सरकार ने डिजिटल मीडिया पब्लिशर्स से मांगा ये ब्योरा, दिया 15 दिनों का समय

लगभग 60 पब्लिशर्स और उनसे जुड़े संगठनों ने मंत्रालय को सूचित किया है कि उन्होंने नए नियम के तहत स्व-नियामक निकायों के गठन की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

Last Modified:
Thursday, 27 May, 2021
MIB

सूचना प्रसारण मंत्रालय (MIB) ने सभी डिजिटल मीडिया पब्लिशर्स, जिनमें ओटीटी प्लेटफॉर्म्स भी शामिल हैं, को नई इंटरमीडियरी गाइडलाइंस और डिजिटल मीडिया एथिक्स कोड (new Intermediary Guidelines and Digital Media Ethics Code) के तहत अपनी सभी जानकारी उपलब्ध कराने के लिए कहा है। सूचना प्रसारण मंत्रालय की डिजिटल मीडिया डिवीजन ने डिजिटल मीडिया पब्लिशर्स को नोटिस भेजकर यह समस्त जानकारी उपलब्ध कराने के लिए 15 दिनों का समय दिया है। पब्लिशर्स को इस नोटिस के जारी होने के 15 दिनों के भीतर तय फॉर्मेट में मंत्रालय को सूचना देनी होगी।

पब्लिशर्स की ओर से अधिकृत व्यक्ति द्वारा विधिवत हस्ताक्षरित एक पीडीएफ फाइल में यह समस्त जानकारी ई-मेल के द्वारा एमआईबी के डिप्टी सेक्रेट्री अमरेंद्र सिंह annarendra.singh@nic.in  अथवा एमआईबी के असिस्टेंट डायरेक्टर क्षितिज अग्रवाल kshitij.aggarwal@gov.in को भेजनी होगी।

इसके लिए मंत्रालय ने डिजिटल न्यूज पब्लिशर्स (जो ट्रेडिशनल मीडिया यानी टीवी और अखबार में भी न्यूज टेलिकास्ट/पब्लिश करते हैं), अन्य डिजिटल न्यूज पब्लिशर्स और ओटीटी प्लेटफॉर्म पर कंटेंट देने वाले पब्लिशर्स के लिए अलग-अलग फॉर्मेट जारी किए हैं, जिनमें उन्हें सभी जानकारी देनी होगी।  

नोटिस में कहा गया है कि नए नियमों की अधिसूचना के बाद से सूचना प्रसारण मंत्री ने ऑनलाइन क्यूरेटेड कंटेंट पब्लिशर्स के साथ-साथ डिजिटल मीडिया पर न्यूज देने वाले पब्लिशर्स के साथ बातचीत की है। मंत्रालय की ओर से कई डिजिटल मीडिया पब्लिशर्स और उनके संगठनों के साथ इस बारे में संपर्क किया गया है।

नोटिस के अनुसार, लगभग 60 पब्लिशर्स और उनसे जुड़े संगठनों ने मंत्रालय को सूचित किया है कि उन्होंने नियम के तहत स्व-नियामक निकायों के गठन की प्रक्रिया शुरू कर दी है। कुछ पब्लिशर्स ने नियमों के तहत मंत्रालय में रजिस्ट्रेशन के संबंध में मंत्रालय को पत्र भी लिखा है। इस संबंध में सूचित किया जाता है कि डिजिटल मीडिया पब्लिशर्स को मंत्रालय में पहले रजिस्ट्रेशन की कोई आवश्यकता नहीं है। इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी के नियम 18 (new Intermediary Guidelines and Digital Media Ethics Code) 2021 में न्यूज एंड करेंट अफेयर्स और ऑनलाइन क्यूरेटेड कंटेंट पब्लिशर्स द्वारा मंत्रालय को कुछ तय जानकारी देने का प्रावधान है।

जिस तरह समाचार पत्र प्रेस और पुस्तक पंजीकरण अधिनियम, 1867 के तहत पंजीकृत हैं और निजी सैटेलाइट टीवी चैनल्स मंत्रालय के अपलिंकिंग और डाउनलिंकिंग दिशानिर्देश (2011) के तहत अनुमति धारक हैं,  उसी तरह डिजिटल मीडिया पर न्यूज और करेंट अफेयर्स पब्लिशर्स के लिए जानकारी प्रस्तुत करने के लिए एक अलग फॉर्मेट तैयार किया गया है। मंत्रालय की ओर से जारी नोटिस में यह भी कहा गया है कि इन संस्थाओं को किसी भी बदलाव के बारे में 30 दिनों के भीतर सक्षम प्राधिकारी को सूचित करना होगा।

डिजिटल न्यूज पब्लिशर्स (जो ट्रेडिशनल मीडिया यानी टीवी और अखबार में भी न्यूज टेलिकास्ट/पब्लिश करते हैं) को इस फॉर्मेट में सूचना देनी होगी।

I.   Basic Information

A. Name of the Title:

B. Language(s) in which content is published:

C. Website URL:

D. Mobile App(s):

E. Social media account(s):

II.  Entity Information

A. Name of Entity:

B. RNI Registration Number or TV Channels permitted by the Ministry:

III. Contact Information (in India)

A. Contact person(s):

B. Address:

C. Telephone Number (Landline):

D. Mobile:

E. E-mail:

IV. Grievance Redressal Mechanism

A. Grievance Redressal Officer (in India):

B. Name of the Self Regulating Body of which the publisher is a member:

C. Particulars of News Editor(s):

अन्य डिजिटल न्यूज पब्लिशर्स को इस फॉर्मेट में जानकारी देनी होगी।

1. Basic Information:

A. Name of the Title:

B. Language(s) in which content is published:

C. Website URL:

D. Mobile App(s):

E. Social media (all outlets) account(s):

2. Entity Information

A. Name of Entity:

B. PAN No. (optional):

C. Month and Year of Incorporation:

D. Month and Year of commencement of operations as digital news publisher:

E. Company Identification Number (for companies only):

F. Board of Directors for companies only):

3. Contact Information (in India)

A. Contact person(s):

B. Address:

C. Telephone Number (Landline):

D. Mobile:

E. E-mail:

4.  Grievance Redressal Mechanism

A. Grievance Redressal Officer (in India):

B Name of the Self Regulating Body of which the publisher is a member:

C. Particulars of News Editor(s):

ओटीटी प्लेटफॉर्म्स के लिए इस फॉर्मेट में समस्त जानकारी देनी होगी।

I.  Basic Information

A. Name of OTT Platform:

B. Website

C. Mobile App(s):

II.  Entity Information

A. Name of Entity:

B. PAN No. (optional):

C. Month and Year of Incorporation (for Indian companies):

D. Country of registration (in respect of foreign entities):

E. Month and Year of commencement of operations in India:

F. Company Identification Number for Indian companies):

G. Names of Board of Directors (for companies):

III. Contact information (in India)

A. Contact person(s):

B. Address:

C. Telephone Number (Landline):

D. Mobile:

E. E-mail:

IV. Grievance Redressal Mechanism

A. Grievance Redressal Officer (in India):

B. Name of the Self Regulating Body of which the publisher is a member:

C. Particulars of Content Manager(s):

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

Apple को बाय बोलकर Google पहुंचे प्रशांत पॉलोज, मिली यह जिम्मेदारी

भारत में ‘एप्पल’ (Apple) के वीडियो और म्यूजिक बिजनेस की कमान संभाल रहे प्रशांत पॉलोज (Prashant Paulose) ने ‘गूगल‘ (Google) जॉइन कर लिया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 18 September, 2021
Last Modified:
Saturday, 18 September, 2021
Prashant Paulose

भारत में ‘एप्पल’ (Apple) के वीडियो और म्यूजिक बिजनेस की कमान संभाल रहे प्रशांत पॉलोज (Prashant Paulose) ने ‘गूगल‘ (Google) जॉइन कर लिया है। उन्होंने ‘गूगल टीवी’ (Google TV) में कंटेंट पार्टनरशिप्स के तौर पर जॉइन किया है।

बता दें कि ‘एप्पल’ ने इस साल अप्रैल में पॉलोज को वीडियो बिजनेस हेड के पद पर प्रमोट किया था। इस पद पर वह कंपनी के वीडियो और म्यूजिक बिजनेस की कमान संभाल रहे थे। इस प्रमोशन से पहले प्रशांत एप्पल म्यूजिक (Apple Music) और आईट्यून्स (iTunes) इंडिया में म्यूजिक और मूवीज बिजनेस मैनेजर के पद पर अपनी भूमिका निभा रहे थे। उन्होंने अप्रैल 2017 में ‘एप्पल’ इंडिया जॉइन किया था।

‘एप्पल’ से पहले प्रशांत ‘सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया’(SPNI) में असिस्टेंट वाइस प्रेजिडेंट (Business Development, Digital & Sports) के साथ काम कर रहे थे। अपने करीब 14 साल के करियर में प्रशांत ‘सहारा वन मीडिया एंड एंटरटेनमेंट’ (Sahara One Media and Entertainment) और ‘टाटा मोटर फाइनेंस’ (Tata Motor Finance) के साथ भी काम कर चुके हैं।

प्रशांत ने मुंबई यूनिवर्सिटी से बीई (Electronics) की पढ़ाई की है। इसके अलावा उन्होंने ‘नरसी मोनजी इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज’ (NMIMS) से एमबीए (मार्केटिंग और फाइनेंस) किया है। 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

मद्रास हाई कोर्ट ने नए IT नियमों के कुछ उपबंधों पर लगाई रोक, पढ़ें पूरा मामला

मद्रास हाई कोर्ट ने गुरुवार को हाल ही में लागू सूचना प्रौद्योगिकी (मध्यवर्ती दिशानिर्देश एवं डिजिटल मीडिया आचार संहिता) नियम, 2021 के कुछ उपबंधों पर रोक लगा दी।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 17 September, 2021
Last Modified:
Friday, 17 September, 2021
Madras-HC898

मद्रास हाई कोर्ट ने गुरुवार को हाल ही में लागू सूचना प्रौद्योगिकी (मध्यवर्ती दिशानिर्देश एवं डिजिटल मीडिया आचार संहिता) नियम, 2021 के कुछ उपबंधों पर रोक लगा दी। हाई कोर्ट ने यह फैसला याचिकाकर्ताओं के यह आशंका जताने पर किया कि इन उपबंधों के चलते मीडिया की स्वतंत्रता बाधित होगी और ये लोकतांत्रिक मूल्यों के खिलाफ हैं।

मद्रास हाई कोर्ट ने आइटी नियम नौ के उपबंध (1) और (3) पर रोक लगाई है। ये उपबंध आचार संहिता के पालन को निर्धारित करते हैं। इन उपबंधों को इस साल फरवरी में मूल आईटी नियमों में शामिल किया गया था।

बता दें कि पिछले महीने 14 अगस्त को ऐसे ही मामले में बंबई हाई कोर्ट ने ऐसा ही आदेश पारित किया था। बंबई हाई कोर्ट ने तब सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) नियम, 2021 के कुछ हिस्सों पर अंतरिम रोक लगा दी थी। नियम के तहत यह जरूरी है कि सभी ऑनलाइन प्रकाशक ‘आचार संहिता’ का पालन करें।

मद्रास हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश संजीव बनर्जी और न्यायमूर्ति पीडी ऑडिकेसवालु की पीठ ने गुरुवार को कर्नाटकी संगीतकार टीएम कृष्णा और डिजिटल न्यूज पब्लिशर्स एसोसिएशन की जनहित याचिकाओं पर अंतरिम आदेश पारित करते हुए यह रोक लगायी है। इस एसोसिएशन में 13 मीडिया संस्थान और अन्य लोग शामिल हैं। इन याचिकाओं में नए नियमों की संवैधानिक वैधता को चुनौती दी गयी है।

पीठ ने कहा कि याचिकाकर्ताओं की इस दलील में प्रथम दृष्टया आधार है कि सरकार द्वारा मीडिया को नियंत्रित करने का तंत्र प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक दोनों मीडिया को उनकी आजादी और लोकतांत्रिक सिद्धांतों से वंचित कर सकता है।

पीठ को बताया गया कि सुप्रीम कोर्ट में इसी तरह के मामले लंबित हैं और उन पर अगले महीने के पहले सप्ताह में सुनवाई होनी है। इस पर हाई कोर्ट ने मामले की सुनवाई अक्टूबर के अंतिम सप्ताह के लिए स्थगित कर दी।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

पत्रकार सुधीर पांडेय ने तलाशी नई मंजिल, अब पहुंचे यहां

इससे पहले वह शॉर्ट न्यूज ऐप ‘Way2News’ में कंटेंट क्वालिटी मैनेजर के तौर पर अपनी जिम्मेदारी संभाल रहे थे।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 17 September, 2021
Last Modified:
Friday, 17 September, 2021
Sudhir Pandey

पत्रकार सुधीर पांडेय ने ‘राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ’ (आरएसएस) के अखबार ‘पांचजन्य’ (Panchjanya) की डिजिटल विंग के साथ अपनी नई पारी की शुरुआत की है। यहां उन्होंने बतौर कंटेट क्वालिटी मैनेजर जॉइन किया है। इससे पहले वह शॉर्ट न्यूज ऐप ‘Way2News’ में कंटेंट क्वालिटी मैनेजर के तौर पर अपनी जिम्मेदारी संभाल रहे थे।

सुधीर पांडेय को पत्रकारिता के क्षेत्र में काम करने का करीब 15 साल का अनुभव है। ‘Way2News’ से पूर्व सुधीर पांडेय ‘जी’ में बतौर प्रड्यूसर अपनी जिम्मेदारी निभा चुके हैं। हालांकि, यहां उनकी पारी करीब छह महीने ही रही।

मूल रूप रायबरेली (उत्तर प्रदेश) के रहने वाले सुधीर पांडेय ने लखनऊ विश्वविद्यालय से पढ़ाई की है। उन्होंने पत्रकारिता के क्षेत्र में अपने करियर की शुरुआत ‘अमर उजाला‘ की डिजिटल विंग से की थी। इसके बाद उन्होंने ‘देशबंधु‘,‘आज समाज‘, ‘हिंदुस्तान‘ और ‘दैनिक जागरण‘ में विभिन्न पदों पर अपनी जिम्मेदारी संभाली और फिर ‘जी मीडिया‘ से जुड़ गए। इसके बाद यहां से अलविदा बोलकर ‘Way2News’ होते हुए उन्होंने अब ‘पांचजन्य’ जॉइन किया है।  

समाचार4मीडिया की ओर से सुधीर पांडेय को उनके नए सफर के लिए ढेरों शुभकामनाएं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

Zee मीडिया से ‘आजतक’ पहुंचे वरिष्ठ पत्रकार अनुज खरे, मिली बड़ी जिम्मेदारी

आजतक से एक बड़ी खबर सामने आयी है। दरअसल यहां वरिष्ठ पत्रकार अनुज खरे को नियुक्त किया गया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 16 September, 2021
Last Modified:
Thursday, 16 September, 2021
anujkhare5487

आजतक से एक बड़ी खबर सामने आयी है। दरअसल यहां वरिष्ठ पत्रकार अनुज खरे को नियुक्त किया गया है। उन्हें ‘आजतक’ के ‘तक’ डिजिटल ऐप्स में बड़ी जिम्मेदारी सौंपी गयी है। यहां उन्हें क्लस्टर हेड ऐप एंड साइट का पदभार दिया गया है।

अनुज खरे इससे पहले जी मीडिया में एडिटर (डिजिटल) के पद पर कार्यरत थे। वे अगस्त, 2020 में दैनिक भास्कर ग्रुप से जी मीडिया आए थे। उन्होंने दैनिक भास्कर में एक लंबी पारी खेली और इस दौरान उन्हें ग्रुप के हिंदी न्यूज पोर्टल ‘दैनिक भास्कर’ (dainikbhaskar.com) को शीर्ष तक पहुंचाने का श्रेय दिया जाता है। वे 2012 से 2015 तक ग्रुप की गुजराती वेबसाइट ‘दिव्यभास्कर’ (divyabhaskar.com) के एडिटर रहे और इसके पहले उन्होंने ग्रुप की मराठी न्यूज वेबसाइट ‘दिव्यमराठी’ (divyamarathi.com) का भी नेतृत्व किया।

अनुज खरे के नेतृत्व में ही जी मीडिया के रीजनल न्यूज पोर्टल जी उत्तर प्रदेश/उत्तराखंड ने इस साल एक्सचेंज4मीडिया के बहुप्रतिष्ठित enba अवॉर्ड में बेस्ट माइक्रो साइट का गोल्ड का खिताब अपने नाम किया था।

वरिष्ठ पत्रकार अनुज खरे एक जाने-माने व्यंग्यकार भी हैं। उन्होंने 21वीं सदी के 251 अंतरराष्ट्रीय श्रेष्ठ व्यंग्यकारों में जगह बनायी थी। बता दें कि इस साल फरवरी में इंडिया नेटबुक्स नई दिल्ली द्वारा प्रकाशित इस व्यंग्य संकलन में शामिल 251 व्यंग्यकारों में 19 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों ने शिरकत की थी। इसके अतिरिक्त उन्होंने कई लिटरेचर फेस्टिव भी होस्ट किए हैं, जिसमें ‘जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल’ भी शामिल है।

अनुज खरे तीन किताबों के लेखक भी हैं, जिनमें ‘बातें बेमतलब’, ‘परम श्रद्धेय मैं खुद’ और ‘चिल्लर चिंतन’ शामिल है। वे लेखनशैली के दम पर अपना नाम लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में भी दर्ज करा चुके हैं। दरअसल यह सम्मान उन्हें ऐसे ट्वींस ब्रदर्स के लिए दिया गया, जिनके नाम 6 टाइटल बुक हैं, जिनमें से तीन बुक इनके और तीन इनके भाई के नाम है।  

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

'आजतक' की तरह दिखने वाली फेक वेबसाइट पर HC का शिकंजा, गूगल-फेसबुक को दिया ये निर्देश

दिल्ली हाई कोर्ट ने गूगल और फेसबुक को उन 25 अलग-अलग वेबसाइट, खाते और पेज को ब्लॉक करने का निर्देश दिया है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 10 September, 2021
Last Modified:
Friday, 10 September, 2021
Aajtak

डिजिटल मीडिया पर नामी ब्रैंड की फर्जी वेबसाइट चलाने वाले मुसीबत में घिर सकते हैं। फिलहाल, दिल्ली हाई कोर्ट ने गूगल और फेसबुक को उन 25 अलग-अलग वेबसाइट, खाते और पेज को ब्लॉक करने का निर्देश दिया है, जो ‘आजतक’ ट्रेडमार्क का उल्लंघन कर रहे हैं। दरअसल, ये ‘गुमनाम’ वेबसाइटें यूजर्स को यह विश्वास दिलाने की कोशिश करते हैं कि वह 'आजतक' ब्रैंड से संबंधित हैं।

आजतक की एक रिपोर्ट के मुताबिक, सितंबर 2020 में, दिल्ली हाई कोर्ट ने 4 प्रतिवादियों के खिलाफ एक समान आदेश पारित किया था, जिसे अब अन्य 25 विभिन्न वेबसाइटों तक बढ़ा दिया गया है।

न्यायमूर्ति सुरेश कुमार कैत की एकल पीठ ने इन सभी वेबसाइटों के साथ-साथ गूगल, फेसबुक और अन्य डोमेन रजिस्टर करने वालों को भी पक्षकार बनाया है। उन सभी को नोटिस जारी किया गया है और अक्टूबर माह के तीसरे सप्ताह तक जवाब देने के लिए कहा है।

रिपोर्ट में बताया गया है कि 'आजतक' ब्रैंड की मूल कंपनी लिविंग मीडिया इंडिया लिमिटेड ने अदालत के समक्ष तर्क दिया था कि गुमनाम वेबसाइटें, खुद को 'आजतक' के रूप में दिखाने और पेश करने की कोशिश कर रही थीं, आम जनता को धोखा दे रही थीं। लोगों को गुमराह किया जा रहा था कि ये गुमनाम साइटें 'आजतक' ब्रैंड की तरह दिखायी देती थीं। इससे ब्रैंड की साख और प्रतिष्ठा को भारी नुकसान हो रहा था।

हाई कोर्ट की एकल पीठ ने प्रथम दृष्टया वादी से सहमत होते हुए 'आजतक' के पक्ष में फैसला दिया, जिसमें गूगल और फेसबुक को 'आजतक लाइव', 'आजतक इंडिया न्यूज', 'ई' आजतक आदि नाम के 25 ऐसे पेजों को ब्लॉक और सस्पेंड करने का निर्देश दिया है।
 
आजतक का कहना है कि दिल्ली हाई कोर्ट का आदेश प्रतिष्ठित न्यूज ब्रैंड को फेक न्यूज और फेक स्क्रीन ग्रैब से बचाने में अहम भूमिका रखता है। ऐसे फेक न्यूज और फेक स्क्रीन ग्रैब जो महामारी के दौर में खबरों के नाम पर जनता के बीच बड़े पैमाने पर दुष्प्रचार कर रहे है।

कंपनी द्वारा अपनी दलील में यह तर्क भी दिया गया था कि अज्ञात वेबसाइटों का हालिया प्रसार केवल एक संयोग नहीं है, बल्कि दुर्भावना से प्रेरित है, ताकि महामारी के ऐसे अभूतपूर्व समय में लोगों को गुमराह कर फायदा उठा सकें।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

आजतक को बाय बोलकर युवा पत्रकार सुंदरम कुमार ने शुरू किया नया सफर

युवा पत्रकार सुंदरम कुमार (Sundram Kumar) ने ‘आजतक’ को अलविदा कह दिया है। करीब चार साल से वह चैनल की डिजिटल विंग में अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 02 September, 2021
Last Modified:
Thursday, 02 September, 2021
Sundram Kumar

युवा पत्रकार सुंदरम कुमार (Sundram Kumar) ने ‘आजतक’ को अलविदा कह दिया है। करीब चार साल से वह चैनल की डिजिटल विंग में अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे। इन चार वर्षों में उन्होंने चैनल के विभिन्न विभागों में काम किया और अपनी प्रतिभा का परिचय दिया। इस दौरान उनके काम की काफी सराहना की गई।   

सुंदरम कुमार ने अपने नए सफर की शुरुआत ‘रिपब्लिक भारत’ (Republic Bharat) से की है। यहां उन्होंने बतौर सोशल मीडिया मैनेजर जॉइन किया है। मूल रूप से मधुबनी (बिहार) के रहने वाले सुंदरम कुमार को मीडिया क क्षेत्र में काम करने का करीब चार साल का अनुभव है। पत्रकारिता के क्षेत्र में अपने करियर की शुरुआत उन्होंने ‘आजतक’ से की थी।

पढ़ाई-लिखाई की बात करें तो सुंदरम ने एमए (पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन) के अलावा ‘इंडिया टुडे मीडिया इंस्टीट्यूट’ (India Today Media Institute) से ब्रॉडकास्ट जर्नलिज्म का कोर्स किया है। समाचार4मीडिया की ओर से सुंदरम कुमार को उनके नए सफर के लिए ढेरों शुभकामनाएं।  

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

आजतक से TIMES NOW नवभारत पहुंचे मुनीष देवगन, डिजिटल में मिली बड़ी जिम्मेदारी

‘आजतक’ (India Today Network) के मेहनती जर्नलिस्ट मुनीष देवगन ‘टाइम्स नाउ नवभारत’ (Times Now Navbharat) के डिजिटल से जुड़ गए हैं।

विकास सक्सेना by
Published - Wednesday, 01 September, 2021
Last Modified:
Wednesday, 01 September, 2021
DevganMunish545454

‘आजतक’ (India Today Network) के मेहनती जर्नलिस्ट मुनीष देवगन ‘टाइम्स नाउ नवभारत’ (Times Now Navbharat) के डिजिटल से जुड़ गए हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, यहां उन्होंने बतौर सीनियर मैनेजर जॉइन किया है। वह TIMES NOW की हिंदी डिजिटल की वीडियो टीम को लीड कर रहे हैं। उनके पास ओरिजनल वीडियो कंटेंट बनाने की जिम्मेदारी है। खबर लिखे जाने तक फिलहाल मुनीष देवगन से कोई संपर्क नहीं हो पाया है।

बता दें कि मुनीष देवगन ‘आजतक’ में तकरीबन 15 साल से कार्यरत थे। डिजिटल चैनल ‘क्राइम तक’, ‘दिल्ली तक’ के साथ वह पहले दिन से जुड़े रहे। इन डिजिटल तक चैनल्स की कामयाबी में उनका बड़ा रोल रहा है। ‘क्राइम तक’ को तो बेस्ट डिजिटल टीम का चैयरमैन अवॉर्ड भी मिल चुका है। साथ ही डिजिटल प्लेटफार्म पर उनके एंकर वीडियो को भी कई मिलियन व्यूज मिलते रहे हैं।

बताया जाता है कि मुनीष देवगन ने 2019 लोकसभा चुनाव, फिर दिल्ली चुनाव में डिजिटल मंच पर कई सफल प्रयोग किए। राजदीप सरदेसाई के साथ उनका डिजिटल शो सफल रहा था। इसी साल अप्रैल में ही उन्हें एक्सचेंज4मीडिया के बहुप्रतिष्ठित enba अवॉर्ड से भी सम्मानित किया गया था। उन्हें बेस्ट प्रड्यूसर की कैटेगरी (Best Producer) में गोल्डेन अवॉर्ड दिया गया था। इससे पहले ‘आजतक’ के हिट क्राइम शो ‘वारदात’ के साथ भी वह जुड़े रहे।

करियर के शुरुआत में बतौर रिपोर्टर ‘आजतक’ में उन्होंने कई बड़ी स्पेशल स्टोरीज कर सुर्खियां बटोरी थीं। वह तिहाड़ जेल पर कई स्पेशल स्टोरीज कर चुके हैं। मुनीष देवगन की नई टीम में कई हरफनमौला प्रड्यूसर भी शामिल हैं। खबर यह भी है कि इस टीम में कुछ बेहतरीन डिजिटल प्रड्यूसर्स भी जॉइन करने वाले हैं।

समाचार4मीडिया की टीम की ओर से मुनीष देवगन और उनकी टीम को शुभकामनाएं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

India Ahead Tamil लाया नया डिजिटल शो, यह होगी खासियत

इस शो को ‘इंडिया अहेड’ की एडिटर (southern region) सुधा सदानंद होस्ट करेंगी

Last Modified:
Tuesday, 31 August, 2021
India Ahead

‘इंडिया अहेड तमिल’ (India Ahead Tamil)  ने ‘Sudha's Tiffin Room’ नाम से एक नया डिजिटल शो लॉन्च किया है। इस शो को ‘इंडिया अहेड’ की एडिटर (southern region) सुधा सदानंद होस्ट करेंगी। बताया जाता है कि यह नया शो तमिलनाडु के लिए जरूरी सभी मुद्दों पर न सिर्फ नीति निर्माताओं को बल्कि लोगों को अपनी राय रखने के लिए एक निष्पक्ष मंच उपलब्ध कराएगा।

इस नए शो के बारे में ‘इंडिया अहेड’ के ग्रुप एडिटोरियल प्रेजिडेंट सुदीप मुखिया का कहना है, ‘यह शो अव्यवस्थाओं पर तगड़ा प्रहार करने वाला होगा और स्थानीय और बाहर बसे तमिल भाषी दर्शकों से जुड़े उन जरूरी मुद्दों को उठाएगा, जिन पर अक्सर चर्चा नहीं होती या यदि चर्चा होती भी है तो सिर्फ बयानबाजी तक सीमित रहती है और उन्हें ठंडे बस्तों में डाल दिया जाता है।’

उन्होंने बताया कि इस शो पर न सिर्फ राज्य की बड़ी हस्तियों के विचारों को शामिल किया जाएगा बल्कि उन लोगों पर भी प्रमुख रूप से ध्यान केंद्रित किया जाएगा जो अक्सर खुद को साइड लाइन में पाते हैं क्योंकि कोई अन्य मंच उन्हें अपने विचारों को व्यक्त करने का अवसर नहीं देता है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

इस वजह से Yahoo ने भारत में बंद कीं न्यूज समेत अपनी कई सेवाएं

हालांकि, कंपनी ने यूजर्स को आश्वासन दिया कि उनके याहू खाते, ई-मेल और सर्च सर्विस किसी भी तरह से प्रभावित नहीं होंगे।

Last Modified:
Friday, 27 August, 2021
Yahoo

अमेरिकन वेब सर्विस प्रोवाइडर ‘याहू’ (Yahoo) ने 26 अगस्त से भारत में अपनी कंटेंट सर्विसेज को बंद कर दिया है। याहू की मालिकान कंपनी ‘वेरिजन मीडिया’ (Verizon Media) ने ‘प्रत्यक्ष विदेशी निवेश’ (FDI) के नए नियमों के कारण यह फैसला लिया है। इन नियमों में डिजिटल मीडिया आउटलेट्स में 26 प्रतिशत से ज्यादा एफडीआई को इजाजत नहीं दी गई है।

'याहू' की ओर से जिन कंटेंट सर्विसेज को बंद किया गया है, उनमें याहू न्यूज, याहू क्रिकेट, याहू फाइनेंस, एंटरटेनमेंट और मेकर्स इंडिया शामिल हैं। हालांकि, कंपनी ने यूजर्स को आश्वासन दिया है कि उनके याहू खाते, ई-मेल और सर्च सर्विस किसी भी तरह से प्रभावित नहीं होगी।

इस बारे में ‘याहू’ के होमपेज पर एक स्टेटमेंट में कहा गया है, ‘26 अगस्त 2021 से ‘याहू इंडिया’ अब कंटेंट पब्लिश नहीं करेगा। आपके याहू खाते, ई-मेल और सर्च एक्सपीरिएंस किसी भी तरह से प्रभावित नहीं होंगे और पहले की तरह चलते रहेंगे। आपके सपोर्ट और रीडरशिप के लिए हम आपको धन्यवाद देते हैं।’

‘याहू’ की ओर से कहा गया है, ’ हमने इस निर्णय को जल्दबाजी में नहीं लिया है। दरअसल, भारत में कंपनी के संचालन को देश के नियामक कानूनों में हाल के बदलावों ने काफी प्रभावित किया है, जिनमें भारत में डिजिटल कंटेंट को ऑपरेट और पब्लिश करने वाली मीडिया कंपनियों के विदेशी स्वामित्व को सीमित किया गया है।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

इस बड़े पद पर एमेजॉन वेब सर्विसेज से जुड़ीं पूर्णिमा साहनी मोहंती

इससे पहले ‘माइक्रोसॉफ्ट इंडिया’ में बतौर डायरेक्टर (कम्युनिकेशंस) के पद पर कार्यरत थीं।

Last Modified:
Tuesday, 17 August, 2021
Purnima Sahni Mohanty

‘माइक्रोसॉफ्ट इंडिया’ (Microsoft India) की पूर्व डायरेक्टर (कम्युनिकेशंस) पूर्णिमा साहनी मोहंती ने ‘एमेजॉन वेव सर्विसेज’ (Amazon Web Services) के साथ अपने नए सफर की शुरुआत की है। यहां उन्होंने बतौर ग्रुप हेड (कम्युनिकेशंस), इंडिया जॉइन किया है।  

यह भी पढ़ें: पूर्णिमा साहनी ने Microsoft India में इस बड़े पद को छोड़ने का लिया फैसला

पूर्णिमा साहनी ने करीब पौने दो साल तक माइक्रोसॉफ्ट इंडिया में अपनी जिम्मेदारी निभाने के बाद पिछले साल के अंत में इस्तीफा देने का फैसला लिया था। माइक्रोसॉफ्ट इंडिया की ओर से जारी एक स्टेटमेंट में कहा गया था कि पूर्णिमा साहनी मोहंती ने अपनी निजी प्राथमिकताओं के चलते कंपनी को छोड़ने का फैसला लिया है।

बता दें कि पूर्णिमा मोहंती ‘जनरल इलेक्ट्रिक’ (General Electric), ‘सैमसंग’ (Smasung), ‘ऑरेकल’ (Oracle) जैसे तमाम प्रतिष्ठित संस्थानों में लीडरशिप भूमिका निभा चुकी हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए