enba 2018: इसलिए भी बड़ी है हमारी ये जीत, बोले राहुल कंवल

'इंडिया टुडे' समूह को 19 एक्सचेंज4मीडिया न्यूज ब्रॉडकास्टिंग अवॉर्ड्स’ मिलने पर...

Last Modified:
Friday, 22 February, 2019
Rahul Kanwal

समाचार4मीडिया ब्यूरो।।

देश में टेलिविजन न्‍यूज इंडस्‍ट्री को नई दिशा देने और इसे नई ऊंचाइयों पर पहुंचाने में अहम योगदान देने वालों को सम्मानित करने के लिए ‘एक्‍सचेंज4मीडिया न्‍यूज ब्रॉडकास्टिंग अवॉर्ड्स’ (enba) दिए गए। इनबा के 11वें एडिशन के तहत नोएडा के होटल रेडिसन ब्लू में 16 फरवरी को आयोजित एक समारोह में ये अवॉर्ड्स दिए गए। इसमें ‘इंडिया टुडे’ (India Today) समूह को विभिन्न कैटेगरी में 19 अवॉर्ड्स मिले।

टाइटल कैटेगरी में दोनों अवॉर्ड्स इस मीडिया हाउस की झोली में गए। एक तरफ जहां हिंदी में ‘आजतक’ (AajTak) ने ‘बेस्ट न्यूज चैनल ऑफ द ईयर’ का अवॉर्ड अपने नाम किया, वहीं इंग्लिश कैटेगरी में ‘इंडिया टुडे टीवी’ (India Today TV) को ‘न्यूज चैनल ऑफ द ईयर’ अवॉर्ड दिया गया। समारोह में अंजना ओम कश्यप को बेस्ट एंकर-हिंदी और राहुल कंवल को बेस्ट एंकर-अंग्रेजी का अवॉर्ड मिला। इसके अलावा ‘इंडिया टुडे टीवी’ के शिव अरूर को कर्नाटक में कावेर और कोलार विवाद पर कवरेज के लिए बेस्ट रिपोर्टर (अंग्रेजी) का अवॉर्ड दिया गया। वहीं, हिंदी में ‘आजतक’ (Aaj Tak) के एडिटर-इन-चीफ सुप्रिय प्रसाद को ‘न्यूज टेलिविजन एडिटर-इन-चीफ ऑफ द ईयर’ के अवॉर्ड से सम्मानित किया गया।

इतने अवॉर्ड्स मिलने पर ‘इंडिया टुडे’ समूह के न्यूज डायरेक्टर राहुल कंवल का कहना था, ‘यह पहला मौका था, जब मैंने इनबा की जूरी के सामने आकर प्रजेंटेशन दिया। जूरी में विभिन्न क्षेत्रों से जुड़े दिग्गज शामिल थे और ये ऐसे न्यूज कंज्यूमर्स थे, जो पूरी न्यूज मार्केट को बहुत अच्छे से समझते हैं। यही कारण है कि न सिर्फ मैंने खुद अवॉर्ड जीता बल्कि पूरे ग्रुप को 19 अवॉर्ड्स मिले हैं। हालांकि, विजेताओं को चुनने का काम काफी कठिन था, लेकिन जूरी ने अपने कठिन परिश्रम से आखिरकार विजेताओं को चुन लिया। मैं इसके लिए जूरी को धन्यवाद देता हूं।’

इसके अलावा राहुल कंवल ने ‘इंडिया टुडे’ समूह की पूरी टीम को इस सफलता का श्रेय दिया। उन्होंने कहा, ‘इंडस्ट्री में ग्रुप को नई ऊंचाई पर पहुंचाने और बड़ी पहचान दिलाने के लिए टीम की काफी मेहनत है, इसके लिए मैं टीम में शामिल सभी लोगों को धन्यवाद देता हूं। इस टीम की कड़ी मेहनत की बदौलत ही समूह ने 19 इनबा अवॉर्ड्स जीते हैं। मुझे लगता है कि इनबा के 11 साल में शायद ही किसी नेटवर्क ने इतने सारे अवॉर्ड्स एक साथ जीते हैं।’

राहुल कंवल का यह भी कहना था, ‘हम आने वाले समय में और कड़ी मेहनत करेंगे और उम्मीद है कि अगले साल जब इनबा का 12वां एडिशन होगा, तब हम 19 से कम अवॉर्ड्स नहीं जीतेंगे, कम से कम 20 तो जीतेंगे।’

न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए