‘हरियाणा में आरक्षण को लेकर जाटों द्वारा जारी आंदोलन के बीच आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि आरक्षण की पात्रता पर फैसला करने के लिए एक गैर-राजनीति समिति का गठन किया जाना चाहिए।’ इसी संदर्भ में हिंदी दैनिक अखबार ‘नया इंडिया’ में वरिष्ठ पत्रकार डॉ. वेद प्रताप वैदिक का एक आलेख प्रकाशित हुआ है, जिसे आप यहां पढ़ सकते हैं: मोहन भागवत की तो स

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 3 years ago


पाकिस्तान ने जैश-ए-मोहम्मद के खिलाफ कार्रवाई को अंजाम देना शुरू कर दिया है। सियालकोट में गुरुवार को जैश के एक दफ्तर पर छापेमारी की गई, जहां से करीब 25 लोगों को हिरासत में लिया गया है। वहीं, पाकिस्तानी पंजाब प्रांत के प्रवक्ता जईम कादरी ने जैश सरगना मौलाना मसूद अजहर को हिरासत में लिए जाने की पुष्टि भी कर दी है। इसी संदर्भ में हिंदी दैनिक अखबार ‘नया

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 3 years ago


<p><strong>&nbsp;समाचार4मीडिया.कॉम ब्यूरो</strong></p> <div>प्रबल प्रताप सिंह ने आईबीएन-7 से इस्तीफा

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 3 years ago


<p><strong>&nbsp;समाचार4मीडिया.कॉम ब्यूरो</strong></p> <div>समकालीन हिन्दी कविता के विशिष्ट सम्मान &

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 3 years ago


<div><b>समाचार4मीडिया.कॉम</b></div> <div><b>वेद प्रताप वैदिक, वरिष्ठ पत्रकार एवं राजनैतिक विश्लेषक</

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 3 years ago


<div>समाचार4मीडिया.कॉम ब्यूरो</div> <div>करीबी सूत्रों के अनुसार, प्रताप सुतान ने नेशनल क्रिएटिव डाय

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 3 years ago


<p>समाचार4मीडिया.कॉम ब्यूरो</p> <p>मीडिया का विस्तार: अवसर और चुनौतियां में तीन मुद्दे हैं। विस्तार,

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 3 years ago



<p><strong>समाचार4मीडिया.कॉम ब्यूरो</strong></p> <div>वरिष्ठ पत्रकार और &lsquo;न्यूज़-17&rsquo; के इ

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 3 years ago


भाजपा के महासचिव राम माधव ने हाल ही अल-जज़ीरा को दिए इंटरव्यू में कहा कि भारत-पाकिस्तान और बांग्लादेश एक दिन फिर से बिना युद्ध किए एक होंगे और अखंड भारत का निर्माण करेंगे और यही उनका भी सपना है। हालांकि उनके इस बयान ने राजनीतिक महकमों हलचल मचा दी, और उन्हें अपने इस बयान पर माफी मांगनी पड़ी। इसी संदर्भ में हिंदी दैनिक अखबार ‘नया इंडिया’ में छपे अपने

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 3 years ago


हिट एंड रन केस में बॉम्बे हाईकोर्ट ने सलमान खान की सजा के खिलाफ अपील पर फैसला सुनाते हुए उन्हें बरी कर दिया है। कोर्ट ने सलमान को सभी आरोपों से बरी कर दिया है। इसी संदर्भ में हिंदी दैनिक अखबार 'नया इंडिया' में छपे अपने आलेख के जरिए ये कहना है वरिष्ठ पत्रकार डॉ. वेदप्रताप वैदिक का उनका पूरा आलेख आप यहां पढ़ सकते हैं: अदालत और सलमान: दोनों का न

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 3 years ago


अखबार नेशनल हेराल्ड मामले में कांग्रेस सांसदों के जोरदार विरोध के कारण दोनों सदनों की कार्रवाई लगातार बाधित हो रही है। आलम ये है कि तीखी बहस सदन की कार्यवाही को आगे बढ़ने ही नहीं दे रही है। इसी संदर्भ में हिंदी दैनिक अखबार नया इंडिया में वरिष्ठ पत्रकार डॉ. वेद प्रताप वैदिक का एक आलेख प्रकाशित हुआ है, जिसे आप यहां पढ़ सकते हैं : कांग्रे

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 3 years ago


दिल्ली उच्च न्यायालय ने हाल ही में दिल्ली शहर की तुलना 'गैस चेम्बर' से की थी, जिसके बाद केजरीवाल सरकार ने देश की राजधानी की हवा सांस लेने लायक बनाने के लिए पिछले हफ्ते कार चलाने से संबंधित सम-विषम नंबर योजना का ऐलान किया था। इसी संदर्भ में वरिष्ठ पत्रकार डॉ. वेद प्रताप वैदिक ने ‘नया इंडिया’ में छपे अपने आलेख के जरिए ‘आप’ सरकार की इस फैसले को तुगलकी

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 3 years ago


अपनी कलम के जरिए बेबाकी से अपनी बात कहने के लिए मशहूर पत्रकार डॉ. वेद प्रताप वैदिन ने नया इंडिया अखबार के अपने नियमति कॉलम में इस बार प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ की है। हम उनका कॉलम आपके साथ हूबहू शेयर कर रहे हैं... प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद में जो कई बातें एक साथ कहीं, उनसे यह निष्कर्ष निकलता है कि उनकी रेलगाड़ी अब पटरी पर आ रही है। पिछ

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 3 years ago


समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। आगरा के तेजतर्रार वरिष्ठ पत्रकार डॉ. भानु प्रताप सिंह ने पत्रिका समूह संग फिर से पारी शुरू की है। इस बार उन्हें आगरा में पत्रिका डॉट कॉम का एडिटोरियल हेड बनाया गया है। उन्होंने कार्यभार संभाल लिया है। इससे पहले वे 2010 में पत्रिका के आगरा और अलीगढ़ मंडल के ब्यूरोचीफ रह चुके हैं। गौरतलब है कि पत्रिका समू

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 3 years ago


जानी-मानी बांग्लादेशी लेखिका तस्लीमा नसरीन का कहना है कि भारत में ज्यादातर सेक्युलर हिंदू विरोधी और मुस्लिम समर्थक हैं। तस्लीमा ने यह बयान हाल ही में कई भारतीय लेखकों द्वारा अपने पुरस्कार लौटाए जाने के संदर्भ में दिया है। उनके इस बयान के संदर्भ में वरिष्ठ पत्रकार डॉ. वेद प्रताप वैदिक का एक आलेख ‘नया इंडिया’ में प्रकाशित हुआ, जिसे हम अपने पाठकों के

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 3 years ago


‘हमारे साहित्यकार खुद बड़े अवसरवादी और दब्बू लोग हैं। पुरस्कारों और सम्मानों के लिए मामूली नेताओं और अफसरों के तलवे चाटते फिरते हैं। अब वे भारत में तानाशाही की शिकायत करते हैं। मोदी की दादागीरी का दबे-छिपे ढंग से इशारा करते हैं। साफ लिखने और बोलने की हिम्मत उनमें नहीं है। यदि उन्हें मोदी या उसकी पार्टी या उसके समर्थकों पर गुस्सा है तो उसे लिखकर, बो

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 3 years ago


‘कलाकारों से यह उम्मीद करना कि वे राजनीति में सीधी दखलंदाजी करें, ज़रा ज्यादती है। बेहतर हो कि हम कला को राजनीति के दलदल में न घसीटें।’ हिंदी दैनिक अखबार 'नया इंडिया' के जरिए ये कहना है डॉ. वरिष्ठ पत्रकार वेद प्रताप वैदिक का। उनका पूरा आलेख आप यहां पढ़ सकते हैं: <strong> गुलाम अली: शिवसेना का कुतर्क</strong> <a href="http://www.samachar4media.

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 3 years ago


‘आरक्षण की अटपटी और अवैज्ञानिक व्यवस्था के कारण भारत की विभिन्न जातियों में गृहयुद्ध की नौबत न पैदा हो जाए, इसीलिए सरकार और सारे देश को मोहनजी के सुझाव पर ध्यान देना चाहिए।’ हिंदी दैनिक अखबार नया इंडिया में प्रकाशित अपने आलेख के जरिए ये कहना है वरिष्ठ पत्रकार डॉ. वेदप्रताप वैदिक का। उनका पूरा आलेख आप यहां पढ़ सकते हैं: आरक्षण: भागवत का स

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 3 years ago


‘राजनीतिक दलों को ‘सार्वजनिक संस्थान’ (पब्लिक अथारिटी) नहीं मानना सबसे बड़ा ढोंग है। सरकारी विभागों से भी ज्यादा सार्वजनिक कोई है तो ये राजनीतिक दल हैं। इनकी वित्तीय स्थिति ही नहीं, इनकी आंतरिक बहस, निर्णय और उसकी प्रक्रियाएं भी सार्वजनिक की जानी चाहिए।’ दैनिक अखबार ‘नया इंडिया’ में प्रकाशित अपने अपने आलेख के जरिए ये कहना है वरिष्ठ पत्रकार डॉ. वे

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। 3 years ago