सूचना:
मीडिया जगत से जुड़े साथी हमें अपनी खबरें भेज सकते हैं। हम उनकी खबरों को उचित स्थान देंगे। आप हमें mail2s4m@gmail.com पर खबरें भेज सकते हैं।

CCI ने गूगल पर फिर कसी नकेल, अब 936 करोड़ का लगाया जुर्माना

टेक कंपनी गूगल की मनमानियों को रोकने के लिए एक बार भारत सरकार ने नकेल कस दी है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 26 October, 2022
Last Modified:
Wednesday, 26 October, 2022
Google

टेक कंपनी गूगल की मनमानियों को रोकने के लिए एक बार भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग यानी CCI ने नकेल कस दी है। इस कवायद के तहत CCI ने गूगल पर जुर्माना लगाया है और यह जुर्माना 936.44 करोड़ रुपए का है। प्ले स्टोर नीतियों में अपनी दबदबे की स्थिति का दुरुपयोग करने के लिए भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग ने दिग्गज टेक कंपनी पर ये जुर्माना लगाया है। अक्टूबर महीने में यह दूसरी बार है जब गूगल पर इस तरह की कार्रवाई हुई है।

इससे पहले CCI की ओर से करीब 1338 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया गया था। इस तरह, गूगल पर महीने में अब तक 2300 करोड़ रुपए के करीब जुर्माना लगाया जा चुका है। यह कार्रवाई एंड्रॉयड मोबाइल उपकरण क्षेत्र में बाजार में अपनी मजबूत स्थिति का दुरुपयोग करने को लेकर की गई थी।

सीसीआई ने गूगल पर एंटीकंपटीशन प्रैक्टिस को बंद करने के लिए कहा है। इसके अलावा CCI ने कहा है कि ऐप डेवलपर्स को सीधा ग्राहकों से जुड़ने की इजाजत और ऑफर प्रमोशन से भी ना रोका जाए। गूगल को एक निर्धारित समय-सीमा के भीतर अपने कामकाज के तरीके को संशोधित करने का निर्देश भी दिया गया है।

CCI की पहली कार्रवाई पर सर्च इंजन गूगल की प्रतिक्रिया भी आई थी। कंपनी ने कहा था, सीसीआई का निर्णय भारतीय उपभोक्ताओं और व्यवसायों के लिए एक बड़ा झटका है। यह एंड्रॉइड की सुरक्षा सुविधाओं पर भरोसा करने वाले भारतीयों के लिए गंभीर सुरक्षा जोखिम के अवसर दे रहा है। यह फैसला भारतीयों के लिए मोबाइल उपकरणों की लागत बढ़ा रहा है।" इसके साथ ही गूगल ने फैसले की समीक्षा करने की बात कही थी।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

एलन मस्क ने पिछले तीन महीनों को बताया मुश्किल समय, पब्लिक सपोर्ट को लेकर कही ये बात

पिछले सप्ताह के अंत में मस्क ने घोषणा की थी कि ट्विटर रिप्लाई थ्रेड्स में दिखाई देने वाले विज्ञापनों के लिए क्रिएटर्स के साथ अपने रेवेन्यू को शेयर करेगा।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 06 February, 2023
Last Modified:
Monday, 06 February, 2023
Elon Musk

खरबपति बिजनेसमैन और अमेरिकी इलेक्ट्रिक कार कंपनी ‘टेस्ला’ (Tesla) के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर (CEO) एलन मस्क (Elon Musk) माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर (Twitter) की कमान संभालने के बाद तमाम नए कदम उठा रहे हैं और आए दिन कोई न कोई बयान देकर लगातार मीडिया की सुर्खियों में बने हुए हैं।

अब अपने एक बयान में एलन मस्क ने पिछले तीन महीनों को ‘बेहद कठिन’ बताया है। अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किए गए एक ट्वीट में मस्क ने कहा है, ‘टेस्ला और स्पेसएक्स को संभालते हुए ट्विटर को दिवालिया होने से बचाना मुश्किल था।’ मस्क ने यह कहते हुए जनता से समर्थन भी मांगा है कि वह नहीं चाहेंगे कि किसी को भी इस तरह के दर्द का सामना करना पड़े।

पिछले सप्ताह के अंत में मस्क ने घोषणा की थी कि ट्विटर रिप्लाई थ्रेड्स में दिखाई देने वाले विज्ञापनों के लिए क्रिएटर्स के साथ अपने रेवेन्यू को शेयर करेगा। इसके साथ ही उन्होंने स्पष्ट किया था कि यह सुविधा सिर्फ ट्विटर के ब्लू टिक सबस्क्राइबर्स को मिलेगी। हालांकि, मस्क ने यह स्पष्ट नहीं किया कि यूजर्स के साथ कितना हिस्सा शेयर किया जाएगा।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

अडानी मामले पर बोले उपेंद्र राय, PM की छवि खराब कर रहा विपक्ष

कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने अपने ट्वीट में लिखा, अडानी महामेगा घोटाले पर प्रधानमंत्री की चुप्पी ने हमें 'हम अडानी के हैं कौन' श्रृंखला शुरू करने के लिए मजबूर कर दिया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 06 February, 2023
Last Modified:
Monday, 06 February, 2023
Upendra Rai

अडानी समूह पर शेयरों की हेराफेरी के आरोप के बीच अब कांग्रेस पार्टी सरकार पर हमलावर हो गई है। दरअसल, भारत के जाने-माने उद्योगपति गौतम अडानी पिछले कुछ समय से कांग्रेस के निशाने पर हैं। आपको बता दें कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी अक्सर उनको लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करते रहते हैं। 

कांग्रेस का आरोप है कि मोदी सरकार की मेहरबानी से ही अडानी की संपत्ति में बढोतरी हुई थी. अब कांग्रेस ने इस मामले में हर रोज तीन सवालों की एक सीरीज शुरू की है. इसे नाम दिया है- 'हम अडानी के हैं कौन?' कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने एक ट्वीट करके इसकी जानकारी दी है। 

जयराम रमेश ने अपने ट्वीट में लिखा, अडानी महामेगा घोटाले पर प्रधानमंत्री की चुप्पी ने हमें 'हम अडानी के हैं कौन' श्रृंखला शुरू करने के लिए मजबूर कर दिया है। हम आज से रोजाना 3 सवाल पीएम से करेंगे।

इस पूरे मामले पर 'भारत एक्सप्रेस' के एडिटर-इन-चीफ और वरिष्ठ पत्रकार उपेंद्र राय ने ट्वीट कर कांग्रेस को नसीहत दी है।

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, जो प्रधानमंत्री की अडानी के साथ नाम जोड़कर छवि खराब करने की कोशिश कर रहे हैं वो याद रखें कि वह एक फकीर हैं। उनका कोई परिवार नहीं है, कोई राजवंश नहीं है, कोई उत्तराधिकारी नहीं है। वो सिर्फ देश हित के लिए सोचते हैं। विपक्ष को इसे गंदा करने के बजाय बहस की तलाश करनी चाहिए।

वरिष्ठ पत्रकार उपेंद्र राय के द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं। 

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

रेल मंत्री के इस ऐलान पर बोले संकेत उपाध्याय, सुविधाओं की बात कब होगी?

रेल मंत्री ने वंदे मेट्रो की अवधारणा के बारे में बताते हुए कहा कि इन ट्रेनों को दो शहरों के बीच हाई फ्रीक्वेंसी के साथ चलाया जाएगा, जो प्रत्येक करीब 100 किमी से कम हैं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 06 February, 2023
Last Modified:
Monday, 06 February, 2023
Sanket Upadhyay

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने रेलवे को लेकर एक बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने एक प्रेस वार्ता में बताया कि अब 'वंदे भारत' ट्रैन की तर्ज पर 'वंदे मेट्रो' ट्रेन लाने की योजना है जो कि छोटे शहरों के बीच चलाई जानी है।

रेल मंत्री ने वंदे मेट्रो की अवधारणा के बारे में बताते हुए कहा कि इन ट्रेनों को दो शहरों के बीच हाई फ्रीक्वेंसी के साथ चलाया जाएगा, जो प्रत्येक करीब 100 किमी से कम हैं। उन्होंने कहा, 'माननीय प्रधानमंत्री ने इस वर्ष लक्ष्य दिया है। वंदे भारत ट्रेन की सफलता के बाद, पीएम मोदी ने एक नई विश्व स्तरीय क्षेत्रीय ट्रेन विकसित करने के लिए कहा, जो वंदे मेट्रो होगी।'

रेल मंत्री ने कहा कि यह ट्रेन भारतीय रेल के लिए क्रांतिकारी बदलाव लाने वाला साबित होगा। वंदे मेट्रो ट्रेन 1950 और 1960 में डिजाइन किए गए कई ट्रेनों को रिप्लेस करेगा। वहीं अगर सुविधाओं की बात करें तो ऐसा माना जा रहा है कि जो सुविधाएं 'वंदे भारत' ट्रैन में इस समय दी जा रही है वहीं सुविधाएं भी इस ट्रैन में दी जाएगी।

रेल मंत्री के इस ऐलान के बाद वरिष्ठ पत्रकार 'संकेत उपाध्याय' ने ट्वीट कर रेल मंत्री से एक गुजारिश की है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, 'ट्रेन मुझे बहुत पसंद है। नई घोषणा अच्छी लगती है। वंदे भारत के बाद अब वंदे मेट्रो। पर यह ट्रेनें महंगी होंगी। हर वंदे भारत और शताब्दी राजधानी के साथ-उस हर लेट लतीफ़ फ़रक्का एक्सप्रेस या पैसेंजर रेल की सुविधाओं के बारे में भी सोचिए। ट्रेन गरीब ज़्यादा इस्तेमाल करते हैं।'

वरिष्ठ पत्रकार संकेत उपाध्याय द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

अशोक श्रीवास्तव बोले-हमारे ऐसे संस्कार नहीं, पर कारगिल के बलिदानियों को कैसे भूल जाएं?

अपनी जीवनी ‘इन द लाइन ऑफ फायर- अ मेमॉयर' में पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति जनरल परवेज मुशर्रफ ने लिखा कि उन्होंने कारगिल पर कब्जा करने की कसम खाई थी।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 06 February, 2023
Last Modified:
Monday, 06 February, 2023
ashok

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ का निधन हो गया है।  मुशर्रफ लंबे समय से बीमार चल रहे थे और दुबई के अस्पताल में उनका इलाज किया जा रहा था। उन्होंने 79 साल की उम्र में अंतिम सांस ली। वो पाकिस्तान की सेना के प्रमुख भी रहे और बाद में पाकिस्तान के राष्ट्रपति भी रहे। साल 1998 में परवेज मुशर्रफ जनरल बने।

उन्होंने भारत के खिलाफ कारगिल जैसे युद्ध की साजिश रची। लेकिन भारत के बहादुर सैनिकों ने उनकी हर चाल पर पानी फेर दिया। अपनी जीवनी ‘इन द लाइन ऑफ फायर - अ मेमॉयर' में जनरल मुशर्रफ ने लिखा कि उन्होंने कारगिल पर कब्जा करने की कसम खाई थी।

1998 में रहे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने परवेज मुशर्रफ को सेना प्रमुख बनाया था। लेकिन एक साल बाद ही 1999 में जनरल मुशर्रफ ने नवाज शरीफ का तख्तापलट कर दिया और पाकिस्तान के तानाशाह बन गए। पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति मुशर्रफ के निधन पर डीडी न्यूज़ के वरिष्ठ पत्रकार अशोक श्रीवास्तव ने भी ट्वीट कर अपनी राय प्रकट की है।

उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि भारत के अभिन्न अंग कश्मीर को हथियाने के लिए कितने गाज़ी आए और चले गए ! कितने अफ़ज़ल घर से निकले और मुर्दाघर पहुंच गए। हमारी संस्कृति हमारे संस्कार नहीं हैं कि हम किसी की मौत पर हंसे, पर कारगिल के बलिदानियों को कैसे भूल जाएं।

पत्रकार अशोक श्रीवास्तव द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं। 

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

मोहन भागवत के इस बयान को अभिषेक उपाध्याय ने बताया क्रांतिकारी

रविवार को मुंबई में संत रोहिदास जयंती पर आयोजित एक कार्यक्रम में मोहन भागवत ने यह विचार प्रकट किए हैं। उन्होंने कहा, 'देश में हिन्दू समाज के नष्ट होने का भय दिख रहा है क्या?

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 06 February, 2023
Last Modified:
Monday, 06 February, 2023
Abhishek Upadhyay Mohan Bhagwat

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) प्रमुख मोहन भागवत ने जाति व्यवस्था को लेकर एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने, कहा कि जाति भगवान ने नहीं बनाई है, जाति पंडितों ने बनाई जो गलत है। भगवान के लिए हम सभी एक हैं। हमारे समाज को बांटकर पहले देश में आक्रमण हुए, फिर बाहर से आए लोगों ने इसका फायदा उठाया। 

रविवार को मुंबई में संत रोहिदास जयंती पर आयोजित एक कार्यक्रम में मोहन भागवत ने यह विचार प्रकट किए हैं। उन्होंने आगे कहा, 'देश में हिन्दू समाज के नष्ट होने का भय दिख रहा है क्या? यह बात आपको कोई ब्राह्मण नहीं बता सकता, आपको समझना होगा। हमारी आजीविका का मतलब समाज के प्रति भी जिम्मेदारी होती है। हर काम समाज के लिए है तो कोई ऊंचा, नीचा, या कोई अलग कैसे हो गया? 

मोहन भागवत के इस बयान पर वरिष्ठ पत्रकार अभिषेक उपाध्याय ने भी अपनी राय प्रकट की है और  मोहन भागवत को क्रांतिकारी पुरुष बताया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, संघ प्रमुख मोहन भागवत अब तक के सबसे क्रांतिकारी और परिवर्तनकारी सरसंघचालक हैं। पहले गोलवलकर जी की 'बंच ऑफ थॉट्स' के विवादित हिस्सों को हटा देना, फिर ये कहना कि मुसलमानो के बिना हिंदुत्व अधूरा है और अब जाति के लिए पंडितों पर प्रहार करना। ये अब तक अकल्पनीय था!

वरिष्ठ पत्रकार अभिषेक उपाध्याय के द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

मोदी सरकार के केंद्रीय बजट की अमिश देवगन ने कुछ यूं की तारीफ

इस बजट ने वित्त मंत्री ने ऐसी कई योजनाओं का ऐलान किया, जिससे सीधे तौर पर गरीबों को लाभ मिलने वाला है। वहीं, इनकम टैक्स छूट की सीमा को 7 लाख तक कर मध्यमवर्ग को भी कुछ राहत देने की कोशिश सरकार ने की है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 04 February, 2023
Last Modified:
Saturday, 04 February, 2023
Amish Devgan

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक फरवरी को केंद्रीय बजट पेश किया है। यह मोदी सरकार 2 .0 का अंतिम पूर्णकालिक बजट है। इस बजट में वित्त मंत्री ने ऐसी कई योजनाओं का ऐलान किया, जिससे सीधे तौर पर गरीबों को लाभ मिलने वाला है वहीं इनकम टैक्स छूट की सीमा को 7 लाख तक कर मध्यमवर्ग को भी कुछ राहत देने की कोशिश सरकार ने की है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस बजट को आजादी के अमृतकाल का पहला बजट बताया है। उन्होंने कहा कि दुनियाभर में सुस्ती के बावजूद हमारी मौजूदा ग्रोथ का अनुमान 7 फीसदी के आसपास बरकरार है और चुनौती के इस वक्त में भारत तेजी से विकास की तरफ बढ़ रहा है।

दुनियाभर के लोगों ने भारत के विकास की सराहना की है और ये बजट अगले 25 साल का ब्लू प्रिंट है। सरकार के द्वारा पेश किए गए इस बजट की वरिष्ठ पत्रकार और न्यूज़18इंडिया में सीनियर एंकर अमिश देवगन ने भी सराहना की है। उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करते हुए सरकार के इस बजट की तारीफ की है।

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, चुनावी साल होने के बावजूद मोदी सरकार के बजट में रेवडियां नहीं बांटी गई। बजट का फ़ाइन प्रिंट देखें तो ये बजट अगले 4-5 साल तक के लिए आर्थिक विकास के साथ देश की तरक़्क़ी का एजेंडा दिखाता है। इससे ये साफ़ है कि पीएम मोदी को जनता के लिए किए गए काम पर 2024 के लिए काफ़ी भरोसा है।

अमिश देवगन के द्वारा किए गए इस ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं। 

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

अडानी समूह के मामले पर हर्षवर्धन त्रिपाठी ने जताई साजिश की आशंका, कही ये बात

अडानी समूह में भारतीय जीवन बीमा निगम के निवेश पर भी सवाल उठ रहे हैं। अफवाह फैल रही है कि एलआईसी अडानी के कारण डूब सकता है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 04 February, 2023
Last Modified:
Saturday, 04 February, 2023
harshvardhan

अडानी ग्रुप को लेकर इस समय देश में एक नई बहस छिड़ी हुई है। सड़क से लेकर संसद तक हंगामा जारी है। दरअसल, हिंडनबर्ग की रिपोर्ट आने के बाद से अडानी के शेयर्स में भारी गिरावट हो रही है। इस बीच, विपक्ष ने भी अडानी समूह पर जांच की मांग शुरू कर दी है।

दूसरी ओर अडानी ग्रुप में भी अपना पक्ष रखा है और यह स्पष्ट किया है कि उनके शेयर की कीमतों से कोई भी छेड़छाड़ नहीं की गई है। इन सबके बीच, गौतम अडानी दुनिया के 10 अमीरों की सूची से बाहर हो गए हैं। अडानी समूह में भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) के निवेश पर भी सवाल उठ रहे हैं।

अफवाह फैल रही है कि एलआईसी अडानी के कारण डूब सकता है। वहीं, एलआईसी ने बताया कि अडानी समूह के बॉन्ड और इक्विटी में उसके 36,474.78 करोड़ रुपये लगे हैं और यह राशि बीमा कंपनी के कुल निवेश का एक फीसदी से भी कम है। एलआईसी की प्रबंधन के अधीन कुल परिसंपत्ति सितंबर 2022 तक 41.66 लाख करोड़ रुपये से अधिक थी।

इस हिसाब से देखें तो निवेशकों का धन पूरी तरह से सुरक्षित नजर आ रहा है। इस पूरे मसले पर वरिष्ठ पत्रकार हर्षवर्धन त्रिपाठी ने ट्वीट कर किसी साजिश की आशंका व्यक्त की है।

उन्होंने ट्विटर पर लिखा, भारतीय बैंकों से अदानी ने न्यूनतम कर्ज ले रखा है। एसबीआई सहित सभी बैंकों ने स्थिति स्पष्ट की है, लेकिन असल बात यही है कि गौतम अडानी को निशाने पर लेकर लोकसभा चुनाव से पहले भारतीय अर्थव्यवस्था को कमजोर दिखाने का अफवाह तंत्र मजबूत करना है। भले ही इसमें छोटे निवेशक बर्बाद हो जाएँ।

बता दें कि भारतीय स्टेट बैंक ने जानकारी देते हुए रिजर्व बैंक को बताया ​है कि अडानी समूह को बैंक की ओर से 23000 करोड़ रुपये का कर्ज दिया है। वहीं पंजाब नेशनल बैंक की ओर से बताया गया है कि अडानी समूह को 7000 करोड़ रुपये का कर्ज प्रदान किया गया है। 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

ऐसे सबस्क्राइबर्स के साथ अपना ऐड रेवेन्यू शेयर करेगा Twitter

माइक्रोब्लॉगिंग साइट ‘ट्विटर’ (Twitter) में आए दिन नए बदलाव देखने को मिल रहे हैं। अब ‘ट्विटर’ ने घोषणा की है कि वह विज्ञापन से होने वाली कमाई को कंटेंट क्रिएटर्स के साथ शेयर करेगा।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 04 February, 2023
Last Modified:
Saturday, 04 February, 2023
Twitter

माइक्रोब्लॉगिंग साइट ‘ट्विटर’ (Twitter) में आए दिन नए बदलाव देखने को मिल रहे हैं। अब ‘ट्विटर’ ने घोषणा की है कि वह विज्ञापन से होने वाली कमाई को कंटेंट क्रिएटर्स के साथ शेयर करेगा।

ट्विटर के सीईओ एलन मस्क ने इस बारे में एक ट्वीट भी किया है। अपने ट्वीट में एलन मस्क का कहना है, ‘ट्वीट थ्रेड के बीच में आने वाले विज्ञापन या वीडियो के साथ आने वाले विज्ञापन से होने वाली कमाई अब कंटेंट क्रिएटर के साथ साझा की जाएगी। लेकिन यह सुविधा सिर्फ ट्विटर के ब्लू टिक सबस्क्राइबर्स को मिलेगी।

हालांकि, मस्क ने यह स्पष्ट नहीं किया है कि यूजर्स के साथ कितना हिस्सा शेयर किया जाएगा। लेकिन उम्मीद जताई जा रही है कि एलन मस्क के इस प्लान से ट्विटर के ब्लू टिक सबस्क्राइबर्स की संख्या में इजाफा होगा।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

28 महीने बाद जेल से रिहा हुए पत्रकार सिद्दीकी कप्पन, ट्विटर पर यूं जाहिर की खुशी

दो मामलों में सशर्त जमानत मिलने के एक महीने से अधिक समय बाद लखनऊ की एक विशेष अदालत ने कप्पन की रिहाई के आदेश पर हस्ताक्षर किए हैं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 04 February, 2023
Last Modified:
Saturday, 04 February, 2023
aaaa

लखनऊ की जेल में बंद केरल के पत्रकार सिद्दीकी कप्पन को 28 महीने बाद जेल से रिहाई मिल गई। वह गुरुवार की सुबह जेल से रिहा हुए। बता दें कि 23 दिसंबर को हाई कोर्ट से सिद्दीकी कप्पन को सशर्त जमानत मिली थी।

दो मामलों में सशर्त जमानत मिलने के एक महीने से अधिक समय बाद लखनऊ की एक विशेष अदालत ने कप्पन की रिहाई के आदेश पर हस्ताक्षर किए हैं। कप्पन को जिन शर्तों पर जमानत मिली है, उसमें कहा गया है कि वह दिल्ली में जंगपुरा पुलिस के अधिकार क्षेत्र में रहेंगे और निचली अदालत की स्पष्ट अनुमति के बिना दिल्ली के अधिकार क्षेत्र को नहीं छोड़ेंगे।

कप्पन प्रत्येक सोमवार को स्थानीय पुलिस थाने में अपनी उपस्थिति दर्ज कराएंगे और यह शर्त अगले छह सप्ताह के लिए लागू होगी। इसी बीच पत्रकार सिद्दीकी कप्पन ने ट्वीट कर अपनी ख़ुशी जाहिर की है।

उन्होंने ट्विटर पर लिखा, जिन लोगों ने मुझे मुश्किल समय में आवाज दी, मेरे और मेरे परिवार के साथ खड़े रहने वाले सभी लोगों का दिल की गहराइयों से धन्यवाद। आज दो साल बाद आप लोगों के प्यार और समर्थन के कारण मैंने खुली हवा में सांस ली है। आप सबको एक बार फिर धन्यवाद।

आपको बता दें, सिद्दीकी कप्पन को अक्टूबर 2020 में गिरफ्तार किया गया था, जब वह उत्तर प्रदेश के हाथरस जा रहे थे, जहां कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार के बाद 20 वर्षीय एक दलित लड़की की मौत हो गई थी। यूपी सरकार ने गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम (UAPA) के तहत केरल के पत्रकार के खिलाफ मामला दर्ज किया था।   

 


 

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

सीएम खट्टर के इस बयान पर बोले अमिताभ अग्निहोत्री, क्या वाकई देश इतना कमजोर है?

दरअसल, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और झारखंड जैसे कुछ राज्यों ने पुरानी पेंशन योजना को लागू कर दिया है और बाकी राज्य इसके लिए योजना बना रहे हैं।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 03 February, 2023
Last Modified:
Friday, 03 February, 2023
amitabh454545

पुरानी पेंशन योजना को लेकर देश में एक बार नई बहस छिड़ गई है। दरअसल, हाल ही में भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने भी कुछ कांग्रेस शासित राज्यों द्वारा पुरानी पेंशन योजना को लागू करने पर चेतावनी दी थी। अपनी ताजा रिपोर्ट में भारतीय रिजर्व बैंक ने कहा कि वर्तमान के खर्चों को भविष्य के लिए स्थगित करके राज्य आने वाले वर्षों में अनफंडेड पेंशन देनदारियों का जोखिम उठा रहे हैं।

दरअसल, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और झारखंड जैसे कुछ राज्यों ने पुरानी पेंशन योजना को लागू कर दिया है और बाकी राज्य इसके लिए योजना बना रहे हैं। इसी मुद्दे पर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि मनमोहन सिंह एक महान अर्थशास्त्री हैं और उन्होंने 2006 में कहा था कि पुरानी पेंशन योजना भारत को पिछड़ा बना देगी, क्योंकि इस योजना का दृष्टिकोण अदूरदर्शी है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे WhatsApp पर एक मैसेज मिला, जिसमें केंद्र सरकार के एक अधिकारी ने कहा कि अगर पुरानी पेंशन योजना (OPS) लागू होती है तो देश 2030 तक दिवालिया हो जाएगा। उनके इस बयान पर वरिष्ठ पत्रकार और टीवी 9 उत्तरप्रदेश/ उत्तराखंड के सलाहकार संपादक अमिताभ अग्निहोत्री ने ट्वीट कर चुटकी ली है।

उन्होंने ट्विटर पर ट्वीट करते हुए लिखा, ' हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कल कहा कि WhatsApp पर एक अधिकारी का मैसेज आया जिसमें बताया गया कि अगर पुरानी पेंशन योजना को लागू किया तो 2030 तक देश दिवालिया हो जाएगा ! क्या सच में हमारा देश इतना कमजोर है?

वरिष्ठ पत्रकार अमिताभ अग्निहोत्री के द्वारा किए गए ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं। 

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए