RAJESH BADAL
RAJESH BADAL

पिछले 42 साल से रेडियो,प्रिंट,इलेक्ट्रॉनिक और डिजिटल में पत्रकारिता कर रहे हैं। सौ से अधिक डाक्यूमेंट्री का निर्माण कर चुके हैं। टीवी पत्रकारिता में पहली बार बायोपिक की व्यवस्थित शुरुआत करने का काम किया। पचास से अधिक बायोपिक के निर्माता,प्रस्तुतकर्ता और एंकर। क़रीब दस चैनलों की शुरुआत। आजतक में संपादक,वॉइस ऑफ इंडिया में मैनेजिंग एडिटर व समूह संपादक, इंडिया न्यूज में न्यूज़ डायरेक्टर, बीएजी फिल्म्स में कार्यकारी संपादक,सीएनईबी में एडिटर-इन-चीफ और राज्यसभा टीवी के संस्थापक एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर-आठ साल तक रह चुके हैं।
rstv.rajeshbadal@gmail.com
https://twitter.com/RajeshBadal9
https://www.facebook.com/rajesh.badal.77

पिछले 42 साल से रेडियो,प्रिंट,इलेक्ट्रॉनिक और डिजिटल में पत्रकारिता कर रहे हैं। सौ से अधिक डाक्यूमेंट्री का निर्माण कर चुके हैं। टीवी पत्रकारिता में पहली बार बायोपिक की व्यवस्थित शुरुआत करने का काम किया। पचास से अधिक बायोपिक के निर्माता,प्रस्तुतकर्ता और एंकर। क़रीब दस चैनलों की शुरुआत। आजतक में संपादक,वॉइस ऑफ इंडिया में मैनेजिंग एडिटर व समूह संपादक, इंडिया न्यूज में न्यूज़ डायरेक्टर, बीएजी फिल्म्स में कार्यकारी संपादक,सीएनईबी में एडिटर-इन-चीफ और राज्यसभा टीवी के संस्थापक एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर-आठ साल तक रह चुके हैं।


रिपोर्टर्स विदाउट बॉर्डर्स की रिपोर्ट में हिन्दुस्तान को प्रेस के नजरिए से लाल खतरे का निशान दिखाया गया है

राजेश बादल 3 years ago

अच्छी पत्रकारिता करने के लिए किसी तरह की प्रतिद्वंद्विता नहीं होती

राजेश बादल 3 years ago

हिंदी पत्रकारिता के सफरनामे को लेकर राजेश बादल ने उठाए कई सवाल

राजेश बादल 3 years ago

हर चुनाव में एग्जिट पोल किए जाते हैं। कभी सच निकलते हैं तो कभी उनके आकलन सटीक नहीं बैठते

राजेश बादल 3 years ago

भारतीय निर्वाचन अधिनियम का उल्लंघन करने पर चुनाव आयोग ने तीन मीडिया संस्थानों को दिया है नोटिस

राजेश बादल 3 years ago

कई दिनों में मीडिया में छाया है चुनाव प्रचार के दौरान रिश्वत देने का मामला

राजेश बादल 3 years ago

पत्रकारों के एक बड़े वर्ग के लिए अब मजदूर दिवस के मायने बदल गए हैं

राजेश बादल 3 years ago

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपनी पत्रकार वार्ता में एक पत्रकार के सवाल पूछने पर जो व्यवहार किया, वह परदे पर लाखों लोगों ने देखा

राजेश बादल 3 years ago

सत्रहवीं लोकसभा के चुनाव पत्रकारिता का बहुत सम्मान और साख़ बढ़ाने वाले नहीं हैं

राजेश बादल 3 years ago

चुनावी डिबेट थी। सेना की छवि के दुरुपयोग पर चर्चा थी। दो पार्टी प्रवक्ता लड़ बैठे

राजेश बादल 3 years ago

सावधान! समय आ पहुंचा है। वक़्त की बारूद के ढेर पर बैठ चुके हैं...

राजेश बादल 3 years ago

कैसे-कैसे मंज़र सामने आने लगे हैं/गाते-गाते लोग चिल्लाने लगे हैं/अब तो इस तालाब का पानी...

राजेश बादल 3 years ago

स्थिति विकट है। बंटवारा खुलकर सामने आ गया है। यह मेरा चैनल, वह तेरा...

राजेश बादल 3 years ago

हिन्दुस्तान और पाकिस्तान के बीच तनाव मीडिया को भी आगाह करने वाला...

राजेश बादल 3 years ago

सत्तर साल नहीं बंटी, पत्रकारिता अब बंट गई। मतभेद होते थे, पर ऐसे न...

राजेश बादल 3 years ago

बुधवार को सारी दुनिया रेडियो दिवस मना रही है। भारत में भी यह माध्यम एक सदी का सफ़र...

राजेश बादल 3 years ago

फरवरी के पहले सप्ताह में अंतरिम बजट और बंगाल-केंद्र सरकार के बीच रस्साकशी...

राजेश बादल 3 years ago

मैंने पिछले कॉलम में देश के स्ट्रिंगर्स की दयनीय स्थिति और कुछ टीवी चैनलों के...

राजेश बादल 3 years ago

चोरी न करें, झूठ न बोलें तो क्या करें? चूल्हे पे क्या उसूल पकाएंगे शाम को...

राजेश बादल 3 years ago