कश्मीर मुद्दे पर टीवी पत्रकार प्रसून शुक्ला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक खुला खत लिखा है, जिसे आप यहां पढ़ सकते हैं: प्रधानमंत्री जी, जम्मू-कश्मीर की सैर पर गये चंद संपादक और बुद्धिजीवी यह साबित करने पर तुले हैं कि मसला प

समाचार4मीडिया ब्यूरो 3 years ago


प्रमोद जोशी वरिष्ठ पत्रकार ।। ‘डिजिटल-डेमोक्रेसी’ के पेचो-खम हाल में गूगल की एशिया-प्रशांत भाषा प्रमुख रिचा सिंह चित्रांशी ने राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्व

समाचार4मीडिया ब्यूरो 3 years ago


समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इंटरव्‍यू के प्रसारण को लेकर व्‍युअरशिप के मामले में Network18 Group ने नंबर वन का दावा किया है। उल्लेखनीय है कि ये इंटरव्यू नेटवर्क 18 के ग्रुप एडिटर राहुल जोशी ने किया था। एक तरह से ये राहुल जोशी का टीवी स्क्रीन पर डेब्यू भी था। Network18 Group  के हिन्‍दी चैनल IBN7 न्यूज चैनल का दावा है

समाचार4मीडिया ब्यूरो 3 years ago


<p style="text-align: justify;"><strong>समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।</strong></p> <p style="text-align: justify;">कानून की नजर में बलात्कार एक जघन्य अपराध है, फिर भी आए दिन महिलाएं इसका शिकार हो रही हैं। टीवी या अखबार में बलात्कारों के मामलों की खबर हर रोज देखने या पढ़ने को मिलती है।  'बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ' जैसी योजनाओं के बावजूद देश में बेटियां और महि

समाचार4मीडिया ब्यूरो 3 years ago


मीडिया और सत्ता के बीच के संबंध ही कुछ ऐसे ही होते हैं कि जब कोई वरिष्ठ पत्रकार किसी बड़ी राजनैतिक हस्ती का इंटरव्यू करता है तो वे इंटरव्यू टीआरपी भी खूब बटोरता है, पर जब वे पत्रकार उसी नेता या उसकी पार्टी की आलोचना करता है तो वे भी उसे खूब हाइप मिलती है। महीनों पहले जब आज

समाचार4मीडिया ब्यूरो 3 years ago


तो ये सच शुरु होता है दिल्ली के एक सितारा होटल में चाय पीते दो पत्रकार और ठीक सामने के टेबल पर बैठे चंद अनजान से चेहरों की नजरों के टकराने से। नजरें टकराती है और अनजान सा शख्स मुस्कुरा कर संकेत देता है कि वह पत्रकारों को पहचान रहा है। पत्रकार कोई रुचि नहीं दिखाते। अपनी अपनी बातो में मशगूल दोनों के ही टेबल पर चाय की च

समाचार4मीडिया ब्यूरो 3 years ago


वर्तमान में हिंदी पत्रकारिता के चिर-परिचित चेहरों में अपनी अलग छवि रखने वाले वरिष्ठ पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी ने आज की मीडिया और सत्ता के साथ उसके रिश्तों को लेकर अपने पर्सनल ब्लॉग पर एक पोस्ट लिखी है। हम उस ब्लॉग का चुनिंदा अंश यहां प्रकाशित कर रहे है... &nbsp; किन्हें नाज है मीडिया पर... पुण्य प्रसून बाजपे

समाचार4मीडिया ब्यूरो 3 years ago


समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। इंडिया टीवी के सीईओ पारितोष जोशी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने यहां एक साल से भी कम समय तक ही काम किया है। जोशी 2 नवंबर, 2015 को इंडिया टीवी के साथ जुड़े थे। इंडिया टीवी में जुड़ने से पहले ज

समाचार4मीडिया ब्यूरो 3 years ago


समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। इंडिया टुडे ग्रुप (India Today Group) से पद्मजा जोशी के जुड़ने की खबर है। उन्हें यहां एडिटर बनाया गया है। जोशी इससे पहले टाइम्स नाउ (Times Now) में कार्यरत थीं और यहां वे न्यूज एडिटर की जिम्मेदारी संभाल रहीं थीं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


‘चालीस साल पहले संघर्ष करते पत्रकार और मीडिया हाउस आपातकाल में भी दिखाई जरूर दे रहे थे...

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। आर्थिक भंवर में फंसे सहारा न्यूज नेटवर्क में मीडियाकर्मियों की छंटनी का सिलसिला लगातार जारी है। इस बीच खबर मिली है कि इस कड़ी में ग्रुप इनपुट हेड प्रसून शुक्ला को भी शामिल किया गया है। वे अब सहारा न्यूज नेटवर्क से अलग हो गए हैं। बता दें यहां ये इनकी दूसरी दूसरी पारी थी। इससे पहले भी वे लग

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


‘भारत में फेसबुक लोकप्रिय है तो इसकी कोई वजह है। मुझे लगता है हमें बकवास पसंद है। उसका अपना आनंद है।’ अपने फेसबुक वॉल क जरिए ये कहा वरिष्ठ पत्रकार प्रमोद जोश ने। उनका पूरा पोस्ट आप यहां पढ़ सकते हैं:

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


‘यूपी में बीजेपी का चेहरा होगा कौन यह सवाल बीजेपी के माथे पर शिकन पैदा करता है क्योंकि सोशल इंजीनियरिंग वोट दिला सकते है लेकिन यूपी का चेहरा कैसे दुरस्त हो यह फॉर्मूला किसी के पास नहीं है, क्योंकि यूपी का सच खौफनाक है।’ अपने ब्लॉग (prasunbajpai.itzmyblog.com) के जरिए ये कहना है वरिष्ठ पत्रकार पुण्य प

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। हिंदी पत्रकारिता प्रोफेशनल नहीं रह सकती, इसलिए जरूरी है कि देश में एक वैकल्पिक स्थिति बने जहां जरूरी मुद्दों पर बहस की जा सके। हिंदी पत्रकारिता दिवस पर सोमवार को बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के कृषि विज्ञान संस्थान के सेमिनार हॉल मे ये बातें पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी ने कहीं। उन्होंने कहा कि

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। पिछले साल नवंबर महीने में वरिष्ठ पत्रकार निशीथ जोशी हिंदी दैनिक अखबार अमर उजाला के एडिटर पद से रिटायर हो गए थे। लेकिन इसके बाद उन्हें कई मीडिया संस्थानों  से बेहतरीन ऑफर मिले, लेकिन उन्होंने कहीं जॉइन नहीं किया। अब खबर है कि हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला से वह अपनी नई पारी ‘हिमाचल दस्तक’ के साथ शुरू कर रहे है

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। कानपुर से भाजपा सांसद मुरली मनोहर जोशी ने शुक्रवार को इस कदर आग बबूला कि उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मीडिया की गन माइक उठाकर फेंक दिया। दरअसल, हुआ यूं कि शुक्रवार को जब वरिष्‍ठ भाजपा नेता मुरली मनोहर जोशी कानपुर में एक प्रेस कॉन्प्रेंस को संबोधित कर रहे थे। वे इस दौरान मोदी सरकार की उपलब्धिया

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


अभिषेक मेहरोत्रा ।। हिंदी बिजनेस न्यूज चैनल सीएनबीसी आवाज को जहां एक ओर वरिष्ठ पत्रकार और एडिटर-इन-चीफ संजय पुगलिया ने अलविदा कह दिया है, ऐसे में प्रबंधन ने वहां कार्यरत दो वरिष्ठ पत्रकारों का प्रमोशन कर उन्हें चैनल की जिम्मेदारी सौंप दी है। मिली जानकारी के मुताबिक चैनल में एग्जिक्यूटिव एडिटर के तौर पर कार्यरत आलोक जोशी को अब

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। पिछले कई महीनों से देश के किसी न किसी राज्य में पत्रकारों के साथ अनहोनी हो रही है। छत्तीसगढ़ हो या बिहार, झारखंड हो या बंगाल, कई राज्यों से पत्रकारों पर हमला और उनकी हत्याओं की खबरें आ रही है। ऐसे में जब पत्रकार ही सुरक्षित नहीं रह पा रहे हैं, तो पत्रकारिता के दम कैसे सच हो समाज के सामने लाया जाए।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


‘करोड़ो रुपयों के विज्ञापन इस पर फूंके जा रहे हैं कि बोतलबंद पानी का कोई मुकाबला नहीं है। लेकिन सच यह भी है कुकरमुत्ते की तरह बोतलबंद पानी बेचने वाली कंपनिया उग तो आईं लेकिन उसमें भी कीटनाशको की मिलावट है और यह सेंटर फॉर साइंस एंड एन्वायरमेंट की रिसर्च में सामने आया।’ अपने ब्लॉग (prasunba

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


‘अंतर सिर्फ इतना आया है कि उस वक्त लोहिया संसद के भीतर बाहर यह सवाल उठाते थे कि नेहरू पर प्रतिदिन का खर्चा 25 हजार रुपए है जबकि एक आम आदमी तीन आने में जीता है और अब संसद के भीतर बाहर कोई राजनेता नहीं कहते कि 80 करोड़ लोग तो अब भी 20 रुपए में जीते है तो फिर संसद में बैठे 85 फीसदी लोग करोड़पति कैसे हो गए।’ अपने ब्लॉग (

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago