सूचना:
मीडिया जगत से जुड़े साथी हमें अपनी खबरें भेज सकते हैं। हम उनकी खबरों को उचित स्थान देंगे। आप हमें mail2s4m@gmail.com पर खबरें भेज सकते हैं।

अरुण पुरी ने बताई India Today Group की सफलता की कहानी, TV रेटिंग सिस्टम को लेकर कही ये बात

मुंबई में आयोजित ‘सुभाष घोषाल मेमोरियल लेक्चर’ को संबोधित कर रहे थे ‘इंडिया टुडे’ समूह के चेयरमैन और एडिटर-इन-चीफ अरुण पुरी

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 08 October, 2022
Last Modified:
Saturday, 08 October, 2022
Aroon Purie

‘इंडिया टुडे’ (India Today) समूह के चेयरमैन और एडिटर-इन-चीफ अरुण पुरी का कहना है कि मीडिया को संतुलनकारी कार्य करना होगा। एक तो उसे वित्तीय व्यावहार्यता हासिल करनी होगी और उसी दौरान सरकार और विज्ञापनदाताओं के दबाव को भी संभालना होगा।

अरुण पुरी शुक्रवार को मुंबई में ‘सुभाष घोषाल मेमोरियल लेक्‍चर’ (Subhas Ghosal Memorial Lecture) को संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम का आयोजन ‘एडवर्टाइजिंग एजेंसीज एसोसिएशन ऑफ इंडिया’ (AAAI) और 'सुभाष घोषाल फाउंडेशन' (SGF) ने मिलकर किया था। कार्यक्रम में विज्ञापन जगत से जुड़ी देश की टॉप हस्तियां शामिल रहीं।

इस मौके पर अरुण पुरी का कहना था, ‘पत्रकारिता नेक पेशा है और विश्वसनीयता ही न्यूज मीडिया की सबसे बड़ी पूंजी है। तमाम मीडिया संस्थान अभी भी समाज की सेवा में जुटे हैं। वे सच को केंद्र में रखते हैं यानी उनके लिए सच सर्वोपरि है और वे अपनी विश्वसनीयता के लिए जाने जाते हैं। हालांकि, दूसरे देशों की तुलना में भारत में मीडिया काफी सस्ता है। डिजिटल प्लेटफॉर्म्स के लिए सबस्क्रिप्शन मॉडल की बात करें तो विदेश में यह मॉडल काफी सफल है, जबकि हमारे देश में उतना नहीं।’  

उन्होंने कहा, ‘भारत में केबल कनेक्शन भी काफी सस्ते हैं और यही कारण है कि न्यूज चैनल्स बहुत हद तक एडवर्टाइजर्स पर निर्भर हैं और टीआरपी के पीछे भाग रहे हैं।’ अरुण पुरी का कहना था कि बार्क रेटिंग को लेकर भी वह चिंतित थे। उन्हें लगा कि सिस्टम में सुधार की जरूरत है, लेकिन बाद में इस संबंध में काम शुरू हो गया था।

‘इंडिया टुडे’ समूह की सफलता के बारे में चर्चा करते हुए उन्होंने बताया उनके पहले पब्लिकेशन ‘इंडिया टुडे मैगजीन’ के लिए 1977 और 1980 के चुनाव किस तरह दो निर्णायक मोड़ साबित हुए। अरुण पुरी ने कहा, ‘हमने इस मैगजीन को दिसंबर 1975 में लॉन्च किया, तब आपातकाल का दौर था। दो साल बाद 1977 के आम चुनावों के दौरान कांग्रेस को हराकर एक गठबंधन सरकार अस्तित्व में आई। उस समय भारतीय राजनीति और समाज में भारी उथल-पुथल देखी जा रही थी लेकिन तब अखबारों की कवरेज उतनी प्रखर नहीं थी और छपाई की गुणवत्ता भी अच्छी नहीं थी। उस समय अच्छे कंटेंट और बेहतरीन प्रिंटिंग की वजह से हमारी मैगजीन को काफी रफ्तार मिली और इसका सर्कुलेशन 15000 से एक लाख तक पहुंच गया। इसके बाद से इसने पीछे मुड़कर नहीं देखा।’    

1980 के चुनावों से पहले मैगजीन ने ‘दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स’ के दो प्रोफेसरों प्रणय रॉय और अशोक लाहिड़ी के सुझाव और मदद से देश का पहला मत सर्वेक्षण (poll survey) किया। अरुण पुरी का कहना था, ‘इस चुनाव में कई लोगों का मानना था कि जनता पार्टी की सरकार वापस आएगी, हमारे सर्वेक्षण ने सही भविष्यवाणी की थी कि इंदिरा गांधी के नेतृत्व वाली कांग्रेस बहुमत के साथ वापस आएगी। इस सर्वेक्षण ने हमारी विश्वसनीयता को इतना बढ़ा दिया कि शीर्ष उद्योगपति जीडी बिड़ला ने मुझे लंच पर आमंत्रित किया, तब मैं सिर्फ 36 साल का था।’ 

अपने निजी और व्यावसायिक अनुभवों के बारे में पुरी ने कई अहम बातें साझा कीं। उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं पता कि मुझे सफलता कैसे मिली। यह घटनाओं, संयोगों, मेरी शिक्षा और कई अन्य चीजों की श्रंखला हो सकती है। मेरा मानना है कि इन चार चीजों ने मेरी काफी मदद की। पहली मेरा सीए होना, जिससे मुझे पता चला कि जब तक स्थिति स्पष्ट न हो, चीजें कैसे पूछनी हैं। दूसरा, एक गैर-पत्रकार होने के नाते मुझे यह पता लगाने में मदद मिली कि एक औसत पाठक को क्या पसंद आएगा। तीसरा,काम के प्रति मेरा जुनून और चौथा, कोई पूर्वकल्पित विचार (preconceived idea) का न होना।’ 

इस दौरान अरुण पुरी ने बताया, ‘मैं लाहौर में पैदा हुआ और विभाजन के बाद मेरा परिवार मुंबई शिफ्ट हो गया। मेरे पिता ने फिल्मों में फाइनेंसिंग शुरू की। ‘आग‘ और ‘मदर इंडिया‘ से इसकी शुरुआत हुई, जिसने महबूब स्टूडियो की स्थापना की और फिर ‘आवारा‘, जिसने राज कपूर के प्रोडक्शन की स्थापना की। फिर बीआर चोपड़ा की ‘नया दौर‘, उन दिनों में उन्होंने जो भी निवेश किया, वे सभी फिल्में सफल रहीं।’ 

परिवार में हुई एक त्रासदी के कारण उनका परिवार बाद में दिल्ली शिफ्ट हो गया। अरुण पुरी उस समय किशोर थे और अपने करियर के बारे में उन्हें कुछ भी तय नहीं था। अरुण पुरी के अनुसार, ‘मेरे पिता ने मुझे सीए की पढ़ाई करने के लिए कहा। ऐसा कोर्स जो उनके बिजनेस में मददगार साबित हो सकता था।’ 1970 में जब पुरी सीए की पढ़ाई पूरी करने के बाद लंदन में ऑडिटर के रूप में काम कर रहे थे, तो उनके पिता ने उन्हें फरीदाबाद में अपनी प्रिंटिंग प्रेस ‘थॉमसन प्रेस’ का दौरा करने के लिए कहा, जिसे उन्होंने ब्रिटिश मीडिया मुगल पॉल रॉयटर के सहयोग से स्थापित किया था।

अरुण पुरी ने बताया, ‘प्रेस को देखने के बाद मैंने यहीं रहने और प्रॉडक्शन कंट्रोलर के रूप में बिजनेस को संभालने का फैसला किया। हमने गुणवत्तापूर्ण छपाई के लिए धीरे-धीरे बेहतर तकनीक लागू की लेकिन हम दूसरों के लिए कंटेंट छाप रहे थे। फिर, हमने सोचा कि क्यों न हमारा अपना पब्लिकेशन हो। हमने कई चीजों की कोशिश की, लेकिन असफल रहे।’ फिर उन्होंने अपने पिता के साथ मिलकर वर्ष 1975 में आपातकाल के दौरान एक मैगजीन के साथ इंडिया टुडे ग्रुप की स्थापना की।

अरुण पुरी के अनुसार, ‘इंडिया टुडे मैगजीन शुरू करने की कल्पना आपातकाल से पहले की गई थी लेकिन इसे दिसंबर 1975 में अमलीजामा पहनाया गया था। इन 47 वर्षों में हमने 56 पब्लिकेशंस और चैनल लॉन्च किए, जिनमें से कुछ बंद भी हो गए।’ 

इस मौकै पर अरुण पुरी ने यह भी बताया कि कैसे इस ग्रुप ने एक घंटे के वीडियो कैसेट के साथ वर्ष 1988 में वीडियो जर्नलिज्म के क्षेत्र में कदम रखा था। इसके बाद 1995 में ‘दूरदर्शन’ पर ‘आजतक’ शो के लिए 20 मिनट का स्लॉट मिला और फिर कैसे यह 24/7 न्यूज चैनल में बदल गया।

इस कार्यक्रम में अपने संबोधन के अंत में पुरी ने कहा, ‘प्रेस की स्वतंत्रता अच्छी बात है। यह भारत के अस्तित्व और विकास के लिए आवश्यक है। अगली बार जब आप प्रेस की निंदा करें, तो सोचें कि क्या इसके बिना भारत की स्थिति बेहतर हो सकती है।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

‘इंडिया न्यूज’ से जुड़े पत्रकार राघवेन्द्र पाण्डेय, मिली यह जिम्मेदारी

युवा पत्रकार राघवेन्द्र पाण्डेय ने ‘आईटीवी नेटवर्क’ (iTV Network) के साथ मीडिया में अपनी नई पारी का आगाज किया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 06 February, 2023
Last Modified:
Monday, 06 February, 2023
Raghvendra Pandey

युवा पत्रकार राघवेन्द्र पाण्डेय ने ‘आईटीवी नेटवर्क’ (iTV Network) के साथ मीडिया में अपनी नई पारी का आगाज किया है। उन्होंने इस नेटवर्क के हिंदी न्यूज चैनल ‘इंडिया न्यूज’ (India News) में उत्तर प्रदेश ब्यूरो चीफ के रूप में जॉइन किया है। समाचार4मीडिया से बातचीत में राघवेन्द्र पाण्डेय ने बताया कि इससे पहले वह करीब सात महीने से ‘अनादि टीवी’ (Anaadi TV) चैनल में बतौर ब्यूरो चीफ अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे।

मूल रूप से प्रयागराज (पूर्व में इलाहाबाद) के रहने वाले राघवेन्द्र पाण्डेय ‘अनादि टीवी’ से पहले करीब पांच साल तक जानी-मानी न्यूज एजेंसी ‘एशियन न्यूज इंटरनेशनल’ (ANI) में भी अपनी भूमिका निभा चुके हैं। उन्होंने वर्ष 2017 में दिल्ली में संवाददाता के रूप में यहां जॉइन किया था, करीब एक साल बाद ‘एएनआई’ ने उन्हें लखनऊ भेजकर उत्तर प्रदेश की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी। इस दौरान राघवेन्द्र पाण्डेय ने राष्ट्रपति कवरेज, प्रधानमंत्री कवरेज, लोकसभा चुनाव और विधानसभा चुनाव के साथ ही देश-प्रदेश के ज्वलंत मुद्दों पर रिपोर्टिंग की।

राघवेन्द्र पाण्डेय ने पत्रकारिता में अपने करियर की शुरुआत वर्ष 2010 में लखनऊ से ‘खोज इंडिया’ टीवी चैनल से की थी। इसके बाद अक्टूबर 2011 में वह दिल्ली आ गए और अन्ना आंदोलन की कवरेज में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। दिल्ली में ही वर्ष 2012 में संचार टाइम मीडिया ग्रुप में उन्होंने करीब तीन वर्ष तक कार्य किया। इसके बाद वह राष्ट्रीय राजधानी में दो वर्ष के लिए ‘K न्यूज’ चैनल में भी अपनी भूमिका निभा चुके हैं।

समाचार4मीडिया की ओर से राघवेन्द्र पाण्डेय को उनके नए सफर के लिए ढेरों बधाई और शुभकामनाएं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

नए सफर पर निकले ‘Spencer's Retail’ के पूर्व CEO और MD देवेंद्र चावला

देवेंद्र चावला को ढाई दशक से ज्यादा का अनुभव है। इस दौरान वह तमाम बड़ी कंपनियों में लीडरशिप भूमिकाएं निभा चुके हैं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Sunday, 05 February, 2023
Last Modified:
Sunday, 05 February, 2023
Devendra Chawla

‘स्पेन्सर्स रिटेल’ (Spencer's Retail) के पूर्व चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर और मैनेजिंग डायरेक्टर देवेंद्र चावला ने एवरसोर्स कैपिटल (Eversource Capital) द्वारा प्रवर्तित शेयर्ड इलेक्ट्रिक मोबिलिटी प्लेयर ‘ग्रीनसेल मोबिलिटी’ (GreenCell Mobility) के साथ अपने नए सफर की शुरुआत की है। यहां उन्होंने बतौर चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर (सीईओ) जॉइन किया है। अपनी इस भूमिका में वह कंपनी के बोर्ड को रिपोर्ट करेंगे।

बता दें कि चावला ने वर्ष 2019 में ‘आरपी संजीव गोयनका’ (RP Sanjiv Goenka) ग्रुप जॉइन किया था। यहां उनका कार्यकाल तीन साल का था, जहां से उन्होंने कुछ समय पूर्व ही इस्तीफा दे दिया था। ‘Spencer’s Retail’ से पहले वह ‘वॉलमार्ट इंडिया’ (Walmart India) में चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर (COO) के रूप में अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे।

चावला को 26 साल से ज्यादा का अनुभव है और इस दौरान वह तमाम बड़ी कंपनियों में लीडरशिप भूमिकाएं निभा चुके हैं। पूर्व में वह ‘फ्यूचर कंज्यूमर लिमिटेड’ (FCL) में सीईओ और ‘फ्यूचर ग्रुप’ में ग्रुप प्रेजिडेंट (Food, FMCG) रह चुके हैं। वह फ्यूचर ग्रुप में सीईओ (फूड) और बिजनेस हेड (प्राइवेट ब्रैंड्स) भी रह चुके हैं। इसके अलावा वह ‘कोका-कोला’ (Coca-Cola) और ‘एशियन पेंट्स’ (Asian Paints) में भी अपनी जिम्मेदारी निभा चुके हैं।  

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

जानिए, सूचना-प्रसारण मंत्रालय व प्रसार भारती के लिए कैसा रहा बजट

केंद्रीय वित्त मंत्री ने सूचना-प्रसारण मंत्रालय के लिए पिछले वित्तीय वर्ष 2022-23 4,182 करोड़ रुपए आवंटित किए थे।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 02 February, 2023
Last Modified:
Thursday, 02 February, 2023
PrasarBharatiBudget45123

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को सूचना-प्रसारण मंत्रालय के लिए वित्तीय वर्ष 2023-24 के लिए 4,692 करोड़ रुपए के आवंटित किए, जबकि पिछले वित्तीय वर्ष यह 4,182 करोड़ रुपए था।

वहीं, सिर्फ प्रसार भारती का आवंटन पिछले वित्तीय वर्ष में आवंटित 2,764.51 करोड़ रुपए से बढ़ाकर 2,808.36 करोड़ रुपए कर दिया गया है। वित्त मंत्री ने अलग से प्रसारण एवं अवसंरचना नेटवर्क विकास योजना (ब्रॉडकास्टिंग और इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट स्कीम) के लिए 600 करोड़ रुपए आवंटित किए हैं, जिसका उद्देश्य विशेष रूप से दूरदराज के इलाकों में प्रसाण आधारभूत ढांचे को बढ़ाना है।

मंत्रालय के तहत एक स्वायत्त निकाय ‘भारतीय फिल्म एवं टेलीविजन संस्थान’ (FTII) को बजट में 64.75 करोड़ रुपए मिले हैं। पिछले वित्त वर्ष के मुकाबले इस निकाय का बजट कुछ कम किया गया है। पिछले वित्त वर्ष में इस निकाय को 68.53 करोड़ रुपए मिले थे।

वहीं, कोलकाता में ‘सत्यजीत रे फिल्म एवं टेलीविजन संस्थान’ (SRFTI) को पिछले वित्त वर्ष में 60.1 करोड़ रुपए के मुकाबले इस बजट में 95.13 करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं।

राष्ट्रीय फिल्म विकास निगम (NFDC) को पिछले वित्त वर्ष में 2,948.13 करोड़ रुपए के मुकाबले 3,051.5 करोड़ रुपए का आवंटन प्राप्त हुआ है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

इस बड़े पद पर अब ‘भारत एक्सप्रेस’ से जुड़े राकेश गोपाल

राकेश गोपाल इससे पहले 'राजस्थान पत्रिका' में नेशनल कॉरपोरेट हेड के पद पर अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 02 February, 2023
Last Modified:
Thursday, 02 February, 2023
Rakesh

देश के प्रतिष्ठित मीडिया समूहों में शुमार ‘राजस्थान पत्रिका’ (Rajasthan Patrika) में नेशनल कॉरपोरेट हेड के पद से पिछले दिनों इस्तीफा देने के बाद राकेश गोपाल ने अब जाने-माने पत्रकार उपेंद्र राय के नेतृत्व में लॉन्च हुए ‘भारत एक्सप्रेस’ (Bharat Express) न्यूज नेटवर्क के साथ अपनी नई पारी शुरू की है।

उच्च पदस्थ सूत्रों के हवाले से मिली इस खबर के अनुसार, उन्होंने यहां पर चीफ रेवेन्यू ऑफिसर (Chief Revenue Officer) के पद पर जॉइन किया है।

बता दें कि राकेश गोपाल को मीडिया में काम करने का 25 साल से ज्यादा का अनुभव है। पूर्व में वह ‘आईटीवी नेटवर्क’ (iTV Network), ‘इंडिया टुडे’ (India Today)समूह, ‘एचटी मीडिया लिमिटेड’ (HT Media Ltd) और ‘बिजनेस वर्ल्ड’ (BW Businessworld) जैसे प्रतिष्ठित संस्थानों में अपनी भूमिका निभा चुके हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

TikTok में समीर सिंह का ‘कद’ बढ़ा, अब निभाएंगे ये भूमिका

समीर सिंह इससे पहले यहां एशिया पैसिफिक परिक्षेत्र में ग्लोबल बिजनेस की कमान संभाल रहे थे।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 01 February, 2023
Last Modified:
Wednesday, 01 February, 2023
Sameer Singh

शॉर्ट वीडियो प्लेटफॉर्म ‘टिकटॉक’ (TikTok) ने समीर सिंह को प्रमोशन का तोहफा देते हुए हेड ऑफ ग्लोबल बिजनेस (नॉर्थ अमेरिका) बनाया है। बता दें कि समीर सिंह ने अगस्त 2019 में ‘टिकटॉक’ के स्वामित्व वाली कंपनी ‘बाइटडांस’ (ByteDance) में जॉइन किया था। जुलाई 2021 से वह यहां ग्लोबल बिजनेस की कमान संभाल रहे थे।

भारत सरकार द्वारा वर्ष 2020 में भारत में ‘टिकटॉक’ पर प्रतिबंध लगाने के बाद से समीर सिंह दक्षिण एशिया में इस शॉर्ट वीडियो प्लेटफॉर्म के लिए व्यावसायिक समाधान (Business Solutions) का नेतृत्व कर रहे हैं।

सिंह ने ऐसे समय में यह महत्वपूर्ण जिम्मेदारी संभाली है, जब टिकटॉक संयुक्त राज्य अमेरिका में गहन जांच का सामना कर रहा है। ‘बाइटडांस’ से पहले समीर सिंह ‘ग्रुप एम’ (GroupM) के सीईओ (साउथ एशिया) रह चुके हैं। ‘आईआईएम’ (IIM) के छात्र रहे समीर सिंह पूर्व में ‘Google’, ‘GSK’ और ‘P&G’ में बड़ी भूमिकाएं निभा चुके हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने MSMEs सेक्टर को दी ये राहत

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को संसद में 2023-24 का केंद्रीय बजट पेश किया। इस दौरान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने MSMEs क्षेत्र में कई बड़े ऐलान किए

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 01 February, 2023
Last Modified:
Wednesday, 01 February, 2023
NirmalaSitaraman845122

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को संसद में 2023-24 का केंद्रीय बजट पेश किया। इस दौरान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने MSMEs (Micro, Small and Medium Enterprises) क्षेत्र में कई बड़े ऐलान किए और कहा कि महामारी से प्रभावित MSME को राहत दी जाएगी। इस बजट में उन्होंने MSMEs के लिए संशोधित क्रेडिट गारंटी योजना की घोषणा की है।

यह योजना, जो 1 अप्रैल, 2023 से प्रभावी होगी। सरकार कोष में 9,000 करोड़ रुपए डालेगी, जिससे नई स्कीम के तहत 2 लाख करोड़ रुपए के कर्ज बांटे जाएंगे। इसके अतिरिक्त नई स्कीम के तहत MSMEs को 1 फीसदी से भी कम पर ब्याज ऋण दिया जाएगा।

इस बजट में वित्त मंत्री ने यह भी ऐलान किया कि MSMEs के लिए संविदागत विवादो के निपटान के लिए स्वैच्छिक समाधान योजना लाई जाएगी। उन्होंने  यह भी घोषणा की कि MSMEs क्षेत्र को टैक्स में राहत दी जाएगी। इस साल के बजट में  5 प्रतिशत से कम नकदी वाले MSME को छूट दी जाएगी। MSME को 3.7 लाख की राहत दी जाएगी।

युद्ध और वैश्विक मंदी के व्यवधानों के बावजूद भारत में विभिन्न MSME की सेल, महामारी से पूर्व स्तर के 90% तक पहुंच गई है। सेक्टर ने इस साल के बजट में उन योजनाओं को पेश करने की उम्मीद जताई, जो MSME को आत्मनिर्भर बनाने में मदद कर सकती है। संशोधित क्रेडिट गारंटी योजना इस क्षेत्र को एक मजबूती प्रदान करेगी।

पिछले बजट में, सीतारमण ने डिजिटल चैनलों के माध्यम से कोविड से संबंधित आयी दिक्कतों और रोजगार-सृजन से उबरने में मदद करने के लिए MSMEs के लिए क्रेडिट एक्सेस से संबंधित उपायों की शुरुआत की थी।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

‘इंडिया न्यूज’ से जुड़े टीवी पत्रकार रहमतुल्लाह खान, मिली यह जिम्मेदारी

जयपुर के वरिष्ठ पत्रकार रहमतुल्लाह खान ने ‘प्राइम न्यूज’ (prime News) चैनल को अलविदा बोल दिया है। यहां पर वह करीब डेढ़ साल से अपनी भूमिका निभा रहे थे।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 01 February, 2023
Last Modified:
Wednesday, 01 February, 2023
Rahmtullah Khan

जयपुर के वरिष्ठ पत्रकार रहमतुल्लाह खान ने ‘प्राइम न्यूज’ (prime News) चैनल को अलविदा बोल दिया है। यहां पर वह करीब डेढ़ साल से अपनी भूमिका निभा रहे थे।समाचार4मीडिया से बातचीत में रहमतुल्लाह खान ने बताया कि उन्होंने अब ‘इंडिया न्यूज’ (India News) चैनल के साथ जयपुर में अपनी नई पारी का आगाज किया है। यहां पर उन्होंने वरिष्ठ संवाददाता के पद पर जॉइन किया है।

पश्चिमी राजस्थान के बाड़मेर जिले के ईटादा गांव के रहने वाले रहमतुल्लाह खान को मीडिया में काम करने का करीब 19 साल का अनुभव है। ‘प्राइम न्यूज’ से पहले रहमतुल्लाह खान करीब पांच साल तक ‘न्यूज इंडिया 24x7’ में जयपुर (राजस्थान) में पॉलिटिकल रिपोर्टर के तौर पर अपनी जिम्मेदारी निभा चुके हैं।

‘न्यूज इंडिया‘ से पहले वह ‘जी राजस्थान‘ में भी अपनी पारी खेल चुके हैं। उससे पहले उन्होंने प्रिंट मीडिया में भी कार्य किया है। पॉलिटिकल रिपोर्टिंग के अनुभवी पत्रकारों में रहमतुल्लाह खान का नाम गिना जाता है। राजस्थान में  भाजपा और कांग्रेस के तमाम नेताओं से उनके करीबी संबंध हैं। समाचार4मीडिया की ओर से रहमतुल्लाह खान को नई पारी के लिए ढेरों बधाई और शुभकामनाएं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

पत्रकार अम्बुज पांडेय की सक्रिय पत्रकारिता में वापसी, इस न्यूज एजेंसी से जुड़े

पिछले करीब एक साल से अम्बुज ‘राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय’ (National Gallery of modern Art) में पब्लिक रिलेशन मैनेजर के पद पर कार्यरत थे।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 01 February, 2023
Last Modified:
Wednesday, 01 February, 2023
Ambuj Pandey

करीब 11 सालों से पत्रकारिता में सक्रिय अम्बुज पांडेय ने अब समाचार एजेंसी ‘प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया’ (PTI) के साथ अपनी नई पारी का आगाज किया है। अम्बुज पांडेय ‘पीटीआई’ के साथ बतौर वरिष्ठ संवाददाता जुड़े हैं। यहां वह ‘पीटीआई’ की वीडियो सर्विस के साथ काम करेंगे। बता दें कि ‘पीटीआई’ बहुत जल्द अपनी वीडियो सर्विस शुरू करने जा रही है।

मध्यप्रदेश के कटनी के रहने वाले अम्बुज वर्ष 2012 से दिल्ली में पत्रकारिता में सक्रिय हैं और उन्हें कई बीट पर ग्राउंड रिपोर्टिंग का अनुभव है। इससे पहले वह समाचार एजेंसी ‘एएनआई’ (ANI) के साथ ही ‘एपीएन न्यूज’ (APN News), ’NNIS’ न्यूज एजेंसी और ‘न्यूज पॉइंट’ जैसे कई मीडिया संस्थानों में अपनी सेवाएं दे चुके हैं।

पिछले करीब एक साल से अम्बुज ‘राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय’ (National Gallery of modern Art) में पब्लिक रिलेशन मैनेजर के पद पर कार्यरत थे। हालांकि, अब अम्बुज ने फिर से मीडिया जगत में वापसी की है।

अम्बुज ने दिल्ली से पत्रकारिता की पढ़ाई की है। समाचार4मीडिया की ओर से अम्बुज पांडेय को उनके नए सफर के लिए ढेरों बधाई और शुभकामनाएं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

इन प्लेटफॉर्म्स पर देखा जा सकता है बजट का LIVE प्रसारण, जानें कैसे मिलेंगे डॉक्यूमेंट्स

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण इस बुधवार यानी 1 फरवरी को वित्त वर्ष 2023-24 के लिए आम बजट संसद में पेश करेंगी

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 31 January, 2023
Last Modified:
Tuesday, 31 January, 2023
Budget454

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण इस बुधवार यानी 1 फरवरी को वित्त वर्ष 2023-24 के लिए आम बजट संसद में पेश करेंगी। इस बार निर्मला सीतारमण के अपने कार्यकाल का यह पांचवां बजट होगा, जिसे वह संसद में 1 फरवरी को सुबह 11 बजे पेश करेंगी। पिछले 2 साल के आम बजट की तरह ही ये बजट भी पेपरलेस होगा।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की बजट भाषण को आप संसद टीवी और दूरदर्शन पर लाइव देख सकते हैं। आम बजट का लाइव टेलीकास्ट आप संसद टीवी और दूरदर्शन के यू-ट्यूब चैनल पर भी देख सकते हैं। इसके अतिरिक्त प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो भी बजट 2023 की लाइव स्ट्रीमिंग अपने ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर करता है।

वहीं, इन सबके अतिरिक्त सभी बिजनेस चैनल व जनरल न्यूज चैनल पर भी इसका लाइव प्रसारण होगा। वहीं यूट्यूब पर भी आप बजट 2023 का लाइव प्रसारण देख सकते हैं। सरकार के विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म, जैसे फेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर बजट का सीधा प्रसारण देख सकते हैं।

आप यूनियन बजट मोबाइल ऐप (Union Budget Mobile App) पर जाकर बजट के डॉक्यूमेंट्स को देख सकते हैं और वह भी तब जब 1 फरवरी, 2023 को वित्त मंत्री अपना बजट भाषण पूरा कर लेंगी। इसके बाद मोबाइल ऐप पर बजट डॉक्यूमेंट उपलब्ध होंगे। यह ऐप हिंदी और अंग्रेजी भाषा में है, लिहाजा हिंदी और अंग्रेजी भाषा के जरिए आप बजट से जुड़ी सारी डिटेल्स ले सकते हैं।

ये ऐप एंड्रायड और आईओएस प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध है। आम बजट के वेब पोर्टल www.indiabudget.gov.in पर जाकर भी इस ऐप को डाउनलोड किया जा सकता है।



 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

B4U में डिजिटल टीम का नेतृत्व करेंगे आलोक श्रीवास्तव

‘बी4यू’ (B4U) ने डिजिटल टीम का नेतृत्व करने के लिए आलोक श्रीवास्तव को नियुक्त किया है

Last Modified:
Monday, 30 January, 2023
b4U4555

‘बी4यू’ (B4U) ने डिजिटल टीम का नेतृत्व करने के लिए आलोक श्रीवास्तव को नियुक्त किया है। उन्हें डिजिटल मॉनेजाइजेशन (Digital Monetization) में व्यापक अनुभव है। उन्होंने Idea Cellular, Tatasky, Saregama और Shemaroo जैसी कंपनियों के साथ काम करने के 16 वर्षों का अनुभव है।

‘बी4यू’ में शामिल होने से पहले वह शेमारू के साथ थे, जहां वे डिजिटल वीडियो प्लेटफॉर्म के लिए PNL की जिम्मेदारी संभाल रहे थे।

श्रीवास्तव ने कहा कि डिजिटल के बिजनेस हेड तौर पर मेरी पहली जिम्मेदारी विभिन्न प्लेटफार्मों पर सभी मौजूदा डिजिटल संपत्तियों के मॉनेटाइजेशन को सुनिश्चित करना है और इसके बाद ROI पर विशेष ध्यान देने के साथ दूसरी कंटेंट कैटेगरी में प्रवेश करना है।  

वहीं, मिथिलेश चंपानेरी, जो चीफ पीपुल ऑफिसर और एचआर हेड के रूप में शामिल हुए हैं, उनके पास 15 साल का अनुभव है और हाल ही में वह WPP के साथ कार्यरत थे।

इस मौके पर सीओओ मनदीप सिंह ने कहा कि बी4यू में हम हमेशा ऐसे दिग्गजों को शामिल करने के लिए उत्साहित रहते हैं जो सभी लेवल पर और फंक्शंस में प्रासंगिक ग्रोथ करने में मदद कर सकें। हम अपने दर्शकों, ट्रेड पार्टनर्स और इंटर्नल कास्ट मेंबर्स के लिए B4U को एक मजबूत मंच बनाने की दिशा में है और इस ग्रोथ को इसके अगले चरण की ओर ले जा रहे हैं। मैं आलोक श्रीवास्तव का स्वागत कर बेहद खुश हूं, जो हमारे डिजिटल मॉनेटाइजेशन के हेड के तौर पर शामिल हुए हैं। पवन शर्मा अब रेवेन्यू का नेतृत्व करेंगे। वहीं, मिथिलेश चंपानेरी चीफ पीपुल ऑफिसर के रूप में HR फंक्शन का नेतृत्व करेंगे। आलोक, पवन और मिथिलेश ऐसे प्रोफेशनल्स हैं, जिनकी डोमेन में विशेष रुचि है, मजबूत लीडरशिप है और इनकी पीपुल मैनेजमेंट स्किल्स जबरदस्त है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए