खुशखबरी: अब 5 लाख तक हेल्थ का खर्च उठाएगी त्रिवेंद्र सरकार...

अगर आप अपने इलाज का खर्च उठाने में असमर्थ हैं... अगर आप अपने इलाज का खर्च उठाने में असमर्थ हैं...

Last Modified:
Friday, 13 July, 2018
Samachar4media

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

अगर आप अपने इलाज का खर्च उठाने में असमर्थ हैं, तो त्रिवेंद्र सरकार आपके लिए खुशखबरी लेकर आई है। उत्तराखंड यूनिवर्सल हेल्थ इंश्योरेंस कवर देने वाला देश का संभवत: पहला राज्य बन गया है।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत कैबिनेट ने आयुष्मान भारत योजना के तहत आयुष्मान उत्तराखंड कार्यक्रम को मंजूरी दी है। इस योजना के तहत राज्य के नागरिक के इलाज पर आने वाले पांच लाख रुपए तक के सालाना खर्च को सरकार स्वयं वहन करेगी। आयुष्मान भारत के दायरे में उत्तराखंड के 5.38 लाख लोग आ रहे थे, लेकिन त्रिवेंद्र सरकार ने इसे पूरे प्रदेश में लागू करने का ऐतिहासिक निर्णय लिया है।

प्रदेश के 27 लाख परिवारों को 5 लाख रुपए तक का कैशलेस इलाज देने के लिए त्रिवेंद्र सरकार ने आयुष्मान उत्तराखंड का लाभ देने का फैसला लिया है। निश्चित रूप से सामाजिक सुरक्षा के क्षेत्र में इसे प्रदेश की सबसे बड़ी योजना माना जा रहा है। आयुष्मान भारत से लिंक होने के कारण देश के किसी भी कोने में सूचीबद्ध अस्पतालों में इस योजना के तहत इलाज कराया जा सकेगा।

खास बात ये है कि इस योजना में बीमा कंपनियों की भूमिका खत्म करने की कोशिश है, ऐसे में आयुष्मान उत्तराखंड योजना को एक पारदर्शी और आम जन को राहत पहुंचाने वाली योजना के तौर पर देखा जा रहा है। योजना को इंश्योरेंस मोड की बजाए ट्रस्ट मोड पर चलाया जाएगा।


समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
TAGS s4m
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

सैन्य अधिकारी ने चैनल कर्मियों के संक्रमित होने की फैलायी झूठी खबर, मामला दर्ज

सोशल मीडिया पर कोरोना से जुड़ीं अफवाहों का प्रसार तेजी से हो रहा है। इसी बीच एक शरारती युवक ने एक टीवी चैनल के कर्मचारियों के कोरोना पॉजिटिव होने की अफवाह फैला दी

Last Modified:
Saturday, 23 May, 2020
Corona

सोशल मीडिया पर कोरोना से जुड़ीं अफवाहों का प्रसार तेजी से हो रहा है। इसी बीच एक शरारती युवक ने एक टीवी चैनल के कर्मचारियों के कोरोना पॉजिटिव होने की अफवाह फैला दी, जिसके बाद उसके खिलाफ शिकायत दर्ज हो गई है।

बता दें कि यह खबर उत्तर प्रदेश के नोएडा इलाके की है। इस मामले में पुलिस ने राजेश नामक युवक के खिलाफ थाना फेस-2 में मुकदमा दर्ज किया है।

अपर पुलिस उपायुक्त अंकुर अग्रवाल के मुताबिक, सेक्टर-85 स्थित एक निजी चैनल में काम करने वाले राहुल खन्ना ने थाना फेस-2 में रिपोर्ट दर्ज कराई है कि राजेश नामक युवक ने अपने फेसबुक अकाउंट पर 20 मई को एक विवादित पोस्ट डाला।

शिकायत में कहा गया है कि आरोपी ने अपने पोस्ट में लिखा कि एक चैनल के बाद अब दूसरे चैनल के 19 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव निकले। आरोपी ने लिखा कि यदि कोई संबंधित चैनल का कर्मचारी किसी के आसपास रहता है, तो उससे दूरी बनाएं। उन्होंने बताया कि उक्त पोस्ट के बाद संबंधित चैनल के अधिकारियों ने स्वास्थ्य विभाग से अपने कर्मचारियों की जांच करवाई। जांच में सामने आया कि वर्तमान में चैनल का कोई भी कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव नहीं है। अपर उपायुक्त ने बताया कि थाना फेस- दो में आईटी एक्ट सहित विभिन्न धाराओं में उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

अपर उपायुक्त ने बताया कि प्रारंभिक जांच में पुलिस को पता चला की आरोपी आगरा जिले में है। उन्होंने बताया कि पुलिस ने आरोपी राजेश को देर रात गिरफ्तार कर लिया है। उन्होंने बताया कि आरोपी सेना में राडार अधिकारी के रूप में काम करता है और उसे आगरा जिले से गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि आरोपी को गौतमबुद्ध नगर अदालत में पेश किया जा रहा है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

कोरोना के खिलाफ 'जंग' में यूं भागीदारी निभा रही पर्वतीय भ्रातृ समाज सेवा समिति

कोरोनावायरस (कोविड-19) के खिलाफ ‘जंग’ में लाजपतनगर पर्वतीय भ्रातृ समाज सेवा समिति के कार्यकर्ता जी-जान से जुटे हुए हैं

Last Modified:
Friday, 22 May, 2020
Good Initiative

वैश्विक महामारी कोरोनावायरस (कोविड-19) के खिलाफ ‘जंग’ में उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद स्थित साहिबाबाद में लाजपतनगर पर्वतीय भ्रातृ समाज सेवा समिति के कार्यकर्ता जी-जान से जुटे हुए हैं। इसके तहत संस्था की पूरी टीम लगातार प्रभावित लोगों की मदद कर रही है। इसके तहत पहले तो संस्था की ओर से आसपास की कॉलोनियों को कोरोना मुक्त करने के लिए हर घर को सैनिटाइज किया गया, फिर भूखे-प्यासे प्रवासी श्रमिकों के लिए भोजन का इंतजाम किया गया।

संस्था के कार्यकर्ताओं द्वारा लगभग 400 लोगों को भोजन के पैकेट वितरण किए गए, जिनमें सामुदायिक भवन लाजपतनगर में ठहराए गए 55 श्रमिकों से लेकर अर्थला मोहन नगर व शालीमार गार्डन तक सभी जगह श्रमिकों को भोजन वितरण किया गया। इसी कड़ी में समाज द्वारा अलग-अलग जगह राह गुजरते प्रवासी मजदूर श्रमिकों को पानी की बोतल, बिस्किट के पैकेट वितरित किए गए।

समाज के अध्यक्ष भूपेन्द्र न्याल, महासचिव देवेंद्र जोशी व उनकी पूरी टीम का कहना है, ‘हम यथासंभव जरूरतमंदों की सेवा करते रहेंगे। इस कार्य मे हमारी मातृ शक्ति का भी पूरा सहयोग मिल रहा है। इस महामारी के दौरान लगाए गए रक्तदान शिविर के बाद संस्था के पास फोन आया कि किसी व्यक्ति की जान खतरे में है और उसे खून की सख्त आवश्यकता है। संस्था के कार्यकर्ताओं द्वारा तुरंत फोर्टिस अस्पताल में जाकर रक्तदान किया गया। मानव सेवा से बढ़ कर कोई सेवा नहीं है। हम हर व्यक्ति तक संदेश पहुंचाना चाहते है कि इस संकट की घड़ी में आगे आएं और जरूरतमंदों की मदद करें।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

CMRA ने पत्रकार बृजेश श्रीवास्तव पर जताया भरोसा, सौंपी ये जिम्मेदारी

पत्रकारिता के क्षेत्र में राष्ट्रीय विचारों के प्रवाह के लिए कार्यरत संस्था ‘सेंटर फॉर मीडिया रिसर्च एंड एनालिसिस’ (CMRA) ने बृजेश श्रीवास्तव को अपनी राष्ट्रीय टीम में शामिल कर लिया है

Last Modified:
Friday, 22 May, 2020
Brijesh

पत्रकारिता के क्षेत्र में राष्ट्रीय विचारों के प्रवाह के लिए कार्यरत संस्था ‘सेंटर फॉर मीडिया रिसर्च एंड एनालिसिस’ (CMRA) ने बृजेश श्रीवास्तव को अपनी राष्ट्रीय टीम में शामिल कर लिया है। बता दें कि इस संस्था ने उन्हें राष्ट्रीय कार्यकारिणी का सदस्य नियुक्त किया है।

काशी हिन्दू विश्वविश्वविद्यालय से शिक्षा पूर्ण करने के बाद बृजेश सामाजिक और पत्रकारिता जगत से जुड़ गए। उन्होंने कई वर्ष काशी में पत्रकारिता क्षेत्र  की संस्था विश्व संवाद केन्द्र के प्रमुख का दायित्व निर्वहन किया। बृजेश अमर उजाला, नोएडा में कार्यरत रह चुके हैं, साथ ही आर्थिक जगत की पत्रिका ‘निवेश मंथन’ के सहायक संपादक के तौर पर भी काम किया है। वर्तमान में बृजेश श्रीवास्तव मीडिया सलाहकार और राजनीतिक विश्लेषक हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

कोरोना वायरस के गढ़ में शुरू हुआ संसद का सालाना सत्र, सभी पत्रकारों को कराना होगा टेस्ट

ऐसे में अब ये आदेश जारी किया गया है कि हर पत्रकार को यहां कोरोना वायरस का टेस्ट कराना जरूरी है

Last Modified:
Friday, 22 May, 2020
corona

कोरोना वायरस (Coronavirus) के गढ़ रहे चीन अब वापस पटरी पर लौटने लगा है। शुक्रवार को शुरू हुए चीनी संसद के सालाना सत्र को कवर करने के लिए आसपास के देशों से कई पत्रकार पहुंच रहे हैं। ऐसे में अब ये आदेश जारी किया गया है कि हर पत्रकार को यहां कोरोना वायरस का टेस्ट कराना जरूरी है।

संसद में पत्रकारों की एंट्री के लिए कुछ ही सीटें बुक की गई हैं, बाकि अन्य को वीडियो लिंक के जरिए ही वहां से जुड़ना होगा। बुधवार को यहां हॉन्गकॉन्ग, ताइवान समेत अन्य पड़ोस के देशों से पत्रकार पहुंचे। बुधवार को जो टेस्ट हुए हैं, उनमें सभी का रिजल्ट नेगेटिव आया है। इसके बाद अब यहां हर किसी का एसिड टेस्ट करवाया जा रहा है, जिसके बाद पत्रकारों को कुछ घंटे आइसोलेशन में रहना होगा। सिर्फ पत्रकार ही नहीं बल्कि हर किसी को यहां इस टेस्ट को करना होगा।

बताया जा रहा है कि यहां करीब तीन हजार लोग जुटेंगे, जो चीन के अलग-अलग हिस्सों से आ रहे हैं। इस दौरान मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर नई गाइडलाइन्स जारी की गई हैं।

बता दें कि कोरोना की वजह से चीनी संसद का सालाना सत्र करीब 78 दिनों के लिए टल गया था, जो अब शुक्रवार से शुरू हो गया है। इस सत्र में मौजूदा चुनौतियों, आर्थिक चुनौती और दुनिया में कोरोनावायरस की स्थिति को लेकर चर्चा होनी है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

दुनिया को अलविदा कह गए वरिष्ठ पत्रकार मनोहर एस. देसाई

वरिष्ठ पत्रकार मनोहर एस. देसाई का मुंबई के उप-नगर थाणे में निधन हो गया। वे 86 वर्ष थे और लंबे समय से बीमारी से ग्रसित थे

Last Modified:
Friday, 22 May, 2020
manohar-s-desai

वरिष्ठ पत्रकार मनोहर एस. देसाई का मुंबई के उप-नगर थाणे में निधन हो गया। वे 86 वर्ष थे और लंबे समय से बीमारी से ग्रसित थे। उन्हें डिमेंशिया और किडनी से संबंधित बीमारियां थी। देसाई के परिवार वालों ने गुरुवार को इस बात की जानकारी दी। देसाई अपनी पत्नी के साथ, लंबे समय से मुंबई में रह रहे थे। 

देसाई का जन्म कर्नाटक के बेलगाम में साल 1934 में हुआ था। उन्होंने दक्षिण-मध्य मुंबई में स्थित फीनिक्स मिल्स में एक बुनकर के रूप में अपने काम की शुरुआत की थी। इसके बाद 1956 में ऑल इंडिया रेडिया पर कन्नड़ ड्रामों में कई किरदार निभाए। फिर उन्होंने बैंगलुरू के ‘डेक्कन हेराल्ड’ अखबार में बॉम्बे के संवाददाता के रूप में कार्य करना शुरू किया। 

इसके बाद कुछ वर्षों तक कई अन्य अखबारों में काम किया और फिर उन्होंने 1964 में मुंबई के ‘दि इंडियन एक्सप्रेस’ समूह के प्रसिद्ध फिल्म और बॉलीवुड अखबार 'स्क्रीन' में शामिल हो गए। अपने लंबे करियर में, उन्होंने घरेलू फिल्म कार्यक्रमों के अलावा मास्को, ताशकंद, बर्लिन, लंदन और पेरिस में अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोहों को कवर किया।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

प्रो. संजय द्विवेदी को MCU में मिली नई जिम्मेदारी

देश के जाने-माने पत्रकार और मीडिया शिक्षक प्रो. संजय द्विवेदी 10 वर्ष से अधिक समय तक माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय ( MCU) के जनसंचार विभाग के अध्यक्ष भी रहे हैं।

Last Modified:
Thursday, 21 May, 2020
Sanjay Dwivedi

देश के जाने-माने पत्रकार और मीडिया प्रोफेसर संजय द्विवेदी को माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय का प्रभारी कुलपति नियुक्त किया गया है। इससे पहले वे विश्वविद्यालय के कुलसचिव की जिम्मेदारी निभा रहे थे। प्रो. द्विवेदी 10 वर्ष से अधिक समय तक विश्वविद्यालय के जनसंचार विभाग के अध्यक्ष भी रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि प्रो. संजय द्विवेदी लंबे समय तक सक्रिय पत्रकारिता में रहे हैं। उन्हें प्रिंट, बेव और इलेक्ट्रॉनिक, तीनों ही मीडिया में कार्य करने का वृहद अनुभव है। उन्होंने ‘दैनिक भास्कर’, ‘हरिभूमि’, ‘नवभारत’, ‘स्वदेश’, ‘इंफो इंडिया डाट काम’ और छत्तीसगढ़ के पहले सेटलाइट चैनल ‘जी-24 छत्तीसगढ़’ जैसे मीडिया संगठनों में महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां संभाली।

मुंबई, रायपुर, बिलासपुर और भोपाल में लगभग 14 साल सक्रिय पत्रकारिता में रहने के बाद प्रो. द्विवेदी शिक्षा क्षेत्र से जुड़े। फरवरी-2009 में वे विश्वविद्यालय से जुड़े थे। विश्वविद्यालय में उन्होंने विभागाध्यक्ष एवं कुलसचिव जैसे महत्वपूर्ण पदों कार्य किया।

प्रो. द्विवेदी 12 वर्षों से नियमित जनसंचार के सरोकारों पर केंद्रित पत्रिका ‘मीडिया विमर्श’ के कार्यकारी संपादक भी हैं। विभिन्न समाचार पत्र-पत्रिकाओं में नियमित तौर पर राजनीतिक, सामाजिक और मीडिया के मुद्दों पर लेखन करते हैं। उन्होंने अब तक 25 पुस्तकों का लेखन और संपादन भी किया है। वे विभिन्न विश्वविद्यालयों की अकादमिक समितियों एवं मीडिया से संबंधित संगठनों में सदस्य एवं पदाधिकारी भी हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

न्यूज कवरेज के लिए गई महिला पत्रकार पर हमला

वाहन पार्किंग के विवाद में एक महिला द्वारा अंग्रेजी न्यूज चैनल की पत्रकार पर हमले का मामला सामने आया है।

Last Modified:
Wednesday, 20 May, 2020
Reporter

वाहन पार्किंग के विवाद में एक महिला द्वारा अंग्रेजी न्यूज चैनल की महिला पत्रकार पर हमले का मामला सामने आया है। मामला हैदराबाद के पुंजगुत्ता (Punjagutta) इलाके का है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, 27 वर्षीय यह पत्रकार अपनी टीम के साथ वैन में मंगलवार की दोपहकर करीब डेढ़ बजे न्यूज कवरेज के लिए इस इलाके में गई थी।

पुलिस को दी अपनी शिकायत में पत्रकार का कहना है कि इसी दौरान वहां एक महिला आई और उनके वाहन के सामने अपनी स्कूटी खड़ी कर पार्किंग को लेकर बहस शुरू कर दी। इसके बाद आरोपित महिला ने पत्रकार के साथ गालीगलौज शुरू कर दी और उनके चेहरे पर हमला कर दिया। यही नहीं, महिला ने इस दौरान पत्रकार के बाल भी खींचे। पत्रकार की शिकायत के अनुसार, महिला ने उनकी वैन के शीशे और ड्राइवर के मोबाइल को भी नुकसान पहुंचाया। बताया जाता है कि आरोपित महिला एक निजी कंपनी में कर्मचारी है और पुंजागुत्ता इलाके में रहती है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

ABP माझा ने शिक्षा जगत से जुड़े दिग्गजों को दिया मंच, इन मौजूदा मुद्दों पर की चर्चा

देश के अग्रणी मराठी न्यूज चैनल एबीपी माझा ने 18 मई को अपनी तरह के पहले एजुकेशन ई-कॉन्क्लेव ‘माझा शिक्षण परिषद’ का समापन कर दिया है

Last Modified:
Wednesday, 20 May, 2020
ABP majha

देश के अग्रणी मराठी न्यूज चैनल एबीपी माझा ने 18 मई को अपनी तरह के पहले एजुकेशन ई-कॉन्क्लेव ‘माझा शिक्षण परिषद’ का समापन कर दिया है। एबीपी माझा इस सम्मेलन के माध्यम से शिक्षा जगत से जुड़े दिग्गजों को एक मंच पर लाया, जिन्हें शिक्षा संबंधी मौजूदा मुद्दों और शैक्षणिक संचालन की निरंतरना के बारे में चर्चा व विचार-विमर्श करने का मौका मिला।

ज्ञान साझा करने का अवसर प्रदान करने वाले इस मंच पर विख्यात प्रवक्ताओं ने कोविड-19 के बीच लोगों के शिक्षा संबंधी सवालों के समाधान दिए। इस वर्चुअल एजुकेशन ई-कॉन्क्लेव में विनोद तावड़े (पूर्व राज्य शिक्षा मंत्री), डॉ. समीर डालवानी (मनोचिकित्सक), भौसाहेब चस्कर (अध्यापक, एक्टिव टीचर्स फोरम महाराष्ट्र), मीरा कोरडे (चेयरपर्सन, सरस्वती स्कूल) और सुनील चौधरी (पैरेंट एसोसिएशन हेड) ने हिस्सा लिया।

भारत की शिक्षा प्रणाली में आए बदलाव पर चर्चा करते हुए, सम्मेलन के दौरान दसवीं और बारहवीं कक्षा की परीक्षा, यूनिवर्सिटी परीक्षाओं, प्रवेश परीक्षाओं, वर्चुअल लर्निंग, शैक्षणिक संस्थानों की शिक्षण प्रणाली तथा ई-लर्निंग से जुड़ी तकनीकी और बुनियादी चुनौतियों से जुड़े कई सवालों के समाधान किए गए।

सम्मेलन के प्रवक्ताओं ने खासतौर पर इस मुश्किल समय में स्कूली पाठ्यक्रम में ‘जीवन कौशल’ के महत्व पर रोशनी डाली। उन्होंने सुझाव दिया कि अब छात्रों के समग्र विकास के लिए लर्निंग पारम्परिक मॉडल व पाठ्यक्रम के दायरे से बाहर जाना होगा। सम्मेलन के दौरान समाज में, खासतौर पर महाराष्ट्र में मौजूद डिजिटल अंतराल पर भी रोशनी डाली गई, जहां 80 फीसदी छात्रों के पास वर्चुअल लर्निंग के लिए कनेक्शन या हार्डवेयर उपलब्ध नहीं हैं।

इस मुश्किल समय में महामारी की चुनौतियों के बीच छात्रों के शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर ध्यान देने पर भी जोर दिया गया।

ई-कॉन्क्लेव पर चर्चा करते हुए एबीपी न्यूज नेटवर्क के सीईओ  अविनाश पांडे ने कहा, ‘हमें गर्व है कि हम अपने शैक्षणिक सम्मेलन ‘माझा शिक्षण परिषद’ का वर्चुअल रूप लेकर आए हैं। संकट के इस दौर में हमारे लिए जरूरी है कि हम अध्यापकों व छात्रों की शिक्षा संबंधी समस्याओं को हल करें, ताकि वे वर्चुअल लर्निंग के जरिए इस दौर में भी शिक्षा को निर्बाध रूप से जारी रख सकें। लॉकडाउन के चलते लर्निंग के पारम्परिक तरीकों में बड़ा बदलाव आया है, ऐसे में यह सम्मेलन देश के छात्रों और शिक्षकों को आत्मविश्वास देगा और उन्हें मौजूदा स्थिति की चुनौतियों से निपटने में सक्षम बनाएगा।’

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

अध्ययन-अध्यापन को रोक नहीं सका लॉकडाउन, MCU में अब इस तरह चल रहीं कक्षाएं

लॉकडाउन के बीच माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के भोपाल सहित सभी परिसरों में ऑनलाइन कक्षाओं का संचालन जारी है

Last Modified:
Tuesday, 19 May, 2020
MCU

भोपाल। लॉकडाउन के बीच माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के भोपाल सहित सभी परिसरों में ऑनलाइन कक्षाओं का संचालन जारी है। लॉकडाउन के कारण जब प्रत्यक्ष कक्षाओं का संचालन बंद हो गया तब विश्वविद्यालय के शिक्षकों एवं विद्यार्थियों ने तकनीक का उपयोग कर अपना अध्ययन-अध्यापन जारी रखा है। कोरोना के कारण उत्पन्न परिस्थितियों में शिक्षकों ने पाठ्यक्रम पूरा कराने और विद्यार्थियों को सीखने-सिखाने की प्रक्रिया में व्यस्त रखने की चुनौती को स्वीकार किया। इस नवाचार में ऑनलाइन विडियो कॉन्फ्रेंसिंग तकनीक और केंद्र सरकार के डिजिटल इन्शिएटिव का बखूबी उपयोग किया गया है।    

कुलसचिव प्रो. संजय द्विवेदी ने बताया है कि विश्वविद्यालय के शिक्षक नियमित तौर पर अपनी कक्षाएं ऑनलाइन माध्यम से ले रहे हैं। कक्षाओं में विद्यार्थियों की उपस्थिति भी उत्साहवर्धक है। विश्वविद्यालय के भोपाल सहित नोएडा, रीवा, खण्डवा और दतिया परिसर में ऑनलाइन कक्षाएं सुचारू रूप से चल रही हैं। शिक्षक विद्यार्थियों को पढ़ाने के साथ ही उन्हें केंद्र सरकार के डिजिटल उपक्रम स्वयंप्रभा, मूक और नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी सहित अन्य ऑपन सोर्स पर उपलब्ध आवश्यक डिजिटल कंटेंट भी उपलब्ध करा रहे हैं। उल्लेखनीय है कि ऑनलाइन कक्षाओं के माध्यम से विद्यार्थियों को न केवल सैद्धांतिक अध्ययन कराया जा रहा है, बल्कि उनको व्यावहारिक प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है। इस क्रम में विद्यार्थियों ने प्रोड्यूसर के निर्देशन में 200 से अधिक लघु फिल्में एवं न्यूज पैकेज तैयार किए हैं। समाचार, आलेख एवं फीचर लेखन का अभ्यास भी विद्यार्थी कर रहे हैं। कई विद्यार्थियों ने अपने ब्लॉग और यूट्यूब चैनल भी शुरू किए हैं। 

वर्कफ्रॉम होम के लिए तैयार हैं विद्यार्थी :

कुलसचिव प्रो. संजय द्विवेदी का कहना है कि इस कठिन समय में शिक्षकों ने अपनी भूमिका का बखूबी निर्वहन किया है। हमारा प्रयास था कि इस कठिन समय को अवसर में बदलें एवं हमारा विद्यार्थी अपना अध्ययन जारी रखते हुए साथ में कुछ नया सीखे। इस प्रक्रिया में विद्यार्थी वर्कफ्रॉम होम के लिए भी तैयार हुए हैं। उन्होंने घर पर रहते हुए कई अच्छे विडियो बनाए हैं, जो हमें संदेश, प्रेरणा और जानकारी देते हैं। 

शिक्षण में कोई रुकावट नहीं : 

अकादमिक के डीन डॉ. पवित्र श्रीवास्तव ने कहा कि विश्वविद्यालय द्वारा संचालित समस्त पाठ्यक्रमों की ऑनलाइन कक्षाएं विगत दो माह से सम्पन की जा रही हैं। लॉकडाउन के दौरान हमारे विद्यार्थी देश के विभिन्न हिस्सों में अपने घरों में हैं। उनके शिक्षण में कोई रुकावट न हो इस उद्देश्य से सभी शिक्षकों द्वारा सभी परिसरों में ऑनलाइन कक्षाएं संचालित की जा रही हैं।  

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

उग्र भीड़ ने की ABP के पत्रकार की पिटाई, गंभीर रूप से घायल

एक ग्रामीण इलाके में काम करने वाली एक कंपनी के श्रमिकों ने ABP अस्मिता चैनल के एक पत्रकार पर लाठी-डंडों से हमला कर दिया और जमकर पीटा

Last Modified:
Monday, 18 May, 2020
ABP

पंजाब, हरियाणा , दिल्ली के बाद अब गुजरात के राजकोट में भी घर जाने की मांग को लेकर प्रवासी मजदूर सड़क पर उतर आए। गुजरात के राजकोट जिले में शापर-वेरावल हाईवे पर रविवार को आक्रोशित मजदूरों ने जमकर हंगामा किया। इस दौरान आक्रोशित मजदूरों ने तोडफोड़ की और कई वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया।

एक ग्रामीण इलाके में काम करने वाली एक कंपनी के श्रमिकों ने ABP अस्मिता चैनल के एक पत्रकार पर लाठी-डंडों से हमला कर दिया और जमकर पीटा। इस हमले में एबीपी अस्मिता के संवाददाता हार्दिक जोशी गंभीर रूप से घायल हो गए हैं।

बताया जा रहा है कि रविवार को हजारों की संख्या में प्रवासी मजदूर अपने गृह राज्य जाने के लिए निकले थे। जब ये निर्धारित स्थान पर पहुंचे तो वहां किसी भी साधन की व्यवस्था नहीं थी।  यह देखकर मजदूरों का धैर्य जवाब दे गया और वे हंगामा करने लगे और तोड़फोड़ शुरू कर दी।

इस दौरान, एबीपी अस्मिता के रिपोर्टर हार्दिक जोशी इस पूरे वाक्ये को अपने कैमरे मे कैद करने की कोशिश कर रहे थे, कि तभी इस भीड़ में शामिल एक गुट ने पत्रकार पर हमला बोल दिया और उनके साथ मारपीट की। आक्रोशित मजदूरों ने तोडफोड़ भी की और कई वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया। 

इस दौरान मजदूरों को शांत कराने की कोशिश में राजकोट के पुलिस अधीक्षक बलराम मीणा भी घायल हो गए।  एसपी और पत्रकार के अलावा कुछ पुलिसकर्मी भी घायल हुए। काफी मशक्कत के बाद मजदूरों को घर भेजने का आश्वासन देकर प्रशासनिक अधिकारियों ने किसी तरह शांत कराया।   

अपनी जान जोखिम में डालकर काम कर रहे तमाम पत्रकारों ने संवाददाता हार्दिक जोशी पर हमले की घटना को निंदनीय बताया है। हमले के बाद, सभी पत्रकारों ने निकटतम पुलिस आयुक्त से मुलाकात की और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की। वहीं इस बीच, पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और इस मामले में करीब 15 लोगों को गिरफ्तार किया है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए