43 और मोबाइल ऐप्स को केंद्र सरकार ने किया बैन, देखें लिस्ट

43 और मोबाइल ऐप्स को केंद्र सरकार ने बैन कर दिया है। इन सभी ऐप्स पर इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी ऐक्ट के सेक्शन 64A के तहत कार्रवाई की गई है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 25 November, 2020
Last Modified:
Wednesday, 25 November, 2020
Mobile

भारत की रक्षा, सुरक्षा और संप्रभुता के लिए खतरा बन रही 43 और मोबाइल ऐप्स को केंद्र सरकार ने बैन कर दिया है। इन सभी ऐप्स पर इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी ऐक्ट के सेक्शन 64A के तहत कार्रवाई की गई है।

केंद्र सरकार ने इस बार जिन 43 मोबाइल ऐप्स पर बैन लगाया है, उनमें स्नैक वीडियो समेत कई पॉप्युलर ऐप शामिल हैं। जिन 43 ऐप्स पर बैन लगाया गया है, उनमें चीन के अलीबाबा ग्रुप से जुड़े कई ऐप्स और पॉप्युलर गेम्स तक शामिल हैं। बैन ऐप्स की लिस्ट में  बैन किए गए ऐप्स की पूरी लिस्ट (43 Chinese Apps banned in India List) भी जारी हो गई है। इस लिस्ट में ज्यादातर डेटिंग ऐप्स हैं।

केंद्र सरकार की ओर से शेयर किए गए ऑफिशल स्टेटमेंट में कहा गया है कि सरकार को ऐसे इनपुट्स मिले थे कि ये ऐप्स भारत की एकता और अखंडता, भारत की सुरक्षा, स्टेट सिक्यॉरिटी और पब्लिक ऑर्डर को नुकसान पहुंचाने वाली ऐक्टिविटीज में शामिल थे। मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स ऐंड इन्फॉर्मेशन टेक्नॉलजी की ओर से इन ऐप्स का ऐक्सेस भारतीय यूजर्स के लिए बंद करने के ऑर्डर्स दिए गए हैं।

इससे पहले सरकार ने जून महीने में 59 चाइनीज ऐप्स पर बैन लगाया था और इसके बाद सितंबर में भी 118 ऐप्स को बैन किया गया था।

बैन किए गए 43 ऐप्स की पूरी लिस्ट यहां देखें-

AliSuppliers Mobile App
Alibaba Workbench
AliExpress – Smarter Shopping, Better Living
Alipay Cashier
Lalamove India – Delivery App
Drive with Lalamove India
Snack Video
CamCard – Business Card Reader
CamCard – BCR (Western)
Soul- Follow the soul to find you
Chinese Social – Free Online Dating Video App & Chat
Date in Asia – Dating & Chat For Asian Singles
WeDate-Dating App
Free dating app-Singol, start your date!
Adore App
TrulyChinese – Chinese Dating App
TrulyAsian – Asian Dating App
ChinaLove: dating app for Chinese singles
DateMyAge: Chat, Meet, Date Mature Singles Online
AsianDate: find Asian singles
FlirtWish: chat with singles
Guys Only Dating: Gay Chat
Tubit: Live Streams
WeWorkChina
First Love Live- super hot live beauties live online
Rela – Lesbian Social Network
Cashier Wallet
MangoTV
MGTV-HunanTV official TV APP
WeTV – TV version
WeTV – Cdrama, Kdrama&More
WeTV Lite
Lucky Live-Live Video Streaming App
Taobao Live
DingTalk
Identity V
Isoland 2: Ashes of Time
BoxStar (Early Access)
Heroes Evolved
Happy Fish
Jellipop Match-Decorate your dream island!
Munchkin Match: magic home building
Conquista Online II

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

ABP Network ने नई दिशा में बढ़ाए कदम, इस नाम से लॉन्च किया डिजिटल प्लेटफॉर्म

नेटवर्क ने तमिल बोलने और समझने वालों के लिए पिछली तिमाही में तमिल भाषा में 'एबीपी नाडु' (ABP Nadu) नाम से डिजिटल प्लेटफॉर्म लॉन्च किया था।

Last Modified:
Friday, 30 July, 2021
ABP Network

देश में रीजनल कंटेंट की बढ़ती मांग को देखते हुए ‘एबीपी नेटवर्क’ (ABP Network) ने तेलुगु बोलने और समझने वाले तमाम दर्शकों के लिए तेलुगु भाषा में ‘एबीपी देसम‘ (ABP Desam) नाम से डिजिटल प्लेटफॉर्म लॉन्च किया है। इस लॉन्चिंग के साथ ही ‘एबीपी नेटवर्क‘ ने आंध्र प्रदेश के बाजार में भी एंट्री कर ली है।

इसकी टैगलाइन 'मन वार्तालु, मन ऊरी भाषालो!" रखी गई है, जिसका हिंदी में मतलब 'हमारी खबर, हमारे शहर की भाषा में' है। इस नई लॉन्चिंग के द्वारा ‘एबीपी नेटवर्क’ तेलुगु मार्केट में अपने पैर जमाते हुए लोगों को स्थानीय भाषा में कंटेंट उपलब्ध कराएगा। इससे पहले तमिल बोलने और समझने वालों के लिए पिछली तिमाही में नेटवर्क ने तमिल भाषा में 'एबीपी नाडु' (ABP Nadu) नाम से डिजिटल प्लेटफॉर्म लॉन्च किया था।

इस बारे में 'एबीपी नेटवर्क' के सीईओ अविनाश पांडेय का कहना है, 'डिजिटल के क्षेत्र में रीजनल कंटेंट की मांग काफी ज्यादा है और यह तेजी से आगे बढ़ रही है। मराठी, बंगाली, तमिल और तेलुगु भाषा में इंटरनेट यूजर्स की संख्या जल्द ही बढ़कर कुल भारतीय भाषाओं में 30 प्रतिशत तक होने की उम्मीद है। तेलुगु भाषा में यह पेशकश हमें स्थानीय कंटेंट को बढ़ावा देने और तेलुगु दर्शकों के साथ सार्थक संबंध बनाने में सहायक होगी।'

अपने सभी स्टेकहोल्डर्स, पार्टनर्स और एडवाइजर्स को धन्यवाद देते हुए अविनाश पांडेय ने कहा कि उन्हें 'एबीपी देसम' की सफलता पर पूरा भरोसा है। उन्होंने कहा, 'एबीपी देसम को लॉन्च करना अपने आप में एक मील का पत्थर है। लेकिन यह उल्लेखनीय यात्रा हमारे सभी भागीदारों की समर्पित प्रतिबद्धता और समर्थन के बिना संभव नहीं होती, जो आज हमें यहां लाने में शामिल हैं। ‘एबीपी नेटवर्क’ के विकास की कहानी में प्रत्येक भागीदार, विज्ञापनदाता और हितधारक ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।'

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

Disney+ Hotstar के बाद यहां बतौर CEO नई पारी शुरू कर सकते हैं गुलशन वर्मा

वर्मा ने ‘स्टार इंडिया’ के स्वामित्व वाले ओटीटी प्लेटफॉर्म को जुलाई 2018 मे बतौर सीनियर वाइस प्रेजिडेंट और हेड (क्लाइंट व एजेंसी) जॉइन किया था।

Last Modified:
Wednesday, 28 July, 2021
Gulshan Verma

‘ओवर द टॉप’ (OTT) प्लेटफॉर्म ‘डिज्नी+हॉटस्टार’ (Disney+ Hotstar) के सीनियर वाइस प्रेजिडेंट (SVP) और हेड (एडवर्टाइजिंग) के पद से इस्तीफा देने के बाद गुलशन वर्मा के बारे में खबर है कि वह ‘JioAds’ में बतौर सीईओ नई पारी शुरू कर सकते हैं। हालांकि इस बारे में आधिकारिक रूप से पुष्टि नहीं हो पाई है, क्योंकि रिलायंस जियो और गुलशन वर्मा दोनों ने इस मामले में टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है। बता दें कि ‘JioAds’ के साथ ‘रिलायंस जियो‘ (Reliance Jio) डिजिटल एडवर्टाइजिंग बिजनेस के क्षेत्र में प्रवेश कर रहा है।

गौरतलब है कि गुलशन वर्मा ने पिछले दिनों ‘डिज्नी+हॉटस्टार’ से इस्तीफा दे दिया था। ‘डिज्नी+हॉटस्टार’  में अपनी इस भूमिका में वह ‘हॉटस्टार‘ के विज्ञापन बिजनेस के लिए सेल्स, सेल्स स्ट्रैटेजी, ऑपरेशंस, डाटा पार्टनरशिप, ब्रैंडेड कंटेंट, स्टूडियोज और कस्टमर मार्केटिंग के लिए जिम्मेदार थे।

वर्मा ने ‘स्टार इंडिया’ के स्वामित्व वाले इस ओटीटी प्लेटफॉर्म को जुलाई 2018 मे बतौर सीनियर वाइस प्रेजिडेंट और हेड (क्लाइंट व एजेंसी) जॉइन किया था। इस भूमिका में वह बी3बी मार्केटिंग के अलावा बड़े क्लाइंट और एजेंसी रेवेन्यू के लिए जिम्मेदार थे। उन्हें ‘हॉटस्टार ब्रैंड लैब्स’ की स्थापना का श्रेय भी दिया जाता है।

‘डिज्नी+हॉटस्टार’ से पहले गुलशन वर्मा ‘टाइम्स इंटरनेट’ (Times Internet) में बतौर चीफ रेवेन्यू ऑफिसर अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे। वर्मा ने पिछले सालों में यूरोप, दक्षिण अमेरिका और एशिया में मीडिया और कई विशेष डिजिटल मीडिया कंपनियों के लिए काम किया है। ‘टाइम्स इंटरनेट‘ के साथ जुड़ने से पहले वह ‘आउटब्रेन‘ (Outbrain) के साथ थे, जहां उन पर भारत और दक्षिण एशिया में ‘आउटब्रेन‘ को मैनेज करने की जिम्मेदारी थी।

‘आउटब्रेन‘ से पहले वह ‘कोम्ली मीडिया‘ (Komli Media) के चीफ रेवेन्यू ऑफिसर थे। वर्मा ने ‘याहू‘के साथ भी काम किया है। उन्होंने यहां भारत और अमेरिका में ‘याहू‘ के लिए प्रोडक्ट मार्केटिंग के डायरेक्टर और सेल्स स्ट्रैटजी के डायरेक्टर के तौर पर काम किया है। उन्होंने ‘McKinsey & Co‘ के लॉस एजेंलेस स्थित ऑफिस में भी बतौर कंसल्टेंट काम किया है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

Disney+ Hotstar में इस बड़े पद से अलग हुए गौरव कंवल

.यहां करीब ढाई साल से कार्यरत थे। इससे पूर्व वह सात साल से अधिक समय तक ‘एडोब’ (Adobe) में बतौर हेड (SMB & Channel Sales, South Asia) अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे

Last Modified:
Tuesday, 27 July, 2021
Gaurav Kanwal

‘ओवर द टॉप’ (OTT) प्लेटफॉर्म ‘डिज्नी+हॉटस्टार’ (Disney+ Hotstar) के एग्जिक्यूटिव वाइस प्रेजिडेंट (Ad Sales) गौरव कंवल ने इस्तीफा दे दिया है। यहां वह करीब ढाई साल से कार्यरत थे। अपनी इस भूमिका में बतौर न्यू बिजनेस हेड वह ‘डिज्नी+हॉटस्टार’ के लिए विज्ञापन राजस्व बढ़ाने की जिम्मेदारी संभाल रहे थे।

इसके तहत मार्केट के लिए नए रास्ते तलाशना, एडवर्टाइजर बेस बढ़ाना, ऐड फॉर्मेट और टेक्नोलॉजी इंफ्रॉस्ट्रक्चर जैसे तमाम उपाय शामिल थे। ‘डिज्नी+हॉटस्टार’ में आने से पहले उन्होंने ‘एडोब’ (Adobe) में बतौर हेड (SMB & Channel Sales, South Asia) सात साल से ज्यादा समय तक अपनी जिम्मेदारी निभाई थी।

इसके अलावा वह चार साल से अधिक समय तक ’Symantec Corporation’ में अपनी जिम्मेदारी निभा चुके हैं। दो दशक से ज्यादा के अपने करियर में उन्होंने ‘Feedback Ventures’, ‘Corning International’ और ‘International SOS Services’ के साथ भी काम किया है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

भारत के बाहर इस देश में सबसे ज्यादा देखा गया DD व AIR का यूट्यूब चैनल

दूरदर्शन और ऑल इंडिया रेडियो के यूट्यूब चैनल भारत के बाहर भी कई देशों में खूब पसंद किए जा रहे हैं

Last Modified:
Tuesday, 27 July, 2021
Doordarshan

दूरदर्शन और ऑल इंडिया रेडियो के यूट्यूब चैनल भारत के बाहर भी कई देशों में खूब पसंद किए जा रहे हैं, लेकिन सबसे ज्यादा जिस देश में देखा गया वह है पाकिस्तान। सूचना-प्रसारण मंत्रालय ने बताया कि प्रसार भारती के एआईआर और डीडी नेटवर्क के करीब 170 से ज्यादा यूट्यूब चैनल मौजूद हैं। प्रसार भारती के डिजिटल चैनल देश ही नहीं विदेशों में भी काफी चर्चित हैं।

राज्‍यसभा में प्रश्‍न के उत्‍तर में सूचना-प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने बताया कि यूट्यूब चैनलों के दर्शकों के हिसाब से पांच अव्वल देशों के जो आंकड़े प्राप्त हुए हैं, उसके मुताबिक पाकिस्तान 2018 से सबसे ऊपर है। भारत के सरकारी चैनलों को भारत के बाद सबसे ज्यादा वहीं देखा गया है।

इसके अतिरिक्त शीर्ष देशों में यूएसए, सऊदी अरब, यूके, यूनाइटेड अरब अमीरात, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा और बांग्लादेश है। ये वो देश है जहां भारतीयों की अच्छी खासी आबादी मौजूद है।

सरकार ने बताया कि 2020 में पाकिस्तान में दर्शकों की संख्या 1.33 करोड़, वहीं यूएसए में 1.28 करोड़, यूएई में 82.7 लाख, बांग्लादेश में 81 लाख और सऊदी अरब में संख्या 65 लाख थी। इस साल अब तक पाकिस्तान में 70 लाख और यूएसए में 56 लाख दर्शकों का आंकड़ा दर्ज किया गया है।

सरकार का कहना है साल भर के दर्शकों के आंकड़ों पर नजर डालें, तो डीडी और एआईआर के यूट्यूब चैनल पर दर्शकों की संख्या 2019 के 68 करोड़ के मुकाबले साल 2020 में दोगुना होकर 130 करोड़ रही है।

उन्होंने बताया कि प्रसार भारती विभिन्‍न ऑडियो और वीडियो डिजिटल चैनलों को लोकप्रिय बनाने के लिए निरंतर विभिन्‍न कदम उठा रही है। इसके लिए समर्पित डिजिटल प्‍लेटफॉर्म प्रकोष्‍ठ बनाया गया है। यह प्रकोष्‍ठ विभिन्‍न डिजिटल प्‍लेटफॉर्म पर कार्यक्रमों और डिजिटल चैनलों की गतिविधियों का कार्यान्‍वयन और निगरानी करता है। न्‍यूज ऑन एआईआर ऐप का विभिन्‍न चैनलों पर निरंतर प्रचार-प्रसार किया जा रहा है।  

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

'द वायर' के कार्यालय पहुंची दिल्ली पुलिस, बताई वजह

दिल्ली के गोल मार्केट इलाके में स्थित न्यूज वेबसाइट ‘द वायर’ के कार्यालय में 23 जुलाई को दिल्ली पुलिस पहुंची और इसके संस्थापक व संपादक सिद्धार्थ वरदराजन से पूछताछ की।

Last Modified:
Saturday, 24 July, 2021
DelhiPolice4545

दिल्ली के गोल मार्केट इलाके में स्थित न्यूज वेबसाइट ‘द वायर’ के कार्यालय में 23 जुलाई को दिल्ली पुलिस पहुंची और इसके संस्थापक व संपादक सिद्धार्थ वरदराजन से पूछताछ की। इसकी जानकारी वरदराजन ने ट्विटर पर दी। उन्होंने बताया कि पुलिस ने अभिनेत्री स्वरा भास्कर, विनोद दुआ और आरफा खानम शेरवानी के संबंध में उनसे सवाल पूछे। 

सिद्धार्थ वरदराजन से उनके कार्यालय पहुंचे पुलिसकर्मी ने उनसे पूछा कि विनोद दुआ कौन हैं? स्वरा भास्कर कौन हैं? क्या मैं आपका रेंट अग्रीमेंट देख सकता हूं? क्या मैं आरफा से बात कर सकता हूं?

सोशल मीडिया पर सवाल उठाए जाने के घंटों बाद दिल्ली पुलिस की तरफ से इस मामले में स्पष्टीकरण आया, जिसमें नई दिल्ली जिले के डीसीपी दीपक यादव ने कहा कि यह 15 अगस्त से संबंधित रूटीन चेकिंग का हिस्सा था। डीसीपी ने कहा कि स्वतंत्रता दिवस से पहले सुरक्षा को लेकर कुछ औपचारिकताएं पूरी करने के संबंध में ‘द वायर’ के कार्यालय इलाके के पुलिसकर्मी गए थे। 

उन्होंने बताया कि स्वतंत्रता दिवस से पहले सुरक्षा और आतंकवाद विरोधी उपाय, जैसे किरायेदार सत्यापन, गेस्ट हाउस की जांच पूरी दिल्ली में किए जा रहे हैं। स्थानीय पुलिस अधिकारी जिन कार्यालय का सत्यापन करने गए थे, उसके प्रवेश द्वार पर कोई साइनबोर्ड नहीं था।

अपने ट्वीट के साथ डीसीपी ने कार्यालय का फोटो भी भेजा है, जिस पर किसी कार्यालय का बोर्ड नहीं लगा था।

बता दें कि ‘द वायर’ दुनियाभर के उन 16 मीडिया संस्थानों में से एक है, जो पेगासस प्रोजेक्ट में शामिल थे। इसी वेबसाइट ने फ्रांस स्थित गैर-लाभकारी फॉरबिडन स्टोरीज और मानवाधिकार समूह एमनेस्टी इंटरनेशनल के साथ मिलकर पेगासस की मदद से सबसे पहले जासूसी की खबर का खुलासा किया था।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

पत्रकार प्रियम सिन्हा ने इस मीडिया समूह से किया नए सफर का आगाज

पत्रकार प्रियम सिन्हा ने न्यूज ऐप ‘इनशॉर्ट्स’ (Inshorts) में अपनी पारी को विराम दे दिया है। वह यहां करीब आठ महीने से कार्यरत थे।

Last Modified:
Tuesday, 20 July, 2021
Priyam Sinha

पत्रकार प्रियम सिन्हा ने न्यूज ऐप ‘इनशॉर्ट्स’ (Inshorts) में अपनी पारी को विराम दे दिया है। वह यहां करीब आठ महीने से कार्यरत थे और हिंदी कंटेंट स्पेशलिस्ट के तौर पर अपनी जिम्मेदारी संभाल रहे थे।

प्रियम सिन्हा ने अपना नया सफर अब ‘इंडियन एक्सप्रेस’ समूह के हिंदी न्यूज पोर्टल ‘जनसत्ता .कॉम’(jansatta.com) के साथ शुरू किया है। उन्होंने बतौर कंटेंट एडिटर यहां जॉइन किया है। बता दें कि ‘इनशॉर्ट्स’ से पहले प्रियम सिन्हा ‘टोटल टीवी’ (Total TV) में अपनी भूमिका निभा रहे थे। वह यहां करीब एक साल से कार्यरत थे और टीम लीडर (डिजिटल) की कमान संभाल रहे थे।

‘टोटल टीवी’ में उनकी यह दूसरी पारी थी। वर्ष 2017 में उन्होंने अपने करियर की शुरुआत भी इसी चैनल से ही की थी। साढ़े चार साल से ज्यादा समय से मीडिया में कार्यरत प्रियम सिन्हा ने जी न्यूज’ से इंटर्नशिप की है।

पूर्व में वह ‘न्यूज1इंडिया’ में रिपोर्टर के तौर पर अपनी जिम्मेदारियों को अंजाम दे चुके हैं। वह हैदराबाद में रामोजी राव वाले इनाडु ग्रुप के डिजिटल नेटवर्क ‘ईटीवी भारत’ (ETV Bharat) में कंटेंट एडिटर (स्पोर्ट्स) के तौर पर भी काम कर चुके हैं। इससे अलावा वह ‘इंडिया न्यूज’ में मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ डेस्क पर बतौर असिस्टेंट प्रड्यूसर भी अपनी भूमिका निभा चुके हैं।

उत्तर प्रदेश में हरदोई के मूल निवासी प्रियम सिन्हा ने महाराणा प्रताप पोस्ट ग्रेजुएट कॉलेज से पढ़ाई करने के बाद गाजियाबाद के राजकीय पॉलीटेक्निक कॉलेज से भी पढ़ाई की है। समाचार4मीडिया की ओर से प्रियम सिन्हा को उनकी नई पारी के लिए ढेरों शुभकामनाएं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

Disney+ Hotstar में इस बड़े पद से गुलशन वर्मा ने दिया इस्तीफा

गुलशन वर्मा ने इस ‘ओवर द टॉप’ प्लेटफॉर्म को जुलाई 2018 में जॉइन किया था।

Last Modified:
Monday, 19 July, 2021
Gulshan Verma

‘ओवर द टॉप’ (OTT) प्लेटफॉर्म ‘डिज्नी+हॉटस्टार’ (Disney+ Hotstar) के सीनियर वाइस प्रेजिडेंट (SVP) और हेड (एडवर्टाइजिंग) गुलशन वर्मा ने यहां से बाय बोल दिया है। ‘डिज्नी+हॉटस्टार’  में अपनी इस भूमिका में वह ‘हॉटस्टार‘ के विज्ञापन बिजनेस के लिए सेल्स, सेल्स स्ट्रैटेजी, ऑपरेशंस, डाटा पार्टनरशिप, ब्रैंडेड कंटेंट, स्टूडियोज और कस्टमर मार्केटिंग के लिए जिम्मेदार थे।

हालांकि, वर्मा के इस्तीफे के बारे में अभी ‘स्टार इंडिया’ की ओर से कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है। बता दें कि वर्मा ने ‘स्टार इंडिया’ के स्वामित्व वाले इस ओटीटी प्लेटफॉर्म को जुलाई 2018 मे बतौर सीनियर वाइस प्रेजिडेंट और हेड (क्लाइंट व एजेंसी) जॉइन किया था। इस भूमिका में वह बी3बी मार्केटिंग के अलावा बड़े क्लाइंट और एजेंसी रेवेन्यू के लिए जिम्मेदार थे। उन्हें ‘हॉटस्टार ब्रैंड लैब्स’ की स्थापना का श्रेय भी दिया जाता है।

‘डिज्नी+हॉटस्टार’ से पहले गुलशन वर्मा ‘टाइम्स इंटरनेट’ (Times Internet) में बतौर चीफ रेवेन्यू ऑफिसर अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे। वर्मा ने पिछले सालों में यूरोप, दक्षिण अमेरिका और एशिया में मीडिया और कई विशेष डिजिटल मीडिया कंपनियों के लिए काम किया है। ‘टाइम्स इंटरनेट‘ के साथ जुड़ने से पहले वह ‘आउटब्रेन‘ (Outbrain) के साथ थे, जहां उन पर भारत और दक्षिण एशिया में ‘आउटब्रेन‘ को मैनेज करने की जिम्मेदारी थी।

‘आउटब्रेन‘ से पहले वह ‘कोम्ली मीडिया‘ (Komli Media) के चीफ रेवेन्यू ऑफिसर थे। वर्मा ने ‘याहू‘के साथ भी काम किया है। उन्होंने यहां भारत और अमेरिका में ‘याहू‘ के लिए प्रोडक्ट मार्केटिंग के डायरेक्टर और सेल्स स्ट्रैटजी के डायरेक्टर के तौर पर काम किया है। उन्होंने ‘McKinsey & Co‘ के लॉस एजेंलेस स्थित ऑफिस में भी बतौर कंसल्टेंट काम किया है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

एबीपी न्यूज को बाय बोलकर टीवी पत्रकार कुमकुम बिनवाल ने नई दिशा में बढ़ाए कदम

वह करीब तीन साल से हिंदी न्यूज चैनल ‘एबीपी न्यूज’ (ABP News) में अपनी जिम्मेदारी संभाल रही थीं।

Last Modified:
Thursday, 15 July, 2021
Kumkum Binwal

टीवी जर्नलिस्ट कुमकुम बिनवाल ने हिंदी न्यूज चैनल ‘एबीपी न्यूज’ (ABP News) को अलविदा कह दिया है। वह करीब तीन साल से इस चैनल का हिस्सा थीं और बतौर एंकर चैनल का प्राइम टाइम मॉर्निंग शो ‘नमस्ते भारत’ (Namaste Bharat) होस्ट करती थीं। कुमकुम बिनवाल ने अब टीवी की दुनिया को बाय बोलकर अपनी नई पारी की शुरुआत डिजिटल के साथ की है। उन्होंने यूट्यूब चैनल हिंदुस्तान लाइव ‘Hindustan Live’ में बतौर कंसल्टिंग एडिटर जॉइन किया है।

मूल रूप से उत्तराखंड की रहने वाली कुमकुम बिनवाल को पत्रकारिता के क्षेत्र में काम करने का करीब 14 साल का अनुभव है। पत्रकारिता के क्षेत्र में अपने करियर की शुरुआत उन्होंने ‘न्यूज24’ में बतौर इंटर्न की थी। इसके बाद वह ‘टीवी टुडे नेटवर्क’, ‘इंडिया न्यूज’, ‘टोटल टीवी’ और ‘फोकस टीवी’ में अपनी जिम्मेदारी निभा चुकी हैं।

पढ़ाई-लिखाई की बात करें तो उन्होंने दिल्ली के ‘एपीजे इंस्टीट्यूट ऑफ मास कम्युनिकेशन’ (AIMC) से  मास कम्युनिकेशन की पढ़ाई की है। कुमकुम बिनवाल एंकरिंग के साथ-साथ बड़े इवेंट्स में ग्राउंड रिपोर्टिंग भी कर चुकी हैं। बिहार रिपोर्टिंग और नमस्ते भारत के लिए उन्हें दो बार प्रतिष्ठित एक्सचेंज4मीडिया न्यूज ब्रॉडकास्टिंग अवॉर्ड (enba) मिल चुका है।

समाचार4मीडिया की ओर से कुमकुम बिनवाल को उनके नए सफर के लिए ढेरों शुभकामनाएं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

नहीं थम रहीं गूगल की मुश्किलें, लगा करोड़ों डॉलर का जुर्माना

फ्रांस के प्रतिस्पर्धा नियामक ने फ्रांसीसी पब्लिशर के साथ विवाद में गूगल पर 59.2 करोड़ डॉलर का जुर्माना लगाया है

Last Modified:
Wednesday, 14 July, 2021
Google

फ्रांस के प्रतिस्पर्धा नियामक ने फ्रांसीसी पब्लिशर के साथ विवाद में गूगल पर 59.2 करोड़ डॉलर का जुर्माना लगाया है। दरअसल, फ्रांसीसी पब्लिशर चाहते थे कि गूगल उनके खबरों के बदले उन्हें भुगतान करे।

नियामक ने चेतावनी दी कि अगर गूगल न्यूज पब्लिशर को मुआवजे का भुगतान करने के तौर तरीकों के बारे में दो महीने के अंदर प्रस्ताव नहीं पेश करता है तो उस पर प्रतिदिन करीब 10 लाख डॉलर के हिसाब से और जुर्माना लगाया जाएगा।

गूगल फ्रांस ने एक बयान में कहा कि इस फैसले से वह बेहद निराश है और यह जुर्माना ‘हमारे प्लेटफॉर्म पर किए गए प्रयासों या न्यूज कंटेंट के उपयोग की वास्तविकता को नहीं दर्शाता है।’

कंपनी ने कहा कि वह इसके समाधान की दिशा में सद्भावपूर्ण बातचीत कर रही है और कुछ पब्लिशर्स के साथ एक समझौते पर पहुंचने की कगार पर है। यह विवाद यूरोपीय संघ के उस व्यापक प्रयास का हिस्सा है, जिसमें गूगल और अन्य आईटी कंपनियों को कंटेंट के बदले में पब्लिशर्स को क्षतिपूर्ति करने को कहा गया है।

फ्रांसीसी जांच एजेंसी ने इस साल की शुरुआत में न्यूज पब्लिशर्स के साथ तीन महीने के भीतर बातचीत करने के लिए गूगल को अस्थायी आदेश जारी किया था और इन्हीं आदेशों के उल्लंघन को लेकर कंपनी पर मंगलवार को जुर्माना लगाया। गूगल को बार-बार फ्रांसीसी और यूरोपीय संघ के अधिकारियों द्वारा विभिन्न व्यावसायिक गतिविधियों के लिए निशाना बनाया गया है, जिन्हें बाजार में उसके प्रभुत्व का दुरुपयोग करने के रूप में देखा जाता है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

SC का विभिन्न हाई कोर्ट में नए IT नियमों के खिलाफ दर्ज मामलों में हस्तक्षेप करने से इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को विभिन्न हाई कोर्ट में नए आईटी नियम, 2021 की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली याचिकाओं के संबंध में कार्यवाही पर रोक लगाने से इनकार कर दिया।

Last Modified:
Saturday, 10 July, 2021
SC45

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को विभिन्न हाई कोर्ट में नए आईटी नियम, 2021 की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली याचिकाओं के संबंध में कार्यवाही पर रोक लगाने से इनकार कर दिया।

कार्यवाही की बहुलता का हवाला देते हुए केंद्र ने सभी याचिकाओं को स्थानांतरित करने की मांग करते हुए सर्वोच्च न्यायालय का रुख किया था। सूचना प्रौद्योगिकी (मध्यवर्ती दिशानिर्देश और डिजिटल मीडिया आचार संहिता) नियम, 2021 को चुनौती देने वाली कई याचिकाएं दिल्ली, बॉम्बे, मद्रास और केरल हाई कोर्ट में दायर की गई हैं, जिस पर सुनवाई चल रही है।

केंद्र ने अपनी याचिका में कहा, ओटीटी प्लेटफॉर्म्स को विनियमित करने का मुद्दा शीर्ष अदालत के समक्ष लंबित है।

बता दें उच्च न्यायालयों में लंबित याचिकाओं में फेसबुक, ट्विटर जैसी सोशल मीडिया फर्मों के साथ ही ओटीटी प्लेटफॉर्म्स को रेगुलेट करने के उद्देश्य से लाए गए नए आईटी नियमों को चुनौती दी गई है

न्यायमूर्ति ए। एम। खानविलकर और संजीव खन्ना ने इस तरह के सभी मामलों को शीर्ष अदालत में स्थानांतरित करने की मांग करने वाली केंद्र सरकार की याचिका को जस्टिस फॉर राइट्स फाउंडेशन द्वारा दायर एक अपील के साथ टैग किया, जो अदालत के समक्ष लंबित है।

पीठ ने सूचना प्रौद्योगिकी (मध्यवर्ती दिशानिर्देश और डिजिटल मीडिया आचार संहिता) नियम, 2021 को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर सुनवाई के लिए विभिन्न उच्च न्यायालयों के समक्ष कार्यवाही पर अंतरिम रोक लगाने का निर्देश देने से भी इनकार कर दिया।

केंद्र का प्रतिनिधित्व कर रहे सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि शीर्ष अदालत के समक्ष आईटी नियमों को चुनौती देने वाले मामले लंबित हैं। पीठ ने जवाब दिया, हम एक लंबित एसएलपी (स्पेशल लीव पिटीशन) के साथ टैग करेंगे। पीठ ने कार्यवाही पर रोक लगाने के केंद्र के अनुरोध पर ध्यान नहीं दिया।

पीठ ने कहा, हम आज उस आदेश को पारित नहीं करेंगे। हम सिर्फ 16 जुलाई को उपयुक्त पीठ के समक्ष टैगिंग और सूची कर रहे हैं। इसके बाद बेंच ने स्थानांतरण याचिका को स्पेशल लीव पिटीशन के साथ टैग किया और 16 जुलाई के लिए उपयुक्त बेंच के सामने भेजा है।

केंद्र ने अपनी याचिका में कहा कि सभी याचिकाओं को शीर्ष अदालत में स्थानांतरित करने से नए आईटी नियमों की वैधता पर व्यापकता, कार्यवाही की बहुलता और अलग-अलग न्यायिक विचारों से बचा जा सकेगा।

केंद्र ने तर्क दिया कि यदि व्यक्तिगत याचिकाओं पर उच्च न्यायालयों द्वारा स्वतंत्र रूप से निर्णय लिया जाता है, तो इसका परिणाम उच्च न्यायालय और इस अदालत के निर्णयों के बीच संघर्ष की संभावना में हो सकता है।

केंद्र ने प्रस्तुत किया, याचिकाकर्ता द्वारा उक्त नियमों को पहले ही इस अदालत के रिकॉर्ड में रखा जा चुका है और उनकी पर्याप्तता, वैधता और अन्य संबंधित मुद्दे इस अदालत के समक्ष विचाराधीन हैं।

आईटी नियमों को इस आधार पर चुनौती दी गई है कि यह सरकार को डिजिटल न्यूज पोर्टल्स पर सामग्री को वर्चुअली निर्देशित करने में सक्षम बनाता है।

नए आईटी नियमों (New IT Rules) के तहत भारतीय यूजर्स की शिकायतों पर कार्रवाई के लिए प्रमुख सोशल मीडिया (Social Media) कंपनियों में शिकायत अधिकारी की नियुक्ति जरूरी है। नए नियमों के तहत इस माइक्रोब्लॉगिंग मंच को मध्यस्थ के तौर पर मिली कानूनी राहत समाप्त हो गई है और ऐसे में वह यूजर द्वारा डाली गई किसी भी गैरकानूनी पोस्ट के लिये उत्तरदायी होगा। नए नियम 26 मई से प्रभावी हो गए हैं और ट्विटर ने दिए गए अतिरिक्त समय के बीत जाने के बाद भी, उन अधिकारियों की नियुक्ति नहीं की है जिससे उसे मिली प्रतिरक्षा खत्म होती है।

नए सोशल मीडिया नियमों को लेकर डिजिटल क्षेत्र की दिग्गज अमेरिकी कंपनी ट्विटर का भारत सरकार के साथ टकराव चल रहा है। भारत सरकार ने देश के नए आईटी नियमों की जानबूझ कर अनदेखी और कई बार कहे जाने के बावजूद नियमों के अनुपालन में नाकामी को लेकर उसकी आलोचना की है।

बता दें नवनियुक्त सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने नए सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) नियमों को लेकर कहा है कि जो कोई भारत में रहता है और काम करता है, उसे देश के नियमों का अनुपालन करना होगा

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए