सूचना:
मीडिया जगत से जुड़े साथी हमें अपनी खबरें भेज सकते हैं। हम उनकी खबरों को उचित स्थान देंगे। आप हमें mail2s4m@gmail.com पर खबरें भेज सकते हैं।

चुनावी मतगणना पर MIB के इस आदेश से Zee News की प्लानिंग को लगा झटका

जनरल एंटरटेनमेंट चैनल्स पर मतगणना कवरेज की तैयारियों की रिपोर्ट्स सामने आने के बाद MIB ने जारी किया बयान

Last Modified:
Thursday, 23 May, 2019
MIB

लोकसभा चुनाव में मतगणना की कवरेज को लेकर सूचना-प्रसारण मंत्रालय (एमआईबी) ने एक बयान जारी कर दोहराया है कि यह कवरेज सिर्फ न्यूज चैनल्स पर की जा सकती है। इस तरह की रिपोर्ट्स मिलने के बाद कि हिंदी के जनरल एंटरटेनमेंट चैनल ‘जीटीवी’ (Zee TV) और हिंदी मूवी चैनल ‘जी ईटीसी’ (Zee ETC) भी चुनावी मतणना की तैयारी में हैं, मंत्रालय ने यह बयान जारी किया है।

मंत्रालय की ओर से 22 मई को जारी इस बयान में कहा गया है, ‘मंत्रालय द्वारा टीवी चैनल की अपलिंकिंग के लिए लाइसेंस सिर्फ दो कैटेगरी- नॉन न्यूज और करंट अफेयर्स और दूसरा न्यूज और करंट अफेयर्स कैटेगरी के तहत दिए जाते हैं। इसमें नॉन न्यूज और करंट अफेयर्स से तात्पर्य ऐसे टीवी चैनल से है, जिसके प्रोग्राम में न्यूज और करंट अफेयर्स का कंटेंट न हो। यानी नॉन न्यूज और करंट अफेयर्स चैनल्स के लिए अपने प्रोग्राम में न्यूज और करंट अफेयर्स का कंटेंट शामिल करना जरूरी नहीं है।’

इसके साथ ही चैनल की ओर से हिदायत दी गई है, ‘उपरोक्त गाइडलाइंस को देखते हुए सभी टीवी चैनल्स को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि इन गाइडलाइंस का किसी भी स्थिति में उल्लंघन न हो।’ गौरतलब है कि नॉन न्यूज कैटेगरी में आवेदन करते समय टीवी चैनल को ये अंडरटेकिंग देनी होती है कि यह पूरी तरह एंटरटेनमेंट चैनल है और इसके प्रोग्राम में न्यूज और करंट अफेयर्स का कंटेंट शामिल नहीं है। 

आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो करने के लिए यहां क्लिक कीजिए

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

CM अशोक गहलोत ने मुख्यधारा की मीडिया पर लगाए ये गंभीर आरोप

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को मुख्यधारा की मीडिया से नाराजगी व्यक्त की है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 06 December, 2022
Last Modified:
Tuesday, 06 December, 2022
AshokGehlot4548

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को मुख्यधारा की मीडिया से नाराजगी व्यक्त की है। उन्होंने मीडिया पर अपना फर्ज पूरा करने में विफल रहने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय मीडिया ने राहुल गांधी की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ का बहिष्कार किया है, क्योंकि संपादक और मालिक दबाव में हैं।

‘भारत जोड़ो यात्रा’ के दौरान संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा कि मीडिया लोकतंत्र के चौथे स्तंभ के रूप में अपना कर्तव्य निभाने में पूरी तरह से विफल रहा है। अगर वह अपना धर्म नहीं निभाता है, तो उसे इतिहास कभी माफ नहीं करेगा।

गहलोत ने कहा, ‘मेरा विशेष रूप से राष्ट्रीय मीडिया पर आरोप है कि उसने यात्रा को बहिष्कार कर रखा है।  उन्होंने कहा कि यहां बैठे पत्रकारों की कोई गलती नहीं है, ये तो अपना धर्म निभाते हैं लेकिन इनके मालिक और संपादक दबाव में हैं, जिन्होंने बहिष्कार किया है।

उन्होंने कहा कि क्या गजब की यात्रा है, जो सोशल मीडिया देखते हैं, वह गर्व करते हैं कि किस प्रकार से लाखों लोग जुड़ रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि मीडिया चौथा स्तंभ है, इसकी अहमियत है। राहुल गांधी की सकारात्मक यात्रा है.. किसी के प्रति कोई दुर्भावना नहीं है। वह सबको गले लगा रहे हैं। अब बताइये इस देश को और क्या चाहिए।

गहलोत ने मीडिया को चेतावनी दी कि यदि  ऐसी यात्रा को आप नहीं दिखायेंगे, तो आप अपना कर्तव्य पूरा नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि कान खोल कर सुन लीजिए, नेशनल मीडिया वाले भी और स्टेट मीडिया वाले भी। इतिहास आपको माफ नहीं करेगा।

उन्होंने आरोप लगाया कि मीडिया दबाव में है। उन्होंने सवाल किया कि पहले जब भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी की यात्रा निकली थी तो क्या पूरे देश के मीडिया ने उसे नहीं उठाया था।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मीडिया घरानों के भी 'हाईकमान' होते हैं और मीडिया के लोग भी तबादलों और पोस्टिंग से डरते हैं। उन्होंने कहा, ‘मुझे मालूम है आपका स्थानांतरण एवं पदस्थापना होती है। आप भी तबादला से घबरा जाते हैं। और तो और कोरोना वायरस महामारी के नाम पर तनख्वाह एक लाख से घटाकर 70 हजार, 30 हजार कर दी गई। मुझे मालूम है कि महामारी खत्म हो जाने के बाद तनख्वाह वापस नहीं बढ़ाई गयी।'

उन्होंने कहा, ‘इसलिए मैं कहना चाहूंगा कि आप अपने मालिक से कह दीजिए कि हम घबराने वाले नहीं है। राहुल गांधी का रास्ता सच्चाई का है। सत्य का रास्ता है। अहिंसा का रास्ता है। उनका कारवां चल पड़ा है।’

कांग्रेस महासचिव (संचार और मीडिया प्रभारी) जयराम रमेश ने मौके पर मौजूद पत्रकारों का बचाव करते हुए कहा कि उन्हें दोष नहीं दिया जाना चाहिए, क्योंकि वे तो अपना कर्तव्य निभा रहे हैं। उनके पास भी आलाकमान हैं। उनके आलाकमान के लिये यात्रा की कोई मांग नहीं है। लेकिन कुछ पत्रकार हैं, जो कन्याकुमारी से इस यात्रा को कवर कर रहे हैं। हमें उनके स्तर पर समर्थन और कवरेज मिल रहा है। रमेश ने कहा कि यह अलग बात है कि मुख्यधारा की मीडिया में खबरों का कवरेज उम्मीद के मुताबिक नहीं होता है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

e4m-DNPA वर्चुअल राउंडटेबल का दूसरा एडिशन नौ दिसंबर को, ये इंटरनेशनल स्पीकर्स होंगे शामिल

इन कॉन्फ्रेंसों से ही 20 जनवरी 2023 को नई दिल्ली में होने वाले e4m-DNPA डिजिटल मीडिया समिट एंड अवॉर्ड्स कार्यक्रम की आधारशिला रखी जाएगी

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 06 December, 2022
Last Modified:
Tuesday, 06 December, 2022
DNPA

वर्तमान दौर में इंटरनेट की उपलब्धता और पहुंच बढ़ने के साथ ही डिजिटल मीडिया का भी अभूतपूर्व विकास हो रहा है। ऐसे में डिजिटल मीडिया के सामने तमाम अवसर और चुनौतियां भी हैं। इन सबके बीच डिजिटल मीडिया के भविष्य पर चर्चा के लिए ‘एक्सचेंज4मीडिया’ और ‘डिजिटल न्यूज पब्लिशर्स एसोसिएशन’ (DNPA) द्वारा इंटरशनेशनल स्पीकर्स के साथ वर्चुअल राउंडटेबल कॉन्फ्रेंस (Virtual Roundtable Conferences) के दूसरे एडिशन का आयोजन किया जा रहा है। यह राउंडटेबल कॉन्फ्रेंस भारतीय समयानुसार नौ दिसंबर 2022 को शाम छह बजे से आयोजित की जाएगी।

e4m-DNPA डायलॉग्स के तहत होने वाली इस राउंडटेबल कॉन्फ्रेंस के दौरान ‘Decoding the Publisher- Platform Relationship’ विषय पर विशेषज्ञ अपने विचार रखेंगे। इन विषय विशेषज्ञों में विभिन्न देशों के विचारक, वरिष्ठ पत्रकार, पब्लिशर्स, टेक्नोलॉजी लीडर्स, लीगल प्रोफेशनल्स और अन्य स्टेकहोल्डर्स शामिल होंगे जो जर्नलिज्म बिजनेस के पुनर्निर्माण में न्यूज पब्लिशर्स और बड़े टेक्नोलॉजी प्लेटफॉर्म्स के बीच एक आदर्श संबंध बनाने में शामिल मुद्दों पर चर्चा करेंगे।

बता दें कि डीएनपीए (Digital News Publishers Association) प्रिंट व टेलीविजन के क्षेत्र में काम कर रही देश की शीर्ष मीडिया कंपनियों की डिजिटल विंग का प्रतिनिधित्व करता है।

दरअसल, पत्रकारिता की गुणवत्ता को बनाए रखने की दिशा में पब्लिशर्स अपने और ऑनलाइन प्लेटफॉर्म्स के बीच एक समान अवसर ( level playing field) की तलाश कर रहे हैं और उच्च गुणवत्ता वाली पत्रकारिता के संरक्षण के लिए अधिक टिकाऊ आधार तैयार करने का प्रयास कर रहे हैं। इन्हीं मुद्दों और इनके समाधानों को खोजने के उद्देश्य से इस तरह की राउंडटेबल कॉन्फ्रेंसों का आयोजन किया जा रहा है।

इस कड़ी में पहली वर्चुअल राउंडटेबल कॉन्फ्रेंस 25 नवंबर को हुई थी, जिसमें डिजिटल मीडिया के सामने आने वाली चुनौतियों पर विषय विशेषज्ञों ने अपने विचार रखे थे। इन सम्मेलनों से ही 20 जनवरी 2023 को नई दिल्ली में होने वाले e4m-DNPA डिजिटल मीडिया समिट एंड अवॉर्ड्स कार्यक्रम की आधारशिला रखी जाएगी

स्पीकर्स की सूची

1: Taylor Owen

Beaverbrook Chair of Media, Ethics and Communication, Max Bell School of Public Policy, McGill University

2: Dr Courtney Radsch

Fellow, UCLA Institute for Technology, Law and Policy

3: Paul Deegan

President and Chief Executive Officer, News Media Canada

इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर अपना रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

https://exchange4media.zoom.us/webinar/register/WN_nSt4lm3tRKSBNxMCcUFoJQ

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

ओपन ऑफर के बाद NDTV में अडानी समूह की अब इतनी हुई हिस्सेदारी

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के आंकड़ों के मुताबिक ओपन ऑफर को 53,27,989 इक्विटी शेयरों का सब्सक्रिप्शन मिला है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 05 December, 2022
Last Modified:
Monday, 05 December, 2022
ADANI

मीडिया फर्म ‘नई दिल्ली टेलीविजन लिमिटेड’ (NDTV) के अधिग्रहण की दिशा में अडानी समूह द्वारा लाए गए ओपन ऑफर के अंतिम दिन ‘एनडीटीवी’ के शेयर पांच प्रतिशत लोअर सर्किट पर ट्रेड हुए। ‘विश्वप्रधान कमर्शियल प्राइवेट लिमिटेडट (VCPL) के माध्यम से ‘एनडीटीवी’(NDTV) में 29.18 प्रतिशत के अपने पहले के अधिग्रहण के साथ अडानी समूह अब इस मीडिया कंपनी में 37.5 प्रतिशत हिस्सेदारी का मालिक हो गया है। दरअसल, सोमवार को समाप्त हुए ओपन ऑफर के बाद करीब 8.26 प्रतिशत हिस्सेदारी और अडानी ग्रुप को मिल गई है। 

बता दें कि ‘विश्वप्रधान कमर्शियल प्राइवेट लिमिटेडट ने ‘एएमजी मीडिया नेटवर्क्स‘ और ‘अडानी एंटरप्राइजेज‘ के साथ ‘एनडीटीवी‘ में अतिरिक्त 26 प्रतिशत हिस्सेदारी हासिल करने के लिए 22 नवंबर से पांच दिसंबर तक ओपन ऑफर लॉन्च किया था।

‘बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज’ (BSE) और ‘नेशनल स्टॉक एक्सचेंज’ (NSE) के आंकड़ों के अनुसार, यह ओपन ऑफर पूरी तरह सबस्क्राइब नहीं हुआ है। अडानी ने एनडीटीवी के लगभग 58 लाख इक्विटी शेयर हासिल किए, जो ओपन ऑफर के आधे भी नहीं थे।

‘बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज’ के आंकड़ों के अनुसार, सोमवार की शाम चार बजे तक ओपन ऑफर से 53,27,989 इक्विटी शेयरों का सबस्क्रिप्शन मिला, जो 1.67 करोड़ से अधिक इक्विटी शेयरों के कुल प्रस्तावित आकार का 31.79 प्रतिशत है।

‘बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज’ में एनडीटीवी का शेयर 4.95 प्रतिशत की गिरावट के साथ 393.90 रुपये पर बंद हुआ। कारोबारी घंटों के दौरान, स्टॉक मार्केट पांच प्रतिशत लोअर सर्किट के साथ 393.70 रुपये पर देखा गया। इसका मार्केट कैप करीब 2,540 करोड़ रुपये है। पिछले हफ्ते शुक्रवार को एनडीटीवी के शेयर 414.40 रुपये प्रति शेयर पर बंद हुए।

सोमवार को ‘एनडीटीवी’ का शेयर मोटे तौर पर 413 रुपये पर खुला। हालांकि, शुरुआती कारोबारी घंटों में गति पकड़कर 424 रुपये पर पहुंच गया, लेकिन जल्द ही बीएसई पर निचले सर्किट में गिरावट दर्ज की गई।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

‘सेल्फ रेगुलेटरी बॉडी’ के रूप में इस एसोसिएशन के रजिस्ट्रेशन को MIB ने दी मंजूरी

इस बारे में केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्रालय की ओर से एक आधिकारिक बयान भी जारी किया गया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 05 December, 2022
Last Modified:
Monday, 05 December, 2022
MIB

केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्रालय (MIB) ने एक बड़ा फैसला लेते हुए स्व-नियामक निकाय (सेल्फ रेगुलेटरी बॉडी) के रूप में ‘प्रिंट एंड डिजिटल मीडिया एसोसिएशन’ (PADMA) के पंजीकरण को अपनी मंजूरी दे दी है। इस निकाय को न्यूज और कंरेंट अफेयर्स कंटेंट के पब्लिशर्स के लिए लेवल-II एसआरबी (स्व नियामक निकाय) के रूप में पंजीकृत किया गया है। इस बारे में एमआईबी की ओर से एक आधिकारिक बयान भी जारी किया गया है।

बता दें कि एक स्व नियामक निकाय के रूप में ‘PADMA’ के पैनल में चेयरपर्सन के रूप में हाई कोर्ट के पूर्व जज जस्टिस मूल चंद गर्ग शामिल हैं। उनके अलावा इस पैनल में वरिष्ठ नौकरशाह और पत्रकार अशोक कुमार टंडन व वरिष्ठ पत्रकार और लेखक मनोज कुमार मिश्रा को बतौर सदस्य शामिल किया गया है।

एमआईबी का कहना है कि ‘PADMA’ नियमों के तहत आचार संहिता से संबंधित शिकायतों के निवारण के उद्देश्य से नियम 12 के उप-नियम (4) और (5) में निर्धारित कार्य करेगी। निकाय के रूप में यह भी सुनिश्चित करेगी कि सदस्य पब्लिशर्स प्रावधानों का पालन करने के लिए सहमत हैं, जिनमें नियम 18 के तहत आवश्यक जानकारी प्रस्तुत करना शामिल है। इसके अलावा निकाय की संरचना अथवा पब्लिशर्स की सदस्यता में किसी भी तरह का परिवर्तन होने पर मंत्रालय को सूचित किया जाएगा।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

वरिष्ठ पत्रकार सुमित अवस्थी को लेकर आयी ये बड़ी खबर

टीवी न्यूज की दुनिया के जाने-माने चेहरे और सीनियर न्यूज एंकर सुमित अवस्थी के बारे में एक बड़ी खबर निकलकर सामने आयी है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 03 December, 2022
Last Modified:
Saturday, 03 December, 2022
Sumit Awasthi

टीवी न्यूज की दुनिया के जाने-माने चेहरे और सीनियर न्यूज एंकर सुमित अवस्थी के बारे में एक बड़ी खबर निकलकर सामने आयी है। दरअसल, खबर यह है कि वह अब क्विंटिलियन बिजनेस मीडिया ग्रुप (Quintillion Business Media) की हिंदी न्यूज वेबसाइट ‘BQ प्राइम’ से बतौर कंसल्टेंट जुड़ गए हैं। ‘BQ प्राइम हिंदी’ पर उनका पहला वीडियो भी आ गया है, जिसमें उन्होंने जजों की नियुक्ति पर अपनी बेवाक राय भी दी है।

बता दें कि इससे पहले सुमित अवस्थी ‘एबीपी न्यूज’ में वाइस प्रेजिडेंट (न्यूज व प्रॉडक्शन) के तौर पर अपनी सेवाएं दे रहे थे। सुमित अवस्थी ने वर्ष 2018 में ‘एबीपी न्यूज’ में बतौर कंसल्टिंग एडिटर जॉइन किया था। इससे पहले वह ‘नेटवर्क18’ (Network 18) में डिप्टी मैनेजिंग एडिटर के तौर पर अपनी जिम्मेदारी संभाल रहे थे। वह ‘जी न्यूज’ (Zee News) में रेजिडेंट एडिटर भी रह चुके हैं।

सुमित अवस्थी करीब पांच साल तक ‘आजतक’ (Aaj Tak) में भी रह चुके हैं। यहां वह डिप्टी एडिटर के तौर पर कार्यरत थे। सुमित राजनीति में अच्छी पकड़ और बेहतर रिपोर्टिंग के लिए जाने जाते हैं।

सुमित अवस्थी को पत्रकारिता के क्षेत्र में काम करने का दो दशक से ज्यादा का अनुभव है। पत्रकारिता में उल्लेखनीय योगदान के लिए उन्हें अब तक ‘दादा साहेब फाल्के एक्सीलेंस अवॉर्ड‘ और ‘माधव ज्योति अवॉर्ड‘ समेत तमाम प्रतिष्ठित अवॉर्ड्स से नवाजा जा चुका है। इसके साथ ही उन्हें प्रतिष्ठित ‘एक्सचेंज4मीडिया न्यूज ब्रॉडकास्टिंग अवॉर्ड्स’ (enba) से भी नवाजा जा चुका है।

सुमित अवस्थी का जन्म लखनऊ (उत्तर प्रदेश) में हुआ है। केंद्रीय विद्यालय, इंदौर से अपनी स्कूलिंग पूरी करने के बाद उन्होंने इंदौर में ही ‘होलकर साइंस कॉलेज’ से ग्रेजुएशन की है। इसके बाद उन्होंने दिल्ली स्थित ‘भारतीय विद्या भवन‘ से पत्रकारिता की पढ़ाई की है।

सुमित अवस्थी को आप ट्विटर @awasthis और इंस्टाग्राम @beingsumitawasthi पर फॉलो कर सकते हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

ABP नेटवर्क की वाइस प्रेजिडेंट रमा पॉल ने लिया ये बड़ा फैसला

एबीपी नेटवर्क से एक बड़ी खबर सामने आयी है कि यहां रमा पॉल ने नेटवर्क की वाइस प्रेजिडेंट के पद से इस्तीफा दे दिया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 03 December, 2022
Last Modified:
Saturday, 03 December, 2022
ramapaul52121

एबीपी नेटवर्क (ABP Network) से एक बड़ी खबर सामने आयी है कि यहां रमा पॉल ने नेटवर्क की वाइस प्रेजिडेंट के पद से इस्तीफा दे दिया है। इंडस्ट्री के उच्च स्तरीय सूत्रों से इसकी जानकारी मिली है। वह फिलहाल मार्च 2023 के अंत तक नेटवर्क के साथ बनी रहेंगी।

बता दें कि एबीपी नेटवर्क में पॉल पिछले 7 साल  और 5 महीने से अपना योगदान दे रही हैं।

हमारी सहयोगी वेबसाइट 'एक्सचेंज4मीडिया' ने इस संदर्भ में उनसे संपर्क किया, लेकिन खबर लिखे जाने तक उनकी प्रतिक्रिया नहीं मिल पायी है। 

एबीपी नेटवर्क से पहले, पॉल डाबर, मुद्रा, मैक्कैन और लियो बर्नेट जैसे संगठनों के साथ विभिन्न पदों पर काम कर चुकी हैं। उन्होंने फ्रिटो-ले, नेस्ले, जनरल मोटर्स और माइक्रोसॉफ्ट के लिए भी काम किया है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

Junglee Games से जुड़े ट्विटर इंडिया के पूर्व सीनियर लीगल काउंसेल कपिल चौधरी

ट्विटर इंडिया के पूर्व सीनियर लीगल काउंसेल कपिल चौधरी अब ‘जंगली गेम्स’ (Junglee Games) के साथ जुड़ गए हैं

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 03 December, 2022
Last Modified:
Saturday, 03 December, 2022
KapilChaudhary4585

ट्विटर इंडिया के पूर्व सीनियर लीगल काउंसेल कपिल चौधरी अब ‘जंगली गेम्स’ (Junglee Games) के साथ जुड़ गए हैं। वह यहां जनरल काउंसेल की भूमिका निभाएंगे।

ट्विटर इंडिया में कपिल ट्विटर की एशिया-पैसिफिक देशों (APAC) के लिए इंटरनेशनल लीगल टीम का हिस्सा थे और  ट्विटर इंडिया के बिजनेस के लिए कानूनी मामलों की जिम्मेदारी संभाले हुए थे।

दिल्ली यूनिवर्सिटी से कानून की पढ़ाई करने वाले कपिल ने विभिन्न क्षेत्रों की कई कंपनियो में अलग-अलग पदों पर काम किया है। उन्होंने टेक, प्राइवेसी लॉयर के वर्षों के अनुभव से एक अलग पहचान बनाई है। उन्होंने अपना करियर साल 2000 में देश की सबसे पुरानी लॉ फर्म ‘फॉक्स मंडल’ के साथ शुरू किया था।

बता दें कि गेमिंग क्षेत्र में ‘जंगली गेम्स’ एक प्रमुख प्लेयर है, जिसके करीब 50 मिलियन यूजर्स हैं। 2012 में सैन फ्रांसिस्को में स्थापित हुई थी।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

मल्टीलिंग्वल इंटरनेट की गवर्निंग काउंसिल में शामिल हुए पूर्व संपादक बालेन्दु दाधीच

पूर्व संपादक बालेन्दु शर्मा दाधीच को भारत में बहुभाषी इंटरनेट के विकास और क्रियान्वयन के सम्बन्ध में गठित केंद्र सरकार की चार सदस्यीय गवर्निंग काउंसिल में शामिल किया गया है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 03 December, 2022
Last Modified:
Saturday, 03 December, 2022
BalenduSharma452

विख्यात तकनीकविद् और पूर्व संपादक बालेन्दु शर्मा दाधीच को भारत में बहुभाषी इंटरनेट के विकास और क्रियान्वयन के सम्बन्ध में गठित केंद्र सरकार की चार सदस्यीय गवर्निंग काउंसिल में शामिल किया गया है।

केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तहत गठित गवर्निंग काउंसिल की अध्यक्षता भारतीय राष्ट्रीय इंटरनेट एक्सचेंज (निक्सी) के सीईओ अनिल कुमार जैन करेंगे। यह काउंसिल मल्टीलिंग्वल इंटरनेट के बारे में राष्ट्रीय स्तर पर गठित समितियों के कामकाज की निगरानी करेगी।

दाधीच माइक्रोसॉफ्ट में निदेशक (भारतीय भाषाएं और सुगम्यता) के पद पर कार्यरत हैं। उन्हें फिजी में होने वाले बारहवें विश्व हिंदी सम्मेलन के लिए केंद्रीय विदेश मंत्री एस. जयशंकर के नेतृत्व में गठित सलाहकार समिति का सदस्य भी बनाया गया है।

बालेन्दु शर्मा दाधीच सूचना प्रौद्योगिकी और न्यू मीडिया के क्षेत्र में एक सुपरिचित नाम है। हिंदी भाषा में तकनीकी सोच को आगे बढ़ाने तथा सूचना तकनीक के विविध पहलुओं को रहस्यजाल से मुक्त करने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही है।

भारत के राष्ट्रपति के हाथों 'आत्माराम पुरस्कार' से सम्मानित दाधीच का पत्रकारिता से गहरा संबंध रहा है। अतीत में वे 'इंडियन एक्सप्रेस', 'हिन्दुस्तान टाइम्स', 'सहारा' तथा 'राजस्थान पत्रिका' समूहों के साथ वरिष्ठ संपादकीय भूमिकाओं में जुड़े रहे हैं। वे लंबे समय तक 'प्रभासाक्षी.कॉम' के समूह संपादक भी रहे और 2015 में माइक्रोसॉफ्ट के जरिए कॉरपोरेट दुनिया में चले गए। आज वे भारतीय भाषाओं के मुद्दों पर इस संस्थान के प्रवक्ता भी हैं। भारतीय भाषाओं की तकनीकों के विकास और प्रसार में दाधीच का अहम योगदान माना जाता है।

हिंदी में उनकी सात किताबें (एक अनुवाद सहित) हैं और उन्होंने अंग्रेजी में भी एक किताब लिखी है। हाल ही में उनकी नई किताब 'तकनीक तेरे कितने आयाम' बाजार में आई है। वे ऐसे चंद पेशेवरों में शामिल हैं, जिन्होंने शिक्षा की तीनों प्रमुख धाराओं- विज्ञान, वाणिज्य और कला में स्नातकोत्तर उपाधियां ली हैं- एमसीए, एमबीए और एमए (हिंदी) तथा साथ ही साथ वे पत्रकारिता में स्नातकोत्तर डिप्लोमा धारी भी हैं।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

अब ‘भारत एक्सप्रेस’ से जुड़े हेमंत घई, निभाएंगे यह बड़ी भूमिका

इससे पहले हेमंत घई करीब 17 साल से ‘सीएनबीसी आवाज’ (CNBC Awaaz) में अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 01 December, 2022
Last Modified:
Thursday, 01 December, 2022
Hemant Ghai

मीडिया वेंचर ‘भारत एक्सप्रेस’ (Bharat Express) ने हेमंत घई को न्यूज डायरेक्टर (स्टॉक्स, जनरल मार्केट और बिजनेस सेगमेंट) के पद पर नियुक्त किया है। बता दें कि घई हिंदी बिजनेस न्यूज चैनल ‘सीएनबीसी आवाज’ (CNBC Awaaz) को लॉन्च करने वाली टीम के फाउंडर मेंबर रहे हैं। वह जून 2004 से जनवरी 2021 तक इस चैनल से जुड़े रहे थे।

घई वर्ष 2004 में इस चैनल में ट्रेनी के रूप में शामिल हुए थे और प्रोडक्शन असिस्टेंट, असिस्टेंट प्रड्यूसर, रिसर्च एनालिस्ट, सीनियर रिसर्च एनालिस्ट और एसोसिएट एडिटर होते स्टॉक एडिटर जैसे बड़े पद पर पहुंचे थे।

हेमंत घई ने भारतीय फाइनेंसियल मार्केट्स में विभिन्न सेक्टर्स, स्टॉक्स और अर्थव्यवस्था का विश्लेषण करने में करीब डेढ़ दशक से अधिक का समय बिताया है और पिछले करीब एक दशक से विभिन्न बिजनेस शोज की मेजबानी करने के साथ-साथ कॉर्पोरेट सेक्टर से जुड़ी हस्तियों के इंटरव्यू कर रहे हैं।

मेरठ की चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी से कंप्यूटर एप्लीकेशन में ग्रेजुएट (BCA) हेमंत घई ने आईएमएस देहरादून से एमबीए (मार्केटिंग और फाइनेंस) किया है।

गौरतलब है कि ‘सहारा इंडिया मीडिया’, ‘तहलका मैगजीन’, ‘स्टार न्यूज’ एवं ‘सीएनबीसी-आवाज’ को अपनी सेवाओं और नेतृत्व से नई ऊंचाइयां देने वाले वरिष्ठ पत्रकार उपेंद्र राय ने कुछ समय पूर्व ही ‘भारत एक्सप्रेस’ मीडिया समूह की शुरुआत की है। यह मीडिया समूह हिंदी, अंग्रेजी और उर्दू भाषाओं में टीवी, डिजिटल और अखबार तीनों प्लेटफॉर्म पर जनता को अपनी सेवाएं देगा। उपेन्द्र राय का यह वेंचर टीवी के साथ-साथ अखबार और डिजिटल में खबरों के सभी पहलुओं पर जोर देगा। इस समूह के तहत 14 जनवरी 2023 को न्यूज चैनल लॉन्च किया जाना है, जिसमें दीपक चौरसिया जॉइन करने जा रहे हैं। फिलहाल चैनल ड्राई रन पर है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

NDTV से इस्तीफे के बाद रवीश कुमार ने शेयर किया वीडियो, कही दिल की बात

एनडीटीवी से इस्तीफा देने के एक दिन बाद सीनियर टीवी जर्नलिस्ट रवीश कुमार ने अपने यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो शेयर किया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 01 December, 2022
Last Modified:
Thursday, 01 December, 2022
Ravish Kumar

‘एनडीटीवी’ (NDTV) से इस्तीफा देने के एक दिन बाद सीनियर टीवी जर्नलिस्ट रवीश कुमार ने अपने यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो में रवीश कुमार का कहना है कि वह उस रेड माइक को हमेशा याद करते रहेंगे।

अपने यूट्यूब चैनल ‘रवीश कुमार ऑफिशियल’ (Ravish Kumar Official) पर अपलोड किए गए दिल को छू लेने वाले इस वीडियो में रवीश कुमार ने कहा है, ‘सुबह उठते ही मेरे दिमाग में सबसे पहले रात नौ बजे का ख्याल आता था। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा, क्योंकि अब रात नौ बजे मेरा प्राइम टाइम शो नहीं होगा। मुझे नहीं पता कि मैं अब रात नौ बजे क्या करूंगा। मैं टेलिविजन को प्यार करता हूं। शायद इसलिए भी मेरा दिल टूट रहा है। मैं उस लाल माइक को याद करता रहूंगा।’  

अपने वीडियो में रवीश कुमार ने यह भी कहा है, ‘ऐसे समय में जब देश की न्यायपालिका लड़खड़ा रही थी और सत्ता में बैठे लोगों ने तमाम लोगों की आवाज चुप कराने की कोशिश की, यह देश की जनता ही थी जिसने मेरे प्रति अपार प्रेम दिखाया। मैं अपने दर्शकों के बिना कुछ भी नहीं कर पाता। मैं लोगों से आग्रह करता हूं कि वे मेरे काम का समर्थन करना जारी रखें, जो अब मेरे नए यूट्यूब चैनल और फेसबुक पेज के माध्यम से होगा।’

गौरतलब है कि रवीश कुमार ने ‘एनडीटीवी इंडिया’ (NDTV India) के साथ अपनी करीब ढाई दशक पुरानी पारी को विराम देते हुए बुधवार को सीनियर एग्जिक्यूटिव एडिटर के पद से इस्तीफा दे दिया था। इस बारे में चैनल की ओर से जारी एक इंटरनल मेल में कहा गया था कि रवीश कुमार का इस्तीफा तत्काल प्रभाव से प्रभावी हो गया है। 

चैनल की ओर से जारी मेल में यह भी कहा गया था, ‘कुछ ही पत्रकार ऐसे हैं, जिन्होंने लोगों को रवीश जितना प्रभावित किया है। यह इस बात से परिलक्षित होता है कि वह जहां जाते हैं, लोग उनके पास खिंचे चले आते हैं। उनके बारे में लोगों से तमाम प्रतिक्रिया मिलती है। इसके अलावा उन्हें राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तमाम प्रतिष्ठित अवॉर्ड्स से नवाजा जा चुका है।’ मेल में चैनल का यह भी कहना था, ‘रवीश कुमार कई दशक से एनडीटीवी का अभिन्न हिस्सा रहे हैं। उनका योगदान अमूल्य रहा है और हम जानते हैं कि वह एक नई शुरुआत करेंगे और सफल होंगे।’  

इस्तीफा देने के बाद रवीश कुमार द्वारा अपने यूट्यूब चैनल पर शेयर किए गए वीडियो को आप नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके देख सकते हैं-

https://youtu.be/G9K9vpGTofo

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए