पत्रकारों के लिए AIR में कई वैकेंसी, नौ अगस्त तक कर सकते हैं आवेदन

यह सभी पद दिल्ली के लिए हैं, लिखित परीक्षा और इंटरव्यू के आधार पर होगा चयन

पंकज शर्मा by पंकज शर्मा
Published - Monday, 15 July, 2019
Last Modified:
Monday, 15 July, 2019
Air

देश की पब्लिक ब्रॉडकास्ट कंपनी ‘प्रसार भारती’ (Prasar Bharati)  के तहत ‘ऑल इंडिया रेडियो’ (AIR) में काम करने का पत्रकारों के लिए बहुत ही अच्छा अवसर सामने आया है। दरअसल, ‘ऑल इंडिया रेडियो’ में न्यूज एडिटर (हिंदी-अंग्रेजी), न्यूज रीडर (अंग्रेजी), न्यूज रीडर कम ट्रांसलेटर (हिंदी) और वेब एडिटर के पदों पर वैकेंसी है। इसके लिए इच्छुक आवेदकों से आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। यह सभी पद दिल्ली के लिए हैं और कैजुअल आधार पर भरे जाने हैं। आवेदन भेजने की अंतिम तिथि 09 अगस्त, 2019 रखी गई है। इन पदों पर चयन लिखित परीक्षा और साक्षात्कार के बाद किया जाएगा। पूर्ण रूप से भरे गए आवेदन पत्र निर्धारित तिथि से पहले वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी, समाचार सेवा प्रभाग, आकाशवाणी, नवप्रसारण भवन, संसद मार्ग, नई दिल्ली-110001 के पते पर पहुंच जाने चाहिए।

शैक्षिक योग्यता के तहत न्यूज एडिटर (हिंदी-अंग्रेजी) के लिए मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक के साथ ही मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय/संस्थान से पत्रकारिता में डिग्री अथवा एक वर्ष का पीजी डिप्लोमा अथवा रिपोर्टंग/प्रिंट/इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में एडिटिंग का पांच वर्ष का अनुभव होना चाहिए। इसके साथ ही भाषा पर अच्छी पकड़ होने का साथ ही कंप्यूटर पर काम करना आना चाहिए।

वहीं, न्यूज रीडर (अंग्रेजी) और न्यूज रीडर कम ट्रांसलेटर (हिंदी) पद के लिए मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक के साथ ही भाषा में दक्षता होनी चाहिए और प्रसारण के अनुकूल आवाज होनी चाहिए। रेडियो में पत्रकारिता का अनुभव होने के साथ ही कंप्यूटर पर काम करना आना चाहिए। इसके अलावा वेब संपादक पद के लिए मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक के साथ ही मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय/संस्थान से पत्रकारिता में डिग्री अथवा एक वर्ष का पीजी डिप्लोमा अथवा रिपोर्टंग/प्रिंट/इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में एडिटिंग का पांच वर्ष का अनुभव होना चाहिए। इसके अलावा कंप्यूटर पर काम करना आना चाहिए।

इस बारे में नियम व अन्य शर्तों की विस्तृत जानकारी के लिए हिंदी अंग्रेजी दोनों भाषाओं के लिए अलग-अलग लिंक दिए जा रहे हैं, जहां पर आप क्लिक कर सकते हैं।   

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

पत्रकार अमित राजपूत की रेडियो की दुनिया में वापसी, मिली नई जिम्मेदारी

हाल ही में अमित राजपूत ने चीन की एक वेबसाइट से इस्तीफा दिया है, जहां ये क्रिएटिव कंटेंट के लिए सपोर्ट कर रहे थे

समाचार4मीडिया ब्यूरो by समाचार4मीडिया ब्यूरो
Published - Tuesday, 05 November, 2019
Last Modified:
Tuesday, 05 November, 2019
Amit Rajpoot

कुछ सालों से ब्रॉडकास्टिंग की दुनिया से दूर रहे रेडियो पत्रकार अमित राजपूत एक बार फिर से नई जिम्मेदारी के साथ वापस लौटे हैं। अमित राजपूत ने बतौर प्रोग्राम को-ऑर्डिनेटर भारतीय जनसंचार संस्थान (IIMC) के सामुदायिक रेडियो ‘96.9 एफएम-अपना रेडियो’ को जॉइन कर लिया है।

अमित राजपूत IIMC के 2014-15 बैच के छात्र भी रहे हैं। आकाशवाणी महानिदेशालय में दिल्ली स्टेशन के प्रधानमंत्री के विशेष कार्यक्रम ‘मन की बात’ से कॅरियर की शुरुआत करने वाले अमित राजपूत मूलरूप से उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले के रहने वाले हैं। अमित राजपूत को आकाशवाणी में ‘मन की बात’ के अलावा एफएम रेनबो और एफएम गोल्ड में विशेष रूप से काम का अनुभव है। इसके अलावा अमित राजपूत प्रसार भारती द्वारा क्रॉस चैनल पब्लिसिटी और क्रॉस मीडिया पब्लिसिटी के लिए गठित प्रोग्राम प्रमोशन यूनिट की स्क्रीनिंग कमेटी के सदस्य भी रहे हैं।

आकाशवाणी के बाद इन्होंने ब्रॉडकास्टिंग की दुनिया से किनारा कर लिया था और वर्ष 2017 के यूपी विधानसभा चुनावों की कवरेज के लिए लखनऊ चले गये। वहां आउटलुक फेम योगेश मिश्रा के संस्थान न्यूजट्रैक डॉट कॉम और हिंदी साप्ताहिक ‘अपना भारत’ में काम किया। हाल ही में अमित राजपूत ने चीन की एक वेबसाइट से इस्तीफा दिया है, जहां ये क्रिएटिव कंटेंट के लिए सपोर्ट कर रहे थे।

इसके अलावा अमित राजपूत अपनी किताब ‘अंतर्वेद प्रवरः गणेश शंकर विद्यार्थी’ पर काम कर रहे थे, जो कि शीघ्र ही लॉन्च होने जा रही है। इससे पूर्व अमित राजपूत विदेश मंत्रालय की एक कॉफी-टेबल बुक ‘अभूतपूर्व संपर्क- असाधारण सफलताएं’ का वर्तनी शुद्धिकरण भी कर चुके हैं। इस यात्रा के बाद अमित राजपूत एक बार फिर से ब्रॉडकास्टिंग की ओर लौटे हैं और अपना रेडियो में हेड ऑफ प्रोग्रामिंग राजेन्द्र चुघ के बाद टीम के वाइस कैप्टन की भूमिका में बतौर प्रोग्राम को-ऑर्डिनेटर नई जिम्मेदारी संभाल रहे हैं।

आप अपनी राय, सुझाव और खबरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। (हमें फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और यूट्यूब पर फॉलो करें)

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

अब इस नाम से जाने जाएंगे जम्मू, श्रीनगर और लेह के रेडियो स्टेशन

31 अक्टूबर से जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के दो केंद्र शासित प्रदेश बनने के साथ ही जम्मू, श्रीनगर और लेह के रेडियो स्टेशनों का नाम बदल दिया गया है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by समाचार4मीडिया ब्यूरो
Published - Thursday, 31 October, 2019
Last Modified:
Thursday, 31 October, 2019
Radio

सरदार बल्लभ भाई पटेल की जयंती पर 31 अक्टूबर से जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के दो केंद्र शासित प्रदेश बनने के साथ ही जम्मू, श्रीनगर और लेह के रेडियो स्टेशनों का नाम बदल दिया गया है। अब ये रेडियो स्टेशन ‘ऑल इंडिया रेडियो जम्मू’, ‘ऑल इंडिया रेडियो श्रीनगर’ और ‘ऑल इंडिया रेडियो लेह’ के नाम से जाने जाएंगे।

इसके साथ ही इन रेडियो स्टेशनों की पहचान के लिए की जाने वाली उद्घोषणाएं भी आज से बदल जाएंगी और अब इसे रेडियो कश्मीर के बजाय ऑल इंडिया रेडियो/आकाशवाणी के नाम से जाना जाएगा। नई व्यवस्था के तहत जम्‍मू कश्‍मीर में रेडियो कश्‍मीर की जगह अब ऑल इंडिया रेडियो का प्रसारण होगा।

आप अपनी राय, सुझाव और खबरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। (हमें फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और यूट्यूब पर फॉलो करें)

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

रेडियो चैनल के खिलाफ शिकायत दर्ज, लगा ये आरोप

शिकायतकर्ता का आरोप है कि तमाम बार कहने के बावजूद सुनने के लिए तैयार नहीं हैं रेडियो चैनल्स

Last Modified:
Monday, 28 October, 2019
Radio

चंडीगढ़ में एक रेडियो चैनल के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई है। रेडियो चैनल पर अश्लीलता, शराब और गन कल्चर को प्रमोट करने वाले गाने बजाने का आरोप है। पोस्ट ग्रेजुएट गवर्नमेंट कॉलेज (पीजीजीसी) में समाज शास्त्र विभाग के प्रो. पंडित राव धरेनवर ने इंडस्ट्रियल एरिया स्थित रेडियो चैनल के खिलाफ डीडीआर दर्ज कराई है। आरोप है कि पंजाब-हरियाणा हाई कोर्ट के आदेश के बावजूद रेडियो चैनल शराब को प्रमोट करने वाले गाने बजा रहे हैं।

अपनी शिकायत में पंडित राव धरेनवर का कहना है कि 24 अक्टूबर की शाम 5.07 बजे रेडियो चैनल ने शराब को प्रमोट करने वाला गाना चलाया। उन्होंने रेडियो चैनल में फोन कर इस गाने को चलाने के पीछे मकसद भी पूछा, लेकिन कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला। इसके बाद उन्होंने यह कदम उठाया।

आप अपनी राय, सुझाव और खबरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। (हमें फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और यूट्यूब पर फॉलो करें)

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

BBC का इतना मुस्लिम प्रेम नहीं भाया, सिख पत्रकार ने लिया ये निर्णय

पत्रकार के अनुसार, बीबीसी को डर था कि कार्यक्रम से उसके मुस्लिम श्रोता नाराज हो सकते हैं

Last Modified:
Friday, 04 October, 2019
BBC

भारतीय मूल के ब्रिटिश पत्रकार लॉर्ड इन्द्रजीत सिंह ने बीबीसी के साथ 35 साल पुराना रिश्ता तोड़ दिया है। इसकी वजह उन्होंने मीडिया संस्थान की समुदाय विशेष के प्रति अत्यधिक संवेदनशीलता बताई है। सिंह बीबीसी रेडियो 4 के लोकप्रिय कार्यक्रम ‘थॉट फॉर द डे’ को प्रेजेंट करते थे। उन्हें ब्रिटेन में सिख समुदाय की आवाज माना जाता है।

लॉर्ड सिंह के मुताबिक, बीबीसी ने उन्हें सिख गुरु तेग बहादुर के बारे में चर्चा करने से रोकने की कोशिश की, जिन्होंने 17वीं शताब्दी में भारत में हिंदुओं को जबरन मुस्लिम बनाये जाने के खिलाफ लड़ाई लड़ी थी। सिंह का कहना है कि बीबीसी को डर था कि कार्यक्रम से उसके मुस्लिम श्रोता नाराज हो सकते हैं, जबकि उनकी स्क्रिप्ट में इस्लाम की आलोचना जैसा कुछ नहीं था। बीबीसी का यह रवैया उसकी ‘पूर्वग्रह और असहिष्णुता'से ग्रस्त मानसिकता दर्शाता है।

हालांकि, मीडिया समूह ने इन्द्रजीत सिंह के आरोपों को बेबुनियाद करार दिया है। बीबीसी के एक प्रवक्ता ने कहा कि 'थॉट फॉर द डे’ एक सजीव, सामयिक सेगमेंट है और समाचारों को व्यापक स्तर पर पहुंचाने के लिए संपादकीय बदलाव असामान्य नहीं होते, यह एक सामान्य प्रक्रिया है। हम सिंह से पूरी तरह असहमत हैं।

मीडिया से बातचीत में सिंह ने बीबीसी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा, ‘बीबीसी ने जो किया, वो कुछ ऐसा है जैसे किसी ईसाई से कहना कि यहूदियों के डर से उसे ईस्टर के बारे में बात नहीं करनी चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि 'थॉट्स ऑफ द डे’ का उद्देश्य अब पूरी तरह से बदल दिया गया है। मुझे विश्वास है कि यदि सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक और यहां तक कि ईसा मसीह जीवित होते तो उन्हें भी 'थॉट्स फॉर द डे' में शामिल नहीं किया जाता।‘

आप अपनी राय, सुझाव और खबरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। (हमें फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और यूट्यूब पर फॉलो करें)

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

रेडियो जॉकी के साथ हुई बड़ी घटना, पुलिस तक पहुंचा मामला

घटना के दौरान दिल्ली में ओखला स्थित अपने स्टूडियो से घर लौट रहे थे रेडियो जॉकी

समाचार4मीडिया ब्यूरो by समाचार4मीडिया ब्यूरो
Published - Saturday, 07 September, 2019
Last Modified:
Saturday, 07 September, 2019
Radio Jockey

दिल्ली के महेंद्रा पार्क इलाके में निजी एफएम चैनल के रेडियो जॉकी (आरजे) से जबरन रुपए अपने खाते में डलवाने का मामला सामने आया है। बताया जाता है कि आरोपित ने जबरन रेडियो जॉकी से पेटीएम के द्वारा अपने अकाउंट में बीस हजार रुपए डलवा लिए और फरार हो गया। पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपित की तलाश शुरू कर दी है।

लव खेत्रपाल (27) एक एफएम चैनल में रेडियो जॉकी हैं। गुरुवार की रात वह ओखला स्थित अपने स्टूडियो से घर लौट रहे थे। रात करीब आठ बजे मुकरबा चौक पर आगे चल रही फॉर्च्यूनर गाड़ी से उनकी कार टकरा गई।

इसके बाद फॉर्च्यूनर गाड़ी के चालक ने नुकसान की भरपाई के नाम पर लव को धमकी देते हुए जबरन उनके पेटीएम अकाउंट से 20 हजार रुपए अपने खाते में डलवा लिए। हालांकि पुलिस अधिकारी ने बताया कि जांच के दौरान आरोपित ने लव के खाते में रुपए वापस भी कर दिए हैं। फिलहाल पुलिस ने उसकी तलाश शुरू कर दी है।

आप अपनी राय, सुझाव और खबरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। (हमें फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और यूट्यूब पर फॉलो करें)

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

अपनी मांगों को लेकर आकाशवाणी कर्मियों ने लिया अब ये फैसला

पिछले हफ्ते हुई ऑल इंडिया रेडियो कैजुअल अनाउंसर एंड कॉम्पीयर्स यूनियन की बैठक में उठाए गए कई मुद्दे

समाचार4मीडिया ब्यूरो by समाचार4मीडिया ब्यूरो
Published - Tuesday, 03 September, 2019
Last Modified:
Tuesday, 03 September, 2019
All India Radio

आकाशवाणी महानिदेशालय द्वारा किए जा रहे शोषण के विरुद्ध व अपनी मांगों को लेकर देश भर के कैजुअल अनाउंसर/काम्पीयर्स/आरजे 13 सितंबर को महिला आयोग और महानिदेशालय के समक्ष धरना-प्रदर्शन करेंगे। ऑल इंडिया रेडियो कैजुअल अनाउंसर एंड कॉम्पीयर्स यूनियन (AIRCACU) के राष्ट्रीय अध्यक्ष हरिकृष्ण शर्मा ने बताया कि पिछले सप्ताह दिल्ली में हुई यूनियन की बैठक में यह निर्णय लिया गया।

उनका कहना था कि देशभर के आकाशवाणी केन्द्रों के कैजुअल अनाउंसर/कॉम्पीयर्स/आरजे करीब चार साल से सरकार के सामने अपने  नियमितीकरण की गुहार लगा रहे हैं, लेकिन आकाशवाणी महानिदेशालय और सरकार इनकी सुनवाई नहीं कर रही है। ऐसे में, दिनोंदिन आकाशवाणी महानिदेशालय द्वारा इनका शोषण बढ़ता जा रहा है।

उन्होंने बताया कि महिलाओं के शोषण के विरोध में यूनियन ने महिला आयोग से गुहार लगाई। इस पर महिला आयोग ने आकाशवाणी महानिदेशालय को तलब किया, लेकिन महानिदेशालय ने अभी तक दोषी अधिकारियों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की है। न ही पीड़ित महिलाओं की ड्यूटी शुरू की है और न ही किसी मुआवजे का ऐलान किया है, जिससे यूनियन से जुड़ी महिलाओं में भारी रोष है और ये सभी 13 सितंबर को प्रदर्शन के लिए महिला आयोग के समक्ष पहुंचेंगी।

यूनियन की महासचिव डॉ. शबनम खानम ने बताया कि वो महिलाओ को न्याय दिलाने के लिये महिला आयोग के संपर्क में हैं, पर अभी तक आयोग ने भी इन्हें कोई विशेष राहत प्रदान नहीं की है। यूनियन के वरिष्ठ उपाध्यक्ष महेश शर्मा ने बताया कि आकाशवाणी महानिदेशालय,परफारमेंस रिव्यू/री स्क्रीनिंग की आड़ में स्वर/लिखित/एवं साक्षात्कार परीक्षा का आयोजन कर वर्षों से कार्य कर रहे अनुभवी कैजुअल कर्मियों को आकाशवाणी से बाहर निकालने तथा इनकी जगह नए लोगों,अपने रिश्तेदारों के चयन की गलत नीति तथा तथ्यों पर अण्डरटेकिंग जैसी शोषणकारी नीति अपना रहा है।

उन्होंने बताया कि इसके विरोध में ऑल इंडिया कैजुअल अनाउंसर एंड कॉम्पीयर्स रजिस्ट्रर्ड यूनियन ने सितंबर 2017 और जुलाई 2018 में महानिदेशालय का घेराव किया व सामूहिक रूप से पुलिस को अपनी गिरफ्तारियां दीं। पुलिस के सहयोग से प्रसार भारती के सीईओ व अन्य अधिकारियों से कई मुद्दों पर बातचीत हुई, लेकिन उचित मांगों पर अधिकारियों ने कोई भी वांछित कार्यवाही नहीं की। इसलिए यूनियन ने 13 सितंबर को आकाशवाणी महानिदेशालय के घेराव का निर्णय लिया है

आप अपनी राय, सुझाव और खबरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। (हमें फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और यूट्यूब पर फॉलो करें)

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

AIR: कॉन्ट्रैक्ट पर काम कर रहे स्टाफ पर नई कंपनी का 'सितम'

आकाशवाणी में रोजमर्रा के टाइपिंग संबंधी काम के लिये डाटा एंट्री ऑपरेटर और मल्टी टास्किंग स्टाफ के तौर पर युवाओं को कॉन्ट्रैक्ट पर रखा गया है

Last Modified:
Friday, 30 August, 2019
AIR

ऑल इंडिया रेडियो (आकाशवाणी) में कॉन्ट्रैक्ट पर कार्यरत डाटा एंट्री ऑपरेटर और मल्टी टास्किंग स्टाफ (MTS) से नई कंपनी द्वारा आठ हजार रुपए प्रति व्यक्ति मांगे जाने का मामला सामने आया है। आरोप है कि रकम अदा नहीं करने अथवा देने से मना करने की स्थिति में उन्हें नौकरी से निकालने की धमकी भी जा रही है| दरअसल, आकाशवाणी में रोजमर्रा के टाइपिंग संबंधी काम के लिये डाटा एंट्री ऑपरेटर और मल्टी टास्किंग स्टाफ के तौर पर करीब 200 युवाओं को कॉन्ट्रैक्ट पर रखा गया है | इनमें से कई युवा वर्षों से यहीं काम कर रहे हैं|

आरोप है कि आकाशवाणी महानिदेशालय और प्रसार भारती ने जानबूझकर युवाओं को सीधे रोजगार न देकर एक प्राइवेट कंपनी को कॉन्ट्रैक्ट दे रखा है, जो आवश्यकता अनुसार डाटा एंट्री ऑपरेटर और एमटीएस मुहैय्या कराती है| जून 2014 से ‘ट्रायो सिक्योरिटी एजेंसी’ (trio security agency) को कॉन्ट्रैक्ट मिला हुआ था| बताया जाता है कि लाजपत नगर स्थित यह एजेंसी संस्थाओं को सिक्योरिटी गार्ड्स मुहैया कराने का काम करती है। अब पटेल नगर दिल्ली स्थित ‘मैक्स प्रोटेक्शन’ (MAX PROTECTION) नामक जिस कंपनी को कॉन्ट्रैक्ट दिया जा रहा है, वह भी सिक्योरिटी गार्ड्स और डिटेक्टिव सर्विस मुहैया कराने वाली कंपनी है।

आरोप यह भी हैं कि यह कंपनी आकाशवाणी दिल्ली केंद्र और आकाशवाणी महानिदेशालय में डाटा एंट्री ऑपरेटर और एमटीएस के पद पर काम कर रहे युवाओं से 8 हजार रुपए प्रति व्यक्ति मांग रही है| इस बारे में ट्रायो सिक्योरिटी एजेंसी से जुड़े कपिल का कहना है कि उनका कॉन्ट्रैक्ट इस साल खत्म हो गया, इसलिए नई कंपनी को कॉन्ट्रैक्ट दिया जा रहा है। नई कंपनी द्वारा पैसे मांगे जाने की बात पर उन्होंने कहा कि इस तरह का मामला उनकी जानकारी में भी आया है और इस बारे में पीड़ितों को शिकायत करनी चाहिए। वहीं, मैक्स प्रोटेक्शन से जुड़े महादेव ने फोन पर इस बारे में कुछ भी कहने से इनकार कर दिया।

आप अपनी राय, सुझाव और खबरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। (हमें फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और यूट्यूब पर फॉलो करें)

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

अब कम्युनिटी रेडियो की तरफ जमीं सरकार की निगाहें, तय किया ये लक्ष्य

सूचना-प्रसारण मंत्री ने एक समारोह में वर्ष 2018-19 के लिए पांच श्रेणियों में दिए कम्युनिटी रेडियो के राष्ट्रीय पुरस्कार

Last Modified:
Friday, 30 August, 2019
Community Radio

सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने 'सामुदायिक रेडियो के लिए वर्ष 2018-2019 के राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान किए। डॉ. बीआर अम्बेडकर भवन में आयोजित सातवें सामुदायिक रेडियो सम्मेलन में पांच श्रेणियों के लिए उन्होंने ये पुरस्कार दिए। जिन श्रेणियों में पुरस्कार दिए गए, उनमें विषय आधारित, सामुदायिक अनुबंध, स्थानीय संस्कृति को प्रोत्साहन, सर्वाधिक रचनात्मक/नवाचार तथा निरंतरता शामिल थीं। इसके साथ ही उन्होंने नई सरकार के पहले 75 दिनों के खास फैसलों पर आधारित पुस्तिका 'जन कनेक्टः स्‍पष्‍ट नीयत, निर्णायक कदम' भी जारी की।

यह पुस्तिका मंत्रालय के आउटरीच एवं संचार ब्यूरो द्वारा तैयार की गई है। कार्यक्रम को दौरान प्रकाश जावड़ेकर ने यह भी कहा कि वर्तमान में सामुदायिक रेडियो स्टेशनों की संख्या 262 है, सरकार का लक्ष्य इस संख्या में बढ़ोतरी कर इसे 500 करना है, ताकि लोगों तक हर तरह की सूचना पहुंच सके और उनका मनोरंजन भी हो सके।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा रेडियो की ताकत को पहचानने की चर्चा करते हुए जावड़ेकर ने कहा कि पीएम द्वारा शुरू किया गया 'मन की बात' कार्यक्रम अब 'देश की बात' के साथ-साथ प्रत्येक व्यक्ति के 'दिल की बात' बन गया है। इस मौके पर सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय में सचिव अमित खरे ने कहा कि अपनी बोली और भाषा में कही गई बात श्रोताओं पर काफी असर डालती है।

आप अपनी राय, सुझाव और खबरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। (हमें फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और यूट्यूब पर फॉलो करें)

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

AIR ने हटाया PM मोदी से जुड़ा ये ट्वीट

ऑल इंडिया रेडियो ने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकांउट पर किया था ट्वीट, लेकिन कुछ समय बाद ही उसे डिलीट कर दिया

पंकज शर्मा by पंकज शर्मा
Published - Thursday, 08 August, 2019
Last Modified:
Thursday, 08 August, 2019
Radio

ऑल इंडिया रेडियो (AIR) द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम को लेकर ट्वीट करने और बाद में उसे हटा देने को लेकर शुरू हुआ कयासों का दौर समाप्त हो गया है। दरअसल ऑल इंडिया रेडियो ने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकांउट पर जानकारी दी थी कि प्रधानमंत्री आठ अगस्त को अपराह्न चार बजे राष्ट्र को संबोधित करेंगे। इस ट्वीट में बताया गया था कि पीएम का संबोधिन रेडियो के जरिये होगा, जिसका प्रसारण आकाशवाणी के चैनल इंद्रप्रस्थ, एफएम रेनवो और एमएफ गोल्ड पर किया जाएगा, लेकिन एआईआर द्वारा जब ट्वीट डिलीट किया गया तो चर्चाओं का दौर शुरू हो गया।  

आप भी AIR द्वारा किए गए इस ट्वीट को यहां देख सकते हैं, जिसे अब हटा दिया गया है।

जैसा कि कयास लगाया जा रहा था कि प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के समय में फेरबदल के कारण AIR ने यह ट्वीट हटाया था, वह सही साबित हुआ है। प्रधानमंत्री अब आठ अगस्त को अपराह्न चार बजे की बजाय रात आठ बजे राष्ट्र को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) की ओर से इस बारे में ट्वीट कर यह जानकारी दी गई है। पीएमओ की ओर से किए गए ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं-

आप अपनी राय, सुझाव और खबरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। (हमें फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और यूट्यूब पर फॉलो करें)

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

BIG FM ने फेस्टिव सीजन पर गड़ाईं आंखें, बनाई ये स्ट्रैटेजी

एफएम रेडियो नेटवर्क की ओर से इन-हाउस रिसर्च और क्लाइंट्स के फीडबैक के आधार पर लिया गया है निर्णय

पंकज शर्मा by पंकज शर्मा
Published - Monday, 05 August, 2019
Last Modified:
Monday, 05 August, 2019
BIG FM

देश के बड़े एफएम रेडियो नेटवर्क ‘बिग एफएम’ (BIG FM) ने एडवर्टाइजर्स की सहूलियतों को ध्यान में रखते हुए एक नया डानयामिक रेट कार्ड (dynamic rate card) जारी किया है। नए रेट कार्ड की मदद से एडवर्टाइजर्स अब कम बजट में भी अपनी सहूलियत के तहत विभिन्न मार्केट्स में अपने पैर पसार सकेंगे।  

नई व्यवस्था के तहत रेडियो स्टेशन ने ‘Fantastic 8’, ‘Super 6’  और ‘Super 4’ जैसे पैकेज जारी किए हैं। इनमें से एडवर्टाइजर्स अपनी सुविधा और बचत के हिसाब से पैकेज चुन सकते हैं। नए रेट एक अगस्त से तीस सितंबर तक प्रभावी रहेंगे। माना जा रहा है कि फेस्टिव सीजन को देखते हुए इस तरह के रेट कार्ड जारी किए गए हैं।   

‘Fantastic 8’ पैकेज के तहत एडवर्टाइजर्स के लिए सभी आठ प्रमुख मार्केट्स- मुंबई, दिल्ली, बेंगलुरु, हैदराबाद, कोलकाता, चेन्नई, चंडीगढ़ और पुणे उपलब्ध रहेंगे। पैकेज में बिग एफएम की मौजूदगी वाले कोई भी आठ फोकस मार्केट और आठ इमर्जिंग मार्केट्स को लिया जा सकता है।

इसी तरह ‘Super 6 के पैकेज में एडवर्टाइजर्स के लिए छह प्रॉयरिटी मार्केट्स, छह फोकस मार्केट्स और छह इमर्जिंग मार्केट्स को शामिल किया गया है। वहीं, ‘Super 4’ के पैकेज में चार प्रॉयरिटी मार्केट्स, चार फोकस मार्केट्स और चार इमर्जिंग मार्केट्स को शामिल किया गया है। इसके अलावा यदि एडवर्टाइजर्स कोई भी डानयामिक पैकेज खरीदता है तो उसे इमर्जिंग मार्केट में एक के साथ एक का अतिरिक्त ऑफर दिया जाएगा।    

इस बारे में बिग एफएम की बिजनेस हेड राशि महाजन का कहना है, ‘त्योहारों को ध्यान में रखते हुए हम एडवर्टाइजर्स के लिए ऐसा कंप्लीट पैकेज तैयार करना चाहते थे, जो हमारी सर्विस का ज्यादा से ज्यादा लाभ उठा सकें। इन-हाउस रिसर्च और क्लाइंट्स के फीडबैक के आधार पर ये डायनामिक पैकेज तैयार किए गए हैं। रेडियो का क्षेत्र वर्तमान में तेजी से बदल रहा है। ऐसे में एडवर्टाइजर्स की सुविधा को ध्यान में रखते हुए इस तरह की पेशकश की गई है।’

आप अपनी राय, सुझाव और खबरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। (हमें फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और यूट्यूब पर फॉलो करें)

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए