आपातकाल लग चुका था। देश आजाद होने के बाद पहली बार प्रेस सेंसरशिप लगा दी गई थी...

समाचार4मीडिया ब्यूरो 2 weeks ago


प्रजातंत्रीय भारत में समाजवाद क्यों नहीं आ रहा है, इसका उत्तर तो स्पष्ट है। समाजवाद के रास्ते में...

समाचार4मीडिया ब्यूरो 2 weeks ago


राजेंद्र माथुर हिंदी पत्रकारिता में अमिट हस्ताक्षर के समान हैं। मालवा के साधारण परिवार में जन्मे राजेंद्र बाबू...

समाचार4मीडिया ब्यूरो 2 weeks ago


किसी व्यक्ति के नहीं रहने पर आमतौर पर महसूस किया जाता है कि वो होते तो यह होता...

समाचार4मीडिया ब्यूरो 2 weeks ago


एक जनवरी 1983, ‘नवभारत टाइम्स’ के मुम्बई संस्करण के समाचार संपादक रामसेवक श्रीवास्तव के घर...

समाचार4मीडिया ब्यूरो 2 weeks ago


अनुच्छेद 370 की विदाई कोई आसान काम नहीं था। कमोबेश हर दल इसके पक्ष में था, लेकिन सत्ता में रहते हुए उसे हटाने का साहस कोई नहीं कर पाया

राजेश बादल 2 weeks ago


राजेंद्र माथुर की पूरी जीवन यात्रा एक साधारण आम आदमी की कथा है। वे इतने साधारण हैं कि असाधारण...

समाचार4मीडिया ब्यूरो 2 weeks ago


पहले भी अन्य लोगों को चपत लगा चुके हैं आरोपित, मामले की जांच में जुटी पुलिस

पंकज शर्मा 2 weeks ago


यह जानने के बाद कि मैं जेएनयू के स्कूल ऑफ इंटरनेशनल स्टडीज में एमफिल कर रहा हूं तो उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर तमाम सवाल पूछे

समाचार4मीडिया ब्यूरो 2 weeks ago


अमर उजाला के आगरा संस्करण में भी काफी समय तक काम कर चुके हैं राजेंद्र त्रिपाठी

समाचार4मीडिया ब्यूरो 2 months ago


मीडिया रिपोर्टिंग पर प्रतिबंध लगाने की याचिका दिल्ली हाई कोर्ट ने खारिज कर दी है

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 3 months ago


नौ अप्रैल की दोपहर देश की हिंदी पत्रकारिता के इतिहास में यादगार दोपहर बन गई

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 4 months ago


वरिष्ठ पत्रकार और मीडिया ट्रेड यूनियन अभियान के अग्रणी नेता राजेंद्र प्रभु...

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 7 months ago


हिंदी पत्रकारिता के यशस्वी संपादक राजेन्द्र माथुर का स्मरण उनके जन्म दिन पर आज समाचार4मीडिया ने किया है...

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 1 year ago


वरिष्ठ पत्रकार और आउटलुक हिंदी पत्रिका के प्रधान संपादक आलोक मेहता ने अपनी किताब ‘सपनों में बनता देश’ में राजेन्द्र माथुर के बारे में लिखा है-

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 1 year ago


वरिष्ठ पत्रकार और लेखक शिवअनुराग पटैरया ने अपनी किताब ‘पकारिता के युग निर्माता- राजेंद्र माथुर’ में राजेंद्र माथुर के व्यक्‍त‌ित्व का कुछ इस तरह से विवेचन किया है:

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 1 year ago


बेस्ट स्पॉट रिपोर्टिंग के लिए साल 2015 में बहुप्रतिष्ठित...

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 1 year ago


हिंदी दैनिक अखबार ‘प्रभात खबर’ से जुड़े वरिष्ठ पत्रकार व कॉरपोरेट एडिटर...

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 1 year ago


समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। ‘बाजारवाद के चलते पत्रकारिता की साख कम हुई है, लेकिन अभी भी काफी उम्मीद कायम है।’ एक कार्यक्रम के दौरान ये कहा राज्यसभा टीवी के एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर व वरिष्ठ पत्रकार राजेश बादल ने। इस दौरान उन्होंने बताया कि वे जल्द ही वे राजेन्द्र माथुर

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 2 years ago


राजेन्द्र माथुर की केवल अंग्रेजी ही अच्छी नहीं थी, उनके पास नई भाषा को गढ़ने वाले मुहावरे थे। वे बातों को रूपक शैली में लिखते थे और वह शैली लोगों को बहुत पसंद आती थी...

समाचार4मीडिया ब्यूरो 2 years ago