ऑन एयर न्यूज एंकर के साथ घटी ऐसी घटना, प्रोफेशनलिज्म की हो रही है तारीफ

टीवी पर एंकरिंग व रिपोर्टिंग करने समय कई बार कैमरे में ऐसे लम्हें कैद हो जाते हैं, जिन्हें शायद ही कोई भी एंकर या रिपोर्टर देखना पसंद करें

Last Modified:
Saturday, 18 July, 2020
Anchor

टीवी पर एंकरिंग व रिपोर्टिंग करने समय कई बार कैमरे में ऐसे लम्हें कैद हो जाते हैं, जिन्हें शायद ही कोई भी एंकर या रिपोर्टर देखना पसंद करें। ऐसा ही कुछ वाक्या यूक्रेन की एक महिला एंकर के साथ हुआ।

दरअसल हुआ यूं कि यूक्रेन के एक चैनल में काम करने वाली न्यूज एंकर मरिका पैडल्को (Marichka Padalko) एंकरिंग कर रही थीं, कि तभी अचानक से ऑन एयर ही उनके साथ असामान्य सी घटना घटी। अचानक ही उनका आगे का दांत तेजी से हिलने लगा। न्यूज पढ़ते-पढ़ते पडल्को ने अपने मुंह पर हाथ रख लिया, जिसके बाद दांत उनके हाथ में आ गया। हालांकि मरिका घबराई नहीं, दांत निकलने के बावजूद उन्होंने न्यूज पढ़ना जारी रखा और तब तक पढ़ती रहीं जब तक कि प्रोग्राम समाप्त नहीं हो गया।

इस घटना का वीडियो एंकर मरिका पैडल्को ने अपने इंस्टाग्राम पेज पर शेयर किया और अपने इसके बारे में विस्तार से लिखा है। पडल्को ने लिखा कि 20 साल के करियर में मेरे साथ ऐसा पहली बार हुआ है। शो के दौरान अचानक मेरा दांत मुंह के बाहर निकलकर गिरने लगा, तब मेरे सहयोगी ने कहा कि तुम्हारा दांत टूट रहा है। मैंने तुरंत हाथ लगाकर उसे नीचे गिरने से बचा लिया। उस दौरान लाइव न्यूज रिपोर्ट चल रही थी।

उन्होंने आगे लिखा कि ऐसे में मुझे शांत रहकर और बिना ओवर रिएक्ट करते हुए न्यूज पढ़नी थी। मैंने तुरंत खुद को संभाला और न्यूज पढ़ने लगी और फिर पूरे प्रोग्राम को खत्म किया।  

हालांकि, इसी पोस्ट में पैडल्को ने अपने दांत की पूरी कहानी बताई। उन्होंने लिखा कि करीब 10 साल पहले यह तब हुआ था जब मेरी बेटी अलार्म घड़ी से खेल रही थी तो उसने घड़ी को मेरे मुंह पर मार दिया था और तभी मेरा दांत टूट गया था। फिर भी मैंने अपना करियर जारी रखा।

उन्होंने आगे लिखा, ‘ईमानदारी से बताऊं तो मुझे लगा कि इस घटना पर किसी का ध्यान नहीं जाएगा, लेकिन हमने अपने दर्शकों की अटेंशन को अंडरएस्टिमेट किया।’

पडल्को का ये वीडियो और उनकी पोस्ट तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। लोग तरह-तरह के रिएक्शन दे रहे हैं। बहुत सरे लोग पैडल्को की जमकर तारीफ कर रहे हैं। फिलहाल, इस घटना के बाद मिले लोगों के अच्छे रिस्पांस से मैरिका काफी खुश हैं। आखिर में उन्होंने कहा कि किसी भी परिस्थिति में शांत रहने की जरूरत है. चलिए सुबह मिलते हैं।

View this post on Instagram

Нова "слава" прийшла звідки не чекали .... і підтримка теж?. Так, в мене справді сьогодні під час прямого ефіру ТСН о 9:00 випала частина переднього зуба). Це, напевно, найкурйозніший мій досвід за двадцять років роботи ведучою. Прямий ефір тим і прекрасний, що завжди непередбачуваний. Так, в 2013 я вперше прямо в своєму ефірі побачила кадри затримання свого чоловіка? на протесті під Київрадою, а кілька років тому мою ногу під час випуску несподівано почала облизувати собака, що забігла зі студії @snidanok Цього разу моя колега @nata_goncharova мені написала, мовляв, "ти так зреагувала, ніби ти щодня губиш зуби?". Ні, не щодня?. Просто саме зараз я вирішила виправити ту прикрість, яка сталася понад десять тому. В мене в спальні стояв важкий металевий будильник і одного разу дуже зацікавив мою маленьку доньку. Вона схопила його з підвіконня і почала розмахувати "іграшкою" навколо сплячої мами. І щойно я позіхнула, як маленька весела ручка відбила мені половину зуба. Зараз зважилася нарешті на більш радикальний ремонт. Тільки була не дуже уважна до заборони свого стоматолога надкусувати їжу передніми зубами до закінчення лікування. Власне, тому сталося те, що сталося... Чесно кажучи, думала, що інцидент пройде непоміченим. Саме цей епізод свідомо не виклали на YouTube канал ТСН. Але ми недооцінили уважність наших глядачів. Блогерка @ekulka виклала це в своєму профілі, і .... понеслося по всіх виданнях, і не лише українських. В усій цій історії мене особисто вразила та кількість підтримки, яку я отримала) - і в коментарях, і в особистих повідомленнях. Друзі, велике Вам спасибі❤️))). В будь-якій ситуації зберігаємо спокій? Завтра вранці побачимось? в @tsnua

A post shared by Марічка Падалко (@marichkapadalko) on

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

MCU: इस कार्यक्रम में जुटेंगी हस्तियां, मीडिया की बारीकियों से रूबरू होने का मिलेगा मौका

माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय, भोपाल में 26 अक्टूबर से नवागत विद्यार्थियों के आत्मीय प्रबोधन और करियर मार्गदर्शन के लिए ‘संत्रारंभ 2020’ का आयोजन किया जा रहा है।

Last Modified:
Monday, 26 October, 2020
Makhanlal-University

देश के विख्यात माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय, भोपाल में 26 अक्टूबर से नवागत विद्यार्थियों के आत्मीय प्रबोधन और करियर मार्गदर्शन के लिए ‘संत्रारंभ 2020’ का आयोजन किया जा रहा है। वर्चुअल रूप से होने वाले तीन दिवसीय इस कार्यक्रम में विभिन्न टॉपिक्स पर मीडिया व शिक्षाजगत की जानी-मानी हस्तियों से रूबरू होने का मौका मिलेगा। सभी व्याख्यान का सीधा प्रसारण विश्वविद्यालय के फेसबुक पेज पर किया जाएगा

कार्यक्रम के पहले दिन 26 अक्टूबर को सुबह 10 बजे से साढ़े 12 बजे के बीच उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. केजी सुरेश ने कहा, ‘समाज की तरह आज मीडिया भी संक्रमण काल से गुजर रहा है। इसके साथ ही दुनिया में फेक कंटेंट के खिलाफ एक युद्ध चल रहा है, हमें प्रयास करना है कि इस युद्ध में सत्य की जीत हो। इसके लिए एक पत्रकार को एक्टिविस्ट नहीं, फैक्टिविस्ट बनना चाहिए।’

सत्रारंभ के मुख्य अतिथि एवं श्री वैदिक मिशन ट्रस्ट, राजकोट के संस्थापक स्वामी धर्मबंधु ने ‘युवा शक्ति और भारत का भविष्य’ विषय पर अपने विचार व्यक्त किए। उन्होंने कहा, ‘सोचने और सीखने की प्रक्रिया जीवन भर चलती रहनी चाहिए। सपने देखें और उन्हें साकार करने के लिए निरंतर प्रयासरत रहें। यह बातें हमें आगे ले जाती हैं।‘

‘नये दौर की पत्रकारिता की चुनौतियां’ विषय पर टाइम्स नेटवर्क की समूह संपादक (राजनीति) नविका कुमार ने कहा कि फेक न्यूज के जमाने में पत्रकारों को सतर्क रहना बहुत जरूरी है। पत्रकारों को प्रमाणित और पुष्ट खबरें ही अपने दर्शकों एवं पाठकों तक पहुंचानी चाहिए, सुनी-सुनाई बातों को नहीं। उन्होंने कहा कि अपनी और अपने संस्थान की विश्वसनीयता के लिए फेक कंटेंट को रोकना आज की सबसे बड़ी चुनौती है।

टीवी-9 नेटवर्क के संपादक एवं बिजनेस प्रमुख राकेश खर ने ‘मीडिया स्वरोजगार’ पर कहा कि कान्टेक्स्ट,  कंज्यूमर,  कंटेंट,  कम्युनिटी और कॉमर्स, डिजिटल मीडिया के प्रमुख ‘5-सी’ हैं। डिजिटल ने मीडिया व्यवसाय को बदल दिया है। डिजिटल मीडिया पर आप एक ही समय में कंज्यूमर भी हैं और प्रमोटर भी। डिजिटल मीडिया के डेटा अधिक विश्वसनीय हैं। उन्होंने कहा कि डिजिटल मीडिया में आने आइडिया को फंडिंग की समस्या नहीं है। मीडिया की ग्रोथ देश की जीडीपी ग्रोथ से ज्यादा है।

न्योज डॉट कॉम के संस्थापक एवं संपादक आलोक वर्मा ने ‘डिजिटल मीडिया: भविष्य और संभावनाएं’ विषय पर अपने विचार रखे। उन्होंने कहा कि डिजिटल मीडिया ने अपनी उपयोगिता और महत्व कोरोना काल में सबको समझाया। कोरोना काल में डिजिटल मीडिया को भविष्य के लिए एक दिशा मिली है। इसने विज्ञापनदाताओं को भी आकर्षित किया है। मीडिया में आने वाले नवागत पत्रकारों के लिए उन्होंने कहा कि अब सिर्फ समाचार लिखना सीखना ही काफी नहीं है, डिजिटल मीडिया  के सॉफ्टवेयर्स को भी सीख कर आएं।

वहीं, 27 अक्टूबर को सुबह दस से साढ़े 11 बजे तक वरिष्ठ पत्रकार और ‘आउटलुक’ के पूर्व संपादक आलोक मेहता (पद्मश्री) ‘पत्रकारिता की लक्ष्मण रेखा’ विषय पर अपने विचार रखेंगे। दोपहर एक से दो बजे तक रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के अध्यक्ष एवं मीडिया निर्देशक उमेश उपाध्याय ‘न्यू मीडिया-अवसर एवं चुनौतियां’ पर चर्चा करेंगे। दोपहर दो बजे से साढ़े तीन बजे तक ‘डीडी न्यूज’ के वरिष्ठ सलाहकार संपादक अशोक श्रीवास्तव ‘टेलिविजन समाचारों के बदलते प्रतिमान’ पर अपनी बात रखेंगे। वहीं, साढ़े तीन बजे से पांच बजे तक ‘ग्रे मैटर्स कम्युनिकेशंस के ’संस्थापक एवं निदेशक नवनीत आनंद ‘कोविड उपरांत व्यवसाय के लिए जनसंपर्क वैक्सीन’ विषय पर अपने विचारों से अवगत कराएंगे।

28 अक्टूबर को सुबह 10 से साढ़े 11 बजे के बीच ‘बिजनेस वर्ल्ड’ और ‘एक्सचेंज4मीडिया’ ग्रुप के चेयरमैन व एडिटर-इन-चीफ डॉ. अनुराग बत्रा ‘मीडिया मैनेजमेंट’ विषय पर अपने विचार रखेंगे। इसके बाद दोपहर साढ़े 11 बजे से एक बजे स्कूल ऑफ कंप्यूटर साइंस, यूपीएस देहरादून के डीन मनीष प्रतीक ‘कंप्यूटर विज्ञान के क्षेत्र में संभावनाएं’ विषय पर चर्चा करेंगे। वहीं, दोपहर दो बजे से अपराह्न तीन बजे तक प्रख्यात आरजे, पॉडकास्टर एवं संचार विशेषज्ञ ‘ऑडियो स्ट्रीमिंग का भविष्य’ विषय पर अपनी बात रखेंगी।

अपराह्न साढ़े तीन बजे से शाम पांच बजे तक कार्यक्रम का समापन विश्वविद्यालय के कुलपति केजी सुरेश की अध्यक्षता में संपन्न होगा। इस मौके पर मोतिहारी (बिहार) स्थित महात्मा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति संजीव शर्मा मुख्य अतिथि एवं वक्ता की भूमिका निभाएंगे।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

घर में घुसकर पत्रकार को गंभीर रूप से किया घायल

देशभर में पत्रकारों पर हमले की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। बदमाशों द्वारा आए दिन पत्रकारों को निशाना बनाया जा रहा है।

Last Modified:
Monday, 26 October, 2020
Attack

देशभर में पत्रकारों पर हमले की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। बदमाशों द्वारा आए दिन पत्रकारों को निशाना बनाया जा रहा है।  इसी तरह का एक मामला झारखंड के हजारीबाग से सामने आया है, जहां पर शुक्रवार की रात कुछ बदमाशों ने घर में घुसकर एक अखबार के पत्रकार विवेक कुमार सिंह पर हमला कर दिया।

बताया जाता कि शुक्रवार रात करीब नौ बजे करीब विवेक सिंह के घर के बाहर कुछ लोग झगड़ा कर रहे थे। हल्ला सुनकर पहुंचे विवेक ने झगड़ा बंद करने को कहा। इस दौरान हमलावर, विवेक पर टूट पड़े। जान बचाने के लिए विवेक घर में घुस गए, लेकिन बदमाशों ने घर में घुसकर उन पर चाकू से हमला कर दिया।

करीब छह बदमाशों ने विवेक कुमार सिंह के सिर व पीठ में कई चाकू मारे, जिससे वह घायल हो गए। शोरशराब सुनकर जब तक लोग मौके पर पहुंचे, हमलावर फरार हो गए। गंभीर हालत में परिजनों ने विवेक को आरोग्यम अस्पताल में भर्ती कराया। कटकमदाग थाने में अज्ञात बदमाशों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। पुलिस ने बदमाशों की तलाश शुरू कर दी है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

कोविड-19 ने छीन ली एक और पत्रकार की जिंदगी

कोरोना से त्रिपुरा में पत्रकार की मौत का पहला मामला, निजी चैनल में बतौर वीडियो जर्नलिस्ट कार्यरत थे जितेंद्र देबबर्मा

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 22 October, 2020
Last Modified:
Thursday, 22 October, 2020
Jitendra Debbarma

देश में कोरोनावायरस (कोविड-19) का प्रकोप कम होने का नाम नहीं ले रहा है। इस वायरस की चपेट में आकर अब तक कई लोग अपनी जान गंवा चुके हैं, वहीं तमाम लोग अभी भी विभिन्न अस्पतालों में उपचार करा रहे हैं।

अब कोरोनावायरस के कारण त्रिपुरा में एक पत्रकार की मौत का पहला मामला सामने आया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, मंगलवार रात अस्पताल में कोरोनावायरस संक्रमित एक स्थानीय न्यूज चैनल के पत्रकार जितेंद्र देबबर्मा की मौत हो गई।

जितेंद्र देबबर्मा 46 वर्ष के थे। उनके परिवार में पत्नी के अलावा दो बेटियां तथा अन्य सदस्य हैं। बताया जाता है कि जितेंद्र देबबर्मा हल्के बुखार की वजह से करीब एक हफ्ते से घर पर ही अलग रहकर उपचार करा रहे थे, लेकिन उन्होंने कोरोना टेस्ट नहीं कराया था।

सांस लेने संबंधी समस्याओं के कारण सोमवार रात को उन्हें त्रिपुरा जनजातीय क्षेत्र स्वायत्त जिला परिषद मुख्यालय के खुमुलवंग अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां उनका कोरोना वायरस टेस्ट पॉजिटिव आया। उन्हें ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखा गया, लेकिन धीरे-धीरे उनकी हालत बिगड़ती गई और अस्पताल में भर्ती होने के 24 घंटे के अंदर ही उन्होंने दम तोड़ दिया।

जितेंद्र देबबर्मा के निधन पर ‘जर्नलिस्ट फोरम असम’ (JFA) समेत तमाम पत्रकारों ने दुख जताते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

पत्रकार के बेटे का अपहरण, अपहर्ताओं ने मांगी 45 लाख की फिरौती

तेलंगाना के महबूबाबाद जिले में कुछ अज्ञात लोगों ने एक पत्रकार के नौ साल के बेटे का अपहरण कर लिया। फिरौती के लिये अपहर्ताओं ने 45 लाख रुपए देने की मांग की है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 20 October, 2020
Last Modified:
Tuesday, 20 October, 2020
Crime

तेलंगाना के महबूबाबाद जिले में कुछ अज्ञात लोगों ने एक पत्रकार के नौ साल के बेटे का अपहरण कर लिया। फिरौती के लिये अपहर्ताओं ने 45 लाख रुपए देने की मांग की है। सोमवार को पुलिस ने इसकी जानकारी दी है।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि बच्चे का अपहरण रविवार की शाम सात बजे के करीब हुआ जब वह महबूबाबाद शहर में स्थित अपने घर के बाहर खेल रहा था। अपहर्ता मोटरसाइकिल पर सवार होकर आये थे और बच्चे को उठा ले गए। पुलिस के मुताबिक, बच्चा संभवत: उनको जानता था।

बाद में अपहर्ताओं ने इंटरनेट के माध्यम से फोन पर बच्चे की मां से संपर्क किया और उसकी रिहाई के लिये पैसे मांगे।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि इसके लिए दस टीमें गठित की गई हैं और अपहर्ताओं और बच्चे का पता लगाने के लिये सीसीटीवी फुटेज खंगाली जा रही है।

मिली जानकारी के मुताबिक, महबूबाबाद शहर के कृष्णा कॉलोनी निवासी में रंजीत कुमार का परिवार रहता है। रंजीत कुमार पेशे से पत्रकार हैं। उनका 9 वर्षीय बड़ा बेटा दीक्षित रेड्डी का रविवार शाम 6.30 बजे के आसपास बाइक सवार अज्ञात लोगों ने अपहरण कर लिया। इसके बाद अपहर्ताओं ने रंजीत को फोन करके 45 लाख रुपए की फिरौती मांगी। साथ ही पुलिस को इस बात की जानकारी देने पर गंभीर परिणाम भुगतने की भी धमकी भी दी है। फोन करने वाले ने यह भी बताया है कि उसके लोग अब भी उसी एरिया में है।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

इस बीमारी ने निगल ली वरिष्ठ पत्रकार हैदर अली की जिंदगी

उत्तर प्रदेश के जाने-माने उर्दू अखबार ‘आग’ के फाउंडर और वरिष्ठ पत्रकार हैदर अली का शनिवार की रात निधन हो गया।

Last Modified:
Monday, 19 October, 2020
Haider Ali

उत्तर प्रदेश के जाने-माने उर्दू अखबार ‘आग’ के फाउंडर और वरिष्ठ पत्रकार हैदर अली का शनिवार की रात निधन हो गया। करीब 51 वर्षीय हैदर अली एरा मेडिकल कॉलेज समूह के उर्दू दैनिक ‘आग’ और हिंदी दैनिक ‘इन्किलाबी नजर’ का मैनेजमेंट देखने के साथ मान्यता प्राप्त राज्य मुख्यालय पत्रकार भी थे।

बताया जाता है कि हैदर अली करीब तीन साल से कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से जूझ रहे थे। शुरू में वह इलाज के लिए मुंबई के टाटा अस्पताल व दिल्ली में भी गए थे, लेकिन बाद में वह लखनऊ लौट आए थे।

हैदर अली के परिवार में बुजुर्ग माता-पिता और दो बेटे हैं। रविवार की सुबह उनके पार्थिव शरीर को अब्बास बाग के कब्रिस्तान में सुपुर्द ए खाक कर दिया गया। हैदर अली के निधन से आग अखबार के साथ-साथ पत्रकार जगत में शोक की लहर है। तमाम पत्रकारों ने हैदर अली के निधन पर दुख जताते हुए उन्हें अपनी श्रद्धांजलि दी है।  

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

ग्लोबल हैंडवॉशिंग डे पर iTV Foundation और Dettol की सराहनीय पहल

ग्लोबल हैंडवॉशिंग डे (15 अक्टूबर) मनाने और कोविड-19 के दौरान लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करने के लिए ‘आईटीवी फाउंडेशन’की कॉरपोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी(CSR) विंग ने सराहनीय पहल शुरू की है।

Last Modified:
Friday, 16 October, 2020
india-news595

ग्लोबल हैंडवॉशिंग डे (15 अक्टूबर) मनाने और कोविड-19 के दौरान लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करने के लिए ‘आईटीवी फाउंडेशन’ (iTV Foundation) की कॉरपोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी (CSR) विंग ने ‘डिटॉल’ (Dettol) के साथ मिलकर एक पहल शुरू की है।

  • इस पहल के तहत आईटीवी नेटवर्क के चैनल्स पर हैंडवॉशिंग और इसके महत्व को लेकर एक स्पेशल प्रोग्रामिंग शुरू की गई है। 
  • उत्तर प्रदेश के जिलों में डिटॉल साबुन बांटे गए हैं।
  • दर्शकों के लिए विशेष प्रतियोगिता शुरू की गई है, इसके तहत दर्शक हाथ धोते हुए अपनी तस्वीरें/वीडियो शेयर करेंगे और चयनित विजेताओं को एक साल के लिए ‘डिटॉल’ साबुन मुफ्त मिलेगा।

ग्लोबल हैंडवॉशिंग डे पर कोविड19 (COVID 19) के बीच स्वच्छता के प्रति जागरूकता के महत्व पर प्रकाश डालते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ‘हाथ धोना रोके कोरोना’ (#HaathDhonaRokeyCorona) अभियान का शुभारंभ किया। इस दौरान सीएम योगी ने कहा कि हम सभी सामान्य दिखने वाली स्वच्छता की आदतों को अपनाकर स्वस्थ एवं आरोग्यपूर्ण जीवन जी सकते हैं। उन्होंने कहा कि हाथ धोना हमारे व्यवहार का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है, जिससे हम विभिन्न प्रकार की बीमारियों से बच सकते हैं। उन्होंने कहा कि हम सब हैंडवॉशिंग का महत्व सामान्य दिनचर्या के रूप में जानते हैं। लेकिन, आधुनिक जीवन शैली के कारण बहुत बार लोग इन सभी क्रियाकलापों से दूरी बना लेते हैं। इसका परिणाम हमारे सामने अनेक बीमारियों के रूप में सामने आ जाता है।

वहीं इस मौके पर उन्होंने ‘यू-राइज पोर्टल’ (U-Rise portal) के माध्यम से छात्रों को संबोधित किया और सभी छात्रों, फैकेल्टी मेंबर्स, ऑफिसर्स और स्टॉफ को शुभकामनाएं दीं। इस अवसर पर, iTV नेटवर्क के संस्थापक कार्तिकेय शर्मा ने कहा, ‘हाथ की सफाई बार-बार करते रहना चाहिए, साथ ही स्वच्छता प्रणाली को मजबूत रखना चाहिए। हैंडवॉशिंग सुविधाएं बिना किसी भेदभाव के दुनिया के हर कोनें तक पहुंचनी चाहिए। यह एक समय है, जब हर इंसान को एक साथ आना होगा और मानवता दिखानी होगी। COVID-19 के प्रसार को रोकने के लिए अपनी भागीदारी निभानी होगी।’

iTV फाउंडेशन ने इस पहल के तहत 10 लाख डेटॉल हैंडवाश किट और 1 लाख मास्क डोनेट करने का संकल्प लिया है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

कोरोना काल में मीडियाकर्मियों के बेहतर स्वास्थ्य के लिए सामूहिक हवन

आगरा में यमुना आरती स्थल व्यू पॉइंट पार्क, यमुना नदी के तट पर शहर के तमाम मीडियाकर्मियों के अच्छे स्वास्थ्य और कल्याण के लिए सामूहिक हवन का आयोजन किया गया।

Last Modified:
Friday, 16 October, 2020
Event

आगरा में यमुना आरती स्थल व्यू पॉइंट पार्क, यमुना नदी के तट पर शहर के तमाम मीडियाकर्मियों के अच्छे स्वास्थ्य और कल्याण के लिए पुरुषोत्तम मास के समापन पर सामूहिक हवन का आयोजन किया गया। यह कार्यक्रम वैदिक सूत्रम के चेयरमैन पंडित प्रमोद गौतम द्वारा कराया गया।

सामूहिक यज्ञ के समापन पर पंडित प्रमोद गौतम ने बताया कि पुराणों शास्त्रों में बताया गया है कि पुरुषोत्तम मास या अधिक मास के समापन पर व्रत-उपवास, दान-पूजा और यज्ञ-हवन करने से मनुष्य के सारे पाप कर्मों का नाश होकर कई गुना पुण्यफल प्राप्त होता है। अधिक मास में तीर्थस्थलों की परिक्रमा और स्नान करने से व्यक्ति को मोक्ष और अनंत पुण्यों की प्राप्ति होती है।

उन्होंने बताया कि जिस माह में सूर्य की संक्रांति नहीं होती, वह अधिक मास कहलाता है। इस मास में खासतौर पर सर्वमांगलिक कार्य वर्जित माने गए है, लेकिन यह माह धर्म-कर्म के कार्य करने में बहुत फलदायी है। इस मास में किए गए धार्मिक आयोजन पुण्य फलदायी होने के साथ ही दूसरे माहों की अपेक्षा करोड़ गुना अधिक फल देने वाले माने गए हैं।

सामूहिक यज्ञ में रिवर कनेक्ट अभियान के प्रमुख वरिष्ठ पत्रकार बृज खण्डेलवाल, श्री मथुराधीश मंदिर के नंदन श्रोतिय, जुगल किशोर व अभिनव श्रोतिय का सहयोग रहा। पार्षद अनुराग चतुर्वेदी व रिवर कनेक्ट अभियान के श्रवण कुमार, डॉ. देवाशीष भट्टाचार्य, पत्रकार प्रवीन शर्मा, मुकेश शर्मा, राहुल राज, दीपक राजपूत, पत्रकार जगन प्रसाद तेहरिया, वरिष्ठ पत्रकार ब्रजेन्द्र पटेल आदि मौजूद रहे। सभी ने पत्रकारों के लिए यमुना मैया से प्रार्थना की, क्योंकि कोरोना काल में कई पत्रकारों पर संकट आ चुका है और कई दिवंगत हो चुके हैं। हवन के समापन पर सभी ने श्रीहरि विष्णु से देश को कोरोना रूपी संकट से जल्दी मुक्ति दिलाने की प्रार्थना की।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

नहीं रहे जाने-माने खेल पत्रकार किशोर भीमनी

खेल पत्रकार के साथ किशोर भीमनी जाने-माने क्रिकेट कॉमेंटेटर भी थे। 80 वर्ष की उम्र में हुआ निधन

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 15 October, 2020
Last Modified:
Thursday, 15 October, 2020
Kishore Bhimani

वरिष्ठ खेल पत्रकार और जाने माने क्रिकेट कॉमेंटेटर किशोर भीमनी (Kishore Bhimani) का गुरुवार को निधन हो गया। वह 80 साल के थे। किशोर भीमनी खेल पत्रकारिता की दुनिया में एक बड़ा नाम थे और क्रिकेट कॉमेंट्री की अपनी विशिष्ट शैली के लिए काफी मशहूर थे। स्पोर्ट्स कॉमेंट्री के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए वर्ष 2103 में उन्हें लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से नवाजा गया था।   

किशोर भीमनी के निधन पर वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई और सागरिका घोष समेत तमाम पत्रकारों और खेल जगत से जुड़ीं कई हस्तियों ने सोशल मीडिया पर उन्हें श्रद्धांजलि दी है।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

हाई कोर्ट ने पत्रकार के खिलाफ दर्ज FIR को किया खारिज, कही ये बात

जम्मू कश्मीर हाई कोर्ट ने श्रीनगर में एक अखबार के पत्रकार पर कथित फर्जी खबर लिखने के मामले में दर्ज एफआईआर को खारिज कर दिया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Wednesday, 14 October, 2020
Last Modified:
Wednesday, 14 October, 2020
Court

जम्मू कश्मीर हाई कोर्ट ने श्रीनगर में एक अखबार के पत्रकार पर कथित फर्जी खबर लिखने के मामले में दर्ज एफआईआर को खारिज कर दिया है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, किसी ऐसी घटना के बारे में बताना, जिसे सच मानने के लिए रिपोर्टर के पास सही वजह है, अपराध नहीं हो सकता।

जस्टिस संजय धर की एकल पीठ ने यह भी कहा कि मीडिया द्वारा ‘घटनाओं की निष्पक्ष और स्पष्ट रिपोर्टिंग’ पर केवल इसलिए अंकुश नहीं लगाया जा सकता, क्योंकि इससे किसी वर्ग के व्यक्तियों के व्यवसाय पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है.

दरअसल, एक अंग्रेजी दैनिक के पत्रकार एम. सलीम पंडित ने तीन अप्रैल को ‘Stone pelters in J&K now target tourists, four women injured’ शीर्षक से खबर पब्लिश की थी। इस खबर में उन्होंने बताया था कि पथराव करने वालों ने पर्यटकों को निशाना बनाया जिसमें चार महिलाएं घायल हो गई हैं।

इस खबर को लेकर टूरिज्म व्यवसाय से जुड़े लोगों ने पत्रकार के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। शिकायतकर्ताओं के अनुसार, ‘ऐसा ‘शांतिपूर्ण पर्यटन सीजन’ को बाधित करने और देश के नागरिकों के बीच ‘डर का माहौल बनाने’ के दुर्भावनापूर्ण इरादे से किया गया था।’ पत्रकार ने हाई कोर्ट में याचिका दायर कर अपने खिलाफ दर्ज एफआईआर को खारिज करने की मांग की थी।

इस मामले में  हाई कोर्ट की पीठ ने कहा कि उपरोक्त दस्तावेज जो जांच के रिकॉर्ड का हिस्सा हैं, स्पष्ट रूप से बताते हैं कि याचिकाकर्ता के पास यह मानने के लिए उचित आधार थे कि समाचार रिपोर्ट, जिसे उन्होंने प्रकाशित किया था, सत्य तथ्यों पर आधारित है। इसके साथ ही हाई कोर्ट ने एम. सलीम पंडित के खिलाफ दायर एफआईआर खारिज कर दी।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

पत्रकार हत्याकांड में आरोपित गिरफ्तार, वारदात को अंजाम देने के पीछे बताई यह वजह

उत्तर प्रदेश के कौशांबी जिले में करीब पांच दिन पूर्व हुए पत्रकार हत्याकांड का पुलिस ने सोमवार को खुलासा कर दिया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 13 October, 2020
Last Modified:
Tuesday, 13 October, 2020
Arrest

उत्तर प्रदेश के कौशांबी जिले में करीब पांच दिन पूर्व हुए पत्रकार हत्याकांड का पुलिस ने सोमवार को खुलासा कर दिया है। पुलिस ने इस मामले में मुख्य आरोपित को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से हत्याकांड में प्रयुक्त हथियार बरामद कर लिया है। पकड़े गए हत्यारोपित का नाम शीबू उर्फ सैफुल हक पुत्र रेहनुल हक निवासी महगांव है।

पुलिस के अनुसार, पूछताछ में शीबू ने बताया कि उसने इस हत्याकांड को इसलिए अंजाम दिया क्योंकि फराज ने उसके बारे में मुखबिरी की थी। इस वजह से उसे जेल जाना पड़ा था। जेल से आने के बाद इसी बात से नाराज होकर उसने फराज की हत्या कर दी। पुलिस ने विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर शीबू को अदालत में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।

पुलिस का दावा है कि शीबू, फराज से रंजिश रखता था। वर्ष 2019 में गोकशी के मामले में फराज ने उसे जेल भिजवा दिया था। जेल से आने के बाद वह फराज की हत्या करने के लिए मौका तलाश रहा था। मौका मिलते ही शीबू ने सात अक्टूबर को गोली मारकर फराज की हत्या कर दी है। पुलिस के अनुसार, शीबू पर इससे पहले भी दो मुकदमे दर्ज हैं। इन मुकदमों में वह जमानत पर है।

यह भी पढ़ें: बेखौफ बदमाशों के निशाने पर आया पत्रकार, गोली मारकर हत्या

गौरतलब है कि सात अक्टूबर को कौशांबी जिले में पत्रकार फराज की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। मलाक मोहिनिद्दीनपुर गांव निवासी फराज असलम एक हिंदी साप्ताहिक अखबार में बतौर जिला संवाददाता काम कर रहे थे। हत्याकांड की ये वारदात पूरामुफ्ती थाना क्षेत्र के महगाव कस्बे से पैगंबरपुर गांव जाने वाली रोड की है। बुधवार की दोपहर वह पैगंबरपुर गांव से अपने घर बाइक से जा रहे थे। हाई-वे पर पहुंचने से पहले ही गांव के बाहर बदमाशों ने उन्हें घेरकर गोली मार दी थी, जिसमें फराज असलम की मौके पर ही मौत हो गई थी।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए