कोविड-19 के दौरान मीडिया की कवरेज को लेकर क्या है आपका मानना?

महामारी के दौरान मीडिया बहुत ही जिम्मेदारी से अपनी भूमिका अदा कर रही है 46.15%
कोरोना संक्रमितों के आंकड़ों के मामलों में मीडिया में नहीं दिखाई दे रही एकरूपता 23.08%
मीडिया को इस दौर में और अधिक जिम्मेदारी का परिचय देना चाहिए 30.77%

बाकी पोल्स देखें


भारत द्वारा तमाम चाइनीज ऐप्स पर लगाए गए बैन को लेकर क्या है आपका मानना?

सरकार का यह कदम काफी सराहनीय है, इससे चीन पर निश्चित रूप से दबाव बनेगा 94.83%
किसी भी तरह के विवाद में इन ऐप्स को नहीं घसीटना चाहिए, सरकार का यह फैसला सही नहीं है 5.17%

अखबारों का अपने ई-पेपर को पेड सबस्क्रिप्शन मॉडल (Paywall) के पीछे ले जाने के बारे में क्या है आपका मानना?

कोरोना काल में आर्थिक संकट से जूझते अखबारों को इस कदम से निश्चित रूप से राहत मिलेगी 22.41%
इंटरनेट पर खबर पढ़ने के लिए अखबारों/मैगजींस द्वारा इस तरह का शुल्क नहीं लिया जाना चाहिए 27.59%
तमाम अखबार पहले से ही इस मॉडल के पीछे चल रहे थे, कुछ और जुड़े हैं, इसमें नया कुछ भी नहीं है 5.17%
ऐसा नहीं लगता कि भुगतान कर लोग डिजिटल रूप से खबर पढ़ने में ज्यादा रुचि दिखाएंगे 44.83%

COVID-19 को लेकर मीडिया की कवरेज पर क्या है आपकी राय?

सही है, इस तरह की कवरेज से कोविड-19 को लेकर लोगों के बीच जागरूकता फैल रही है 63.08%
गलत है, ऐसी कवरेज लोगों में कोविड-19 को लेकर बहुत ज्यादा भय पैदा करती है 36.92%

फेक न्यूज से निपटने के लिए गठित समिति के बारे में क्या है आपका मानना?

दिल्ली सरकार के इस निर्णय से फेक न्यूज पर निश्चित रूप से लगाम लगेगी 17.95%
केंद्र सरकार को भी इस दिशा में जल्द ही कोई ठोस कदम उठाने की जरूरत है 56.41%
आज के दौर में फेक न्यूज पर पूरी तरह से लगाम कसना काफी मुश्किल है 25.64%

TRAI के फैसले के खिलाफ टीवी ब्रॉडकास्टर्स के विरोध को लेकर क्या है आपका मानना

TRAI ने उपभोक्ताओं के हितों को देखते हुए ही यह फैसला लिया है 56.52%
टीवी ब्रॉडकास्टर्स से बातचीत के बाद ही लेना चाहिए था निर्णय 19.57%
टीवी ब्रॉडकास्टर्स अपने फायदे के लिए इस फैसले का विरोध कर रहे हैं 23.91%

2020 में Fake News पर क्या सरकार पूरी तरह से लगा पाएगी लगाम?

हां, 2019 में सरकार द्वारा उठाए गए कदमों से यही लगता है 24.39%
नहीं, सरकार को इसके लिए अभी लंबा सफर तय करना होगा 65.85%
पता नहीं, अभी इस बारे में कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी 9.76%

उप्र में पत्रकारों की सुरक्षा-सम्मान के लिए जारी नए पुलिसिया आदेशों के बारे में क्या है आपका मानना?

स्थिति में किसी तरह के बदलाव की उम्मीद नहीं है, पहले भी ऐसे आदेश जारी होते रहे हैं 44.19%
इस मामले में मुख्यमंत्री द्वारा दखल दिए जाने के बाद निश्चित रूप से सुधार आएगा 23.26%
इन आदेशों का पालन हो रहा है या नहीं, इसके लिए भी व्यवस्था तय करनी चाहिए 32.56%

हनीट्रैप में सामने आ रही कुछ पत्रकारों की भूमिका पर क्या है आपका मानना?

ऐसे पत्रकारों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए 81.82%
ये पत्रकारों को फंसाने की सोची समझी साजिश है 18.18%

पत्रकारों के खिलाफ पुलिसिया उत्पीड़न के बढ़ते मामलों पर क्या है आपकी राय

दोषियों के खिलाफ कड़ा एक्शन लिया जाना चाहिए 78.38%
मीडिया इस तरह के मामलों को ज्यादा हाईलाइट करता है 10.81%
पत्रकारों को खुद को कानून से ऊपर नहीं समझना चाहिए 10.81%

देश की सुस्त अर्थव्यवस्था की मीडिया कवरेज पर क्या है आपका मानना?

मीडिया अपनी जिम्मेदारी पूरी तरह से निभा रहा है 25%
मीडिया पर लोगों का ध्यान भटकाने के आरोप सही हैं 75%