'न्यूजट्रैक' के बाद अब इस न्यूज पोर्टल से जुड़े अमित राजपूत

अमित 'न्यूजट्रैक' में सब एडिटर के पद पर...

Last Modified:
Monday, 21 May, 2018
Samachar4media

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

वेबपोर्टल लॉपस्कूप (LopScoop) वेबसाइट से अमित राजपूत के जुड़ने की खबर है। वे यहां कंटेंट राइटर पद पर जुड़े हैं। इससे पहले अमित 'न्यूजट्रैक' में सब एडिटर के पद पर लखनऊ में कार्यरत थे।

मूल रूप से यूपी के फतेहपुर के रहने वाले अमित ने देश के प्रतिष्ठित मीडिया संस्थान आईआईएमसी से पत्रकारिता की पढ़ाई की और इसके बाद उन्होंने अपने करियर की शुरुआत दिल्ली स्थित आकाशवाणी महानिदेशालय में प्रधानमंत्री के विशेष कार्यक्रम मन की बातसे की। इसके बाद इन्हें आकाशवाणी में ही एफएम रेनबो और एफएम गोल्ड सहित प्रसार भारती की प्रोग्राम प्रमोशन यूनिट की स्क्रीनिंग कमेटी में काम करने का मौका मिला। कुछ समय बाद इन्होंने आकाशवाणी की नौकरी से इस्तीफा दे दिया और दिल्ली छोड़कर लखनऊ चले गए। यहां योगेश मिश्र के साथ उनके संस्थान न्यूजट्रैक में यूपी विधानसभा चुनाव की इलेक्शन डेस्क पर रहे और फिर इन्होंने लखनऊ को अलविदा कहकर वापस दिल्ली जाने का फैसला लिया।

अमित थिएटर आर्टिस्ट भी हैं और कॉलेज के दिनों में इलाहाबाद में रहते हुए ही इन्होंने द थर्ड बेलनाम की रंगकर्म संस्था के साथ जमकर थिएटर किया।

अमित देश के प्रतिष्ठित पत्र-पत्रिकाओं व न्यूज पोर्टल जैसे- यथावत, यथा-योजना, कुरुक्षेत्र दैनिक जागरण, अमर उजाला व नव भारत टाइम्स के लिए सामाजिक, राजनैतिक व नीतिगत मामलों में लिखते रहते हैं। कनाडा की सुप्रतिष्ठित हिन्दी पत्रिका वसुधामें भी इनकी कहानी जन्तर का मन्तर प्रकाशित हो चुकी है।

पत्रकारिता से इतर रंगमंच व साहित्य के अलावा अमित राजपूत को फिल्मों का भी बहुत शौक है। इन्होंने कई पुरस्कृत शॉर्ट फिल्म्स में अपना अलग-अलग तरह का योगदान दिया है। अमित राजपूत का ब्राह्मणनाम से अपना निजी ब्लॉग है।  अमित 'डीडी किसान' के रिसोर्स पर्सन भी रह चुके हैं।


समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
TAGS s4m
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

कोरोना के खौफ के बीच पूरन डावर के नेतृत्व में आगे आया AFMEC, 90 लाख की दी मदद

कोरोनावायरस (कोविड-19) के कारण उद्योग धंधों पर पड़ती मार के बीच इनमें कार्यरत लोगों की मदद के लिए निर्यातक संस्था ‘आगरा फुटवियर मैन्युफैक्चरर्स एंड एक्सपोर्ट्स चैंबर’ आगे आई है

Last Modified:
Thursday, 09 April, 2020
AFMEC

कोरोनावायरस (कोविड-19) के कारण उद्योग धंधों पर पड़ती मार के बीच इनमें कार्यरत लोगों की मदद के लिए निर्यातक संस्था ‘आगरा फुटवियर मैन्युफैक्चरर्स एंड एक्सपोर्ट्स चैंबर’ आगे आई है। जैसा कि सभी को पता है कि महामारी बन चुके कोरोनावायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए भारत समेत कई देशों ने अपने यहां लॉकडाउन किया हुआ है। ऐसे में सभी उद्योग धंधों पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा है। आगरा से भी काफी माल एक्सपोर्ट किया गया है, जिनमें से काफी माल विभिन्न बंदरगाहों पर फंसा हुआ है। अधिकतर ऑर्डर कैंसल हो चुके हैं। जो कैंसल नहीं हुए हैं, लॉकडाउन खुलने के बाद भी उन ऑर्डर को पूरा करना मुश्किल है।

काम रुक जाने के कारण इस उद्योग में लगे तमाम श्रमिक बेकार बैठे हैं। ऐसे में इस उद्योग में लगे श्रमिकों के प्रति अपनी जिम्मेदारी समझते हुए नजीर अहमद द्वारा ‘आगरा फुटवियर मैन्युफैक्चरर्स एंड एक्सपोर्ट्स चैंबर’ के सदस्यों से सहयोग की अपील की गई, ताकि इस त्रासदी में आगरा में कोई भूखा न रहे।

इसके लिए गठित समिति में कनवीनर कैप्टन राणा, उपाध्यक्ष रूबी सहगल, गोपाल गुप्ता, शाहरू मोहसिन, सुनील जोशन, राजन कपूर द्वारा रात दिन लगकर और लॉकडाउन के बावजूद 90 लाख रुपए एकत्रित किए गए और 5000 पैकेट (2000 रुपए प्रति पैकेट) खाद्य सामग्री की व्यवस्था की गई।

इस बारे में ‘आगरा फुटवियर मैन्युफैक्चरर्स एंड एक्सपोर्ट्स चैंबर’ के अध्यक्ष पूरन डावर ने बताया कि इन पैकेटों में आटा, दाल, चावल व चीनी समेत राशन का जरूरी सामान है। यह सामग्री वितरण के लिये तैयार है। प्रशासन से अनुरोध किया गया है कि सामाजिक संस्थाओं के माध्यम से आवश्यकता अनुसार वितरण की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाए।

इसके साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि यह संस्था उद्योग की समस्याएं सरकार तक पहुंचाने के साथ ही समाज एवं श्रमिकों के प्रति कर्तव्य में अपनी अग्रणी भूमिका निभाती है और निभाती रहेगी।आगरा के निर्यातकों द्वारा पीएम केयर फंड में भी 51.51 लाख रुपए भेजा जा चुका है। अन्य निर्यातक भी इसमें यथासंभव सहयोग कर रहे हैं। इसके अलावा सक्षम डावर मेमोरियल ट्रस्ट द्वारा चलायी जा रही भोजन व्यवस्था में भी ‘आगरा फुटवियर मैन्युफैक्चरर्स एंड एक्सपोर्ट्स चैंबर’ के अनेक सदस्य सहयोग कर रहे हैं।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

भोपाल में पत्रकार के कोरोना संक्रमित होने का आया दूसरा मामला

केके सक्सेना के बाद भोपाल के एक और पत्रकार के कोरोना संक्रमित होने की जानकारी सामने आई है। संबंधित पत्रकार एक स्थानीय न्यूज चैनल से जुड़ा हुआ है

Last Modified:
Thursday, 09 April, 2020
covid19

केके सक्सेना के बाद भोपाल के एक और पत्रकार के कोरोना संक्रमित होने की जानकारी सामने आई है। संबंधित पत्रकार एक स्थानीय न्यूज चैनल से जुड़ा हुआ है। इसी के साथ राजधानी में कोरोना पीड़ितों की संख्या बढ़कर 91 हो गई है। फिर एक पत्रकार के कोरोना की चपेट में आने से अन्य पत्रकारों में चिंता का माहौल है। खासतौर पर वे पत्रकार घबराए हुए हैं, जिनकी हाल-फिलहाल ही सम्बंधित पत्रकार से मुलाकात हुई थी। इसके साथ ही पत्रकारों की सुरक्षा का मुद्दा भी खड़ा हो गया है। इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के पत्रकारों को बाइट, विज़ुअल आदि के लिए जगह -जगह घूमना पड़ रहा है। इसके चलते उनके कोरोना प्रभावित होने का खतरा ज्यादा है। जिस पत्रकार की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, वह भी शहर के प्रभावित क्षेत्रों में रिपोर्टिंग के लिए गए थे।

एक वरिष्ठ पत्रकार का कहना है कि कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए न्यूज़ चैनलों के संपादकों को अपने व्यावसायिक रवैये को कुछ समय के लिए किनारे रखना चाहिए। बाइट और विज़ुअल के नाम पर पत्रकारों एवं फोटो जर्नलिस्ट को शहर भर में दौड़ाया जाता है। उन्हें ऐसे इलाकों में भी जाना होता है, जहां कोरोना पॉजिटिव मामले अधिक हैं। यदि इस बारे में गंभीरता से नहीं सोचा गया, तो आने वाले दिनों में स्थिति और भी खराब हो सकती है।

गौरतलब है कि कोरोना से बचाव के लिए बड़े मीडिया संस्थान तमाम उपाय कर रहे हैं। कुछ चैनलों ने अपने माइक के डंडे की लम्बाई को बढ़ा दिया है, ताकि बाइट लेने के दौरान संक्रमण के जोखिम को कम से कम किया जा सके। वहीं, न्यूज़ एजेंसी एएनआई ने अपने माइक को मास्क पहनाया है। लेकिन छोटे संस्थान इसे लेकर ज्यादा गंभीर नहीं हैं। भोपाल में पत्रकार के कोरोना संक्रमित होने का यह दूसरा मामला है। इससे पहले वरिष्ठ पत्रकार केके सक्सेना कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। इसके बाद उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती किया गया, जहां से पूरी तरह स्वस्थ होने के बाद उन्हें छुट्टी मिल गई है।     

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

वरिष्ठ पत्रकार उदय सिन्हा के बारे में आई ये बुरी खबर

तमाम हिंदी-अंग्रेजी अखबारों में बतौर संपादक अपनी जिम्मेदारी निभा चुके वरिष्ठ पत्रकार उदय सिन्हा के बारे में एक बुरी खबर है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 08 April, 2020
Last Modified:
Wednesday, 08 April, 2020
Uday Sinha Journalist

दिग्गज पत्रकारों में शुमार और दैनिक भास्कर, द पायनियर, सहारा समय, हरिभूमि और नॉर्थ ईस्ट टाइम जैसे तमाम हिंदी-अंग्रेजी अखबारों में बड़ी जिम्मेदारी निभा चुके उदय सिन्हा का निधन हो गया है। करीब 62 वर्षीय उदय सिन्हा को सांस लेने में तकलीफ के कारण लखनऊ के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां बुधवार की सुबह उन्होंने अंतिम सांस ली। उदय सिन्हा अपने पीछे दो बेटों अनुपम और अभिषेक समेत भरा-पूरा परिवार छोड़ गए हैं। उदय सिन्हा के निधन पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत कई पत्रकारों ने शोक जताते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी है।  

बता दें कि न्यूरो संबंधी समस्या के कारण दिसंबर में लखनऊ में उदय सिन्हा के मस्तिष्क का ऑपरेशन हुआ था। इसके बाद से उनकी तबीयत अक्सर खराब रहने लगी थी। रविवार की शाम सांस लेने में कठिनाई होने पर उदय सिन्हा को लखनऊ के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। हालत बिगड़ने पर उन्हें वेंटीलेटर पर रखा गया था, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका।

मूलत: बिहार के आरा जिले के निवासी उदय सिन्हा देश के उन चुनिंदा पत्रकारों में शामिल थे, जो हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में  काम करते थे और दोनों ही भाषा के अखबारों के संपादक रहे। तमाम अखबारों में बतौर संपादक अपनी जिम्मेदारी निभा चुके उदय सिन्हा टेलीविजन चैनल ‘चैनल वन’ के संपादक व एडवाइजर भी रह चुके थे।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

कोरोना ने छीन ली भारतीय-अमेरिकी पत्रकार की जिंदगी, पीएम मोदी ने जताया शोक

भारतीय-अमेरिकी पत्रकार ब्रह्म कांचीबोटला का कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से सोमवार सुबह निधन हो गया। वे करीब 66 वर्ष के थे

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 08 April, 2020
Last Modified:
Wednesday, 08 April, 2020
modi45787

भारतीय-अमेरिकी पत्रकार ब्रह्म कांचीबोटला का कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से सोमवार सुबह निधन हो गया। वे करीब 66 वर्ष के थे और न्यूयॉर्क के एक अस्पताल में पिछले 9 दिनों से भर्ती थे। उनके निधन की जानकारी ब्रह्म कांचीबोटला के बेटे सुदामा कांचीबोटला ने दी।  

बता दें कि कोरोना वायरस के लक्षण दिखने के पांच दिन बाद उन्हें 28 मार्च को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। हालत खराब होने पर उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था।  31 मार्च को उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया और सोमवार को कार्डिक अरेस्ट से उनका निधन हो गया। उनके परिवार में पत्नी अंजना, बेटी सिजाना और बेटा सुदामा हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्रह्म कांचीबोटला (Brahm Kanchibotla) के निधन पर शोक जताया है। उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर ब्रह्म कांचीबोटला को श्रद्धांजलि देते हुए लिखा- भारतीय-अमेरिकी पत्रकार श्री ब्रह्म कांचीबोटला के निधन से गहरा दुख हुआ। उन्हें उनके बेहतरीन काम, भारत और अमेरिका को करीब लाने के प्रयासों के लिए याद किया जाएगा। उनके परिवार तथा मित्रों के लिए संवेदनाएं। शांति।

कांचीबोटला संवाद समित यूनाइटेड न्यूज ऑफ इंडिया में कॉरेस्पोंडेंट के तौर पर कार्यरत थे। कांचीबोटला भारत में कई पब्लिकेशन के साथ काम करने के बाद वो 1992 में अमेरिका चले गए थे। अपने 28 साल के करियर में उन्होंने 11 साल तक फाइनेंशियल पब्लिकेशन में कंटेंट एडिटर के तौर पर अपनी सेवाएं दी थी। इसके बाद उन्होंने न्यूज इंडिया टाइम्स वीकली में भी काम किया था।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

लॉकडाउन के बीच कुछ यूं जिम्मेदारी निभा रहे इस न्यूज पोर्टल के पत्रकार

कोरोनावायरस (कोविड-19) के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए देश में 21 दिनों का लॉकडाउन किया गया है।

Last Modified:
Saturday, 04 April, 2020
News-Portal

कोरोनावायरस (कोविड-19) के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए देश में 21 दिनों का लॉकडाउन किया गया है। इस दौरान लोगों को घर पर ही रहने की सलाह दी गई है। इन सबके बीच डिजिटल प्लेटफॉर्म ‘न्यूज नशा’ के 150 पत्रकार दिन रात रिपोर्टिंग में लगे हुए हैं और उत्तर प्रदेश के तमाम जनपदों से लगातार कवरेज कर रहे हैं। इसके साथ ही हर खबर की जानकारी उत्तर प्रदेश पुलिस को भी दे रहे हैं। पुलिस भी इन मामलों को संज्ञान में ले रही है और उन पर कार्रवाई कर रही है।

पिछले दिनों न्यूज नशा के रिपोर्टरों ने पुलिस को लॉकडाउन के दौरान शाहजहांपुर में हो रही शादी के बारे जानकारी दी थी। हालांकि इस शादी में सभी लोग मुंह पर मास्क पहनकर शामिल हो रहे थे, लेकिन शादी में कई लोग शामिल थे, जिससे लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग का नियम टूट रहा था। न्यूज नशा के रिपोर्टर की खबर पर यूपी पुलिस ने इस मामले को संज्ञान में लेते हुए कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है।

वहीं, उत्तर प्रदेश के अमेठी में लॉकडाउन के दौरान कुछ लोग मस्जिद में नमाज पढ़ने गए हुए थे। देश में लॉकडाउन के समय धार्मिक स्थल भी बंद कर दिए गए हैं। ऐसे में जब न्यूज नशा के रिपोर्टर ने देखा कि लॉकडाउन के समय मस्जिद में इतनी भीड़ है तो इसकी जानकारी पुलिस को दी गई। पुलिस ने इस मामले को संज्ञान में लेते हुए कार्रवाई भी की।

इसके अलावा पिछले दिनों शाहजहांपुर के जलालाबाद क्षेत्र में खेत पर काम कर रहे युवक का शव मिला था। इसकी भी जानकारी न्यूज नशा के रिपोर्टर द्वारा पुलिस को दी गई। इस पर पुलिस ने मामले में कार्रवाई की बात भी कही। पुलिस द्वारा इन खबरों पर तुरंत संज्ञान लेकर कार्रवाई करने को लेकर न्यूज नशा की टीम ने पुलिस को धन्यवाद भी दिया है।

वहीं, न्यूज नशा की ओर से लॉकडाउन के 21 दिनों तक शाम 6:00 बजे फेसबुक और यूट्यूब पर लाइव प्रसारण किया जा रहा है। इसमें देश के तमाम लोगों को कोरोनावायरस से जुड़ी वर्तमान स्थिति के बारे में बताया जाता है। इसके साथ ही लोगों को कोरोनावायरस से बचने के लिए सुझाव भी दिए जाते हैं। इसी दौरान न्यूज नशा की फाउंडर और पत्रकार विनीता यादव ने यूट्यूब पर लाइव प्रसारण करते हुए कहा था कि देश में इस समय ऐसे हालात हो रखे हैं कि लोगों को अफवाह का शिकार होना पड़ रहा है, लेकिन अधिकारी भी बहुत सी गलतियां कर रहे हैं। यह सिर्फ इस वजह से हो रहा है कि प्रदेश के मुख्यमंत्रियों और अधिकारियों में समन्वय सही से नहीं बन पा रहा है।  

विनीता यादव द्वारा सुझाव दिया गया था कि सभी मुख्यमंत्रियों को अपने प्रदेशों के अधिकारियों से विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये बातचीत करनी चाहिए। साथ ही कहा गया था कि प्रधानमंत्री को भी सभी प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों से विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये लगातार बातचीत करनी चाहिए, ताकि कोरोनावायरस जैसी घातक बीमारी पर सभी प्रदेश एक साथ बड़े कदम उठा सकें और कोरोनावायरस को रोक सकें। इस सुझाव पर मुहर लग चुकी है और प्रधानमंत्री ने प्रदेश के मुख्यमंत्रियों के साथ विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये बैठक की है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

जानें, क्यों कपिल शर्मा पर भड़का कायस्थ समाज, दी मुकदमे की चेतावनी

अखिल भारतीय कायस्थ महासभा का कहना है कि यदि कपिल शर्मा ने माफी नहीं मांगी तो उनके शो का बहिष्कार किया जाएगा।

Last Modified:
Tuesday, 31 March, 2020
Kapil Sharma

कॉमेडी किंग कपिल शर्मा इन दिनों विवादों में फंसते नजर आ रहे हैं। दरअसल, अखिल भारतीय कायस्थ महासभा ने उन पर कॉमेडी शो में भगवान श्री चित्रगुप्त का मजाक उड़ाने का आरोप लगाते हुए अपना विरोध जताया है।

अखिल भारतीय कायस्थ महासभा ने कपिल शर्मा से इस मसले पर माफी मांगने के लिए कहा है। महासभा का यह भी कहना है कि यदि कपिल शर्मा ने माफी नहीं मांगी तो उनके शो का बहिष्कार किया जाएगा। यही नहीं, लॉकडाउन खत्म होने पर कपिल शर्मा के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज कराया जाएगा।

महासभा के पदाधिकारियों का आरोप है कि शनिवार को कपिल शर्मा ने अपने शो के दौरान भगवान श्री चित्रगुप्त के बारे में भद्दा मजाक किया। कपिल शर्मा के इस कदम की भर्त्सना करते हुए महासभा के पदाधिकारियों ने कहा कि इस कृत्य के लिए कपिल शर्मा अगले एपिसोड में पूरे देशवासियों से माफी मांगें।

वहीं, मीडिया वेंचर ‘पार्लियामेंट्री बिजनेस’ (ParliamentaryBusiness) के सीईओ और वरिष्ठ पत्रकार रोहित सक्सेना ने भी अपने ट्विटर हैंडल पर कपिल शर्मा को माफी मांगने अथवा कानूनी कार्यवाही का सामना करने की चेतावनी दी है।

रोहित सक्सेना द्वारा इस बारे में किए गए ट्वीट को आप यहां देख सकते हैं।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

लॉकडाउन में झूठी खबर फैलाने पर पत्रकार के खिलाफ दर्ज हुआ केस

कोरोनावायरस (Coronavirus) के तेजी से फैलते संक्रमण के बीच लोगों में डर का माहौल बना हुआ है। ऐसे में इससे जुड़ी निराधार खबरें सोशल मीडिया पर तेजी से फैल रही हैं।

Last Modified:
Monday, 30 March, 2020
Fake News

कोरोनावायरस (Coronavirus) के तेजी से फैलते संक्रमण के बीच लोगों में डर का माहौल बना हुआ है। ऐसे में इससे जुड़ी निराधार व झूठी खबरें सोशल मीडिया पर तेजी से फैल रही हैं। इसी कड़ी में सोशल मीडिया पर फर्जी खबर फैलाने के आरोप में हिमाचल प्रदेश में एक समाचार पत्र (Newspaper) के पत्रकार (Journalist) पर मामला दर्ज किया गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सोलन के औद्योगिक क्षेत्र बद्दी, नालागढ़ और बरोटीवाला में लॉकडाउन के कारण बड़ी संख्या में श्रमिक फंसे हुए हैं। ऐसे में सूबे के नामी अखबार के पत्रकार ने फेसबुक पर दावा किया कि औद्योगिक क्षेत्र बद्दी, नालागढ़ और बरोटीवाला से 31 मार्च को एक दिन के लिए बसें चलेंगी। यह जानकारी सोशल मीडिया पर भी पोस्ट कर दी गयी, जिसके बाद  पुलिस ने अब फर्जी खबरें फैलाने के आरोप में पत्रकार पर मामला दर्ज किया गया है।

फेसबुक पर फर्जी खबर चलाने के आरोप में पत्रकार पर आईपीसी की धारा 188, 182, 336, 269 और एनडीएमए के एक्ट 54 के तहत बद्दी पुलिस थाने में केस दर्ज किया गया है। बद्दी के एसपी रोहित मलपानी ने बताया कि रिपोर्टर ने सोशल मीडिया पर पोस्ट में कहा कि यहां से विभिन्न हिस्सों में बसें चलाई जा रही हैं।

गौरतलब है कि बद्दी औद्योगिग नगरी है, जहां बड़ी संख्या में लोग फंसे हैं। वहीं सरकार ने अब अंतर जिला में भी एंट्री पर रोक लगा दी है। एसपी ने कहा कि यदि कोई एक जिले से दूसरे जिले में जाने की कोशिश करेगा, तो उसे 14 दिन के लिए क्वारंटीन किया जाएगा। सरकार ने लोगों के लिए खाने-रहने की व्यवस्था की है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

इस गंभीर बीमारी ने छीन ली पत्रकार अनिल कुमार शर्मा की जिंदगी

आगरा के बालूगंज निवासी अनिल कुमार शर्मा का कई दिनों से जयपुर के अस्पताल में चल रहा था इलाज

Last Modified:
Monday, 30 March, 2020
Anil Kumar Sharma

ब्लड कैंसर से जूझ रहे पत्रकार अनिल कुमार शर्मा का शनिवार को निधन हो गया है। वह जयपुर के अस्पताल में अपना इलाज करा रहे थे। आगरा के करियप्पा रोड बालूगंज निवासी अनिल कुमार शर्मा शासन से मान्यताप्राप्त संवाददाता थे। वह इन दिनों अलीगढ़ से पब्लिश होने वाले अखबार ‘राजपथ’ में आगरा के संवाददाता थे। ताजगंज स्थित मोझधाम में रविवार को उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया। उनके परिवार में पत्नी, दो पुत्र और दो पुत्रियां हैं।

ताज प्रेस क्लब के अध्यक्ष अनिल शर्मा, वरिष्ठ उपाध्यक्ष डॉ. अजय शर्मा, महामंत्री उपेन्द्र शर्मा, सचिव पवन तिवारी व कोषाध्यक्ष महेश शर्मा ने अनिल कुमार शर्मा के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी है।  

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

फोटो जर्नलिस्ट की पीट-पीटकर हत्या, सदमे ने ली बुजुर्ग पिता की भी जान

दिल्ली के पांडव नगर इलाके में एक फोटो जर्नलिस्ट की पीट-पीटकर हत्या करने का मामला सामने आया है।

Last Modified:
Friday, 27 March, 2020
beaten

दिल्ली के पांडव नगर इलाके में एक फोटो जर्नलिस्ट की पीट-पीटकर हत्या करने का मामला सामने आया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, मृतक की पहचान 42 वर्षीय गजेंद्र सिंह  के रूप में हुई है। गजेंद्र परिवार के साथ मंडावली इलाके में रहते थे।

गजेंद्र कई दैनिक अखबारों के लिए फ्रीलांस फोटो जर्नलिस्ट के तौर पर काम करते थे। शनिवार रात परिजनों से किसी काम से बाहर जाने की बात कहकर घर से निकले थे, लेकिन वह पूरी रात वापस नहीं लौटे।

अगले दिन जब तलाश शुरू की गई तो वे संजय झील में घायल हालत में मिले। उनके चेहरे पर चोट के गंभीर निशान थे। गजेंद्र की दोनों आंखें बुरी तरह सूजी हुई थीं। इलाज के लिए गजेंद्र को एलबीएस अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्हें प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई, लेकिन देर रात को उन्होंने घर पर दम तोड़ दिया। अगले दिन जब पोस्टमार्टम के बाद परिवार शव का अंतिम संस्कार करके घर लौटा, तो सदमे से गजेंद्र के 84 वर्षीय पिता भवान सिंह की भी मौत हो गई। भवान सिंह भी कई बड़े समाचार पत्रों में फोटो पत्रकार रहे थे और उन्होंने कई अवॉर्ड भी जीते थे। पिता-पुत्र की एकस्मात मौत से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। 

पीड़ित परिवार की शिकायत पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है और गजेंद्र सिंह पर हमला करने वाले आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। पुलिस को पता चला है कि गजेंद्र के पास से उसका मोबाइल फोन नहीं मिला है। पुलिस फोन के आधार पर आरोपियों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

न्यूज चैनल्स के हितों की रक्षा के लिए आगे आया NBF, सरकार के सामने रखीं ये मांग

कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने की दिशा में सरकार द्वारा उठाए गए कदमों का किया समर्थन

Last Modified:
Tuesday, 24 March, 2020
NBF

न्यूज इंडस्ट्री से जुड़े मुद्दे सुलझाने और न्यूज ब्रॉडकास्टर्स के हितों की रक्षा के लिए गठित ‘न्यूज ब्रॉडकास्टर्स फेडरेशन’ (News Broadcasters Federation) ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए किए गए लॉकडाउन व अन्य पहल के तहत देश भर के न्यूज टेलिविजन चैनल्स के हितों की दिशा में सरकार से तत्काल दखल देने की मांग की है।  

इस बारे में प्रधानमंत्री कार्यालय, कैबिनट सचिवालय, वित्त मंत्रालय, सूचना प्रसारण मंत्रालय आदि को दिए ज्ञापन में ‘एनबीएफ’ ने न्यूज ब्रॉडकास्टिंग सेक्टर पर पड़ रहे वित्तीय और व्यावसायिक असर का मुकाबला करने के लिए सरकारी हस्तक्षेप की मांग की है।

इस ज्ञापन में सरकार से मांग की गई है कि इस वित्तीय संकट को देखते हुए सरकार को टैक्स में छूट दी जाए। इसके साथ ही जीएसटी की दरों को कम करने, टैक्स जमा करने के लिए कम से कम तीन महीने की छूट देने आदि की मांग भी की गई है। फेडरेशन ने सरकार से मार्च और अप्रैल 2020 के लिए डीडी फ्रीडिश प्लेटफॉर्म पर न्यूज चैनल्स की फीस माफ करने की भी मांग की है।

इस बारे में ‘एनबीएफ’ के प्रेजिडेंट अरनब गोस्वामी का कहना है, ‘कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने की दिशा में सरकार द्वारा उठाए गए कदमों का एनबीएफ सपोर्ट करता है और पूरी तरह से सरकार के साथ है। वहीं, इस स्थिति में सरकार को न्यूज ब्रॉडकास्टिंग सेक्टर को बचाने की दिशा में भी कदम उठाने चाहिए, जो हर परिस्थिति में लोगों को सूचनाएं उपलब्ध करा रहा है।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए