शेखर गुप्ता के ‘कल’ पर जोस कोवाको की कॉमेडी मचा रही धमाल

लॉकडाउन के मौसम में यदि आप किराना या सब्जी की होम डिलीवरी के लिए फोन लगाते हैं, तो अव्वल तो फोन लगेगा नहीं और यदि लग भी गया तो जवाब होगा ‘अभी संभव नहीं है, कल देखते हैं’।

Last Modified:
Tuesday, 31 March, 2020
shekhar gupta

लॉकडाउन के मौसम में यदि आप किराना या सब्जी की होम डिलीवरी के लिए फोन लगाते हैं, तो अव्वल तो फोन लगेगा नहीं और यदि लग भी गया तो जवाब होगा ‘अभी संभव नहीं है, कल देखते हैं’। इस सामान्य किंतु परेशान करने वाले जवाब को कॉमेडियन जोस कोवाको ने एक अनोखे अंदाज में पेश किया है। अंदाज कुछ ऐसा है कि आप अपनी हंसी नहीं रोक पाएंगे।

वरिष्ठ पत्रकार और ‘द प्रिंट’ के संस्थापक शेखर गुप्ता तो जोस की इस कॉमेडी से इतना प्रभावित हुए कि उसे अपने सोशल मीडिया हैंडल पर पोस्ट ही कर दिया। वैसे, शेखर गुप्ता के प्रभावित होने की एक वजह उनका अप्रत्यक्ष रूप से कॉमेडी का हिस्सा होना भी है। दरअसल, जोस कोवाको ने शेखर के पुराने विडियो को इस्तेमाल करके अपना कॉमेडी विडियो तैयार किया है। इस विडियो में शेखर आने वाले कल के बारे में बात कर रहे हैं और जोस ने यह बताने का प्रयास किया है कि वो कल कभी आता ही नहीं है। यानी अगर आप होम डिलीवरी के लिए फोन करेंगे, तो जिस कल की बात की जायेगी, ये वही कभी न आने वाला ‘कल’ होगा।

शेखर गुप्ता ने जोस के विडियो को शेयर करते हुए लिखा है, ‘दोस्तों आप मुझे धन्यवाद कहेंगे, क्योंकि मैंने आपको इस माहौल में हंसने का मौका दिया है। मैंने अब तक सैंकड़ों मीम देखे हैं, लेकिन इसके जैसा कोई नहीं लगा’।

इस विडियो में दिखा गया है कि जोस कोवाको एक सब्जी विक्रेता से होम डिलीवरी की बात करते हैं और जवाब में शेखर के संपादित विडियो को प्ले किया जाता है, जिसमें वह ‘कल’ की बात करते हैं। जोस दूसरे विडियो के साथ इसी तरह एडिटिंग करके कॉमेडी करने के लिए पहचाने जाते हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति के भारत दौरे को लेकर भी उनका कॉमेडी विडियो काफी वायरल हुआ था। इस विडियो में वे एक कॉल सेंटर के प्रतिनधि के किरदार में नजर आये थे और डोनाल्ड ट्रंप को कुछ प्रश्न कर रहे थे।      

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

अखिलेश शर्मा बोले-इन देश विरोधी ताकतों को इसी तरह फौलादी कदमों से कुचलने की जरूरत है

यह छापेमारी टेरर फंडिंग से जुड़ी पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) की गतिविधियों में शामिल और धरना प्रदर्शन करने वाले लोगों पर की गई है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 22 September, 2022
Last Modified:
Thursday, 22 September, 2022
akhilesh sharma ndtv

नेशनल इंवेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) ने आज सुबह 11 राज्यों में ताबड़तोड़ छापेमारी की है। यह छापेमारी PFI से जुड़े लोगों पर की गई है, जिसमें 11 राज्यों से 106 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। यह छापेमारी टेरर फंडिंग से जुड़ी पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) की गतिविधियों में शामिल और धरना प्रदर्शन करने वाले लोगों पर की गई है। 

बड़ी बात यह है कि केरल के मंजेरी में PFI के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओएमएस सलाम को गिरफ्तार कर लिया गया है। इसके अलावा दिल्ली PFI हेड परवेज अहमद के घर भी छापेमारी कर उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया गया। इतना ही नहीं PFI के पूर्व कोषाध्यक्ष नदीम की भी बाराबंकी से गिरफ्तारी की गई है। 

यह छापेमारी केरल में बड़े पैमाने पर हुई है। केरल से सबसे ज्यादा 22 लोगों की गिरफ्तारी हुई है इसके अलावा महाराष्ट्र और कर्नाटक से 20, तमिलनाडु से 10, असम से 9, उत्तर प्रदेश से 8, आंध्र प्रदेश से 5, दिल्ली और पुडुचेरी से 3 जबकि राजस्थान से 2 लोगों को हिरासत में लिया गया है। 

इस छापेमारी पर वरिष्ठ पत्रकार और एनडीटीवी के एग्जिक्यूटिव एडिटर अखिलेश शर्मा ने अपनी राय व्यक्त करते हुए सरकार की तारीफ़ की है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, 'आतंकवाद, नक्सलवाद और कट्टरपंथी ताक़तों के खिलाफ कार्रवाई में पिछले कुछ महीनों में अचानक तेज़ी आई है और इसका सीधा सकारात्मक असर आंतरिक सुरक्षा पर दिखने लगा है। इन देश विरोधी ताक़तों को इसी तरह फ़ौलादी कदमों से कुचलने और जड़ से समाप्त करने की आवश्यकता है।'

उनके द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं।

 

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

मुरादाबाद केस को लेकर वरिष्ठ पत्रकार रूबिका लियाकत का फूटा गुस्सा, उठाई ये मांग

पुलिस के मुताबिक यह घटना एक सितम्बर की है। रिश्तेदारों की शिकायत के बाद आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली गई है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 22 September, 2022
Last Modified:
Thursday, 22 September, 2022
Rubika Liyaquat

देश में महिलाओं के खिलाफ दिन प्रतिदिन हैवानियत की नई-नई घटनाएं सामने आती रहती हैं लेकिन कोई भी सरकार दरिंदों को कब्जे में नहीं कर पा रही है। अब एक और खबर उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद से सामने आई है, जहां हैवानों ने एक किशोरी के साथ दुष्कर्म करने के बाद उसे निर्वस्त्र सड़क पर छोड़ दिया। यह मामला मुरादाबाद के भोजपुर इलाके का बताया जा रहा है। 

आपको बता दें कि इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें साफ देखा जा सकता है कि पीड़ित लड़की सड़क किनारे चल रही है। पुलिस के मुताबिक यह घटना एक सितम्बर की है। रिश्तेदारों की शिकायत के बाद आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली गई है। 

पीड़िता को हैवानों ने अपना शिकार बनाने के बाद सड़क पर निर्वस्त्र छोड़ दिया, जिसके बाद उसे घर तक ऐसे ही जाना पड़ा। इसका सीसीटीवी फुटेज भी वायरल हो रहा है, जिसमें साफ तौर पर इसे देखा जा सकता है। 

वरिष्ठ पत्रकार और वर्तमान में एबीपी न्यूज की सीनियर एंकर रूबिका लियाकत ने इस घटना की कड़े शब्दों में इसकी निंदा की है और दोषियों को सीधा फांसी की सजा देने की मांग की है। रूबिका लियाकत ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'दरिंदों को तारीख पर तारीख नहीं, तुरंत फाँसी मिलनी चाहिए।'

उनके द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं। 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

इलाहाबाद विवि की घटना पर ब्रजेश मिश्रा ने किया ट्वीट, आंदोलनरत छात्रों से की ये अपील

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों का आंदोलन थमने का नाम नहीं ले रहा है। दरअसल, करीब दो महीने से छात्र फीस वृद्धि के मुद्दे पर आंदोलित हैं और इस आदेश को वापस लिए जाने की मांग कर रहे हैं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 20 September, 2022
Last Modified:
Tuesday, 20 September, 2022
Brajesh Mishra

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों का आंदोलन थमने का नाम नहीं ले रहा है। दरअसल, करीब दो महीने से छात्र फीस वृद्धि के मुद्दे पर आंदोलित हैं और इस आदेश को वापस लिए जाने की मांग कर रहे हैं।

यही नहीं, करीब 15 दिनों से विश्वविद्यालय के तमाम छात्र आमरण अनशन पर बैठे हुए हैं। इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्रसंघ भवन पर पुलिस और छात्रों के बीच झड़प भी हुई है। इस बीच विश्वविद्यालय के एक छात्र द्वारा आत्मदाह का प्रयास किए जाने के बाद मामला और बिगड़ गया है।

बताया जाता है कि आदर्श सिंह भदौरिया नाम के इस छात्र नेता ने  आमरण अनशन पर बैठे छात्रों और उनके सहयोगियों के घर पर पुलिस दबिश के विरोध में खुद पर केरोसिन छिड़क लिया और आत्मदाह का प्रयास किया। हालांकि, पुलिस ने उसे पकड़ लिया। घटना के बाद छात्रों और पुलिस में हाथापाई हुई, पुलिस ने छात्रों को गिरफ्तार करने की कोशिश की। इस बीच आंदोलनकारी छात्रों के खिलाफ विश्‍वविद्यालय प्रशासन ने एफआईआर दर्ज कराई है।

बता दें कि इलाहाबाद विश्विद्यालय में फीस वृद्धि के प्रस्ताव को वित्त समिति और एकेडमिक काउंसिल ने मंजूरी दे दी है और कार्यपरिषद की बैठक में इस पर अंतिम मुहर लग गई है। वहीं, विद्यार्थियों का कहना है कि कॉलेज प्रशासन ने चार गुना फीस बढ़ा दी है, जिससे काफी परेशानी होगी और यह फैसला छात्रों के हित मे नहीं है। इसके बाद से यहां विद्यार्थियों का आंदोलन चल रहा है।

इस पूरे मामले पर हिंदी न्यूज चैनल 'भारत समाचार'  के एडिटर-इन-चीफ और वरिष्ठ पत्रकार ब्रजेश मिश्रा ने भी एक ट्वीट किया है। अपने ट्वीट में ब्रजेश मिश्रा का कहना है, ‘इलाहाबाद विश्वविद्यालय के आंदोलनरत छात्र-छात्राओं से मेरा निवेदन। खुद को नुकसान न पहुंचाएं। आत्मदाह के प्रयास की पीड़ादायक खबरें आ रही है। कृपया ऐसा न करें। फीस वृद्धि के मसले पर आप आंदोलित हैं। आपकी मांग जायज है। अपने मुद्दों पर लोकतांत्रिक तरीके से लड़िए लेकिन खुद की हिफाजत रखिए।’

ब्रजेश मिश्रा द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

हिजाब विवाद पर वरिष्ठ पत्रकार ऋचा अनिरुद्ध ने जताया रोष, कही 'मन की बात'

ईरान में हिजाब न पहनने पर महिला की मौत के बाद से ही यह मामला लगातार रफ्तार पकड़ता जा रहा है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 20 September, 2022
Last Modified:
Tuesday, 20 September, 2022
richa451545

ईरान में हिजाब न पहनने पर महिला की मौत के बाद से ही यह मामला लगातार रफ्तार पकड़ता जा रहा है। हिजाब विवाद को लेकर महिलाएं सड़कों पर उतर आई हैं और लगातार प्रदर्शन कर रही हैं। हिजाब को लेकर बने सख्त कानून के वाबजूद महिलाएं सड़कों पर हिजाब फेंकती और जलाती हुई नजर आ रही हैं। यहां तक की हिजाब को लेकर महिलाओं में इतना आक्रोश है कि वह अपने बाल तक काट रही हैं।

आपको बता दें कि हिजाब न पहनने को लेकर ईरान की 22 वर्षीय महिला महसा अमिनी को तेहरान में पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। कस्टडी में लेने के बाद महसा अमिनी को बुरी तरह पीटा गया, जिसके कारण उसकी मृत्यु हो गई।

इस विवाद पर वरिष्ठ पत्रकार और समाजसेवी ऋचा अनिरुद्ध ने रोष प्रकट करते हुए ट्वीट किया है। ट्वीट में उन्होंने लिखा है, ‘ये है असली शेरनी… न कि खुद को पर्दे में कैद करने वाली... पर्दे के लिए पढ़ाई को छोड़ने वाली... और न ही वो जो सिर्फ अपने एजेंडा के लिए देश की आम महिला को पर्दे में कैद करने/होने की वकालत करती हैं... जो खुद कभी पर्दा करेंगी नहीं... लेकिन पर्दे को स्वतंत्रता मानती हैं। वाह!’

उनके द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं-

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

हिजाब विवाद: जर्नलिस्ट पलकी शर्मा ने महिलाओं की स्वतंत्रता को लेकर किया ये ट्वीट

हिजाब पहनने से इनकार करने वाली महसा अमीनी की कस्टडी में मौत के बाद उठे विवाद पर नेटवर्क18 की मैनेजिंग एडिटर पलकी शर्मा उपाध्याय ने अपनी प्रतिक्रिया दी है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 20 September, 2022
Last Modified:
Tuesday, 20 September, 2022
PalkiSharma8745

हिजाब पहनने से इनकार करने वाली 22 साल की महिला महसा अमिनी की कस्टडी में मौत के बाद ईरान में विवाद काफी गहरा गया है। हिजाब को लेकर महिलाओं का लगातार प्रदर्शन जारी है। हिजाब को लेकर बने कानून के बावजूद महिलाएं सड़कों पर हिजाब फेंकती और जलाती हुई नजर आ रही हैं। यहां तक की हिजाब को लेकर महिलाओं में इतना आक्रोश है कि वह अपने बाल तक काट रही हैं।

इस विवाद को लेकर सीनियर जर्नलिस्ट और नेटवर्क18 की मैनेजिंग एडिटर पलकी शर्मा उपाध्याय ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। आपको बता दें कि पलकी शर्मा ने हाल ही में नेटवर्क18 जॉइन किया है और वह यहां मैनेजिंग एडिटर के पद पर कार्यरत हैं।

पलकी शर्मा ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘हिजाब को एक विकल्प कहना उन महिलाओं के हित में नहीं है, जिनके पास इसे चुनने का विकल्प नहीं होता। राजनीति से प्रेरित या सभी सुविधाओं से भरपूर महिलाओं के लिए हिजाब एक पहचान का प्रतीक हो सकता है, लेकिन महसा अमिनी जैसी महिलाओं के लिए हिजाब जीवन और मौत के बीच का अंतर बन जाता है।’

उनके द्वारा किए गए ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं-

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

खेल जगत को शर्मसार करने वाली घटना पर एंकर मीनाक्षी जोशी को आया गुस्सा, कही ये बात

सहारनपुर से एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसने खेल जगत को शर्मसार कर दिया है, जिस पर ‘इंडिया टीवी’ की सीनियर एंकर मीनाक्षी जोशी ने अपना रोष प्रकट किया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 20 September, 2022
Last Modified:
Tuesday, 20 September, 2022
Meenakshi457221

सहारनपुर से एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसने खेल जगत को शर्मसार कर दिया है। सहारनपुर के डॉ. भीमराव अंबेडकर स्टेडियम में तीन दिन पहले अंडर-17 स्टेट लेवल कबड्‌डी टूर्नामेंट की शुरुआत हुई, जिसमें 300 से ज्यादा खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया। इसमें लड़कियां भी शामिल थीं।

खिलाड़ियों की रहने और खाने की व्यवस्था स्टेडियम में ही की गई थी। जब खिलाडियों की खाने की बारी आई, तो उन्हें टॉयलेट में रखा हुआ खाना खिलाया गया। इतना ही नहीं लंच भी उन्हें टॉयलेट में ही कराया गया।

व्यवस्थाएं बद से बदतर थीं। खाने की क्वॉलिटी एक दम घटिया थी। खिलाड़ियों को पेटभर भोजन तक नसीब नहीं हुआ। जो खाना बना हुआ था वह अच्छे से पका हुआ नहीं था। कई खिलाड़ियों ने सलाद से ही अपना पेट भरा। सोशल मीडिया पर खिलाड़ियों के टॉयलेट में खाना परोसते और खाते हुए वीडियो भी वायरल हो रहा है।

उत्तर प्रदेश खेल निदेशालय ने इस पर तुरंत एक्शन लेते हुए क्षेत्रीय खेल अधिकारी अनिमेष सक्सेना को निलंबित कर दिया है।

वहीं, इस पूरी घटना पर ‘इंडिया टीवी’ की सीनियर एंकर मीनाक्षी जोशी ने अपना रोष प्रकट किया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘अंडर-17 स्टेट कबड्‌डी टूर्नामेंट के दौरान खिलाड़ियों का खाना टॉयलेट में बनाने और वहीं पर खाना परोसने के मामले में सहारनपुर के खेल अधिकारी अनिमेष सक्सेना सस्पेंड हुए। कैसा हो,  अधिकारी महोदय का खाना भी टॉयलेट में बनवा कर परोसा जाए!’     

उनके द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं-

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

वरिष्ठ पत्रकार सुमित अवस्थी ने CM भगवंत मान पर उठाया ये सवाल

विपक्षी पार्टियां लगातार आम आदमी पार्टी और सीएम भगवंत मान को कटघरे में खड़ा कर रही हैं। लेकिन आम आदमी पार्टी ने सभी आरोपों को झूठा बताया है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 20 September, 2022
Last Modified:
Tuesday, 20 September, 2022
SumitAwasthi2325

पंजाब के सीएम भगवंत मान इन दिनों एक नई मुसीबत में फंस गए हैं। दरअसल, भगवंत मान को जर्मनी से दिल्ली लौट रही लुफ्थांसा एयरलाइन्स की फ्लाइट से नीचे उतारने का मामला सामने आया है। ऐसा इसलिए क्योंकि एयरलाइंस ने आरोप लगाए हैं कि भगवंत मान नशे की हालत में थे, जिसके कारण फ्लाइट को देरी से उड़ान भरनी पड़ी।

विपक्षी पार्टियां लगातार आम आदमी पार्टी और सीएम भगवंत मान को कटघरे में खड़ा कर रही हैं। लेकिन आम आदमी पार्टी ने सभी आरोपों को झूठा बताया है और कहा है कि वह नशे में नहीं थे बल्कि उनकी तबियत ठीक नहीं थी। 

इसी बीच वरिष्ठ पत्रकार और न्यूज एंकर सुमित अवस्थी ने आम आदमी पार्टी और भगवंत मान को आड़े हाथों लिया है। सुमित अवस्थी ने ट्वीट करते हुए लिखा है, ‘अगर विपक्ष का आरोप सही है तो बहुत शर्मनाक घटना है! पंजाब सीएम भगवंत मान को सबूतों के साथ स्थिति साफ करनी चाहिये! उन पर आरोप है कि ज्यादा नशा कर लेने के कारण उन्हें अंतरराष्ट्रीय हवाई यात्रा करने से रोका गया! लुफ्थांसा एयरलाइन्स व आम आदमी पार्टी भी स्थिति साफ कर सकती है!’

उनका ट्वीट आप यहां देख सकते हैं -

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

लखीमपुर कांड को लेकर वरिष्ठ पत्रकार अमिश देवगन ने लिबरल गैंग पर उठाए सवाल

इस घटना पर अब 'न्यूज18इंडिया ' के सीनियर एंकर और वरिष्ठ पत्रकार अमिश देवगन ने भी ट्वीट कर लिबरल गैंग पर सवाल उठा दिए है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 15 September, 2022
Last Modified:
Thursday, 15 September, 2022
LMP454187

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में दो दलित नाबालिग सगी बहनों के शव मिलने के बाद अब पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी आ गई है। इस पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में गला दबाकर हत्या और इसके बाद में लटकाने की पुष्टि हुई है। बता दें कि निघासन कोतवाली क्षेत्र में हुई इस घटना पर परिजनों का आरोप है कि बाइक सवार दो युवक उनका अपहरण कर ले गए थे। 

लखीमपुर खीरी हत्याकांड में बच्चियों के पोस्टमार्टम पर सीएमओ अरुणेंद्र त्रिपाठी ने कहा कि रिपोर्ट कोर्ट को सौंपी जाएगी और एक कॉपी एसपी को सौंपी जाएगी।  

लखीमपुर खीरी के एसपी संजीव सुमन ने एक प्रेस वार्ता में कहा कि छह आरोपियों की पहचान छोटू, जुनैद, सोहेल, हाफिजुल, करीमुद्दीन और आरिफ के रूप में हुई है। पुलिस ने अपनी जांच में पाया कि दुष्कर्म के बाद दोनों बहनों की हत्या की गई थी। वारदात को कुल छह लोगों ने अंजाम दिया था।

इस घटना पर अब 'न्यूज18इंडिया ' के सीनियर एंकर और वरिष्ठ पत्रकार अमिश देवगन ने भी ट्वीट कर लिबरल गैंग पर सवाल उठा दिए है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, 'लखीमपुर में दो दलित बहनों के साथ रेप और हत्या के आरोपी छोटू, जुनैद, सुहैल, आरिफ, करीमुद्दीन, हाफिजुरहमान का नाम आया है तबसे लिबरल गैंग शांत है। दलित बेटी की हत्या पर हाथरस जाने वाले अब लखीमपुर भी जाएंगे क्या?'

आपको बता दें कि हाथरस में दलित बेटी की हत्या के बाद राजनीति गरमा गई थी और यूपी सरकार को कई मोर्चों पर मुसीबतों का सामना करना पड़ा था। हालांकि इस हत्या के मामले में यूपी पुलिस ने बेहद तेजी से काम करते हुए केस को सुलझा दिया है। 

अमिश देवगन के द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं। 

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

लखीमपुर खीरी केस: वरिष्ठ पत्रकार विनोद अग्निहोत्री ने राज्य सरकार से की ये मांग

यूपी के लखीमपुर खीरी में दो दलित नाबालिग सगी बहनों के शव मिलने की घटना पर अमर उजाला के सलाहकार संपादक विनोद अग्निहोत्री ने भी प्रतिक्रिया दी है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 15 September, 2022
Last Modified:
Thursday, 15 September, 2022
rapecase45064

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में दो दलित नाबालिग सगी बहनों के शव मिलने के बाद इलाके में तनाव पैदा हो गया है। निघासन कोतवाली क्षेत्र में हुई इस घटना पर परिजनों का आरोप है कि  बाइक सवार दो युवक उनका अपहरण कर ले गए थे। 

 परिजनों ने बताया कि 15 साल और 17 साल की दो बहनें घर के बाहर बैठी हुई थी। इसी बीच बाइक सवार 2 युवक आए और दोनों लड़कियों को लेकर फरार हो गए और उसके बाद दोनों लड़कियों के शव पेड़ से लटके हुए मिले। 

इस मामले में यूपी पुलिस ने भी खुलासा किया है। पुलिस ने अपनी जांच में पाया कि दुष्कर्म के बाद दोनों बहनों की हत्या की गई थी। वारदात को कुल छह लोगों ने अंजाम दिया था। नामजद छोटू समेत छह आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए हैं। आरोपियों में छोटू, सुहेल, जुनैद, हफीजुल्लाह, करीमुद्दीन, आरिफ शामिल हैं। 

इस घटना पर अमर उजाला के सलाहकार संपादक और वरिष्ठ पत्रकार विनोद अग्निहोत्री ने ट्वीट कर अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने लिखा, 'बेहद शर्मनाक और शर्मसार करने वाली घटना। ऐसी घटनाओं को वैचारिक राजनीतिक सामाजिक आर्थिक चश्मे से नहीं सिर्फ इंसानियत और महिलाओं के सम्मान और सुरक्षा की नजर से देखना चाहिए। मुझे पूरी उम्मीद है राज्य सरकार इस मामले में उचित और कठोर कानूनी कार्रवाई करके अपराधियों को सजा दिलवाएगी।'

विनोद अग्निहोत्री के द्वारा किए गए ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं-

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

यूं परिवारवाद पर बड़ा संदेश दे सकते हैं अमित शाह, बोले वरिष्ठ पत्रकार हर्षवर्धन त्रिपाठी

सौरव गांगुली व जय शाह आने वाले तीन साल यानी 2025 तक अपने पद पर बरकरार रह सकते हैं। इसे लेकर वरिष्ठ पत्रकार हर्षवर्धन त्रिपाठी ने अपनी राय व्यक्त की है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 15 September, 2022
Last Modified:
Thursday, 15 September, 2022
Amithshah2326

सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह को अपने पद पर बने रहने का रास्ता साफ कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई के संविधान में संशोधन को भी मंजूरी दे दी है और इसके साथ ही अब गांगुली और जय शाह के कार्यकाल पर फिलहाल कोई संकट नहीं है और दोनों लगातार दूसरी बार अपने-अपने पद पर बने रहेंगे।

दरअसल, बीसीसीआई ने सुप्रीम कोर्ट में अपील की थी कि उनके अधिकारियों को लगातार दो कार्यकाल तक बने रहने की इजाजत दी जाए। अब सौरव गांगुली और जय शाह आने वाले तीन साल यानी 2025 तक अपने पद पर बरकरार रह सकते हैं।

सुप्रीम कोर्ट के इस निर्णय के बाद वरिष्ठ पत्रकार हर्षवर्धन त्रिपाठी ने भी ट्वीट कर अपनी राय व्यक्त की है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, 'अब सौरव गांगुली, जय शाह BCCI अध्यक्ष, सचिव बने रह सकते हैं। न्यायाधीश चंद्रचूड़, हिमा कोहली ने दोबारा पद पर रहने के लिए 3 वर्ष के अंतराल की शर्त हटा दी है। अब अमित शाह के पास बड़ा अवसर है, बेटे जय शाह को सचिव पद पर बैठने से रोककर बड़ी लकीर खींच दें। परिवारवाद पर बड़ा संदेश दे सकते हैं।’ आगे उन्होंने लिखा, ‘यहां यह भी ध्यान में रहना जरूरी है कि लंबे समय से क्रिकेट का नियंत्रण अप्रत्यक्ष तौर पर सर्वोच्च न्यायालय के ही पास है।’

हर्षवर्धन त्रिपाठी के द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते है-

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए