समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। वरिष्ठ पत्रकार आलोक तोमर की याद में लखनऊ की डॉ. शकुंतला मिश्रा नेशनल रिहेबिलिटेशन यूनिवर्सिटी स्वर्ण पदक शुरू करने जा रही है, जो कि एमए टॉपर को दिया जाएगा। विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. निशीथ राय ने बताया कि दीक्षांत समारोह 28 मई को सुबह 10.45 बजे यूनिवर्सिटी के ऑडिटोरियम में होगा। समारोह की अध्यक्षता उत

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


‘असामाजिक और सांप्रदायिक तत्व पाकिस्तान की तरह मीडिया को दबाने-कुचलने की कोशिश करने लगे हैं। इसे किसी राज्य का विषय न मानकर राष्‍ट्रीय स्तर पर राजनीतिक प्रशासनिक ढंग से विचार होना चाहिए।’ हिंदी मैगजीन ‘आउटलुक’ के वेबपोर्टल पर पब्लिश हुए अपने आलेख के जरिए ये कहना है प्रधान संपादक और वरिष्ठ पत्रकार आलोक मेहता का। उनका पूरा आलेख आप यहां पढ़ सकते हैं:

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। मैं तो अभी भी मानता हूं कि हमारे पास कई देशों से ज्यादा प्रेस फ्रीडम है। बस हमारे संपादकों को उस फ्रीडम को बनाए रखना है, ये कहना है वरिष्ठ पत्रकार आलोक मेहता का। पिछले हफ्ते विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस के मौके पर यूनेस्को द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में ऐसा कहा आलोक मेहता ने। उनका कहना है कि मीडिया पर प

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


‘आज भी देश के विभिन्न क्षेत्रों में हजारों पत्रकार ईमानदारी और निष्पक्षता के साथ काम कर रहे हैं। लेकिन धंधेबाज वर्ग के कारण संपूर्ण मीडिया कठघरे में खड़ा दिखता है। समय आ गया है, जबकि दोषी मीडियाकर्मियों को बख्‍शा नहीं जाए।’ हिंदी मैगजीन ‘आउटलुक’ के वेबपोर्टल पर पब्लिश हुए अपने आलेख के जरिए ये कहा प्रधान संपादक और वरिष्ठ पत्रकार आलोक मेहता का। उनका

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


‘कांग्रेस के प्रवक्ता मनमोहन सिंह और ए.के. एंटनी की ईमानदारी का दावा करते हुए हेलीकॉप्टर घोटाले में अपनी सरकार का दामन बेदाग बता रहे हैं। लेकिन मनमोहन सिंह क्यों मौन हैं? सारे पुण्य के साथ सत्ता के किसी पाप के छींटों को स्वीकारने से उन्हें परहेज क्यों है?’ हिंदी मैगजीन ‘आउटलुक’ के वेबपोर्टल पर पब्लिश हुए अपने आलेख के जरिए ये कहा प्रधान संपादक और वर

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


‘राजस्थान की नगरपालिकाओं, नगर परिषदों और नगर निगमों में फिजूलखर्ची की एक बुरी तस्वीर सामने आई है। प्रदेश के स्थानीय निकायों में जनप्रतिनिधियों, विशेष मेहमानों और अन्य लोगों को पगड़ियां पहनाने,शॉल ओढ़ाने, गुलदस्ते भेंट करने और मोमेंटो देने में ही 30 करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च हो जाते हैं। अगर इसमें फोटोग्राफी और विडियोग्राफी का खर्च भी जोड़ लें तो यह

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


भारत की विदेशमंत्री सुषमा स्वराज के ईरान दौरे के दौरान राष्ट्रपति हसन रूहानी के साथ मुलाकात के समय पहनी गई पोशाक पर सोशल मीडिया में सवाल उठ रहे हैं। जहां कुछ लोगों ने सुषमा के शॉल से सिर ढकने पर सवाल उठाना शुरू कर दिए तो कुछ ने उनके इस कदम की तारीफ की है। इसी संदर्भ में वरिष्ठ पत्रकार आलोक मेहता का एक आलेख हिंदी पत्रिका आउटलुक के डिजिटल प्लेटफॉर्म

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। आलोक मिश्रा मुंबई में एंटरटेमेंट की गलियों के युवा चेहरे हैं और खुद को टीवी वाले मिश्राजी कहते हैं, वजह भी है, आलोक ने शुरुआत टीवी सीरियल्स की रिपोर्टिंग से ही की थी। आज भी एंटरटेमेंट टीम के साथ काम कर रहे हैं, एक बार पहले भी टीवी18 ग्रुप के साथ काम कर चुके आलोक ने फिर से टीवी18 ग्रुप ही जॉइन कर लिया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


एक नामी व्यापारिक समूह के युवा प्रबंध निदेशक ने अनौपचारिक बातचीत में मुझसे कहा था-‘कंपनी के कार्यकारी निदेशक रिश्ते में हमारे ताऊजी हैं और मैं पैर छूकर उनका अभिवादन करता हूं, लेकिन अब कामकाज के मामले उनकी बातें और पारंपरिक नीतियां मुझे कतई स्वीकार नहीं हैं। मेरी नजर में यह रवैया पाखंड ही कहा जाना चाहिए। हिंदी मैगजीन ‘आउटलुक’ के वेबपोर्टल पर पब्लिश

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


समाचार4मीडिया ब्यूरो हिंदी पत्रकारिता का एक जाना-माना चेहरा पत्रकार आलोक तोमर भले ही आज हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन वो आज भी हमारी यादों में जिंदा हैं। उन्हीं की याद में एक स्मृति सभा का आयोजन किया जाएगा। ‘यादों में आलोक’ नाम से इस कार्यक्रम का आयोजन डेटलाइन इंडिया की तरफ से होगा और यह कार्यक्रम 20 मार्च, 2016 को नई दिल्ली स्थित क

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


समाचार4मीडिया ब्यूरो ।। अब दर्शक कई ऐसे बड़े संपादकों से रूबरू होंगे जिन्होंने आजादी के बाद के देश को न सिर्फ समझा है, बल्कि उस पर अपनी पैनी कलम भी चलाई है। ऐसे कई संपादकों के

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


‘समाचार माध्यमों के विस्तार एवं सोशल मीडिया आने के बाद अभिव्यक्ति के अधिकार, स्वतंत्रता और राष्ट्रद्रोह की परिभाषा पर नए सिरे से गंभीरतापूर्वक विचार होना चाहिए।’ हिंदी मैगजीन ‘आउटलुक’ में छपे अपने आलेख के जरिए ये कहा प्रधान संपादक और वरिष्ठ पत्रकार आलोक मेहता ने।  उनका पूरा आलेख आप यहां पढ़ सकते हैं: चर्चाः अभिव्यक्ति पर नई तोप

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


<div class="captn">'डिजिटल और स्किल इंडिया के बड़े कार्यक्रमों के बावजूद बेरोजगार युवाओं की संख्या में कई गुना वृद्धि हो गई। शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में केंद्र ने बजट में कटौती की और ठीकरा राज्य सरकारों के माथे पर फोड़ दिया। राज्य सरकारों की आर्थिक हालत पहले ही खस्ता है।' हिंदी मैगजीन 'आउटलुक' में छपे अपने आलेख के जरिए ये कहा प्रधान संपादक औ

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


अभिषेक मेहरोत्रा हिंदी आउटलुक मैगजीन की कमान वरिष्ठ पत्रकार आलोक मेहता को मिल जाने के बाद अब खबर है कि जल्द ही मैगजीन के कंटेंट और कलेवर में बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा। इस नए बदलाव के बारे में आलोक मेहता से पूछने पर उनका कहना है कि कई नई चीजें पाइपलाइन में है। हमारा मुख्य फोकस इस बात पर है कि मैगजीन को किस तरह एक पूरे परिवार के लि

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


<div>पिछले पांच वर्षों से जी न्यूज के साथ जुड़े रहे सीईओ वरुण दास अपना प्रोजेक्ट शुरू करने जा रहे है

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


<p>समाचार4मीडिया.कॉम ब्यूरो</p> <div>देश के जाने माने और चर्चित पत्रकार आलोक तोमर और स्तंभकार डॉ.दिल

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


<div>&nbsp;<strong>&nbsp;सुधीर तैलंग, मशहूर कार्टूनिस्ट</strong></div> <div>जब मेरी और आलोक की दोस्त

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


<div><strong>बिश्वजीत भट्टाचार्य, वरिष्ठ पत्रकार</strong></div> <div>अभी चंद दिनों पहले आलोक जी से ब

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


<p>समाचार4मीडिया.कॉम ब्यूरो</p> <div>दिवंगत वरिष्ठ पत्रकार और डेटलाइन इंडिया के संपादक स्वर्गीय आलोक

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago


<div><strong>राम बहादुर राय, वरिष्ठ पत्रकार</strong></div> <div>1983 में जब जनसत्ता शुरू हुआ, तो वहा

समाचार4मीडिया ब्यूरो 4 years ago