सूचना:
मीडिया जगत से जुड़े साथी हमें अपनी खबरें भेज सकते हैं। हम उनकी खबरों को उचित स्थान देंगे। आप हमें mail2s4m@gmail.com पर खबरें भेज सकते हैं।

जानें, इस राजनीतिक पार्टी में मचे ‘घमासान’ पर क्या बोले वरिष्ठ पत्रकार अभिषेक उपाध्याय

सचिन पायलट अब मीणा गुर्जर इलाकों से बाहर निकलकर जाटलैंड में प्रदर्शन कर दिल्ली में बैठे बड़े नेताओं को भी एक संदेश देने की कोशिश करेंगे।

Last Modified:
Monday, 16 January, 2023
AbhishekUpadhyay54854

राजस्थान में एक बार फिर राजनीति गरमा गई है। दरअसल, कांग्रेस के युवा नेता सचिन पायलट अब अगले तीन दिन तक नागौर से लेकर हनुमानगढ़, झुंझुनूं और पाली के साथ साथ जयपुर में शक्ति प्रदर्शन करेंगे। यह इसलिए भी महत्वपूर्ण हो जाता है कि सचिन पायलट अब मीणा गुर्जर इलाकों से बाहर निकलकर जाटलैंड में प्रदर्शन कर दिल्ली में बैठे बड़े नेताओं को भी एक संदेश देने की कोशिश करेंगे।  

अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच लंबे समय से चल रही तनातनी अब जगजाहिर है वहीं राहुल गांधी की 'भारत जोड़ो यात्रा' भी राज्य से निकल गई लेकिन कहीं कोई सुनवाई नहीं हुई। ऐसे में सचिन पायलट का यह कदम सियासी गलियारों में चर्चा का विषय बन गया है। 

राजस्थान में वोटबैंक के लिहाज से जाट मतदाता सबसे ज्यादा हैं। 12 प्रतिशत जाट वोटर और 9 प्रतिशत गुर्जर वोटर है और अगर सचिन इन्हें साधने में कामयाब रहे तो उनके लिए बड़ी जगह बन सकती है। इस पूरे मसले पर 'एबीपी न्यूज' के वरिष्ठ पत्रकार 'अभिषेक उपाध्याय' ने एक ट्वीट कर अपनी राय रखी है। 

उन्होंने ट्विटर पर लिखा, 'राजस्थान के कांग्रेसियों का मानना है कि पूरी भारत जोड़ो यात्रा से भी कहीं अधिक जरूरी है सचिन पायलट को जोड़े रहना। उनका धैर्य अब जवाब दे रहा है।' अभिषेक उपाध्याय द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

जागरूकता अभियान के लिए Meta व सरकार के बीच हुई पार्टनरशिप

जी20 स्टे सेफ ऑनलाइन कैंपेन के लिए ‘मेटा’ (Meta) ने मंगलवार को इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeitY) के साथ पार्टनरशिप की घोषणा की है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 07 February, 2023
Last Modified:
Tuesday, 07 February, 2023
Meta

जी20 स्टे सेफ ऑनलाइन कैंपेन के लिए ‘मेटा’ (Meta) ने आज मंगलवार को इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeitY) के साथ पार्टनरशिप की घोषणा की है। MeitY से पार्टनरशिप के तौर पर  मेटा विभिन्न चैनलों के माध्यम से ऑनलाइन सुरक्षा उपायों को लेकर कई भारतीय भाषाओं में वीडियो संदेश के जरिए जागरूकता फैलाएगी। बता दें कि मेटा के पास फेसबुक, इंस्टाग्राम और वॉट्ऐसप जैसे लोकप्रिय सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स का स्वामित्व है।

इस जागरूकता अभियान के तहत ऑनलाइन धोखाधड़ी से निपटने, नुकसानदेह सामग्री की रिपोर्ट कैसे करें और ऑनलाइन बातचीत करते समय खुद को सुरक्षित रखने के टिप्स जैसे कई अन्य विषयों को शामिल किया जाएगा। मेटा पूरे साल इस अ​भियान में ​शिरकत करेगी।

 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Yuvaa (@weareyuvaa)

 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Yuvaa (@weareyuvaa)

 

भारत एक ट्रिलियन डॉलर की डिजिटल अर्थव्यवस्था बनने के कगार पर है। यह पार्टनरशिप ऐसे समय पर हुई है, जब भारत जी20 की अध्यक्षता कर रहा है। यह रणनीतिक साझेदारी न केवल मौजूदा इंटरनेट यूजर्स को सहायता प्रदान करेगी, बल्कि उन्हें ऑनलाइन धोखाधड़ी से आगाह करने के लिए तैयार भी करेगी। भारत में तेजी से बढ़ते नए इंटरनेट यूजर्स के लिए यह पार्टनरसिप फायदेमंद साबित होगी। 

अंतरराष्ट्रीय सुर​क्षित इंटरनेट दिवस के अवसर पर 7 फरवरी को मेटा ने सभी को सुरक्षित और समावेशी इंटरनेट प्रदान करने के लिए #डिजिटलसुरक्षा (#DigitalSuraksha) कैंपेन भी लॉन्च किया। इस कैंपेन के पहले चरण तहत मेटा ने दिल्ली में इंटरनेट यूजर्स को डिजिटल साक्षरता प्रदान करने के लिए दिल्ली पुलिस के साथ भी पार्टनरशिप की है। #डिजिटलसुरक्षा कैंपेन के पहले चरण में युवाओं की भलाई, बाल सुरक्षा, गलत सूचनाओं से निपटने के लिए जागरूगता अभियान चलाया जाएगा। ऑनलाइन सुरक्षा सुनिश्चित करने में कानून प्रवर्तन एजेंसियां एक महत्वपूर्ण भागीदारी निभा रही हैं। #डिजिटलसुरक्षा अभियान के तहत मेटा दिल्ली के विभिन्न स्कूलों और कॉलेजों में 10,000 छात्रों को डिजिटल साक्षरता प्रदान करने के लिए 2 महीने के लंबे कार्यक्रम पर दिल्ली पुलिस के साथ काम करेगा। इसके अलावा मेटा और दिल्ली पुलिस संयुक्त रूप से यूजर्स को ऑनलाइन/डिजिटल स्कैम से खुद को बचाने के बारे में शिक्षित करने के लिए संसाधनों का निर्माण करेगी। इस पार्टनरशिप के तहत मेटा दिल्ली पुलिसकर्मियों को मेटा के विभिन्न सुरक्षा उपकरणों के बारे में भी प्रशिक्षित करेगी।

मेटा ने बाल यौन शोषण संबंधी सामग्रियों की शेयरिंग की रोकथाम और ऐसी सामग्रियों के बारे में जानकारी देने के लिए लोगों को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से भी एक जागरूकता अ​भियान भी शुरू किया है। इसके तहत यूजर्स को बाल यौन शोषण संबंधी सा​मग्रियों के नुकसान और पीड़ित पर उसके प्रभाव के बारे में जानकारी दी जाएगी। साथ ही लोगों को ऐसी किसी भी साम​ग्री के बारे में फेसबुक को तत्काल सूचित करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। 

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

मोहन भागवत के विवादित बयान पर बोलीं चित्रा त्रिपाठी, ब्राह्मण ने नहीं बनाई जातियां

आरएसएस के प्रचार प्रमुख सुनील आंबेकर ने कहा कि मोहन भागवत ने 'पंडित' शब्द का उपयोग ज्ञानियों के लिए इस्तेमाल किया था, न कि किसी जाति धर्म के लिए।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 07 February, 2023
Last Modified:
Tuesday, 07 February, 2023
chitraa

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सर संघचालक मोहन भागवत की ओर से पंडितों के खिलाफ दिए बयान के बाद सियासी तूफान मच गया है। संघ प्रमुख के बयान के बाद तमाम भाजपा के ब्राह्मण नेता अब लोगों को समझाने में जुटे हैं।

दरअसल, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने रविवार को कहा कि जाति, वर्ण और संप्रदाय पंडितों के द्वारा बनाए गए थे। आपको बता दें कि ब्राह्मण वोट बैंक भाजपा के लिए महत्वपूर्ण है।

इसी बीच आरएसएस के प्रचार प्रमुख सुनील आंबेकर ने कहा कि मोहन भागवत ने 'पंडित' शब्द का उपयोग ज्ञानियों के लिए इस्तेमाल किया था, न कि किसी जाति धर्म के लिए। उन्होंने कहा कि मोहन भागवत ने भाषण के दौरान 'पंडित' शब्द का इस्तेमाल किया था, जिसका मतलब विद्वान या ज्ञानी होता है। इस पूरे मामले पर 'आजतक' की सीनियर एंकर और वरिष्ठ पत्रकार 'चित्रा त्रिपाठी' ने ट्वीट कर अपनी राय दी है।

उन्होंने लिखा, ऋग्वेद में कर्म के आधार पर समाज का विभाजन था। इतिहास के प्रवाह ने ताकतवर को श्रेष्ठता और कमजोर को निम्नता के स्तर पर खड़ा कर दिया।ब्राह्मण,क्षत्रिय,शूद्र,वैश्य से बाद में 3000 जातियां निकली।

अपने अगले ट्वीट में उन्होंने लिखा कि पंडितों/ब्राह्मणों ने जातियां नहीं बनाई। जिनके हाथ में ताक़त थी वो समाज को समय के साथ बदलते गए। आज भी जो गरीब है क्या उसके साथ भेदभाव नहीं होता? और आज अमीरों की जातियाँ कौन देखता है? मुसलमानों में भी जातियाँ हैंः जो अशरफ़ है वो श्रेष्ठ है.फिर अजलाफ़' और कमजोर अरज़ाल।

उनके इस ट्वीट पर लोग जमकर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं और यह ट्वीट वायरल हो रहा है। चित्रा त्रिपाठी के द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं-

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

गौतम अडानी प्रकरण पर अखिलेश आनंद ने जतायी आशंका, कहीं ये साजिश तो नहीं?

'अडानी ग्रुपः हाउ द वर्ल्ड्स थर्ड रिचेस्ट मैन इज़ पुलिंग द लार्जेस्ट कॉन इन कॉर्पोरेट हिस्ट्री' नाम की यह रिपोर्ट 24 जनवरी को प्रकाशित हुई थी।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 07 February, 2023
Last Modified:
Tuesday, 07 February, 2023
akhileshanand

अमेरिकी फॉरेंसिक फाइनेंशियल कंपनी 'हिंडनबर्ग' ने जबसे गौतम अडानी के खिलाफ अपनी रिपोर्ट जारी की है उसी दिन से उनके बाजार पूंजीकरण में गिरावट जारी है। कुछ हफ्तों पहले तक गौतम अडानी दुनिया के तीसरे सबसे बड़े अमीर थे, लेकिन आज वो टॉप 20 में भी नहीं है।

एक अनुमान के मुताबिक, उन्हें अब तक 9 लाख करोड़ रुपए का नुकसान हो चुका है। 'अडानी ग्रुपः हाउ द वर्ल्ड्स थर्ड रिचेस्ट मैन इज़ पुलिंग द लार्जेस्ट कॉन इन कॉर्पोरेट हिस्ट्री' नाम की यह रिपोर्ट 24 जनवरी को प्रकाशित हुई थी। दूसरी ओर अडानी समूह पर शेयरों की हेराफेरी के आरोप के बीच अब कांग्रेस पार्टी सरकार पर हमलावर हो गई है।

दरअसल, भारत के जाने-माने उद्योगपति गौतम अडानी पिछले कुछ समय से कांग्रेस के निशाने पर हैं। आपको बता दें कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी अकसर उनको लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करते रहते हैं। कांग्रेस का आरोप है कि मोदी सरकार की मेहरबानी से ही अडानी की संपत्ति में बढोतरी हुई थी और अब कांग्रेस ने इस मामले में हर रोज तीन सवालों की एक सीरीज शुरू की है। इसे नाम दिया है- 'हम अडानी के हैं कौन?

इस पूरे मामले पर 'एबीपी न्यू' के वरिष्ठ पत्रकार और एंकर अखिलेश आनंद ने ट्वीट कर एक आशंका जाहिर की है। उन्होंने अपने ट्विटर पर लिखा, जिस तरह गौतम अडानी दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति बनने लगे, एक भारतीय कंपनी दुनियाभर में व्यापार करने लगी। क्या दुनिया के बड़े मगरमच्छ बर्दाश्त कर लेते? हिंडनबर्ग की रिपोर्ट कहीं अडानी के खिलाफ साजिश तो नहीं?

अखिलेश आनंद के द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं-

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

तुर्की-सीरिया में भूकंप से तबाही, ब्रजेश मिश्रा ने की यह अपील

तुर्की और सीरिया सहित चार देशों में सोमवार को भूकंप ने भारी तबाही मचाई थी। यहां बीते दिन तीन बार भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 07 February, 2023
Last Modified:
Tuesday, 07 February, 2023
Turkey

तुर्की और सीरिया में घातक भूकंपों के कारण अब तक 4,000 से अधिक लोग मारे जा चुके हैं। बीते दिन तुर्की में 7.8, 7.6 और 6.0 तीव्रता के लगातार तीन विनाशकारी भूकंप आए थे।

तुर्की और सीरिया सहित चार देशों में सोमवार को भूकंप ने भारी तबाही मचाई। भूकंप के चलते कंपन इतना तेज था कि हजारों इमारतें ताश के पत्तों की तरह भरभराकर गिर गईं। सरकारी एजेंसी के मुताबिक अभी मरने वालो की संख्या में इजाफा हो सकता है।

इसी बीच भारत ने बड़ा दिल दिखाया और भूकंप की मार झेल रहे तुर्की को भूकंप राहत सामग्री की पहली खेप भेज दी। प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से की गई घोषणा के कुछ घंटों बाद ही भारत ने भूकंप राहत सामग्री की पहली खेप तुर्की को भारतीय वायु सेना के विमान से भेजी। इस पूरे मामले पर 'भारत समाचार' के एडिटर-इन-चीफ और वरिष्ठ पत्रकार 'ब्रजेश मिश्रा' ने ट्वीट कर एक अपील की है।

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, तुर्की में तबाही है। लाशों का अंबार है। बिल्डिगों में जो रह गए। कब्रगाह वहीं बन गई। इतनी लाशें है की अब तक गिनती नही हो पाई। शक्तिशाली भूकंप के तीन झटको ने तुर्की को उलट दिया। प्रकृति की ताकत का अहसास करवा दिया। राहत और बचाव कार्य में दुनिया भर को आगे आना चाहिए। मदद भी करनी चाहिए।  

वरिष्ठ पत्रकार 'ब्रजेश मिश्रा' के द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं-

 

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

एलन मस्क ने पिछले तीन महीनों को बताया मुश्किल समय, पब्लिक सपोर्ट को लेकर कही ये बात

पिछले सप्ताह के अंत में मस्क ने घोषणा की थी कि ट्विटर रिप्लाई थ्रेड्स में दिखाई देने वाले विज्ञापनों के लिए क्रिएटर्स के साथ अपने रेवेन्यू को शेयर करेगा।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 06 February, 2023
Last Modified:
Monday, 06 February, 2023
Elon Musk

खरबपति बिजनेसमैन और अमेरिकी इलेक्ट्रिक कार कंपनी ‘टेस्ला’ (Tesla) के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर (CEO) एलन मस्क (Elon Musk) माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर (Twitter) की कमान संभालने के बाद तमाम नए कदम उठा रहे हैं और आए दिन कोई न कोई बयान देकर लगातार मीडिया की सुर्खियों में बने हुए हैं।

अब अपने एक बयान में एलन मस्क ने पिछले तीन महीनों को ‘बेहद कठिन’ बताया है। अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किए गए एक ट्वीट में मस्क ने कहा है, ‘टेस्ला और स्पेसएक्स को संभालते हुए ट्विटर को दिवालिया होने से बचाना मुश्किल था।’ मस्क ने यह कहते हुए जनता से समर्थन भी मांगा है कि वह नहीं चाहेंगे कि किसी को भी इस तरह के दर्द का सामना करना पड़े।

पिछले सप्ताह के अंत में मस्क ने घोषणा की थी कि ट्विटर रिप्लाई थ्रेड्स में दिखाई देने वाले विज्ञापनों के लिए क्रिएटर्स के साथ अपने रेवेन्यू को शेयर करेगा। इसके साथ ही उन्होंने स्पष्ट किया था कि यह सुविधा सिर्फ ट्विटर के ब्लू टिक सबस्क्राइबर्स को मिलेगी। हालांकि, मस्क ने यह स्पष्ट नहीं किया कि यूजर्स के साथ कितना हिस्सा शेयर किया जाएगा।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

अडानी मामले पर बोले उपेंद्र राय, PM की छवि खराब कर रहा विपक्ष

कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने अपने ट्वीट में लिखा, अडानी महामेगा घोटाले पर प्रधानमंत्री की चुप्पी ने हमें 'हम अडानी के हैं कौन' श्रृंखला शुरू करने के लिए मजबूर कर दिया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 06 February, 2023
Last Modified:
Monday, 06 February, 2023
Upendra Rai

अडानी समूह पर शेयरों की हेराफेरी के आरोप के बीच अब कांग्रेस पार्टी सरकार पर हमलावर हो गई है। दरअसल, भारत के जाने-माने उद्योगपति गौतम अडानी पिछले कुछ समय से कांग्रेस के निशाने पर हैं। आपको बता दें कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी अक्सर उनको लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करते रहते हैं। 

कांग्रेस का आरोप है कि मोदी सरकार की मेहरबानी से ही अडानी की संपत्ति में बढोतरी हुई थी. अब कांग्रेस ने इस मामले में हर रोज तीन सवालों की एक सीरीज शुरू की है. इसे नाम दिया है- 'हम अडानी के हैं कौन?' कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने एक ट्वीट करके इसकी जानकारी दी है। 

जयराम रमेश ने अपने ट्वीट में लिखा, अडानी महामेगा घोटाले पर प्रधानमंत्री की चुप्पी ने हमें 'हम अडानी के हैं कौन' श्रृंखला शुरू करने के लिए मजबूर कर दिया है। हम आज से रोजाना 3 सवाल पीएम से करेंगे।

इस पूरे मामले पर 'भारत एक्सप्रेस' के एडिटर-इन-चीफ और वरिष्ठ पत्रकार उपेंद्र राय ने ट्वीट कर कांग्रेस को नसीहत दी है।

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, जो प्रधानमंत्री की अडानी के साथ नाम जोड़कर छवि खराब करने की कोशिश कर रहे हैं वो याद रखें कि वह एक फकीर हैं। उनका कोई परिवार नहीं है, कोई राजवंश नहीं है, कोई उत्तराधिकारी नहीं है। वो सिर्फ देश हित के लिए सोचते हैं। विपक्ष को इसे गंदा करने के बजाय बहस की तलाश करनी चाहिए।

वरिष्ठ पत्रकार उपेंद्र राय के द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं। 

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

रेल मंत्री के इस ऐलान पर बोले संकेत उपाध्याय, सुविधाओं की बात कब होगी?

रेल मंत्री ने वंदे मेट्रो की अवधारणा के बारे में बताते हुए कहा कि इन ट्रेनों को दो शहरों के बीच हाई फ्रीक्वेंसी के साथ चलाया जाएगा, जो प्रत्येक करीब 100 किमी से कम हैं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 06 February, 2023
Last Modified:
Monday, 06 February, 2023
Sanket Upadhyay

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने रेलवे को लेकर एक बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने एक प्रेस वार्ता में बताया कि अब 'वंदे भारत' ट्रैन की तर्ज पर 'वंदे मेट्रो' ट्रेन लाने की योजना है जो कि छोटे शहरों के बीच चलाई जानी है।

रेल मंत्री ने वंदे मेट्रो की अवधारणा के बारे में बताते हुए कहा कि इन ट्रेनों को दो शहरों के बीच हाई फ्रीक्वेंसी के साथ चलाया जाएगा, जो प्रत्येक करीब 100 किमी से कम हैं। उन्होंने कहा, 'माननीय प्रधानमंत्री ने इस वर्ष लक्ष्य दिया है। वंदे भारत ट्रेन की सफलता के बाद, पीएम मोदी ने एक नई विश्व स्तरीय क्षेत्रीय ट्रेन विकसित करने के लिए कहा, जो वंदे मेट्रो होगी।'

रेल मंत्री ने कहा कि यह ट्रेन भारतीय रेल के लिए क्रांतिकारी बदलाव लाने वाला साबित होगा। वंदे मेट्रो ट्रेन 1950 और 1960 में डिजाइन किए गए कई ट्रेनों को रिप्लेस करेगा। वहीं अगर सुविधाओं की बात करें तो ऐसा माना जा रहा है कि जो सुविधाएं 'वंदे भारत' ट्रैन में इस समय दी जा रही है वहीं सुविधाएं भी इस ट्रैन में दी जाएगी।

रेल मंत्री के इस ऐलान के बाद वरिष्ठ पत्रकार 'संकेत उपाध्याय' ने ट्वीट कर रेल मंत्री से एक गुजारिश की है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, 'ट्रेन मुझे बहुत पसंद है। नई घोषणा अच्छी लगती है। वंदे भारत के बाद अब वंदे मेट्रो। पर यह ट्रेनें महंगी होंगी। हर वंदे भारत और शताब्दी राजधानी के साथ-उस हर लेट लतीफ़ फ़रक्का एक्सप्रेस या पैसेंजर रेल की सुविधाओं के बारे में भी सोचिए। ट्रेन गरीब ज़्यादा इस्तेमाल करते हैं।'

वरिष्ठ पत्रकार संकेत उपाध्याय द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

अशोक श्रीवास्तव बोले-हमारे ऐसे संस्कार नहीं, पर कारगिल के बलिदानियों को कैसे भूल जाएं?

अपनी जीवनी ‘इन द लाइन ऑफ फायर- अ मेमॉयर' में पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति जनरल परवेज मुशर्रफ ने लिखा कि उन्होंने कारगिल पर कब्जा करने की कसम खाई थी।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 06 February, 2023
Last Modified:
Monday, 06 February, 2023
ashok

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ का निधन हो गया है।  मुशर्रफ लंबे समय से बीमार चल रहे थे और दुबई के अस्पताल में उनका इलाज किया जा रहा था। उन्होंने 79 साल की उम्र में अंतिम सांस ली। वो पाकिस्तान की सेना के प्रमुख भी रहे और बाद में पाकिस्तान के राष्ट्रपति भी रहे। साल 1998 में परवेज मुशर्रफ जनरल बने।

उन्होंने भारत के खिलाफ कारगिल जैसे युद्ध की साजिश रची। लेकिन भारत के बहादुर सैनिकों ने उनकी हर चाल पर पानी फेर दिया। अपनी जीवनी ‘इन द लाइन ऑफ फायर - अ मेमॉयर' में जनरल मुशर्रफ ने लिखा कि उन्होंने कारगिल पर कब्जा करने की कसम खाई थी।

1998 में रहे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने परवेज मुशर्रफ को सेना प्रमुख बनाया था। लेकिन एक साल बाद ही 1999 में जनरल मुशर्रफ ने नवाज शरीफ का तख्तापलट कर दिया और पाकिस्तान के तानाशाह बन गए। पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति मुशर्रफ के निधन पर डीडी न्यूज़ के वरिष्ठ पत्रकार अशोक श्रीवास्तव ने भी ट्वीट कर अपनी राय प्रकट की है।

उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि भारत के अभिन्न अंग कश्मीर को हथियाने के लिए कितने गाज़ी आए और चले गए ! कितने अफ़ज़ल घर से निकले और मुर्दाघर पहुंच गए। हमारी संस्कृति हमारे संस्कार नहीं हैं कि हम किसी की मौत पर हंसे, पर कारगिल के बलिदानियों को कैसे भूल जाएं।

पत्रकार अशोक श्रीवास्तव द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं। 

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

मोहन भागवत के इस बयान को अभिषेक उपाध्याय ने बताया क्रांतिकारी

रविवार को मुंबई में संत रोहिदास जयंती पर आयोजित एक कार्यक्रम में मोहन भागवत ने यह विचार प्रकट किए हैं। उन्होंने कहा, 'देश में हिन्दू समाज के नष्ट होने का भय दिख रहा है क्या?

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 06 February, 2023
Last Modified:
Monday, 06 February, 2023
Abhishek Upadhyay Mohan Bhagwat

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) प्रमुख मोहन भागवत ने जाति व्यवस्था को लेकर एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने, कहा कि जाति भगवान ने नहीं बनाई है, जाति पंडितों ने बनाई जो गलत है। भगवान के लिए हम सभी एक हैं। हमारे समाज को बांटकर पहले देश में आक्रमण हुए, फिर बाहर से आए लोगों ने इसका फायदा उठाया। 

रविवार को मुंबई में संत रोहिदास जयंती पर आयोजित एक कार्यक्रम में मोहन भागवत ने यह विचार प्रकट किए हैं। उन्होंने आगे कहा, 'देश में हिन्दू समाज के नष्ट होने का भय दिख रहा है क्या? यह बात आपको कोई ब्राह्मण नहीं बता सकता, आपको समझना होगा। हमारी आजीविका का मतलब समाज के प्रति भी जिम्मेदारी होती है। हर काम समाज के लिए है तो कोई ऊंचा, नीचा, या कोई अलग कैसे हो गया? 

मोहन भागवत के इस बयान पर वरिष्ठ पत्रकार अभिषेक उपाध्याय ने भी अपनी राय प्रकट की है और  मोहन भागवत को क्रांतिकारी पुरुष बताया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, संघ प्रमुख मोहन भागवत अब तक के सबसे क्रांतिकारी और परिवर्तनकारी सरसंघचालक हैं। पहले गोलवलकर जी की 'बंच ऑफ थॉट्स' के विवादित हिस्सों को हटा देना, फिर ये कहना कि मुसलमानो के बिना हिंदुत्व अधूरा है और अब जाति के लिए पंडितों पर प्रहार करना। ये अब तक अकल्पनीय था!

वरिष्ठ पत्रकार अभिषेक उपाध्याय के द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

मोदी सरकार के केंद्रीय बजट की अमिश देवगन ने कुछ यूं की तारीफ

इस बजट ने वित्त मंत्री ने ऐसी कई योजनाओं का ऐलान किया, जिससे सीधे तौर पर गरीबों को लाभ मिलने वाला है। वहीं, इनकम टैक्स छूट की सीमा को 7 लाख तक कर मध्यमवर्ग को भी कुछ राहत देने की कोशिश सरकार ने की है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 04 February, 2023
Last Modified:
Saturday, 04 February, 2023
Amish Devgan

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक फरवरी को केंद्रीय बजट पेश किया है। यह मोदी सरकार 2 .0 का अंतिम पूर्णकालिक बजट है। इस बजट में वित्त मंत्री ने ऐसी कई योजनाओं का ऐलान किया, जिससे सीधे तौर पर गरीबों को लाभ मिलने वाला है वहीं इनकम टैक्स छूट की सीमा को 7 लाख तक कर मध्यमवर्ग को भी कुछ राहत देने की कोशिश सरकार ने की है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस बजट को आजादी के अमृतकाल का पहला बजट बताया है। उन्होंने कहा कि दुनियाभर में सुस्ती के बावजूद हमारी मौजूदा ग्रोथ का अनुमान 7 फीसदी के आसपास बरकरार है और चुनौती के इस वक्त में भारत तेजी से विकास की तरफ बढ़ रहा है।

दुनियाभर के लोगों ने भारत के विकास की सराहना की है और ये बजट अगले 25 साल का ब्लू प्रिंट है। सरकार के द्वारा पेश किए गए इस बजट की वरिष्ठ पत्रकार और न्यूज़18इंडिया में सीनियर एंकर अमिश देवगन ने भी सराहना की है। उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करते हुए सरकार के इस बजट की तारीफ की है।

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, चुनावी साल होने के बावजूद मोदी सरकार के बजट में रेवडियां नहीं बांटी गई। बजट का फ़ाइन प्रिंट देखें तो ये बजट अगले 4-5 साल तक के लिए आर्थिक विकास के साथ देश की तरक़्क़ी का एजेंडा दिखाता है। इससे ये साफ़ है कि पीएम मोदी को जनता के लिए किए गए काम पर 2024 के लिए काफ़ी भरोसा है।

अमिश देवगन के द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं। 

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए