नये साल में भास्कर ग्रुप की सफलता की कहानियां

<p>शिशिर शुक्ला</p> <div>समाचार4मीडिया.कॉम</div> <p>साल के शुरुआत में ही आईपीओ का आना एक अच्छी शुरुआ

Last Modified:
Friday, 01 January, 2016

शिशिर शुक्ला

समाचार4मीडिया.कॉम

साल के शुरुआत में ही आईपीओ का आना एक अच्छी शुरुआत माना गया। मन्दी के बीच भी साल 2009 ग्रुप के लिए एक अच्छा साल रहा। समाचार4मीडिया से बातचीत में भास्कर ग्रुप के वाइस प्रेसिडेंट संजीव कोटनाला ने बीते वर्ष की सफलता के बारे में बात की। बीते वर्ष के बारे में कोटनाला का कहना था कि साल 2009 कम्पनी के लिए काफी अच्छा था। समूह के कारोबार में चौतरफा वृद्धि हुई। आर्थिक मंदी के समय कम्पनी द्वारा उठाये गये कदमों से समूह को काफी लाभ हुआ। पिछले 4 वर्षो में समूह को 18% की दर से लाभ हुआ। कोटनाला के अनुसार “पिछले 14 सालों मे कम्पनी ने काफी कुछ अर्जित किया है। 1995 में समूह जहां एक राज्य से प्रकाशन करता था वही 2008 से 11 राज्यों से दैनिक भास्कर का प्रकाशन हो रहा है। साल 2008 में समूह ने 10 नये संस्करण अलग-अलग नामों से निकाले है।“ कोटनाला ने यह भी कहा कि “समूह का विस्तार हो रहा है।“ आर्थिक मंदी के सवाल पर कोटनाला ने कहा, ”यह बिजनेस को आंकने का सही समय था। आर्थिक मंदी के प्रभाव के बाद अब कम्पनी जगत में फिर से उत्साह का माहौल है और मार्केट में लगातार पैसे का प्रवाह बना हुआ है। हां कुछ बदलाव आये हैं लेकिन मैं नही मानता हूँ कि मंदी पूरी तरह से खत्म हो गयी है। बिजनेस में ऐसा होता रहता है। भास्कर ग्रुप के भविष्य की योजनाओं के बारे में कोटनाला ने कहा कि ग्रुप सदैव मौके की तलाश में रहता है और जब भी उसे अच्छा मौका मिलता है, समूह अपना विस्तार करता है। भारत की अर्थव्यस्था मंदी के शुरुआती झटकों से बाहर निकल चुकी है और मीडिया उद्योग में वृद्धि के आसार स्पष्ट है।

TAGS
न्यूजलेटर पाने के लिए यहां सब्सक्राइब कीजिए