Google India को लगा झटका, वाइस प्रेजिडेंट & MD ने दिया इस्तीफा

‘गूगल इंडिया’ (Google India) से एक बड़ी खबर निकलकर सामने आई...

Last Modified:
Tuesday, 02 April, 2019
Google

समाचार4मीडिया ब्यूरो।।

‘गूगल इंडिया’ (Google India) से एक बड़ी खबर निकलकर सामने आई है। दरअसल, ‘गूगल इंडिया’ के वाइस प्रेजिडेंट और मैनेजिंग डायरेक्टर राजन आनंदन ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। हालांकि, वह इस महीने के आखिरी तक गूगल में अपने सेवाएं देते रहेंगे। वह गूगल के साथ पिछले आठ वर्षों के साथ काम कर रहे थे। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, आनंदन अब भारत और दक्षिण एशिया के नए-नवेले टेक्नोलॉजी स्टार्टअप्स में निवेश करने पर अपना पूरा ध्यान लगाएंगे। इस पद पर नई नियुक्ति होने तक कंट्री डायरेक्टर (सेल्स) विकास अग्निहोत्री यह जिम्मेदारी संभालेंगे।  

 मिली जानकारी के मुताबिक, राजन अपनी अगली पारी Sequoia Capital India के साथ बतौर मैनेजिंग डायरेक्टर शुरू करेंगे।

आनंदन ने कंपनी कर्मचारियों को लिखे पत्र में कहा है कि उनके लिए यह समय आगे बढ़कर नई चुनौतियां लेने का है। उन्होंने कहा है, ‘मेरा हमेशा से यह मानना रहा है कि चाहे आम व्यक्ति हो अथवा बिजनेस लीडर, आगे बढ़ने के लिए उन्हें नए तरीकों से चुनौती लेने की जरूरत है। किसी भी चीज के मुकाबले मुझे दो चीजों ने सबसे ज्यादा उत्साहित किया है। लोगों की बड़ी समस्याओं के समाधान के लिए इनमें पहली टेक्नोलॉजी की ताकत और दूसरी महत्वाकांक्षी एंटरप्रिन्योर्स की ताकत है। गूगल में मुझे इस दिशा में काम करने का अवसर मिला। अब अपने जीवन के अगले चरण में मैं भारत और दक्षिण एशिया के नए-नवेले टेक्नोलॉजी स्टार्टअप्स में निवेश करने पर अपना पूरा ध्यान केंद्रित करना चाहता हूं।’

वहीं, इस बारे में ‘गूगल’ (एशिया पैसिफिक) के प्रेजिडेंट स्कॉट ब्यूमोंट (Scott Beaumont) ने कहा कि आनंदन के नेतृत्व में भारत और दक्षिण एशिया में इंटरनेट सेवा को विस्तार देने में काफी मदद मिली है। हम उनकी नई पारी के लिए शुभकामनाएं देते हैं।

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

लॉकडाउन के दौरान घरों में बैठे लोगों के लिए Tata Sky ने उठाया ये कदम

लॉकडाउन के चलते देशभर में सभी लोग अपने घरों में है। इसी क्रम में लोगों को फिटनेस के प्रति जागरूक करने लिए डीटीएच प्लेटफॉर्म टाटा स्काई (Tata Sky) ने एक अहम फैसला लिया है

Last Modified:
Thursday, 26 March, 2020
tatasky

लॉकडाउन के चलते देशभर में सभी लोग अपने घरों में है। इसी क्रम में लोगों को फिटनेस के प्रति जागरूक करने लिए डीटीएच प्लेटफॉर्म टाटा स्काई (Tata Sky) ने एक अहम फैसला लिया है। दरअसल टाटा स्काई ने अपने फिटनेस चैनल को सभी के लिए फ्री कर दिया है। यानी अब सभी सब्सक्राइबर्स Tata Sky Fitness चैनल को एक महीने तक अब बिना कोई अतिरिक्त चार्ज किए देख सकेंगे।

टाटा स्काई के इस कदम को केंद्रीय राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने भी सराहा है। उन्होंने ट्वीट कर बताया, ‘टाटा स्काई फिटनेस चैनल एक महीने के लिए फ्री है। यह लोगों को फिट रखने में मदद करेगा। 110 नंबर पर इस चैनल के लिए ट्यून कर सकते हैं। जैसा कि हम लॉकडाउन के तहत 21 दिनों के लिए घर पर ठहरे हैं। हमें अपने परिवार घर पर रहें और फिट रहें। #फिटइंडिया कोरोना वायरस से घर में रहकर लड़े।’

गौरतलब है कि टाटा स्काई के इस कदम से सब्सक्राइबर्स को लाभ मिलेगा, जो 5 करोड़ लोगों तक पहुंचेगा। टाटा स्काई फिटनेस हिंदी, इंग्लिश और तेलगू भाषा में उपलब्ध है।  

 

 

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

राजस्थान पत्रिका ने की केसीके अंतरराष्ट्रीय अवॉर्ड के लिए ऑनलाइन प्रविष्टि शुरू

राजस्थान पत्रिका समूह ने ‘केसी कुलिश इंटरनेशनल अवॉर्ड फॉर एक्सीलेंस इन जर्नलिज्म’ के लिए शुक्रवार को ऑनलाइन प्रविष्टि की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

Last Modified:
Friday, 20 March, 2020
KCK

राजस्थान पत्रिका समूह ने ‘केसी कुलिश इंटरनेशनल अवॉर्ड फॉर एक्सीलेंस इन जर्नलिज्म’ के लिए शुक्रवार को ऑनलाइन प्रविष्टि की प्रक्रिया शुरू कर दी है। बता दें कि यह अवॉर्ड पत्रिका समूह के  संस्थापक कर्पूर चन्द्र कुलिश की याद में दिया जाता है। 20 मार्च को उनकी जयंती के मौके पर ही ऑनलाइन प्रविष्टि की प्रक्रिया शुरू की गई है, जिसकी आखिरी तारीख 15 मई 2020 है।

बता दें कि यह प्रविष्टि साल 2018  और 2019 दो सालों के लिए आमंत्रित की गई है। पुरस्कार व प्रविष्टि के संबंध में पूरी जानकारी वेबसाइट http://kckawards.patrika.com पर उपलब्ध है। इसी वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन का लिंक दिया गया है।

वर्ष 2018 के अवॉर्ड के लिए एक जनवरी से 31 दिसंबर 2018 और वर्ष 2019 के लिए एक जनवरी से 31 दिसंबर 2019 तक दुनिया के किसी भी समाचार पत्र अथवा राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय न्यूज मैग्जीन में प्रकाशित समाचार या समाचार अभियान पात्र होंगे। दोनों वर्ष के लिए अलग-अलग प्रविष्टि भेजनी होगी।

विजेता को अवॉर्ड के तौर पर 11 हजार अमेरिकी डॉलर और प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाएगा। साथ ही 10 अन्य श्रेष्ठ प्रविष्टियों के लिए मेरिट अवॉर्ड भी प्रदान किए जाएंगे। पत्रकारिता सहित विभिन्न क्षेत्रों के प्रतिष्ठित प्रतिनिधियों की स्वतंत्र जूरी श्रेष्ठ प्रविष्टि का चयन करेगी।

गौरतलब है कि इस अवॉर्ड की शुरुआत साल 2007 में की गई थी, तब पहला अवॉर्ड पाकिस्तान के ‘डॉन’ समाचार पत्र की सहायक संपादक अफसां सुभई व ‘हिन्दुस्तान टाइम्स’ के सीनियर रोविंग एडिटर नीलेश मिश्रा को संयुक्त रूप से दिया गया था।

दूसरा अवॉर्ड ‘हिन्दुस्तान टाइम्स’ की वरिष्ठ पत्रकार हरिन्दर बावेजा को, तीसरा अवॉर्ड घाना के ‘दैनिक न्यू क्रुसेडिंग गाइड’ समाचार पत्र के अनस आर्नेयो अनस को और चौथा अवॉर्ड ‘द पॉयनियर’ के जे. गोपीकृष्णन की टीम व ‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ की अजीथा कार्तिकेयन को संयुक्त रूप से दिया गया।

वहीं पांचवे अवॉर्ड के लिए कोई योग्य नहीं पाया गया, केवल 5 मेरिट पुरस्कार ही दिए गए। छठा पुरस्कार ‘इंटरनेशनल कंसोर्टियम ऑफ इंवेस्टिगेटिव जर्नलिस्ट’ (आईसीआईजी) के वॉशिंगटन स्थित पत्रकार जेरार्ड राइल की टीम तथा सातवां पुरस्कार आईसीआईजी के जेरार्ड राइल की टीम और ‘इंडियन एक्सप्रेस’ के पत्रकार मनु पब्बी की टीम को दिया गया।

इसी तरह आठवां अवॉर्ड ‘न्यू अफ्रीकन’ मैगजीन के वनजोही काबुकुरू, नौवां अवॉर्ड ‘अमर उजाला’ के राकेश शर्मा व उनकी टीम, दसवां अवॉर्ड घाना के ‘न्यू क्रुसेडिंग गाइड’ समाचार पत्र के अनस आर्नेयो अनस व ग्यारहवां अवॉर्ड कुआलालम्पुर के ‘द स्टार मीडिया’ के इआन यी व उनकी टीम को प्रदान किया गया।

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

'IMPACT' 50 प्रभावशाली महिलाओं को करेगा सम्मानित, शॉर्टलिस्ट हुईं एंट्रीज

हर बार की तरह इस साल भी एक्सचेंज4मीडिया ग्रुप ने देश में मीडिया, एडवर्टाइजमेंट और मार्केटिंग के क्षेत्र में अपनी खास पहचान बनाने वाली इंपैक्ट की 50 महिलाओं को शॉर्टलिस्ट किया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 18 March, 2020
Last Modified:
Wednesday, 18 March, 2020
impact

हर बार की तरह इस साल भी एक्सचेंज4मीडिया ग्रुप (exchange4media Group) ने देश में मीडिया, एडवर्टाइजमेंट और मार्केटिंग के क्षेत्र में अपनी खास पहचान बनाने वाली इंपैक्ट की 50 प्रभावशाली महिलाओं (IMPACT’s 50 Most Influential Women) को शॉर्टलिस्ट किया है। यह नौंवा साल है, जब एक्सचेंज4मीडिया समूह (exchange4media Group) की वीकली मैगजीन इंपैक्ट (IMPACT)  के तत्वावधान में 50 प्रभावशाली महिलाओं का चुनाव उनके कार्य, सफलता, नई इबारत लिखने, अपनी पहचान बनाने और इंडस्ट्री में महिलाओं को एक नई पहचान दिलाने के लिए किया जा रहा है।

बता दें कि ये वे महिलाएं हैं जिनके सहयोग से इंडस्ट्री पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ा है और ऐसा माना जाता है कि आज इनकी वजह से पूरी तरह से इंडस्ट्री के मायने बदल गए हैं। इन महिलाओं के गुणों का अनुकरण करना अब अनगिनत लोगों के लिए प्रेरणास्रोत हैं। पिछले साल (2019) इंपैक्ट की टॉप 50 महिलाओं की लिस्ट में ‘गोदरेज इंडस्ट्रीज’ (Godrej Industries) की एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर और चीफ ब्रैंड ऑफिसर तान्या डबास ने पहला ने स्थान हासिल किया था, जबकि 2018 में   पारले एग्रो’ (Parle Agro) की जॉइंट मैनेजिंग डायरेक्‍टर और चीफ मार्केटिंग ऑफिसर नादिया चौहान नंबर-1 पर रहीं थी।

इस लिस्ट को तैयार करने वाली जूरी के अध्यक्ष मैडिसन वर्ल्ड (Madison World) के चेयरमैन सैम बलसारा हैं, जिनके नेतृत्व में इस साल फरवरी के अंत में यह सूची तैयार की गई। वहीं जूरी सदस्यों में विभिन्न इंडस्ट्री के बड़े-बड़े दिग्गजों को शामिल किया गया है, जिनमें ‘जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लिमिटेड’ (Zee Entertainment Enterprises Ltd) के चीफ पीपुल ऑफिसर अनिमेश कुमार, ‘विकटान ग्रुप’ (Vikatan Group) के मैनेजिंग डायरेक्टर बी. श्रीनिवासन, डेलना अवारी एंड कंसल्टेंट्स (Delna Avari & Consultants) की फाउंडर डेलना अवारी, ‘वायकॉम18’ (Viacom18) के अंग्रेजी मनोरंजन समूह (English Entertainment cluster) के प्रमुख फरजाद पालिया, ‘क्वोरा’ (Quora) के जनरल मैनेजर गुरमीत सिंह, ‘मैक्केन वर्ल्डग्रुप इंडिया’ (Mccann Worldgroup India) के एमडी व वाइस चेयरमैन पार्थ सिन्हा,  अरुमुगम एंड कंसल्टेंट्स की फाउंडर पुनीता अरुमुगम, ‘हवास ग्रुप इंडिया’ (Havas Group India) के सीईओ राणा बरुआ, ‘वायकॉम18’ की रीजनल एंटरटेनमेंट क्लस्टर के हेड रवीश कुमार, ‘एसके एंड एसोसिएट्स’ (SK & Associates) की फाउंडर व सीईओ शालिनी कामत,  ‘जी5 इंडिया’ (Zee5 India) के सीईओ तरुण कात्याल और ‘हेड्रिक एंड स्ट्रगल’ (Heidrick & Struggles) कंपनी के प्रमुख (ग्लोबल कंज्यूमर मार्केट्स) विक्रम छाछी शामिल रहे।

वहीं इस कार्यक्रम के तारीख की घोषणा जल्द ही की जाएगी।

शॉर्टलिस्ट की गई एंट्रीज की फाइनल लिस्ट आप नीचे देख सकते हैं-

 

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

म्यूजिक चैनल ShowBox की CEO राजी एम शिंदे ने लिया बड़ा फैसला

पिछले साल अगस्त में मीडिया नेटवर्क ‘IN10 Media’ ने शिंदे के नेतृत्व में ‘शोबॉक्स’ म्यूजिक चैनल लॉन्च किया था

Last Modified:
Tuesday, 17 March, 2020
Rajiee Shinde

मीडिया और एंटरटेनमेंट कंपनी ‘IN10 Media’ के म्यूजिक चैनल ‘शोबॉक्स’ (ShowBox) की चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर राजी एम शिंदे (Rajiee M Shinde) ने अपने पद से हटने का फैसला लिया है। कंपनी के अनुसार, आने वाले कुछ महीनों के अंदर वह नेटवर्क को छोड़ देंगी। बताया जाता है कि शिंदे नेटवर्क को छोड़कर अपनी पसंद का कुछ और करना चाह रही हैं, इसलिए उन्होंने यह निर्णय लिया है।  

बता दें कि पिछले साल अगस्त में ‘IN10 Media’ ने शिंदे के नेतृत्व में ‘शोबॉक्स’ म्यूजिक चैनल लॉन्च किया था। इस बारे में ‘IN10 Media’ के मैनेजिंग डायरेक्टर आदित्य पिट्टी का कहना है, ‘राजी शिंदे के साथ काम करना काफी अच्छा अनुभव रहा है और नेटवर्क में अमूल्य योगदान देने के लिए हम उन्हें धन्यवाद देते हैं और उनके उज्जवल भविष्य की कामना करते हैं।’

वहीं, अपने फैसले के बारे में राजी एम शिंदे का कहना है, ‘शोबॉक्स की लॉन्चिंग करना और इतनी क्रिएटिव व टैलेंटेड टीम के साथ काम करना वाकई में काफी अच्छा अनुभव रहा है। ‘IN10 Media’ ने मुझ पर जो भरोसा दिखाया और इतनी बड़ी जिम्मेदारी सौंपी, मैं उसके लिए धन्यवाद देती हूं।’

गौरतलब है कि टेलिविजन इंडस्‍ट्री एक्‍सपर्ट राजी एम शिंदे 'एपिक टेलिविजन नेटवर्क' (EPIC Television Network) की प्रेजिडेंट रह चुकी हैं। शिंदे का अब तक का शानदार कॅरियर रहा है और मीडिया के क्षेत्र में उन्‍होंने बिजनेस को रेवेन्‍यू के दृष्टिकोण से काफी ऊंचाइयां दी हैं। 'एपिक' जॉइन करने से पूर्व वह 'पीटीसी नेटवर्क' (PTC Network) की सीईओ और डायरेक्‍टर रह चुकी हैं। उन्‍होंने इस नेटवर्क को स्‍थापित करने में काफी अहम भूमिका निभाई थी। उनके नेतृत्‍व में नेटवर्क ने कई चैनल लॉन्‍च किए, जिनमें 'पीटीसी पंजाबी' पंजाब का नंबर वन चैनल है। इसके अलावा 'पीटीसी मोशन पिक्‍चर्स' (PTC Motion Pictures) की लॉन्चिंग की कमान भी उन्‍हीं के हाथ में थी।

शिंदे इससे पूर्व 'जी ग्रुप' के चैनल ईटीसी पंजाबी (ETC Punjabi) की बिजनेस हेड भी रह चुकी हैं। देश का पहला पंजाबी म्‍यूजिक चैनल भी उन्‍होंने लॉन्‍च कराया था। गौरतलब है कि अपने दो दशक से ज्‍यादा के कॅरियर में वह अंतराष्‍ट्रीय स्‍तर पर प्रमुख जिम्‍मेदारी निभाने के साथ ही देश के प्रमुख मीडिया संस्‍थानों में भी काम कर चुकी हैं। मीडिया और एंटरटेनमेंट के क्षेत्र में उल्‍लेखनीय योगदान के लिए उन्‍हें कई अवॉर्ड्स भी मिल चुके हैं।

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

कोरोना के खौफ से मीडिया हाउस भी हुए सतर्क, लागू की ये व्यवस्था

दुनियाभर में कोरोना वायरस से मरने वालों का आंकड़ा 7000 के पार हो गया है। कोरोना से लोगों को सावधानियां बरतने की जानकारी देने वाला मीडिया भी अब पूरी तरह से ऐतिहात बरत रहा है।

Last Modified:
Tuesday, 17 March, 2020
corona

कोरोना वायरस का खतरा तेजी से बढ़ रहा है। कहीं स्कूल बंद है, कहीं मॉल, तो कहीं ऑफिस बंद हों रहे हैं। दुनियाभर में इस संक्रामक बीमारी से मरने वालों का आंकड़ा 7000 पार हो गया है। कोरोना वायरस से लोगों को सावधानियां बरतने की जानकारी देने वाला मीडिया भी अब ऐतिहात बरत रहा है। बहुराष्ट्रीय कंपनियों की तर्ज पर कोरोना वायरस के चलते कई बड़े मीडिया हाउस अपने कर्मियों को घर से काम करने का निर्देश दे रहे हैं। जानकारी के मुताबिक, कई मीडिया कंपनियों ने तो अपने रिपोर्टर्स को जहां तक संभव हो सके प्रेस कॉन्फ्रेंस से दूर रहने तक की सलाह दी है।  

‘इंडियन एक्सप्रेस’ समूह ने कोरोना से बचाव के तहत कदम उठाते हुए अपने एंप्लाईज को एक ई-मेल जारी किया है। एचआर की ओर से जारी इस मेल में कहा गया है कि जो एंप्लाईज सर्दी-खांसी-बुखार से पीड़ित हैं, ऑफिस आने-जाने के लिए पब्लिक ट्रांसपोर्ट का इस्तेमाल करते हैं अथवा दूर से आते हैं, यदि वे चाहें तो अपने सीनियर से अनुमति लेकर घर से ऑफिस का काम (Work From Home) कर सकते हैं।

‘हिन्दुस्तान’ की बात करें तो यहां भी मैनेजमेंट ने अपने एंप्लाईजको वर्क फ्रॉम होम की छूट दी है। मैनेजमेंट ने अपने मैनेजर्स से कहा है कि कोरोना के मद्देनजर जो भी एंप्लाईज घर से काम करना चाहते हैं, उसकी एप्लीकेशन को मंजूर कर दें। यही नहीं, ऑफिस को पूरी तरह सैनिटाइज करने के साथ ही हर डेस्क पर सैनिटाइजर्स रखे गए हैं। इसके अलावा भी कई एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं।

वहीं, टाइम्स ग्रुप ने भी अपने सभी एंप्लाईज को घर से ही काम करने के आदेश दिए हैं। इन आदेशों में कहा गया है कि सभी एंप्लाईज अपने अधिकारी को इंफॉर्म कर घर से काम कर सकते हैं। जो कर्मचारी ऑफिस में डेस्कटॉप का इस्तेमाल करते थे, वे डेस्कटॉप उनके घर ही पहुंचा दिए गए हैं, ताकि किसी भी तरह से काम प्रभावित न हो। हालांकि, जो एंप्लाईज किसी कारण से घर की बजाय ऑफिस में आकर काम करना चाहते हैं, उनके लिए भी संस्थान ने कई इंतजाम किए हैं। गेट पर ही उनका बुखार चेक करने के साथ ही सैनिटाइज कराया जा रहा है। इसके अलावा ऑफिस को सैनिटाइज करने के साथ ही उन कर्मचारी को सैनिटाइजर्स भी उपलब्ध कराए जा रहे हैं। टाइम्स ऑफ इंडिया ग्रुप के मैनेजिंग डायरेक्टर विनीत जैन ने इस बारे में एक ट्वीट भी किया है। इस ट्वीट में उन्होंने वर्क फ्रॉम होम कल्चर को काफी सही बताया है।

दैनिक जागरण प्रकाशन लिमिटेड ने भी कोरोना के खौफ को देखते हुए कई एहतियाती कदम उठाए हैं। इसके तहत कंपनी ने अपने सभी डिपार्टमेंट्स के लिए एक ईमेल जारी किया है। इस ईमेल में कहा गया है कि जो एंप्लाईज घर से ही ऑफिस का काम कर सकते हैं और यदि ऐसा करना चाहते हैं, वे अपने रिपोर्टिंग ऑफिसर को इंफॉर्म कर वर्क फ्रॉम होम कर सकते हैं। इसके अलावा जिन एंप्लाईज का आना जरूरी है और उनका काम घर से नहीं हो सकता है, उसके लिए ऑफिस में निर्धारित गाइडलाइंस के अनुसार सैनिटाइजेशन की पूरी व्यवस्था की गई है।

कोरोना के खौफ को देखते हुए 'सहारा न्यूज नेटवर्क' ने भी बचाव की दिशा में कई बुनियादी उपाय किए हैं। इन उपायों के तहत पूरे ऑफिस को सैनिटाइज किया गया है, बल्कि पैनल में शामिल डॉक्टर भी रोजाना ऑफिस की विजिट कर एंप्लाईज की जांच करेंगे। 

‘इंडिया टुडे’ ग्रुप ने भी कोरोना के खतरे को देखते हुए अपने कर्मचारियों को एक ईमेल जारी कर न घबराने की सलाह दी है। एंप्लाईज को जारी इस ईमेल में ‘इंडिया टुडे’ ग्रुप की वाइस चेयरपर्सन कली पुरी का कहना है, ‘हमारी पहली प्राथमिकता आप सभी की सुरक्षा है, इसके साथ ही हमें पत्रकारिता के उच्च मानकों को भी बनाए रखना है।’ इस ईमेल के अनुसार, कोरोना के खतरे को देखते हुए कंपनी नियमित रूप से बेहतरीन डॉक्टरों के संपर्क में है और सुरक्षा के लिए लगातार उचित कदम उठा रही है। इसके तहत कंपनी की ओर से पिछले कुछ दिनों में सुरक्षा को लेकर कई एडवाइजरी जारी की गई हैं और पूरे ऑफिस को सैनिटाइज किया जा रहा है।

इस स्थिति में कंपनी का कामकाज प्रभावित न हो, इसके लिए भी कई कदम उठाए जा रहे हैं। जैसे-पूरे ऑफिस के स्टाफ को तीन ग्रुप्स में बांटा जा रहा है। पहला ग्रुप ‘मीडियाप्लेक्स’ (Mediaplex) से काम करना जारी रखेगा। दूसरा ग्रुप वर्क फ्रॉम होम करेगा और तीसरे ग्रुप में शामिल एंप्लाईज सी-9, सेक्टर-10 स्थित कंपनी के ऑफिस (ITMI) से काम करेंगे। ईमेल के अनुसार, कोरोना के खतरे को देखते हुए ही टीम को ग्रुप्स में बांटा गया है, ताकि संक्रमण की गुंजाइश न रहे। तीनों ग्रुप आइसोलेट किए जाएंगे और उन्हें एक-दूसरे के संपर्क में नहीं आना चाहिए। जैसे-मीडियाप्लेक्स में काम करने वाले एंप्लाईज को सी9 में काम करने वाले अपने सहयोगियों से नहीं मिलना चाहिए। वहीं, जो एंप्लाईज वर्क फ्रॉम होम करेंगे, उन्हें मीडियाप्लेस् और सी9 नहीं आना चाहिए। ये नए बदलाव 31 मार्च तक प्रभावी रहेंगे और हम लगातार स्थिति पर नजर बनाए रखेंगे। जल्द ही इस बारे में प्रत्येक डिपार्टमेंट द्वारा विस्तृत ब्यौरा जारी किया जाएगा।'

कली पुरी के अनुसार, ‘भगवान न करे इस तरह की स्थिति आए, लेकिन फिर भी मैंने एचआर डिपार्टमेंट से कहा है कि सभी एंप्लाईज को मेडिकल इंश्योरेंस की डिटेल्स दे दें और बताएं कि आपात स्थिति में उन्हें क्या करना है। मुझे इस बात की भी खुशी है कि कुछ परेशानियों के बावजूद हम अपने परिवार और सोसायटी को सेफ रखने की दिशा में मिलकर काम कर रहे हैं। मैं रोजाना मीडियाप्लेक्स से काम करूंगी, लेकिन आपके साथ बनी रहूंगी, आपका सपोर्ट ही मेरी ताकत है, इसके लिए आपका धन्यवाद’

इन सबके अलावा, ‘एबीपी न्यूज नेटवर्क’ (ANN) ने भी कोरोना के प्रकोप के मद्देनजर एंप्लाईज की सुरक्षा के मद्देनजर कई कदम उठाए हैं। नेटवर्क ने इस संबंध में जारी इंटरनल ईमेल में कहा है कि जब तक जरूरत न हो, एंप्लाईज ऑफिस न आएं और अपने अधिकारी से अनुमति लेकर घर से ऑफिस का काम करें। वर्क फ्रॉम होम के दौरान सभी एंप्लाईज को फोन और ईमेल पर उपलब्ध रहना होगा। इस ईमेल में यह भी कहा गया है कि पब्लिक ट्रांसपोर्ट से दूरी बनाकर रखें। रिपोर्टर/कैमरामैन और सेल्स टीम को भी सार्वजनिक परिवहन से बचने के लिए कहा गया है। जो भी कर्मचारी ऑफिस के काम से सार्वजनिक परिवहन के बजाय अन्य साधनों से यात्रा करते हैं, वे यात्रा खर्च के बिलों का भुगतान प्राप्त कर सकते हैं, लेकिन इसके लिए उन्हें अपने अधिकारी से अप्रूवल लेना होगा। इस ईमेल के अनुसार, अगले आदेश तक गेस्ट, वेंडर्स और बाहरी लोगों को रिशेप्सन एरिया को छोड़कर कार्यालय परिसर में प्रवेश की अनुमति नहीं होगी। जरूरी मीटिंग्स भी ऑनलाइन की जाएगी। इसके साथ ही एंप्लाईज को सलाह दी गई है कि जब तक बहुत जरूरी न हो, वे अपनी यात्रा टाल दें। ऑफिस के सभी प्रिंटर्स से पासवर्ड हटा दिया गया है, ताकि ज्यादा लोग स्क्रीन को टच न करें। इसके साथ ही काम के घंटों के दौरान ऑफिस के सभी दरवाजे खुले रहने के आदेश भी दिए गए हैं। यदि किसी एंप्लाई अथवा उनके घर के किसी सदस्य ने किसी दूसरे देश की यात्रा की है, तो उन्हें तुरंत इस बारे में एचआर अथवा अपने मैनेजर्स को सूचित करना होगा। 

इसके साथ ही इस ईमेल में यह भी कहा गया है कि यदि किसी भी एंप्लाईज को कोरोना के जरा भी लक्षण दिखें तो वह तुरंत अपने मैनेजर अथवा एचआर से बात कर घर पर रहें। कंपनी की बीमा पॉलिसी में ये बीमारी कवर होती है। इसके अलावा प्रभावित एंप्लाईज को पूरा सहयोग दिया जाएगा और प्रभावित कर्मचारी को पेड लीव (Paid Leave) दी जाएगी।

वहीं, कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने सोमवार को सलाह दी है कि अगर यह संभव हो कि किसी संस्थान के एंप्लाईज अपने घर पर रह कर काम कर सकते हैं तो उन्हें ऐसा करना चाहिए। उन्होंने दफ्तर जाने वाले लोगों को घर से काम करने, सार्वजनिक परिवहन का कम से कम उपयोग करने और एक-दूसरे से करीब एक मीटर की दूरी बनाकर रखने की सलाह दी है।

अग्रवाल के अनुसार, कोरोना वायरस से बचाव के लिए सभी एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं। इसी वजह से स्कूल, स्वीमिंग पूल और मॉल आदि जैसे सार्वजनिक संस्थान 31 मार्च तक बंद करने के लिए कहा गया है। लोगों से कहा गया है कि वे सार्वजनिक परिवहन का कम से कम उपयोग करें। एक-दूसरे से करीब एक मीटर की दूरी बनाकर रखें।

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

देखें विडियो दबंग 3: मुन्नी बदनाम इस बार हुआ 'मुन्ना बदनाम, Fevicol की जगह आया ये ब्रैंड

चुनिंदा विजेताओं को शानदार हैंपर्स जीतने के साथ ही मेगा विजेता को फिल्म स्टार से मिलने का मिलेगा मौका

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 03 December, 2019
Last Modified:
Tuesday, 03 December, 2019
Dabangg3

सलमान खान की फिल्म 'दबंग 3' (Dabangg 3) के नए गाने 'मुन्ना बदनाम’ (Munna Badnaam) का विडियो रिलीज हो गया है। इस गाने का विडियो रिलीज होते ही यह सोशल मीडिया पर छा गया है। फिल्म के निर्माताओं ने इस गाने के लिए ‘सेट वेट’ (Set Wet) ब्रैंड के साथ पार्टनरशिप की है। इस गाने में चुलबुल पांडे यानी सलमान खान अभिनेत्री वरीना हुसैन के साथ इस हेयरस्टाइलिंग ब्रैंड का जिक्र करते हुए भी दिखाई देते हैं। इस गाने के द्वारा ‘मूंछों का पहाड़ बना के और सेट वेट का जैल लगा के’ साथ सलमान एक तरह से युवाओं को खास सलाह देते हुए भी नजर आते हैं।

इस गाने के साथ अब #BeDabanggWithSetWet और  #StyleLikeChulbul challenge शुरू किया गया है। इस चैलेंज में भाग लेने के लिए व्युअर्स को इस गाने के हुक स्टेप पर अपना डांस विडियो तैयार कर इस हैशटैग के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करना होगा। सभी एंट्रीज के बारे में निर्णय सलमान खान फिल्म्स द्वारा किया जाएगा और चुनिंदा भाग्यशाली विजेताओं को ‘सेट वेट’ की तरफ से शानदार हैंपर्स जीतने का मौका मिलेगा। ‘सेट वेट’ के साथ चुलबुल स्टाइल को परफेक्ट रूप से करने वाले मेगा विजेता को फिल्म स्टार से मिलने का मौका मिलेगा।

वहीं, इस गाने के बारे में वरीन हुसैन ने कहा, ’सलमान खान, अरबाज खान और प्रभु देवा के साथ काम करना और ‘सेट वेट’ के साथ मिलकर पुरुषों के लिए इस तरह का हेयर गेम काफी शानदार है। यह मेरा पहला स्पेशल सॉन्ग है, वह भी सलमान खान के साथ, जिसे लेकर मैं बहुत उत्साहित हूं।’ इस, बारे में फिल्म के प्रड्यूसर अरबाज खान ने कहा, ‘मुन्ना बदनाम काफी मजेदार और एनर्जी वाला गाना है। गाने के लिए इसी तरह के ब्रैंड ‘सेट वेट’ के साथ पार्टनरशिप कर मैं काफी खुश हूं।’

 

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

पी एंड एम मॉल की इस सराहनीय पहल को मिली नई पहचान

मुंबई में आयोजित एक कार्यक्रम में टीवीएफ ने पुरस्कार देकर किया सम्मानित

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 08 November, 2019
Last Modified:
Friday, 08 November, 2019
Award

मुंबई में ‘टीएवीएफ’ (द एक्टिवेशन वेन्यूज फोरम) के कॉन्फ्रेंस में पटना में लगातार भारी बारिश से मची तबाही में पीड़ित लोगों की मदद करने के लिए 'पी एंड एम' मॉल, पटना को पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। यह पुरस्कार बेस्ट 'सीएसआर' (कॉरपोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी) के लिए दिया गया। इरोस कंपनी की एमडी और सीईओ ने यह पुरस्कार 'पी एंड एम' मॉल के मार्केटिंग हेड मनीष कुमार झा को दिया।

बता दें कि 'टीएवीएफ' देश के विभिन्न मॉल्स, ब्रैंड्स और एजेंसियों का एक संगठन है जो अपने सदस्यों को उनके काम के आधार पर पुरस्कृत करता है। पुरस्कार पाने के बाद मनीष कुमार झा ने कहा कि इससे हमें आगे और भी इस तरह के काम करने की प्रेरणा मिलेगी। उन्होंने बताया कि पटना के अलावा झारखंड के जमशेदपुर में भी 'पी एंड एम' मॉल संचालित है। उन्होंने बताया कि अगला मॉल मुजफ्फरपुर में खुलेगा।

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

कुछ यूं मार्केट में अपनी पकड़ मजबूत करेगी ई-व्हीकल कंपनी युलु

अपनी री-ब्रैंडिग और विजुअल आइडेंटिटी के लिए वेब डिजायन कंपनी से मिलाया हाथ, जारी की डिजिटल फिल्म्स की सीरीज

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 02 November, 2019
Last Modified:
Saturday, 02 November, 2019
Partnership

इलेक्ट्रिक साइकिल की सर्विस देने वाली कंपनी युलु (Yulu) ने अपनी री-ब्रैंडिग और विजुअल आइडेंटिटी के लिए वेब डिजायन कंपनी ‘रेड बेटन डिजायन स्टूडियो’ (Red Baton Design Studio) के साथ हाथ मिलाया है। कंपनी का उद्देश्य विभिन्न नए मार्केट में अपना विस्तार करना है।

बता दें कि ‘रेड बेटन डिजायन स्टूडियो’ बेंगलुरु की जानी-मानी कंपनी है, जिसे ‘BigBang Awards 2019’ में बेस्ट कॉरपोरेट ब्रैंड आइडेंटिटी के लिए सिल्वर मेडल मिल चुका है। यह एडवर्टाइजिंग के क्षेत्र में दिए जाने वाले ‘Abby Award 2019’ में बेस्ट इंटीग्रेटेड डिजायन कैंपेन अवॉर्ड और बेस्ट कॉरपोरेट/ब्रैंड आइडेंटिटी अवॉर्ड के लिए नॉमिनेट हो चुकी है।

इस करार के बाद रेड बेटन की टीम ने युलु के लिए डिजिटल फिल्म्स की एक सीरीज तैयार की है। इन कैंपेन में पिता-पुत्री के भावनात्मक रिश्ते को दिखाया गया है, जो ऑडियंस को आकर्षित करता है। इन कैंपेन के द्वारा भारतीय शहरों में आने-जाने के साधनों पर फोकस किया गया है।

इस बारे में रेड बेटन के फाउंडर रौनक डागा (Ronak Daga) का कहना है, ‘यह रेड बेटम की टीम के लिए काफी खास मौका था। हम अपने क्लाइंट्स का आभार जताते हैं, जो हमारे ऊपर वे हमेशा इतना विश्वास करते हैं। युलु ने हमें इस कैंपेन के लिए चुना, इसके लिए हम उसके खासतौर से आभारी हैं।’ रेड बेटन के क्रिएटिव डायरेक्टर विजित अग्रवाल का कहना है, ‘हम एक थ्री-डी कैंपेन भी शुरू करने जा रहे हैं।’

वहीं, युली के सीईओ अमित गुप्ता का कहना है, ‘रेड बेटन टीम के साथ काम करना काफी अच्छा रहा। युलु ने बढ़ते प्रदूषण और यातायात जाम की गंभीर समस्या के खिलाफ अपना अभियान शुरू किया और हमें खुशी हुई कि रेड बेटन ने इस विजन को समझा और अपनी जिम्मेदारी निभाई।’

इन कैंपेन की सीरीज को आप यहां देख सकते हैं-

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

ग्रैफडोर कंपनी ने की मार्केट में छा जाने की तैयारी, लॉन्च किया पहला TVC

कंपनी के अनुसार, इस कवायद का मकसद यह साबित करना है कि कोई भी व्यक्ति ग्रैफडोर उत्पादों की सुंदरता को नकार नहीं सकता

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 24 October, 2019
Last Modified:
Thursday, 24 October, 2019
Grafdoer Company

बाथ फिटिंग्स, किचन सिंक और सैनिटरीवेयर उद्योग की कंपनी ग्रैफडोर ने जर्मन टेक्नोलॉजी से डिजाइन की प्रेरणा लेकर अपना पहला टीवी कैंपेन (टीवीसी) एवं डिजिटल कॉमर्शियल लॉन्च किया है। इस टीवीसी में अभिनेत्री एवं मॉडल करिश्मा शर्मा को शामिल किया गया है। इस विडियो में दिखाया गया है कि करिश्मा शर्मा ग्रैफडोर द्वारा पेश नई बाथवेयर एवं किचनवेयर रेंज का पूरी तरह इस्तेमाल कर रही हैं। ग्रैफडोर द्वारा पेश किया  गया यह पहला टीवीसी है।

कंपनी के अनुसार, ‘कैंपेन का मकसद यह प्रमाणित करना है कि कोई भी ग्रैफडोर उत्पादों की सुंदरता को नकार नहीं सकता। जब आप अपने बाथरूम और किचन में प्रवेश करते हैं तो एक विशेष उत्कृष्टता का अहसास करते हैं, क्योंकि ये उत्पाद बेहद सुंदर हैं और जर्मन वास्तुकला से प्रेरित हैं।’

ग्रैफडोर के सीईओ एवं प्रेजिडेंट विनय जैन ने इस टीवीसी की लॉन्चिंग के बारे में कहा, ‘ग्रैफडोर सैनिटरीवेयर एवं किचनवेयर की अपनी ताजा रेंज के साथ हम उन भारतीय उपभोक्ताओं को खास संतुष्टि प्रदान करना चाहते हैं जो उपयोगी उत्पाद तलाश रहे हैं। फेस्टिव सीजन नजदीक है और ज्यादातर लोग इस सीजन में अपने घरों की मरम्मत कर उन्हें सजाना-संवारना पसंद करते हैं। यह रेंज उनके लिए उपयुक्त है जो विशेष आकर्षण के लिए श्रेष्ठ रेंज तलाश रहे हैं। अपने स्टाइलिश दृष्टिकोण और भारतीय टेलिविजन सीरीज में विभिन्न भूमिकाओं के साथ करिश्मा हमारे लिए खास हैं और इसलिए हमने उन्हें अपना ब्रांड एम्बेसडर बनाया है।’

आप भी इस टीवीसी को यहां देख सकते हैं-

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

जानें, कौन सी खास बातें बनाती हैं पीएम मोदी को ब्रैंड मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आज देश में ही नहीं, बल्कि पूरे विश्व पटल पर चर्चा हो रही है, उन्होंने मंगलवार को अपना 69वां जन्मदिन मनाया

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 17 September, 2019
Last Modified:
Tuesday, 17 September, 2019
Narendra Modi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आज देश में ही नहीं, बल्कि पूरे विश्व पटल पर चर्चा हो रही है। वह क्या पहनते हैं और क्या कहते हैं? से लेकर उनके अच्छे दिन के वादे और ‘मित्रों’ कहने का अंदाज लोगों के बीच उन्हें एक अलग रूप में पेश करता है। निर्विवाद रूप से 69 वर्षीय मोदी देश के सबसे पॉवरफुल व्यक्ति हैं। मंगलवार को उन्होंने अपना 69वां जन्मदिन मनाया। समय के साथ ही एक ब्रैंड के रूप में मोदी की इमेज और मजबूत हुई है। इस मौके पर हमारी सहयोगी वेबसाइट ‘एक्सचेंज4मीडिया’ (exchange4media) ने इंडस्ट्री के दिग्गजों से जानना चाहा कि मोदी ब्रैंड का जादू किस तरह लोगों के दिलोदिमाग पर चल रहा है।     

दरअसल, मोदी अपने आप में एक ब्रैंड हैं और उनके फॉलोअर्स की संख्या अमिताभ बच्चन अथवा शाहरुख खान जैसी बालिवुड हस्तियों से ज्यादा है। एक रीजनल नेता से ग्लोबल लीडर बनने तक प्रधानमंत्री के रूप में अपने दूसरे कार्यकाल के दौरान उनके खाते में कई उपलब्धियां दर्ज हैं। 

मोदी के बारे में राजनीतिक टिप्पणीकार और ब्रैंड सलाहकार अनूप शर्मा का कहना है, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी ब्रैंड आइडेंटिटी को काफी मजबूती दी है। मोदी आज के दौर के सबसे बड़े जननेता हैं।’ शर्मा का कहना है, ‘मोदी ने भारतीय राजनीति को फिर से परिभाषित किया है। दूसरे नेताओं की तरह मोदी को भी विवादों का सामना करना पड़ता है, लेकिन वह उनसे प्रभावित नहीं होते, क्योंकि उन्होंने अपनी काफी मजबूत ब्रैंड इमेज बनाई हुई है। हमेशा प्रचार मोड में रहने वाले मोदी अपनी मार्केटिंग स्टाइल से यह सुनिश्चित कर लेते हैं कि एकता, शासन और तरक्की को लेकर उनका मैसेज बिल्कुल स्पष्ट है।’

योग को बढ़ावा देने की बात हो अथवा खादी को, ऐसे देशों की यात्रा करना हो, जहां अब तक कोई भारतीय प्रधानमंत्री नहीं गया अथवा आप्रवासी भारतीयों के साथ अंतरराष्ट्री स्तर के नेताओं को संबोधित करना हो। यही नहीं, रेडियो के द्वारा देश के लोगों से जुड़ने से लेकर बेयर ग्रिल्स के साथ शो करने की बात हो अथवा सर्जिकल स्ट्राइक ही क्यों न हो, ब्रैंड मोदी आत्मविश्वास के लिए प्रेरित करता है।

बार्क इंडिया के डाटा के अनुसार ‘डिस्कवरी’ चैनल पर आने वाले ‘मैन वर्सेज वाइल्ड’ के जिस शो में 12 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बेयर ग्रिल्स के साथ हिस्सा लिया, उसने वर्ष 2017 के आठवें हफ्ते से लेकर अब तक सबसे ज्यादा व्युअरशिप हासिल करने में मदद की है। इस एपिसोड के मूल प्रसारण के दौरान 6.9 मिलियन इंप्रेशंस और 400 मिलियन व्यू मिनट्स दर्ज किए गए। देश भर में कुल 18.4 मिलियन यूनिक व्युअर्स ने इस शो को देखा।

खादी को आगे बढ़ाने का क्रेडिट मोदी को सिर्फ इसलिए नहीं दिया जाता है कि वह इसके ग्लोबल एम्बेसडर हैं, बल्कि वह इस इंडस्ट्री को पुराने रूप में भी वापस लाए हैं। बॉलिवुड, टॉप फैशन डियाजनर्स और बड़े-बड़े स्टोर्स में अपनी मौजूदगी दर्ज कराने के बावजूद खादी ने अपनी फैशन लाइन को बढ़ावा देने के लिए कभी किसी सेलेब्रिटी का सहारा नहीं लिया। प्रधानमंत्री मोदी के खादी के कुर्ते और जैकेट्स दुनिया भर में इसके ब्रैंड मैसेज को ले जाने के लिए पर्याप्त हैं।

खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) के चेयरमैन वी के सक्सेना ने कहा, ‘खादी के सिर्फ दो ही ब्रैंड एम्बेसडर हैं। एक थे मोहनदास करमचंद गांधी, जिन्होंने इसे स्वतंत्रता प्राप्ति में एक हथियार की तरह इस्तेमाल किया। दूसरे हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र दामोदरदास मोदी, जिन्होंने खादी को फैशन में बदल दिया है और देश के लिए आर्थिक परिवर्तन लाने की दिशा में काम कर रहे हैं।’

मोदी की कौन सी खूबी उन्हें दूसरों से अलग बनाती है, इस बारे में राजनीतिक टिप्पणीकार संतोष देसाई का कहना है, ‘मोदी एक ऐसे नेता है, जिनकी देश में काफी साख है। पिछले सालों के दौरान उनकी निर्णायक मजबूत लीडरशिप वाली इमेज में काफी इजाफा हुआ है। मन की बात से लेकर सोशल मीडिया पर उनकी मौजूदगी लोगों को उनसे जोड़े रखती है। मोदी ब्रैंड निर्माण पर मजबूत फोकस करने वाले नेता हैं और इस दिशा में वह लगातार जुटे हुए हैं।’

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए