मोदी सरकार (2.0) के एक साल पर MIB के कामकाज की रूपरेखा

पीएम मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल का एक साल पूरा कर लिया है। पिछले 12 महीनों पर नजर डालें तो केंद्र में प्रशासन के लिए पूरे साल घटनाक्रम की स्थिति बनी रही

Last Modified:
Wednesday, 03 June, 2020
Prakash Javadekar

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल (2.0) का एक साल पूरा कर लिया है। पिछले 12 महीनों पर नजर डालें तो केंद्र में प्रशासन के लिए पूरे साल घटनाक्रम की स्थिति बनी रही और तेजी से बदलते मीडिया परिदृश्य को देखते हुए सूचना प्रसारण मंत्रालय कुछ नई घोषणाओं और कुछ अन्य आवश्यक कदम उठाने में व्यस्त रहा।

प्रकाश जावड़ेकर के नेतृत्व में, एमआईबी ने न केवल विभाग के संचालन को गति दी है, बल्कि कुछ महत्वपूर्ण अनुसमर्थन भी सौंपे हैं, जो आने वाले समय में मीडिया और मनोरंजन उद्योग पर महत्वपूर्ण प्रभाव डालेंगे।

हालांकि मंत्रालय द्वारा शुरू की गई नई पहल, जैसे फैक्ट चेक सेल अधिक विश्वसनीयता के साथ शुरू किया गया है। वहीं जैसे ही ओटीटी क्षेत्र के सेल्फ रेगुलेशन के लिए सुझाव दिए गए, इस क्षेत्र में इसे लेकर एक हलचल शुरू हो गई।

पिछले साल जुलाई में, प्रकाश जावड़ेकर ने सरकार के पहले 50 दिनों का रिपोर्ट कार्ड पेश किया, तो कहा था कि सभी के लिए 'सुधार, कल्याण और न्याय के लिए संकल्प' सरकार की प्रेरणा शक्ति रहा है। इसके साथ ही उन्होंने स्टार्ट-अप के लिए एक अलग टीवी चैनल लाने का विशेष उल्लेख किया था।

इस साल फरवरी में, सूचना प्रसारण मंत्री ने लोकसभा को बताया कि उनका मंत्रालय ब्रॉडकास्ट सिस्टम को मजबूती प्रदान करने के लिए तमाम उपायों पर काम कर रहा था। इसके लिए नीतियों और कार्यक्रमों की लगातार समीक्षा की जा रही थी। साथ ही बिजनेस को और आसान बनाने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जा रहे थे।

आइए बीते वर्ष में एमआईबी द्वारा जारी की गई प्रमुख घोषणाओं और प्रस्तावों पर एक नजर डालें-

सरकारी हस्तक्षेप के बिना सेल्फ रेगुलेशन मॉडल

साल के शुरुआत में ही सूचना-प्रसारण मंत्रालय ओटीटी इंडस्ट्री के लिए एक स्पष्ट जनादेश लेकर आया था, जिसमें बताया गया था कि ओटीटी महत्वपूर्ण प्रगति कर रहा है। मंत्रालय की हर बैठक में ओटीटी इंडस्ट्री को लेकर चर्चा भी की गई, जिसमें हर बार जावड़ेकर ने जोर देकर कहा कि सरकार वैधानिक निकाय (statutory body) स्थापित करने के बजाय सेल्फ रेगुलेशन के पक्ष में है।

समय गुजरता रहा और मंत्रालय हर बार स्टेकहोल्डर्स को यह आश्वासन देती रही कि सरकार यह सुनिश्चित करने का प्रयास कर रही है कि सभी ओटीटी प्लेयर्स सरकार के हस्तक्षेप के बिना ही सेल्फ रेगुलेशन मॉडल लागू कर एक साथ आगे आएं।

इस वर्ष, केंद्रीय मंत्री के साथ-साथ अन्य मंत्रालय के अधिकारियों ने स्टेकहोल्डर्स से मुलाकात की, जिसमें नेटफ्लिक्स (Netflix),  अमेजॉन प्राइम (Amazon Prime),  जी5 (Zee5), एमएक्स प्लेयर (MX Player), एएलटीबालाजी (ALTBalaji), हॉटस्टार (Hotstar), वूट (Voot) और जियो (Jio) शामिल थे। यह चर्चा इस बात पर केंद्रित थी कि ओटीटी प्लेटफार्म्स पर कंटेंट के लिए सेल्फ रेगुलेशन कैसे लागू की जाए, ताकि यह व्यापक रूप से स्वीकार्य हो सके और आसानी से लागू की जा सके।  

इस साल मार्च में, ‘सूचना-प्रसारण मंत्रालय’ (MIB) ने ‘ओवर द टॉप’ कंटेंट प्लेयर्स से किसी निर्णायक इकाई का गठन करने और अगले सौ दिनों के अंदर आचार संहिता को अंतिम रूप देने के लिए कहा था।

जावड़ेकर द्वारा जारी किए किसी वैधानिक इकाई की जबरन न थोपे जाने और आपस में मिलकर सेल्फ रेगुलेशन के नियमों का मुद्दा लगातार उठाया जा रहा है। ऐसे में अधिकतर ओटीटी प्लेयर्स इस मामले में एमआईबी के साथ खड़े हुए हैं।

 फेक न्यूज से मुकाबला

फेक न्यूज के खतरे से लड़ने के लिए, प्रेस इंफॉर्मेशन ब्यूरो (PIB) ने नवंबर 2019 में एक फैक्ट-चेकिंग यूनिट की स्थापना की, जहां पाठक अपने द्वारा पढ़ी, देखी या सुनी गई खबरों के सत्यापन के लिए विभाग से सीधे संपर्क कर सकते हैं।

इसी तरह की तर्ज पर, अप्रैल 2020 में, MIB ने COVID-19 से संबंधित सभी अपडेट शेयर करने के लिए एक ट्विटर हैंडल लॉन्च किया। #IndiaFightsCorona को @CovidnewsbyMIB हैंडल के तहत लॉन्च किया गया है। इस ट्विटर हैंडल को लॉन्च किए जाने के पीछे का उद्देश्य सरकार और आमजन के बीच उचित संचार सुनिश्चित करना और गलत सूचना के प्रसार को रोकना था। महामारी से जुड़ी सरकार द्वारा जारी की गई सभी प्रामाणिक सूचनाएं इसी ट्विटर हैंडल से साझा किया जा रही हैं।

कंटें रेगुलेशन, गाइडलाइंस, एडवाइजरीज और नई पॉलिसीज

पिछले एक साल के दौरान मंत्रालय ने एडवाइजरी और गाइडलाइंस के रूप में तमाम कंटेंट रेगुलेशंस जारी किए हैं। भारतीय भाषाओं को बढ़ावा देने के लिए, जून 2019 में, MIB ने सभी निजी टेलीविजन चैनलों को भाषा के कार्यक्रमों के नीचे क्रेडिट जारी करने के लिए एक एडवाइजरी जारी की, जिसके मुताबिक चैनलों को क्रेडिट और टाइटल्स जैसी बातें हिंदी के साथ-साथ क्षेत्रीय भाषाओं में भी प्रदर्शित करने की बात कही गई थी, ताकि दर्शकों के बीच भारतीय भाषाओं का प्रचार-प्रसार को बढ़ सके। साथ ही यह भी कहा गया था कि यदि टीवी चैनल चाहें तो भारतीय भाषाओं के साथ अंग्रेजी में भी क्रेडिट और टाइटल्स दे सकते हैं, वे ऐसा करने के लिए स्वतंत्र हैं।

सितंबर 2019 में, सूचना-प्रसारण मंत्रालय ने बधिर लोगों तक टीवी कार्यक्रमों की पहुंच बढ़ाने   लिए निजी टीवी चैनलों के लिए एडवाइजरी जारी की थी, जिसमें मंत्रालय ने सभी निजी न्यूज चैनलों के लिए दिन में कम से कम एक कार्यक्रम को सांकेतिक भाषा (sign-language) में प्रसारित करने को कहा था साइन लैंग्वेज ब्रॉडकास्ट और सबटाइटल के साथ करना अनिवार्य कर दिया, जबकि अन्य चैनलों को इसी तरह की विशेषताओं के साथ कम से कम एक शो एक हफ्ते में करने को कहा गया था। इस योजना को पांच साल के चरणों में किया जाना था। अब इसकी समीक्षा 2021 में होगी।

विभिन्न अवसरों पर, सूचना-प्रसारण मंत्रालय ने निजी सैटेलाइट टीवी चैनलों के प्रसारण सामग्री के संबंध में केबल टेलीविजन नेटवर्क (विनियमन) अधिनियम, 1995 तहत निर्धारित कार्यक्रम और विज्ञापन संहिताओं में निहित प्रावधानों एवं नियमों का पालन करने की बात कही। फिर चाहे दिल्ली के दंगों के दौरान हो या फिर चल रहे कोरोनावायरस महामारी के कवरेज के दौरान हो।

सूचना प्रसारण मंत्रालय ने हाल ही में ‘ब्यूरो ऑफ आउटरीच एंड कम्युनिकेशन’ (BOC) के तहत सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर विज्ञापन देने के लिए पॉलिसी गाइडलाइंस का ड्राफ्ट जारी किया था, जिसमें बताया गया था कि जिस सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स के महीने में 25 मिलियन यूनिक यूजर्स होंगे, वे सरकारी विज्ञापन प्राप्त करने के पात्र होंगे।

नई पॉलिसी के अनुसार, ब्यूरो ऑफ आउटरीच भी नीलामी प्रक्रिया का हिस्सा होगा जो सरकारी संदेशों के लिए इन्वेंट्री अथवा स्पेस को खरीदने को कवर करेगा।  

मई 2020 में, जावड़ेकर ने टीवी चैनलों के साथ उन्हें लाने के लिए सामुदायिक रेडियो पर 7 मिनट से 12 मिनट तक विज्ञापनों के लिए हवा का समय बढ़ाने का प्रस्ताव रखा।

केंद्रीय सूचना-प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने सामुदायिक रेडियो को टीवी चैनलों के बराबर लाने के लिए विज्ञापनों हेतु एयर टाइम मौजूदा 7 मिनट प्रति घंटा से बढ़ाकर 12 मिनट प्रति घंटा करने का प्रस्ताव रखा था।

लाइसेंसिंग ऑपरेशन में आसानी

2019 में, MIB ने 151 MSO (मल्टी-सिस्टम ऑपरेटर) को लाइसेंस प्रदान किया और 31 दिसंबर 2019 तक रजिस्टर्ड MSO की कुल संख्या 1,616 थी। 26 नवंबर से 31 दिसंबर, 2019 के बीच इस लिस्ट में 10 MSO जोड़े गए थे। 31 जनवरी 2020 तक इस सूची में और इजाफा हो गया और मंत्रालय के पास जनवरी तक 1,630 MSO रजिस्टर्ड हैं।  

हालांकि इस साल फरवरी में, सूचना-प्रसारण मंत्री ने कहा कि ब्रॉडकास्टर्स और केबल ऑपरेटर्स से   10 प्रतिशत लाइसेंस शुल्क लगाने का कोई प्रस्ताव नहीं मिला था।

कुछ घोषणाएं की जा चुकी हैं और अगले कुछ महीनों में MIB की ओर से कई और किए जाने की उम्मीद है। अगले 12 महीनों में एमआईबी क्या कुछ नया करता है, अब देखना होगा।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

रोडरेज में लाठी-डंडों से पीटकर बाइक सवार पत्रकार की हत्या

पुलिस ने इस मामले में तीन युवकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 27 January, 2022
Last Modified:
Thursday, 27 January, 2022
Attack

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में एक पत्रकार की पीट-पीटकर हत्या करने का मामला सामने आया है। बताया जाता है कि गाड़ी ओवरटेक करने को लेकर सुधीर सैनी नामक पत्रकार का हत्यारोपितों से विवाद हुआ था। इसके बाद आरोपितों ने पहले सुधीर सैनी के साथ गाली-गलौज की और फिर लाठी-डंडों से इतना पीटा कि उनकी जान चली गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस ने इस मामले में दो आरोपितों जहांगीर और फरमान को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने तीसरे आरोपित की तलाश शुरू कर दी है।  

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, ‘शाह टाइम्स’ अखबार में संवाददाता सुधीर सैनी बुधवार को सहारनपुर के थाना कोतवाली देहात के चिलकाना रोड पर अपनी मोटरसाइकिल से जा रहे थे। इस दौरान ओवरटेक करने को लेकर कार सवार तीन युवकों के साथ उनका विवाद हो गया। विवाद बढ़ने के बाद कार सवार तीनों युवकों ने पहले सुधीर सैनी के साथ जमकर गाली-गलौज की और फिर लाठी-डंडों से पीट-पीटकर अधमरा कर दिया। गंभीर हालत में सुधीर को अस्पताल ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

पत्रकार की हत्या का मामला सामने आते ही पुलिस तुरंत सक्रिय हो गई और प्रत्यक्षदर्शियों की ओर से दी गई जानकारी के आधार पर जहांगीर पुत्र इकराम, फरमान पुत्र इरफान निवासी धोलाहेडी थाना चिलकाना और मन्नान पुत्र फय्याज निवासी सिकरी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। सहारनपुर के एसएसपी आकाश तोमर ने ट्वीट करके बताया कि इस मामले में पुलिस ने जहांगीर और फरमान को गिरफ्तार कर कार बरामद कर ली है।

आकाश तोमर के अनुसार, यह मामला सीधे तौर पर रोडरेज का है, इसमें किसी भी तरह की पुरानी रंजिश का मामला सामने नहीं आया है, फिर भी अगर परिवार आशंका जताता है तो उस एंगल से भी जांच की जाएगी। उन्होंने कहा कि जल्द ही तीसरे आरोपित को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, सुधीर सैनी का परिवार मूलत कांधला (शामली) का रहने वाला है। करीब 20 साल पहले सुधीर का परिवार चिलकाना कस्बे में रहने लगा था। सुधीर की चार बहने हैं, जिनकी शादियां हो चुकी हैं। सुधीर भी शादीशुदा थे, लेकिन उनके कोई संतान नहीं है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

गणतंत्र दिवस समारोह में India Today मैगजीन से BSF की टीम ने यूं दिखाई ‘नारी शक्ति’ की झलक

बीएसएफ महिला टीम की कप्तान हिमांशु सिरोही का कहना है कि मैगजीन के कवर पेज पर महिला सशक्तिकरण को दिखाया गया था और इसलिए इसे इस उपलब्धि का हिस्सा बनाने का फैसला किया गया।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 27 January, 2022
Last Modified:
Thursday, 27 January, 2022
Republic Day

भारत ने बुधवार को अपना 73 वां गणतंत्र दिवस धूमधाम से मनाया। इस मौके पर दिल्ली में राजपथ पर आयोजित इस साल की परेड में 16 मार्चिंग दल, 17 सैन्य बैंड और विभिन्न राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों, विभागों और सशस्त्र बलों की 25 झांकियां शामिल रहीं।

इस दौरान गणतंत्र दिवस परेड में ‘सीमा सुरक्षा बल’ (BSF) की सीमा भवानी मोटरसाइकिल टीम ने लोगों को काफी प्रभावित किया। इंस्पेक्टर हिमांशु सिरोही के नेतृत्व में इस टीम की सभी महिला सदस्यों ने अपनी मोटरसाइकिलों पर डबल-बैक राइडिंग जैसे तमाम हैरतअंगेज स्टंट किए।

इस दौरान टीम की एक सदस्य अनीता भारती मोटरसाइकिल पर कुर्सी पर सहजता से बैठी हुईं ‘इंडिया टुडे’ (India Today) मैगजीन पढ़ती हुई दिखाई दीं। इस मैगजीन के कवर पेज पर ‘महिला शक्ति’ (Women Power) को दर्शाया गया था।

इस बारे में अनीता भारती का कहना था, ‘इस तरह मैगजीन पढ़ने का निर्णय हमारी टीम की कप्तान हिमांशु सिरोही ने लिया। हम इस बार कुछ नया करने की कोशिश कर रहे थे।’ वहीं, हिमांशु सिरोही का कहना था, ‘बाइक चलाते हुए स्टंट करना आसान नहीं है। हम महिला सशक्तिकरण को चित्रित करना चाहते थे। हम दिखाना चाहते थे कि हम बाइक चलाते हैं और इंडिया टुडे मैगजीन भी पढ़ते हैं। दरअसल, मैगजीन ने अपने कवर पेज पर महिला सशक्तिकरण (Women Power) को प्रदर्शित किया है और इसलिए मैंने फैसला किया कि हमारी टीम को मैगजीन के इस एडिशन को हाथ में पकड़कर प्रदर्शित करना चाहिए।’

गृह मंत्रालय ने ट्विटर पर इस स्टंट का एक वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो में लगभग बीस सेकेंड तक अनीता भारती ‘इंडिया टुडे’ मैगजीन पढ़ते हुए अपनी बाइक की सवारी करती हुई दिखाई दे रही हैं। बता दें कि सीमा भवानी टीम का गठन वर्ष 2016 में किया गया था और वर्ष 2018 में पहली बार गणतंत्र दिवस परेड में भाग लिया था। प्रतिष्ठित परेड में टीम की यह दूसरी मौजूदगी थी।

‘इंडिया टुडे’ समूह ने भी सोशल मीडिया पर इससे जुड़ा वीडियो शेयर किया है, जिसे आप यहां देख सकते हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

पद्मश्री अवॉर्ड के लिए चुने गए दिग्गज पत्रकार जगजीत सिंह दर्दी

जगजीत सिंह को यह अवॉर्ड राष्ट्रीय एकता, सांप्रदायिक सद्भाव, मीडिया के क्षेत्र में अनुकरणीय योगदान, शिक्षा और पंजाबी भाषा, संस्कृति और विरासत को बढ़ावा देने में उनकी समर्पित सेवाओं के लिए दिया जाएगा।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 27 January, 2022
Last Modified:
Thursday, 27 January, 2022
Jagjit Singh Dardi

दिग्गज पत्रकार, शिक्षाविद् और पंजाबी अखबार ‘चढ़दीकला’ (Chardikala) के एडिटर-इन-चीफ जगजीत सिंह दर्दी को पद्मश्री अवॉर्ड से सम्मानित किया जाएगा। ‘श्री गुरु हरकिशन पब्लिक स्कूल्स’ और ‘चढ़दीकला टाइम्स टीवी’ (Chardilkla Time TV) के चेयरमैन जगजीत सिंह को यह अवॉर्ड राष्ट्रीय एकता, सांप्रदायिक सद्भाव, मीडिया के क्षेत्र में अनुकरणीय योगदान, शिक्षा और पंजाबी भाषा, संस्कृति और विरासत को बढ़ावा देने में उनकी समर्पित सेवाओं के लिए दिया जाएगा।

दर्दी ने अपने करियर की शुरुआत अपनी किशोरावस्था में पंजाबी भाषी राज्य के निर्माण के लिए की थी। 22 जून 1960 को पंजाबी सूबा आंदोलन में भाग लेने के कारण उन्हें 12 वर्ष की आयु में दुखनिवारन साहिब से गिरफ्तार कर लिया गया था।

जगजीत सिंह की असाधारण सेवाओं के कारण उन्हें वर्ष 1998 में तत्कालीन राष्ट्रपति केआर नारायण द्वारा शिरोमणि पातरकर पुरस्कार और 1992 में पंजाब सरकार द्वारा शिरोमणि साहित्यकार पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है। इसके अलावा उन्हें 1997 में यूएसए और कनाडा द्वारा 1989 में विश्व पंजाबी सम्मेलनों द्वारा सम्मानित किया गया है।

बता दें कि पद्म अवॉर्ड भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान हैं, जिन्हें हर वर्ष गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर घोषित किया जाता है। पद्म अवॉर्ड पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्मश्री तीन श्रेणियों में दिए जाते हैं। विभिन्न क्षेत्रों में बेहतरीन कार्य करने वाले देश की महान विभूतियों को इन अवॉर्ड्स से नवाजा जाता है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

Viacom18 में 40% हिस्सेदारी खरीदेंगे उदय शंकर और जेम्स मर्डोक: रिपोर्ट्स

मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि उदय शंकर कंपनी के संचालन में अहम भूमिका निभाएंगे।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 26 January, 2022
Last Modified:
Wednesday, 26 January, 2022
Uday Shankar James Murdoch

‘स्टार’ (Star) व ‘डिज्नी इंडिया’ (Disney India) के पूर्व चेयरमैन उदय शंकर और रूपर्ट मर्डोक के बेटे व मीडिया दिग्गज जेम्स मर्डोक (James Murdoch) के बारे में खबर है कि वे ‘वायकॉम18’ (Viacom18) में करीब 40 प्रतिशत हिस्सेदारी (stake) खरीदने की योजना बना रहे हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उदय शंकर और जेम्स मर्डोक कथित रूप से ‘वायकॉम18’ में 12 हजार करोड़ रुपये का निवेश कर रहे हैं। इनमें से अधिकांश निवेश प्राइमरी इंफ्यूजन फंड्स (primary infusion of funds) के द्वारा किया जाएगा।

मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि उदय शंकर कंपनी के संचालन में अहम भूमिका निभाएंगे।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

पत्रकार के इस सवाल पर अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन को आया गुस्सा, ऑन कैमरा दी गाली!

बाइडेन की यह वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है और मीडिया के प्रति इस तरह के व्यवहार को लेकर उनकी आलोचना हो रही है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 25 January, 2022
Last Modified:
Tuesday, 25 January, 2022
Joe Biden

पत्रकारों के तीखे सवालों से नेताओं का असहज होना लाजमी है, लेकिन महंगाई के मुद्दे पर किए गए सवाल पर अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन (Joe Biden) इतना भड़क गए कि उन्होंने पत्रकार के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते हुए कथित रूप से गाली तक दे डाली।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, सोमवार को व्हाइट हाउस में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद सभी पत्रकार लौट रहे थे। इसी दौरान ‘फॉक्स न्यूज’ (Fox News) के संवाददाता पीटर डूसी (Peter Doocy) ने बाइडेन से महंगाई पर एक सवाल पूछ लिया। इसका जवाब राष्ट्रपति ने कटाक्ष में दिया और उसके बाद कथित रूप से दबी आवाज में ऑन कैमरा डूसी को ‘स्टुपिड सन ऑफ अ बिच’ कह दिया। बाइडेन की यह वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है और मीडिया के प्रति इस तरह के व्यवहार को लेकर उनकी आलोचना हो रही है।

दरअसल, डूसी ने बाइडेन से पूछ लिया था कि क्या आप महंगाई पर सवाल लेंगे? क्या आपको लगता है कि मध्यावधि चुनावों से पहले महंगाई आप के लिए राजनीतिक रूप से एक बोझ है? इस पर बाइडेन ने जवाब दिया, ’नहीं, ये एक फायदे की चीज है और ज्यादा महंगाई होनी चाहिए।’ इसके बाद दबी जुबान में उन्होंने डूसी को गाली दे डाली। हालांकि, बाद में पत्रकार ने बताया कि राष्‍ट्रपति को जब उनकी गलती का अहसास हुआ तो उन्‍होंने उससे माफी भी मांग ली।

न्यूज एजेंसी ‘एएनआई’ (ANI) ने सी-स्पान के सौजन्य से इसका वीडियो जारी किया है। इस वीडियो को आप यहां देख सकते हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

GroupM में अमीन लखानी का कद बढ़ा, अब मिली ये जिम्मेदारी

जानी-मानी मीडिया एडवर्टाइजिंग कंपनी ‘ग्रुपएम’ ने पार्थसारथी मंडायम को अपने साउथ एशिया ऑपरेशंस ‘ग्रुपएम साउथ एशिया’ का चीफ स्ट्रैटेजी ऑफिसर नियुक्त किया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 25 January, 2022
Last Modified:
Tuesday, 25 January, 2022
Amin Lakhani

जानी-मानी मीडिया एडवर्टाइजिंग कंपनी ‘ग्रुपएम’ (GroupM) ने पार्थसारथी मंडायम (Parthasarathy Mandayam) को अपने साउथ एशिया ऑपरेशंस ‘ग्रुपएम साउथ एशिया’ (GroupM, South Asia) का चीफ स्ट्रैटेजी ऑफिसर नियुक्त किया है। वह ग्रुपएम साउथ एशिया के सीईओ प्रशांत कुमार को रिपोर्ट करेंगे। इसके साथ ही अमीन लखानी (Amin Lakhani) को ‘माइंडशेयर’ (Mindshare) साउथ एशिया के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर के पद पर प्रमोट किया है। पहले इसका नेतृत्व पार्थसारथी मंडायम कर रहे थे।

एडवर्टाइजिंग और कम्युनिकेशन इंडस्ट्री में 25 साल से ज्यादा के अनुभव के साथ पार्थसारथी ने माइंडशेयर में डाटा, एनालिटिक्स, स्ट्र्रैटेजी, क्लाइंट लीडरशिप और बिजनेस यूनिट लीडरशिप में तमाम अहम भूमिकाओं को निभाया है। उन्होंने माइंडशेयर में वर्ष 2009 में अपने करियर की शुरुआत बतौर हेड (बिजनेस प्लानिंग) के साथ की थी। इसके बाद उन्हें नॉर्थ, ईस्ट और साउथ के ऑफिसों का नेतृत्व करने की जिम्मेदारी दी गई। इसके बाद उन्हें चीफ प्रॉडक्ट ऑफिसर पद पर नियुक्त किया गया।

ग्रुपएम साउथ एशिया में चीफ स्ट्रैटेजी ऑफिसर नियुक्त किए जाने पर पार्थसारथी का कहना है, ‘मैं ग्रुपएम में इस तरह के अद्भुत सफर के लिए बेहद आभारी हूं। मुझे लगता है कि यहां सीखना और बदलाव हमेशा से मेरे करियर का हिस्सा रहा है। जैसे-जैसे हमारी पेशकश अधिक विशिष्ट होती जाती हैं, हमें विकास और विशेषज्ञता दोनों का पूरा लाभ प्राप्त करने के लिए आंतरिक, डब्ल्यूपीपी और बाहरी दोनों के विभिन्न प्लेयर्स यों के बीच तालमेल और विशेषज्ञता का निर्बाध प्रवाह सुनिश्चित करने की आवश्यकता होती है। मैं अपने क्लाइंट्स और आंतरिक हितधारकों (internal stakeholders) के लिए नए जमाने के डाटा, टेक्नोलॉजी, कंसल्टिंग, प्रॉडक्ट्स और पेशकशों के बीच महत्वपूर्ण तालमेल लाने के लिए विकास और परिवर्तन एजेंडे के साथ आगे बढ़ना जारी रखूंगा।’

वहीं, माइंडशेयर, साउथ एशिया के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर अमीन लखानी का कहना है, ‘हम इस मौजूदा गति का निर्माण करना चाहते हैं और अपने क्लाइंट्स के लिए माइंडशेयर की 'गुड ग्रोथ' को बढ़ावा देना चाहते हैं। नए जमाने के डाटा, टेक्नोलॉजी, क्रिएटिविटी, रिसर्च, कंसल्टिंग और प्रॉडक्ट्स इस सफर में प्रमुख भूमिका निभाएंगे। हमारी इंडस्ट्री ने हमेशा बदलाव देखा है। हम इसके केंद्र में रहे हैं और वर्तमान में दुनिया भी इसे देख रही है। इसलिए मार्केटर्स के रूप में हमें अपने क्लाइंट्स और ब्रैंड्स के लिए कार्यभार संभालने और इस यात्रा का नेतृत्व करने की आवश्यकता है। मैं अपनी यात्रा के इस अगले चरण के लिए उत्साहित हूं और मुझ पर विश्वास जताने के लिए मैं टीम को धन्यवाद देना चाहता हूं।’

लखानी को माइंडशेयर और ग्रुपएम में विभिन्न भूमिकाओं समेत 20 से अधिक वर्षों का अनुभव है। माइंडशेयर साउथ एशिया में चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर के रूप में अपनी पिछली भूमिका में उन्होंने प्रमुख ग्राहक संबंधों को मजबूत करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इससे पहले माइंडशेयर फुलक्रम साउथ एशिया के लीडर के रूप में अपने करियर में, उन्होंने भारत में यूनिलीवर के डिजिटल व्यवसाय के एकीकरण का सफलतापूर्वक नेतृत्व किया है। उनके पास मीडिया, मार्केटिंग-प्रॉडक्ट मैनेजमेंट का काफी अनुभव है। वह BARC और AAAI जैसे इंडस्ट्री निकायों में सक्रिय भूमिका निभाते हैं। लखानी अब ग्रुपएम साउथ एशिया के सीईओ प्रशांत कुमार और माइंडशेयर एशिया पैसिफिक की सीईओ हेलेन मैक्रे (Helen McRae) को रिपोर्ट करेंगे।

माइंडशेयर एशिया पैसिफिक की सीईओ हेलेन मैक्रे का कहना है, ‘पार्थसारथी और अमीन दोनों प्रतिष्ठित लीडर्स हैं, जो पिछले कुछ वर्षों में माइंडशेयर ग्रुप में ऊर्जा, कौशल और नेतृत्व लाए हैं। इन दोनों ने अपनी अमूल्य विशेषज्ञता के साथ हमारे क्लाइंट्स और आंतरिक टीमों के लिए अत्यधिक मूल्य लाने वाली एजेंसी का नेतृत्व किया है। पिछले कुछ वर्षों में माइंडशेयर की उपलब्धियां और क्लाइंट की सफलता की यात्रा इन दोनों के व्यावसायिक कौशल को बताती है। मैं उन दोनों को बधाई देता हूं और उन्हें उनकी नई भूमिकाओं के लिए शुभकामनाएं देती हूं।’

वहीं, ग्रुपएम साउथ एशिया के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर प्रशांत कुमार का कहना है, ‘एजेंसी को मजबूत करने में दोनों का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। मुझे उनकी विशेषज्ञता पर पूरा भरोसा है और मैं जानता हूं कि पार्थसारथी और अमीन दोनों अपनी भविष्य की भूमिकाओं में इनोवेशन के साथ ही आगे बदलाव करना जारी रखेंगे। मैं उन्हें शुभकामनाएं देता हूं।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

प्रेस क्लब के बाहर दिनदहाड़े गोली मारकर पत्रकार की हत्या

लाहौर प्रेस क्लब के बाहर अपनी कार पार्क कर रहे थे पत्रकार हसनैन शाह, बाइक सवार दो बदमाशों ने दिया वारदात को अंजाम

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 25 January, 2022
Last Modified:
Tuesday, 25 January, 2022
Murder

पाकिस्तान के लाहौर में प्रेस क्लब के बाहर गोली मारकर वरिष्ठ पत्रकार की हत्या का मामला सामने आया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, यह वारदात सोमवार को उस समय हुई जब ‘कैपिटल टीवी’ (Capital TV) के पत्रकार हसनैन शाह प्रेस क्लब के बाहर अपनी कार पार्क कर रहे थे। उसी दौरान बाइक पर आए दो अज्ञात बंदूकधारियों ने उन्हें गोली मार दी। हसनैन शाह की मौके पर ही मौत हो गई। वारदात को अंजाम देने के बाद हमलावर मौके से फरार हो गए।

बताया जाता है कि करीब 40 वर्षीय हसनैन शाह ‘कैपिटल टीवी’ में क्राइम रिपोर्टर थे और इसके साथ ही वह लाहौर प्रेस क्लब के सदस्य भी थे। हसनैन शाह के परिवार में पत्नी और दो बच्चे हैं।

पाकिस्तान के विभिन्न पत्रकार संगठनों ने शाह की हत्या की निंदा की है और उनके हत्यारों को गिरफ्तार करने की मांग की है। ‘काउंसिल ऑफ पाकिस्तान न्यूजपेपर्स एडिटर्स’ (CPNE) ने दिनदहाड़े पत्रकार की हत्या की निंदा की है। ‘CPNE’ का कहना है कि इस दुखद घटना ने देश में पत्रकारों की सुरक्षा पर सवाल खड़े कर दिए हैं।

‘पाकिस्तान फेडरल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट’ (PFJU) ने भी घटना की निंदा करते हुए कहा है कि प्रांतीय सरकार शहर में कानून व्यवस्था बनाए रखने में विफल रही है। ‘PFJU’ ने अधिकारियों से संदिग्धों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने की भी मांग की है। ‘लाहौर इकनॉमिक जर्नलिस्ट एसोसिएशन‘ और ‘लाहौर प्रेस क्लब’ ने भी घटना की कड़ी निंदा की है। वहीं, पुलिस अधिकारियों का कहना है कि मामले की जांच शुरू कर हत्यारोपितों की तलाश शुरू कर दी गई है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

गणतंत्र दिवस समारोह के प्रसारण के लिए दूरदर्शन ने इस साल किए ये खास इंतजाम

देश की आजादी के 75वें वर्ष के उपलक्ष्य में इस वर्ष दूरदर्शन द्वारा गणतंत्र दिवस समारोह का प्रसारण अनूठी विशेषताओं से लैस होने जा रहा है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 25 January, 2022
Last Modified:
Tuesday, 25 January, 2022
Doordarshan

देश की आजादी के 75वें वर्ष के उपलक्ष्य में इस वर्ष दूरदर्शन द्वारा गणतंत्र दिवस समारोह का प्रसारण अनूठी विशेषताओं से लैस होने जा रहा है। बताया जा रहा है कि इस साल गणतंत्र दिवस समारोह पर दूरदर्शन की कवरेज न केवल बड़े पैमाने पर होगी, बल्कि विशेषताओं में भी अद्वितीय होगी।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, दूरदर्शन ने इस संबंध में भारतीय वायुसेना के साथ करार किया है। इसके तहत 75 विमानों के विशाल बेड़े के विभिन्न करतबों के सीधे प्रसारण के साथ-साथ फ्लाई पास्ट के नए पहलुओं को भी प्रदर्शित किया जाएगा। इसके लिए विशेष रूप से व्यवस्थाएं की गई हैं। इस साल गणतंत्र समारोह की कवरेज के लिए 59 कैमरे और 160 से अधिक कर्मी राष्ट्रपति भवन से लेकर राजपथ होते हुए इंडिया गेट पर राष्ट्रीय युद्ध स्मारक तक तैनात किए गए हैं।  

लोगों को पूरे समारोह का विहंगम दृश्य देने के लिए दो 360 डिग्री कैमरे लगाए गए हैं। इनमें एक राजपथ पर और दूसरा इंडिया गेट के शीर्ष पर लगाया गया है। इन दोनों कैमरों से डीडी नेशनल यूट्यूब चैनल पर दो अलग-अलग लाइव-स्ट्रीम किए जाएंगे। मार्चिंग टुकड़ियों और फ्लाई-पास्ट की हर मिनट की आवाजाही को दर्शकों तक पहुंचाने के लिए दूरदर्शन ने पांच जिमी जिब्स, 100X और 86XTally लेंस का कॉनम्बिनेशन, 15 से ज्यादा वाइड एंगल लेंस, एबैकस लेंस लगाए गए हैं। एक कैमरा 120 फीट हाइड्रोलिक क्रेन पर लगाया गया है।

पूरी कवरेज को इंटीग्रेटिड बनाने के लिए सभी प्रमुख स्थानों को डार्क फाइबर ऑप्टिकल कनेक्टिविटी, सैटेलाइट कनेक्टिविटी और बैकपैक कनेक्टिविटी के माध्यम से जोड़ा गया है। जमीन से प्रभावी कवरेज सुनिश्चित करने के लिए, डीडी ने राजपथ पर एक अस्थायी प्रोडक्शन कंट्रोल रूम बनाया है।

बता दें कि 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस समारोह का सीधा प्रसारण देश भर में दूरदर्शन के सभी चैनल्स पर सुबह सवा नौ बजे से शुरू होगा और यह राजपथ पर होने वाले कार्यक्रमों के अंत तक किया जाएगा। यह सीधा प्रसारण डीडी नेशनल, डीडी न्यूज, यूट्यूब चैनल्स और न्यूजऑनएयर ऐप व वेबसाइट पर भी उपलब्ध होगा।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

राष्ट्रीय सहारा में वरिष्ठ पत्रकार रमाकांत चंदन अब निभाएंगे ये बड़ी जिम्मेदारी

‘राष्ट्रीय सहारा’ के पटना संस्करण में बतौर स्थानीय संपादक अपनी जिम्मेदारी निभा रहे रमाकांत चंदन का यहां कार्यकाल पूरा हो गया है।

Last Modified:
Monday, 24 January, 2022
Ramakant Chandan

‘राष्ट्रीय सहारा’ के पटना संस्करण में बतौर स्थानीय संपादक अपनी जिम्मेदारी निभा रहे रमाकांत चंदन का यहां कार्यकाल पूरा हो गया है। संस्थान ने उनके बेहतर कार्य व सेवाओं को देखते हुए उन्हें अब सलाहकार संपादक के पद पर नई जिम्मेदारी दी है।

बिहार में लखीसराय जनपद के मूल निवासी रमाकांत चंदन ढाई दशक से अधिक समय से सक्रिय पत्रकारिता कर रहे हैं। रमाकांत ने अपने पत्रकारीय करियर की शुरुआत ‘सहारा मीडिया’ के साथ की थी। इसके पहले एमएससी करने के दौरान ही वे एनबीटी, दैनिक हिन्दुस्तान, सारिका और हंस पत्रिका समेत तमाम अखबारों के लिए लिखते थे। इसी दौरान 1986 में ‘सारिका’ में छपी कहानी ‘पापा गंदे हैं’ को लेकर तमाम सुर्खियां बटोरी थीं। इसके बाद स्वतंत्र पत्रकार के रूप में इनकी नियमित कविता, कहानी व रिपोतार्ज छपते थे।

वर्ष 1996 में ‘सहारा मीडिया’ के अखबार ‘हस्तक्षेप’ में बतौर रिपोर्टर नोएडा में जॉइन करने वाले रमाकांत करीब 25 वर्षों से ‘सहारा मीडिया’ का हिस्सा हैं। रमाकांत चंदन वर्ष 1998 में ‘राष्ट्रीय सहारा’ में प्रोविंशियल इंचार्ज बने। इसके बाद वर्ष 2005 में यूपी के गोरखपुर में ‘सहारा समय’ रीजनल चैनल में बतौर करेसपॉन्डेंट उन्होंने टीवी पत्रकारिता में पदार्पण किया। एक साल बाद यानी वर्ष 2006 में ‘राष्ट्रीय सहारा’ की पटना यूनिट में रिपोर्टिंग टीम का हिस्सा बने। 2012 में वह स्पेशल करेसपॉन्डेंट बने और फिर पटना में ब्यूरो इंचार्ज के रूप में कार्यभार संभाला। 

एक लेखक के रूप में रमांकांत चंदन की दो पुस्तकें हिंदी अकादमी दिल्ली से ‘नवान्न’ व राजभाषा बिहार से ‘दूसरा पक्ष’ प्रकाशित हो चुकी हैं। इसके लिए बिहार में इन्हें सम्मानित भी किया जा चुका है। नई जिम्मेदारी के लिए रमाकांत चंदन को समाचार4मीडिया.कॉम की ओर से बधाई और शुभकामनाएं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

सड़क दुर्घटना में वरिष्ठ पत्रकार की गई जान, CM ने जताया दुख

कन्नड़ दैनिक 'विजयवाणी' में काम करने वाले एक वरिष्ठ पत्रकार की रविवार दोपहर को सड़क दुर्घटना में मौत हो गई। 

Last Modified:
Monday, 24 January, 2022
road-accident57

कन्नड़ दैनिक 'विजयवाणी' में काम करने वाले एक वरिष्ठ पत्रकार की रविवार दोपहर को सड़क दुर्घटना में मौत हो गई।  घटना की शिकायत उल्सूर पुलिस स्टेशन में  दर्ज कर ली गई है।

पुलिस ने बताया कि 49 वर्षीय वरिष्ठ पत्रकार गंगाधर मूर्ति अपनी मोटरसाइकिल से कार्यालय जा रहे थे, जब यह हादसा हुआ। पुलिस ने बताया कि शहर के टाउन हॉल के पास पत्रकार के ऊपर एक ट्रक पलट गया।

उन्होंने कहा कि ट्रक चालक ने वाहन पर नियंत्रण खो दिया था और वह रोड डिवाइडर से जा टकराया। इसके बाद चालक भाग निकला। 

मूर्ति को विक्टोरिया अस्पताल ले जाया गया लेकिन उनकी जान नहीं बचाई जा सकी। वरिष्ठ पत्रकार के परिवार में उनकी पत्नी और दो बच्चे हैं। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने वरिष्ठ पत्रकार गंगाधर मूर्ति के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि यह वाकई हैरान कर देने वाली घटना है। भगवान गंगाधर मूर्ति की आत्मा को शांति प्रदान करें। इसके अलावा राज्य के गृहमंत्री और अन्य मंत्रियों ने मूर्ति के निधन पर शोक प्रकट किया है।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए