'इस अनुपात को बढ़ाने से देश में होगा कम्युनिटी रेडियो को आर्थिक लाभ'

सामुदायिक रेडियो स्टेशन लोगों से उनकी भाषा में संचार करते हैं, जिससे न सिर्फ भाषा के बचाव में योगदान होता है, बल्कि अगली पीढ़ी तक उसका विस्तार भी होता है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 03 November, 2020
Last Modified:
Tuesday, 03 November, 2020
CommunityRadio

'भारत में 290 कम्युनिटी रेडियो स्टेशन हैं, जिनकी पहुंच देश की लगभग 9 करोड़ आबादी तक है। ये रेडियो स्टेशन समुदायों द्वारा उनकी स्थानीय भाषा एवं बोली में चलाए जाते हैं। इस तरह भारतीय भाषाओं के माध्यम से कम्युनिटी रेडियो देश को जोड़ने का काम करता है।' यह विचार भारतीय जन संचार संस्थान (आईआईएमसी) के महानिदेशक प्रो. संजय द्विवेदी ने सोमवार को सरदार वल्लभभाई पटेल की 145वीं जयंती प्रसंग के मौके पर, 'कम्युनिटी रेडियो-सबका साथ सबका विकास' विषय पर आयोजित वेबिनार में व्यक्त किए।  

कार्यक्रम में वन वर्ल्ड फाउंडेशन के प्रबंध निदेशक राजीव टिक्कू, रेडियो अल्फ़ाज़-ए-मेवात की प्रमुख पूजा ओबेरॉय मुरादा, कम्युनिटी मीडिया कंसल्टेंट डॉ. डी. रुक्मिणी वेमराजू एवं रेडियो बनस्थली राजस्थान के स्टेशन मैनेजर लोकेश शर्मा भी वक्ता के तौर पर शामिल हुए।

प्रो. द्विवेदी ने कहा कि सामुदायिक रेडियो स्टेशन लोगों से उनकी भाषा में संचार करते हैं, जिससे न सिर्फ भाषा के बचाव में योगदान होता है, बल्कि अगली पीढ़ी तक उसका विस्तार भी होता है। एक समुदाय को सशक्त करना हो, लोगों और सरकार के बीच माध्यम बनना हो, समाज में पारदर्शिता लानी हो, निरंतर जानकारी पहुंचानी हो या छोटी अथवा बड़ी समस्या का हल निकालना हो, इन सभी में कम्युनिटी रेडियो अपनी महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है।

उन्होंने कहा कि मौजूदा दौर में कम्युनिटी रेडियो पर विज्ञापन का अनुपात 7 मिनट प्रति घंटा है, जिसे बढ़ाकर 12 मिनट प्रति घंटा किये जाने की तैयारी शुरू हो चुकी है। इस बढ़े हुए समय से कम्युनिटी रेडियो को आर्थिक लाभ होगा और अपने लिए वित्तीय संसाधन जुटाने में मदद मिलेगी। इसके अलावा भारत सरकार ने देश में कम्युनिटी रेडियो समर्थन अभियान चला रखा है। प्रो. द्विवेदी के मुताबिक सामुदायिक रेडियो सिर्फ रेडियो नहीं, बल्कि लोगों की एकीकृत आवाज़ है।

समस्याओं का समाधान करता है कम्युनिटी रेडियो : टिक्कू

राजीव टिक्कू ने कहा कि कम्युनिटी रेडियो सिर्फ समस्याओं की और ध्यान ही नहीं दिलाता, बल्कि उनका समाधान करने का भी प्रयास करता है। टिक्कू ने बताया कि आज के दौर में हम सूचनाओं के विस्फोट से जूझ रहे हैं, ऐसी स्थिति में इन सूचनाओं को कम्युनिटी रेडियो सबसे बेहतर तरीके से नियंत्रित करते हैं।      

टिक्कू ने कहा कि कोरोना महामारी के दौर में कम्युनिटी रेडियो ने भी अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उत्तराखंड में 6 स्टेशनों ने मिलकर एक उम्मीद नेटवर्क बनाया है, जिसके द्वारा कोरोना से बचाव के उपाय लोगों को बताये जा रहे हैं। उनके मुताबिक कम्युनिटी रेडियो की भूमिका पर अब लोगों को जागरुक करने की जरूरत है।

भाषा का नहीं, संचार का महत्व : वेमराजू

कम्युनिटी मीडिया कंसल्टेंट डॉ. डी. रुक्मिणी वेमराजू ने अपने संबोधन में कहा कि कम्युनिटी रेडियो में भाषा का नहीं, बल्कि संचार का महत्व है। और इसकी सबसे अच्छी बात यह है कि क्षेत्रीय स्तर पर लोगों से क्षेत्रीय भाषा में ही संचार किया जाता है। उन्होंने कहा कि समुदाय एवं उसमें रहने वाले लोगों को जोड़कर ही 'सबका साथ सबका विकास' संभव हो सकता है।

कोरोना महामारी के दौर में कम्युनिटी रेडियो की भूमिका पर बोलते हुए वेमराजू ने कहा कि किसी भी चुनौती के समय सामुदायिक रेडियो ने अपने आप को सिद्ध किया है। उन्होंने कहा कि संकट के समय लोगों को सशक्त बनाने की जिम्मेदारी कम्युनिटी रेडियो की है। महामारी के इस दौर में कम्युनिटी रेडियो की डिमांड बढ़ी है। पहली बार प्रशासन को ये एहसास हुआ कि लोगों तक जानकारी पहुंचाने में कम्युनिटी रेडियो की महत्वपूर्ण भूमिका है।

सबके साथ से ही होगा विकास : मुरादा

इस मौके पर रेडियो अल्फ़ाज़-ए-मेवात की प्रमुख पूजा ओबेरॉय मुरादा ने बताया कि जब रेडियो मेवात का प्रसारण शुरू किया गया, तो वहां रहने वाले समुदाय के लोगों ने पहले इसका विरोध किया, लेकिन आज वही लोग इसके संचालन में हमारी मदद करते हैं। लॉकडाउन के दौरान वहां रहने वाले इंजीनियर ने तकनीकी समस्याओं को दूर करने में हमारी मदद की।

'सबका साथ सबका विकास' का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि हमें ये समझना होगा कि आखिर हमें किसका साथ चाहिए और इससे किसका विकास होगा। श्रीमती मुरादा ने कहा कि हमें समुदाय, प्रशासन, सरकार और सहयोगियों का साथ चाहिये और इससे समाज के उन लोगों का विकास होगा, जिन तक शासन और प्रशासन की पहुंच नहीं है।

समुदाय के लोगों को कर रहे हैं जागरुक : शर्मा

रेडियो बनस्थली राजस्थान के स्टेशन मैनेजर लोकेश शर्मा ने कहा कि हमारी टैगलाइन है 'आपणो रेडियो बनस्थली' यानी ये आपका अपना रेडिया स्टेशन है। यही कम्युनिटी रेडियो की भावना है। उन्होंने कहा कि यह राजस्थान का पहला कम्युनिटी रेडियो स्टेशन है और इसके माध्यम से हम क्षेत्रीय भाषाओं में लोगों के साथ संवाद कर रहे हैं।

शर्मा ने बताया कि कम्युनिटी रेडियो की मदद से हम स्थानीय समुदाय के लोगों में उनकी रुचि के अनुसार कौशल का विकास कर रहे हैं। साथ ही लोकगीतों के माध्यम से हम न सिर्फ संस्कृति का प्रचार प्रसार कर रहे हैं, बल्कि सरकारी योजनाओं की जानकारी भी लोगों तक पहुंचा रहे हैं।

इससे पहले आयोजन की शुरुआत संस्थान के अपर महानिदेशक के. सतीश नंबूदिरीपाद के स्वागत भाषण से हुई। वेबिनार का संचालन अपना रेडियो के कार्यक्रम प्रमुख संजय अग्रवाल ने किया एवं भारतीय सूचना सेवा की पाठ्यक्रम निदेशक नवनीत कौर ने आयोजन में भाग लेने वाले सभी वक्ताओं का धन्यवाद दिया।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

RAM Ratings: श्रोताओं ने इस FM रेडियो को किया सबसे ज्यादा पसंद

देश के चार बड़े शहरों दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और बेंगलुरु के लिए वर्ष 2022 के 17वें हफ्ते से वर्ष 2022 के 20वें हफ्ते के बीच की ‘रेडियो ऑडियंस मीजरमेंट’ (RAM) रेटिंग्स जारी हो गई हैं।

Last Modified:
Wednesday, 22 June, 2022
FM Radio

देश के चार बड़े शहरों दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और बेंगलुरु के लिए वर्ष 2022 के 17वें हफ्ते से वर्ष 2022 के 20वें हफ्ते (24 अप्रैल 2022 से 21 मई 2022) के बीच की ‘रेडियो ऑडियंस मीजरमेंट’ (RAM) रेटिंग्स जारी हो गई हैं। इन रेटिंग्स के अनुसार, दिल्ली के साथ-साथ मुंबई में इस बार भी ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) टॉप पर रहा है। पिछली बार की तरह इस दौरान भी कोलकाता में ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) टॉप पर रहा है, जबकि बेंगलुरु में ‘बिग एफएम’ (BIG FM) सबसे ज्यादा सुना गया है।

मुंबई में 12 साल से ऊपर आयुवर्ग के 12.2 मिलियन श्रोताओं में ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) का मार्केट शेयर इस दौरान 16.2 प्रतिशत रहा है और यह पहले नंबर पर रहा है। इस अवधि में 15.3 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर आ गया है, जबकि 15.1 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेड एफएम’ (Red FM) तीसरे नंबर पर रहा है। सुबह नौ बजे से 10 बजे के बीच और फिर सुबह 11 बजे से दोपहर 12 बजे के बीच यहां रेडियो सबसे ज्यादा सुना गया।

दिल्ली में 12 साल से ऊपर आयुवर्ग के 16.5 मिलियन श्रोताओं में 21.8 प्रतिशत मार्केट शेयर के साथ ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) सबसे ज्यादा सुना गया है। दिल्ली के मार्केट में 14.5 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर रहा है। इस लिस्ट में 12.7 प्रतिशत शेयर के साथ ‘पंजाबी फीवर’ (Punjabi Fever)  तीसरे नंबर पर रहा है। यहां श्रोताओं की संख्या सबसे ज्यादा सुबह नौ बजे से सुबह 10 बजे के बीच रही।

बेंगलुरु के मार्केट की बात करें तो 29.6 प्रतिशत शेयर के साथ ‘बिग एफएम’ (BIG FM) इस लिस्ट में टॉप पर रहा है। वहीं, ‘रेडियो सिटी’ (Radio City) 28 प्रतिशत शेयर के साथ इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर रहा। ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) ने 15.7 प्रतिशत शेयर के साथ इस लिस्ट में तीसरा नंबर हासिल किया। यहां सुबह सात बजे से सुबह आठ बजे के बीच श्रोताओं की संख्या सबसे ज्यादा थी।

वहीं, कोलकाता को देखें तो यहां एफएम सुनने वाले 9.1 मिलियन श्रोताओं में 27.7 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) टॉप पर रहा है, जबकि 23.7 प्रतिशत श्रोताओं के साथ ‘बिग एफएम’ (Big FM) इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर रहा। इसके बाद इस लिस्ट में 13.8 प्रतिशत के साथ ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) का नंबर रहा है। सुबह नौ बजे से सुबह दस बजे के बीच यहां रेडियो सबसे ज्यादा सुना गया।

इस अवधि के दौरान सभी मार्केट्स में घर से बाहर रेडियो सुनने वाले श्रोताओं की संख्या में बढ़ोतरी देखी गई है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

RAM Ratings: जानिए, किस मार्केट में सबसे ज्यादा किस FM रेडियो की रही धूम

देश के चार बड़े शहरों दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और बेंगलुरु के लिए वर्ष 2022 के 16वें हफ्ते से वर्ष 2022 के 19वें हफ्ते के बीच की ‘रेडियो ऑडियंस मीजरमेंट’ (RAM) रेटिंग्स जारी हो गई हैं।

Last Modified:
Thursday, 16 June, 2022
FM Radio

देश के चार बड़े शहरों दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और बेंगलुरु के लिए वर्ष 2022 के 16वें हफ्ते से वर्ष 2022 के 19वें हफ्ते (17 अप्रैल 2022 से 14 मई 2022) के बीच की ‘रेडियो ऑडियंस मीजरमेंट’ (RAM) रेटिंग्स जारी हो गई हैं। इन रेटिंग्स के अनुसार, दिल्ली के साथ-साथ मुंबई में इस बार भी ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) टॉप पर रहा है। पिछली बार की तरह इस दौरान भी कोलकाता में ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) टॉप पर रहा है, जबकि बेंगलुरु में ‘बिग एफएम’ (BIG FM) सबसे ज्यादा सुना गया है।

मुंबई में 12 साल से ऊपर आयुवर्ग के 12.2 मिलियन श्रोताओं में ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) का मार्केट शेयर इस दौरान 16.8 प्रतिशत रहा है और यह पहले नंबर पर रहा है। इस अवधि में 14.8 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर आ गया है, जबकि 14.8 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेड एफएम’ (Red FM) भी तीसरे नंबर पर रहा है। सुबह 11 बजे से दोपहर 12 बजे के बीच यहां रेडियो सबसे ज्यादा सुना गया।

दिल्ली में 12 साल से ऊपर आयुवर्ग के 16.5 मिलियन श्रोताओं में 21.8 प्रतिशत मार्केट शेयर के साथ ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) सबसे ज्यादा सुना गया है। दिल्ली के मार्केट में 14.4 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर रहा है। इस लिस्ट में 12.8 प्रतिशत शेयर के साथ ‘पंजाबी फीवर’ (Punjabi Fever)  तीसरे नंबर पर रहा है। यहां श्रोताओं की संख्या सबसे ज्यादा सुबह नौ बजे से सुबह 10 बजे के बीच रही।

बेंगलुरु के मार्केट की बात करें तो 29.5 प्रतिशत शेयर के साथ ‘बिग एफएम’ (BIG FM) इस लिस्ट में टॉप पर रहा है। वहीं, ‘रेडियो सिटी’ (Radio City) 28.2 प्रतिशत शेयर के साथ इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर रहा। ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) ने 15.5 प्रतिशत शेयर के साथ इस लिस्ट में तीसरा नंबर हासिल किया। यहां सुबह सात बजे से सुबह आठ बजे के बीच श्रोताओं की संख्या सबसे ज्यादा थी।

वहीं, कोलकाता को देखें तो यहां एफएम सुनने वाले 9.1 मिलियन श्रोताओं में 27.7 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) टॉप पर रहा है, जबकि 23.8 प्रतिशत श्रोताओं के साथ ‘बिग एफएम’ (Big FM) इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर रहा। इसके बाद इस लिस्ट में 13.6 प्रतिशत के साथ ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) का नंबर रहा है। सुबह नौ बजे से सुबह दस बजे के बीच यहां रेडियो सबसे ज्यादा सुना गया।

इस अवधि के दौरान सभी मार्केट्स में घर से बाहर रेडियो सुनने वाले श्रोताओं की संख्या में बढ़ोतरी देखी गई है। 
 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

जब हैक हुआ ये रेडियो स्टेशन, बजने लगा दुश्मन देश का राष्ट्रगान

रूसी रेडियो स्टेशन के हैक होने से मॉस्को में हड़कंप मच गया। हैकर्स ने रेडियो स्टेशन के जरिए पूरे रूस में यूक्रेन के राष्ट्रगान का प्रसारण भी करवाया।

Last Modified:
Friday, 10 June, 2022
radio545

रूस और यूक्रेन युद्ध को 105 दिन से अधिक हो गए हैं, लेकिन युद्ध रुकने का नाम नहीं ले रहा है। इस बीच रूसी रेडियो स्टेशन के हैक होने से मॉस्को में हड़कंप मच गया। हैकर्स ने रेडियो स्टेशन के जरिए पूरे रूस में यूक्रेन के राष्ट्रगान का प्रसारण भी करवाया। इतना ही नहीं, उन्होंने युद्ध विरोधी गानें भी बजाए। जिसके बाद आनन-फानन में रेडियो स्टेशन की तकनीकी टीम ने पूरे प्रसारण को ही बंद करवा दिया। 

इस रेडियो स्टेशन का नाम कोमर्सेंट एफएम (Kommersant FM) बताया जा रहा है, जिसका स्वामित्व कोमर्सेंट समाचार पत्र के पास है। बताया जा रहा है कि एफएम पर रूसी रॉक बैंड (russian rock band) नोगु स्वेलो के 'हमें युद्ध की आवश्यकता नहीं है' नाम का गाना भी बजाया गया। नोगु स्वेलो के गीत में रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव का एक कोट भी है, जिसमें वे कहते हैं कि एक कठोर आदमी हमेशा अपनी बात रखता है।

कोमर्सेंट एफएम के प्रधान संपादक एलेक्सी वोरोब्योव ने पुष्टि करते हुए कहा कि उनके चैनल को कुछ शरारती हैकर्स ने वास्तव में हैक कर लिया था। तकनीकी विशेषज्ञ अब इस हमले की उत्पत्ति का पता लगा रहे हैं।

बता दें कि यह रेडियो स्टेशन रूस के सबसे अमीर शख्सों में से एक अलीशर उस्मानोव के स्वामित्व में है, जिन्हें 24 फरवरी को यूक्रेन पर आक्रमण करने के बाद अमेरिका (America) और यूरोपीय संघ (European Union) द्वारा राष्ट्रपति पुतिन (President Putin) का खास आदमी माना जाता है। 

रूसी टीवी भी हो चुका है हैक

इससे पहले भी रूसी टेलीविजन प्रसारण को हैक कर लिया गया था। इस दौरान युद्ध विरोधी मैसेजों को प्रसारित किया गया था। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि सेंट पीटर्सबर्ग (St. Petersburg) में तीन रेडियो स्टेशनों को भी निशाना बनाया गया है, जिनमें 2 घंटे से अधिक समय तक युद्ध विरोधी गाने बजाए गए।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

किस मार्केट में सबसे ज्यादा सुना गया कौन सा FM रेडियो, जानिए यहां

देश के चार बड़े शहरों दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और बेंगलुरु के लिए वर्ष 2022 के 15वें हफ्ते से वर्ष 2022 के 18वें हफ्ते के बीच की ‘रेडियो ऑडियंस मीजरमेंट’ (RAM) रेटिंग्स जारी हो गई हैं।

Last Modified:
Wednesday, 08 June, 2022
Radio FM

देश के चार बड़े शहरों दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और बेंगलुरु के लिए वर्ष 2022 के 15वें हफ्ते से वर्ष 2022 के 18वें हफ्ते (10 अप्रैल 2022 से सात मई 2022) के बीच की ‘रेडियो ऑडियंस मीजरमेंट’ (RAM) रेटिंग्स जारी हो गई हैं। इन रेटिंग्स के अनुसार, दिल्ली के साथ-साथ मुंबई में इस बार भी ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) टॉप पर रहा है। पिछली बार की तरह इस दौरान भी कोलकाता में ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) टॉप पर रहा है, जबकि बेंगलुरु में ‘बिग एफएम’ (BIG FM) सबसे ज्यादा सुना गया है।

मुंबई में 12 साल से ऊपर आयुवर्ग के 12.2 मिलियन श्रोताओं में ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) का मार्केट शेयर इस दौरान 17 प्रतिशत रहा है और यह पहले नंबर पर रहा है। इस अवधि में 14.8 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर आ गया है, जबकि 14.6 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेड एफएम’ (Red FM) तीसरे नंबर पर रहा है। सुबह 11 बजे से दोपहर 12 बजे के बीच यहां रेडियो सबसे ज्यादा सुना गया।

दिल्ली में 12 साल से ऊपर आयुवर्ग के 16.5 मिलियन श्रोताओं में 21.8 प्रतिशत मार्केट शेयर के साथ ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) सबसे ज्यादा सुना गया है। दिल्ली के मार्केट में 14.3 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर रहा है। इस लिस्ट में 12.9 प्रतिशत शेयर के साथ ‘पंजाबी फीवर’ (Punjabi Fever)  तीसरे नंबर पर रहा है। यहां श्रोताओं की संख्या सबसे ज्यादा सुबह नौ बजे से सुबह 10 बजे के बीच रही।

बेंगलुरु के मार्केट की बात करें तो 29.4 प्रतिशत शेयर के साथ ‘बिग एफएम’ (BIG FM) इस लिस्ट में टॉप पर रहा है। वहीं, ‘रेडियो सिटी’ (Radio City) 28 प्रतिशत शेयर के साथ इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर रहा। ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) ने 15.3 प्रतिशत शेयर के साथ इस लिस्ट में तीसरा नंबर हासिल किया। यहां सुबह सात बजे से सुबह आठ बजे के बीच श्रोताओं की संख्या सबसे ज्यादा थी।

वहीं, कोलकाता को देखें तो यहां एफएम सुनने वाले 9.1 मिलियन श्रोताओं में 28 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) टॉप पर रहा है, जबकि 23.9 प्रतिशत श्रोताओं के साथ ‘बिग एफएम’ (Big FM) इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर रहा। इसके बाद इस लिस्ट में 13.3 प्रतिशत के साथ ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) का नंबर रहा है। सुबह नौ बजे से सुबह दस बजे के बीच यहां रेडियो सबसे ज्यादा सुना गया।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

जानें, किस मार्केट में श्रोताओं को सबसे अधिक भाया कौन सा FM Radio

देश के चार बड़े शहरों दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और बेंगलुरु के लिए वर्ष 2022 के 14वें हफ्ते से वर्ष 2022 के 17वें हफ्ते के बीच की ‘रेडियो ऑडियंस मीजरमेंट’ (RAM) रेटिंग्स जारी हो गई हैं।

Last Modified:
Wednesday, 01 June, 2022
FM Radio

देश के चार बड़े शहरों दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और बेंगलुरु के लिए वर्ष 2022 के 14वें हफ्ते से वर्ष 2022 के 17वें हफ्ते (तीन अप्रैल 2022 से 30 अप्रैल 2022) के बीच की ‘रेडियो ऑडियंस मीजरमेंट’ (RAM) रेटिंग्स जारी हो गई हैं। इन रेटिंग्स के अनुसार, दिल्ली के साथ-साथ मुंबई में इस बार भी ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) का जलवा रहा है। पिछली बार की तरह इस दौरान भी कोलकाता में ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) टॉप पर रहा है, जबकि बेंगलुरु में ‘बिग एफएम’ (BIG FM) सबसे ज्यादा सुना गया है।

मुंबई में 12 साल से ऊपर आयुवर्ग के 12.2 मिलियन श्रोताओं में ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) का मार्केट शेयर इस दौरान 17.3 प्रतिशत रहा है और यह पहले नंबर पर रहा है। इस अवधि में 14.7 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर आ गया है, जबकि 14.5 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेड एफएम’ (Red FM) तीसरे नंबर पर रहा है। सुबह 11 बजे से दोपहर 12 बजे के बीच यहां रेडियो सबसे ज्यादा सुना गया।

दिल्ली में 12 साल से ऊपर आयुवर्ग के 16.5 मिलियन श्रोताओं में 21.4 प्रतिशत मार्केट शेयर के साथ ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) सबसे ज्यादा सुना गया है। दिल्ली के मार्केट में 14.4 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर रहा है। इस लिस्ट में 13 प्रतिशत शेयर के साथ ‘पंजाबी फीवर’ (Punjabi Fever)  तीसरे नंबर पर रहा है। यहां श्रोताओं की संख्या सबसे ज्यादा सुबह नौ बजे से सुबह 10 बजे के बीच रही।

बेंगलुरु के मार्केट की बात करें तो 29.7 प्रतिशत शेयर के साथ ‘बिग एफएम’ (BIG FM) इस लिस्ट में टॉप पर रहा है। वहीं, ‘रेडियो सिटी’ (Radio City) 27.7 प्रतिशत शेयर के साथ इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर रहा। ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) ने 15.3 प्रतिशत शेयर के साथ इस लिस्ट में तीसरा नंबर हासिल किया। यहां सुबह सात बजे से सुबह आठ बजे के बीच श्रोताओं की संख्या सबसे ज्यादा थी।

वहीं, कोलकाता को देखें तो यहां एफएम सुनने वाले 9.1 मिलियन श्रोताओं में 27.8 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) टॉप पर रहा है, जबकि 23.9 प्रतिशत श्रोताओं के साथ ‘बिग एफएम’ (Big FM) इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर रहा। इसके बाद इस लिस्ट में 13 प्रतिशत के साथ ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) का नंबर रहा है। सुबह नौ बजे से सुबह दस बजे के बीच यहां रेडियो सबसे ज्यादा सुना गया।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

RAM Ratings: श्रोताओं की पसंद के मामले में सबसे आगे रहा यह FM रेडियो

देश के चार बड़े शहरों दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और बेंगलुरु के लिए वर्ष 2022 के 13वें हफ्ते से वर्ष 2022 के 16वें हफ्ते के बीच की ‘रेडियो ऑडियंस मीजरमेंट’ (RAM) रेटिंग्स जारी हो गई हैं।

Last Modified:
Wednesday, 25 May, 2022
FM Radio

देश के चार बड़े शहरों दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और बेंगलुरु के लिए वर्ष 2022 के 13वें हफ्ते से वर्ष 2022 के 16वें हफ्ते (27 मार्च 2022 से 23 अप्रैल 2022) के बीच की ‘रेडियो ऑडियंस मीजरमेंट’ (RAM) रेटिंग्स जारी हो गई हैं। इन रेटिंग्स के अनुसार, दिल्ली के साथ-साथ मुंबई में इस बार भी ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) का जलवा रहा है। पिछली बार की तरह इस दौरान भी कोलकाता में ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) टॉप पर रहा है, जबकि बेंगलुरु में ‘बिग एफएम’ (BIG FM) सबसे ज्यादा सुना गया है।

मुंबई में 12 साल से ऊपर आयुवर्ग के 12.2 मिलियन श्रोताओं में ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) का मार्केट शेयर इस दौरान 17.3 प्रतिशत रहा है और यह पहले नंबर पर रहा है। इस अवधि में 14.8 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर आ गया है, जबकि 14.8 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेड एफएम’ (Red FM) तीसरे नंबर पर रहा है। सुबह नौ बजे से दस बजे तक और फिर सुबह 11 बजे से दोपहर 12 बजे के बीच यहां रेडियो सबसे ज्यादा सुना गया।

दिल्ली में 12 साल से ऊपर आयुवर्ग के 16.5 मिलियन श्रोताओं में 21.7 प्रतिशत मार्केट शेयर के साथ ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) सबसे ज्यादा सुना गया है। दिल्ली के मार्केट में 14.3 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर रहा है। इस लिस्ट में 13.2 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेड एफएम’ (Red FM)  तीसरे नंबर पर रहा है। यहां श्रोताओं की संख्या सबसे ज्यादा सुबह नौ बजे से सुबह 10 बजे के बीच रही।

बेंगलुरु के मार्केट की बात करें तो 29.7 प्रतिशत शेयर के साथ ‘बिग एफएम’ (BIG FM) इस लिस्ट में टॉप पर रहा है। वहीं, ‘रेडियो सिटी’ (Radio City) 27.8 प्रतिशत शेयर के साथ इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर रहा। ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) ने 15.1 प्रतिशत शेयर के साथ इस लिस्ट में तीसरा नंबर हासिल किया। यहां सुबह सात बजे से सुबह आठ बजे के बीच श्रोताओं की संख्या सबसे ज्यादा थी।

वहीं, कोलकाता को देखें तो यहां एफएम सुनने वाले 9.1 मिलियन श्रोताओं में 27.8 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) टॉप पर रहा है, जबकि 24 प्रतिशत श्रोताओं के साथ ‘बिग एफएम’ (Big FM) इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर रहा। इसके बाद इस लिस्ट में 13.1 प्रतिशत के साथ ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) का नंबर रहा है। सुबह नौ बजे से सुबह दस बजे के बीच यहां रेडियो सबसे ज्यादा सुना गया। इस अवधि के दौरान बेंगलुरु और दिल्ली के मार्केट में घर से बाहर रेडियो सुनने वाले श्रोताओं की संख्या में बढ़ोतरी हुई है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

RAM Ratings: जानिए, किस मार्केट में सबसे ज्यादा सुना गया कौन सा FM रेडियो

देश के चार बड़े शहरों दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और बेंगलुरु के लिए वर्ष 2022 के 12वें हफ्ते से वर्ष 2022 के 15वें हफ्ते के बीच की ‘रेडियो ऑडियंस मीजरमेंट’ (RAM) रेटिंग्स जारी हो गई हैं।

Last Modified:
Wednesday, 18 May, 2022
FM Radio

देश के चार बड़े शहरों दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और बेंगलुरु के लिए वर्ष 2022 के 12वें हफ्ते से वर्ष 2022 के 15वें हफ्ते (20 मार्च 2022 से 16 अप्रैल 2022) के बीच की ‘रेडियो ऑडियंस मीजरमेंट’ (RAM) रेटिंग्स जारी हो गई हैं। इन रेटिंग्स के अनुसार, दिल्ली के साथ-साथ मुंबई में भी इस बार ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) का जलवा रहा है। इस दौरान कोलकाता में ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) टॉप पर रहा है, जबकि बेंगलुरु में ‘बिग एफएम’ (BIG FM) सबसे ज्यादा सुना गया है।

मुंबई में 12 साल से ऊपर आयुवर्ग के 12.2 मिलियन श्रोताओं में ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) का मार्केट शेयर इस दौरान 16.5 प्रतिशत रहा है और यह पहले नंबर पर रहा है। इस अवधि में 15.1 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर आ गया है, जबकि 14.6 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेड एफएम’ (Red FM) तीसरे नंबर पर रहा है। सुबह 11 बजे से दोपहर 12 बजे के बीच यहां रेडियो सबसे ज्यादा सुना गया।

दिल्ली में 12 साल से ऊपर आयुवर्ग के 16.5 मिलियन श्रोताओं में 21.9 प्रतिशत मार्केट शेयर के साथ ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) सबसे ज्यादा सुना गया है। दिल्ली के मार्केट में 14.3 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर रहा है। इस लिस्ट में 13.2 प्रतिशत शेयर के साथ ‘पंजाबी फीवर’ (Punjabi Fever)  तीसरे नंबर पर रहा है। यहां श्रोताओं की संख्या सबसे ज्यादा सुबह नौ बजे से सुबह 10 बजे के बीच रही।

बेंगलुरु के मार्केट की बात करें तो 30.3 प्रतिशत शेयर के साथ ‘बिग एफएम’ (BIG FM) इस लिस्ट में टॉप पर रहा है। वहीं, ‘रेडियो सिटी’ (Radio City) 27.8 प्रतिशत शेयर के साथ इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर रहा। ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) ने 15.3 प्रतिशत शेयर के साथ इस लिस्ट में तीसरा नंबर हासिल किया। यहां सुबह सात बजे से सुबह आठ बजे के बीच श्रोताओं की संख्या सबसे ज्यादा थी।

वहीं, कोलकाता को देखें तो यहां एफएम सुनने वाले 9.1 मिलियन श्रोताओं में 27.7 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) टॉप पर रहा है, जबकि 23.8 प्रतिशत श्रोताओं के साथ ‘बिग एफएम’ (Big FM) इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर रहा। इसके बाद इस लिस्ट में 13 प्रतिशत के साथ ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) का नंबर रहा है। सुबह नौ बजे से सुबह दस बजे के बीच यहां रेडियो सबसे ज्यादा सुना गया। इस अवधि के दौरान कोलकाता को छोड़कर अन्य सभी मार्केट्स में घर से बाहर रेडियो सुनने वाले श्रोताओं की संख्या में बढ़ोतरी हुई है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

BIG FM में सुनील कुमारन का कद बढ़ा, मिली यह अतिरिक्त जिम्मेदारी

इससे पहले ‘बिग एफएम’ में चीफ ब्रैंड और डिजिटल ऑफिसर की भूमिका निभा रहे कुमारन इस नेटवर्क के साथ करीब 11 वर्षों से जुड़े हुए हैं।

Last Modified:
Monday, 16 May, 2022
Sunil Kumaran

देश के प्रमुख रेडियो नेटवर्क्स में शुमार ‘बिग एफएम’ (BIG FM) ने सुनील कुमारन को ‘चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर’ (COO) के पद पर प्रमोट करने की घोषणा की है। अपनी इस भूमिका में कुमारन ब्रैंड (प्रोग्रामिंग, मार्केटिंग और सॉल्यूशंस) की अपनी वर्तमान जिम्मेदारी को जारी रखने और नेटवर्क के डिजिटल विकास को बढ़ावा देने के साथ-साथ रेवेन्यू (सेल्स, सेल्स सपोर्ट, रेवेन्यू मैक्सिमाइजेशन, अकाउंट प्लानिंग) बढ़ाने और तकनीकी कार्यों के लिए जिम्मेदार होंगे।  

इससे पहले ‘बिग एफएम’ में चीफ ब्रैंड और डिजिटल ऑफिसर की भूमिका निभा रहे कुमारन इस नेटवर्क के साथ करीब 11 वर्षों से जुड़े हुए हैं। उन्हें रेडियो इंडस्ट्री में काम करने का दो दशक से ज्यादा का अनुभव है। बताया जाता है कि ‘बिग एफएम’ द्वारा की गई घोषणा इस रेडियो नेटवर्क की बढ़ती हुई मार्केटिंग गतिशीलता और कई क्षेत्रों में विकास के अनुमान के अनुरूप है, जिसे कुमारन द्वारा इनोवेशन और विकास के माध्यम से रफ्तार दी जाएगी।

अपनी इस नई भूमिका के बारे में कुमारन का कहना है, ‘बिग एफएम में अपनी यात्रा में हम एक परिवर्तनकारी दौर से गुजर रहे हैं। अपनी सामर्थ्य का दोहन करते हुए हमने तेजी से विकसित हो रहे डिजिटल परिदृश्य द्वारा प्रस्तुत अवसरों का लाभ उठाने के लिए एक आक्रामक विकास योजना शुरू की है। मुझे काफी खुशी हो रही है कि इस भूमिका में मुझे इस विकास के पथ पर चलने के लिए बेहतरीन टीम के साथ काम करने का मौका मिलेगा।’

इसके साथ ही ‘बिग एफएम’ का संचालन करने वाली कंपनी ‘रिलायंस ब्रॉडकास्‍ट नेटवर्क लिमिटेड’ (RBNL) के सीईओ अब्राहम थॉमस का कहना है, ‘सुनील काफी अनुभवी हैं और हमारा लक्ष्य बिग एफएम की सफलता की कहानी लिखने के लिए रेवेन्यू, प्रॉडक्ट, कंटेंट और मार्केटिंग विजिनरी के रूप में उनके इन अनुभवों का लाभ उठाना है। उनके इन अनुभवों की बदौलत हम बिग एफएम में सफलता के नए आयाम स्थापित करेंगे। सुनील को उनकी नई जिम्मेदारियों के लिए ढेरों शुभकामनाएं। मुझे पूरा विश्वास है कि सुनील के नेतृत्व में हमारी टीम तमाम चुनौतियों का सामना करेगी और कोविड-19 के बाद के दौर में सफलता की नई कहानी लिखेगी।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

आकाशवाणी इलाहाबाद को झटका, छीने गए वित्तीय-प्रशासनिक अधिकार

आकाशवाणी इलाहाबाद से जुड़े संगीत, साहित्य, कला और नाट्य विधा से जुड़े कलाकारों को बड़ा झटका लगने वाला है।

Last Modified:
Monday, 16 May, 2022
Radio FM

आकाशवाणी इलाहाबाद से जुड़े संगीत, साहित्य, कला और नाट्य विधा से जुड़े कलाकारों को बड़ा झटका लगने वाला है। दरअसल प्रसार भारती की अनुमति के बाद आकाशवाणी के इलाहाबाद केंद्र का लखनऊ केंद्र में विलय होने जा रहा है। इसके संकेत मिलने लगे हैं। अमर उजाला की एक रिपोर्ट के मुताबिक, वर्ष के शुरुआती दौर में जहां इस केंद्र से प्रसारित होने वाले विविध भारती के 17 घंटे के कार्यक्रमों में 13 घंटे की कटौती कर दी गई थी, वहीं अब अधिकार भी सीमित कर दिए गए हैं।

रिपोर्ट में बताया  गया है कि अब इसके तहत इलाहाबाद के वित्तीय और प्रशासनिक काम वाराणसी केंद्र को सौंप दिए गए हैं। इससे अब इलाहाबाद केंद्र की ओर से किसी भी कार्यक्रम के कवरेज और रिकॉर्डिंग के लिए पहले वाराणसी केंद्र से अनुमति लेनी पड़ रही है। इस आदेश के बाद यहां तैनात स्टेशन इंजीनियर और प्रोग्राम हेड समेत अन्य अफसरों के हाथ बंध गए हैं।

रिपोर्ट की मानें तो इलाहाबाद आकाशवाणी का अब किसी भी समय विलय किया जा सकता है। मीडियम वेव 292.4 मीटर यानी 1026 किलो हर्ट्ज में विविध भारती के एफएम चैनल 100.3 हर्ट्ज के विलय के बाद अब यहां तैनात स्टेशन इंजीनियर देवेश कुमार श्रीवास्तव से वित्तीय और प्रशासनिक अधिकार ले लिए गए हैं और अब यह कार्य वाराणसी में तैनात उप महानिदेशक अभियांत्रिकी राम भोग सिंह को सौंप दिए गए हैं। अधिकारों में कटौती कर दी गई है। अब वित्तीय और प्रशासनिक अनुभाग से जुड़े कामों के लिए वाराणसी केंद्र की अनुमति लेनी पड़ रही है।

हालत यह है कि प्रयागराज और आसपास के इलाकों में होने वाले किसी कार्यक्रम के कवरेज के लिए अगर आकाशवाणी की टीम को भेजना होगा, तो इसके लिए भी पहले उप महानिदेशक अभियांत्रिकी की अनुमति लेनी होगी। कहीं आने जाने के लिए वाहन भी बिना वाराणसी केंद्र की अनुमति के बुक नहीं किए जा सकते। किसी भी तरह की खरीद-फरोख्त के लिए भी पहले उपमहानिदेशक की स्वीकृति लेनी होगी।

वित्तीय स्वीकृति के लिए ऐसी कई पत्रावलियां लंबित पड़ गई हैं। इससे काम प्रभावित हो रहा है। रिपोर्ट में बताया गया है कि आकाशवाणी के विलय की रणनीति के तहत ही ऐसा किया गया है। वाराणसी में तैनात उप महानिदेशक अभियांत्रिकी को कलस्टर हेड बना दिया गया है। इसके तहत उन्हें इलाहाबाद के प्रशासनिक और वित्तीय अधिकार सौंपे गए हैं।

हजारों लोक कलाकारों का होगा नुकसान

आकाशवाणी से जुड़े कार्यक्रम प्रस्तोताओं की मानें तो इलाहाबाद केंद्र में स्थानीय स्तर पर बनने वाले दोपहर और शाम के कार्यक्रम अब यहां से प्रसारित नहीं होंगे। प्रयागराज सहित उत्तर प्रदेश के सभी केंद्रों के कार्यक्रम संयुक्त रूप से लखनऊ से ही प्रसारित किए जाने की तैयारी कर ली गई है। इलाहाबाद को हफ्ते में एक बार मौका मिलेगा और इससे कार्यक्रमों की संख्या बेहद कम हो जाएगी। यह बदलाव किसी भी समय हो सकता है। इससे प्रयागराज, कौशांबी, मिर्जापुर से वाराणसी, चित्रकूट, प्रतापगढ़, कौशाम्बी, रायबरेली और आसपास के हजारों लोक कलाकारों का नुकसान होगा।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

RAM Ratings: श्रोताओं की पसंद के मामले में सबसे आगे रहा यह रेडियो FM

देश के चार बड़े शहरों दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और बेंगलुरु के लिए वर्ष 2022 के 11वें हफ्ते से वर्ष 2022 के 14वें हफ्ते के बीच की ‘रेडियो ऑडियंस मीजरमेंट’ (RAM) रेटिंग्स जारी हो गई हैं।

Last Modified:
Friday, 13 May, 2022
FM Radio

देश के चार बड़े शहरों दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और बेंगलुरु के लिए वर्ष 2022 के 11वें हफ्ते से वर्ष 2022 के 14वें हफ्ते (13 मार्च 2022 से 09 अप्रैल 2022) के बीच की ‘रेडियो ऑडियंस मीजरमेंट’ (RAM) रेटिंग्स जारी हो गई हैं। इन रेटिंग्स के अनुसार, दिल्ली के साथ-साथ मुंबई में भी इस बार ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) का जलवा रहा है। इस दौरान कोलकाता में ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) टॉप पर रहा है, जबकि बेंगलुरु में ‘बिग एफएम’ (BIG FM) सबसे ज्यादा सुना गया है।

मुंबई में 12 साल से ऊपर आयुवर्ग के 12.2 मिलियन श्रोताओं में ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) का मार्केट शेयर इस दौरान 15.7 प्रतिशत रहा है और यह पहले नंबर पर रहा है। इस अवधि में 15.2 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर आ गया है, जबकि 14.7 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेड एफएम’ (Red FM) तीसरे नंबर पर रहा है। सुबह नौ बजे से 10 बजे तक और इसके बाद सुबह 11 बजे से दोपहर 12 बजे के बीच यहां रेडियो सबसे ज्यादा सुना गया।

दिल्ली में 12 साल से ऊपर आयुवर्ग के 16.5 मिलियन श्रोताओं में 22.3 प्रतिशत मार्केट शेयर के साथ ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) सबसे ज्यादा सुना गया है। दिल्ली के मार्केट में 14.2 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर रहा है। इस लिस्ट में 13 प्रतिशत शेयर के साथ ‘पंजाबी फीवर’ (Punjabi Fever)  तीसरे नंबर पर रहा है। यहां श्रोताओं की संख्या सबसे ज्यादा सुबह नौ बजे से सुबह 10 बजे के बीच रही।

बेंगलुरु के मार्केट की बात करें तो 30.5 प्रतिशत शेयर के साथ ‘बिग एफएम’ (BIG FM) इस लिस्ट में टॉप पर रहा है। वहीं, ‘रेडियो सिटी’ (Radio City) 28.3 प्रतिशत शेयर के साथ इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर रहा। ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) ने 15.6 प्रतिशत शेयर के साथ इस लिस्ट में तीसरा नंबर हासिल किया। यहां सुबह सात बजे से सुबह आठ बजे के बीच श्रोताओं की संख्या सबसे ज्यादा थी।

वहीं, कोलकाता को देखें तो यहां एफएम सुनने वाले 9.1 मिलियन श्रोताओं में 27.2 प्रतिशत शेयर के साथ ‘रेडियो मिर्ची’ (Radio Mirchi) टॉप पर रहा है, जबकि 23.8 प्रतिशत श्रोताओं के साथ ‘बिग एफएम’ (Big FM) इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर रहा। इसके बाद इस लिस्ट में 13 प्रतिशत के साथ ‘फीवर एफएम’ (Fever FM) का नंबर रहा है। सुबह नौ बजे से सुबह दस बजे के बीच यहां रेडियो सबसे ज्यादा सुना गया।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए