Share this Post:
Font Size   16

वापस आ जाओ आशुतोष! पत्रकारिता को आज तुम्हारी जरूरत है…

Tuesday, 09 January, 2018

समाचार4मीडिया ब्यूरो ।।

पत्रकारिता छोड़ राजनीति का सफर तय करना इतना आसान नहीं हैशायद ये आईबीएन-7 (अब न्यूज18इंडिया) के पूर्व मैनेजिंग एडिटर और टीवी के जाने पहचाने चेहरे रहे आशुतोष से बेहतर कौन जानता होगा। आज उन्हें पत्रकारिता छोड़े हुए चार वर्ष हो गए हैं।

आशुतोष के साथ काम कर चुके उनके सहयोगी व हिंदी न्यूज चैनल आजतक के एग्जिक्यूटिव एडिटर संजीव पालीवाल ने आशुतोष के साथ गुजारे वक्त को याद करते हुए फेसबुक पर एक पोस्ट शेयर किया, जिसमें उन्होंने लिखा, ‘Ashutosh Ashu को न्यूजरूम को छोड़े आज पूरे 4 साल हो गये हैं। वो 10 साल आशु के साथ काम करने का अनुभव बेमिसाल है। उसे आप किसी को बता नहीं सकते। सिर्फ महसूस कर सकते हैं। उसमें गुस्सा भी है. चिल्लाना भी हैखबर को पकड़ना भी है.. जुनून और पागलपन है.. और गुस्सा करके भूलने की कला भी शामिल है। किसी भी बात को कैसे भुलाया जाता है ये आशु से सीखा जा सकता है। आप एक बड़े पद पर रहकर सामान्य जीवन कैसे जीते हो ये सीखने की बात है। आशुतोष एक पत्रकार और संपादक थे और आजीवन रहेंगे। वो कभी नेता नहीं बन पायेंगे। हाल की घटनाओं से साबित हो गया है। अगर नेता होते तो वो ये कभी ना करते जो उन्होंने हाल ही में किया है। Ashutosh Ashu वापस आ जाओ... पत्रकारिता को आज तुम्हारी जरूरत ज्यादा है।

गौरतलब है कि 9 जनवरी, 2014 को आशुतोष ने अपनी पत्रकारिता को विराम दिया था और 11 जनवरी, 2014 को वे आम आदमी पार्टी के साथ जुड़ गए थे। हालांकि जब उन्होंने चैनल से इस्तीफा देकर आम आदमी पार्टी जॉइन कियातो उनकी पूरी पत्रकारिता पर कई सवाल उठे। उन पर बतौर मैनेजिंग एडिटर अपने चैनल के जरिए ‘आप’ पार्टी का फायदा पहुंचाने के भी आरोप लगे, लेकिन उन्होंने सभी सवालों का मजबूती से जवाब दिया।

करीब 52 साल के आशुतोष आम आदमी पार्टी से जुड़ने से पहले ‘आईबीएन7’ में मैनेजिंग एडिटर थे। इससे पहले आशुतोष एक प्रमुख न्यूज चैनल ‘आजतक’ की टीम का हिस्सा थे। एंकरिंग के अलावा फील्ड और डेस्क पर खबरों का प्रबंधन उनकी प्रमुख क्षमता रही है। आशुतोष अगस्त, 2011 के अन्ना आंदोलन पर एक किताब भी लिख चुके हैं। वे ऐसे पत्रकारों में शामिल रहे हैं, जिन्होंने अपनी मेहनत और सूझबूझ के चलते अपना अलग मुकाम हासिल किया है।

आशुतोष का जन्म 1965 में वाराणसी में हुआ थाजहां उनके पिता एक आयकर अधिकारी थे। उन्होंने इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से विज्ञान में ग्रेजुएशन किया, जबकि दिल्ली की जवाहरलाल यूनिवर्सिटी से पोस्ट ग्रेजुएट किया। वे एम.फिल भी हैं। उनकी हिंदी और अंग्रेजी दोनो ही भाषाओं में जबरदस्त पकड़ है। वे अपनी भाषाशैली के चलते ही लोगों का विश्वास अर्जित करने में कामयाब रहे हैं।  

 

समाचार4मीडिया.कॉम देश के प्रतिष्ठित और नं.मीडियापोर्टल exchange4media.com की हिंदी वेबसाइट है। समाचार4मीडिया में हम अपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी रायसुझाव और ख़बरें हमें mail2s4m@gmail.com पर भेज सकते हैं या 01204007700 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। 

 



पोल

क्या इंडिया टीवी के चेयरमैन रजत शर्मा का क्रिकेट की दुनिया में जाना सही है?

हां, उम्मीद है कि वे वहां भी उल्लेखनीय कार्य कर सुधार करेंगे

नहीं, जिसका काम उसी को साजे। उनका कर्मक्षेत्र मीडिया ही है

बड़े लोगों की बातें, बड़े ही जाने, हम तो सिर्फ चुप्पी साधे

Copyright © 2018 samachar4media.com