सबसे बड़ा ‘ओवर द टॉप’ (OTT) प्लेटफॉर्म है।

उदय शंकर ही अकेले ऐसे मीडिया विचारक (media thought leader) हैं, जिन्होंने दो प्रतिष्ठित खिताब ‘Impact Person of The Year (2010)’ और ‘Impact Person of the Decade (2014)’ जीते हैं। बता दें कि ‘Impact Person of The Year’ मार्केटिंग, एडवर्टाइजिंग और मीडिया के क्षेत्र में उल्लेखनीय काम करने वालों को दिया जाने वाला काफी प्रतिष्ठित और सम्मानजनक अवॉर्ड है।

स्टार से पहले, वे मीडिया कंटेंट एंड कम्युनिकेशंस सर्विसेज (Media Content and Communications Services) के सीईओ व एडिटर थे। वे ‘टीवी टुडे समूह’ में भी एडिटर व न्यूज डायरेक्टर के तौर पर अपना ‘करिश्मा’ दिखा चुके हैं। यहां उनके नेतृत्व में ही वर्ष 2000 में ‘आजतक’ और वर्ष 2003 में ‘हेडलाइंस टुडे’ का शुभारंभ हुआ था।

हालांकि, अभी यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि उनका अगला कदम क्या होगा लेकिन इंडस्ट्री से जुड़े दिग्गजों से बातचीत के आधार पर उनके अगले कदम को लेकर ये कयास लगाए जा रहे हैं। पहला कयास ये है कि वे रिलायंस के मीडिया एम्पायर का नेतृत्व कर सकते हैं। बता दें कि पिछले महीने तक रिलायंस के स्वामित्व वाली वायकॉम18 और सोनी पिक्चर्स के संभावित विलय की खबरें चर्चा में थीं और यह विलय सितंबर मध्य में होने की संभावना थी। लेकिन पिछले दिनों इस डील को रद्द कर दिया गया है। रणनीतिक पुनर्विचार के बाद कंपनी ने यह कदम उठाया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अब रिलायंस जियो ने ज्यादा से ज्यादा हिस्सेदारी को बनाए रखने और मैनेजमेंट पर नियंत्रण रखने का फैसला किया है। उदय शंकर के मर्डोक के लुपा सिस्टम्स (Lupa Systems) में शामिल होने की अटकलें भी तेज चल रही हैं। बता दें कि जेम्स मर्डोक (James Murdoch) का यह नया वेंचर 'जी एंटरटेनमेंट' में हिस्सेदारी खरीदने का इच्छुक था, जिसे आखिर में ‘Invesco Oppenheimer Developing Markets Fund’ ने 600 मिलियन डॉलर में खरीद ली थी।  

इसके अलावा यह भी कयास लगाए जा रहे हैं कि वह बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और देश के अन्य बड़े नेताओं के सहयोग से राजनीतिक पारी शुरू कर सकते हैं।

इसके अलावा उदय शंकर द्वारा पिछले छह महीनों में दो पेशकशों को ठुकरा दिया गया था। इनमें पहली यूएसए में कैलिफोर्निया स्थित डिज्नी के हेडक्वार्टर में ग्लोबल लीडरशिप की भूमिका थी। दूसरी न्यूयॉर्क स्थित न्यूजकॉर्प (NewsCorp) के हेडक्वार्टर में न्यूजकॉर्प के ग्लोबल  सीईओ की जिम्मेदारी थी। हमारी सहयोगी वेबसाइट एक्सचेंज4मीडिया को पता चला है कि उदय शंकर ने दोनों पदों की पेशकश को इसलिए ठुकरा दिया, क्योंकि कि वे यूएसए नहीं जाना चाहते थे और मुंबई और भारत में अपना केंद्र बनाना चाहते थे।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

सुप्रीम कोर्ट से तीन पत्रकारों को मिली राहत

सुप्रीम कोर्ट ने त्रिपुरा सांप्रदायिक हिंसा मामले पर तीन पत्रकारों को राहत दी है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 08 December, 2021
Last Modified:
Wednesday, 08 December, 2021
SC45

सुप्रीम कोर्ट ने त्रिपुरा सांप्रदायिक हिंसा मामले पर तीन पत्रकारों को राहत दी है। कोर्ट ने इनके खिलाफ दर्ज एफआईआर (FIR) पर कार्यवाही करने से रोक लगा दी है।

बता दें कि, ये याचिका मीडिया कंपनी थियोस कनेक्ट (जो डिजिटल न्यूज पोर्टल एचडब्ल्यू न्यूज नेटवर्क का संचालन करती है), इसकी दो पत्रकार समृद्धि सकुनिया और स्वर्णा झा और कंपनी की एसोसिएट एडिटर आरती घरगी ने दायर की है।

इन सभी ने त्रिपुरा में सांप्रदायिक हिंसा को लेकर की गई न्यूज रिपोर्ट पर त्रिपुरा पुलिस द्वारा दर्ज एफआईआर को चुनौती दी है। इस मामले में कोर्ट ने त्रिपुरा पुलिस को नोटिस जारी किया है।  

याचिकाकर्ताओं ने पुलिस कार्रवाई को यह कहते हुए चुनौती दी कि वे हिंसा के पीड़ितों द्वारा दिए गए बयानों के आधार पर तथ्यों की केवल जमीनी रिपोर्टिंग कर रहे थे। याचिका में कहा गया है कि एफआईआर ‘प्रेस को प्रताड़ित’ करने के समान है।  इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने वकीलों, पत्रकारों और एक्टिविस्ट को आंतकवाद निरोधी कानून UAPA के तहत FIR पर अंतरिम संरक्षण दे दिया था। 

वहीं, त्रिपुरा पुलिस ने एफआइआर दर्ज करते हुए आरोप लगाया कि पत्रकारों की खबरों ने समुदायों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा दिया। साथ ही सांप्रदायिक हिंसा के बारे में निराधार खबर प्रकाशित करके सांप्रदायिक नफरत फैलाई।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

Star Sports को अलविदा कहकर Viacom18 में इस बड़े पद से जुड़े सिद्धार्थ शर्मा

वायकॉम18 से पहले शर्मा ‘स्टार स्पोर्ट्स’ में सीनियर वाइस प्रेजिडेंट और स्पोर्ट्स कंटेंट हेड के तौर पर अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 07 December, 2021
Last Modified:
Tuesday, 07 December, 2021
Siddharth Sharma

मीडिया नेटवर्क ‘वायकॉम18’ (Viacom18) ने सिद्धार्थ शर्मा को एग्जिक्यूटिव वाइस प्रेजिडेंट (स्पोर्ट्स) के पद पर नियुक्त किया है। सिद्धार्थ शर्मा के लिंक्डइन प्रोफाइल के अनुसार, ‘वायकॉम18’ से पहले वह ‘स्टार स्पोर्ट्स’ में सीनियर वाइस प्रेजिडेंट और स्पोर्ट्स कंटेंट हेड के तौर पर अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे।

‘स्टार स्पोर्ट्स’ में सिद्धार्थ शर्मा ने करीब साढ़े आठ साल तक अपनी पारी खेली। उन्होंने इस नेटवर्क में वर्ष 2013 में बतौर असिस्टेंट वाइस प्रेजिडेंट (स्पोर्ट्स कंटेंट) जॉइन किया था। वर्ष 2015 में उन्हें वाइस प्रेजिडेंट-हेड ऑफ कबड्डी (कंटेंट और प्रॉडक्शन) के पद पर प्रमोट किया गया था।

अपनी नई नियुक्ति के बारे में सिद्धार्थ शर्मा ने लिंक्डइन पर लिखा है, ‘स्टार स्पोर्ट्स में मैंने अपनी करीब साढ़े आठ साल पुरानी पारी को विराम दे दिया है। यहां अपने मार्गदर्शकों, सहयोगियों और टीम के अन्य सदस्यों को मैं धन्यवाद देता हूं, जिन्होंने मेरे काम को अच्छा बनाने में काफी योगदान दिया है।’

बता दें कि सिद्धार्थ शर्मा को पत्रकारिता के क्षेत्र में काम करने का भी नौ साल से ज्यादा का अनुभव है। पूर्व में वह ‘एबीपी न्यूज’ और ‘जी न्यूज’ में अपनी जिम्मेदारी निभा चुके हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

Times Bridge में विरल जानी का कद बढ़ा, अब मिली यह जिम्मेदारी

इस पदोन्नति से पहले विरल जानी कंपनी में फरवरी 2018 से सीनियर वाइस प्रेजिडेंट (Investment Operations) के तौर पर अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 07 December, 2021
Last Modified:
Tuesday, 07 December, 2021
Viral Jani

‘द टाइम्स ग्रुप’(The Times Group) की स्ट्रैटेजिक, ग्लोबल इन्वेस्टमेंट और पार्टनरशिप शाखा ‘टाइम्स ब्रिज’ (Times Bridge) ने विरल जानी को एग्जिक्यूटिव वाइस प्रेजिडेंट और कंट्री हेड (इंडिया) के पद पर प्रमोट किया है। विरल जानी ने फरवरी 2018 में इस कंपनी को जॉइन किया था। इससे पहले वह यहां पर सीनियर वाइस प्रेजिडेंट (Investment Operations) के तौर पर अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे।

वह मुंबई से अपना कामकाज देखते हैं और देश भर में फैली साझेदार कंपनियों के इनोवेटिव नेटवर्क के माध्यम से भारत में टाइम्स ब्रिज के बढ़ते निवेश पोर्टफोलियो की सफलता के लिए अपनी भूमिका निभा रहे हैं। ‘टाइम्स ब्रिज’ के पोर्टफोलियो में Uber, Airbnb, Coursera, Houzz, MUBI, Thrive, Vice, Business Insider और The Weather Channel आदि शामिल हैं।

जानी को मीडिया और टेक्नोलॉजी में काम करने का करीब दो दशक का अनुभव है। कंज्यूमर टेक, टेलीविज़न ब्रॉडकास्टिंग, डिजिटल, सोशल मीडिया और मीडिया प्लानिंग में कई चुनौतीपूर्ण प्रोजेक्ट्स में उनकी अहम भूमिका रही है।

‘टाइम्स ब्रिज’ से पहले जानी भारत में ‘ट्विटर‘ की शुरुआती लीडरशिप टीम का हिस्सा थे। इस भूमिका में उन्होंने पूरे भारत में ‘ट्विटर‘ के लिए स्ट्रैटेजिक और मीडिया पार्टनरशिप का नेतृत्व किया। उन्होंने भारत में ट्विटर के लिए वीडियो और सामग्री मुद्रीकरण (content monetisation) सहित कई नई पहलों/उत्पादों को लॉन्च करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

अपने करियर के शुरुआती दिनों में वह भारत में ‘एनडीटीवी‘, ‘डिज्नी‘, ‘वायकॉम‘, ‘टाइम्स टेलिविजन‘ और ‘ग्रुपएम‘ जैसे प्रमुख मीडिया हाउसेज की लॉन्चिंग और ग्रोथ से जुड़े हुए थे।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

इस कंपनी में 900 एम्प्लॉयीज की छंटनी, CEO ने इस तरह सुनाया ‘फरमान’

अमेरिका स्थित डिजिटल फर्स्ट होमओनरशिप कंपनी Better.com के सीईओ विशाल गर्ग ने कथित तौर पर जूम कॉल के जरिए अपनी कंपनी के लगभग 9% एम्प्लॉयीज को बाहर का रास्ता दिखा दिया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 06 December, 2021
Last Modified:
Monday, 06 December, 2021
layoff

अमेरिका की एक डिजिटल फर्स्ट घरेलू स्वामित्व वाली कंपनी Better.com के सीईओ विशाल गर्ग ने कथित तौर पर जूम कॉल (Zoom call) के जरिये अपनी कंपनी के लगभग 9 प्रतिशत एम्प्लॉयीज को बाहर का रास्ता दिखा दिया है। कंपनी ने यह कैंची अमेरिका और भारत में अपने एम्प्लॉयीज पर चलायी है, जिसके तहत करीब 900 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला गया है। 

‘सीएनएन बिजनेस’ (CNN Business) की एक रिपोर्ट के मुताबिक, विशाल ने बुधवार को हुई इस जूम कॉल के दौरान कर्मचारियों से कहा, ‘अगर आप इस कॉल से जुड़े हैं, तो आप उस बदकिस्मत ग्रुप के सदस्य हैं, जिसकी छंटनी की जा रही है। आपकी सेवाएं तत्काल प्रभाव से समाप्त की जा रही हैं।’

ढाई मिनट की इस जूम कॉल से जुड़ा एक वीडियो इंटरनेट पर काफी बड़ी संख्या में शेयर किया जा रहा है। जूम कॉल पर गर्ग ने कहा, ‘मैं आपके पास कोई अच्छी खबर लेकर नहीं आया हूं। जैसा कि आप जानते हैं कि मार्केट बदल चुकी है और हमें जीवित रहने के लिए इसके साथ ही आगे बढ़ना होगा। उम्मीद करता हूं कि हम अपने मिशन को आगे ले जा सकें। यह ऐसी खबर नहीं है, जिसे आप सुनना चाहें। लेकिन आखिरकार यह मेरा फैसला था और मैं चाहता था कि आप सब मेरी बात सुनें। यह वास्तव में बहुत ही मुश्किल भरा निर्णय है। मेरे करियर में यह दूसरी बार है जब मैं ऐसा कर रहा हूं और मैं ऐसा नहीं करना चाहता हूं। पिछली बार जब मैंने ऐसा किया था, तब मैं रोया था। इस बार, मुझे और मजबूत होना है। हम कई कारणों को देखते हुए कंपनी के लगभग 15 प्रतिशत एम्प्लॉयीज की छंटनी कर रहे थे, जिनमें बाजार, दक्षता और प्रदर्शन और उत्पादकता शामिल है, लेकिन अब नौ प्रतिशत की छंटनी की जा रही है।’ 

इस कॉल पर एक कर्मचारी को रोते हुए और यह कहते सुना जा सकता है, ‘हे भगवान! यह सच नहीं है… मुझे इस पर विश्वास नहीं हो रहा है।’ बता दें कि  कंपनी 15 प्रतिशत स्टाफ की छंटनी कर रही थी, लेकिन बाद में कंपनी ने स्पष्ट किया कि यह संख्या नौ प्रतिशत है।

विशाल गर्ग ने 2016 में Better.com को शुरू किया था। विशाल ने कहा कि अमेरिका में निकाल गए कर्मचारियों को 4 हफ्तों का सेवरेंस, एक महीने के पूरे बेनेफिट और दो महीनों का कवर-अप मिलेगा, जिसके लिए हम प्रीमियम का भुगतान करेंगे। उन्होंने कहा कि कर्मचारियों को बेनेफिट से जुड़े डिटेल को लेकर HR की तरफ से मेल किया जाएगा।

विशाल गर्ग, One Zero Capital नाम की एक इनवेस्टमेंट होल्डिंग कंपनी के फाउंडिंग पार्टनर भी हैं। न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन की पढ़ाई करने वाले विशाल गर्ग ने 21 साल की उम्र में मॉर्गन स्टैनली के एनालिस्ट प्रोग्राम को छोड़कर प्राइवेट स्टूडेंट लेंडर MyRichUncle को शुरू किया था। यह कंपनी 2005 में स्टॉक एक्सचेंज में लिस्ट हुई और बाद में इसे मेरिल लिंच ने खरीद लिया, जिसे बाद में बैंक ऑफ अमेरिका ने अधिग्रहण कर लिया।

यहां देखें वीडियो:

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

उदय शंकर ने Lupa India में हासिल की बड़ी हिस्सेदारी: रिपोर्ट्स

मीडिया, एजुकेशन और हेल्थकेयर पर केंद्रित इन्वेस्टमेंट कंपनी ल्यूपा इंडिया की स्थापना 21 सेंचुरी फॉक्स के पूर्व चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर जेम्स मर्डोक ने की है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 06 December, 2021
Last Modified:
Monday, 06 December, 2021
Uday Shankar

‘स्टार इंडिया’ (Star India) के पूर्व चेयरमैन और ‘द वॉल्ट डिज्नी कंपनी, एशिया पैसिफिक’ (The Walt Disney Company, Asia Pacific) के पूर्व प्रेजिडेंट उदय शंकर के बारे में खबर है कि उन्होंने इन्वेस्ट कंपनी ‘ल्यूपा इंडिया’ (Lupa India) में 51 प्रतिशत की हिस्सेदारी हासिल कर ली है।

बता दें कि ‘ल्यूपा सिस्टम्स’ (Lupa Systems) एक प्राइवेट होल्डिंग कंपनी है, जिसकी स्थापना वर्ष 2019 में ‘21st Century Fox‘,‘Sky plc‘ और ‘STAR‘ के पूर्व सीईओ जेम्स मर्डोक ने की थी। इस कंपनी का न्यूयॉर्क और मुंबई में ऑफिस है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, जेम्स मर्डोक ने ल्यूपा के लिए पहले ही इन्वेस्टमेंट प्रोफेशनल्स की एक टीम बना ली है और माना जाता है कि इनमें से ज्यादातर प्रोफेशनल्स उदय शंकर के पूर्व सहयोगी हैं। इस साल की शुरुआत में ‘ल्यूपा सिस्टम्स’ के सीईओ जेम्स मर्डोक और उदय शंकर ने नए वेंचर के साथ टेक्नोलॉजी और मीडिया सेक्टर में नए तरह के प्रयोग करने की घोषणा की थी।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

CNN ने अपने प्राइम टाइम एंकर को इस वजह से दिखाया बाहर का रास्ता

अंतरराष्ट्रीय न्यूज चैनल ‘सीएनएन’ (CNN) ने सबसे अधिक देखे जाने वाले प्राइम टाइम शो का संचालन करने वाले एंकर क्रिस कुओमो को शनिवार को बर्खास्त कर दिया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 06 December, 2021
Last Modified:
Monday, 06 December, 2021
Chris-Cuomo5454

अंतरराष्ट्रीय न्यूज चैनल ‘सीएनएन’ (CNN) ने सबसे अधिक देखे जाने वाले प्राइम टाइम शो का संचालन करने वाले एंकर क्रिस कुओमो को शनिवार को बर्खास्त कर दिया है। न्यूयॉर्क के पूर्व गवर्नर और यौन उत्पीड़न के आरोपी भाई एंड्रयू केुओमो की मदद करने की जानकारी सामने आने के बाद सीएनएन ने यह फैसला किया।

एंकर ने मई में स्वीकार किया था कि उन्होंने अपने भाई को जनसंपर्क के नजरिए से आरोपों को संभालने की सलाह देने के लिए केबल न्यूज नेटवर्क के कुछ नियमों को तोड़ा था।

बता दें कि पिछले वर्ष एक महिला ने 63 वर्षीय एंड्रयू कुओमो पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था, जिसके बाद 11 महिलाओं ने एंड्रयू पर आरोप लगाए। यौन दुराचार के कई आरोपों के बाद एंड्रयू कुओमो को अगस्त में गवर्नर के रूप में पद छोड़ने के लिए मजबूर किया गया था। उन्होंने किसी भी तरह की गड़बड़ी से इनकार किया है।

सीएनएन ने शनिवार को एक बयान में कहा कि क्रिस कुओमो को इस सप्ताह की शुरुआत में निलंबित कर दिया गया था, उनके भाई के बचाव में उनके शामिल होने के बारे में सामने आई नई जानकारी का और मूल्यांकन लंबित है। हमने समीक्षा करने के लिए एक सम्मानित कानूनी फर्म को बरकरार रखा है और उन्हें तुरंत प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। नेटवर्क ने नई जानकारी के बारे में विवरण नहीं दिया।

51 वर्षीय कुओमो ने ट्विटर पर एक बयान में कहा कि वह निराश हैं। उन्होंने कहा कि वह सीएनएन में अपना समय इस तरह से समाप्त नहीं करना चाहता थे, लेकिन यह पहले ही बता चुका हूं कि मैंने अपने भाई की मदद क्यों और कैसे की।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

Star Sports में वैभव गोयल का कद बढ़ा, मिली यह जिम्मेदारी

‘स्टार स्पोर्ट्स‘ से पहले वैभव गोयल तीन साल से ज्यादा समय तक ‘ग्रुपएम’ (GroupM) इंडिया में प्लानिंग मैनेजर के तौर पर अपनी जिम्मेदारी संभाल चुके हैं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 06 December, 2021
Last Modified:
Monday, 06 December, 2021
Vaibhav Goyal

‘डिज्नी‘ (Disney) के स्वामित्व वाले ‘स्टार इंडिया’ (Star India) ने वैभव गोयल को प्रमोट किया है। उन्हें अब ‘स्टार स्पोर्ट्स‘(Star Sports) में सीनियर वाइस प्रेजिडेंट (Ad Sales) की जिम्मेदारी सौंपी गई है। बता दें कि वैभव गोयल इससे पहले करीब साढ़े छह साल से ‘स्टार स्पोर्ट्स‘ में वाइस प्रेजिडेंट (Ad Sales) की जिम्मेदारी निभा रहे थे।   

वैभव गोयल ने ‘स्टार स्पोर्ट्स नेटवर्क्स‘ में बतौर असिस्टेंट मैनेजर जॉइन किया था। जुलाई 2003 में उन्हें असिस्टेंट वाइस प्रेजिडेंट (Ad Sales) नामित किया गया था। ‘स्टार स्पोर्ट्स‘ से पहले वैभव गोयल तीन साल से ज्यादा समय तक ‘ग्रुपएम’ (GroupM) इंडिया में प्लानिंग मैनेजर के तौर पर अपनी जिम्मेदारी संभाल चुके हैं।

वैभव गोयल ने ग्वालियर में MITS से इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है। इसके अलावा उन्होंने ‘जमनालाल बजाज इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज’ से एमबीए किया है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

Outlook Magazine को बाय बोलकर वरिष्ठ पत्रकार भावना विज ने अब इस दिशा में बढ़ाए कदम

आउटलुक मैगजीन के अलावा विज पूर्व में द पॉयनियर, द इकनॉमिक टाइम्स, द इंडियन एक्सप्रेस और इंडिया टुडे के साथ काम कर चुकी हैं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 04 December, 2021
Last Modified:
Saturday, 04 December, 2021
Bhavna Vij

वरिष्ठ पत्रकार भावना विज ने नई दिशा में कदम बढ़ाते हुए ब्रिटिश उच्चायोग का रुख किया है। उन्होंने यहां पर बतौर सीनियर पॉलिटिकल इकनॉमी एडवाइजर के रूप में जॉइन किया है। इस बात की घोषणा विज ने खुद एक ट्वीट में की है।

अपने ट्वीट में भावना विज ने लिखा है, ‘नई शुरुआत! आउटलुक मैगजीन में पॉलिटिकल एडवाइजर से ब्रिटिश उच्चायोग में वरिष्ठ राजनीतिक अर्थव्यवस्था सलाहकार की रोमांचक नई भूमिका तक...।’

बता दें कि भावना विज इससे पहले ‘आउटलुक’ मैगजीन में बतौर पॉलिटिकल एडिटर अपनी जिम्मेदारी निभा रही थीं। वर्ष 2016 से यहां पर कार्यरत विज ने हाल ही में यहां से अलविदा कह दिया था।

अपने तीन दशक लंबे करियर में विज ने क्राइम व हेल्थ आदि बीट के अलावा पीएमओ ऑफिस से लेकर गृह मंत्रालय, रेलवे मंत्रालय, नागरिक उड्डयन मंत्रालय और डिफेंस मंत्रालय जैसे प्रमुख मंत्रालयों को कवर किया है।

विज ने पत्रकारिता के क्षेत्र में अपने करियर की शुरुआत ‘द पॉयनियर’ (The Pioneer) से की थी। इसके अलावा पूर्व में वह ‘द इकनॉमिक टाइम्स’ (The Economic Times), ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ (The Indian Express) और ‘इंडिया टुडे’ (India Today) में भी अपनी जिम्मेदारी निभा चुकी हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

IPOY के मंच से केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भारतीय महिलाओं की प्रतिभा को कुछ यूं सराहा

‘इंपैक्‍ट पर्सन ऑफ द ईयर 2020’ अवॉर्ड समारोह की मुख्य अतिथि केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी थीं। इस मौके पर उनका भाषण छोटा मगर काफी सारगर्भित और प्रभावशाली था।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 04 December, 2021
Last Modified:
Saturday, 04 December, 2021
smriti54554

एक्सचेंज4मीडिया ग्रुप ने गुरुवार को ‘आईटीसी लिमिटेड’ (ITC Limited) के चेयरमैन और एमडी संजीव पुरी को को ‘इंपैक्‍ट पर्सन ऑफ द ईयर 2020’ (IMPACT Person of the Year 2020) अवॉर्ड से सम्मानित किया। कार्यक्रम का आयोजन दिल्ली के ‘द इंपीरियल’ होटल में किया गया।  इस कार्यक्रम में मीडिया, मार्केटिंग और एडवर्टाइजिंग के क्षेत्र  के कुछ सबसे बड़े नाम शामिल थे। समारोह की मुख्य अतिथि केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी थीं।

इस मौके पर स्मृति ईऱानी का भाषण छोटा मगर काफी सारगर्भित और प्रभावशाली था। उन्होंने प्रत्येक भारतीय की उपलब्धियों खासकर महिला लीडर्स के जज्बे को सलाम करते हुए इस अवॉर्ड के लिए नॉमिनेट हुईं ‘Nykaa’ की सीईओ और फाउंडर फाल्गुनी नायर और ‘Publicis Groupe’ की सीईओ (साउथ एशिया) अनुप्रिया आचार्य की काफी सराहना की। उन्होंने कहा कि महिलाओं में काफी क्षमता है और उन्हें सफल होने अथवा अपने काम को पहचान दिलाने के लिए किसी के अहसान की जरूरत नहीं है।

उन्होंने कहा, ‘हम समय की रेत में अपनी स्थिति की तलाश करती हैं, इसलिए नहीं कि हम दोयम दर्जे की हैं। हम ऐसा इसलिए करती हैं क्योंकि हम सम्मानित महिलाएं हैं। हम प्रोफेशनल रूप से काम करने वाली महिलाएं हैं और हम ऐसी महिलाएं हैं जो हर एक से अलग हैं। इसलिए अगले साल जब महिला नॉमिनीज का मूल्यांकन किया जाए तो इस बात का भी ध्यान रखा जाए, क्योंकि आज इस प्रतिष्ठित अवॉर्ड के लिए नामित हुईं ये दोनों महिलाएं नारी शक्ति का प्रतिबिंब हैं।’

यह कहते हुए कि वह पुरुष विरोधी मानसिकता का हिस्सा नहीं हैं, ईरानी ने कहा, ‘मेरा मानना है कि हमारा राष्ट्र इसलिए समृद्ध है, क्योंकि हमारी (महिलाओं की) भी इसमें भागीदारी है। हम इस साल आजादी की 75वीं वर्षगांठ मना रहे हैं और दुनिया में हम ही अकेले ऐसे राष्ट्र हैं, जिन्होंने तमाम लड़ाइयां लड़ीं, लेकिन एक स्वतंत्र लोकतंत्र के लिए अहिंसा के रास्ते पर चले। लेकिन इन सारी लड़ाइयों में उस लड़ाई को भी कभी नहीं भूला जा सकता है, जिसमें एक महिला ने अपनी पीठ पर बच्चे को बांधा और घोड़े पर चढ़कर अपने दुश्मनों के खिलाफ तलवार उठाई, क्योंकि उसके पीछे कई पुरुष थे। लोककथाओं और इतिहास में, उन्हें झांसी की रानी के रूप में जाना जाता है, लेकिन भारत को ऐसी तमाम महिलाओं के होने का सौभाग्य प्राप्त है और यह ऐसा होना जारी है। आज के समारोह में इसे देखा भी जा सकता है, जिसमें भी महिलाओं ने अपनी दमदार मौजूदगी दर्ज कराई है।’

प्रतिष्ठित पुरस्कार के लिए नामांकित व्यक्तियों की प्रशंसा करते हुए स्मृति ईरानी ने कहा, ‘जैसा कि हम सब यहां ‘इम्पैक्ट पर्सन ऑफ द ईयर’ का जश्न मनाने के लिए एकत्रित हुए हैं। ऐसे समय में जब दुनिया एक महामारी से घिरी हुई है, मैं हर एक भारतीय नागरिकों की हिम्मत का जश्न मनाना चाहती हूं।

उन्होंने कहा, ‘जब महामारी ने भारत के दरवाजे पर दस्तक दी, तो पूरी दुनिया ने इस बात पर चिंता जाहिर की, यहां के अरबों लोग कैसे सर्वाइव करेंगे। ग्लोबल कारपोरेशंस व बड़े-बड़े सीईओ ने अपने सहयोगियों के साथ इस बात पर चिंता व्यक्त की कि हम अपने गरीबों को कैसे खिलाएंगे। लेकिन हम अपने करदाताओं का धन्यवाद देते हैं, जिनके पैसे की बदौलत ही सरकार 19 महीने तक लिए 800 मिलियन लोगों को मुफ्त भोजन उपलब्ध कराने में सक्षम रही। अब तक 125 करोड़ टीके वितरित किए गए। शुरुआत में हमने पीपीई किट को आयात किया, लेकिन अब हम पीपीई किट के मामले में दुनिया के दूसरे सबसे बड़े निर्यातक बन गए हैं और अब 11,000 से ज्यादा कारखानों से इसका प्रॉडक्शन हो रहा है। महामारी के तीन महीने के भीतर ही हम ऐसा कर पाने में सफल रहे। यह हर भारतीय की कोशिशों का ही नतीजा है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

TV रेटिंग्स सिस्टम को अधिक पारदर्शी बनाने के लिए संसदीय समिति ने दिए ये सुझाव

कांग्रेस सांसद शशि थरूर की अध्यक्षता वाली सूचना एवं प्रौद्योगिकी संबंधी संसद की स्थायी समिति ने पिछले दिनों उठे टीआरपी से छेड़छाड़ के मुद्दे की ओर भी सूचना प्रसारण मंत्रालय का ध्यान आकर्षित किया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 03 December, 2021
Last Modified:
Friday, 03 December, 2021
TV Viewership

कांग्रेस सांसद शशि थरूर की अध्यक्षता वाली सूचना एवं प्रौद्योगिकी संबंधी संसद की स्थायी समिति ने सूचना प्रसारण मंत्रालय (MIB) से सिफारिश की है कि बार्क इंडिया (BARC India) के तहत वर्तमान में टीवी व्युअरशिप मापने के लिए जो सिस्टम बना हुआ है, वह शहरी क्षेत्रों (urban areas) की ओर भारी पक्षपातपूर्ण है। इसके साथ ही समिति ने सूचना प्रसारण मंत्रालय से शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों को समान रूप से महत्व देकर व्युअरशिप मीजरमेंट सिस्टम को और अधिक पारदर्शी बनाने के लिए भी कहा है।

'Ethical Standards in Media Coverage' शीर्षक से लिखी अपनी रिपोर्ट में कमेटी ने लिखा है, ‘कमेटी ने पाया है कि मौजूदा टीआरपी सिस्टम शहरी क्षेत्रों के प्रति अति पक्षपातपूर्ण है यानी इसमें शहरी क्षेत्रों को ज्यादा महत्व दिया जाता है। ऐसे में सैंपल साइज बढ़ाते हुए ग्रामीणों और शहरी क्षेत्रों को समान रूप से महत्व देकर मीजरमेंट सिस्टम में बदलाव किए जाने की जरूरत है।’

यह उल्लेख करते हुए कि बार्क इंडिया का सैंपल साइज 44000 घर (households) हैं, कमेटी ने सुझाव दिया कि डिजिटल युग में आमतौर  पर जनगणना आधारित मीजरमेंट होता है। कम सैंपल साइज की समस्या को दूर करने के लिए कमेटी ने सुझाव दिया कि घरों में लगे सेट टॉप बॉक्स द्वारा रिटर्न पाथ डाटा (RPD) को काम में लाया जा सकता है। गूगल अथवा फेसबुक इसे पूरे बोर्ड में मापते हैं  और वहां सभी को मापा जाता है न कि केवल एक सैंपल। हालांकि, टेलीविजन पर, चुनौतियां हैं, क्योंकि इस तरह की रेटिंग के लिए रिटर्न-पाथ डाटा और सेट-टॉप बॉक्स की आवश्यकता होती है। प्रत्येक सेट-टॉप बॉक्स में उपयोग को मापना होता है, लेकिन इसमें प्राइवेसी के मुद्दे होंगे। यह इसे एक जटिल मामला बनाता है, लेकिन विश्व स्तर पर कुछ पायलट परियोजनाएं संचालित की जा रही हैं।

कमेटी ने इस तथ्य की ओर भी ध्यान खींचा है कि भारत में ‘टाटा स्काई’ और ‘एयरटेल’ जैसे कुछ ऑपरेटर्स अपने सेट टॉप बॉक्स के द्वारा इसे मापते हैं, लेकिन वे अपने डाटा को बार्क के साथ शेयर नहीं करते हैं। हालांकि, करीब 80 प्रतिशत परिवारों में सेट टॉप बॉक्स का इस्तेमाल होता है।  

कमेटी ने यह भी कहा कि वह टीआरपी मापने की मौजूदा व्यवस्था से संतुष्ट नहीं है। इसके साथ ही कमेटी ने पिछले दिनों उठे टीआरपी से छेड़छाड़ के मुद्दे की ओर भी सूचना प्रसारण मंत्रालय का ध्यान आकर्षित किया है। कमेटी के अनुसार, ‘इसने वर्तमान प्रणाली की निष्पक्षता, सटीकता, प्रभावशीलता और पारदर्शिता पर एक बड़ा प्रश्न चिह्न लगाया है और स्पष्ट रूप से इंगित करता है कि कैसे कुछ चैनल्स द्वारा बार्क अधिकारियों के साथ मिलकर रेटिंग्स में हेरफेर की जा सकती है।’

प्रणाली को अधिक पारदर्शी और जवाबदेह बनाने के लिए समिति ने सुझाव दिया कि मंत्रालय को टीआरपी प्रणाली में अपनाई गई वैश्विक प्रथाओं (global practices) का अध्ययन करना चाहिए, जिसमें सेट टॉप बॉक्स में गोपनीयता के मुद्दों का समाधान खोजने की संभावना भी शामिल है।

इसकके साथ ही सूचना प्रसारण मंत्रालय से चार सदस्यीय समिति की रिपोर्ट पेश करने के लिए भी कहा गया है, जो मौजूदा टीवी रेटिंग गाइडलाइंस की समीक्षा के लिए बनाई गई थी। कमेटी के अनुसार, ‘सरकार ने बार्क की जांच के लिए एक समिति का गठन किया है। कमेटी चाहती है कि सरकार द्वारा गठित बार्क जांच समिति की रिपोर्ट को जांच के लिए उनके सामने रखा जाना चाहिए।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए