समाचार4मीडिया ब्यूरो फिल्म पत्रकारिता के चर्चित नाम मयंक शेखर के बारे में खबर है कि क्योंकि अब अपनी नई पारी मुंबई के चर्चित अखबार मिड डे के साथ शुरू की है। वे यहां एंटरटेनमेंट हेड के तौर पर जुड़े हैं। मयंक की ये मिडे के साथ दूसरी पारी है। मयंक ने अपनी करियर की शुरुआत भी इसी मीडिया संस्थान के साथ की थी। शेखर और उनकी टीम ने ही टाइम्स ऑफ इंडिया के बै

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


‘अकबर साहब उस सेकुलर मीडिया ब्रिगेड के नेता थे जिसमें एक छोर पर एनडीटीवी चैनल के छाते के नीचे राजदीप, बरखा दत्त, अरनब गोस्वामी गुजरात के दंगों का सच, नरेंद्र मोदी का सच दिखलाते थे तो दूसरे प्रिंट के छोर में एशियन एज, इंडियन एक्सप्रेस की ब्रिगेड में शेखर गुप्ता, आशीष नंदी आदि न जाने क्या-क्या लिखते थे।’ हिंदी दैनिक अखबार नया इंडिया में छपे अपने आलेख

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


‘लोकतंत्र के लिए जितनी जरूरी स्वस्थ राजनीति है, उतनी ही जरूरत स्वतंत्र पत्रकारिता की है। अपनी इस आजादी के लिए हम जूझते आए हैं, आगे भी जूझते रहेंगे। कुछ दिक्कतें जरूर हैं, पर रास्ते की दुश्वारियों की न हमारे पुरखों ने परवाह की, न हम करेंगे।’ हिंदी दैनिक अखबार हिन्दुस्तान में अपने आलेख के जरिए ये कहना है वरिष्ठ पत्रकार और हिन्दुस्तान अखबार के समूह सं

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


‘एक मेहमान से हाथ मिलाते हुए अचानक प्रधानमंत्री ने मेरी ओर देखा और हंसते हुए पूछा- ‘शशि, कैसे हो भैया?’ मैं चौंक गया।’ हिंदी दैनिक अखबार ‘हिन्दुस्तान’ में छपे अपनी टिप्पणी के जरिए ये कहा वरिष्ठ पत्रकार और प्रधान संपादक शशि शेखर ने। उनका पूरा आलेख आप यहां पढ़ सकते हैं: दो बरस बाद प्रधानमंत्री मोदी

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


‘कहने की जरूरत नहीं कि पत्रकारिता संसार के सबसे खतरनाक व्यवसायों में शामिल है। फिर लोग पत्रकारिता क्यों करते हैं? सिर्फ इसीलिए कि समाज को सच की जरूरत है और पत्रकारिता सत्य को सामने लाने का सबसे सशक्त माध्यम। हम शहादतें देते आए हैं, हम शहादतें देते रहेंगे तब तक जब तक इसकी जरूरत है।’ हिंदी दैनिक अखबार ‘हिन्दुस्तान’ में छपे अपनी टिप्पणी के जरिए ये कहा

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


<strong>समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।</strong> 'तुमने अब तक करियर में ऐसा क्या उखाड़ लिया है जो तुम्हारे बाप ने तुम्हें एक करोड़ की कार गिफ़्ट में दी है', सोचिए आपकी गर्लफ्रैंड आपको ऐसा बोले तो आप पर क्या गुज़रेगी। ये तो महज़ शुरुआत है, अगर आप डीएनए में अध्ययन सुमन का इंटरव्यू पढ़ेंगे तो आप अपनी फेवरेट हीरोइन कंगना रनौत का एक दूसरा और एकदम अजनबी चेहरा

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


&nbsp; समाचार4मीडिया ब्यूरो ये घटना 9 अप्रैल की है जब अचानक से अनुपम खेर एनआईटी के स्टूडेंट्स के आंदोलन को सपोर्ट करने के लिए उनसे मिलने श्रीनगर जा पहुंचे। जैसे ही ये खबर मार्केट में आई चैनल्स तो चैनल्स ट्विटर और फेसबुक पर भी पोस्ट वॉर शुरू हो गई। उनके फैन उनकी तारीफ में जुट गए तो विरोधी मजा लेने लगे। लेकिन कुछ पत्रकारों ने भी कमेंट किया,

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


‘आज जब जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय की घटनाओं पर देश बंटा हुआ दिख रहा है, तब मैं फख्र से कह सकता हूं, बीएचयू ने कभी देश के जनमानस को चोट पहुंचाने वाला रास्ता नहीं चुना।’ हिंदी दैनिक अखबार 'हिन्दुस्तान' में छपे अपने आलेख के जरिए ये कहना है वरिष्ठ पत्रकार शशि शेखर का। उनका पूरा आलेख आप यहां पढ़ सकते हैं: <strong>हम बीएचयू के लोग...</strong> <im

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। वरिष्ठ पत्रकार वाई.पी. राजेश दिग्गज पत्रकार शेखर गुप्ता के नए मीडिया वेंचर ‘द प्रिंट’ के साथ जुड़ गए हैं। उन्हें यहां एग्जिक्यूटिव एडिटर की जिम्मेदारी मिली है। शेखर गुप्ता का यह नया वेंचर नई दिल्ली से पिछले महीने यानी जनवरी में लॉन्च हुआ था। ‘द प्रिंट’ के साथ अपनी नई पारी शुरू करने की जानकारी राजेश

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


‘पिछले हफ्ते कोलंबो गया तो मैं भी स्मारक पर गया। रिपोर्टर के रूप में युद्ध को कवर करने की कई यादें ताजा हो गईं। यह अहसास भी फिर ताजा हुआ कि राजनीति कितनी सनकभरी तथा स्वार्थी हो सकती है और आईपीकेएफ सैनिकों जैसे सर्वाधिक सम्मानित लोग कैसे इसके शिकार हो सकते हैं।’ हिंदी अखबार दैनिक भास्कर में प्रकाशित अपने आलेख के जरिए ये कहना है जाने-माने संपादक और ट

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। वरिष्ठ पत्रकार शेखर गुप्ता और बरखा दत्त अब एक साथ मिलकर काम करेंगे। दरअसल दोनों ने साथ मिलकर एक नया न्यूज मीडिया वेंचर ‘द प्रिंट’ लॉन्च किया है। माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर के जरिए शेखर गुप्ता ने इसकी घोषणा की। उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा, ‘बरखा और मैं द प्रिंट को लॉन्च कर अपना पहला कदम बढ

समाचार4मीडिया ब्यूरो 5 years ago


नए साल के मौके पर हिन्दुस्तान के प्रधान संपादक शशि शेखर ने रविवार को प्रकाशित होने वाले अपने साप्ताहिक कॉलम 'आजकल'के जरिए इस बार पाठकों को वैशाली से रूबरू कराते हुए धर्म को लेकर फैलने वाले उन्माद का जिक्र करते हुए महावीर स्वामी और बुद्ध के संदेश के बारे में बताते हुए हर हिन्दुस्तानी से इसे सुनने का आग्रह करत हुए इसे नए साल का एक संकल्प के तौर पर बत

समाचार4मीडिया ब्यूरो 5 years ago


<div><strong>शिशिर शुक्ला</strong></div> <div><strong>समाचार4मीडिया.कॉम</strong></div> <div>अमर उजाल

समाचार4मीडिया ब्यूरो 5 years ago



<div><span style=color: #800000><strong>शशि शेखर, संपादक, हिंदुस्तान </strong></span></div> <div>प्र

समाचार4मीडिया ब्यूरो 5 years ago


<p><b>समाचार4मीडिया.कॉम ब्यूरो</b></p> <div>सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि अच्छी पत्रकारिता को &lsquo;

समाचार4मीडिया ब्यूरो 5 years ago


<p>समाचार4मीडिया.कॉम ब्यूरो</p> <div>रांची अखबारों को लेकर इन दिनों चर्चा में है। हिंदुस्तान को इस क

समाचार4मीडिया ब्यूरो 5 years ago


<div>समाचार4मीडिया.कॉम</div> <div>पत्रकारिता यदि प्रजातंत्र का चौथा स्तम्भ है, तो पत्रकार उस स्तम्भ

समाचार4मीडिया ब्यूरो 5 years ago


<p>समाचार4मीडिया.कॉम ब्यूरो</p> <div>मीडिया हमेशा से बाजार से प्रभावित रहा है और आगे भी रहेगा। आज वि

समाचार4मीडिया ब्यूरो 5 years ago


<div><span style=color: #800000><b>शशि शेखर, प्रधान संपादक, </b><b>&lsquo;</b><b>दैनिक हिन्दुस्तान</

समाचार4मीडिया ब्यूरो 5 years ago