Reality+ के इस कार्यक्रम में सम्मानित हुए रियल एस्टेट जगत के दिग्गज, उठे बड़े मुद्दे

इन दिग्गजों ने न सिर्फ सफलता की नई कहानियां लिखीं हैं, बल्कि अपने कार्यों से दूसरों के लिए उदाहरण भी पेश किए हैं

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 13 September, 2019
Last Modified:
Friday, 13 September, 2019
Conclave

रियल एस्टेट से जुड़े लोगों के लिए The 11th Realty+ Conclave & Excellence Awards- North presented by Sai Estate Consultants Chembur Pvt Ltd का आयोजन 11 सितंबर को गुरुग्राम के होटल लीला एंबियंस में  किया गया। कार्यक्रम में रियल एस्टेट से जुड़े ऐसे दिग्गजों को सम्मानित किया गया, जिन्होंने न सिर्फ सफलता की नई कहानियां लिखीं हैं, बल्कि अपने कार्यों से दूसरों के लिए उदाहरण भी पेश किए हैं। 

कॉन्क्लेव की शुरुआत पैनल डिस्कशन से हुई, जिसका सब्जेक्ट ‘Surviving the Crisis: A New Approach to Liquidity Crunch’ रखा गया। इस पैनल को ‘India Cushman & Wakefield’ के कंट्री हेड और मैनेजिंग डायरेक्टर अंशुल जैन ने मॉडरेट किया। इस सेशन के तहत हुए पैनल डिस्कशन में ‘खेतान एंड कंपनी’ के पार्टनर अवनीश शर्मा, ‘सम्यक डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड’ के मैनेजिंग डायरेक्टर गौरव जैन, ‘रिसर्जेट इंडिया’ की फाउंडर और मैनेजिंग डायरेक्टर ज्योति प्रकाश गडिया, ‘फाइनेंस इंडस्ट्री डेवलपमेंट काउंसिल’ के चेयरमैन, SREI के सीनियर वाइस प्रेजिडेंट और हेड (कॉरपोरेट अफेयर्स) रमन अग्रवाल, ‘पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड’ के एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर शिवाजी वर्गीस और ‘कोटक रियलिटी फंड’ के एसोसिएट डायरेक्टर सोनू जालान शामिल थे।

फाइनेंस पर हुए डिस्कशन के बाद ‘Championing the Cause – Interrelating Architecture and Society’ पर डिस्कशन हुआ। इस डिस्कशन को ‘NilaA Architecture & Urban Design Expert’ के फाउंडर आर्किटेक्ट निशांत लाल ने मॉडरेट किया। इस पैनल डिस्कशन में ‘रोहा लैंडस्केप आर्किटेक्चर एंड प्लानिंग’ के प्रिंसिपल आदित्य आडवाणी, ‘अमित खन्ना डिजायन एसोसिएट्स’ के फाउंडर और डिजायन प्रिंसिपल अमित खन्ना, ‘क्रिएटिव ग्रुप’ के फाउंडर प्रिंसिपल प्रो. चरनजीत शाह, ‘भारद्वाज भारद्वाज एंड एसोसिएट्स’ के आर्किटेक्ट पार्टनर दक्ष भारद्वाज, ‘एनवॉयरनमेंटल डिजायन सॉल्यूशंस’ के डायरेक्टर गुरनीत सिंह के साथ ही ‘rat[LAB] – Research in Architecture & Technology’ के फाउंडिंग पार्टनर और डिजायन हेड सुशांत जय-अमिता वर्मा शामिल थे।      

कॉन्क्लेव में पहली बार फैसेलिटी मैनेजमेंट पर एक सेशन शामिल किया गया। ‘Creating Competitive Advantage – Changing Face of Facility Management’ टॉपिक पर हुए इस सेशन को संदीप सेठी (Chair-Corporate Solutions and Managing Director, IFM- West Asia JLL) ने मॉडरेट किया। इस सेशन के तहत हुए पैनल डिस्कशन में ‘डीएलएफ लिमिटेड’ के सीनियर वाइस प्रेजिडेंट (ऑपरेशंस और क्लस्टर हेड, नॉर्थ) अमित मिढा (Amit Midha), ‘CBRE’ के एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर (GWS & Property Management) अनीस कादयान, ‘OCS’ के मैनेजिंग डायरेक्टर मनोज पारिख, ‘Cushman and Wakefield India’ के मैनेजिंग डायरेक्टर (Facilities Management Asset Services) कैप्टन राजेश शर्मा, ‘SILA’ के फाउंडर रुषभ वोरा (Rushabh Vora) और ‘Dusters Total Solution Services Private Limited’ के प्रेजिडेंट संजीव कुमार शामिल हुए और अपने विचार रखे।   

अगले पैनल डिस्कशन में दिल्ली और उसके आसपास कॉमर्शियल प्रॉपर्टी में हुई वृद्धि को लेकर चर्चा की गई। ‘The Rule of Three – Commercial Realty of Delhi, Gurugram and Noida’ टाइटल से हुए इस पैनल डिस्कशन को ‘Colliers International’ के मैनेजिंग डायरेक्टर (नॉर्थ इंडिया) संजय चत्रथ ने मॉडरेट किया। उनके अलावा इस पैनल में ‘गुलशन होम्ज’ के डायरेक्टर और ‘क्रेडाई’ (Confederation of Real Estate Developers Association of India) के पश्चिमी यूपी के प्रेजिडेंट दीपक कपूर, ‘वन कल्चर’ के फाउंडर अभिलाष शुक्ला, ‘ब्रुकफील्ड प्रॉपर्टीज’ के सीनियर वाइस प्रेजिडेंट शांतनु चक्रवर्ती, ‘भूमिका ग्रुप’ के मैनेजिंग डायरेक्टर उद्धव पोद्दार और ‘M3M India Private Limited’ के प्रेजिडेंट- Leasing (Commercial, Retail, Resi) शामिल रहे।   

इस कॉन्क्लेव के फाइनल पैनल डिस्कशन में ‘Best Way to Increase Residential Sales: Direct Sales or Marketing Firms & Channel Partners’ टाइटल के तहत आज के दौर के चर्चित टॉपिक पर बात की गई। इस पैनल को रियल एस्टेट क्षेत्र के विशेषज्ञ जे.एस ऑगस्टीन (J S Augustine) ने मॉडरेट किया। इस टॉपिक पर हुए डिस्कशन के दौरान पैनल में ‘Experion Developers’ के सीनियर एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर डॉ. अनंत सिंह रघुवंशी, ‘Signature Global Group’ के फाउंडर व चेयरमैन और Assocham National Council On Real Estate, Housing And Urban Development के चेयरमैन प्रदीप अग्रवाल, ‘पार्श्वनाथ डेवलपर्स’ के चेयरमैन प्रदीप जैन, ‘RE/MAX India’ के डायरेक्टर (सेल्स एंड ऑपरेशंस) साहिल कपूर, ‘ट्रस्ट लीगल’ के फाउंडर और मैनेजिंग पार्टनर सुधीर मिश्रा और ‘NAR’ के हेड (नॉर्थ जोन) व ‘Association of Property Professionals -Delhi NCR’ के प्रेजिडेंट क्षितिज नागपाल शामिल रहे।       

कॉन्क्लेव के आखिर में ‘Morphogenesis’ के फाउंडिंग पार्टनर मनीत रस्तोगी ने ‘What is Brand India when it comes to Architecture?’ टॉपिक पर अपने विचार रखे। इसके बाद हुए कार्यक्रम में इस क्षेत्र के दिग्गजों को उनके समर्पण व उल्लेखनीय योगदान के लिए ‘Scroll of Honour’  से सम्मानित किया गया। जिन दिग्गजों को इस अवॉर्ड से सम्मानित किया गया, उनमें ‘SHiFt: Studio for Habitat Futures’ के प्रिंसिपल आर्किटेक्ट संजय प्रकाश, ‘Kamath Design Studio’ की रेवती शेखर कामथ (Revathi SekharKamath), ‘जलपुरुष’ के नाम से मशहूर पर्यावरणविद राजेंद्र सिंह, ’भारद्वाज भारद्वाज एंड एसोसिएट्स’ के आर्किटेक्ट पार्टनर दक्ष भारद्वाज, ‘India Cushman & Wakefield’ के कंट्री हेड और मैनेजिंग डायरेक्टर अंशुल जैन के साथ ही ‘rat[LAB] – Research in Architecture & Technology’ के फाउंडिंग पार्टनर और डिजायन हेड सुशांत जय-अमिता वर्मा शामिल रहे।

देर रात को हुए रियलिटी+ एक्सीलेंस अवॉर्डस में विभिन्न क्षेत्रों से जुड़ी जानी-मानी हस्तियां मौजूद रहीं। इस मौके पर मैगसायसाय अवॉर्ड विनर राजेंद्र सिंह ने कार्यक्रम को संबोधित भी किया। उनकी स्पीच के बाद कार्यक्रम में शामिल व्यक्तियों को ‘NBCC’ के पूर्व चेयरमैन अनूप मित्तल, एडवोकेट जगमोहन डांग और ‘सनसिटी प्रोजेक्ट्स प्रा. लिमिटेड’ के चेयरमैन व ‘एस्सेल ग्रुप ऑफ कंपनीज’ के वाइस चेयरमैन लक्ष्मी नारायण गोयल के विचारों को जानने का मौका भी मिला। उन्होंने पर्यावरण व मानवीयता को महत्व देने के लिए प्रेरित करते हुए कहा कि रियल एस्टेट के क्षेत्र में दोबारा से ‘अच्छे दिन’ आएंगे।  

इस यादगार शाम का समापन प्रतिष्ठित Realty+ Excellence Awards ceremony से हुआ। कार्यक्रम में विभिन्न कैटिगरी में प्रतिष्ठित रियलिटी+एक्सीलेंस अवॉर्ड पाने वालों की लिस्ट आप यहां देख सकते हैं।

Commercial Project of the year: Candor TechSpace for Candor TechSpace IT/ITES SEZ, Sector-21, Gurugram
IT Park Project of the Year: Ascendas India, A Member of CapitaLand for International Tech Park Gurgaon (ITPG)
Residential Project of the Year: Omaxe Group for The Lake, New Chandigarh & Gulshan Homz for Gulshan Botnia
Affordable Housing Project of the Year: Signature Global India for Solera, Sector 107
Prestigious Luxury Project of the Year: M3M India for M3M Golf Estate
Ultra Luxury-Lifestyle Project of the Year: Central Park for Central Park Resorts & Kalpataru for Kalpataru Grandeur (Under Non-metro)
Design Project of the Year: Experion Developers for Windchants
Themed project of the year: Ashiana Housing for Ashiana Anmol “Kid Centric Homes”
Villa Project of the Year: Max Estates for 222 Rajpur, Dehradun
Iconic Project of the Year: M3M India for M3M IFC
Residential Complex of the Year: Mahagun India for Mahagun Mezzaria
Mixed-Use Project of the Year: Bhumika Enterprises for Urban Square
Most Environment-Friendly Commercial Space: Max Estates for Max Towers
Most Popular Mall of the Year: DLF for DLF Mall of India
Institutional Project of the Year: RSP India for Bennett University
Developer of the Year – Commercial M3M India
Developer of the Year – Residential: Emaar India
Developer of the Year Retail: Elan Group
Emerging Developer of the Year: Candor TechSpace
Excellence in delivery: Ascendas India, A Member of CapitaLand for International Tech Park Gurgaon (ITPG)
Architectural Design of the Year – Commercial: AEON Design Studios for HCL Corporate Office, Sector-24, Noida
Project Management Firm of the Year: Global C for Mankind Pharma Corporate HQ
FM Brand of the Year: Dusters Total Solutions Services
FM Project of the Year – Residential: Colliers International India for Grand Omaxe, Noida
FM Professional of the Year: Tapasi Chakraborty, CEO & Director, Astute Outsoursing Services
FM Business Leader of the Year : GS Tyagi, Senior Director FM Services | North India, Colliers International India
FM Technology Innovation of the Year: Property Solutions (India) & Enviro India
IFM Brand of the Year: Embassy Services
Digital marketing campaign of the year: Amura Marketing Technologies for Emaar DigiHomes
Project Launch of the Year: Emaar India for Emaar Digi Homes & Elan Group for Elan Epic
Integrated Brand Campaign of the Year : Alchemist Marketing Talent Solutions for M3M The Power of Zero Campaign
Advertising Agency of the Year ; Alchemist Marketing Talent Solutions
Electronic Media Campaign of the Year (TV): Signature Global India for Apna Ghar to apna hi hota hai featuring Vidya Balan
Real-Estate Website of the Year: Square Yards for www.squareyards.com
CXO of the year: Pushpa Bector, Executive Director – DLF Shopping Malls
Young Achiever of the Year : Ashish Bhutani, CEO, Bhutani Group
Sustainable-Business Leader of the Year: Pradeep Aggarwal, Founder & Chairman, Signature Global Group
Lifetime Achievement of the Year: Anoop Kumar Mittal, Former Chairman & MD, NBCC India Ltd.

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

गूगल के इस नए प्रोग्राम से न्यूज पब्लिशर्स को कुछ यूं होगा फायदा

अमेरिकी सर्च इंजन कंपनी गूगल ने नए लाइसेंसिंग प्रोग्राम का ऐलान कर दिया है। न्यूज सर्विस के हाई क्वॉलिटी कंटेंट के लिए गूगल  मीडिया पब्लिशर्स के साथ साझेदारी कर रहा है।

Last Modified:
Friday, 26 June, 2020
googlenews

अमेरिकी सर्च इंजन कंपनी गूगल ने नए लाइसेंसिंग प्रोग्राम का ऐलान कर दिया है जिसके तहत न्यूज पब्लिशर्स को न्यूज के बदले पैसे दिए जाएंगे। न्यूज सर्विस के हाई क्वॉलिटी कंटेंट के लिए गूगल  मीडिया पब्लिशर्स के साथ साझेदारी कर रहा है। मतलब अब तक न्यूज साइट के जिस कंटेंट का गूगल मुफ्त में इस्तेमाल करता था, अब उसके लिए मीडिया सस्थान को पेमेंट करेगा।

गूगल के इस प्रोग्राम की शुरुआत फिलहाल ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील और जर्मनी में हुई है। इस प्रोग्राम के तहत गूगल हाई-क्वालिटी कंटेंट के लिए पब्लिशर्स को पैसे देगा।

वहीं गूगल की तरफ से फिलहाल यह साफ कर दिया गया है कि यूजर्स से न्यूज कंटेंट के बदले कोई चार्ज नहीं वसूला जाएगा। पेवॉल के पीछे जाने वाली न्यूज साइट के कंटेंट को यूज करने के लिए मीडिया संस्थान को किस आधार पर पेमेंट किया जाएगा, फिलहाल इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है।

गूगल के इस प्रोग्राम से न्यूज पब्लिशर्स को फायदा होगा, क्योंकि फिलहाल कमाई के लिए उनकी 80 फीसदी निर्भरता गूगल विज्ञापन पर है। इस प्रोग्राम की मदद से उनकी कमाई होगी और लोगों को बेहतर और ऑरिजनल कंटेंट भी मिलेंगे।

गूगल ने इसकी घोषणा करते हुए अपने एक बयान में कहा कि जल्द ही दुनियाभर के पब्लिशर्स इस प्रोग्राम का हिस्सा होंगे। दर्जनों देशों के न्यूज पब्लिशर्स गूगल न्यूज के साथ जुड़े हैं। गूगल के इस प्रोग्राम से स्थानीय और राष्ट्रीय दोनों तरह के पब्लिशर्स जुड़ सकेंगे। इस प्रोग्राम के तहत गूगल ऑडियो, वीडियो, फोटो और स्टोरी के लिए पैसे देगा। ये कंटेंट गूगल मोबाइल एप पर उपलब्ध होंगे। 

ऑडियो न्यूज की बात करें तो आप गूगल असिस्टेंट के जरिए प्ले न्यूज वॉयस कमांड देकर ऑडियो न्यूज (पॉडकास्ट) सुन सकते हैं। इसके अलावा पॉडकास्ट के लिए गूगल ने म्यूजिक स्ट्रीमिंग ऐप स्पॉटिफाई से भी साझेदारी की है।

Google के CEO सुंदर पिचाई ने ट्विट करके जानकारी दी कि हम काफी लंबे वक्त से पब्लिशर्स के साथ लाइसेंसिंग प्रोग्राम पर काम कर रहे हैं। Google के वाइस प्रेसिडेंट (प्रॉडक्ट मैनेजर) ब्रैड बेंडर ने भी कहा कि वो जर्मनी, ऑस्ट्रेलिया और ब्राजील में मीडिया पब्लिशर्स के साथ लंबे वक्त से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने बताया कि साल 2018 में गूगल ने 300 मिलियन डॉलर का एक फंड बनाया। इसका मकसद ऑनलाइन फेक न्यूज को रोकना और न्यूज साइट को फाइनेंशियली तौर पर मजबूत बनाना था।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

NDTV ग्रुप को कुछ यूं हुआ लाभ

बीते दस वर्षों में एनडीटीवी ग्रुप को बेहतरीन मुनाफा हुआ है। साल 2019-20 में टैक्स के बाद उसका शुद्ध लाभ 24.22 करोड़ रुपए का है

Last Modified:
Tuesday, 23 June, 2020
NDTV

बीते दस वर्षों में एनडीटीवी ग्रुप को बेहतरीन मुनाफा हुआ है। साल 2019-20 में टैक्स के बाद उसका शुद्ध लाभ 24.22 करोड़ रुपए का है। लगातार दूसरे साल, ग्रुप का ब्रॉडकास्ट सेक्शन, एनडीटीवी लिमिटेड भी साल के अंत में टैक्स के बाद मुनाफे के साथ रहा है।

वहीं, ग्रुप स्तर पर भी बीते वित्त वर्ष के मुकाबले इस साल टैक्स के बाद लाभ 14 करोड़ रुपए बढ़ा है। अपने ऑपरेशन और संसाधनों के बीच के तालमेल पर ग्रुप का ध्यान आगे भी बना हुआ है।

बीते वित्त वर्ष के मुकाबले इस साल ग्रुप का ऑपरेशनल खर्च 29.54 करोड़ रुपए कम हुआ है और दो साल में यह 145 करोड़ रुपए कम हुआ है, जब से ग्रुप ने खर्चों को सुसंगत बनाने के लिए ब्योरेवार कवायद शुरू की।

इस वित्त वर्ष के लिए, एनडीटीवी ग्रुप की डिजिटल शाखा एनडीटीवी कन्वर्जेंस ने अपनी अब तक की सबसे ज्यादा कमाई की है, साथ ही दर्शकों की संख्या में भी इजाफा हुआ है। 

बता दें कि कंपनी के ऑडिट किए हुए वित्तीय परिणाम 22 जून को बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की बैठक में जारी किए गए थे। कंपनी में पूर्णकालिक डायरेक्टर डॉ. प्रणॉय राय और राधिका राय की एग्जिक्यूटिव को-चेयरपर्संन्स के पद पर दोबारा नियुक्ति की घोषणा भी की गई है। दोनों की इन पदों पर नियुक्ति 15 महीनों के लिए की गई है। यह एक जुलाई से शुरू होकर 30 सितंबर 2021 तक या वर्ष 2021 में आयोजित होने वाली वार्षिक आम बैठक (AGM) तक प्रभावी होगी।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

बिजनेस को बढ़ावा दे सकें छोटे कारोबारी, जागरण न्यू मीडिया ने शुरू किया ये पोर्टल

छोटे और मझोले उद्योग (SMEs) के बिजनेस को बढ़ावा देने के लिए जागरण न्यू मीडिया अपनी नई स्ट्रैटजी के तहत सामने आया है

Last Modified:
Tuesday, 09 June, 2020
Jagran

साल 2019 में सालाना आधार पर 26 फीसदी की वृद्धि के साथ डिजिटल विज्ञापन 13,683 करोड़ रुपए का हो गया है। इस साल डिजिटल विज्ञापन उद्योग में 27 फीसदी की वृद्धि दर्ज होने का अनुमान है, जिससे डिजिटल विज्ञापन साल 2020 के आखिर में 17,377 करोड़ रुपए के आंकड़े को पार कर जाएगा। वहीं दूसरी ओर कोविड-19 के प्रभाव के चलते देश में डिजिटल कंजम्शन में उल्लेखनीय बढ़ोत्तरी हुई है क्योंकि अधिकतर यूजर अब ऑनलाइन कंटेट का उपभोग अधिक कर रहे हैं।

देश में तीन करोड़ से अधिक लघु एवं मझोले उद्योग (SMEs) हैं, जो स्थानीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि के असली स्तंभ के तौर पर काम करते हैं। ऐसे में स्थानीय रिटेलर्स संकट के समय में सबसे बड़े सहायक साबित हुए हैं। लिहाजा ऐसे ही छोटे और मझोले उद्योग (SMEs) के बिजनेस को बढ़ावा देने के लिए जागरण न्यू मीडिया अपनी नई स्ट्रैटजी के तहत सामने आया है। यानी ऐसी परिस्थितियों में देश के SMEs के विज्ञापन बुकिंग के अनुभव को आसान और बेहतर बनाने व 'वोकल फॉर लोकल' के आइडिया को और मजबूती देने के लिए जागरण न्यू मीडिया की ओर से डेडिकेटेड ऐड बुकिंग पोर्टल की शुरुआत की गई है।  

जागरण न्यू मीडिया (JNM) ने अपने समस्त प्लेटफॉर्म के लिए विज्ञापन की बुकिंग को और आसान और डिजिटल बनाने के लिए एक ऐड बुकिंग इंजन लॉन्च किया है। ऐसे में अब जागरण की वेबसाइट या मोबाइल ऐप के जरिए अपने कारोबार का विज्ञापन करने की इच्छा रखने वाले लोग ads.jagran.com की मदद से महज कुछ मिनटों में घर बैठे अपने विज्ञापन की बुकिंग कर सकते हैं।

कंपनी ने देश में डिजिटल विज्ञापन में उल्लेखनीय बढ़ोत्तरी को देखते हुए इस ऐड बुकिंग पोर्टल की शुरुआत की है। कंपनी ने खासकर यह पहल देश के लघु एवं मझोले उद्योग (SMEs) के लिए की है, ताकि इस ऐड बुकिंग प्लेटफॉर्म के जरिए तीन करोड़ SMEs किफायती रेट पर अपने कारोबार का विज्ञापन जागरण के प्लेटफॉर्म के जरिए कर पाएं। इससे इन SMEs को अपने ब्रैंड को मजबूती देने और बिक्री बढ़ाने में मदद मिलेगी।

इस पोर्टल को यूज करना बहुत आसान है। इस पोर्टल पर लॉग-इन करते ही आपको कई तरह के स्थानीय टेम्‍पलेट मिल जाएंगे, जिसके जरिए आप अपना खुद का विज्ञापन क्रिएट कर पाएंगे। जागरण न्यू मीडिया में चीफ मैनेजर (Apps) अनामिका शर्मा ने कहा कि Ads.jagran.com एक सरल और सेल्फ-सर्व ऐड प्लेटफॉर्म है। उन्होंने कहा कि इस प्लेटफॉर्म पर ऐड टेम्पलेट पहले से दिया गया है, जिन कारोबारियों की कोई डिजिटल मौजूदगी नहीं है, वे भी इस प्लेटफॉर्म के जरिए विज्ञापन कर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि #VocalForLocal अभियान को सपोर्ट करते हुए हम आशा करते हैं कि इस प्लेटफॉर्म के जरिए रेस्टोरेंट, कोचिंग सेंटर, कपड़ा की दुकान और होम बिजनेस सहित सभी स्थानीय बिजनेसेज को वृद्धि में मदद मिलेगी, जो कोविड-19 की वजह से प्रभावित हुए हैं।

इस पहल के बारे में चीफ रेवेन्यू ऑफिसर गौरव अरोड़ा ने कहा कि सेल्फ-सर्व ऐड बुकिंग इंजन हमारे विज्ञापन विकल्पों में स्वाभाविक तरीके से हुए प्रगति को दिखाती है। इससे हमें बिल्कुल नए और स्थानीय विज्ञापनदाताओं तक पहुंचने में मदद मिलेगी।

उन्होंने कहा कि कंपनी की इस पहल से ऐसे विज्ञापनदाताओं को मदद मिलेगी, जो पारंपरिक तरीके से विज्ञापन देते हैं लेकिन अब डिजिटल विज्ञापन की तरफ रुख करना चाहते हैं। अरोड़ा ने कहा कि इस प्लेटफॉर्म की खास बात यह है कि इसको यूज करना बहुत आसान है। इसका मतलब है कि हमारे सेल्फ-सर्व प्लेटफॉर्म पर ऐड क्रिएट करने और ऐड कंपेन चलाने के लिए किसी भी एक्सपर्ट की जरूरत नहीं है।

 

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

Tata Sky के यूजर्स के लिए बुरी खबर, रिमूव किए 25 फ्री चैनल्स

डीटीएच सर्विस प्रोवाइडर टाटा स्काई (Tata Sky) के यूजर्स के लिए एक बुरी खबर है। दरअसल, टाटा स्काई ने अपने फ्री-टू-एयर कॉम्प्लिमेंटरी पैक में से 25 चैनल्स को रिमूव कर दिया है

Last Modified:
Tuesday, 09 June, 2020
tatasky

डीटीएच सर्विस प्रोवाइडर टाटा स्काई (Tata Sky) के यूजर्स के लिए एक बुरी खबर है। दरअसल, टाटा स्काई ने अपने फ्री-टू-एयर कॉम्प्लिमेंटरी पैक में से 25 चैनल्स को रिमूव कर दिया है, जिनमें कई न्यूज चैनल्स शामिल हैं। जैसे- ‘न्यूज एक्स’,  ‘इंडिया न्यूज राजस्थान’, ‘सहारा समय’, भारत समाचार आदि अन्य फ्री-टू-एयर चैनल्स।

बता दें कि कंपनी ने अपने ग्राहकों को फायदा पहुंचाने के लिए इस क्यूरेटेड पैक को पेश किया था, जिसे यूजर्स बिना किसी अतिरिक्त शुल्क के एक्टिवेट कर सकते थे। हालांकि, अब यूजर्स इन चैनल को a-la-carte के आधार पर सब्सक्राइब कर सकते हैं। साथ ही यूजर्स को इन चैनल के लिए नेटवर्क कैपेसिटी फीस भी देनी होगी।  

बता दें कि टाटा स्काई ने कॉम्प्लिमेंटरी पैक में से ‘इंडिया न्यूज गुजरात’, ‘इंडिया न्यूज हरियाणा’, ‘इंडिया न्यूज पंजाब’, ‘इंडिया न्यूज राजस्थान’, ‘भारत समाचार’, ‘सहारा समय’, ‘जय महाराष्ट्र’, ‘न्यूज 7 तमिल’, ‘साथियम टीवी’, ‘कलिग्नार टीवी’, ‘Seithigal’, ‘Isai Aruvi’, ‘Murasu’, ‘Makkal टीवी’, ‘Peppers टीवी’, ‘Sirippoli’, ‘पॉलिमर टीवी’, ‘पॉलिमर न्‍यूज’, ‘न्यूज एक्स’, ‘न्यूज वर्ल्ड इंडिया’, ‘साधना टीवी’, ‘एबीजेडवाय मूवीज’,’ आई लव पेन स्टूडियो’, ‘पत्रिका टीवी राजस्थान’ और ‘Aaho Music’ चैनल को हटा दिया है।

इन चैनल्स को यूजर्स अब आ-ला-कार्टे (a-la-carte) के आधार पर सब्सक्राइब कर सकते हैं, जिसके लिए यूजर्स को नेटवर्क कैपेसिटी फी देना होगा।

गौरतलब है कि हाल ही में ट्राई ने फरवरी में डीटीएच कंपनियों के लिए नेशनल टैरिफ ऑर्डर 2.0 पेश किया था। इस ऑर्डर के तहत ग्राहकों को 153 रुपए वाले बेसिक पैक में 200 फ्री-टू-एयर चैनल के साथ दूरदर्शन के लगभग सभी चैनल मिलेंगे। साथ ही ग्राहक अपनी पसंद के फ्री-टू-एयर चैनल आ-ला-कार्टे (a-la-carte) के आधार पर चुन सकते हैं। इसके अलावा ग्राहकों को प्रीमियम एसडी और एचडी चैनल के लिए नेटवर्क कैपेसिटी फीस देनी होगी।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

कुछ यूं नई पहचान बनाने को तैयार OTT प्लेटफॉर्म SonyLIV

सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया ने अपने ओटीटी (OTT) प्लेटफॉर्म ‘सोनी लिव’ (SonyLIV) की नई ब्रैंड आइडेंटिटी जारी करने का फैसला किया है

Last Modified:
Thursday, 28 May, 2020
SonyLIv2.0

सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया ने अपने ओटीटी (OTT) प्लेटफॉर्म ‘सोनी लिव’ (SonyLIV) की नई ब्रैंड आइडेंटिटी ‘सोनी लिव 2.0’ (SonyLIV 2.0) जारी करने का फैसला किया है। इस नई ब्रैंड आइडेंटिटी के तहत उसका फोकस यूजर के एक्सपीरियंस को बढ़ाना और उन्हें कुछ नया कंटेंट प्रदान करना है। ‘सोनी लिव 2.0’ (SonyLIV 2.0) की योजना चरणबद्ध तरीके से 3 सप्ताह की अनुमानित अवधि में पूरी होगी।

अगले महीने जून से प्रीमियम सब्सक्रिप्शन मॉडल अपनाने जा रहे ‘सोनी लिव’ ने इसके लिए कुछ नए शोज का ऐलान किया है। ऑरिजनल कंटेंट का कैटलॉग भी तभी जारी किया जाएगा।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अश्विनी अय्यर तिवारी, नितीश तिवारी, निखिल आडवाणी और तिग्मांशु धूलिया सहित कई फेमस निर्देशक जल्द ही इस स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म के लिए कई तरह के कंटेंट का निर्माण करेंगे।  

इसके अलावा सोनी लिव ने लेखक अजय मोंगा, स्टैंड अप कॉमेडियन-होस्ट कपिल शर्मा, निर्देशक-निर्माता रोहन सिप्पी, निर्देशक भरत कुकरेती, अभिनेता-निर्देशक सचिन पाठक और निर्देशक समर खान, लेखक सौम्या जोशी, लेखक सौरभ तिवारी और निर्देशक सुब्रमण्यन एस. अय्यरके साथ निर्देशक सुभाष कपूर, निर्देशक विकास बहल और निर्माता विपुल शाह को भी अपनी टीम में शामिल किया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म ने एपलॉज एंटरटेनमेंट (Applause Entertainment) के साथ एक कंटेंट लाइसेंसिंग सौदा भी किया है, जिसके तहत इसकी चार ड्रामा सीरीज यहां पर स्ट्रीम होंगी। सोनी लिव की अपनी भी चार ओरिजनल ड्रामा सीरीज हैं। इनके नाम हैं, ‘योर ऑनर’, ‘अवरोध’, ‘अनदेखी’और ‘स्कैम 1992’।

इजरायली सीरीज ‘क्वोडो’ से एडाप्टेड, ‘योर ऑनर’ एक डार्क और मौरलली जटिल थ्रिलर है। इसमें मीता वशिष्ठ, वरुण बडोला, यशपाल शर्मा, पारुल गुलाटी, सुहासिनी मुले, ऋचा पलोड, कुंज आनंद, पुलकित माकोल, महबूब भुल्लर के साथ जिमी शेरगिल काम कर रहे हैं और ई. निवास ने इसका निर्देशन किया है।

‘अवरोध’ सितंबर 2016 के उरी हमलों से इन्सपायरड और शिव अरूर और राहुल सिंह की पुस्तक ‘इंडियाज मोस्ट फीयरलेस’ के एक चैप्टर पर बेस्ड है। इस सीरीज में अमित साध, नीरज काबी, दर्शन कुमार, विक्रम गोखले, अनंत महादेवन और मधुरिमा तुली नजर आएंगे और इसके डायरेक्टर राज आचार्य द्वारा किया गया है। वहीं ‘अनदेखी’ में दिब्येंदु भट्टाचार्य, सूर्या शर्मा, हर्ष छाया, अभिषेक चौहान, अय्यन जोया, अंकुर राठी, आकृति पोरवाल और आंचल सिंह जैसे कलाकारों के साथ क्राइम स्टोरी सुनाई जाएगी। इसका का निर्देशन आशीष आर. शुक्ला ने किया है, जबकि हंसल मेहता डायरेक्टेड और प्रतीक गांधी और श्रेया धन्वतरी के लीड रोल वाली सीरीज, ‘स्कैम 1992’ एक फाइनेंशियल क्राइम थ्रिलर है, जो देबाशीष बसु और सुचेता दलाल की बुक ‘द स्कैम’ से अडैप्टेड है। यह हर्षद मेहता की रियल लाइफ पर बेस्ड है। इस शो में सतीश कौशिक, अनंत महादेवन, रजत कपूर, निखिल द्विवेदी, केके रैना और ललित परिमू भी काम कर हैं।

इसके अलावा बताया जा रहा है कि पाइपलाइन में एक और ओरिजनल ‘S.O.T: सर्जिकल ऑपरेशंस टीम’ भी है। यह सब कुछ सोनी लिव के लेटेस्ट 2.0 की योजना का एक हिस्सा है। साथ ही इस स्ट्रीमिंग कंपनी ने वादा किया है कि वे ऑन-डिमांड अमेरिकी टीवी शो का भी इंडिया में प्रीमियर करेगी, जिसमें कर्स्टन डंस्ट के लीड रोल वाला ‘ऑन बीइंग ए गॉड इन सेंट्रल फ्लोरिडा’, लीगल ड्रामा ‘फॉर लाइफ’, जिसमें निकोलस पिनॉक और इंदिरा वर्मा ने अभिनय किया है, क्राइम प्ले ‘लिंकन राइम: हंट फॉर द बोन कलेक्टर’ और यंग अडल्ट स्पाई सीरीज ‘एलेक्स राइडर’ शामिल हैं।

देखिए, 'सोनी लिव' का नया प्रोमो-

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

Tata Sky के दर्शकों के लिए खुशखबरी, अब दिखाई देंगे DD Retro समेत 5 नए चैनल

टाटा स्काई (Tata Sky) ने अपने प्लेटफॉर्म पर बीते तीन दिनों में 5 नए चैनल जोड़े हैं, जिनमें से बुधवार को DD Retro और CBeeBies चैनल शामिल किए हैं

Last Modified:
Thursday, 23 April, 2020
tatasky

टाटा स्काई (Tata Sky) ने अपने प्लेटफॉर्म पर बीते तीन दिनों में 5 नए चैनल जोड़े हैं, जिनमें से बुधवार को DD Retro और CBeeBies चैनल शामिल किए हैं। वहीं सोमवार को कंपनी ने तीन नए चैनल Eurosport HD, Zee Biskope और 1Sports जोड़े हैं।

DD Retro को जोड़ने के साथ ही Tata Sky तीसरा थर्ड प्राइवेट ऑपरेटर बन गया है, जो इस चैनल को अपने प्लेटफॉर्म पर दिखा रहा है। बता दें कि प्रसार भारती ने हाल ही में DD Retro चैनल शुरू किया है और यह दूरदर्शन का एक विशेष चैनल है, जिस पर पुराने शो दिखाए जाते हैं। अप्रैल के दूसरे हफ्ते में ये चैनल सन डायरेक्ट और एयरटेल डिजिटल टीवी पर उपलब्ध है। 

वहीं CBeeBies बच्चों के लिए एक विशेष चैनल है, जिसे बीबीसी ने साल 2012 में बंद कर दिया था। हालांकि CBeeBies ने इस चैनल को भारत में वापस शुरू किया है और टाटा स्काई पहला डीटीएच ऑपरेटर है, जिसपर ये चैनल उपलब्ध है।

दूरदर्शन ने मंगलवार को एक ब्लॉग लिखकर जानकारी दी कि डीडी रेट्रो पर रामायण, महाभारत जैसे प्रोग्राम को रिब्रॉडकॉस्ट किया है, जिससे दूरदर्शन की व्युअरशिप में वृद्धि हुई है। बता दें कि दूरदर्शन पिछले दो हफ्ते से टीआरपी लिस्ट में टॉप पर बना हुआ है। 

इसके अतिरिक्त डीडी रेट्रो पर ‘शक्तिमान’, ‘चाणक्य’, ‘संकट मोचन हनुमान’, ‘गंगा’ और ‘महाभारत’ जैसे शो दोबारा दिखाए जाएंगे। हालांकि ये देखना अभी बाकि है कि डीडी रेट्रो लोगों को अपने तरफ आकर्षित कर पाता है या नहीं। रिपोर्ट्स की मानें तो ‘डीडी रेट्रो’ को डीटीएच ऑपरेटर्स द्वारा जोड़ने की मांग हो रही है।

डिश टीवी ने कहा है कि वह जल्द ही इस चैनल को अपने प्लेटफॉर्म पर जोड़ेगा। ये चैनल टाटा स्काई पर 180 नबंर पर मौजूद है और ये सभी सब्सक्राइबर्स के लिए फ्री में उपलब्ध है।

CBeeBies बच्चों पर फोकस एक चैनल है, जो बीबीसी द्वारा संचालित किया जाता है। ये चैनल टाटा स्काई पर 687 नंबर पर मौजूद है। जानकारी के मुताबिक इस चैनल को महज 5 रुपए प्रति माह की खर्च पर देखा जा सकता है। बता दें कि ये चैनल शुरुआती 15 दिनों के लिए सभी उपभोक्ताओं के लिए फ्री है। इस चैनल को टाटा स्काई वेब के जरिए मोबाइल ऐप पर भी एक्सेस कर सकते हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

विश्वास न्यूज की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हुई तारीफ, कोरोना पर किए काम को सराहा

जागरण न्यू मीडिया ग्रुप की फैक्ट चेकिंग वेबसाइट ‘विश्वास न्यूज डॉट कॉम’ (Vishvasnews.com) को अंतरराष्ट्रीय मंच पर सराहना मिली है

Last Modified:
Saturday, 18 April, 2020
vishwas

जागरण न्यू मीडिया ग्रुप की फैक्ट चेकिंग वेबसाइट ‘विश्वास न्यूज डॉट कॉम’ (Vishvasnews.com) को अंतरराष्ट्रीय मंच पर सराहना मिली है। ‘विश्वास न्यूज’ ने फरवरी माह में कोरोना बीमारी के बारे में चल रही फेक न्यूज को लेकर 6 शहरों में जागरूकता अभियान चलाया था, जिसे काफी प्रशंसा मिली थी। अब अंतरराष्ट्रीय मीडिया संस्था ‘पॉइन्टर’ ने ‘विश्वास न्यूज’ के इस अभियान की तारीफ की है। ‘पॉइन्टर’ ने विश्वास के मीडिया लिटरेसी ट्रेनिंग को पत्रकारिता का एक शानदार, अनिवार्य कदम कहा है।

जागरण न्यू मीडिया और विश्वास न्यूज के एडिटर इन चीफ राजेश उपाध्याय का कहना है कि विश्वास न्यूज ने देश के पांच राज्यों में हेल्थ फैक्ट चेक अभियान चलाया था। उन्होंने कहा कि पूरे देश में कोरोना का कहर जारी है। एक तरफ जहां देश-दुनिया इस बीमारी से लड़ रही है तो दूसरी तरफ इसकी भ्रामक जानकारियों से। पूरी दुनिया के समक्ष लोगों को बचाने के लिए इस फेक न्यूज युद्ध से भी मुकाबला करना था तो वहीं लोगों तक सच को भी प्रस्तुत करना भी अहम जिम्मेदारी बन गई थी।

ऐसे में जागरण न्यू मीडिया के विश्वास न्यूज ने कोरोना को लेकर चल रही फेक न्यूज का पर्दाफाश करने की ठानी। ‘विश्वास न्यूज’ ने फेसबुक के साथ मिलकर सच के साथी कैंपेन चलाया। इस कैंपेन को अभूतपूर्व सफलता मिली औऱ लोगों का भरपूर सहयोग। प्रशिक्षण कैंप में लोगों का उत्साह देखने लायक था। उनके मन में  फेक न्यूज को पहचानने, उसके टूल को जानने को लेकर जिज्ञासा थी। हर सेशन में लोगों ने जमकर सवाल पूछे। बड़ी बात यह रही कि इन सेशन में हर उम्र के लोगों की सहभागिता रही।

सच के साथी कैंपेन

जागरण न्यू मीडिया और ‘विश्वास न्यूज’ के एडिटर इन चीफ राजेश उपाध्याय का कहना है कि ‘सच के साथी’ कैंपेन का मकसद लोगों को आसपास चल रही फेक न्यूज के प्रति लोगों को जागरुक करना था ताकि लोग फेक न्यूज को पहचान सकें और उसे खारिज कर सकें। एसकेएस हेल्थ फैक्ट चेक को फरवरी (20-29 फरवरी) माह में लॉन्च किया गया था। लोगों को कोरोना वायरस, उसके लक्षण आदि के बारे में जागरूक करने के लिए ट्रेनिंग कैंप चलाए गए। साथ ही इससे जुड़ी फेक न्यूज को पहचान करने के टूल आदि के बारे में लोगों को जानकारी दी गई। मौजूदा डाटा के अनुसार इस फैक्ट चेक ट्रेनिंग प्रोग्राम को 600 लोगों ने अटेंड किया। इन लोगों ने एक माह में ही अपने आसपास के 55000 लोगों को प्रशिक्षित किया। विश्वास न्यूज फैक्ट चेक ट्रेनिंग प्रोग्राम में शामिल हुए लोगों के संपर्क में है और उनको अपने परिवार, दोस्त, रिश्तेदार और सहयोगियों को प्रशिक्षण देने के लिए लगाता प्रोत्साहित कर रहे हैं। हमारा लक्ष्य है कि सच के साथी सेंशंस के दौरान बनाए गए 1187 फैक्ट चैंपियंस के माध्यम से एक लाख लोगों को प्रशिक्षित किया जाए।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

कुछ यूं अब दर्शकों तक पहुंच बढ़ाएगा Republic मीडिया नेटवर्क

यह रणनीतिक साझेदारी रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क को ओटीटी प्लेटफार्म्स पर उसकी न्यूज डिजिटल उपस्थिति का और अधिक विस्तार करने में सक्षम बनाएगी।

Last Modified:
Tuesday, 14 April, 2020
Republic

रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क ने ओटीटी विडियो स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म ‘फ्लिपकार्ट विडियो’ के साथ हाथ मिलाया है। इसके तहत इस नेटवर्क के अंग्रेजी (Republic TV) व हिंदी न्यूज चैनल (Republic Bharat) हर समय ‘फ्लिपकार्ट विडियो’ पर उपलब्ध रहेंगे। यानी दर्शक अब इस प्लेटफार्म के जरिए भी खबरों को लाइव देख सकेंगे।

बता दें कि रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क पहले से ही विभिन्न HD OTT प्लेटफार्म्स पर उपलब्ध है, जैसे- ‘रिपब्लिक वर्ल्ड’, ‘रिपब्लिक वर्ल्ड ऐप’, ‘डेलीहंट’, ‘हॉटस्टार’, ‘JIO’, ‘वोडाफोन प्ले’, ‘ओला प्ले’, ‘जस्टडायल’, ‘पेटीएम’, ‘Zee5’, ‘एयरटेल टीवी’, ‘टाटा स्काई’ आदि। यह रणनीतिक साझेदारी रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क को ओटीटी प्लेटफार्म्स पर उसकी न्यूज डिजिटल उपस्थिति का और अधिक विस्तार करने में सक्षम बनाएगी, जिससे दर्शक किसी भी मंच के जरिए अपनी पसंद की विश्वसनीय खबरें प्राप्त कर सकेंगे। फ्लिपकार्ट विडियो पर पहले से ही 5000 से अधिक टीवी शो और फिल्में उपलब्ध हैं।

रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के सीईओ विकास खानचंदानी ने कहा, 'हमारी संपूर्ण डिस्ट्रीब्यूशन स्ट्रैटजी के तहत रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क देश के हर स्मार्टफोन पर उपलब्ध है। हम तमाम लोगों तक अपनी पहुंच बनते देख रहे हैं, क्योंकि स्मार्टफोन की पहुंच ही 450 मिलियन यूजर्स को पार कर गई है, लिहाजा डिवाइस पर आसानी से एक्सेस हो जाने की वजह से अधिकांश लोग खबरें देख रहे हैं, साथ ही नए ऑडियंस भी आ रहे हैं। हम फ्लिपकार्ट प्लेटफॉर्म पर आने के लिए बेहद उत्साहित हैं और मेरा मानना है कि इससे दोनों ब्रैंड्स के लिए स्ट्रैटजिक रेवन्यू क्रिएट करने के मौके भी खुलेंगे।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

कोरोना से जंग में BCCI ने निभाई भूमिका, प्रसार भारती के लिए यूं दिखाई दरियादिली

कोरोना की वजह से कई देशों मे लॉकडाउन है। भारत में भी 21 दिनों का लॉकडाउन चल रहा है, जिसका बुरा असर खेलों की दुनिया पर भी पड़ा है

Last Modified:
Thursday, 09 April, 2020
bcci

कोरोना की वजह से कई देशों मे लॉकडाउन है। भारत में भी 21 दिनों का लॉकडाउन चल रहा है, जिसका बुरा असर खेलों की दुनिया पर भी पड़ा है। क्रिकेट समेत सभी खेलों की गतिविधियां बंद है। ओलंपिक 2020 करीब एक साल के लिए टाल दिया गया है। इसके अलावा खेल के तमाम दूसरे इवेंट्स भी टाल दिए गए हैं। इस साल इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का होना भी लगभग नामुमकिन ही है।

ऐसे में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने एक अच्छा कदम उठाया है। प्रसार भारती के साथ हाथ मिलाते हुए बीसीसीआई ने दूरदर्शन को कई रोमांचक मैचों की फुटेज उपलब्ध कराने का फैसला किया है।

दरअसल, यह कदम इसलिए उठाया गया है ताकि लोग घरों के अंदर रहते हुए दूरदर्शन पर पुरानी यादों को ताजा कर सकें।

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो बीसीसीआई इसके लिए प्रसार भारती से कोई पैसा नहीं लेगा, उसने इसे मुफ्त में उपलब्ध कराने का फैसला किया है।

गौरतलब है कि इस लॉकडाउन के दौरान 14 अप्रैल तक इन मैचों का प्रसारण किया जाएगा। इस दौरान साल 2000 की भारत बनाम दक्षिण अफ्रीका सीरीज, साल 2001 की भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया सीरीज, साल 2002 की भारत बनाम वेस्टइंडीज सीरीज, 2003 की भारत, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड त्रिकोणीय सीरीज और साल 2005 की भारत बनाम श्रीलंका सीरीज के मुकाबले दिखाए जाएंगे। सौरव गांगुली साल 2000 से 2005 तक भारतीय टीम के कप्तान थे और उनके दौर के ऐतिहासिक मैचों को इस लॉकडाउन के दौरान दिखाया जाएगा।

बता दें कि मैचों की फुटेज के मामले में बीसीसीआई के नियम बहुत सख्त हैं। न्यूज चैनल्स पर भी बड़े नियम कानून के बाद मैच फुटेज दिखाने का प्रावधान है। यहां तक कि बीसीसीआई मैचों की फुटेज को लेकर अदालती दरवाजा खटखटा चुकी है। बीसीसीआई की कमाई का एक बड़ा जरिया टेलीकास्ट फी है और ऐसे में बीसीसीआई बिना पैसे खर्च किए मैच दिखाने के सख्त खिलाफ रहा है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

5,000 से अधिक श्रमिकों की मदद के लिए ZEE ने बढ़ाया हाथ, मोदी ने यूं की तारीफ

कोरोना (Corona) की रोकथाम के लिए घोषित लॉकडाउन के चलते दिहाड़ी श्रमिक सबसे ज्यादा परेशान हैं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 08 April, 2020
Last Modified:
Wednesday, 08 April, 2020
ZEE

कोरोना (Corona) की रोकथाम के लिए घोषित लॉकडाउन के चलते दिहाड़ी श्रमिक सबसे ज्यादा परेशान हैं। ऐसे में दि‍हाड़ी श्रमिकों के लिए मनोरंजन कंपनी ‘जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लिमिटेड’ (ZEEL) ने मदद का हाथ बढ़ाया है। कंपनी ने ऐसे 5,000 से अधिक दिहाड़ी श्रमिकों को वित्तीय मदद मुहैया कराने की पेशकश की है, जो किसी भी तरह से प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से उसके साथ जुड़े हुए हैं।

जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज (ZEEL) ने एक बयान में कहा कि बंद के सभी दैनिक वेतन भोगियों पर अभूतपूर्व प्रभावों को देखते हुए जी ने यह फैसला किया है, ताकि इस चुनौतीपूर्ण समय में उनके परिवार प्रभावित न हों।

देश-दुनिया में फैले अपने मीडिया नेटवर्क के जरिए ZEE एक सौ तीस करोड़ देशवासियों से 'प्रधानमंत्री नागरिक सहायता और आपातकालीन स्थिति निधि में राहत' (पीएम- केयर्स) में मदद करने की अपील करेगी।

वहीं, कंपनी ने यह भी कहा है कि उसने अपने 3,500 कर्मचारियों से पीएम-केयर्स कोष में स्वैच्छिक रूप से योगदान करने के लिए कहा है और कंपनी भी इस कोष में योगदान करेगी।

इस पहल पर टिप्पणी करते हुए ZEEL के मैनेजिंग डायरेक्टर व सीईओ पुनीत गोयनका ने कहा कि हम प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से अपने परिचालन से जुड़े सभी दैनिक वेतन भोगियों को आर्थिक रूप से समर्थन देने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी जी एंटरटेनमेंट (ZEEL) की इस पहल की तारीफ की है। उन्होंने ट्वीट में लिखा, 'मैं पीएम-केयर में योगदान के लिए जी ग्रुप की सराहना करता हूं। इससे COVID-19 के खिलाफ हमारी लड़ाई और भी मजबूत होगी।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए