पत्रकार अमित कुमार बाजपेयी ने इस बड़े पद पर Koo के साथ शुरू किया नया सफर

पत्रकार अमित कुमार बाजपेयी ने इंडियन माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ‘कू’ (Koo) के साथ अपने नए सफर की शुरुआत की है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Thursday, 11 November, 2021
Last Modified:
Thursday, 11 November, 2021
Amit Kumar Bajpai

युवा पत्रकार अमित कुमार बाजपेयी ने इंडियन माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ‘कू’ (Koo App) के साथ अपने नए सफर की शुरुआत की है। यहां पर उन्होंने बतौर मैनेजर (कॉरपोरेट कम्युनिकेशंस) जॉइन किया है। ‘कू’ से पहले अमित बाजपेयी ‘पत्रिका’ (Patrika) समूह में अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे। करीब छह साल पहले उन्होंने नोएडा में पत्रिका ग्रुप के ऑनलाइन न्यूज वेंचर ‘कैच न्यूज’ (Catch news) को जॉइन किया और फिर वहां के संपादक बने थे। इसके बाद पिछले करीब साढ़े तीन साल से पत्रिका डॉट कॉम (www.patrika.com) में होम पेज मैनेजर और टीम लीड की भूमिका निभा रहे थे।

मूल रूप से कानपुर के रहने वाले अमित कुमार बाजपेयी को पत्रकारिता के क्षेत्र में काम करने का करीब 15 साल से ज्यादा का अनुभव है। उन्होंने ‘जागरण प्रकाशन लिमिटेड’ के नेतृत्व में प्रकाशित होने वाले पहले हिंग्लिश टैबलॉयड ‘आईनेक्स्ट’ (inext) की लॉन्चिंग टीम के जरिये कानपुर से मुख्यधारा की पत्रकारिता में अपने करियर की शुरुआत की थी। इसके बाद ‘अमर उजाला’ ग्रेटर नोएडा-नोएडा में रिपोर्टिंग-डेस्क समेत कई भूमिकाओं में काम किया और नौ वर्ष से ज्यादा वक्त तक यहां काम किया। 

ऑनलाइन और ऑफलाइन कारोबार, गैजेट वर्ल्ड, डिजिटल टेक्नोलॉजी, ऑटोमोबाइल, एजुकेशन सेक्टर पर पैनी नजर रखने वाले अमित ने ग्रेटर नोएडा में हुई फार्मूला वन रेसिंग को लगातार दो साल कवर किया और एक्सपो मार्ट की शुरुआत से लेकर वहां होने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनियों-संगोष्ठियों की रिपोर्टिंग की। 

फिर 2015 में कैच न्यूज की फाउंडिंग टीम में शामिल होकर यहां काम किया और ‘पत्रिका’ पहुंचे थे और अब यहां से बाय बोलकर ‘कू’ से नई पारी शुरू की है। डिजिटल मीडिया पर अच्छी पकड़ रखने वाले अमित टेक्नोलॉजी को काफी अच्छे ढंग से समझते हैं और Koo App में जाने के पीछे यह मुख्य वजह भी हो सकती है। 

पढ़ाई-लिखाई की बात करें तो अमित कुमार ने कानपुर स्थित छत्रपति शाहूजी महाराज विश्वविद्यालय से डबल पोस्ट ग्रेजुएशन किया है। उन्होंने पहले अंग्रेजी में मास्टर्स किया और फिर यूनिवर्सिटी के इंस्टीट्यूट ऑफ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन के पहले बैच में एमएजेएमसी की डिग्री हासिल की। समाचार4मीडिया की ओर से अमित कुमार बाजपेयी को उनके नए सफर के लिए ढेरों शुभकामनाएं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

पत्रकार के इस सवाल पर अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन को आया गुस्सा, ऑन कैमरा दी गाली!

बाइडेन की यह वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है और मीडिया के प्रति इस तरह के व्यवहार को लेकर उनकी आलोचना हो रही है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 25 January, 2022
Last Modified:
Tuesday, 25 January, 2022
Joe Biden

पत्रकारों के तीखे सवालों से नेताओं का असहज होना लाजमी है, लेकिन महंगाई के मुद्दे पर किए गए सवाल पर अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन (Joe Biden) इतना भड़क गए कि उन्होंने पत्रकार के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते हुए कथित रूप से गाली तक दे डाली।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, सोमवार को व्हाइट हाउस में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद सभी पत्रकार लौट रहे थे। इसी दौरान ‘फॉक्स न्यूज’ (Fox News) के संवाददाता पीटर डूसी (Peter Doocy) ने बाइडेन से महंगाई पर एक सवाल पूछ लिया। इसका जवाब राष्ट्रपति ने कटाक्ष में दिया और उसके बाद कथित रूप से दबी आवाज में ऑन कैमरा डूसी को ‘स्टुपिड सन ऑफ अ बिच’ कह दिया। बाइडेन की यह वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है और मीडिया के प्रति इस तरह के व्यवहार को लेकर उनकी आलोचना हो रही है।

दरअसल, डूसी ने बाइडेन से पूछ लिया था कि क्या आप महंगाई पर सवाल लेंगे? क्या आपको लगता है कि मध्यावधि चुनावों से पहले महंगाई आप के लिए राजनीतिक रूप से एक बोझ है? इस पर बाइडेन ने जवाब दिया, ’नहीं, ये एक फायदे की चीज है और ज्यादा महंगाई होनी चाहिए।’ इसके बाद दबी जुबान में उन्होंने डूसी को गाली दे डाली। हालांकि, बाद में पत्रकार ने बताया कि राष्‍ट्रपति को जब उनकी गलती का अहसास हुआ तो उन्‍होंने उससे माफी भी मांग ली।

न्यूज एजेंसी ‘एएनआई’ (ANI) ने सी-स्पान के सौजन्य से इसका वीडियो जारी किया है। इस वीडियो को आप यहां देख सकते हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

GroupM में अमीन लखानी का कद बढ़ा, अब मिली ये जिम्मेदारी

जानी-मानी मीडिया एडवर्टाइजिंग कंपनी ‘ग्रुपएम’ ने पार्थसारथी मंडायम को अपने साउथ एशिया ऑपरेशंस ‘ग्रुपएम साउथ एशिया’ का चीफ स्ट्रैटेजी ऑफिसर नियुक्त किया है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 25 January, 2022
Last Modified:
Tuesday, 25 January, 2022
Amin Lakhani

जानी-मानी मीडिया एडवर्टाइजिंग कंपनी ‘ग्रुपएम’ (GroupM) ने पार्थसारथी मंडायम (Parthasarathy Mandayam) को अपने साउथ एशिया ऑपरेशंस ‘ग्रुपएम साउथ एशिया’ (GroupM, South Asia) का चीफ स्ट्रैटेजी ऑफिसर नियुक्त किया है। वह ग्रुपएम साउथ एशिया के सीईओ प्रशांत कुमार को रिपोर्ट करेंगे। इसके साथ ही अमीन लखानी (Amin Lakhani) को ‘माइंडशेयर’ (Mindshare) साउथ एशिया के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर के पद पर प्रमोट किया है। पहले इसका नेतृत्व पार्थसारथी मंडायम कर रहे थे।

एडवर्टाइजिंग और कम्युनिकेशन इंडस्ट्री में 25 साल से ज्यादा के अनुभव के साथ पार्थसारथी ने माइंडशेयर में डाटा, एनालिटिक्स, स्ट्र्रैटेजी, क्लाइंट लीडरशिप और बिजनेस यूनिट लीडरशिप में तमाम अहम भूमिकाओं को निभाया है। उन्होंने माइंडशेयर में वर्ष 2009 में अपने करियर की शुरुआत बतौर हेड (बिजनेस प्लानिंग) के साथ की थी। इसके बाद उन्हें नॉर्थ, ईस्ट और साउथ के ऑफिसों का नेतृत्व करने की जिम्मेदारी दी गई। इसके बाद उन्हें चीफ प्रॉडक्ट ऑफिसर पद पर नियुक्त किया गया।

ग्रुपएम साउथ एशिया में चीफ स्ट्रैटेजी ऑफिसर नियुक्त किए जाने पर पार्थसारथी का कहना है, ‘मैं ग्रुपएम में इस तरह के अद्भुत सफर के लिए बेहद आभारी हूं। मुझे लगता है कि यहां सीखना और बदलाव हमेशा से मेरे करियर का हिस्सा रहा है। जैसे-जैसे हमारी पेशकश अधिक विशिष्ट होती जाती हैं, हमें विकास और विशेषज्ञता दोनों का पूरा लाभ प्राप्त करने के लिए आंतरिक, डब्ल्यूपीपी और बाहरी दोनों के विभिन्न प्लेयर्स यों के बीच तालमेल और विशेषज्ञता का निर्बाध प्रवाह सुनिश्चित करने की आवश्यकता होती है। मैं अपने क्लाइंट्स और आंतरिक हितधारकों (internal stakeholders) के लिए नए जमाने के डाटा, टेक्नोलॉजी, कंसल्टिंग, प्रॉडक्ट्स और पेशकशों के बीच महत्वपूर्ण तालमेल लाने के लिए विकास और परिवर्तन एजेंडे के साथ आगे बढ़ना जारी रखूंगा।’

वहीं, माइंडशेयर, साउथ एशिया के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर अमीन लखानी का कहना है, ‘हम इस मौजूदा गति का निर्माण करना चाहते हैं और अपने क्लाइंट्स के लिए माइंडशेयर की 'गुड ग्रोथ' को बढ़ावा देना चाहते हैं। नए जमाने के डाटा, टेक्नोलॉजी, क्रिएटिविटी, रिसर्च, कंसल्टिंग और प्रॉडक्ट्स इस सफर में प्रमुख भूमिका निभाएंगे। हमारी इंडस्ट्री ने हमेशा बदलाव देखा है। हम इसके केंद्र में रहे हैं और वर्तमान में दुनिया भी इसे देख रही है। इसलिए मार्केटर्स के रूप में हमें अपने क्लाइंट्स और ब्रैंड्स के लिए कार्यभार संभालने और इस यात्रा का नेतृत्व करने की आवश्यकता है। मैं अपनी यात्रा के इस अगले चरण के लिए उत्साहित हूं और मुझ पर विश्वास जताने के लिए मैं टीम को धन्यवाद देना चाहता हूं।’

लखानी को माइंडशेयर और ग्रुपएम में विभिन्न भूमिकाओं समेत 20 से अधिक वर्षों का अनुभव है। माइंडशेयर साउथ एशिया में चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर के रूप में अपनी पिछली भूमिका में उन्होंने प्रमुख ग्राहक संबंधों को मजबूत करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इससे पहले माइंडशेयर फुलक्रम साउथ एशिया के लीडर के रूप में अपने करियर में, उन्होंने भारत में यूनिलीवर के डिजिटल व्यवसाय के एकीकरण का सफलतापूर्वक नेतृत्व किया है। उनके पास मीडिया, मार्केटिंग-प्रॉडक्ट मैनेजमेंट का काफी अनुभव है। वह BARC और AAAI जैसे इंडस्ट्री निकायों में सक्रिय भूमिका निभाते हैं। लखानी अब ग्रुपएम साउथ एशिया के सीईओ प्रशांत कुमार और माइंडशेयर एशिया पैसिफिक की सीईओ हेलेन मैक्रे (Helen McRae) को रिपोर्ट करेंगे।

माइंडशेयर एशिया पैसिफिक की सीईओ हेलेन मैक्रे का कहना है, ‘पार्थसारथी और अमीन दोनों प्रतिष्ठित लीडर्स हैं, जो पिछले कुछ वर्षों में माइंडशेयर ग्रुप में ऊर्जा, कौशल और नेतृत्व लाए हैं। इन दोनों ने अपनी अमूल्य विशेषज्ञता के साथ हमारे क्लाइंट्स और आंतरिक टीमों के लिए अत्यधिक मूल्य लाने वाली एजेंसी का नेतृत्व किया है। पिछले कुछ वर्षों में माइंडशेयर की उपलब्धियां और क्लाइंट की सफलता की यात्रा इन दोनों के व्यावसायिक कौशल को बताती है। मैं उन दोनों को बधाई देता हूं और उन्हें उनकी नई भूमिकाओं के लिए शुभकामनाएं देती हूं।’

वहीं, ग्रुपएम साउथ एशिया के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर प्रशांत कुमार का कहना है, ‘एजेंसी को मजबूत करने में दोनों का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। मुझे उनकी विशेषज्ञता पर पूरा भरोसा है और मैं जानता हूं कि पार्थसारथी और अमीन दोनों अपनी भविष्य की भूमिकाओं में इनोवेशन के साथ ही आगे बदलाव करना जारी रखेंगे। मैं उन्हें शुभकामनाएं देता हूं।’

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

प्रेस क्लब के बाहर दिनदहाड़े गोली मारकर पत्रकार की हत्या

लाहौर प्रेस क्लब के बाहर अपनी कार पार्क कर रहे थे पत्रकार हसनैन शाह, बाइक सवार दो बदमाशों ने दिया वारदात को अंजाम

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 25 January, 2022
Last Modified:
Tuesday, 25 January, 2022
Murder

पाकिस्तान के लाहौर में प्रेस क्लब के बाहर गोली मारकर वरिष्ठ पत्रकार की हत्या का मामला सामने आया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, यह वारदात सोमवार को उस समय हुई जब ‘कैपिटल टीवी’ (Capital TV) के पत्रकार हसनैन शाह प्रेस क्लब के बाहर अपनी कार पार्क कर रहे थे। उसी दौरान बाइक पर आए दो अज्ञात बंदूकधारियों ने उन्हें गोली मार दी। हसनैन शाह की मौके पर ही मौत हो गई। वारदात को अंजाम देने के बाद हमलावर मौके से फरार हो गए।

बताया जाता है कि करीब 40 वर्षीय हसनैन शाह ‘कैपिटल टीवी’ में क्राइम रिपोर्टर थे और इसके साथ ही वह लाहौर प्रेस क्लब के सदस्य भी थे। हसनैन शाह के परिवार में पत्नी और दो बच्चे हैं।

पाकिस्तान के विभिन्न पत्रकार संगठनों ने शाह की हत्या की निंदा की है और उनके हत्यारों को गिरफ्तार करने की मांग की है। ‘काउंसिल ऑफ पाकिस्तान न्यूजपेपर्स एडिटर्स’ (CPNE) ने दिनदहाड़े पत्रकार की हत्या की निंदा की है। ‘CPNE’ का कहना है कि इस दुखद घटना ने देश में पत्रकारों की सुरक्षा पर सवाल खड़े कर दिए हैं।

‘पाकिस्तान फेडरल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट’ (PFJU) ने भी घटना की निंदा करते हुए कहा है कि प्रांतीय सरकार शहर में कानून व्यवस्था बनाए रखने में विफल रही है। ‘PFJU’ ने अधिकारियों से संदिग्धों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने की भी मांग की है। ‘लाहौर इकनॉमिक जर्नलिस्ट एसोसिएशन‘ और ‘लाहौर प्रेस क्लब’ ने भी घटना की कड़ी निंदा की है। वहीं, पुलिस अधिकारियों का कहना है कि मामले की जांच शुरू कर हत्यारोपितों की तलाश शुरू कर दी गई है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

गणतंत्र दिवस समारोह के प्रसारण के लिए दूरदर्शन ने इस साल किए ये खास इंतजाम

देश की आजादी के 75वें वर्ष के उपलक्ष्य में इस वर्ष दूरदर्शन द्वारा गणतंत्र दिवस समारोह का प्रसारण अनूठी विशेषताओं से लैस होने जा रहा है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Tuesday, 25 January, 2022
Last Modified:
Tuesday, 25 January, 2022
Doordarshan

देश की आजादी के 75वें वर्ष के उपलक्ष्य में इस वर्ष दूरदर्शन द्वारा गणतंत्र दिवस समारोह का प्रसारण अनूठी विशेषताओं से लैस होने जा रहा है। बताया जा रहा है कि इस साल गणतंत्र दिवस समारोह पर दूरदर्शन की कवरेज न केवल बड़े पैमाने पर होगी, बल्कि विशेषताओं में भी अद्वितीय होगी।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, दूरदर्शन ने इस संबंध में भारतीय वायुसेना के साथ करार किया है। इसके तहत 75 विमानों के विशाल बेड़े के विभिन्न करतबों के सीधे प्रसारण के साथ-साथ फ्लाई पास्ट के नए पहलुओं को भी प्रदर्शित किया जाएगा। इसके लिए विशेष रूप से व्यवस्थाएं की गई हैं। इस साल गणतंत्र समारोह की कवरेज के लिए 59 कैमरे और 160 से अधिक कर्मी राष्ट्रपति भवन से लेकर राजपथ होते हुए इंडिया गेट पर राष्ट्रीय युद्ध स्मारक तक तैनात किए गए हैं।  

लोगों को पूरे समारोह का विहंगम दृश्य देने के लिए दो 360 डिग्री कैमरे लगाए गए हैं। इनमें एक राजपथ पर और दूसरा इंडिया गेट के शीर्ष पर लगाया गया है। इन दोनों कैमरों से डीडी नेशनल यूट्यूब चैनल पर दो अलग-अलग लाइव-स्ट्रीम किए जाएंगे। मार्चिंग टुकड़ियों और फ्लाई-पास्ट की हर मिनट की आवाजाही को दर्शकों तक पहुंचाने के लिए दूरदर्शन ने पांच जिमी जिब्स, 100X और 86XTally लेंस का कॉनम्बिनेशन, 15 से ज्यादा वाइड एंगल लेंस, एबैकस लेंस लगाए गए हैं। एक कैमरा 120 फीट हाइड्रोलिक क्रेन पर लगाया गया है।

पूरी कवरेज को इंटीग्रेटिड बनाने के लिए सभी प्रमुख स्थानों को डार्क फाइबर ऑप्टिकल कनेक्टिविटी, सैटेलाइट कनेक्टिविटी और बैकपैक कनेक्टिविटी के माध्यम से जोड़ा गया है। जमीन से प्रभावी कवरेज सुनिश्चित करने के लिए, डीडी ने राजपथ पर एक अस्थायी प्रोडक्शन कंट्रोल रूम बनाया है।

बता दें कि 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस समारोह का सीधा प्रसारण देश भर में दूरदर्शन के सभी चैनल्स पर सुबह सवा नौ बजे से शुरू होगा और यह राजपथ पर होने वाले कार्यक्रमों के अंत तक किया जाएगा। यह सीधा प्रसारण डीडी नेशनल, डीडी न्यूज, यूट्यूब चैनल्स और न्यूजऑनएयर ऐप व वेबसाइट पर भी उपलब्ध होगा।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

राष्ट्रीय सहारा में वरिष्ठ पत्रकार रमाकांत चंदन अब निभाएंगे ये बड़ी जिम्मेदारी

‘राष्ट्रीय सहारा’ के पटना संस्करण में बतौर स्थानीय संपादक अपनी जिम्मेदारी निभा रहे रमाकांत चंदन का यहां कार्यकाल पूरा हो गया है।

Last Modified:
Monday, 24 January, 2022
Ramakant Chandan

‘राष्ट्रीय सहारा’ के पटना संस्करण में बतौर स्थानीय संपादक अपनी जिम्मेदारी निभा रहे रमाकांत चंदन का यहां कार्यकाल पूरा हो गया है। संस्थान ने उनके बेहतर कार्य व सेवाओं को देखते हुए उन्हें अब सलाहकार संपादक के पद पर नई जिम्मेदारी दी है।

बिहार में लखीसराय जनपद के मूल निवासी रमाकांत चंदन ढाई दशक से अधिक समय से सक्रिय पत्रकारिता कर रहे हैं। रमाकांत ने अपने पत्रकारीय करियर की शुरुआत ‘सहारा मीडिया’ के साथ की थी। इसके पहले एमएससी करने के दौरान ही वे एनबीटी, दैनिक हिन्दुस्तान, सारिका और हंस पत्रिका समेत तमाम अखबारों के लिए लिखते थे। इसी दौरान 1986 में ‘सारिका’ में छपी कहानी ‘पापा गंदे हैं’ को लेकर तमाम सुर्खियां बटोरी थीं। इसके बाद स्वतंत्र पत्रकार के रूप में इनकी नियमित कविता, कहानी व रिपोतार्ज छपते थे।

वर्ष 1996 में ‘सहारा मीडिया’ के अखबार ‘हस्तक्षेप’ में बतौर रिपोर्टर नोएडा में जॉइन करने वाले रमाकांत करीब 25 वर्षों से ‘सहारा मीडिया’ का हिस्सा हैं। रमाकांत चंदन वर्ष 1998 में ‘राष्ट्रीय सहारा’ में प्रोविंशियल इंचार्ज बने। इसके बाद वर्ष 2005 में यूपी के गोरखपुर में ‘सहारा समय’ रीजनल चैनल में बतौर करेसपॉन्डेंट उन्होंने टीवी पत्रकारिता में पदार्पण किया। एक साल बाद यानी वर्ष 2006 में ‘राष्ट्रीय सहारा’ की पटना यूनिट में रिपोर्टिंग टीम का हिस्सा बने। 2012 में वह स्पेशल करेसपॉन्डेंट बने और फिर पटना में ब्यूरो इंचार्ज के रूप में कार्यभार संभाला। 

एक लेखक के रूप में रमांकांत चंदन की दो पुस्तकें हिंदी अकादमी दिल्ली से ‘नवान्न’ व राजभाषा बिहार से ‘दूसरा पक्ष’ प्रकाशित हो चुकी हैं। इसके लिए बिहार में इन्हें सम्मानित भी किया जा चुका है। नई जिम्मेदारी के लिए रमाकांत चंदन को समाचार4मीडिया.कॉम की ओर से बधाई और शुभकामनाएं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

सड़क दुर्घटना में वरिष्ठ पत्रकार की गई जान, CM ने जताया दुख

कन्नड़ दैनिक 'विजयवाणी' में काम करने वाले एक वरिष्ठ पत्रकार की रविवार दोपहर को सड़क दुर्घटना में मौत हो गई। 

Last Modified:
Monday, 24 January, 2022
road-accident57

कन्नड़ दैनिक 'विजयवाणी' में काम करने वाले एक वरिष्ठ पत्रकार की रविवार दोपहर को सड़क दुर्घटना में मौत हो गई।  घटना की शिकायत उल्सूर पुलिस स्टेशन में  दर्ज कर ली गई है।

पुलिस ने बताया कि 49 वर्षीय वरिष्ठ पत्रकार गंगाधर मूर्ति अपनी मोटरसाइकिल से कार्यालय जा रहे थे, जब यह हादसा हुआ। पुलिस ने बताया कि शहर के टाउन हॉल के पास पत्रकार के ऊपर एक ट्रक पलट गया।

उन्होंने कहा कि ट्रक चालक ने वाहन पर नियंत्रण खो दिया था और वह रोड डिवाइडर से जा टकराया। इसके बाद चालक भाग निकला। 

मूर्ति को विक्टोरिया अस्पताल ले जाया गया लेकिन उनकी जान नहीं बचाई जा सकी। वरिष्ठ पत्रकार के परिवार में उनकी पत्नी और दो बच्चे हैं। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने वरिष्ठ पत्रकार गंगाधर मूर्ति के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि यह वाकई हैरान कर देने वाली घटना है। भगवान गंगाधर मूर्ति की आत्मा को शांति प्रदान करें। इसके अलावा राज्य के गृहमंत्री और अन्य मंत्रियों ने मूर्ति के निधन पर शोक प्रकट किया है।

 

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

प्रसार भारती से जुड़े वरिष्ठ पत्रकार उमानाथ सिंह, मिली बड़ी जिम्मेदारी

वरिष्ठ पत्रकार उमानाथ सिंह ने दैनिक जागरण समूह में अपनी पारी को विराम दे दिया है। उन्होंने अब प्रसार भारती के साथ अपने नए सफर की शुरुआत की है।

Last Modified:
Monday, 24 January, 2022
Umanath SIngh

वरिष्ठ पत्रकार उमानाथ सिंह ने दैनिक जागरण समूह में अपनी पारी को विराम दे दिया है। वह तीन साल से अधिक समय से यहां कार्यरत थे और दैनिक जागरण डिजिटल में बतौर एसोसिएट एडिटर अपनी जिम्मेदारी संभाल रहे थे। उमानाथ सिंह ने अब ‘प्रसार भारती’(Prasar Bharati) के साथ अपने नए सफर की शुरुआत की है। उन्होंने यहां पर बतौर सीनियर एडिटर जॉइन किया है।

उमानाथ सिंह को पत्रकारिता के क्षेत्र में काम करने का 22 साल से ज्यादा का अनुभव है। अपने इस सफर के दौरान वह कई प्रतिष्ठित मीडिया संस्थानों में काम कर चुके हैं। ’दैनिक जागरण’ से पहले वह करीब डेढ़ साल तक ‘नेटवर्क18’ (Network18) से जुड़े हुए थे और ’News18hindi.com’ में बतौर न्यूज एडिटर अपनी भूमिका निभा रहे थे। पूर्व में उन्होंने करीब डेढ़ साल तक ‘राजस्थान पत्रिका’ में भी अपनी सेवाएं दी हैं। 

इसके अलावा वह ‘दैनिक भास्कर’ में करीब तीन साल, ‘आईएएनएस’ में करीब चार साल और ‘एचटी मीडिया’ में करीब साढ़े सात साल की लंबी पारी खेल चुके हैं। बिहार में सहरसा के रहने वाले उमानाथ सिंह ने पटना और दिल्ली यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की है। समाचार4मीडिया की ओर से उमानाथ सिंह को उनके नए सफर के लिए ढेरों शुभकामनाएं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

'IMPACT Person of the Year' अवॉर्ड ने फिर दी दस्तक, देखें नॉमिनीज की लिस्ट

एक्सचेंज4मीडिया ग्रुप द्वारा हर साल दिए जाने वाले ‘इंपैक्ट पर्सन ऑफ द ईयर’ (IMPACT Person of the Year) अवॉर्ड ने एक बार फिर दस्तक दी है।

समाचार4मीडिया ब्यूरो by
Published - Saturday, 22 January, 2022
Last Modified:
Saturday, 22 January, 2022
IPOY 2021

एक्‍सचेंज4मीडिया (exchange4media) ग्रुप द्वारा मीडिया, मार्केटिंग और एडवर्टाइजिंग के क्षेत्र में बेहतरीन योगदान देने और ऊंचाइयों को छूने वालों को हर साल दिए जाने वाले ‘इंपैक्‍ट पर्सन ऑफ द ईयर’ (IMPACT Person of the Year) अवॉर्ड ने एक बार फिर दस्तक दी है। ‘इंपैक्ट पर्सन ऑफ द ईयर अवॉर्ड’ वर्ष 2005 में शुरू हुआ था और अब यह इसका 17वां एडिशन होगा। जल्द ही इस कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। 

इस साल इस अवॉर्ड के लिए नॉमिनीज की लिस्ट में ‘रिलायंस रिटेल वेंचर्स’ की डायरेक्टर ईशा अंबानी और ‘रिलायंस जियो‘ के डायरेक्टर आकाश अंबानी, ‘द गुड ग्लैम ग्रुप’ के ग्रुप फाउंडर और सीईओ दर्पण संघवी, ‘मीशो’ के फाउंडर और सीईओ विदित आत्रे, ‘ड्रीम11‘ के को-फाउंडर्स हर्ष जैन और भावित सेठ, ‘शेयरचैट‘ के को-फाउंडर्स अंकुश सचदेवा, भानु प्रताप सिंह और फरीद अहसान, ‘एको‘ के फाउंडर वरुण दुआ, ‘ब्लिंकिट’ के को-फाउंडर्स अलबिंदर ढींढसा और सौरभ कुमार, ‘जेरोधा’ के को-फाउंडर्स निखिल कामत और नितिन कामत, ‘मामाअर्थ’ के को-फाउंडर्स गजल अलघ और वरुण अलघ, ‘मोबीक्विक’ के को-फाउंडर्स उपासना टाकू और बिपिन प्रीत सिंह, ‘मॉम्स कंपनी’ की फाउंडर और सीईओ मल्लिका दत्त सादानी व ‘गपशप’ के को-फाउंडर और सीईओ बीरुद शेठ शामिल हैं। 

बता दें कि इससे पहले यह अवॉर्ड ‘ आईटीसी लिमिटेड’ (ITC Limited) के चेयरमैन और एमडी संजीव पुरी, ‘Byju’s’ के फाउंडर और सीईओ बायजू रवींद्रन, ‘Google India’ के पूर्व एमडी राजन आनंदन, ‘Patanjali Ayurved‘ के बाबा रामदेव, ‘Paytm‘ के फाउंडर और सीईओ विजय शेखर शर्मा, ‘Times Now और ET Now’ के पूर्व प्रेजिडेंट और एडिटर-इन-चीफ अरनब गोस्वामी, ‘Zee Entertainment Enterprises Ltd‘ के एमडी और सीईओ पुनीत गोयनका, ‘Times Group‘ के एमडी विनीत जैन, पूर्व सूचना-प्रसारण मंत्री अंबिका सोनी, ‘Taproot India‘ के फाउंडर एजनेलो डायस, ‘Network18 और Viacom18‘ के पूर्व ग्रुप सीईओ हरीश चावला, ‘Star India‘ के पूर्व सीईओ उदय शंकर, ‘Network18’ के फाउंडर राघव बहल और ‘CNN-IBN‘ के पूर्व एडिटर-इन-चीफ राजदीप सरदेसाई को मिल चुका है।

‘इंपैक्‍ट पर्सन ऑफ द ईयर अवॉर्ड 2021 के लिए नॉमिनीज की पूरी लिस्ट आप यहां देख सकते हैं।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

लाइव रिपोर्टिंग के दौरान महिला रिपोर्टर का हुआ एक्सीडेंट, वीडियो हुआ वायरल

लाइव रिपोर्टिंग के दौरान कई बार टीवी पर रिपोर्टर के साथ होने वाली अजीबोगरीब घटनाएं देखने को मिल जाती हैं।

Last Modified:
Friday, 21 January, 2022
Reporter45453

लाइव रिपोर्टिंग के दौरान कई बार टीवी पर रिपोर्टर के साथ होने वाली अजीबोगरीब घटनाएं देखने को मिल जाती हैं। कुछ ऐसा ही अजीबोगरीब वाक्या वेस्ट वर्जीनिया के डनबर में एक टीवी रिपोर्टर (TV reporter) के साथ देखने को मिला। दरअसल, लाइव प्रसारण के दौरान महिला रिपोर्टर को एक कार ने टक्कर मार दी, लेकिन इसके बावजूद भी वह रिपोर्टिंग करना जारी रखती है। रिपोर्टर के यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है, और कोई उनके काम की तरीफ कर रहा है।

रिपोर्टर का नाम तोरी योर्गी है और वह वेस्ट वर्जीनिया के डब्लूएसएजेड-टीवी चैनल से जुड़ी हैं। योर्गी को एक कार ने तब टक्कर मार दी, जब वह स्टूडियो में एंकर टिम इर के साथ लाइव रिपोर्टिंग कर रही थीं। टक्कर इतनी तेज थी कि वह जमीन पर गिर गईं, लेकिन इस दौरान उन्होंने बोलना बंद नहीं किया। वह फिर से उठकर कैमरे के सामने आ गईं, लेकिन तब तक उन्होंने बोलना जारी रखा।

टक्कर मारे जाने के कुछ सेकंड बाद योर्गी को यह कहते हुए सुना जा सकता है, ‘मुझे अभी एक कार ने टक्कर मार दी है, लेकिन मैं ठीक हूं, टिम’ इस घटना के दौरान उस महिला ड्राइवर ने भी योर्गी से उसका हाल पूछा, जिसने योर्गी को टक्कर मारी थी।

महिला ड्राइवर ने योर्गी से पूछा कि क्या आप ठीक हो? तो योर्गी ने जवाब दिया कि हां मैं बिल्कुल ठीक हूं। एंकर ने भी टोरी से पूछा कि क्या तुम ठीक हो? योर्गी ने घटना के बाद फिर से कैमरे के सामने आते हुए कहा, मैं अभी एक कार से टकरा गई हूं, लेकिन खुशनसीब हूं कि मैं पूरी तरह से ठीक हूं।

इस वीडियो को टिमोथी बर्क नाम के एक यूजर द्वारा ट्विटर पर शेयर किया गया था। इस क्लिप को 36 लाख से ज्यादा बार देखा जा चुका है और इसे 28,000 बार लाइक किया जा चुका है।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए

कश्मीर प्रेस क्लब के मामले में मिलकर आगे आए दस पत्रकार संगठन, रखी ये मांग

जम्मू कश्मीर में 'कश्मीर प्रेस क्लब' (केपीसी) को बंद किए जाने के मामले में इसे दोबारा शुरू किए जाने की मांग को लेकर 10 प्रमुख पत्रकार संगठनों ने आपस में हाथ मिलाया है।

Last Modified:
Friday, 21 January, 2022
Kashmir Press Club

जम्मू कश्मीर में ‘कश्मीर प्रेस क्लब’ (केपीसी) को बंद किए जाने के मामले में इसे दोबारा शुरू किए जाने की मांग को लेकर 10 प्रमुख पत्रकार संगठनों ने आपस में हाथ मिलाया है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, इस मीडिया गठबंधन ‘Kashmir Media Coalition’ ने प्रशासन से स्पष्टीकरण की मांग की है कि प्रेस क्लब के पुन: पंजीकरण को क्यों रोक दिया गया है।

अल्ताफ हुसैन, नजीर मसूदी और मुफ्ती इस्लाह सहित कश्मीर के पत्रकारों की एक बैठक में गठबंधन ने इस ‘अधिग्रहण’ और क्लब के अंत में बंद होने की निंदा की है। उन्होंने इस मामले में समर्थन के लिए एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया, प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया, इंडियन यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स, फॉरेन करेसपॉन्डेंट क्लब, चेन्नई प्रेस क्लब, कोलकाता प्रेस क्लब, प्रेस क्लब ऑफ इंडिया, मुंबई प्रेस क्लब, दिल्ली यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स और रिपोर्टर्स विदाउट बॉर्डर्स आदि मीडिया संगठनों का आभार जताया है।

बता दें कि कश्मीर प्रेस क्लब में मैनेजमेंट को लेकर दो गुटों में जारी लड़ाई के बीच जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने सोमवार को कश्मीर प्रेस क्लब के लिए आवंटित परिसर को ही वापस ले लिया है। जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करके कहा था, ‘पत्रकारों के विभिन्न समूहों के बीच असहमति और अप्रिय घटनाओं के बीच यह फैसला किया गया है कि श्रीनगर के पोलो व्यू स्थित कश्मीर प्रेस क्लब को आवंटित परिसर का आवंटन रद्द करके परिसर की भूमि और इस पर निर्मित भवन को एस्टेट विभाग को वापस कर दिया जाए।’

प्रशासन के इस फैसले को लेकर ‘एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया‘ समेत तमाम पत्रकार संगठनों ने नाराजगी व्यक्त की है। ‘एडिटर्स गिल्ड‘ ने मंगलवार को एक बयान जारी कर कहा कि वह जम्मू कश्मीर में कश्मीर प्रेस क्लब (केपीसी) के बंद होने से बहुत दु:खी है। कश्मीर प्रेस क्लब की बहाली की मांग करते हुए इस मीडिया गठबंधन ने पंजीकरण प्राधिकरण से स्पष्टीकरण मांगा है कि क्लब के पुन: पंजीकरण को क्यों रोक दिया गया और इसे मनमाने ढंग से बंद क्यों किया गया।

गठबंधन की ओर से जारी पत्र पर हस्ताक्षर करने वालों में अंजुमन उर्दू सहाफत, जम्मू एंड कश्मीर एडिटर्स एसोसिएशन, जम्मू एंड कश्मीर जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन, जम्मू एंड कश्मीर प्रेस एसोसिएशन, जर्नलिस्ट फेडरेशन कश्मीर, कश्मीर जर्नलिस्ट एसोसिएशन, कश्मीर प्रेस फोटोग्राफर्स एसोसिएशन, कश्मीर यूनियन ऑफ वर्किंग जर्नलिस्ट्स, कश्मीर वीडियो जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन और कश्मीर वर्किंग जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन शामिल हैं। इस मामले में अब इनकी बैठक 27 जनवरी को होगी।

समाचार4मीडिया की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9958894163) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव करें।
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए