2020 में कुछ ऐसे वरिष्ठ पत्रकार, जिनका बढ़ा 'करियर ग्राफ'

2020 मे कुछ ऐसी यादें, जो मीडिया इंडस्ट्री से जुड़े लोगों की हैं, जिनके करियर ग्राफ ने एक नए मुकाम को छुआ है। आइए, यहां ऐसी ही कुछ शख्सियतों के बारे में जानते हैं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 31 December, 2020
Last Modified:
Thursday, 31 December, 2020
yearender2020

नए साल को लेकर लोगों में काफी उल्लास है, लेकिन हर बार गुजरता हुआ साल कुछ ऐसी भी यादें दे जाता है, जो किसी के करियर के लिहाज से बहुत महत्वपूर्ण होती हैं। कुछ ऐसी ही यादें मीडिया इंडस्ट्री से जुड़े लोगों की भी हैं, जिनमें से कई के करियर ग्राफ ने एक नए मुकाम को छुआ है। आइए, यहां ऐसी ही कुछ शख्सियतों के बारे में जानते हैं।

साल 2020 की शुरुआत में ही देश के बड़े न्यूज चैनल्स में शामिल ‘एबीपी न्यूज’ (ABP News) से एक बड़ी खबर निकलकर सामने आई थी। खबर ये थी कि वरिष्ठ पत्रकार शीला रावल ने ‘एबीपी न्यूज’ के साथ अपनी करीब साढ़े 15 साल पुरानी पारी को विराम दे दिया है। वह यहां सीनियर एडिटर (इन्वेस्टिगेशन) के पद पर अपनी जिम्मेदारी निभा रही थीं। ‘एबीपी न्यूज’ को जॉइन करने से पहले वह करीब 11 साल तक ‘इंडिया टुडे’ से जुड़ी रही थीं। बताया जाता है कि नए साल पर कुछ नया और खास करने के लिए ही उन्होंने यह कदम उठाया था, लेकिन वे अभी तक मीडिया से दूर हैं।

पूरी खबर यहां पढ़ें: वरिष्ठ पत्रकार शीला रावल ने उठाया बड़ा कदम

जनवरी में ही एक दूसरी खबर सामने आई कि ‘एंटर10’ (Enterr10) मीडिया प्राइवेट लिमिटेड से जॉय चक्रबर्ती ने सीईओ पद से इस्तीफा दे दिया। जॉय चक्रबर्ती ने पिछले साल मार्च में ही इस मीडिया और एंटरटेनमेंट ग्रुप को जॉइन किया था। हालांकि वे भी अभी मीडिया से दूर हैं। 

पूरी खबर यहां पढ़ें: एंटर10 मीडिया कंपनी के CEO जॉय चक्रबर्ती ने लिया बड़ा फैसला

जनवरी में ही रिलायंस कैपिटल के चीफ कम्युनिकेशन ऑफिसर अरिजीत डे बेनेट कोलमैन एंड कंपनी (टाइम्स ग्रुप) से जुड़ गए थे। उन्हें यहां कॉरपोरेट डेवलपमेंट का हेड नियुक्त किया गया था। डे पर बीसीसीएल में नव-निर्मित कार्यप्रणाली की जिम्मेदारी सौंपी गई थी, जो ग्रुप के लिए पब्लिक अफेयर्स व कम्युनिटी इनिशिएटिव्स, कॉरपोरेट कम्युनिकेशंस, ब्रैंड कम्युनिकेशंस और एक्टिवेशन का काम करती है।

पूरी खबर यहां पढ़ें: इस मीडिया कंपनी से जुड़े रिलायंस कैपिटल के चीफ कम्युनिकेशन ऑफिसर अरिजीत डे

जनवरी में एक और खबर आई कि वरिष्ठ पत्रकार और हिंदी न्यूज चैनल ‘जनतंत्र टीवी’ (JANTANTRA TV) की मैनेजिंग एडिटर शीतल राजपूत ने संस्थान को बाय बोल दिया है। वरिष्ठ टीवी पत्रकार वाशिंद्र मिश्र के नेतृत्व में रिलॉन्च हुए ‘जनतंत्र टीवी’ के साथ शीतल राजपूत ने पिछले साल ही अपनी पारी शुरू की थी। वह चैनल के फ्लैगशिप शो ‘सवाल भारत का’ (SAWAL BHARAT KA) को होस्ट कर रही थीं। फिलहाल उनके बारे में भी जनवरी के बाद से कोई खबर सामने नहीं आई है।

पूरी खबर यहां पढ़ें: वरिष्ठ टीवी पत्रकार शीतल राजपूत ने लिया ये बड़ा फैसला

जनवरी में कई लोगों के पुराने संस्थान को छोड़ने और नए संस्थान से जुड़ने की खबरें सामने आई। ऐसी ही एक खबर वरिष्ठ पत्रकार आलोक कुमार को लेकर आई कि उन्होंने ‘नवभारत टाइम्स’ (डिजिटल) के साथ अपनी नई पारी की शुरुआत की है। 2020 की जनवरी में ही उन्होंने यहां एडिटर के तौर पर जॉइन किया था। इस नई जिम्मेदारी को संभालने से पहले आलोक कुमार ‘टीवी9’ समूह के साथ जुड़े हुए थे और एग्जिक्यूटिव एडिटर (डिजिटल) के पद पर अपनी भूमिका निभा रहे थे। बिहार में मुजफ्फरपुर के मूल निवासी आलोक कुमार को मीडिया के क्षेत्र में काम करने का काफी अनुभव है। पूर्व में वह कई प्रतिष्ठित मीडिया संस्थानों में अपनी प्रतिभा दिखा चुके हैं।

पूरी खबर यहां पढ़ें: अब इस मीडिया समूह से जुड़े वरिष्ठ पत्रकार आलोक कुमार, मिली बड़ी जिम्मेदारी

फिर खबर आई कि वरिष्ठ पत्रकार फे डिसूजा अब लोगों को नए अंदाज में खबरों से रूबरू कराएंगी क्योंकि उन्होंने सिलिकन वैली (Silicon Valley) के शॉर्ट विडियो नेटवर्क ‘फायरवर्क’ (Firework) के साथ अपनी नई पारी शुरू की है और वे देश भर की खास खबरों को 30 सेकेंड के विडियो में दिखाएंगी। बता दें कि इससे पहले सितंबर 2019 तक डिसूजा टाइम्स नेटवर्क के अंग्रेजी न्यूज चैनल ‘मिरर नाउ’ (Mirror Now) में एग्जिक्यूटिव एडिटर के तौर पर काम कर रही थीं। ‘मिरर नाउ’ के शो ‘द अर्बन डिबेट’ (The Urban Debate) की एंकरिंग के दौरान उन्हें काफी प्रसिद्धि मिली थी।

पूरी खबर यहां पढ़ें: अब नए अंदाज में खबरों से रूबरू कराएंगी वरिष्ठ पत्रकार फे डिसूजा

फरवरी में ‘सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया’ (Sony Pictures Networks India) से एक बड़ी खबर सामने आई कि ‘सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया’ ने सौगाता मुखर्जी (Saugata Mukherjee) को अपने यहां नियुक्त किया है। उन्हें डिजिटल बिजनेस का हेड (ऑरिजिनल कंटेंट) बनाया गया है। अपनी नई भूमिका में मुखर्जी ‘सोनी लिव’ के लिए हिंदी ऑरिजिनल कंटेंट की तमाम पहलों (initiatives) का नेतृत्व करेंगे और इस प्लेटफॉर्म की मौजूदगी को विस्तार देंगे। इससे पहले मुखर्जी ‘हॉटस्टार’ (Hotstar) से जुड़े हुए थे जहां वह हेड ऑफ डेवलपमेंट और क्रिएटिव के साथ-साथ ‘हॉटस्टार स्पेशल्स’ (Hotstar Specials) के एडिटर की जिम्मेदारी संभाल रहे थे। अपने 15 साल से ज्यादा के करियर में मुखर्जी विभिन्न संस्थानों में प्रमुख पदों पर काम कर चुके हैं।

पूरी खबर यहां पढ़ें: SONY से जुड़े सौगाता मुखर्जी, निभाएंगे बड़ी भूमिका

फरवरी में ही 'एचटी डिजिटल’ (HT Digital) की एडिटर (न्यूजरूम ऑपरेशंस) शुचि शुक्ला ने अपनी नई पारी की शुरुआत की थी। उन्होंने मीडिया फर्म ‘ओपोई’ (Opoyi) में बतौर मैनेजिंग एडिटर जॉइन किया था। इस मीडिया फर्म को 'एचटी डिजिटल स्ट्रीम्स’ की पूर्व चीफ कंटेंट ऑफिसर नीलांजना भादुड़ी झा और पूर्व सीईओ राजीव बंसल ने शुरू किया। बता दें कि शुचि शुक्ला पूर्व में एनडीटीवी, टाइम्स ऑफ इंडिया और हिन्दुस्तान टाइम्स जैसे मीडिया संस्थानों के साथ काम कर चुकी हैं। इसके अलावा वह ‘एमएसएन’ के ग्लोबल प्लेटफॉर्म्स के लिए भी काम कर चुकी हैं।

पूरी खबर यहां पढ़ें: HT को अलविदा कह शुचि शुक्ला ने पकड़ी नई राह

इसके बाद स्टार ग्रुप (Star Group) से बड़ी खबर सामने आई कि ‘स्टार जलशा’ (Star Jalsha) और ‘जलशा मूवीज’ (Jalsha Movies) के वाइस प्रेजिडेंट व बिजनेस हेड सग्निक घोष ने कंपनी को अपना इस्तीफा सौंप दिया। वे पिछले चार साल पांच महीनों से स्टार में बंगाली चैनलों की कमान संभाले हुए थे। वे इन दोनों चैनलों में बिजनेस ऑपरेशंस, कंटेंट डेवलपमेंट व प्रोग्रामिंग स्ट्रैटजी पर काम कर रहे थे। इस भूमिका को निभाने से पहले वे ‘स्टार भारत’ (Star Bharat) के जनरल मैनेजर व बिजनेस हेड के तौर पर स्टार ग्रुप में अपना योगदान दे रहे थे। मई में ये खबर आई कि उन्होंने डिजिटल मार्केटिंग एजेंसी Liqvd Asia में बतौर मैनेजिंग पार्टनर अपनी नई पारी शुरू की है। उन्होंने ‘एक्सिस बैंक’ (Axis bank) के साथ चार साल, दस महीने काम किया।

पूरी खबर यहां पढ़ें: स्टार ग्रुप के सग्निक घोष ने इन दो चैनलों की छोड़ी कमान

वहीं फरवरी में ‘जी’ (Zee) समूह से खबर आई कि न्यूज वेबसाइट ‘इंडिया डॉट कॉम’ (India.com) की न्यूज एडिटर रुचि दुआ ने यहां से इस्तीफा दे दिया है। वह अपनी नई पारी की शुरुआत ‘हिन्दुस्तान टाइम्स’ (डिजिटल) में बतौर एसोसिएट एडिटर करने जा रही हैं। अपनी नई भूमिका में वह चीफ कंटेंट ऑफिसर प्रसाद सान्याल को रिपोर्ट करेंगी। दिल्ली की रहने वाली रुचि दुआ को डिजिटल पत्रकारिता में काम करने का दस साल से ज्यादा का अनुभव है। उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय के कमला नेहरू कॉलेज से पढ़ाई करने के साथ ही गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से पत्रकारिता की डिग्री ली है। 

पूरी खबर यहां पढ़ें: नए सफर पर निकलीं India.com की न्यूज एडिटर रुचि दुआ

मार्च में ‘टाइम्स ग्रुप’ (Times Group) से एक बड़ी खबर निकलकर सामने आई कि पार्थ सिन्हा यहां पर प्रेजिडेंट (रिस्पॉन्स) की जिम्मेदारी संभालने जा रहे हैं। उनकी प्राथमिक जिम्मेदारी रेवेन्यू बढ़ाने के साथ ही ब्रैंड्स और कंटेंट के बीच तालमेल को और बेहतर बनाना होगी। इससे पहले पार्थ सिन्हा ‘मैक्केन वर्ल्डग्रुप’ (McCann Worldgroup) में वाइस चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर के पद पर अपनी भूमिका निभा रहे थे। बता दें कि सिन्हा ने आईआईटी खड़गपुर और आईआईएम अहमदाबाद से पढ़ाई की है। करीब 30 साल के अपने करियर में वह न्यूक्लियर डिजायन इंजीनियर, बैंकर, मीडिया और इंटरनेट कंपनियों में स्ट्रैटेजी और मार्केटिंग हेड रहने के साथ ही एडवर्टाइजिंग स्ट्रैटेजिस्ट भी रह चुके हैं। पूर्व में वह ‘सिटी बैंक’ (Citibank), ‘जी’ (Zee), ‘ऑगिल्वी’ (Ogilvy), ‘पब्लिशिस’ (Publicis) और ‘बीबीएच’ (BBH) के साथ भी काम कर चुके हैं।

पूरी खबर यहां पढ़ें: अब Times Group में बड़ी जिम्मेदारी निभाएंगे पार्थ सिन्हा

मार्च में ये भी खबर आई कि ‘फॉक्स स्टार स्टूडियोज’ (Fox Star Studios) के सीईओ विजय सिंह ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। वे लगभग 10 वर्षों से इस कंपनी के साथ जुड़े हुए हैं और करीब दो-तीन महीनें तक इसके साथ काम करेंगे। मीडिया में आयी खबर के मुताबिक, ‘द वॉल्ड डिज्नी कंपनी’ (The Walt Disney Company) के स्टूडियो एंटरटेनमेंट के एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर व हेड बिक्रम दुग्गल विजय सिंह की जगह लेंगे। वैसे विजय सिंह को लेकर कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में ये दावा किया गया कि सिंह अपनी अगली पारी किसी ऐसी विदेशी मीडिया ब्रैंड के साथ शुरू करेंगे, जो इंडियन मार्केट में दस्तक देने वाली है।

पूरी खबर यहां पढ़ें: Fox Star Studios के CEO विजय सिंह के बारे में आयी ये बड़ी खबर

मार्च में वरिष्ठ पत्रकार मिलिंद खांडेकर ने ‘बीबीसी (इंडिया)’ के डिजिटल एडिटर के पद से इस्तीफा दे दिया और हमारी सहयोगी वेबसाइट एक्सचेंज4मीडिया को उच्च स्तरीय स्रोतों से ये मिली कि वे जल्द ही इंडिया टुडे ग्रुप में वरिष्ठ पद पर जॉइन कर सकते हैं। हुआ भी ऐसा ही। अप्रैल में ये खबर आई कि उन्होंने ‘तक चैनल्स’ (Tak Channels) के मैनेजिंग एडिटर के रूप में ‘इंडिया टुडे’ ग्रुप जॉइन कर लिया है और वे वाइस चेयरपर्सन और मैनेजिंग डायरेक्टर कली पुरी को रिपोर्ट करेंगे। 

पूरी खबर यहां पढ़ें: इस ग्रुप से जुड़े वरिष्ठ पत्रकार मिलिंद खांडेकर, मिली बड़ी जिम्मेदारी

मार्च में गूगल (Google) ने भारत में ‘गूगल क्लाउड’ (Google Cloud)  के लिए मैनेजिंग डायरेक्टर के पद पर करण बाजवा को नियुक्ति किया। अपनी नई भूमिका में, बाजवा ने ‘गूगल क्लाउड’ के मार्केट ऑपरेशंस के लिए रेवेन्यू जुटाने की जिम्मेदारी संभाली। बाजवा को तीन दशकों का लंबा अनुभव है। गूगल से पहले, बाजवा ‘आईबीएम’ (IBM) में भारत के लिए मैनेजिंग एडिटर के तौर पर अपनी सेंवाएं दे रहे थे, जबकि इसके पहले वे 8 वर्षों तक ‘माइक्रोसॉफ्ट’ (Microsoft) के साथ जुड़े हुए थे। उन्होंने भारत में ‘सिस्को सिस्टम’ (Cisco Systems) के साथ बतौर वाइस प्रेजिडेंट काम किया है।

पूरी खबर यहां पढ़ें: Google ने अपने इस प्लेटफॉर्म के लिए करण बाजवा को बनाया MD

मार्च में ही ‘जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लिमिटेड’ (ZEEL) ने ऐड गुरु पीयूष पांडेय को स्वतंत्र निदेशक (इंडिपेंडेंट डायरेक्टर) के रूप में नियुक्त किया है। ‘जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लिमिटेड’ के बोर्ड की 20 मार्च 2020 को हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया। पीयूष पांडेय की यह नियुक्ति ‘नामांकन और पारिश्रमिक समिति’ (Nomination & Remuneration Committee) की सिफारिशों के आधार पर की गई है और यह 24 मार्च 2020 से प्रभावी हुई। ‘पद्मश्री’ अवॉर्ड से सम्मानित पीयूष पांडेय को एडवर्टाइजिंग के क्षेत्र में काम करने का 37 साल से ज्यादा का अनुभव है। उन्होंने दिल्ली के सेंट स्टीफन कॉलेज से मास्टर्स ऑफ आर्ट्स की पढ़ाई की है। वर्तमान में वह ऑगिल्वी एंड माथर के एग्जिक्‍यूटिव चेयरमैन हैं। जनवरी 2019 में उन्हें ऑगिल्वी का वर्ल्डवाइड चीफ क्रिएटिव ऑफिसर भी बनाया गया था।

पूरी खबर यहां पढ़ें: ‘Zee’ समूह से जुड़े ऐड गुरु पीयूष पांडेय, मिली बड़ी जिम्मेदारी

अप्रैल शुरू होते ही एक बड़ी खबर सामने आई कि वरिष्ठ पत्रकार और CNN News18 (सीएनएन न्यूज) 18 के एग्जिक्यूटिव एडिटर भूपेंद्र चौबे  ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। वह इस संस्थान से करीब 15 साल से जुड़े हुए थे। वर्ष 2005 में उन्हें एग्जिक्यूटिव एडिटर की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। जुलाई में भूपेंद्र चौबे ‘आंध्र प्रभा पब्लिकेशन’ (Andhra Prabha Publication) में बतौर ग्रुप एडिटर-इन-चीफ और सीईओ के पद पर जुड़ गए। साथ ही वे इसके को-प्रमोटर/ओनर के साथ-साथ इसकी कोर फाउंडिग टीम के सदस्य भी बने। अपनी इस भूमिका में वह अखबार के 12 एडिशन, अंग्रेजी न्यूज चैनल 'इंडिया अहेड' (India Ahead) और कंपनी के रीजनल कामों की जिम्मेदारी भी संभाल रहे हैं।

पूरी खबर यहां पढ़ें: वरिष्ठ पत्रकार भूपेंद्र चौबे ने अब इस मीडिया समूह के साथ शुरू की नई पारी

फिर देश की प्रमुख मीडिया और एंटरटेनमेंट कंपनी 'जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लिमिटेड’ (ZEEL) से एक बड़ी खबर निकलकर सामने आई। खबर थी कि वरिष्ठ पत्रकार पूजा सेठी ने यहां बतौर ग्रुप एडिटर जॉइन किया है। पूजा सेठी इससे पहले स्वास्थ्य' क्षेत्र की प्रमुख वेबसाइट myupchar.com में बतौर वाइस प्रेजिडेंट (कंटेंट स्ट्रैटेजी और पार्टनरशिप्स) अपनी जिम्मेदारी निभा रही थीं। वह यहां करीब सवा साल से जुड़ी हुई थीं।

पूरी खबर यहां पढ़ें: अब ‘Zee’ समूह से जुड़ीं पूजा सेठी, मिली ग्रुप एडिटर की जिम्मेदारी

अप्रैल में 'एबीपी न्यूज नेटवर्क' (ABP News Network) ने जुल्फिया वारिस को ‘एबीपी न्यूज नेटवर्क कंटेंट स्टूडियो’ (ABP News Network Content Studio) का बिजनेस हेड बनाया। जुल्फिया को कंपनी की नई सहायक इकाई  ‘एएनएन कंटेंट स्टूडियो’ (ANN Content Studio) के साथ-साथ सभी प्लेटफार्म्स के लिए कंटेंट प्रड्यूस करने की जिम्मेदारी सौंपी गई।

जुल्फिया को मीडिया इंडस्ट्री में 20 सालों से भी ज्यादा का अनुभव है। इससे पहले वे डिस्कवरी इंडिया (Discovery India) में प्रीमियम हेड और डिजिटल नेटवर्क की वीपी-प्रॉडक्ट हेड थीं। अपनी इस भूमिका में जुल्फिया डिस्कवरी इंडिया चैनल्स के लिए फैक्चुअल और लाइफ स्टाइल कैटेगरी में अपना योगदान देती थीं। 

पूरी खबर यहां पढ़ें: ABP न्यूज नेटवर्क ने जुल्फिया वारिस को अपनी इस नई इकाई का बनाया बिजनेस हेड

अप्रैल में ही देश के प्रतिष्ठित मीडिया समूह में शामिल ‘नेटवर्क18’ (Network18) की सहायक कंपनी ‘वायकॉम18’ (Viacom 18) के ग्रुप सीईओ और एमडी सुधांशु वत्स ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। 15 अप्रैल इस कंपनी में उनका आखिरी दिन था। करीब आठ साल से इस कंपनी से जुड़े सुधांशु वत्स ने नेटवर्क को नई बिजनेस लाइन जैसे- डिजिटल, एक्सपेरिमेंटल एंटरटेनमेंट और कंज्यूमर प्रॉडक्ट पर ले जाने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इस्तीफा देने के बाद सुधांशु वत्स अब ‘Essel Propack Limited’ से जुड़ गए। कंपनी ने उन्हें चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर और मैनेजिंग डायरेक्टर के पद पर नियुक्त किया। उनकी यह नियुक्ति 16 अप्रैल 2020 से प्रभावी मानी गई। इसके अलावा कंपनी के बोर्ड ने सुधांशु वत्स को एडिशनल डायरेक्टर की भी जिम्मेदारी सौंपी। कंपनी अधिनियम 2013 के अनुसार, उन्हें प्रमुख प्रबंधकीय व्यक्ति के रूप में भी नामित किया गया। बता दें कि वत्स को एफएमसीजी (FMCG) और मीडिया सेक्टर में काम करने का 28 साल से ज्यादा का अनुभव है।

पूरी खबर यहां पढ़ें: वायकॉम18 के बाद सुधांशु वत्स को अब इस कंपनी में मिली बड़ी जिम्मेदारी

मई में खबर आई कि वरिष्ठ पत्रकार मिहिर रंजन ने हिंदी न्यूज चैनल ‘रिपब्लिक भारत’ (Republic Bharat) का दामन छोड़ दिया और अपनी नई पारी की शुरुआत ‘एबीपी न्यूज’ (ABP News) के साथ की। यहां पर उन्हें एसोसिएट वाइस प्रेजिडेंट की जिम्मेदारी सौंपी गई। मिहिर रंजन को विभिन्न मीडिया संस्थानों के साथ काम करने का लंबा अनुभव है। वह ‘रिपब्लिक टीवी’ की लॉन्चिंग टीम का हिस्सा रहे हैं और ‘रिपब्लिक भारत’ में आउटपुट एडिटर की जिम्मेदारी संभाल रहे थे। इससे पहले वह ‘टीवी टुडे नेटवर्क’ (TV Today Network) में भी अपनी अहम भूमिका निभा चुके हैं। ‘टीवी टुडे नेटवर्क’ के साथ अपनी 13-14 साल की लंबी पारी के दौरान वह कई अहम प्रोग्राम भी कर चुके हैं। 

पूरी खबर यहां पढ़ें: अब इस मीडिया ग्रुप से जुड़े वरिष्ठ पत्रकार मिहिर रंजन, मिली बड़ी जिम्मेदारी

मई में अंग्रेजी अखबार ‘हिन्दुस्तान टाइम्स’ (Hindustan Times) की नेशनल एडिटर पद्मा राव ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर इसकी घोषणा की थी। सोशल मीडिया पर की गई अपनी पोस्ट में राव ने बताया है कि वह एक ग्लोबल ऑर्गनाइजेशन के साथ दिल्ली में एक इंटरनेशनल एडिटोरियल असाइनमेंट संभालने जा रही हैं।

पूरी खबर यहां पढ़ें: HT की नेशनल एडिटर पद्मा राव ने संस्थान को कहा अलविदा, बताई ये वजह

जून में ‘इंडिया टीवी’ (India TV) से एक बड़ी खबर निकलकर सामने आई थी। खबर थी कि जनरल मैनेजर और मार्केटिंग हेड प्रदीप खत्री ने चैनल में अपनी आठ साल की पारी को विराम दे दिया है और अपने नए वेंचर के रूप में उन्होंने ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफॉर्म ‘डिजिविद्यापीठ लर्निंग’ (Digividyapeeth Learning) के साथ एजुटेक (edutech) के क्षेत्र में कदम रखा है। खत्री ने अप्रैल 2012 में ‘इंडिया टीवी’ में बतौर चीफ मैनेजर (मार्केटिंग) जॉइन किया था। बाद में उन्हें जनरल मैनेजर और मार्केटिंग हेड के पद पर प्रमोट कर दिया गया था। ‘इंडिया टीवी’ को जॉइन करने से पहले वह ‘आजतक’ में मार्केटिंग मैनेजर के पद पर भी अपनी जिम्मेदारी निभा चुके थे। 

पूरी खबर यहां पढ़ें: इंडिया टीवी में यह बड़ा पद हुआ खाली, प्रदीप खत्री ने दिया इस्तीफा

जून में ही वरिष्ठ पत्रकार निधि राजदान को लेकर एक बड़ी खबर आई कि उन्होंने ‘एनडीटीवी’ (NDTV) के साथ अपनी पारी को विराम देने का फैसला कर लिया है। वह करीब 21 साल से इस संस्थान के साथ जुड़ी हुई थीं। इस बात की जानकारी निधि राजदान ने खुद ट्वीट करके दी थी और बताया था कि वह 2020 के अंत में प्रतिष्ठित ‘हार्वर्ड यूनिवर्सिटी’ के फैकल्टी ऑफ आर्ट्स एंड साइंसेज में बतौर एसोसिएट प्रोफेसर अपनी पारी शुरू करने जा रही हैं।

पूरी खबर यहां पढ़ें: वरिष्ठ पत्रकार निधि राजदान ने NDTV छोड़ने का लिया फैसला, बताई ये वजह

जून में ही हिंदी न्यूज चैनल ‘न्यूज नेशन’ (News Nation) से एक बड़ी खबर निकलकर सामने आई कि यहां मैनेजिंग एडिटर के तौर पर कार्यरत वरिष्ठ पत्रकार अजय कुमार ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। अजय कुमार वर्ष 2013 से इस चैनल के साथ जुड़े हुए थे और चैनल को लॉन्च करने वाली कोर टीम के सदस्य भी थे। हालांकि जुलाई की शुरुआत में खबर आई कि उन्होंने ‘इंडिया टीवी’ (India TV) में बतौर कंसल्टिंग एडिटर अपनी नई पारी शुरू की है। मूल रूप से बिहार के रहने वाले अजय कुमार को विभिन्न मीडिया संस्थानों में काम करने का करीब 27 साल का अनुभव है।   

पूरी खबर यहां पढ़ें: अब इस चैनल में बड़ी भूमिका निभाएंगे वरिष्ठ पत्रकार अजय कुमार

फिर खबर आई कि ‘ओवर द टॉप’ (OTT) प्लेटफॉर्म ‘डिज्नी+हॉटस्टार’ (Disney+ Hotstar) को भारत में नया हेड मिल गया है। दरअसल, सुनील रेयान (Sunil Rayan) को भारत में ‘Disney+ Hotstar’ का नया प्रेजिडेंट और हेड नियुक्त किया गया। रेयान ने ‘गूगल’ में विभिन्न पदों पर सात साल की पारी खेलने के बाद यहां जॉइन किया था। उन्हें बिजनेस बिल्डिंग, स्ट्रैटेजी, सेल्स, बिजनेस डेवलपमेंट, मार्केटिंग, कॉमर्शियल और प्रॉडक्ट ऑपरेशंस का करीब 20 साल का अनुभव है। ‘गूगल’ में वह कैलिफोर्निया में मैनेजिंग डायरेक्टर (Cloud for Games) के पद पर कार्यरत थे।

पूरी खबर यहां पढ़ें: इस बड़े पद पर Disney+ Hotstar से जुड़े सुनील रेयान

हिंदी न्यूज चैनल ‘इंडिया टीवी’ में कंसल्टिंग एडिटर अजय कुमार की नियुक्ति के बाद दो और चेहरों को शामिल करने की खबर आई, जिनमें आनंद पांडे को एडिटर (रिसर्च एंड प्लानिंग) और जयप्रकाश सिंह को मुंबई का ब्यूरो चीफ बनाया गया था। आनंद पांडे को मीडिया में 25 साल का अनुभव है। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत 1995 में बतौर रिपोर्टर ‘दैनिक भास्कर’ के इंदौर एडिशन से की थी।वहीं दो साल के अंतराल के बाद, एक बार फिर जयप्रकाश सिंह ने ‘इंडिया टीवी’ में वापसी की थी। इस बार भी उन्हें मुंबई का ब्यूरो चीफ नियुक्त किया गया, जबकि इससे पहले भी वे मुंबई के ब्यूरो चीफ ही थे और तब उन्होंने छह साल तक ‘इंडिया टीवी’ के साथ काम किया था। उन्हें प्रिंट और टेलिविजन पत्रकारिता में 26 साल का अनुभव है। ‘इंडिया टीवी’ जॉइन करने से पहले वे ‘सहारा समय’ और ‘आईबीएन7’ (अब न्यूज18 इंडिया) में अपना योगदान दे चुके थे।

पूरी खबर यहां पढ़ें:‘इंडिया टीवी’ में बड़े पद हुईं दो अन्य नियुक्तियां, इन्हें मिली जगह

फिर नेटवर्क18 को अलविदा कहने के वाले बसंत धवन को लेकर खबर आई कि देश की जानी-मानी स्पोर्ट्स मार्केटिंग और मैनेजमेंट कंपनी ‘ट्वेंटी फर्स्ट सेंचुरी मीडिया’ (TCM) ने बसंत धवन को चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर (CEO) के पद पर नियुक्त किया। उनकी इस भूमिका में बसंत धवन के कंधों पर कंपनी ने सभी मौजूदा बिजनेस वर्टिकल्स (स्पोर्ट्स कंसल्टेंसी, डोमेस्टिक लीग राइट्स, एथलीट रिप्रजेंटेशन, स्पॉन्सरशिप मैनेजमेंट और ईवेंट ऑपरेशंस आदि) की जिम्मेदारी सौंपी थीं। इसके अलावा घरेलू और अंतरराष्ट्रीय मार्केट्स में कंपनी के लिए स्पोर्ट्स कंटेंट स्ट्रैटेजी को विकसित करने और उसे लागू करने के साथ ही नए बिजनेस लाइन को चलाने की जिम्मेदारी भी उनके कंधों पर डाली गई थी। इस नियुक्ति से पहले धवन नेटवर्क18 में ‘सीएनएन न्यूज18’, ‘सीएनबीसी टीवी18’, ‘सीएनबीसी आवाज’ और ‘सीएनबीसी बाजार’ चैनल्स का नेतृत्व कर रहे थे। वे नेटवर्क18’ में  अंग्रेजी और बिजनेस न्यूज चैनल में सीईओ के पद पर कार्यरत थे।

पूरी खबर यहां पढ़ें: नेटवर्क18 को अलविदा कहने के बाद अब बसंत धवन इस कंपनी में बने CEO

हिंदी न्यूज चैनल ‘न्यूज नेशन’ (News Nation) को बाय बोलने के बाद टीवी पत्रकार कुमार प्रत्यूष ने ‘रिपब्लिक भारत’ (Republic Bharat) के साथ अपनी नई पारी की शुरुआत जुलाई में की। यहां उन्होंने बतौर आउटपुट एडिटर जॉइन किया। न्यूज नेशन में भी वह आउटपुट एडिटर की जिम्मेदारी संभाल रहे थे। मूल रूप से बिहार के रहने वाले कुमार प्रत्यूष को पत्रकारिता के क्षेत्र में काम करने का करीब 20 साल का अनुभव है। दिल्ली यूनिवर्सिटी से पढ़ाई करने के बाद उन्होंने प्रॉडक्शन हाउस ‘बीएजी’ (BAG) के साथ अपने पत्रकारिता करियर की शुरुआत की थी।

पूरी खबर यहां पढ़ें: News Nation को छोड़ अब इस चैनल में आउटपुट एडिटर की भूमिका निभाएंगे कुमार प्रत्यूष

जुलाई में ही ‘द न्यू इंडियन एक्सप्रेस’ (The New Indian Express) में अमिताभ बिश्नोई को एक नई जिम्मेदारी दी गई थी। उन्हें डिजिटल का वाइस प्रेजिडेंट बनाया गया था। बता दें कि इसके पहले वे दिसंबर 2019 से इस ऑर्गनाइजेशन में मार्केटिंग व डिजिटल ऑपरेशंस के वाइस प्रेजिडेंट थे। देश के प्रतिष्ठित मीडिया संस्थान IIMC के पूर्व छात्र रह चुके बिश्नोई ने साल 2008 से 2009 तक सहारा इंडिया मास कम्युनिकेशन (Sahara India Mass Communication) के लिए वेस्टर्न रीजन में मार्केटिंग हेड थे। 

पूरी खबर यहां पढ़ें: The New Indian Express में अमिताभ बिश्नोई को मिली बड़ी जिम्मेदारी

इसके बाद, हिंदी की प्रतिष्ठित पत्रिका ‘आउटलुक’ (outlook) से एक बड़ी खबर आई। खबर ये थी कि इस पत्रिका के संपादक हरवीर सिंह ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। इस बात की जानकारी हरवीर सिंह ने खुद समाचार4मीडिया को दी। उन्होंने अपने फेसबुक वॉल पर भी इसका जिक्र किया था। इस पोस्ट में हरवीर सिंह ने बताया था कि उन्होंने अब ‘हिंद किसान’ (Hind Kisan) में बतौर एडिटर-इन-चीफ नई पारी की शुरुआत कर दी है। मूल रूप से मुजफ्फरनगर के रहने वाले हरवीर सिंह को पत्रकारिता के क्षेत्र में काम करने का 30 साल से ज्यादा का अनुभव है।

पूरी खबर यहां पढ़ें: आउटलुक को बाय बोल वरिष्ठ संपादक हरवीर सिंह ने नई दिशा में बढ़ाए कदम

फिर 'हिन्दी खबर' न्यूज नेटवर्क से खबर थी कि वरिष्ठ पत्रकार धनंजय सिंह ने मैनेजिंग एडिटर के तौर पर चैनल को जॉइन कर लिया है। धनंजय सिंह को पिछले ढाई दशक से ज्यादा का अनुभव है। वे ‘आजतक’,  ‘इंडिया टीवी’, ‘IBN7’ (न्यूज18इंडिया), जी न्यूज, ‘रिपब्लिक भारत’ और सहारा जैसे बड़े मीडिया घरानों में सीनियर पोजिशन्स पर कार्य कर चुके हैं।

पूरी खबर यहां पढ़ें: वरिष्ठ पत्रकार धनंजय सिंह ने इस चैनल से की नई पारी की शुरुआत, बने मैनेजिंग एडिटर

जुलाई के अंत में खबर आई कि टेक-मीडिया स्टार्टअप NEWJ (न्यू इमर्जिंग वर्ल्ड ऑफ जर्नलिज्म लिमिटेड) ने वरिष्ठ पत्रकार सिद्धार्थ जराबी को अपना मैनेजिंग एडिटर नियुक्त किया है। सिद्धार्थ जराबी देश के सबसे प्रसिद्ध पत्रकारों में से एक है, जिन्हें दो दशकों से भी ज्यादा का अनुभव है। सिद्धार्थ ने देश की कई प्रिंट कंपनियों के न्यूज रूम का नेतृत्व किया है। इसके अतिरिक्त उन्होंने ग्लोबल पार्टनर्स के साथ दो बिजनेस न्यूज चैनल्स में हेड की भूमिका निभाई है। प्रतिस्पर्धा के इस दौर की न्यूज इंडस्ट्री में उन्हें तरह-तरह के कंटेंट और कुछ नया करने का श्रेय दिया जाता है। उन्हें मीडिया का व्यापक अनुभव और गहन नॉलेज है।

पूरी खबर यहां पढ़ें: सिद्धार्थ जराबी इस टेक-मीडिया स्टार्टअप के बने मैनेजिंग एडिटर

अगस्त में न्यूज एंकर सुशांत सिन्हा ने ‘इंडिया टीवी’ (India TV) में अपनी करीब डेढ़ साल पुरानी पारी को विराम दे दिया था। वह यहां एग्जिक्यूटिव एडिटर के तौर पर कार्यरत थे। हालांकि चर्चा थी कि वह जल्द ही किसी चैनल के साथ अपनी नई पारी शुरू करेंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। वे फिलहाल एक यू-ट्यूब चैनल चला रहे हैं।

सुशांत सिन्हा ने पिछले साल मार्च में ‘इंडिया टीवी’ के साथ अपना सफर शुरू किया था। मूल रूप से पटना के रहने वाले सुशांत सिन्हा पत्रकारिता में अपने 18 साल से ज्यादा के करियर के दौरान तमाम न्यूज चैनल्स में जिम्मेदारी निभा चुके हैं।

पूरी खबर यहां पढ़ें: न्यूज एंकर सुशांत सिन्हा ने India TV को कहा अलविदा   

अगस्त में ही खबर आई कि न्यूज18 तमिलनाडु से इस्तीफा देने के बाद वरिष्ठ पत्रकार एम. गुनासेकरन (M. Gunasekaran) अब अपनी नई पारी की शुरुआत करने जा रहे हैं। वे तब कलानिधि मारन के नेतृत्व वाले ‘सन नेटवर्क’ के चैनल ‘सन न्यूज’ (Sun News) को जॉइन करने जा रहे थे। उन्होंने यहां एडिटर-इन-चीफ की कमान सौंपी गई। बता दें कि न्यूज18 तमिलनाडु में न्यूज एडिटर के पद पर कार्यरत गुनासेकरन ने यूट्यूबर मरिधास (Maridhas) द्वारा लगाए गए राजनीतिक पूर्वाग्रहों के आरोपों के बाद 31 जुलाई को अपने पद से इस्तीफा दे दिया था।

पूरी खबर यहां पढ़ें: अब इस चैनल के साथ नई पारी शुरू करेंगे वरिष्ठ पत्रकार एम गुनासेकरन

अगस्त में खबर आई कि ‘सहारा न्यूज नेटवर्क’ (Sahara News Network) में बतौर ग्रुप एडिटर अपनी जिम्मेदारी निभा रहे वरिष्ठ पत्रकार मनोज मनु ने अब यहां से बाय बोल दिया और अब उन्होंने अपना नया सफर ‘इंडिया न्यूज़ नेटवर्क’ (India News Network) के साथ शुरू किया। उन्होंने यहां पर बतौर एग्जिक्यूटिव एडिटर (नेटवर्क) जॉइन किया था। मनोज मनु ‘इंडिया न्यूज’ पर अब  एक घंटे के खास शो में एंकरिंग करते हैं, साथ ही ‘इंडिया न्यूज’ के मध्य प्रदेश/छत्तीसगढ़ चैनल्स को भी हेड हैं।

पूरी खबर यहां पढ़ें: वरिष्ठ पत्रकार मनोज मनु ने अब इस न्यूज नेटवर्क के साथ शुरू किया नया सफर

मशहूर टीवी एंकर व हिंदी न्यूज चैनल ‘न्यूज24’ (News24) की एसोसिएट एडिटर साक्षी जोशी ने भी अगस्त में अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। साक्षी जोशी इस संस्थान में करीब साढ़े चार साल से अपनी जिम्मेदारी संभाल रही थीं। समाचार4मीडिया के साथ बातचीत में साक्षी जोशी ने बताया था कि उन्होंने अपना इस्तीफा पिछले महीने ही संस्थान को सौंप दिया था और फिलहाल नोटिस पीरियड पर काम कर रही थीं। साक्षी जोशी का कहना था कि वह मीडिया के वर्तमान हालात से खुश नहीं हैं और फिलहाल किसी भी न्यूज चैनल में जॉइन नहीं करेंगी और अब वह अपने यू-ट्यूब चैनल पर ध्यान केंद्रित करेंगी और इसकी ग्रोथ की दिशा में काम करेंगी। 

पूरी खबर यहां पढ़ें: सीनियर न्यूज एंकर साक्षी जोशी ने न्यूज24 को कहा बाय, अब करेंगी ये काम

अगस्त, 2020 में ही वरिष्ठ पत्रकार राहुल सिन्हा ने ‘जी न्यूज’ (Zee News) में अपनी 18 साल लंबी पारी को विराम दे दिया था और बाद में हिंदी न्यूज चैनल ‘टीवी9 भारतवर्ष’ (TV9 Bharatvarsh) को बतौर एडिटर (असाइनमेंट) जॉइन कर लिया था। मूल रूप से उत्तर प्रदेश में मुरादाबाद के रहने वाले राहुल सिन्हा को पत्रकारिता के क्षेत्र में काम करने का 22 साल से ज्यादा का अनुभव है। उन्होंने पत्रकारिता जगत में अपने करियर की शुरुआत मुरादाबाद में ‘वीर अर्जुन’ अखबार से की थी।

पूरी खबर यहां पढ़ें: ZEE News को बाय बोल वरिष्ठ पत्रकार राहुल सिन्हा ने इस चैनल संग शुरू किया नया सफर

अगस्त में ‘राज्यसभा टीवी’ (RSTV) के एडिटर-इन-चीफ राहुल महाजन ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। वे इस पद पर करीब ढाई वर्ष से अपनी जिम्मेदारी संभाल रहे थे। इसके करीब एक माह बाद सितंबर में उन्हें दूरदर्शन में बतौर हेड (कंटेंट ऑपरेशंस) के पद पर नियुक्त किया गया। उन्हें मीडिया के क्षेत्र में काम करने का करीब 28 साल का अनुभव है। इनमें से 25 साल उन्होंने अलग-अलग मीडिया संस्थानों में काम किया है। वह प्रसार भारती में कंसल्टिंग एडिटर भी रह चुके हैं।  

पूरी खबर यहां पढ़ें: RSTV के पूर्व एडिटर-इन-चीफ राहुल महाजन को दूरदर्शन में मिली बड़ी जिम्मेदारी

सितंबर में ‘ईटी प्राइम’ (ET PRIME) के सीनियर एडिटर के पद से अलग होकर ऋषि जोशी ने वरिष्ठ संपादक भूपेंद्र चौबे और सुदीप मुखिया के नेतृत्व वाले न्यूज चैनल ‘इंडिया अहेड’ (India Ahead) के साथ अपनी नई पारी शुरू की। ऋषि जोशी को विभिन्न मीडिया प्लेटफॉर्म्स के साथ काम करने का करीब दो दशक का अनुभव है।

पूरी खबर यहां पढ़ें: India Ahead से जुड़े वरिष्ठ पत्रकार ऋषि जोशी, संभालेंगे बड़ी जिम्मेदारी

सितंबर में खबर आई कि वरिष्ठ पत्रकार जैकब मैथ्यू वरिष्ठ संपादक भूपेंद्र चौबे और सुदीप मुखिया के नेतृत्व वाले न्यूज चैनल ‘इंडिया अहेड’ (India Ahead) के साथ अपनी नई पारी शुरू की। उन्हें यहां डायरेक्टर (न्यूज) के पद पर जॉइन किया। मैथ्यू मीडिया इंडस्ट्री के साथ दो दशक से ज्यादा समय से जुड़े हुए हैं। पूर्व में वह ‘सीएनएन आईबीएन’ (CNN IBN), ‘इंडिया टीवी’ (INDIA TV), ‘एएनआई’ (ANI), ‘रॉयटर्स’ (Reuters) और न्यूज24 (NEWS 24) जैसे प्रतिष्ठित मीडिया संस्थानों में अपनी जिम्मेदारी निभा चुके हैं।

पूरी खबर यहां पढ़ें: इस चैनल में डायरेक्टर (न्यूज) की जिम्मेदारी निभाएंगे वरिष्ठ पत्रकार जैकब मैथ्यू

फिर खबर आई कि एशियानेट न्यूज मीडिया एंड एंटरटेनमेंट प्रा. लिमिटेड (Asianet News Media & Entertainment Pvt. Ltd.) ने राजेश कालरा को अपना एग्जिक्यूटिव चेयरमैन नियुक्त किया है। वे बोर्ड में भी शामिल होंगे। इससे पहले कालरा 'टाइम्स इंटरनेट' (Times Internet) के चीफ एडिटर के पद पर कार्यरत थे। वह पिछले 14 वर्षों से इस पद से जुड़े हुए थे। वे साल 2000 से 2006 के बीच एक एंत्रप्रेन्योर भी रह चुके हैं, जब उनकी कंपनी ने याहू इंडिया (Yahoo India), एमएसएन इंडिया (MSN India), मंत्रा ऑनलाइन (Mantra Online) जैसी वेबसाइट्स के डायनामिक पोर्शन को मैनेज किया और देश की पहली 24*7 न्यूज वेबसाइट ‘नारदऑनलाइन’ (NaradOnline) की शुरुआत की।  

पूरी खबर यहां पढ़ें: इस मीडिया कंपनी में एग्जिक्यूटिव चेयरमैन बने राजेश कालरा

सितंबर में मीडिया गलियारों में इस बात की काफी चर्चा हो रही थी कि आखिर टीवी मीडिया का कौन सा चेहरा बीते साल लॉन्च होने वाले न्यूज चैनल R9 की कमान संभालेगा, पर अब इस बात पर मुहर तब लग गई जब चैनल के नए डायरेक्टर (न्यूज) की कमान ‘समाचार प्लस’ न्यूज चैनल के सीईओ व एडिटर-इन-चीफ रह चुके वरिष्ठ पत्रकार उमेश कुमार ने संभाली। इसके अतिरिक्त उमेश कुमार को चैनल के सीईओ पद की जिम्मेदारी दी गई थी।

पूरी खबर यहां पढ़ें: ‘बांग्ला भारत’ के CEO उमेश कुमार ने अब इस चैनल की भी संभाली कमान

फिर खबर थी कि वरिष्ठ पत्रकार रोहित विश्वकर्मा ने ‘एबीपी नेटवर्क’ (ABP Network) के साथ अपनी नई पारी की शुरुआत की है। उन्होंने यहां पर बतौर एडिटोरियल कंसल्टेंट जॉइन किया था। इससे पहले रोहित विश्वकर्मा ‘इंडिया न्यूज’ (India News) के साथ डिप्टी मैनेजिंग एडिटर के तौर पर जुड़े हुए थे। उन्होंने पिछले साल ही यहां जॉइन किया था। हालांकि, इस चैनल के साथ उनका सफर ज्यादा लंबा नहीं चला और करीब आठ महीने बाद ही उन्होंने यहां से अलविदा कह दिया था।  

पूरी खबर यहां पढ़ें: ABP नेटवर्क से जुड़े वरिष्ठ पत्रकार रोहित विश्वकर्मा, मिली ये जिम्मेदारी

अक्टूबर 2020 में सीनियर न्यूज एंकर और ‘न्यूज 24’ (News 24) की न्यूज एडिटर कविता सिंह ने यहां से इस्तीफा दे दिया था और ‘रिपब्लिक भारत’ (Republic Bharat) में बतौर सीनियर न्यूज एडिटर जॉइन किया था। जॉइनिंग के पहले ही दिन वह चैनल की हाथरस कवरेज का हिस्सा बनीं थी। ‘रिपब्लिक भारत’ के साथ उनकी यह दूसरी पारी है, जिसे वह बखूबी निभा रही हैं। कविता सिंह को पत्रकारिता के क्षेत्र में काम करने का 15 साल का अनुभव है।

पूरी खबर यहां पढ़ें: सीनियर न्यूज एंकर कविता सिंह की 'रिपब्लिक भारत' में वापसी

अक्टूबर में हिंदी न्यूज चैनल ‘एबीपी न्यूज’ (ABP News) से एक बड़ी खबर निकलकर सामने आई कि चैनल के एग्जिक्यूटिव एडिटर निखिल दुबे ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने पिछले साल अगस्त में इस चैनल को जॉइन किया था। ‘एबीपी न्यूज’ में उनकी यह तीसरी पारी थी। उन्होंने अपनी नई पारी ‘जी न्यूज’ (zee news) के साथ शुरू की है। बता दें कि टीवी न्यूज इंडस्ट्री में पर्दे के पीछे काम करने वालों में निखिल कुमार दुबे ऐसा चेहरा हैं, जिन्हें काफी काबिल माना जाता है।

पूरी खबर यहां पढ़ें: वरिष्ठ टीवी पत्रकार निखिल दुबे ने ABP न्यूज को बोला बाय, इस चैनल संग शुरू करेंगे नई पारी

नवंबर 2020 में हिंदी न्यूज चैनल ‘रिपब्लिक भारत’ (Republi Bharat) से अलग हुए वरिष्ठ पत्रकार शमशेर सिंह ने ‘जी हिन्दुस्तान’ (Zee Hindustan) में बतौर मैनेजिंग एडिटर अपनी नई पारी शुरू की। इस पद पर रहते हुए वह क्लस्टर-2 की डिजिटल प्रॉपर्टीज की जिम्मेदारी भी संभाल रहे हैं। शमशेर सिंह नवंबर 2018 से ‘रिपब्लिक भारत’ के साथ जुड़े हुए थे और बतौर एडिटर अपनी जिम्मेदारी संभाल रहे थे। मूल रूप से पूर्णिया (बिहार) के रहने वाले शमशेर सिंह को पत्रकारिता के क्षेत्र में 22 वर्षों से भी ज्यादा का अनुभव है।

पूरी खबर यहां पढ़ें: वरिष्ठ टीवी पत्रकार शमशेर सिंह ने इस चैनल के साथ शुरू किया नया सफर

नवंबर 2020 में ही वरिष्ठ पत्रकार पारितोष चतुर्वेदी ने लगभग दो साल के अंतराल के बाद ‘जी न्यूज’ (Zee News) में वापसी की है। यहां पर उन्होंने बतौर एग्जिक्यूटिव एडिटर जॉइन किया और आउटपुट का काम देख रहे हैं। ‘जी न्यूज’ के साथ यह पारी शुरू करने से पहले पारितोष चतुर्वेदी ‘एबीपी न्यूज’ (ABP News) में एग्जिक्यूटिव एडिटर के तौर पर अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे। मूल रूप से बिहार के रहने वाले पारितोष को मीडिया के क्षेत्र में काम करने का करीब 20 साल का अनुभव है।

पूरी खबर यहां पढ़ें: Zee न्यूज में पारितोष चतुर्वेदी की हुई वापसी, मिली यह बड़ी जिम्मेदारी

इसके बाद खबर आई कि वरिष्ठ पत्रकार प्रभु चावला की लंबे समय बाद इस ग्रुप में फिर वापसी हुई है। उन्हें ‘टीवी टुडे नेटवर्क’ (TVTN) में कंसल्टिंग एडिटर के पद पर नियुक्त किया गया है। फिलहाल, उन्होंने एक दिसंबर से अपनी जिम्मेदारी संभाल ली है। प्रभु चावला पूर्व में ‘इंडिया टुडे’ मैगजीन के संपादक व इंडिया टुडे समूह के संपादकीय निदेशक रह चुके हैं। इसके अलावा वह ‘आजतक’ पर एक साप्‍ताहिक टॉक शो ‘सीधी बात’ को भी होस्ट कर चुके हैं। इंडिया टुडे में शामिल होने से पहले प्रभु चावला दिल्‍ली विश्‍वविद्यालय में अर्थशास्‍त्र के व्याख्याता थे।

पूरी खबर यहां पढ़ें:वरिष्ठ पत्रकार प्रभु चावला की इंडिया टुडे समूह में वापसी, मिली बड़ी जिम्मेदारी

फिर खबर आई कि वरिष्ठ पत्रकार और न्यूज एंकर स्मिता शर्मा ने ‘इंडिया अहेड’ (India Ahead) चैनल के साथ अपनी नई पारी शुरू की है। उन्होंने यहां पर बतौर कान्ट्रीब्यूटिंग एडिटर (Contributing Editor) जॉइन किया है। पत्रकारिता में अपने 17 साल से ज्यादा के करियर में स्मिता शर्मा को प्रिंट, टीवी और डिजिटल में काम करने का अनुभव है। पूर्व में वह द ट्रिब्यून, आईबीएन7/सीएनएन-आईबीएन, इंडिया टुडे टीवी/आजतक, डीडी न्यूज और टीवी9 भारतवर्ष में अपनी जिम्मेदारी निभा चुकी हैं।

पूरी खबर यहां पढ़ें: वरिष्ठ पत्रकार स्मिता शर्मा ने इस चैनल से किया नए सफर का आगाज

दिसंबर में यह भी खबर आई कि 'जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लिमिटेड’ (ZEEL) की ओटीटी सर्विस ‘ZEE5’ (Zee5) इंडिया के निवर्तमान चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर तरुण कात्याल अपनी खुद की कंटेंट कंपनी शुरू करने जा रहे हैं। हमारी सहयोगी वेबसाइट ‘एक्सचेंज4मीडिया’ (exchange4media) को विश्वस्त सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी में यह कहा गया कि ‘बालाजी टेलिफिल्म्स’ (Balaji Telefilms) उनकी कंपनी की पहली क्लाइंट होगी। हालांकि, अपने नए वेंचर को लेकर उड़ रही खबरों के बारे में तरुण कात्याल ने यह कहते हुए कुछ भी जानकारी देने से इनकार कर दिया था वे समय आने पर इसकी घोषणा करेंगे। तरुण कात्याल ने पिछले महीने Zee5 इंडिया के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर के पद से इस्तीफा दे दिया था। वह इस महीने के अंत तक नोटिस पीरियड पर इस कंपनी में काम करते रहेंगे।

पूरी खबर यहां पढ़ें: ZEE5 India से अलग होकर तरुण कात्याल शुरू कर सकते हैं नया वेंचर

दिसंबर में ही खबर आई कि जी मीडिया ग्रुप के रीजनल चैनल ‘जी 24 घंटा’ (ZEE 24 Ghanta) से वरिष्ठ पत्रकार अंजन बंदोपाध्याय जुड़े हैं। वे यहां एडिटर की भूमिका में है। उन पर डिजिटल के अलावा चैनल के इनपुट और आउटपुट में सभी तरह के कंटेंट की जिम्मेदारी दी गई है।

33 वर्षीय पत्रकार अंजन ‘जी 24 घंटा’ में साल 2006 से 2015 तक एडिटर (इनपुट) की भूमिका निभा चुके हैं। हाल ही में, वे एबीपी डिजिटल से टीवी9 में बतौर एडिटर शामिल हुए थे और बंगाल में चैनल को लॉन्च कराने में अपना योगदान दिया था।

पूरी खबर यहां पढ़ें: Zee मीडिया में इस चैनल के एडिटर बने वरिष्ठ पत्रकार अंजन बंदोपाध्याय

और दिसंबर 2020 के अंत में खबर आई कि अंग्रेजी न्यूज चैनल ‘सीएनएन-न्‍यूज 18’ (CNN-News18) की न्यूज एंकर और स्पेशल करेसपॉन्डेंट स्नेहा मोर्दानी (Sneha Mordani) जल्द ही अपनी नई पारी शुरू करने जा रही हैं। खबर है कि वह ‘इंडिया टुडे’ (India Today) समूह में एक नई भूमिका में नजर आएंगी।

पूरी खबर यहां पढ़ें: India Today समूह के साथ नई पारी शुरू करेंगी पत्रकार स्नेहा मोर्दानी

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

सोशल मीडिया और OTT प्लेटफॉर्म्स पर सरकार ने कसी लगाम, जारी कीं ये गाइडलाइंस

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और रविशंकर प्रसाद ने गुरुवार की दोपहर आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसकी घोषणा की।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 25 February, 2021
Last Modified:
Thursday, 25 February, 2021
OTT

केंद्र सरकार ने सोशल मीडिया और ओवर-द-टॉप (OTT) प्‍लेटफॉर्म्‍स के लिए गुरुवार को गाइडलाइंस जारी कर दी हैं। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और रविशंकर प्रसाद ने गुरुवार की दोपहर आयोजित एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में इसकी घोषणा की। नई गाइडलाइंस के दायरे में फेसबुक, ट्विटर जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्‍स और नेटफ्लिकस, अमेजॉन प्राइम और हॉटस्‍टार जैसे ओटीटी प्‍लेटफॉर्म्‍स आएंगे।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इस मौके पर केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर का कहना था, 'सरकार का मानना है कि मीडिया प्‍लेटफॉर्म्‍स के लिए एक लेवल-प्‍लेइंग फील्‍ड होना चाहिए इसलिए कुछ नियमों का पालन करना पड़ेगा। लोगों की मांग भी बहुत थी।' प्रकाश जावड़ेकर ने कहा जिस तरह फिल्मों के लिए सेंसर बोर्ड हैं, टीवी के लिए अलग काउंसिल बना है उसी तरह ओटीटी के लिए भी नियम लाए जा रहे हैं। लगातार मिल रही शिकायतों के बाद सरकार ने नए नियम लागू करने पर विचार किया है। उनका कहना था कि ओटीटी प्लेटफॉर्म्स के पास किसी तरह का कोई बंधन नहीं है। इसलिए तमाम आपत्तिजनक सामाग्रियां बिना किसी रोकटोक के दिखाई जाती हैं। इसी के मद्दे नजर सरकार को ये लगता है कि सभी लोगों को कुछ नियमों का पालन करना होगा।

वहीं, रविशंकर प्रसाद का कहना था, ‘सोशल मीडिया कंपनियों का भारत में कारोबार करने के लिए स्‍वागत है। इसकी हम तारीफ करते हैं। व्‍यापार करें और पैसे कमांए। सरकार असहमति के अधिकार का सम्मान करती है लेकिन यह बेहद जरूरी है कि यूजर्स को सोशल मीडिया के दुरुपयोग को लेकर सवाल उठाने के लिए फोरम दिया जाए।’ प्रसाद ने कहा, ’हमारे पास कई शिकायतें आईं कि सोशल मीडिया पर मार्फ्ड तस्‍वीरें शेयर की जा रही हैं। आतंकी गतिविधियों के लिए इनका इस्‍तेमाल हो रहा है। सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म्‍स के दुरुपयोग का मसला सिविल सोसायटी से लेकर संसद और सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच चुका है।’

सोशल मीडिया के लिए गाइडलाइंस

- इसमें दो तरह की कैटिगरी हैं: सोशल मीडिया इंटरमीडियरी और सिग्निफिकेंट सोशल मीडिया इंटरमीडियरी।

- सबको शिकायत निवारण व्यवस्था (ग्रीवांस रीड्रेसल मैकेनिज्‍म) बनानी पड़ेगी। 24 घंटे में शिकायत दर्ज करनी होगी और 14 दिन में निपटाना होगा।

- अगर यूजर्स खासकर महिलाओं के सम्‍मान से खिलवाड़ की शिकायत हुई तो 24 घंटें में कंटेंट हटाना होगा।

- सिग्निफिकेंड सोशल मीडिया को चीफ कम्‍प्‍लायंस ऑफिसर रखना होगा जो भारत का निवासी होगा।

- एक नोडल कॉन्‍टैक्‍ट पर्सन रखना होगा जो कानूनी एजेंसियों के चौबीसों घंटे संपर्क में रहेगा।

- मंथली कम्‍प्‍लायंस रिपोर्ट जारी करनी होगी।

- सोशल मीडिया पर कोई खुराफात सबसे पहले किसने की, इसके बारे में सोशल मीडिया कंपनी को बताना पड़ेगा।

- हर सोशल मीडिया कंपनी का भारत में एक पता होना चाहिए।

- हर सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म के पास यूजर्स वेरिफिकेशन की व्‍यवस्‍था होनी चाहिए।

- सोशल मीडिया के लिए नियम आज से ही लागू हो जाएंगे। सिग्निफिकेंड सोशल मीडिया इंटरमीडियरी को तीन महीने का वक्‍त मिलेगा।

ओटीटी प्‍लेटफॉर्म्‍स के लिए गाइडलाइंस

- ओटीटी और डिजिटल न्‍यूज मीडिया को अपने बारे में विस्‍तृत जानकारी देनी होगी। रजिस्‍ट्रेशन अनिवार्य नहीं है।

- दोनों को ग्रीवांस रीड्रेसल सिस्‍टम लागू करना होगा। अगर गलती पाई गई तो खुद से रेगुलेट करना होगा।

- ओटीटी प्‍लेटफॉर्म्‍स को सेल्‍फ रेगुलेशन बॉडी बनानी होगी, जिसे सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज या कोई नामी हस्‍ती हेड करेगी।

- सेंसर बोर्ड की तरह ओटीटी पर भी उम्र के हिसाब से सर्टिफिकेशन की व्‍यवस्‍था हो। एथिक्‍स कोड टीवी, सिनेमा जैसा ही रहेगा।

- डिजिटल मीडिया पोर्टल्‍स को अफवाह और झूठ फैलाने का कोई अधिकार नहीं है।

गौरतलब है कि लंबे समय से नेटफ्लिक्स और अमेजॉन प्राइम जैसे ओटीटी प्लेटफॉर्म्स को नियंत्रित करने पर बहस चल रही थी। पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट ने ओटीटी प्लेटफॉर्म्स को नियंत्रित करने की मांग करने वाली याचिका पर सुनवाई कर केंद्र सरकार से अब तक की गई कार्रवाइयों पर जवाब दाखिल करने को कहा था।

सुनवाई के दौरान केंद्र सरकार ने कहा था कि वह ओटीटी प्लेटफॉर्म्स पर कार्रवाई करने पर विचार कर रही है। अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल संजय जैन ने सुप्रीम कोर्ट को बताया था कि केंद्र सरकार ओटीटी प्लेटफॉर्म्स को नियंत्रित करने के मुद्दे पर कुछ कदम उठाने पर विचार कर रही है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

फर्जी पत्रकार का इस तरह फूटा भांडा, पुलिस ने दिखाया हवालात का रास्ता

पुलिस ने मध्य प्रदेश के दतिया जिले में एक फर्जी पत्रकार को गिरफ्तार किया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 24 February, 2021
Last Modified:
Wednesday, 24 February, 2021
Arrest

पुलिस ने मध्य प्रदेश के दतिया जिले में एक फर्जी पत्रकार को गिरफ्तार किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, पकड़ा गया फर्जी पत्रकार कई बड़े न्यूज चैनल्स और अखबारों के फर्जी आईडी बनवाकर क्षेत्र में अवैध रूप से वसूली कर रहा था।

आरोपी ने अपना एक होर्डिंग भी छपवाकर दतिया व्यापार मेले के बाहर लगा दिया था, जिसमें उसने खुद को मीडिया पार्टनर बताया था। अन्य पत्रकारों ने जब अपने चैनलों का नाम और फर्जी पत्रकार का नाम देखा तो कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज करा दी। मामला दर्ज होने के बाद पुलिस ने करीब 21 वर्षीय इस फर्जी पत्रकार को उसके घर से कई दस्तावेजों के साथ गिरफ्तार कर लिया।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, रविवार देर रात स्थानीय पत्रकार ने राजघाट कॉलोनी महावीर वाटिका निवासी अनुज पुत्र अनिल गुप्ता पर फर्जी पत्रकार बनकर लोगों से अवैध वसूली करने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। एसपी अमन सिंह राठौड़ के निर्देश पर सोमवार को पुलिस ने आरोपी के घर दबिश देकर उसे गिरफ्तार कर लिया।

पूछताछ करने पर अनुज के पास कई चैनलों और अखबारों के साथ पीआरओ का लेटर फ्रेम में जड़ा हुआ मिला। कई युवक-युवतियों को पत्रकार बनाने संबंधी दस्तावेज व नियुक्ति पत्र भी आरोपी के घर से जब्त किए गए। पुलिस अनुज से पूछताछ कर रही है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

Quint में रितु कपूर की इस पद पर नियुक्ति को शेयरहोल्डर्स ने दिखाई हरी झंडी

29 दिसंबर 2020 को राघव बहल ने कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर के पद से दे दिया था इस्तीफा

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 23 February, 2021
Last Modified:
Tuesday, 23 February, 2021
Ritu Kapur

डिजिटल न्यूज प्लेटफॉर्म thequint.com के स्वामित्व वाली और संचालक कंपनी ‘क्विंट डिजिटल मीडिया’ (Quint Digital Media) को कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर और चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर के पद पर रितु कपूर को पुन: नामित (re-designate) किए जाने के प्रस्ताव को शेयरहोल्डर्स (Shareholders) की मंजूरी मिल गई है। इसके साथ ही कंपनी को वंदना मलिक को नॉन एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर के पद पर नियुक्त किए जाने के प्रस्ताव को भी शेयरहोल्डर्स से मंजूरी मिल गई है। यह नियुक्ति पांच साल के लिए होगी।

‘क्विंट डिजिटल मीडिया’ ने बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को इस बारे में जानकारी दी है। बताया जाता है कि 20 जनवरी को एक मीटिंग में बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने रितु कपूर को कंपनी के एमडी और चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर पद पर नियुक्त किए जाने को अपनी मंजूरी प्रदान कर दी थी। इस निर्णय पर शेयरधारकों की मुहर लगनी बाकी थी।    

बता दें कि कंपनी ने 30 दिसंबर 2020 को जानकारी दी थी कि राघव बहल ने कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर के पद से इस्तीफा दे दिया है। कंपनी का कहना था कि 29 दिसंबर 2020 के बाद मैनेजिंग डायरेक्टर के पद से राघव बहल का इस्तीफा प्रभावी हो गया है। हालांकि, बहल कंपनी के बोर्ड में नॉन-एग्जिक्यूटिव प्रमोटर डायरेक्टर के रूप में कार्य करना जारी रखेंगे। 29 दिसंबर को कंपनी के एमडी राघव बहल के इस्तीफे के बाद क्विंट डिजिटल मीडिया की सीईओ रितु कपूर को एमडी का अतिरिक्त पद सौंपा गया था।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

सरकारी आंकड़ों पर उठे सवाल तो भड़का चीन, तीन पत्रकारों को किया गिरफ्तार

चीन ने पिछले साल गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों के साथ हुई झड़प में मारे गए अपने सैनिकों की संख्या पर सवाल उठाने वाले अपने तीन पत्रकारों को गिरफ्तार कर लिया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 23 February, 2021
Last Modified:
Tuesday, 23 February, 2021
Arrest

चीन ने पिछले साल गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों के साथ हुई झड़प में मारे गए अपने सैनिकों की संख्या पर सवाल उठाने वाले अपने ही तीन पत्रकारों को गिरफ्तार कर लिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, चीन के अधिकारियों का कहना है कि तीनों को पूछताछ के लिए गिरफ्तार किया गया है।

गिरफ्तार किए गए पत्रकारों में इकनॉमिक ऑब्जर्वर के साथ काम कर चुके 38 वर्षीय किउ जिमिंग भी शामिल हैं। किउ के अलावा एक ब्लॉगर को बीजिंग से अरेस्ट किया गया है, वहीं 25 वर्ष के एक ब्लॉगर यांग को दक्षिण पश्चिमी सूबे सिचुआन से अरेस्ट किया गया है। किउ पर आरोप है कि उन्होंने आंकड़ों पर सवाल उठाकर सेना की शहादत का अपमान किया है। तीनों को समाज में गलत प्रभाव डालने वाली जानकारी देने के आरोप में अरेस्ट किया गया है।

दरअसल, कुछ दिनों पूर्व ही चीनी सेना ने आधिकारिक तौर पर बताया था कि पिछले साल 15 जून को भारत और चीन की सेनाओं के बीच पूर्वी लद्दाख में हुई झड़प में उसके चार सैनिकों की मौत हुई थी और एक सैनिक की मौत बाद में हुई थी। इस झड़प में भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हो गए थे।

उस वक्त चीनी सेना ने कोई आंकड़ा जारी नहीं किया था, लेकिन तमाम मीडिया रिपोर्ट्स में 40 से 50 सैनिकों की मौत की बात कही गई थी। हालांकि चीन ने अब करीब आठ महीने बाद अपने सैनिकों की मौत की बात तो स्वीकारी, लेकिन आंकड़ा सिर्फ चार का ही दिया। चीन सरकार के इसी आंकड़े पर किउ ने सवाल उठाया था। उन्होंने यह आंकड़ा कुछ ज्यादा होने की बात कही थी। इसके साथ ही किउ ने चीन सरकार की ओर आठ महीनों के बाद आंकड़ा जारी करने पर भी सवाल उठाया था।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

TRAI ने बॉम्बे HC से की न्यू टैरिफ ऑर्डर केस को जल्द सूचीबद्ध करने की गुजारिश: रिपोर्ट

ट्राई ने नए न्यू टैरिफ ऑर्डर (NTO 2.0) को लागू करने का आदेश दिया है, जिसके बाद ब्रॉडकास्टर्स के ग्रुप ने बॉम्बे हाई कोर्ट में ट्राई के आदेश को चुनौती दी है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 23 February, 2021
Last Modified:
Tuesday, 23 February, 2021
TRAI

‘भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण’ (TRAI) ने समयबद्ध फैसले के लिए बॉम्बे हाई कोर्ट से न्यू टैरिफ ऑर्डर-2.0 (NTO 2.0) के मामले को तत्काल सूचीबद्ध (Listing) करने की गुजारिश की है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, ‘ट्राई’ ने न्यू टैरिफ ऑर्डर-2.0 के मामले को इसी महीने सूचीबद्ध करने के लिए कहा है, ताकि इस पर फैसला आ सके। रिपोर्ट के अनुसार, ‘ट्राई’ के चेयरमैन पीडी वाघेला उपभोक्ताओं के हितों को मद्देनजर नए टैरिफ ऑर्डर को जल्द से जल्द लागू कराना चाहते हैं।       

बता दें कि पिछले साल जनवरी में ट्राई ने नए न्यू टैरिफ ऑर्डर (NTO 2.0) को लागू करने का आदेश दिया था, जिसके बाद ब्रॉडकास्टर्स के ग्रुप ने बॉम्बे हाई कोर्ट में ट्राई के आदेश को चुनौती दी थी। फिलहाल मामला कोर्ट में विचाराधीन है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

पत्रकार को पहले कोरोना वैक्सीन लगाने की सिफारिश स्वास्थ्य मंत्री को पड़ी महंगी, गई कुर्सी

स्वास्थ्य मंत्री पर आरोप लगा है कि उन्होंने टीकाकरण के लिए प्राथमिकता समूह में नाम न होने के बावजूद एक मशहूर स्थानीय पत्रकार को टीका दिए जाने की सिफारिश की।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 22 February, 2021
Last Modified:
Monday, 22 February, 2021
president66565

अर्जेंटीना (Argentina) में कोराना वायरस टीकाकरण (Corona Vaccination) को लेकर प्राथमिकता समूह से बाहर के लोगों को टीका दिए जाने पर विवाद इस कदर गहरा गया कि यहां के स्वास्थ्य मंत्री को इस्तीफा तक देना पड़ गया। दरअसल, विवाद के बीच अर्जेंटीना (Argentina) के राष्ट्रपति अल्बर्टों फर्नांडीज ने स्वास्थ्य मंत्री को इस्तीफा देने को कहा दिया था, जिसके बाद उन्हें यह कदम उठाना पड़ा।

स्वास्थ्य मंत्री पर आरोप लगा है कि उन्होंने टीकाकरण के लिए प्राथमिकता समूह में नाम न होने के बावजूद एक मशहूर स्थानीय पत्रकार को टीका दिए जाने की सिफारिश की।

राष्ट्रपति ने अपने ‘चीफ ऑफ स्टाफ’ से स्वास्थ्य मंत्री गिनीज गोंजालेज गार्सिया को तुरंत इस्तीफा देने का आदेश देने को कहा, जिसके बाद उन्होंने इस्तीफा दे दिया। कोरोना वायरस से निपटने को लेकर गार्सिया प्रभार संभाल रहे थे।  

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पत्रकार होरासिओ वेरबिट्सकी ने मंत्री गार्सिया से टीकाकरण का अनुरोध किया था और मंत्री ने उन्हें स्वास्थ्य मंत्रालय बुलाया था। वहां शुक्रवार को उन्हें स्पूतनिक वी के टीके की खुराक दी गई थी।

वैसे यहां ऐसे कई मामले आए हैं जब मेयर, सांसदों, कार्यकर्ताओं, सत्ता के करीबी लोगों को टीके दिए गए, जबकि प्राथमिकता समूह में उनका नाम नहीं था। हालांकि प्राथमिकता के तहत देश में सबसे पहले डॉक्टरों, स्वास्थ्यकर्मियों और बुजुर्गों को टीके दिए जाने हैं। अर्जेंटीना में कोविड-19 से 20 लाख लोग संक्रमित हुए हैं और 50,857 लोगों की मौत हुई है।

  

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

इस अंतरराष्ट्रीय मीडिया संगठन में संपादक बने वरिष्ठ पत्रकार दीपक तिवारी

80 देशों के 203 से ज्यादा खोजी पत्रकार संगठनों की सर्वोच्च संस्था ने वरिष्ठ पत्रकार दीपक तिवारी को हिंदी भाषा के लिए संपादक नियुक्त किया गया है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 22 February, 2021
Last Modified:
Monday, 22 February, 2021
DeepakTiwari54545

80 देशों के 203 से ज्यादा खोजी पत्रकार संगठनों की सर्वोच्च संस्था ‘ग्लोबल इंवेस्टिगेटिव जर्नलिज्म नेटवर्क’ (जीआईजीएन) ने वरिष्ठ पत्रकार दीपक तिवारी को हिंदी भाषा के लिए संपादक नियुक्त किया गया है और वे भोपाल से ही अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करेंगे।

वरिष्ठ पत्रकार दीपक तिवारी भोपाल स्थित माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के कुलपति रह चुके हैं। दीपक तिवारी ढाई दशक से भी अधिक समय से पत्रकारिता के क्षेत्र में सक्रिय हैं। साहित्य और लेखन में रुचि रखने वाले तिवारी ने इस दौरान देश के विभिन्न क्षेत्रों के अलावा विदेश यात्राएं भी की हैं।

तिवारी मूल रूप से मध्य प्रदेश के सागर जिले के रहने वाले हैं। वे देश की प्रमुख अंग्रेजी पत्रिका ‘द वीक’ के विशेष संवाददाता के रूप में भोपाल में अपनी सेवाएं भी दी हैं। वह देश की प्रतिष्ठित संवाद समिति के दिल्ली मुख्यालय में भी काम कर चुके हैं।  उन्हें पंचायती राज से संबंधित मुद्दों पर श्रेष्ठ रिपोर्टिंग के लिए प्रतिष्ठित सरोजिनी नायडू पुरस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका है। वह देश-विदेश में कई पुरस्कार प्राप्त कर चुके हैं। तिवारी ने सागर के डॉ. सर हरिसिंह गौर विश्वविद्यालय के पत्रकारिता विभाग से पत्रकारिता में स्नातक किया है।

विश्व की प्रतिष्ठित संस्था जीआईजीएन पूरी दुनिया में खोजी पत्रकारिता के नए-नए आयामों की आपस में चर्चा करके उसे नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने का काम करती है। इस संगठन का मुख्यालय वॉशिंगटन में है, जबकि इसकी सेवाएं फ्रेंच, स्पेनिश, रूसी, अफ्रीकी, चीनी, अरबी, उर्दू, बांग्ला और अंग्रेजी भाषा में चलती है और प्रत्येक भाषा का एक अलग संपादक है।

जीआईजीएन पत्रकारिता की नई तकनीकों और पब्लिक डोमेन में उपलब्ध जानकारियों के आधार पर एक रिसोर्स सेन्टर चलता है, जिसे कोई भी पत्रकार उपयोग कर सकता है। दीपक तिवारी को हिंदी भाषा में इस तरह की पत्रकारिता को विकसित करने की जिम्मेदारी दी गई है। जीआईजीएन का हर दो वर्ष में एक अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन होता है जिसमें भारत समेत पूरी दुनिया के पत्रकार हिस्सा लेते हैं। यह संस्था आने वाले समय में हिंदी के पत्रकारों के लिए फेलोशिप भी प्रदान करेगी।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

पत्रकार हत्याकांड में भांजा गिरफ्तार, सामने आई ये वजह

दिल्ली में पिछले दिनों स्थानीय यूट्यूब चैनल के पत्रकार की गोली मारकर कर दी गई थी हत्या

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 22 February, 2021
Last Modified:
Monday, 22 February, 2021
Crime

दिल्ली के द्वारका इलाके में पिछले हफ्ते हुई स्थानीय यूट्यूब चैनल के पत्रकार दलबीर सिंह (34) की हत्या के मामले में पुलिस ने उसके भांजे गुरमीत को गिरफ्तार किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, 22 वर्षीय गुरमीत को गोला डेयरी (Goyla Dairy) से गिरफ्तार किया गया है।  

मीडिया रिपोर्ट्स में पुलिस के हवाले से कहा गया है कि पूछताछ के दौरान गुरमीत ने बताया कि दलबीर सिंह उसका मामा था। परिवार ने करीब दो महीने पूर्व उसकी शादी तय की थी। दलबीर सिंह ने शादी समारोह में हर्ष फायरिंग के लिए उसे एक पिस्टल दी थी।   

पुलिस के अनुसार, पिस्टल के लिए दलबीर सिंह रुपयों की मांग कर रहा थी। गुरमीत इसके लिए सिर्फ दस हजार रुपये देने को तैयार था, लेकिन दलबीर ज्यादा रुपये मांग रहा था। 16 फरवरी को दोनों काकरोला इलाके में मिले, जहां से दलबीर सिंह उसे अपने घर के पास ले गया। यहां पैसों को लेकर दोनों के बीच बहस हो गई और गुस्से में गुरमीत ने दलबीर के सिर में गोली मार दी।  

पिछले दिनों पुलिस को सूचना मिली कि गुरमीत उस पिस्टल को बेचने की तैयारी कर रहा है। सूचना पर पुलिस ने गुरमीत को कुतुब विहार इलाके से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस को उसके कब्जे से पिस्टल बरामद हुई है। उस पर आर्म्स एक्ट और हत्या की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

गौरतलब है कि जेजे कॉलोनी, भरत विहार के रहने वाले दलबीर सिंह की 16 फरवरी को घर के पास सिर में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। यहां पर वह पत्नी और तीन बच्चों के साथ किराये के मकान में रहते थे।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

दिशा केस में मीडिया ट्रायल रोकने से HC की मनाही, कही ये बात

दिशा रवि की याचिका पर दिल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई हुई। दिशा के वकील ने याचिका में मीडिया ट्रायल रोकने की मांग की थी...

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 20 February, 2021
Last Modified:
Saturday, 20 February, 2021
DelhiHC4

ग्रेटा थनबर्ग टूल किट मामले में दिशा रवि की गिरफ्तारी पर हंगामा जारी है। शुक्रवार दिशा रवि की याचिका पर दिल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई हुई। दिशा के वकील ने याचिका में मीडिया ट्रायल रोकने की मांग की थी, लेकिन दिल्ली हाई कोर्ट ने मीडिया ट्रायल रोकने से इनकार कर दिया और मीडिया को निर्देश भी दिए हैं। कोर्ट ने कहा कि इस मामले को सनसनीखेज ना बनाया जाए और ऐसी खबरें न दिखाई जाएं, जिससे जांच और आरोपी के अधिकार प्रभावित हो।  

गुरुवार को दिल्ली उच्च न्यायालय ने किसान आंदोलन से जुड़ी टूलकिट साझा करने के मामले में गिरफ्तार जलवायु कार्यकर्ता दिशा रवि की याचिका पर दिल्ली पुलिस व कई मीडिया हाउस को नोटिस जारी कर जवाब मांगा था। याचिका में दिशा रवि ने पुलिस पर उसके खिलाफ दर्ज प्राथमिकी से संबंधित जांच सामग्री को मीडिया में लीक करने का आरोप लगाया है।

दिशा के वकील ने आरोप लगाया कि दिल्ली पुलिस अपने ट्विटर हैंडल के माध्यम से दिशा के खिलाफ अपना मामला बना रही है। वकील ने एक विशिष्ट चैनल के वीडियो का उल्लेख करते हुए कहा कि न्यूज एंकर और रिपोर्टर का कहना है कि उन्हें साइबर सेल के स्रोतों से जानकारी मिली है। इस पर कोर्ट ने दिशा के वकील से पूछा कि क्या वह यह दावा करने की कोशिश कर रहे हैं कि पुलिस ने वास्तव में इसे लीक किया था। कोर्ट ने कहा कि ये न्यूज चैनल कह रहे हैं कि उन्हें इसकी सूचना दिल्ली पुलिस से मिली है।  

कोर्ट ने कहा कि हम मीडिया से उसके सोर्स के बारे में नहीं पूछ सकते, लेकिन जानकारी सही होना भी जरूरी है। निजता का अधिकार, फ्री स्पीच और देश की संप्रभुता में संतुलन करना जरूरी है। इस मामले में फिलहाल चार किसानों की जानकारी आई है, वह दिखा रही है कि इस मामले में खबरों को सनसनीखेज भी बनाया गया।

कोर्ट ने आगे कहा कि चैनल के एडिटर को भी देखना होगा कि मामले को सनसनीखेज न बनाया जाए और न ही ऐसी खबर की जाएं, जिससे जांच और आरोपी के अधिकार प्रभावित हो।

इसके साथ ही कोर्ट ने दिशा रवि को यह निर्देश भी दिया है कि वह पुलिस की छवि को खराब करने की कोशिश न करें। इससे पहले दिशा के वकील ने मांग की कि केस से जुड़ी हुई जानकारी सार्वजनिक न कि जाए। वकील ने कहा कि दिशा को गिरफ्तार करके दिल्ली लाया गया, लेकिन वकील को जानकारी तक नहीं दी कि दिशा को किस कोर्ट में पेश करेंगे।

दिशा के वकील ने कोर्ट में कहा कि खबरों में ये भी बता दिया गया कि जांच के दौरान पुलिस ने दिशा से क्या-क्या सवाल पूछे। इतना ही नहीं, मीडिया में दिशा का कथित बयान भी चलाया गया। ये सब लीक हुई जानकारी के आधार पर हुआ है।

वहीं, दिल्ली पुलिस के वकील ने कहा कि दिशा के वकील जिन खबरों और ट्वीट की बात कर रहे हैं, अभी उसके बारे में हमें कोई जानकारी नहीं है। लेकिन अगर कोर्ट चाहे तो इस मामले में सोमवार तक कोई प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं की जाएगी। साथ ही उन्होंने कहा कि मीडिया में जो रिपोर्टिंग हो रही है, वह जरूरी नहीं है कि सच हो। कोर्ट ने आदेश दिया कि जब तक जांच पूरी नहीं होती और चार्जशीट दायर नहीं होती, तब तक केस से जुड़ी कोई जानकारी सार्वजनिक न की जाए।

बता दें कि दिशा की याचिका में कहा गया है कि दिल्ली पुलिस और सरकार को निर्देश दिया जाए कि वह टूल किट एफआईआर से से जुड़े हुए हैं जो भी जांच है, उसकी जानकारी सार्वजनिक न करें। निशा रवि को गलत तरीके से गिरफ्तार किया गया और उसको लेकर दिल्ली पुलिस बंगलुरु से दिल्ली आ गई बेंगलुरु की अदालत में याचिका दायर करने का मौका नहीं दिया गया। मीडिया ट्राई की वजह से दिशा रवि की छवि को नुकसान पहुंच रहा है। लिहाज़ा उस पर रोक लगाई जाए। मीडिया में दिशा रवि और ग्रेटा थनबर्ग के बीच की जो वॉट्सऐप चैट चल रही है, उसको भी चलाने से रोका जाए, क्योंकि इससे दिशा रवि के फ्री एंड फेयर ट्रायल के अधिकार को छीना जा रहा है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

यौन उत्पीड़न का विरोध करने वाली तमाम महिला पत्रकारों की जीत है प्रिया रमानी केस: IWPC

दिल्ली की एक अदालत ने वरिष्ठ पत्रकार और पूर्व केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर की मानहानि के मामले में पत्रकार प्रिया रमानी को बुधवार को बरी कर दिया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 19 February, 2021
Last Modified:
Friday, 19 February, 2021
Priya Ramani MJ akbar

दिल्ली की एक अदालत ने वरिष्ठ पत्रकार और पूर्व केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर की मानहानि के मामले में पत्रकार प्रिया रमानी को बुधवार को बरी कर दिया है। कोर्ट में यह मामला दो साल से अधिक समय तक चला। वहीं इस मामले को लेकर अब भारतीय महिला प्रेस वाहिनी (आईडब्ल्यूपीसी) का बयान सामने आया है।

आईडब्ल्यूपीसी ने पूर्व मंत्री एमजे अकबर द्वारा दायर मानहानि के मामले में पत्रकार प्रिया रमानी का बरी होने को महिला पत्रकारों की जीत करार दिया है।

आईडब्ल्यूपीसी का कहना है कि एक महिला पत्रकार के रूप में रमानी ने हमेशा ही यौन उत्पीड़न के खिलाफ आवाजें उठाईं हैं। वह न्यूज रूम में अप्रिय टिप्पणियों से दूर रही हैं और बुरी नजरों से बचती रही हैं।  

बता दें कि #MeToo कैंपेन के तहत 2018 में प्रिया रमानी ने एमजे अकबर पर तकरीबन 20 साल पहले उनके साथ यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया था। हालांकि, अकबर ने इन आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया था। यौन उत्पीड़न के आरोप लगने के बाद अकबर ने प्रिया रमानी के खिलाफ दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में 15 अक्टूबर 2018 को मानहानि का मुकदमा दायर किया था।

दिल्ली की एक अदालत ने मानहानि के मामले में बुधवार को अपना फैसला सुनाते वक्त यह कहते हुए रमानी को बरी कर दिया कि एक महिला को दशकों के बाद भी किसी भी मंच पर अपनी शिकायत दर्ज करने का अधिकार है। इस दौरान अदालत ने यह भी माना कि किसी महिला को अपने साथ हुए यौन उत्पीड़न के खिलाफ आवाज बुलंद करने पर दंडित नहीं किया जाना चाहिए।

एक बयान में आईडब्ल्यूपीसी ने कहा कि वह रमानी को बरी किए जाने के अदालत के फैसले का स्वागत करती है। यह महिला पत्रकारों की जीत है, जिन्होंने हमेशा ही यौन उत्पीड़न का विरोध किया है।

बयान में यह भी कहा गया, ‘हम सभी सुरक्षित कार्यस्थल चाहते हैं, लेकिन भेड़िये अंदर ही बैठे हुए हैं।’ संगठन ने कहा कि वह मुद्दे पर रमानी के संकल्प की प्रशंसा करता है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए