द हिन्दू ने माइंडशेयर को मीडिया और ओएमडी को डिजिटल जिम्मेदारी सौंपी

<p><strong>समाचार4मीडिया.कॉम ब्यूरो</strong></p> <div>मंदी के दौर को पीछे छोड़ते हुए अब प्रिंट मीडिय

Last Modified:
Friday, 01 January, 2016
Samachar4media

समाचार4मीडिया.कॉम ब्यूरो

मंदी के दौर को पीछे छोड़ते हुए अब प्रिंट मीडिया प्लेयर्स अपनी स्थिति को मजबूत करने के लिए हर संभव कदम उठा रहे हैं। इसी माह की शुरुआत में, केरल के प्रमुख समाचारपत्र, ‘मातृभूमि’ ने ‘मैक्सस’ को‘एओआर मीडिया मैनेजमेंट’ की जिम्मेदारी सौंपी है। इसी क्रम में, ‘द हिन्दू’ ने पहली बार मीडिया और डिजिटल पार्टनर नियुक्त किया है। एक्सचेंज4मीडिया समूह ने इंडस्ट्री सूत्रों के साथ-साथ ‘द हिन्दू’ के अधिकारियों से इस बात की पुष्टि की है। उनके अनुसार, ‘द हिन्दू’ ने‘ग्रुपएम’ के ‘माइंमडशेयर’ को मीडिया मैंडेट (पारंपरिक मीडिया और आउटडोर) और ओएमडी को डिजिटल की जिम्मेदारी सौंपी है। रिपोर्ट लिखे जाने तक सौदा कितने में हुआ है इसकी अभी जानकारी नहीं मिल पाई है।
 
‘द हिन्दू’ के वाइस प्रेसिडेंट- एडवरटाइजिंग, सुरेश श्रीनिवासन ने पुष्टि करते हुए कहा, “हम लोग कॉरपोरेट ब्रांड बिल्डिंग कैंपेन लॉन्च करने की दिशा में बढ़ रहे हैं। इसलिए हमने महसूस किया कि इस स्तर पर मीडिया और डिजिटल पार्टनर की नियुक्ति से लाभ होगा।”
 
गौरतलब है कि, पिछले साल जुलाई के शुरुआत में पहले से कार्यरत क्रिएटिव पार्टनर, ‘लोवे लिंटास’ के साथ-साथ ‘ओगिल्वी इंडिया’ को भी जोड़ा। ‘द हिन्दू’ के अलावा एजेंसी ‘स्पोर्टस्टार’,‘बिजनेस लाइन’, ‘फ्रांटलाइन’ और ब्रांड के अन्य प्रकाशनों के क्रिएटिव ड्यूटी की जिम्मेदारी भी निभायेगा।
 
इसके अलावा, हाल में ही ‘द हिन्दू’ के एडिटर-इन-चीफ, एन राम ने 19 जनवरी 2012 को अपने पद से औपचारिक तौर पर इस्तीफा दे दिया और ‘द हिन्दू’ के संपादक, सिद्धार्थ वरदराजन को इसकी जिम्मेदारी सौंप दी। अरुण अनंत, 6 फरवरी 2012 से ‘कस्तूरी एंड सन्स लिमिटेड’ के सीईओ की जिम्मेदारी संभालेंगे।
 
 
नोट: समाचार4मीडिया देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडिया पोर्टल एक्सचेंज4मीडिया का नया उपक्रम है। समाचार4मीडिया.कॉम में हम आपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें samachar4media@exchange4media.com पर भेज सकते हैं या 09899147504/ 09911612929 पर संपर्क कर सकते हैं।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
TAGS s4m
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

तमाम न्यूज पोर्टल्स पर चली PTI की इस खबर को प्रसार भारती ने बताया फेक

‘प्रसार भारती’ के CEO शशि शेखर ने खुद इसका खंडन किया और पीटीआई की इस खबर को फेक न्यूज करार दिया।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 01 December, 2020
Last Modified:
Tuesday, 01 December, 2020
Prasar Bharati

तमाम न्यूज वेबसाइट्स पर खबर चलाई गई कि भाकपा सांसद बिनय विश्वम ने केंद्रीय सूचना-प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को पत्र लिखकर आरोप लगाया है कि प्रसार भारती सरकार द्वारा वित्त पोषित रेडियो और टीवी चैनलों को बंद करने का प्रयास कर रही है। यह खबर वेबसाइट्स पर पीटीआई (PTI) के हवाले से चलाई गई, लेकिन बाद में इस खबर को पब्लिक ब्रॉडकास्टर प्रसार भारती ने फेक बताया है।

‘प्रसार भारती’ के CEO शशि शेखर ने खुद इसका खंडन किया और पीटीआई की इस खबर को फेक न्यूज करार दिया। उन्होंने कहा कि एक न्यूज संज्ञान में आई है कि पीटाआई ने रिपोर्ट में रेडियो स्टेशन बंद होने का दावा किया है। जोकि फेक है। यह फर्जी खबर है। आकाशवाणी का कोई भी रेडियो स्टेशन न तो केरल में और न ही भारत में कहीं भी बंद किया जा रहा है।  

पीटीआई की ओर से दावा किया गया कि भाकपा सांसद बिनय विश्वम ने केंद्रीय सूचना-प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को पत्र लिखकर आरोप लगाया है कि प्रसार भारती सरकार द्वारा वित्त पोषित रेडियो और टीवी चैनलों को बंद करने का प्रयास कर रही है। साथ ही उन्होंने दावा किया कि ऑनलाइन माध्यम इनका विकल्प नहीं हो सकते हैं। पीटीआई की खबर के मुताबिक, विश्वम ने कहा कि यह एक 'गलत' विचार है कि कोई भी व्यक्ति किसी भी समय आसानी से इंटरनेट का उपयोग कर सकता है।

इस खबर में आगे बताया गया कि विश्वम ने कहा कि इंटरनेट की उपलब्धता वित्तीय, सामाजिक और भौगोलिक परिस्थितियों पर निर्भर करती है और इन बाधाओं को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि एक बेहद महत्वपूर्ण विषय पर आपका ध्यान आकर्षित करने के लिए यह पत्र लिखा है, जिस पर तत्काल आपके हस्तक्षेप की आवश्यकता है। प्रसार भारती सरकार द्वारा वित्त पोषित सूचना माध्यमों के प्रांतीय एवं राष्टीय स्तर के संस्थानों को बंद करने का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा इसी तरह पहले 2017 में की गई कार्रवाई में 769 टीवी चैनलों को बंद किया गया था।

उनका आरोप था कि सरकार ऐसा मानती है कि अब इन TV और रेडियो चैनलों का संचालन आर्थिक रूप से ठीक नहीं है। वो यहां तक कह बैठे कि नवंबर 18, 2020 को हुई ‘प्रसार भारती’ की एक बैठक में ही इस पर निर्णय लिया गया कि केरल के चैनल्स में काफी मजबूती से कटौती की जाएगी। उन्होंने इन चैनलों के संचालन को मजबूत करने, उचित मात्रा में मानव संसाधन व अन्य संसाधनों को मुहैया कराने की भी अपील की।

हालांकि, ‘प्रसार भारती’ की प्रतिक्रिया के बाद ये स्पष्ट हो गया कि ये आरोप नहीं बल्कि सिर्फ कोरे दावे थे, जिनका सच्चाई से कोई सरोकार था ही नहीं। वहीं इसे पीटीआई ने भी इसे ज्यों का त्यों चला दिया। शशि शेखर ने स्पष्टीकरण के बाद पीटीआई ने दावा किया कि उसने ऐसी कोई खबर चलाई ही नहीं है, बल्कि राज्यसभा सांसद के आरोपों को प्रकाशित किया है।

न्यूज एजेंसी ने कहा कि उसने सीईओ शशि शेखर द्वारा इस खबर को नकारे जाने के बाद उनके स्पष्टीकरण को भी खबर में शामिल किया है। इसके बाद शशि शेखर ने नसीहत दी कि अच्छा होता अगर जल्दबाजी में खबर प्रकाशित करने से पहले पीटीआई ने स्पष्टीकरण ले लिया होता।

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा कि इसी तरह पीटीआई ने जालंधर, भुज और गोरखपुर स्टेशनों को बंद किए जाने की अफवाह फैलाई थी, जबकि इन तीनों ही स्टेशनों से जमीनी, सैटेलाइट और इंटरनेट  इन तीनों ही माध्यमों से कार्यक्रम पेश कर रहे हैं।

‘प्रसार भारती’ के सीईओ ने कहा कि ऑल इंडिया रेडियो एक मात्र ऐसा ब्रॉडकास्टर है जो FM, SW, डिजिटल, डीआरएम और इंटरनेट– इन सभी माध्यमों से रेडियो स्टेशनों का संचालन करता है। साथ ही तमाम बाधाओं और चुनौतियों के बावजूद देश के कठिन व दुर्गम इलाकों तक अपनी सेवाएं पहुंचाता है। साथ ही कहा कि तकनीक का इस्तेमाल कर के इसे और सुदृढ़ बनाया जा रहा है। पारदर्शिता और जवाबदेही बढ़ाई जा रही है। इसके लिए डिजिटलाइजेशन और ऑटोमेशन का सहारा लिया जा रहा है।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

‘चैनल 7’ ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया पर लगाए गंभीर आरोप, पहुंचा अदालत

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीन वनडे मैचों की सीरीज का आखिरी मुकाबला बुधवार को मानुका ओवल, कैनबरा में खेला जाएगा

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 01 December, 2020
Last Modified:
Tuesday, 01 December, 2020
CA

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीन वनडे मैचों की सीरीज का आखिरी मुकाबला बुधवार को मानुका ओवल, कैनबरा में खेला जाएगा। लेकिन इससे पहले ही एक विवाद खड़ा हो गया है। हालांकि यह विवाद भारत-ऑस्ट्रेलिया टीमों के बीच नहीं बल्कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) और ‘चैनल 7’ के बीच है, जोकि नया नहीं है।

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच मैचों का प्रसारण करने वाले ‘चैनल 7’ ने विवादों के बढ़ने के बाद अब कई बड़े आरोप लगाए हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ‘चैनल 7’ क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अदालत चला गया है और उसने ऑस्ट्रेलियाई बोर्ड पर बीसीसीआई से डरने का आरोप लगा दिया है। ‘सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड’ के अनुसार, चैनल ने अदालत में हलफनामा दायर करने की पुष्टि की है। चैनल ने कहा है कि सीए ने बीसीसीआई के हितों के अनुसार सीरीज के कार्यक्रम में बदलाव करके प्रसारण अनुबंध का उल्लंघन किया है।

चैनल की तरफ से कहा गया है कि बोर्ड वही करता है जिससे भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड को खुशी मिलती है। वह भारतीय क्रिकेट बोर्ड से डरता है और उसको खुश करने के लिए ही उसके मुताबिक टूर्नामेंट के कार्यक्रम में बदलाव करता है।

सेवन वेस्ट मीडिया के मुख्य कार्यकारी जेम्स वारबर्टन ने कहा कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को भारत के खिलाफ वनडे और टी20 मैचों की बजाय दिन रात के टेस्ट के साथ श्रृंखला का आगाज करना था जो अब एडिलेड में 17 दिसंबर से खेला जाएगा। उन्होंने कहा, 'यह शर्मनाक है कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया बतौर प्रसारक हमारा सम्मान नहीं करता और बीसीसीआई के आगे भीगी बिल्ली बना हुआ है। वह बीसीसीआई से डरता है।'

चैनल का कहना है कि सीए के आला अधिकारी बीसीसीआई और दूसरे घरेलू प्रसारण साझेदार फॉक्सटेल की मर्जी से चल रहे हैं। चैनल ने कहा कि वह दौरे के कार्यक्रम को अंतिम रूप देने के संदर्भ में सीए, बीसीसीआई, फॉक्स्टेल और प्रदेश सरकारों के अधिकारियों के बीच हुए ई-मेल देखना चाहता है।

बता दें विराट कोहली की पैटरनिटी लीव से भी ‘चैनल 7’  को बड़ा झटका लगा है और उसके प्रतिद्धंदी चैनल फॉक्स स्पोर्ट्स को इससे फायदा हुआ है। दरअसल ‘चैनल 7’ के पास चार टेस्ट मैचों की टेस्ट सीरीज के अधिकार हैं, जिसमें विराट कोहली सिर्फ एक टेस्ट मैच खेलेंगे। वहीं फॉक्स स्पोर्ट्स ने भारत-ऑस्ट्रेलिया की वनडे और टी20 सीरीज के अधिकार हासिल किये हैं और विराट कोहली पूरी सीरीज खेल रहे हैं. दोनों चैनलों ने विराट कोहली पर ही सीरीज का पूरा प्रोमो बनाया था लेकिन विराट कोहली की छुट्टियों से चैनल 7 को नुकसान होने की बात कही जा रही है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

अपनी जिंदगी से जुड़े तमाम पहलुओं से रूबिका लियाकत यूं कराएंगी रूबरू

‘एबीपी न्यूज’ की जानी-मानी सीनियर न्यूज एंकर रूबिका लियाकत ने पत्रकारिता की दुनिया में अपनी एक अलग पहचान बनाई है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 01 December, 2020
Last Modified:
Tuesday, 01 December, 2020
Rubika

‘एबीपी न्यूज’ (ABP News) की जानी-मानी सीनियर न्यूज एंकर रूबिका लियाकत ने पत्रकारिता की दुनिया में अपनी एक अलग पहचान बनाई है। अपने बेबाक शैली से रूबिका ने दर्शकों के दिलों पर अपनी खास छाप छोड़ी है। उनके सवालों की बौछार के आगे अच्छे-अच्छे बगलें झांकने लगते हैं, लेकिन अब रूबिका खुद कई सवालों के जवाब देंगी। 

दरअसल, L&T Mutual Fund के सीईओ कैलाश कुलकर्णी के साथ एक बातचीत में रूबिका बताएंगी कि मीडिया इंडस्ट्री में अब तक का उनका सफर कैसा रहा है और इस मुकाम तक पहुंचने में उन्हें किस प्रकार की चुनौतियों का सामना करना पड़ा।

वर्चुअल रूप से एक दिसंबर की शाम चार बजे से आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम में वह अपने अनुभव भी शेयर करेंगी। कार्यक्रम में रजिस्टर करने के लिए http://lntwinnerscircle.com पर क्लिक कर सकते हैं।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

IPL को लेकर ‘स्टार’ और ‘डिज्नी इंडिया’ के चेयरमैन उदय शंकर ने कही ये बात

18वीं हिन्दुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट में अपने विचार रख रहे थे ‘स्टार’ (Star) और ‘डिज्नी इंडिया’ (Disney India) के चेयरमैन उदय शंकर

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 30 November, 2020
Last Modified:
Monday, 30 November, 2020
IPL

‘स्टार’ (Star) और ‘डिज्नी इंडिया’ (Disney India) के चेयरमैन उदय शंकर का कहना है कि महामारी के बाद सिनेमा हॉल्स में लोग आना शुरू होंगे और थियेटर का कारोबार बढ़ेगा। 18वीं हिन्दुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट में उदय शंकर का कहना था कि स्ट्रीमिंग थिएटर अनुभव से मुकाबला नहीं कर सकता है।  

वर्चुअल रूप से आयोजित इस कार्यक्रम में उदय शंकर का यह भी कहना था, ‘हमने महसूस किया कि जब भी आईपीएल हुआ तो यह काफी बड़ा होगा। हालांकि हम ये भी जानते थे कि तमाम चुनौतियां भी सामने आएंगी। यह पहली बार होगा, जब आईपीएल के दौरान स्टेडियम में दर्शक नहीं होंगे। इसलिए हमें पता था कि यह या तो सबसे बड़ा आयोजन हो सकता है अथवा सबसे बेकार। पूर्व के मुकाबले इस बार आईपीएल की व्युअरशिप 25-30 प्रतिशत ज्यादा रही है।’

इस दौरान उदय शंकर ने कहा, ‘बड़े चैनल्स के सामने तमाम तरह की चुनौतियां आई हैं और इसके लिए सिर्फ कोविड-19 को दोषी नहीं दिया जा सकता है। ऐसा देश में विनियामक वितरण (regulatory dispensation) के कारण हुआ है। टेलिविजन विनियामक विचारहीनता (regulatory thoughtlessness) का सबसे ज्यादा शिकार रहा है।’  

ओटीटी रेगुलेशंस के बारे में उदय शंकर का कहना था कि वैश्विक स्ट्रीमिंग सेवाओं को भारत की विविधता और संस्कृति के प्रति असंवेदनशील नहीं होना चाहिए। भारतीय कंज्यूमर्स ज्यादातर नियामकों की तुलना में अधिक विचारशील और परिपक्व हैं और उन्हें हर उस चीज पर फिल्टर की जरूरत नहीं है, जिसे वे देखते हैं।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

Securities Market में कारोबार करने पर NDTV के प्रमोटर्स पर लगी रोक, कंपनी करेगी अपील

भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (SEBI) ने एनडीटीवी के प्रमोटर्स प्रणय रॉय और राधिका रॉय पर दो साल के लिए प्रतिभूति बाजार (Securities Market) में कारोबार की रोक लगा दी है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 30 November, 2020
Last Modified:
Monday, 30 November, 2020
ndtv

भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (SEBI) ने एनडीटीवी के प्रमोटर्स प्रणय रॉय और राधिका रॉय पर दो साल के लिए प्रतिभूति बाजार (Securities Market) में कारोबार की रोक लगा दी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह कार्रवाई भेदिया कारोबार (Insider Trading) में संलिप्तता के चलते की गई है। सेबी ने दोनों को 12 साल पहले की भेदिया कारोबार गतिविधियों से अवैध तरीके से कमाए गए 16.97 करोड़ रुपए लौटाने को भी कहा है।

सेबी ने इनके अलावा एक से दो साल के लिए सात अन्य व्यक्तियों एवं निकायों पर भी पाबंदी लगा दी है। इनमें से कुछ को अप्रकाशित मूल्य संवेदनशील सूचनाओं के जरिये शेयरों में कारोबार के जरिए की गई अवैध कमाई को लौटाने को कहा गया है। सेबी ने सितंबर, 2006 से जून, 2008 के दौरान कंपनी के शेयरों में कारोबार की जांच करने के बाद यह कदम उठाया है। सेबी ने पाया कि उक्त अवधि के दौरान भेदिया कारोबार से संबंधित कई प्रावधानों का उल्लंघन किया गया है।

वहीं एनडीटीवी ने इन आरोपों से इनकार किया है। एनडीटीवी ने शनिवार को एक बयान में कहा कि उसके फाउंडर प्रणय रॉय और राधिका रॉय के खिलाफ सेबी का आदेश गलत तथ्यों के आंकलन पर आधारित है और कंपनी तुरंत ही इसके खिलाफ अपील करेगी।

आइए जानते हैं क्या है भेदिया कारोबार (Insider Trading)-

भेदिया कारोबार वैसे मामले को कहा जाता हैं जहां कीमत से जुड़ी अप्रत्याशित संवेदनशील जानकारी अपने पास रखते हुए शेयरों में कारोबार किया जाता है। या यूं कहें कि जब किसी कंपनी के मैनेजमेंट से जुड़ा हुआ कोई व्यक्ति कंपनी की अंदरूनी जानकारी के आधार पर शेयर खरीद या बेचकर गैरकानूनी तरीके से लाभ कमाता है तो वह इनसाइडर ट्रेडिंग की श्रेणी में आता है। सेबी नियमन निवेशकों के हितों की रक्षा के लिए भेदिया कारोबार पर रोक लगाता है।  

लिहाजा, एनडीटीवी के प्रमोटर्स से सेबी ने भेदिया कारोबार गतिविधियों से अवैध तरीके से कमाए गए पैसे लौटाने को कहा है। सेबी ने 17 अप्रैल, 2008 से भुगतान की तिथि तक 6 प्रतिशत ब्याज के साथ यह राशि अदा करने को कहा है। साथ ही सेबी ने यह भी कहा कि संबंधित व्यक्ति व निकाय अकेले या आपस में मिलकर राशि का भुगतान कर सकते हैं।

सेबी ने तीन अलग आदेशों में कहा कि इन सभी निकायों ने भेदिया कारोबार रोक नियमनों का उल्लंघन किया है।

सेबी ने पाया कि नई दिल्ली टेलीविजन लिमिटेड (एनडीटीवी) में मूल्य को लेकर संवेदनशील जानकारियां रखने योग्य पदों पर रहते हुए प्रणय रॉय और राधिका रॉय ने भेदिया कारोबार में संलिप्त होकर अवैध तरीके से 16.97 करोड़ रुपए से अधिक की कमाई की। प्रणय रॉय तब कंपनी के चेयरमैन एवं पूर्णकालिक निदेशक थे। राधिका रॉय उक्त अवधि के दौरान कंपनी की प्रबंध निदेशक थीं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

प्रेस परिषद की इस एडवाइजरी से हैरान एडिटर्स गिल्ड, वापस लेने का किया अनुरोध

एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने एक बयान में कहा कि वह भारतीय प्रेस परिषद (पीसीआई) द्वारा 25 नवंबर को मीडिया को बेवजह जारी की गई एडवाइजरी से हैरान है

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Monday, 30 November, 2020
Last Modified:
Monday, 30 November, 2020
EGI4

एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने एक बयान में कहा कि वह भारतीय प्रेस परिषद (पीसीआई) द्वारा 25 नवंबर को मीडिया को बेवजह जारी की गई एडवाइजरी से हैरान है।

एडिटर्स गिल्ड ने पीसीआई से ये अपील की है कि वह विदेशी कंटेट के अनियमित प्रसारण को लेकर आगाह करने वाले अनिष्टसूचक लग रही एडवाइजरी (ominous-sounding advisory) को वापस ले ले। ऐसा इसलिए क्योंकि इसके प्रभाव परेशान करने वाले हैं।   

गिल्ड ने कहा, ‘पीसीआई की इस एडवाइजरी के जरिये ऐसा लगता है कि पीसीआई जो मीडिया के स्वनियमन की वकालत करता है और जिसका विश्वास है कि सरकारी दखल प्रेस की स्वतंत्रता के लिए विनाशकारी होगा, वह खुद ऐसे कदम को समर्थन दे रहा है, जिससे एक प्रकार की सेंसरशिप लागू होगी और अवांछनीय समझी जाने वाली कंटेंट प्रकाशित करने वाले संगठनों के खिलाफ दंडात्मक कदम उठाए जा सकेंगे।’

एडिटर्स गिल्ड ने शनिवार को अपना बयान जारी कर कहा कि पीसीआई की एडवाइजरी में यह स्पष्ट नहीं है कि कौन इन कंटेट की पुष्टि करेगा और किन आधारों पर इसे सत्यापित किया जाएगा और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि अनियमित प्रसार का मतलब क्या है।

गिल्ड ने कहा कि देश में कई प्रकाशन विदेशी एजेंसियों, समाचार पत्रों एवं पत्रिकाओं को लाइसेंस देते हैं और उनके कंटेंट को नए स्वरूप में पेश करते हैं, जो कि संपादक का विशेषाधिकार होता है और जो अपने प्रकाशन में प्रकाशित हर प्रकार के कंटेंट के लिए जिम्मेदार होता है। 

गिल्ड ने कहा कि पीसीआई की इस एडवाइजरी के प्रतिकूल प्रभाव होंगे और पीसीआई को तुरंत प्रभाव से इस एडवाइजरी को वापस लेना चाहिए।

बता दें कि पीसीआई ने अपनी एडवाइजरी में कहा था कि यह फैसला विदेशी कंटेंट प्रकाशित करने में भारतीय समाचार पत्रों की जिम्मेदारी के बारे में सरकार के विभिन्न विभागों से प्राप्त अनुरोधों पर आधारित है।

परिषद ने कहा कि उसका मानना है कि विदेशी कंटेंट का अनियमित सर्कुलेशन वांछनीय नहीं है।

इस मीडिया एडवाइजरी में भारतीय प्रेस परिषद ने कहा कि स्रोत दिए जाने के बावजूद भारतीय अखबारों में प्रकाशित विदेशी अख़बारों के कंटेंट के लिए रिपोर्टर, संपादक और प्रकाशक को जिम्मेदार ठहराया जाएगा। 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

e4m PR & Corp Comm 40 under 40 लिस्ट से उठा पर्दा, इन युवाओं का रहा जलवा

इस लिस्ट को तैयार करने का उद्देश्य ऐसे युवाओं को सम्मानित करना है, जिन्होंने पब्लिक रिलेशंस और कॉरपोरेट कम्युनिकेशंस इंडस्ट्री की ग्रोथ में काफी योगदान दिया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 28 November, 2020
Last Modified:
Saturday, 28 November, 2020
PRCC

‘एक्सचेंज4मीडिया’ (exchange4media) समूह की ‘पब्लिक रिलेशंस और कॉरपोरेट कम्युनिकेशंस’ (PR & Corporate Communications)  के दूसरे एडिशन के तहत 40 साल से कम उम्र वाले प्रतिभाशाली 40 युवाओं (40 Under 40)  की लिस्ट जारी हो गई है। 27 नवंबर को एक वर्चुअल कार्यक्रम में इस लिस्ट से पर्दा उठाया गया। इस लिस्ट में 40 विजेताओं के साथ छह जूरी मेंशंस को भी शामिल किया गया है। बता दें कि इस लिस्ट को तैयार करने का उद्देश्य ऐसे युवाओं की पहचान कर उन्हें सम्मानित करना है, जिन्होंने न सिर्फ खुद को साबित किया है, बल्कि अपने संस्थान के साथ ही पब्लिक रिलेशंस और कॉरपोरेट कम्युनिकेशंस इंडस्ट्री की ग्रोथ में काफी योगदान दिया है।  

'बिजनेस वर्ल्ड' और 'एक्सचेंज4मीडिया' ग्रुप के चेयरमैन व एडिटर-इन-चीफ डॉ.अनुराग बत्रा और रिलायंस इंडस्ट्री लिमिटेड के ग्रुप हेड ऑफ कम्युनिकेशंस रोहित बंसल की अध्यक्षता में जूरी ने विभिन्न मापदंडों (उपलब्धियों, भविष्य की संभावनाओं, उद्योग में योगदान आदि) के तहत 100 से ज्यादा चुने गए नामों में से विजेताओं को शॉर्टलिस्ट किया।

जूरी के सम्मानित सदस्यों में Arwa Hussain- Director, Adfactors PR ; Gaurav Bhaskar- Director, Corporate Communications & Public Affairs, Google India ; Deepali Naair- Director, Marketing (CMO), IBM; Gauri Kohli- Partner & Luxury Director, PR Pundit; Minari Shah- Director, Public Relations, Amazon India; Nitin Thakur- Director - Brand & Communications, The Max Group ; Sameer Bajaj- Global Head - Communications and External Affairs at WhiteHat Jr; Sarah Gideon- Senior Director and Head Corporate Communication, Flipkart; Pooja Pathak- Co - Founder and Director, Media Mantra; Rishi Seth, Group CEO, 6 degrees BCW; Sonia Huria, Head Communications, Amazon Prime Video India; Sujit Patil, Vice President & Head of Corporate Brand & Communications, Godrej; Shivani Gupta, Managing Director, SPAG ; Varghese M Thomas, Vice President – Corporate Communication, TVS and Valerie Pinto, CEO, Weber Shandwick; Bharatendu Kabi- Head - Corporate Communication, Hero; Janet Arole- AVP & Head – Corporate Communications, Aditya Birla Fashion and Retail Ltd.; Gaurav Patra- Founder Director, Value 360 Communications and Rachana Chowdhary- Founder & Director, Media Value Works शामिल रहे।

गौरतलब है कि एक्सचेंज4मीडिया की ओर से सितंबर में इसके लिए नॉमिनेशंस मांगे गए थे। इसके तहत 200 से ज्यादा नॉमिनेशंस मिले थे। एक्सचेंज4मीडिया की एडिटोरियल टीम ने इनमें से 100 से ज्यादा नॉमिनेशंस को शॉर्टलिस्ट कर जूरी के सामने पेश किया था। जूरी ने विभिन्न मापदंडों पर मूल्यांकन कर इन विजेताओं का चयन किया।

विजेताओं की लिस्ट को वर्णामाला के क्रम (alphabetical order) में आप यहां देख सकते हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

पिछले तीन दशकों में मैंने पत्रकारों से बहुत कुछ सीखा है: डॉ. हर्षवर्धन

कोरोना महामारी की रोकथाम में पत्रकारों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। कोरोना वारियर्स की मेरी लिस्ट में पत्रकारों का स्थान बेहद खास है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 27 November, 2020
Last Modified:
Friday, 27 November, 2020
drharshvardhan54

'कोरोना महामारी की रोकथाम में पत्रकारों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। कोरोना वारियर्स की मेरी लिस्ट में पत्रकारों का स्थान बेहद खास है। मैं उनके जज्बे, जुनून और साहस को सलाम करता हूं।' यह विचार केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने शुक्रवार को भारतीय जन संचार संस्थान (आईआईएमसी) के सत्रारंभ समारोह-2020 के अंतिम दिन व्यक्त किए।

इस अवसर पर आईआईएमसी के महानिदेशक प्रो. संजय द्विवेदी, अपर महानिदेशक के. सतीश नम्बूदिरिपाड सहित आईआईएमसी के सभी केंद्रों के संकाय सदस्य एवं विद्यार्थी उपस्थित थे।

'कोरोना महामारी में स्वास्थ्य पत्रकारिता' विषय पर बोलते हुए डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि कोरोना के दौर में भी पत्रकारों ने लोगों के लिए ‘ग्राउंड जीरो’ से लगातार रिपोर्टिंग की है। इस दौरान हमने अपने कई पत्रकारों को भी खोया है। उन्होंने कहा कि पिछले तीन दशकों में मैंने पत्रकारों से बहुत कुछ सीखा है। पत्रकारिता लोकतंत्र का चौथा और सबसे महत्वपूर्ण स्तंभ है। इसलिए संकट के समय पत्रकार की भूमिका बेहद महत्वपूर्ण हो जाती है।

डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि मैं भारतीय जन संचार संस्थान के महानिदेशक से आग्रह करता हूं कि वे स्वास्थ्य पत्रकारिता पर एक कोर्स शुरू करें, जिससे स्वास्थ्य के क्षेत्र में बेहतर कम्युनिकेटर तैयार किए जा सकें। इसके अलावा मैं चाहता हूं कि आईआईएमसी विज्ञान के क्षेत्र में भी अच्छे पत्रकार एवं कम्युनिकेटर तैयार करने पर ध्यान दें। 

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि भारत सरकार चाहती है कि वर्ष 2022 तक सभी बच्चों को अच्छी सेहत और अच्छा खानपान मिले। और इस अभियान में पत्रकारों का महत्वपूर्ण योगदान है। उन्होंने कहा कि एक वक्त में हमने भारत को पोलियो मुक्त बनाने का सपना देखा था और इस सपने को साकार करने में मीडिया ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। मैं चाहता हूं कि इस महामारी के समय में भी पत्रकार नकारात्मक माहौल को सकारात्मक माहौल में बदलने में मदद करें।

डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि अगर आपने लॉकडाउन में अपने घरों में रहकर समय बिताया है, कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने और फैलने के लिए शारीरिक दूरी का पालन किया है, साफ-सफाई पर ध्यान दिया है और हमेशा अपने चेहरे को ढककर रखा है या मास्क पहना है, तो आपने भी कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने में अहम भूमिका निभाई है।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

हाई कोर्ट ने कहा, इस तरह का कंटेंट प्रसारित न करें टीवी चैनल्स

अदालत का कहना है कि इस तरह के कंटेंट से युवाओं व बच्चों के दिमाग पर बुरा असर पड़ सकता है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 27 November, 2020
Last Modified:
Friday, 27 November, 2020
Madras HC

मद्रास हाई कोर्ट ने टीवी चैनल्स से कहा है कि वह इस तरह के विज्ञापन अथवा कार्यक्रम प्रसारित न करें, जो अश्लीलता को बढ़ावा देने वाले हों। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, हाई कोर्ट का कहना है कि रात में 10 बजे के बाद तमाम टीवी चैनल्स पर एक ही तरह के विज्ञापन आ रहे होते हैं, ये कॉन्डम और कामोत्तेजन वस्तुओं आदि के विज्ञापन होते हैं, जिनके जरिये अश्लीलता को बढ़ावा दिया जा रहा होता है।

अदालत का कहना है कि इस तरह के विज्ञापन केबल टेलीविजन नेटवर्क (विनियमन) अधिनियम, 1995 की धारा 16 के तहत दंडनीय है और इस तरह के कंटेंट से युवाओं व बच्चों के दिमाग पर बुरा असर पड़ सकता है।

इसके साथ ही टीवी चैनल्स पर प्रसारित किए जाने वाले कंटेंट की सेंशरशिप को लेकर अदालत ने प्रतिक्रिया भी मांगी है। इस मामले में अगली सुनवाई अब एक दिसंबर को होगी।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

इन दिग्गजों की जूरी करेगी enba 2020 के विजेताओं का चुनाव, देखें लिस्ट

यह अवॉर्ड मीडिया में कार्यरत उन शख्सियतों को दिया जाता है, जिन्होंने देश में टेलिविजन न्यूज इंडस्ट्री को एक नई दिशा दी है और इस इंडस्ट्री को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Friday, 27 November, 2020
Last Modified:
Friday, 27 November, 2020
enba

कोरोनावायरस (कोविड-19) महामारी जैसी चुनौतियों के बावजूद देश में न्यूज की व्युअरशिप ने रिकॉर्ड ऊंचाइयों को छुआ है। इस सबके पीछे तमाम लोगों की लगन व मेहनत है, जिन्होंने महामारी के बीच अपने कर्तव्य के निर्वहन में किसी तरह की कोई कसर नहीं छोड़ी।

ऐसे में देश में टेलिविजन न्‍यूज इंडस्‍ट्री को नई दिशा देने और इंडस्‍ट्री को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाने में अहम योगदान देने वालों को सम्मानित करने के लिए ‘एक्सचेंज4मीडिया’ बहुप्रतिष्ठित ‘एक्‍सचेंज4मीडिया न्‍यूज ब्रॉडकास्टिंग अवॉर्ड्स’ (enba) 2020  का आयोजन करने जा रहा है। इनबा का यह 13वां एडिशन है।

बता दें कि वर्ष 2008 में अपनी शुरुआत के बाद से ही यह अवॉर्ड मीडिया में कार्यरत उन शख्सियतों को दिया जाता है, जिन्‍होंने देश में टेलिविजन न्‍यूज इंडस्‍ट्री को एक नई दिशा दी है और इस इंडस्‍ट्री को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाया है।

तमाम एंट्रीज में से विजेताओं का चुनाव एक जूरी के द्वारा किया जाएगा। जूरी में विभिन्न कंपनियों के सीईओ से लेकर संसद सदस्य शामिल हैं। जूरी चेयर की घोषणा अगले कुछ हफ्तों में की जाएगी। जूरी में शामिल सदस्यों की लिस्ट आप यहां देख सकते हैं। 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए