सूचना:
मीडिया जगत से जुड़े साथी हमें अपनी खबरें भेज सकते हैं। हम उनकी खबरों को उचित स्थान देंगे। आप हमें mail2s4m@gmail.com पर खबरें भेज सकते हैं।

प्रो. संजय द्विवेदी की उदार लोकतांत्रिक चेतना का प्रमाण उनकी सद्यः प्रकाशित पुस्तक ‘न हन्यते’ है। इस पुस्तक में दिवंगत हुए परिचितों, महापुरुषों के प्रति आत्मीयता से ओत-प्रोत संस्मरण और स्मृति लेख हैं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 5 months ago


पत्रकारिता की आड़ में वैचारिक जंग पर उतारू इन महारथियों को समझना होगा कि उनके व्यवहार से समूचे पेशे की बदनामी होती है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 5 months ago


सहारा न्यूज नेटवर्क के सीईओ व एडिटर-इन-चीफ उपेन्द्र राय को ब्रिटिश पार्लियामेंट के उच्च सदन (हाउस ऑफ लार्ड्स) के चोलमोंडेली कक्ष में सम्मानित किया गया।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 6 months ago


हिंदी पत्रकारिता दिवस पर 30 मई को मथुरा में आयोजित एक कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री की यह टिप्पणी आज के दौर के लिए मानी जा रही काफी प्रासंगिक

समाचार4मीडिया ब्यूरो 6 months ago


प्रो. संजय द्विवेदी ने कहा कि कृपाशंकर चौबे की पत्रकारिता अपने समय के सवालों पर सार्थक हस्तक्षेप करती है, चिंतन के नए द्वार खोलती है और समझ का विकास करती है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 6 months ago


30 मई 1826 को ‘उदंड मार्तंड’ नाम से जुगल किशोर शुक्ला ने पहला हिंदी अखबार के रूप में अंक प्रकाशित किया

समाचार4मीडिया ब्यूरो 6 months ago


आज हिंदी पत्रकारिता दिवस है। इसी दिन जुगल किशोर शुक्ल ने 30 मई, 1826 को पहले हिंदी समाचार पत्र उदंत मार्तण्ड का प्रकाशन प्रारंभ किया था।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 6 months ago


30 मई 'हिंदी पत्रकारिता दिवस' देश के लिए एक गौरव का दिन है। आज विश्व में हिंदी के बढ़ते वर्चस्व व सम्मान में हिंदी पत्रकारिता का विशेष योगदान है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 6 months ago


आज दुनिया के तमाम देश प्रगति और विकास की ओर तेजी से बढ़ते भारत को एक नई उम्मीद से देख रहे हैं। भारत की आर्थिक, सामाजिक और सांस्कृतिक यात्रा की एक नई शुरुआत हुई है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 6 months ago


हिंदी पत्रकारिता के इतिहास में 30 मई का खास महत्व है। यही कारण है कि 30 मई को हर साल हिंदी पत्रकारिता दिवस के रूप में मनाया जाता है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 6 months ago


जहां तक टीवी चैनलों का प्रश्न है, उनका मुख्य लक्ष्य है, पैसा कमाना। पैसा आता है टीआरपी से। दर्शक संख्या बढ़ाने से! चैनलों को अखबारों के मुकाबले ज्यादा मजबूरी होती है।

डॉ. वेद प्रताप वैदिक 6 months ago


अत्याधुनिक संचार साधनों के दौर में लोकतांत्रिक देशों के लिए नई समस्याएं सामने आ रही हैं।

आलोक मेहता 6 months ago


बड़े घरानों के हितों-स्वार्थों का संरक्षण करना आज के दौर की पत्रकारिता का विद्रूप चेहरा है। पत्रकारिता परदे के पीछे है और तमाम मीडिया घरानों के धंधे सामने हैं।

राजेश बादल 6 months ago


आज भी सवालों को उठाने वाली पत्रकारिता की धमक अलग से दिख जाती है, लेकिन ऐसा क्या हुआ कि हम सवालों से किनारा कर गए।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 6 months ago


परिवर्तन जीवन का हिस्सा है। यदि परिवर्तन का पहिया न घूमें तो हम और आप एक ही जगह, एक ही ढंग से खड़े नजर आएंगे

समाचार4मीडिया ब्यूरो 6 months ago


आज पूरे विश्व में हिंदी को जो सम्मान मिला है, उसमें हिंदी पत्रकारिता की अहम भूमिका रही है

समाचार4मीडिया ब्यूरो 6 months ago


'हिन्दुस्तान' समाचार पत्र के प्रधान संपादक शशि शेखर ने कहा कि डिजिटलाइजेशन ने पत्रकारों और पत्रकारिता को एक नई ताकत दी है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 6 months ago


30 मई को होने वाले इस समारोह में उत्कृष्ट कार्य करने वाले पत्रकारों तथा विभिन्न क्षेत्रों में कार्य कर रही प्रतिभाओं को सम्मानित भी किया जाएगा।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 6 months ago


‘ई4एम इंग्लिश जर्नलिज्म 40अंडर40’ समिट एंड अवॉर्ड्स के मौके पर ‘एक्सचेंज4मीडिया’ समूह के सीनियर एडिटर रुहैल अमीन के साथ बातचीत के दौरान ’टाइम्स नाउ’ के राहुल शिवशंकर ने खुलकर अपने विचार रखे

समाचार4मीडिया ब्यूरो 7 months ago


‘अच्छी खबर’ की एडिटर ऋचा जैन कालरा ने कहा, '18 साल टीवी में एंकरिंग करने के बाद मैंने जब डिजिटल की ओर कदम बढ़ाए तो मैंने महसूस किया कि टीवी में आपके पास एक बहुत सपोर्ट ग्रुप होता है

विकास सक्सेना 7 months ago